20 रुपये लेकर पुलिस ने जो ट्रक छोड़ा, तीन हत्याएं कर भागे थे वो, आज तक पकड़े नहीं गए

शिवम सिंह, गोरखपुर Updated Sat, 18 Jan 2020 02:14 PM IST
विज्ञापन
इनकी हुई थी हत्या- (रामजीत पाल, केशव पाल व रामअवध पाल की फाइल फोटो) व उनकी पत्नियां (गुलइचा देवी, विद्यावती, चानमती देवी)।
इनकी हुई थी हत्या- (रामजीत पाल, केशव पाल व रामअवध पाल की फाइल फोटो) व उनकी पत्नियां (गुलइचा देवी, विद्यावती, चानमती देवी)। - फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

सार

  • बेलीपार इलाके से तीन भेड़ पालकों की हत्या कर लूट ले गए थे लुटेरे तीन सौ भेड़
  • कातिलों ने पुलिस को बस 20 रुपये टिकाए, छोड़ा था भेड़ों से लदा ट्रक, आज तक नहीं पकड़ पाए कातिल

विस्तार

23 नवंबर 2004 की रात पुलिस की बीस रुपये की लालच ने तीन परिवारों को न्याय के लिए तरसा दिया। सुनने में थोड़ा अटपटा जरूर लग रहा होगा, मगर यह पुलिस की वसूली की सच्चाई है। दरअसल, बेलीपार इलाके के मामापार गांव में 23 नवंबर की रात तीन भेड़ पालकों की चाकू घोंपकर हत्या कर तीन सौ भेड़ बदमाश हांक ले गए थे।
विज्ञापन

रास्ते में नौसड़ के पास पुलिस ने चेकिंग के नाम पर रोका था, लेकिन तब बीस रुपये में लेकर ही पुलिस ने ट्रक चालकों को जांच पड़ताल के बिना छोड़ दिया। सुबह जब इसकी जानकारी पुलिस को हुई तो उनके पांव तले जमीन ही खिसक गई। आनन फानन पुलिस अफसर पहुंचे, जांच में दोषी सिपाहियों पर कार्रवाई भी हुई, लेकिन आज तक उस घटना के बदमाश नहीं पकड़े जा सके।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

तीन भेड़ पालकों की हुई थी हत्या

विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us