विज्ञापन
विज्ञापन
गंभीर रोग एवं बीमारियों से छुटकारा पाने के लिए आज ही बुक करें दुर्गा सप्तशती का प्रभावी पाठ
Navratri Special

गंभीर रोग एवं बीमारियों से छुटकारा पाने के लिए आज ही बुक करें दुर्गा सप्तशती का प्रभावी पाठ

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

रूट एक, ट्रेन एक मगर ड्राइवर-गार्ड की ड्यूटी अलग-अलग, जानिए क्या है पूरा मामला

रूट एक, ट्रेन भी एक और ड्राइवर (लोको पायलट) व गार्ड की ड्यूटी का समय अलग-अलग। हो यह रहा है कि कुछ रेल गाड़ियों में ड्राइवर जितनी दूरी तक ड्यूटी करते हैं, उतने में दो गार्ड लगाए जाते हैं। जबकि कई रेल गाड़ियों में चालक और गार्ड बराबर की ड्यूटी कर रहे हैं। अब ऑल इंडिया गार्ड एसोसिएशन ने संरक्षा और रेल राजस्व के नुकसान का हवाला देकर नियमों में बदलाव की मांग की है।

गार्ड की ड्यूटी निर्धारण में खामी की वजह से कभी-कभी गार्ड की कमी होने पर पैसेंजर और मालगाड़ी के गार्ड को एक्सप्रेस रेल गाड़ियों में भेजा जाता है, जोकि नियमानुसार सही नहीं है। इससे हादसे की गुंजाइश रहती है। वहीं, गार्ड की ड्यूटी पर 15 प्रतिशत अतिरिक्त माइलेज भत्ता भी देना पड़ता है। इसके अलावा वैशाली एक्सप्रेस, पाटिलीपुत्र और अवध एक्सप्रेस आदि रेल गाड़ियों में चालक और गार्ड की बराबर ड्यूटी होती है। जहां तक चालक रेल गाड़ी लेकर जाता है, वहां तक गार्ड भी जाता है।

पूर्वोत्तर रेलवे के वाराणसी मंडल में ड्राइवर और गार्ड की ड्यूटी में अधिक असमानता है। इस मंडल में दस से ज्यादा ट्रेनें हैं, जिनमें ड्राइवर सात से आठ घंटे तक ड्यूटी करते हैं और गार्ड की ड्यूटी तीन से चार घंटे होती है। रास्ते में गार्ड को बदलना पड़ता है। जबकि चालक गंतव्य तक जाता है।

बता दें कि वाराणसी मंडल में गोरखपुर पूर्व में एक्सप्रेस, पैसेंजर और मालगाड़ी में कुल स्वीकृत पद 107 हैं और वर्तमान में कुल 81 गार्ड ही तैनात हैं। 26 गार्ड की कमी है।
... और पढ़ें
प्रतीकात्मक तस्वीर। प्रतीकात्मक तस्वीर।

आज गोरखपुर आएंगे सीएम योगी आदित्यनाथ, करेंगे महानिशा और शस्त्र पूजन

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री व गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ आज की दोपहर करीब दो बजे गोरखपुर आएंगे। वह रात को गोरखनाथ मंदिर के शक्ति मंदिर में अष्टमी तिथि पर महानिशा पूजन, शस्त्र पूजन और हवन-यज्ञ करेंगे।
 
नाथ संप्रदाय की परंपरा के मुताबिक अष्टमी तिथि की रात में ही गोरखनाथ मंदिर में हवन की परंपरा है। मुख्यमंत्री विजयादशमी तक गोरखनाथ मंदिर में ही प्रवास करेंगे।

मंदिर के सचिव द्वारिका तिवारी ने बताया कि आज की शाम 6 बजे से गौरी-गणेश की पूजा से शुरूआत होगी। इसके बाद गोरक्षपीठाधीश्वर वरुण पूजन, पीठ पूजन, यंत्र पूजन, स्थापित मां दुर्गा की विधिवत पूजा, भगवान राम-लक्ष्मण-सीता का षोडषोपचार पूजन, भगवान कृष्ण एवं गोमाता का पूजन, नवग्रह पूजन, विल्व अधिष्ठात्री देवता का पूजन, शस्त्र पूजन, द्वादश ज्योर्तिंलिंग-अर्धनारीश्वर, शिव-शक्ति पूजन, बटुक भैरव, काल भैरव, त्रिशूल पर्वत पूजन करेंगे।
... और पढ़ें

