विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
घर बैठें बनवाए फ्री जन्मकुंडली और पाएं समस्त समस्याओं का उचित निवारण
Kundali

घर बैठें बनवाए फ्री जन्मकुंडली और पाएं समस्त समस्याओं का उचित निवारण

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

बस्ती: मामूली बात को लेकर टोल प्लाजा पर मारपीट, दो घंटे तक जाम रहा राष्ट्रीय राजमार्ग

लुंबिनी-दुद्धी राष्ट्रीय राजमार्ग पर नगर थानाक्षेत्र के अक्सड़ा टोल प्लाजा पर बृहस्पतिवार दोपहर टोल कर्मियों और ट्रक चालकों में मारपीट हो गई। एक पक्ष खुद को एक माननीय का करीबी का बताकर धौंस जमाने लगा तो टोल कर्मियों ने हाथापाई शुरू कर दी।
 
सीओ कलवारी अनिल कुमार सिंह ने बताया कि समझा-बुझाकर दोनों पक्षों को शांत किया गया। कलवारी की तरफ से ट्रक पहुंचा। टोल प्लाजा पर जब टोल कर्मियों ने ट्रक रोका तो चालक से नोकझोंक और बात मारपीट हो गई।

इसी बीच ट्रक चालक ने जिले के एक माननीय के करीबी को फोन कर दिया तो बड़ी संख्या में लोग जुट गए और दोनों पक्षों में मारपीट होने लगी। इस दौरान टोल टैक्स की वसूली करीब दो घंटे तक बाधित रही।

सूचना पर सीओ कलवारी अनिल सिंह व थानाध्यक्ष नगर संतोष कुमार सिंह मौके पर पहुंच गए। तब जाकर मामला शांत हुआ। टोल प्रबंधक ने आरोप लगाया कि चालक से टैक्स जमा करने के बारे में कहा गया तो मारपीट करने लगे। थानाध्यक्ष संतोष कुमार सिंह ने बताया कि किसी भी तरफ से तहरीर नहीं मिली है।
... और पढ़ें

संदिग्ध परिस्थितियों में विवाहिता की मौत, परिजनों को सता रही है इस बात की चिंता

उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थनगर जिले के त्रिलोकपुर थाना क्षेत्र के पलेसर गांव में विवाहिता की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। उसका शव कमरे में पाया गया। मृतका के भाई ने पति सहित चार ससुरालियों के खिलाफ दहेज हत्या का केस दर्ज कराया है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा और आगे के कार्रवाई में जुट गई।
 
जानकारी के मुताबिक, क्षेत्र के ही भनवापुर मड़हा गांव निवासी रामधनी ने दो वर्ष पूर्व अपनी 24 वर्षीय बेटी लक्ष्मी उर्फ सरिता की शादी क्षेत्र के ही पलेसर गांव निवासी कौशल के साथ की थी। आरोप है कि शादी के बाद से ही परिवार के लोग दहेज के लिए प्रताड़ित करते थे। उसे मारते-पीटते थे।

बुधवार की देर रात उसकी हत्या कर दी गई। शव कमरे में मिला। दूसरे के माध्यम से घटना के बारे में मायके के लोगों को जानकारी मिली है। उन्होंने तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की ही। मिले तहरीर के आधार पर त्रिलोकपुर पुलिस ने पति समेत चार लोगों पर दहेज हत्या का केस दर्ज करके मामले की जांच शुरू कर दी है।

पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। एसओ त्रिलोकपुर रणधीर कुमार मिश्र ने बताया कि मृतका के परिजनों की तहरीर पर पति कौशल, ससुर संतराम, देवर मनोज और सास के खिलाफ दहेज हत्या का केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।
... और पढ़ें

प्रेमिका से मिलना प्रेमी को पड़ा भारी, खूंटे में बांधकर ग्रामीणों ने की पिटाई

उत्तर प्रदेश के महराजगंज में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां प्रेमिका मिलने गए एक प्रेमी को ग्रामीणों ने खूंटे में बांधकर रातभर पिटाई की। इसके बाद बुधवार सुबह पुलिस के हवाले कर दिया।

