विज्ञापन

2020 में कंप्यूटर आधारित होगी नीट परीक्षा, हाईटेक नकल पर लगेगी रोक

एजुकेशन डेस्क, अमर उजाला Updated Wed, 02 Jan 2019 03:46 AM IST
विज्ञापन
NEET exam will be computer based from 2020
ख़बर सुनें
यूजीसी नेट की पहली कंप्यूटर आधारित परीक्षा सफल रही है। इस परीक्षा में 7.50 लाख छात्र बैठे। यूजीसी नेट कंप्यूटर आधारित परीक्षा की सफलता के बाद अब मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट 2020 में पेपर-पेन की बजाय कंप्यूटर आधारित होगी। खास बात यह है कि नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने जेईई मेन परीक्षा के आठ जनवरी से शुरू हो रहे पहले राउंड की तैयारी पूरी कर ली है। परीक्षा में 9.50 लाख छात्र भाग लेंगे।
विज्ञापन

मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा कि यूजीसी नेट परीक्षा नेशनल टेस्टिंग एजेंसी की सबसे बड़ी सफलता है। क्योंकि परीक्षा कंप्यूटर आधारित थी, जिसमें 300 शहरों में 600 सेंटर पर बिना इंटरनेट सफल परीक्षा आयोजित करवाई है। इसी के चलते अब नीट परीक्षा को भी कंप्यूटर आधारित किया जा सकता है। कंप्यूटर आधारित होने से छात्रों को सवाल हल करने में आसानी होगी और हाईटेक नकल पर भी रोक लगेगी।  
जावडेकर ने कहा कि जेईई मेन परीक्षा का पहला चरण आठ से 12 जनवरी और दूसरा छह से 12 अप्रैल तक चलेगा। छात्र दोनों परीक्षा में भाग ले सकते हैं, जिसमें से बेस्ट स्कोर आगे दाखिले में जुड़ेगा। एक अनिवार्य पेपर दस शिफ्टों में आयोजित किया जाएगा। इसमें 40 हजार जैमर लगेंगे। यानी 23 छात्रों पर एक जैमर हाईटेक नकल रोकने में मदद करेगा। ग्रामीण इलाकों के एक लाख छात्रों को जेईई मेन परीक्षा में कंप्यूटर आधारित परीक्षा के अभ्यास के लिए चार हजार सेंटरों पर तैयारी करवाई गई है।  
विज्ञापन
आगे पढ़ें

जवाहर नवोदय व केंद्रीय विद्यालय के प्रिंसिपल सीखेंगे लीडरशिप  

विज्ञापन
विज्ञापन

सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें शिक्षा समाचार आदि से संबंधित ब्रेकिंग अपडेट। बिहार बोर्ड 2020 10वीं कक्षा का रिजल्ट जानने के लिए क्लिक करें।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us