पृर्वोत्तर रेलवे में बदला ये खास नियम, संविदा कर्मचारियों का शोषण करना निजी फर्मों को पड़ेगा महंगा

पृर्वोत्तर रेलवे में अब संविदा कर्मचारियों को ईपीएफ और ईएसआई की सुविधाएं उपलब्ध नहीं कराने वाली निजी फर्मों का भुगतान रोक दिया जाएगा। यही नहीं फर्में अब नकद या चेक से भुगतान नहीं करेंगी, बल्कि वेतन कर्मचारियों के खाते में भेजना होगा। जांच कर संबंधित पर्यवेक्षक प्रमाणित करेंगे और अगर गड़बड़ी मिली तो उनकी ही जवाबदेही तय की जाएगी।

पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन ने व्यवस्था को पारदर्शी बनाने के लिए नए नियम लागू किए हैं। मुख्य कार्मिक अधिकारी (आईआर) संजय कुमार ने इस संबंध में आदेश जारी कर कहा है कि संबंधित पर्यवेक्षक एजेंसी या फर्म के अधीन कार्यरत श्रमिकों की उपस्थिति पंजिका प्रतिहस्ताक्षरित करें।

जब भी भुगतान के लिए कागजात प्रस्तुत होगा तो पर्यवेक्षक यह जांचेंगे कि श्रमिक को भुगतान उनके खाते में हुआ है या नहीं, भुगतान की कॉपी संलग्न होनी चाहिए। यही नहीं भुगतान की सभी सूचनाएं रेलवे की आधिकारिक वेबसाइट पर अपलोड की जाए।
... और पढ़ें

पोर्टल बताएगा आपके माल की मौजूदा स्थिति, रेलवे की 'फ्रेट बिजनेस पोर्टल सेवा' शुरू

अब व्यापारी पोर्टल के जरिए भेजे गए माल की मौजूदा स्थिति की जानकारी पा सकेंगे। यही नहीं अनुमानित माल भाड़ा, बुकिंग की जानकारी और मालगाड़ी के आने-जाने का समय भी जान सकेंगे। माल लदान को बढ़ावा देने के क्रम में रेल मंत्रालय ने 'फ्रेट बिजनेस पोर्टल सेवा' की शुरुआत की है। इसे रेलवे बोर्ड की वेबसाइट के माध्यम से भी उपयोग किया जा सकता है।
 
पूर्वोत्तर रेलवे के सीपीआरओ पंकज कुमार सिंह ने बताया कि पोर्टल के माध्यम से व्यापारी अपने एफएनआर नंबर द्वारा माल के वर्तमान स्थिति को ट्रैक कर सकते हैं। पोर्टल पर माल भाड़ा संबंधित नियमों तथा माल गोदामों पर उपलब्ध सुविधाओं जैसे-एग्रीगेटर, ट्रांसपोर्टर, वेयर हाउस तथा श्रमिकों की जानकारी भी उपलब्ध है। किस स्टेशन पर कौन से माल लोड हो रहा है, कंटेनर रेल टर्मिनल तथा प्राइवेट फ्रेट टर्मिनल की जानकारी भी प्राप्त कर सकेंगे। उन्होंने बताया कि किसी भी प्रकार की असुविधा होने पर नामित नोडल अधिकारी से संपर्क कर समस्या का निदान किया जा सकता है। असुविधा होने पर उसमें सुधार के लिए ऑनलाइन पोर्टल पर सुझाव भी दे सकेंगे।

हादसे से सबक, 20 साल से पुरानी बोगियां हटाई गईं  
मुजफ्फरपुर में गोरखपुर से कोलकाता जा रही पूर्वांचल एक्सप्रेस की दो बोगियों के बेपटरी होने के बाद रेलवे प्रशासन चौकस हो गया है। अब 20 वर्ष से पुरानी कोच को रेक में नहीं लगाने का निर्देश जारी हुआ है। बुधवार को प्लेटफॉर्म पर खड़ी दादर एक्सप्रेस में लगे पुुराने एसी-2 कोच को निकालकर दूसरी बोगी लगाई गई। इसके चलते ट्रेन करीब डेढ़ घंटे की देरी से से रवाना हो सकी।
... और पढ़ें