ये है पूरा मामला...
मंगलवार की रात कोतवाली क्षेत्र के एक गांव का युवक पनियरा थाना क्षेत्र के गांव में अपने मामा के घर गया। वहां उसके मामा के घर के बगल में एक युवती का घर है। युवक पहले से वहां आता जाता था। दोनों के बीच गहरे संबंध थे। दोनों के घर वालों को इस प्रेम कहानी के बारे में जानकारी नहीं थी।

मंगलवार की रात युवक अपने घर पर मामा के घर जाने की बात कहकर निकला। वह शाम को अपने मामा के घर पहुंचा। रात में सबके सो जाने के बाद पास के घर में रहने वाली अपनी प्रेमिका से मिलने उसके घर में घुस गया।

थोड़ी देर बाद खटपट की आवाज सुनकर युवती के घर वाले जाग गए। वे जब लड़की के कमरे में गए तो युवक को देखकर सन्न गए। उसके बाद उन्होंने प्रेमी की पूरी रात खूंटे में बांधकर पिटाई की। उसके सिर के कुछ बाल भी साफ कर दिए।

ग्राम प्रधान ने इस मामले की जानकारी पुलिस को दी तो युवक को हिरासत में लेकर कार्रवाई शुरू कर दी गई। थानाध्यक्ष पनियरा दिलीप शुक्ला ने बताया कि युवक को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। दोनों पक्षों की तहरीर मिली है। मामले की गहनता से जांच की जा रही है। जल्दी की कार्रवाई की जाएगी।

 
... और पढ़ें

गोरखपुर: थाने में सिपाही ने की खुदकुशी की कोशिश, साथियों ने ऐसे बचाई जान

गोरखपुर के बड़हलगंज थाने में तैनात एक सिपाही ने मंगलवार को सरकारी आवास में ही फांसी लगाकर खुदकुशी की कोशिश की। इस दौरान वह वीडियो कॉल पर किसी से बातचीत भी कर रहा था। फांसी लगाने का लाइव वीडियो देख रहे साथ के कांस्टेबल की सूचना पर पुलिसकर्मियों ने मौके पर पहुंच कर उसकी जान बचाई। कांस्टेबल को प्राथमिक उपचार के बाद पुलिस की निगरानी में रखा गया है।

जानकारी के मुताबिक, दोपहर तीन बजे एक सिपाही कोतवाली परिसर स्थित आवास में फांसी लगा कर जान देने जा रहा था। इस दौरान उसने अपने एक अन्य साथी को वीडियो काल किया। वीडियो में कांस्टेबल की हरकत देख परिसर में ही मौजूद सिपाही ने कोतवाली प्रभारी को घटना से अवगत कराया।

इसके बाद पुलिसकर्मी भाग कर उसके आवास पर पहुंचे और दरवाजा तोड़ कर उसे बाहर निकाला। कांस्टेबल को तत्काल एक प्राइवेट अस्पताल पर ले जाया गया जहां उपचार के बाद देर शाम उसे डिस्चार्ज कर दिया गया।

पुलिस सिपाही को लेकर उसके आवास पर आयी। जहां उसकी निगरानी की जा रही है। हालांकि प्रभारी थानेदार रविंद्र यादव ने फांसी की घटना से इंकार किया है। उनके मुताबिक कि अत्यधिक शराब पीने से सिपाही की तबीयत खराब हो गई थी जिस कारण उसे अस्पताल ले जाया गया था।
... और पढ़ें
सांकेतिक तस्वीर। सांकेतिक तस्वीर।

मामूली बात से नाराज हुआ बेटा, पिता को ईंट से कूच-कूच कर उतार दिया मौत के घाट

उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले में एक मंगलवार को एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां मंगलवार तड़के सुबह एक पिता को उसके छोटे बेटे ने ईंट और लकड़ी से पीट-पीटकर हत्या कर दिया। घटना को अंजाम देने के बाद घर छोड़कर फरार हो गया।
 
ये है पूरा मामला
ग्राम नयनहा निवासी राम नारायण गिरी और उसके छोटे पुत्र धर्मेंद्र गिरी के बीच सोमवार की रात्रि किसी बात को लेकर विवाद शुरू हुआ। मंगलवार को तड़के 3 बजे धर्मेंद्र गिरी अचानक उग्र हो गया और पिता को ईंट व लकड़ी से पीट-पीटकर हत्या कर दी।

