नई शिक्षा नीति लागू करने को एचआरडी मंत्रालय ने पेश किया छह सूत्री रोडमैप  

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Tue, 29 Oct 2019 06:30 AM IST
विज्ञापन
मानव संसाधन एवं विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक
मानव संसाधन एवं विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर Free में
कहीं भी, कभी भी।

70 वर्षों से करोड़ों पाठकों की पसंद

ख़बर सुनें
नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को अंतिम रूप देने में जुटे मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने इसके कार्यान्वयन को लेकर छह सूत्री रोडमैप पेश किया है। इसके साथ ही 2030 में कार्यान्वयन की व्यापक समीक्षा करने का फैसला किया है। कुछ राज्यों और हितधारकों द्वारा शिक्षा नीति के मसौदे पर सवाल उठाने के बाद मंत्रालय ने कहा कि कोई भी नीति तभी सफल होती है, जब उसका कार्यान्वयन सही तरीके से किया जाए।
विज्ञापन

 राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अंतिम मसौदे के मुताबिक, पहला नीति की भावना और मंशा का कार्यान्वयन सबसे महत्वपूर्ण है। दूसरा, चरणबद्ध तरीके से नीति की पहलों को लागू किया जाना आवश्यक है क्योंकि प्रत्येक नीति बिंदु के कुछ चरण होते हैं। इनमें से प्रत्येक में पिछले कदम को सफलतापूर्वक लागू करने की जरूरत होती है। तीसरा, नीति के सर्वोत्कृष्ट अनुक्रमण के लिए प्राथमिकता तय करना जरूरी होगा और सबसे अहम व जरूरी कदम पहले उठाए जाएंगे, जिससे एक मजबूत आधार बन सकेगा।
चौथा, चूंकि नीति समग्र है और आपस में जुड़ी है, ऐसे में पूर्ण कार्यान्वयन जरूरी है, न कि टुकड़ों में। यह सुनिश्चित करेगा कि इसके उद्देश्य पूरे हो सकें। पांचवां, शिक्षा एक समवर्ती विषय है, लिहाजा इसे केंद्र और राज्यों के बीच सजग योजना, संयुक्त निगरानी और सहयोगात्मक कार्यान्वयन की जरूरत होगी। अंतिम, सभी पहलुओं को प्रभावी रूप से लागू करने के लिए समानांतर कार्यान्वयन चरणों के बीच सावधानीपूर्वक विश्लेषण और समीक्षा जरूरी होगी।
विज्ञापन
विज्ञापन

सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें शिक्षा समाचार आदि से संबंधित ब्रेकिंग अपडेट। यूपी बोर्ड 2020 का हाईस्कूल और इंटरमीडिएट का रिजल्ट जानने के लिए आज ही रजिस्टर करें।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us