जालसाजी के मामले में शिक्षक समेत चार को पुलिस ने दबोचा, ऑनलाइन जमीन बेचने का दे रहे थे झासा

प्रतीकात्मक तस्वीर।
उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में पुलिस ने जालसाजी के आरोप में एक प्राइवेट शिक्षक समेत चार युवकों को इंजीनियरिंग कॉलेज चौकी क्षेत्र के भैरोपुर गांव से दबोच लिया। आरोप है कि इन लोगों ने कंपनी बनाकर जमीन के लिए लोगों से ऑनलाइन रुपये जमा कराए। बाद में जमीन नहीं दी।

पुलिस सूत्रों के अनुसार, कुशीनगर पुलिस की क्राइम ब्रांच की टीम इंजीनियरिंग कॉलेज चौकी पुलिस के साथ भैरोपुर पहुंची और आरोपियों को पकड़ा। टीम ने युवकों के पास से डेढ़ सौ अंगूठा निशान, सैकड़ों चेकबुक, पासबुक, एटीएम कार्ड, लैपटाप, दो चार पहिया वाहन व दो बाइक को भी कब्जे में लिया है। जिसे कुशीनगर की क्राइम ब्रांच की टीम अपने साथ ले गई है।

जानकारी के अनुसार, भैरोपुर निवासी प्राइवेट शिक्षक कोचिंग सेंटर चलाते हैं। उनका भैरोपुर गांव में दो मकान है। एक मकान में वह अपने परिवार के साथ रहते हैं। दूसरे मकान का दो कमरा कुछ युवकों को किराए पर दिया है। वहां दो महीने से तीन युवक किराए पर रह रहे थे। एक युवक पिपराइच इलाके, दूसरा नंदानगर और तीसरा संतकबीरनगर का रहने वाला है। आरोप है कि इन तीन किराएदार युवकों ने एक कंपनी बनाई थी। कंपनी बनाकर जमीन के नाम पर लोगों से ऑनलाइन रुपये जमा कराकर धोखाधड़ी करते थे।

इसकी शिकायत ठगी के शिकार कुशीनगर के एक व्यक्ति ने वहां के अधिकारियों से की थी। जिसके बाद केस दर्ज कर कुशीनगर पुलिस की क्राइम ब्रांच की टीम जांच कर रही थी। वहां की पुलिस ने गोरखपुर के एसएसपी जोगेंद्र कुमार को मामले की जानकारी दी। इसके बाद कार्रवाई की गई। कुशीनगर पुलिस शिक्षक और तीनों युवकों को सुबह साथ लेकर चली गई। शाम को शिक्षक को इंजीनियरिंग कॉलेज पुलिस चौकी पर छोड़ गई। उन्हें हिरासत में लेकर मामले में उनकी भूमिका की जांच की जा रही है। 
... और पढ़ें

हनुमान ने जलाई लंका, मचा हाहाकार, कलाकारों ने जीता दर्शकों का दिल

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले के आर्यनगर रामलीला समिति की ओर से मानसरोवर में हो रही रामलीला के सातवें दिन बृहस्पतिवार को राम की हनुमान से भेंट, सुग्रीव से मित्रता, बाली वध, माता जानकी की खोज एवं लंका दहन का मंचन किया गया। हनुमान ने जैसे ही लंका में आग लगाई, वैसे ही जयघोष होने लगा। जय श्रीराम के साथ ही जय हनुमान के जयकारे लगे। जयघोष से मानसरोवर मैदान गूंज उठा।

अयोध्या की प्रसिद्ध मां सरयू आदर्श रामलीला मंडल के कलाकारों ने रामलीला में दिखाया कि शबरी का उद्धार कर श्रीराम व लक्ष्मण ऋष्यमूक पर्वत के समीप पहुंचे। वहां सुग्रीव अपने मंत्रियों सहित बैठे थे। सुग्रीव अत्यंत भयभीत होकर हनुमान से बोले हे हनुमान, ये दोनों पुरुष बल और रूप के निधान हैं। तुम ब्रह्मचारी का रूप धारण करके जाकर देखो। यदि वे बाली के भेजे हुए हों तो मैं, तुरंत ही इस पर्वत को छोड़कर भाग जाऊं। यह सुनकर हनुमानजी ब्राह्मण का रूप धरकर भगवान राम के पास जाते हैं।