हत्या के बाद हत्यारा पुत्र घर छोड़कर फरार हो गया। आसपास के लोग पहुंचकर इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया और हत्या में प्रयुक्त खून लगा ईंट व लकड़ी भी बरामद कर ली।

थाना अध्यक्ष गोपाल प्रसाद ने बताया कि मृतक के भाई जयराम गिरी के नामजद तहरीर पर पुत्र धर्मेंद्र गिरी और उसकी पत्नी शिल्पी देवी के विरुद्ध हत्या का केस दर्ज कर लिया गया है। हत्यारे की तलाश की जा रही है।
... और पढ़ें

15 साल पहले यहां भी हमलावर हो गई थी भीड़, जान बचाकर पैदल भागे थे दारोगा

लोगों की सुरक्षा में हमेशा तत्पर रहने वाली पुलिस कब कहां जनाक्रोश की शिकार हो जाए, इसका कोई ठिकाना नहीं रह गया है। कानपुर में आधी रात को कुख्यात अपराधी को दबोचने के प्रयास में जान गंवाने वाले पुलिसकर्मियों की शहादत को लोग नमन करते हुए पुलिस के कार्यो की सराहना करने के साथ उन पर होने वाले हमलों को याद कर रहे है।

ऐसा ही एक मामला संतकबीरनगर के धनघटा क्षेत्र के अहरा गांव में 15 साल पहले हुआ था। कानपुर की घटना के बाद इन दिनों क्षेत्र में इस घटना की भी चर्चा हो रही है।

इसे भी पढ़ें-
कानपुर एनकाउंटर में घायल सिपाही का मां ने बढ़ाया हौसला, कहा- 'फिर बदमाशों पर कहर बनकर टूटेगा मेरा बेटा'

  ... और पढ़ें

जब पुलिस ने डेढ़ लाख के इनामी बदमाश को उतारा था मौत के घाट, ऐसे हुई थी इसकी पहचान

सांकेतिक तस्वीर।

यहां 22 साल पहले दरोगा की पिटाई कर बना लिया था बंधक, जानिए कैसे बची थी जान

उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में चौबेपुर बिकरू गांव में कुख्यात अपराधी विकास दूबे से पुलिस मुठभेड़ में आठ पुलिस के जवान शहीद और कई पुलिस कर्मी घायल हो गए। इस घटना को लोग भूल नहीं पा रहे हैं। उधर, इस घटना ने संतकबीरनगर जिले के धनघटा क्षेत्र में पूर्व में पुलिस पर हुए हमलों की याद ताजा कर दी है। 22 साल पूर्व पौली में एक दरोगा को बंधक बनाकर मारा पीटा गया था।
 
फरवरी 1998 में दो पक्षों के बीच हुए जमीन संबंधी विवाद के मामले में थाने के एसआई शोभनाथ पांडेय पौली में पहुंचे थे, जहां एक पक्ष विवादित जमीन पर मकान का निर्माण करवा रहा था। उसे दूसरा पक्ष रोक रहा था।

मौके पर पहुंचे दरोगा जब दोनों पक्षों को समझा बुझाकर एसडीएम के आदेश का हवाला दे रहे थे। उसी समय एक पक्ष दरोगा पर भड़क उठा और उनको पकड़ कर मारने-पीटने के साथ उनकी सर्विस रिवाल्वर अपने कब्जे में ले लिया। दरोगा के साथ गए सिपाही की राइफल भी छीन ली।

सिपाही किसी तरह थाने पहुंचा और दरोगा के बंधक बनाए जाने की सूचना तत्कालीन एसओ बशर अहमद खान को दिया। दरोगा के बंधक बनाए जाने की सूचना पर पूरे जिले की फोर्स पौली की तरफ रवाना हो गई। काफी संख्या में पुलिस के आने की सूचना पर दरोगा पर हमला करने वाले लोग भाग निकले थे। इस मामले में कई लोगों के विरुद्ध केस दर्ज हुआ था, जो वर्तमान में कोर्ट में विचाराधीन है।
... और पढ़ें