हनुमान ने मस्तक नवाकर पूछा कि आप दोनों कौन हैं? श्रीराम ने कहा कि हम अयोध्या के महाराज दशरथ के पुत्र हैं और पिता के वचन का पालन करते हुए 14 वर्षों के वनवास पर निकले हैं। हमारे नाम राम-लक्ष्मण हैं। हम दोनों भाई हैं। हमारे साथ जानकी भी थीं, जिसका दुष्ट राक्षस ने  हरण कर लिया है। हे, ब्राह्मण, हम उसे ही खोजते फिर रहे हैं। हमने तो अपना चरित्र कह सुनाया। अब हे ब्राह्मण अपना परिचय दीजिए? प्रभु को पहचानकर हनुमान जी उनके चरण पकड़कर पृथ्वी पर गिर पड़े। उन्हें दंडवत प्रणाम किया और वानरराज सुग्रीव के पास लेकर गए। सुग्रीव भगवान को देखते ही शरणागत हो जाते हैं।
... और पढ़ें

दुकानदारों को करनी होगी निगरानी, प्रतिष्ठान के बाहर न खड़े हों वाहन

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में पार्किंग को लेकर जीडीए फिर सख्ती करने की तैयारी में है। कमिश्नर जयंत नार्लिकर के निर्देश पर जीडीए की तरफ से सभी दुकानदारों और कांप्लेक्स मालिकों को चेतावनी दी गई है कि यदि उनकी दुकानों-कांप्लेक्स के सामने वाहन खड़े मिले, तो उनके खिलाफ ही कार्रवाई की जाएगी।

इस मामले में संबंधित पर एफआईआर तक दर्ज कराई जा सकती है। इस संबंध में जीडीए के सचिव राम सिंह गौतम ने शहर के कई व्यवसाइयों, कांप्लेक्स मालिकों के साथ बैठक भी की। सचिव ने प्राधिकरण के अवर अभियंताओं, व्यवसाइयों को निर्देश दिए कि अनिवार्य रूप से जीडीए द्वारा चिह्नित पार्किंग स्थलों को खाली कराकर वहां गाड़ियों की पार्किंग सुनिश्चित कराई जाए।

दिशा सूचक बोर्ड लगाकर पार्किंग स्थल की जानकारी दें और लोगों से वहां गाड़ी पार्क करने को कहें। सभी व्यापारी अपनी दुकान के सामने बोर्ड लगाएं कि वहां पार्किंग न की जाए। गार्ड की सहायता से गाड़ियों को पार्किंग स्थल पर ले जाने की व्यवस्था की जाए। अवैध रूप से गाड़ी खड़ी मिली तो संबंधित दुकानदार के खिलाफ विधिक कार्रवाई की जाएगी।

जीडीए सचिव राम सिंह गौतम ने बताया कि त्योहारों को देखते हुए शहर में जाम की स्थिति से निपटने की रणनीति बनाई जा रही है। कमिश्नर ने कुछ दिन पहले सभी विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक कर पार्किंग की व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने का निर्देश दिया था। कुछ स्थान भी चिह्नित किए गए हैं जहां पार्किंग की व्यवस्था की जा रही है।
... और पढ़ें

गोरखपुर: बच्चों की सुरक्षा से कर रहे थे खिलवाड़, अब खास टीम करेगी जांच

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले के डेयरी कॉलोनी स्थित गांधी शताब्दी इंटर कॉलेज में अव्यवस्था मिलने के बाद से डीआईओएस ने मामले की जांच के लिए प्रबंधक की अगुवाई में जांच कमेटी गठित की है। वहीं प्रधानाचार्य के वेतन को रोकने के साथ ही कमेटी को जल्द से जल्द जांच पूरी कर पूरी रिपोर्ट देने को निर्देशित किया है। विभाग मामले को लेकर बेहद गंभीर है। जिला प्रशासन की ओर से भी मामले में डीआईओएस से जवाब तलब किया गया है।

एक दिन पूर्व ही औचक निरीक्षण के दौरान गांधी शताब्दी इंटर कॉलेज की प्रधानाचार्य बिना सूचना के अनुपस्थित मिलीं। बच्चों की सुरक्षा के लिए लाए गए थर्मल स्कैनर और हैंड सैनिटाइजर आलमारी में बंद रखे गए थे। जिसकी वजह से बच्चे बिना जांच के ही विद्यालय के अंदर प्रवेश करते नजर आए थे।

मामले की गंभीरता को देखते हुए डीआईओएस ने बुधवार को ही प्रधानाचार्य का वेतन रोकने का निर्देश दिया था। जिसे गुरुवार को लागू कर दिया गया। वहीं मामले की जांच के लिए प्रबंधक की अगुवाई में जांच कमेटी गठित की है। उधर, डीआईओएस ज्ञानेंद्र सिंह भदौरिया ने माध्यमिक विद्यालयों का निरीक्षण किया। डीआईओएस सबसे पहले आर्मी पब्लिक स्कूल पहुंचे और वहां शिक्षकों व छात्रों से कोविड-19 गाइड लाइन की जानकारी ली। इसके बाद उन्होंने सेंट जोसेफ खोराबार, माध्यमिक विद्यालय माड़ापार, नीना थापा इंटर कालेज व एयरफोर्स स्कूल समेत आधा दर्जन विद्यालयों का निरीक्षण किया।

प्रधानाचार्य को दी चेतावनी
माड़ापार इंटर कालेज में थर्मल स्कैनिंग नहीं की जा रही थी। वहीं कुछ बच्चे और शिक्षक बिना मास्क के बैठे मिले। आईसोलेशन वार्ड भी नहीं बना था। डीआईओएस ने प्रधानाचार्य को चेतावनी दी कि यदि सोमवार तक व्यवस्था दुरुस्त नहीं हुई तो अगले निरीक्षण में कार्रवाई की जाएगी। दोपहर एक बजे डीआईओएस अभय नंदन इंटर कॉलेज गए जहां हैंड सैनिटाइज कराने की व्यवस्था और मास्क अनिवार्यता को देख कर प्रधानाचार्य को शाबाशी दी।

इसके बाद मेडिकल रोड स्थित जनता इंटर कॉलेज पहुंचे। वहां स्कूल के सभी कमरों में ताला लटका मिला। डीआईओएस ने जब प्रिंसिपल को फोन मिलाया तो उन्होंने बताया कि स्कूल में पुण्यतिथि मनाई गई और उसके बाद सभी लोग अपने घर निकल गए।
... और पढ़ें

पंजाब में किसान आंदोलन के चलते ट्रेनों का संचालन प्रभावित, आठ ट्रेनें निरस्त, 12 बीच रास्ते से चलेंगी

पंजाब में चल रहे किसान आंदोलन के चलते ट्रेनों का संचालन सामान्य नहीं हो पाया है। इसकी वजह से यात्रियों की दिक्कत बढ़ जाएगी। रेल प्रशासन ने आठ ट्रेनें निरस्त कर दी हैं जबकि 12 ट्रेनों को बीच के रास्ते तक ही चलाया जाएगा।

ये ट्रेनें हुईं हैं निरस्त
  • चंडीगढ़ से 22 अक्तूबर से चार नवंबर तक 04924 चंडीगढ़-गोरखपुर स्पेशल
  • गोरखपुर से 23 अक्तूबर से पांच नवंबर तक 04923 गोरखपुर-चंडीगढ स्पेेशल
  • गोरखपुर से 26 अक्तूबर तक 02587 गोरखपुर-जम्मूतवी स्पेशल
  • जम्मूतवी से 31 अक्तूबर को 02588 जम्मूतवी-गोरखपुर स्पेशल
  • भागलपुर से 29 अक्तूबर को 05097 भागलपुर-जम्मूतवी स्पेशल
  • जम्मूतवी से 27 अक्तूबर को 05098 जम्मूतवी-भागलपुर स्पेशल
  • अमृतसर से 21 अक्तूबर से 4 नवंबर तक 04624 अमृतसर-सहरसा स्पेशल
  • सहरसा से 22 अक्तूबर से 5 नवंबर तक 04623 सहरसा-अमृतसर स्पेशल
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X