विकास दुबे से कम नहीं हैं गोरखपुर के ये हिस्ट्रीशीटर बाप-बेटे, पुलिस पर हमला करने के बाद भी हैं 'आजाद'

कानपुर के चौबेपुर में हुई मुठभेड़ के बाद बदमाश विकास दुबे की चर्चा पूरे देश में हो रही है। देश में यह ऐसी पहली घटना नहीं है। इससे पहले भी कई जगहों पर बदमाशों ने पुलिस को घेरा है। वहीं गोरखपुर में भी हिस्ट्रीशीटर के घर दबिश देने के दौरान पुलिस पर कई बार हमले हो चुके हैं। खोराबार थाने के हिस्ट्रीशीटर नंगा निषाद व उसके बेटों ने इंस्पेक्टर सहित पुलिसकर्मियों पर दो बार हमलाकर मारापीटा और बंदूकें भी लूट ली थीं।। ये दोनों बाप-बेट किसी भी मामले में विकास दुबे से कम नहीं हैं।

इसी 19 जून 20 को ही नंगा निषाद के हिस्ट्रीशीटर बेटों दयाशंकर निषाद व दिलीप निषाद ने सहारा इस्टेट में रहने वाले एक बड़े कारोबारी से गालीगलौज की और जान से मारने की धमकी दी। साथ ही कारोबारी के सिक्टौर स्थित 16 डिसमिल भूमि पर बनी बाउंड्रीवाल गिरा दी। यह मामला पुलिस के आला अफसरों तक पहुंचा। इसके बावजूद कोई कार्रवाई नहीं हुई।

अब सहारा इस्टेट में रहने वाले कारोबारी डरे हैं। उनका कहना है कि हिस्ट्रीशीटर बड़ा नुकसान पहुंचा सकते हैं। कानपुर में हुई घटना के बाद शुक्रवार को कुछ व्यापारियों ने अमर उजाला संवाददाता से मिलकर अपनी तकलीफ दोबारा साझा की। कहा कि उन्हें भय है कि पुलिस की ढिलाई, उनकी जान पर न भारी पड़े।

इसे भी पढ़ें-
कानपुर एनकाउंटर: घर के सबसे छोटे बेटे को लगी गोली तो फफक कर रो पड़ा पूरा परिवार, बोले- 'यकीन नहीं हो रहा'
... और पढ़ें

हिस्ट्रीशीटर नंगा निषाद व उसके बेटों ने पुलिस पर दो बार किया था हमला, अब खुलेआम घूम रहे

हिस्ट्रीशीटर के घर दबिश देने के दौरान गोरखपुर में भी पुलिस पर कई बार हमले हो चुके हैं। खोराबार थाने के हिस्ट्रीशीटर नंगा निषाद व उसके बेटों ने इंस्पेक्टर सहित पुलिसकर्मियों पर दो बार हमला किया। जमकर मारापीटा और बंदूकें भी लूट ली थीं। इसी 19 जून 20 को ही नंगा निषाद के हिस्ट्रीशीटर बेटों दयाशंकर निषाद व दिलीप निषाद ने सहारा इस्टेट में रहने वाले एक बड़े कारोबारी से गालीगलौज की और जान से मारने की धमकी दी।

साथ ही कारोबारी के सिक्टौर स्थित 16 डिसमिल भूमि पर बनी बाउंड्रीवाल गिरा दी। यह मामला पुलिस के आला अफसरों तक पहुंचा। इसके बावजूद कोई कार्रवाई नहीं हुई। अब सहारा इस्टेट में रहने वाले कारोबारी डरे हैं। उनका कहना है कि हिस्ट्रीशीटर बड़ा नुकसान पहुंचा सकते हैं।

कानपुर में हुई घटना के बाद शुक्रवार को कुछ व्यापारियों ने अमर उजाला संवाददाता से मिलकर अपनी तकलीफ दोबारा साझा की। कहा कि उन्हें भय है कि पुलिस की ढिलाई, उनकी जान पर न भारी पड़े।

इसे भी पढ़ें-
कानपुर एनकाउंटर: घर के सबसे छोटे बेटे को लगी गोली तो फफक कर रो पड़ा पूरा परिवार, बोले- 'यकीन नहीं हो रहा'
 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन