विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन

गोरखपुर

बुधवार, 8 अप्रैल 2020

Lockdown: बेसहारा जानवरों की मदद कर रहा ये विभाग, खोज-खोज कर खिला रहे हैं खाना

लॉकडाउन के दौरान गोरखपुर में पशुपालन विभाग के चिकित्सक व कर्मचारी 3 दिन से लगातार शहर के विभिन्न मुहल्लों में लोगों के जन सहयोग से बेजुबान पशुओं के लिए बिस्कुट और ब्रेड लेकर जा रहे हैं। लॉकडाउन के कारण दुकानें, होटल सब बंद है लोग घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं। इन बेजुबान जानवरों का पेट लोगों द्वारा फेंके जाने वाले रोटी व अन्य खाद्य सामग्रियों से ही भरता है।

ऐसे में पशुपालन विभाग इन जानवरों की मदद को आई है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी के निर्देशन में चार डाक्टरों की टीम अलग-अलग क्षेत्रों में घूम कर जानवरों, लावारिस कुत्तों को बिस्कुट ब्रेड वह रोटी खिला रहे हैं। इतना ही नहीं इस टीम के सदस्य लोगों से भी अपील कर रहे हैं कि अपने घर के बाहर किसी बर्तन में पानी भी रख दें जिससे इन जानवरों को पानी मिल सके। 
... और पढ़ें

सीएम योगी ने खास अंदाज में इस शख्स को दिया धन्यवाद, जानें क्या है पूरा मामला

कोरोना वायरस से निपटने के दृष्टिगत गैलेंट ग्रुप की तरफ से एक करोड़ रुपये व्यय करने पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रसन्नता व्यक्त की है। उन्होंने पत्र लिखकर चंद्र प्रकाश अग्रवाल को धन्यवाद दिया है।

पत्र के जरिए सीएम ने कहा है कि 50 लाख कोविड केयर फंड के साथ 25 लाख रुपये चारे के लिए गौशालाओं को तथा 25 लाख रुपये निर्धन व जरूरतमंद को भोजन उपलब्ध कराने के लिए उपलब्ध कराना सराहनीय है। ग्रुप के प्रतिनिधि दीपक शर्मा ने बताया कि 50 लाख रुपये कोविड केयर फंड में और 30 लाख रुपये गौशालयों के खाते में भेजे जा चुके हैं।

साथ ही भोजन वितरण के 11 दिन कम्युनिटी किचेन कंट्रोल रूप (नेपाल क्लब), बरगदवा विकास नगर, विस्तार नगर, गोरक्षनाथ अस्पताल, धर्मशाला चौकी, गोरखनाथ थाना, गोरखनाथ औद्योगिक क्षेत्र मोड़, बेतियाहाता हनुमान मंदिर के पीछे मलिन बस्ती, बसंतपुर वार्ड के तकिया में तथा नार्मल के कुछ मजदूर निवास क्षेत्र मिलाकर कुल 1300 पैकेट वितरित किए गए। साथ ही जिला प्रशासन की मांग पर मंगलवार को 10 क्विंटल आटा भी उपलब्ध कराया गया है।
... और पढ़ें

ऑनलाइन डिलीवरी पोर्टल से सामान मंगाने पर मिलेगी ये खास छूट, जानकर आप भी हो जाएंगे खुश

लॉकडाउन के दौरान ऑनलाइन डिलीवरी पोर्टल से सामान घर पहुंचाने के लिए लग रहा 50 रुपये डिलीवरी चार्ज अब नहीं वसूला जाएगा। ज्वाइंट मजिस्ट्रेट गौरव सिंह सोगरवाल का कहना है कि नौ डिलीवरी पोर्टल में से किसी से कोई भी सामान मंगाने पर अब अतिरिक्त शुल्क नहीं देना पड़ेगा।  

लॉकडाउन की घोषणा होते ही प्रशासन की तरफ से 150 से अधिक किराना दुकानों के नाम और नंबर भी जारी किए गए थे मगर आठ-दस को छोड़ कोई भी सक्रिय नहीं है। इसे देखते हुए ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने ऑनलाइन डोर स्टेप डिलीवरी की व्यवस्था शुरू कराई। ज्वाइंट मजिस्ट्रेट के मुताबिक वर्तमान में संचालित नौ होम डिलीवरी पोर्टल पर अब तक 1.25 लाख से अधिक आर्डर मिल चुके हैं।

पोर्टल संचालकों को हिदायत दी गई है कि जिला प्रशासन द्वारा निर्धारित दर पर ही वस्तुएं बेचें। इसकी निगरानी के लिए कानूनगो और लेखपाल भी तैनात किए गए हैं। भुगतान में कोई दिक्कत न हो इसलिए कई ऑनलाइन विकल्प भी दिए गए हैं । डिजिटल पेमेंट जैसे googlepay, paytm और BHIM के माध्यम से भुगतान की सुविधा है। कैश ऑन डिलीवरी की भी सुविधा है ।
... और पढ़ें

गोरखपुर में प्रवेश करना नहीं है आसान, इस जांच के बाद हो रही है एंट्री, तस्वीरों में देखें पल-पल की अपडेट

gorakhpur news gorakhpur news

मात्र 20 रुपये में रेलवे इंजीनियरों ने कोरोना से बचने के लिए तैयार किया ये हथियार, जानें क्या है इसमें खास

गोरखपुर के रेलवे वर्कशॉप के इंजीनियरों ने कोरोना संक्रमण से चेहरे को बचाने के लिए फेस शील्ड तैयार किया है। इसे तैयार करने में महज 20 रुपये ही लागत आई है। अभी तक 200 फेस शील्ड तैयार कर लिए गए हैं। इसे रेलवे के डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ को दिया जाएगा। इसके बाद रेलवे के फ्रंट लाइन के कर्मचारियों में इसका वितरण होगा।

फेस शील्ड पूरे चेहरे को कोरोना के संक्रमण की चपेट में आने से रोकता है। मंगलवार को रेलवे अस्पताल के कई डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ को फेस शील्ड उपलब्ध कराया गया। इसे तैयार करने में महज 10 मिनट लगे। इसके लिए न तो अलग से कोई सामान मंगाना पड़ा और न ही इसके लिए किसी बजट की व्यवस्था करनी पड़ी।

कारखाने में पड़े रेल मैटेरियल से ही फेस शील्ड बना दिया गया। पूर्वोत्तर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह ने बताया कि रेलवे अस्पताल के मेडिकल स्टाफ के लिए इसे बनाया गया है। वे हमेशा मरीजों के संपर्क में रहते हैं इसलिए उनके लिए बहुत कारगार होगा।
... और पढ़ें

लॉकडाउन के खुलने से पहले रोडवेज अलर्ट, इस जांच के बिना ड्यूटी नहीं कर सकेंगे कर्मी

कोरोना वायरस।
रोडवेज यात्रियों की सुरक्षा के मद्देनजर लॉकडाउन खुलने से पहले रोडवेज चालकों, परिचालकों के साथ अन्य कर्मचारियों का स्वास्थ्य परीक्षण कराया जाएगा। बिना स्वास्थ्य परीक्षण के वे ड्यूटी नहीं कर सकेंगे।

कोरोना वायरस से बचाव को लेकर परिवहन निगम अलर्ट है। मंगलवार को परिवहन निगम के एमडी ने पत्र जारी कर 13 अप्रैल को नियमित एवं 14 अप्रैल को संविदा रोडवेज के चालक, परिचालक एवं कर्मचारियों का स्वास्थ्य परीक्षण कराने का निर्देश आरएम को दिया है।

सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए स्वास्थ्य शिविर लगाया जाए। कहा कि सभी चालकों, परिचालकों एवं कर्मचारियों को सैनिटाइजर व मास्क भी निगम की ओर से दिया जाए। उन्होंने चेतावनी दी कि अगर इस कार्य में शिथिलता बरती गई तो जिम्मेदारों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

एआरएम केके तिवारी ने बताया- चालकों, परिचालकों एवं कर्मियों के स्वास्थ्य परीक्षण से संबंधित एमडी का पत्र प्राप्त हुआ है। इस संदर्भ में सीएमओ को पत्र लिखकर स्वास्थ्य परीक्षण की व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाएगी।
... और पढ़ें

गोरखपुर रेलवे स्टेशन में प्रवेश करने से पहले हर शख्स होगा सैनिटाइज, लगाई जाएगी ये खास मशीन

गोरखपुर रेलवे स्टेशन पर आने वाले हर शख्स को अब सैनिटाइज किया जाएगा। इसके लिए स्टेशन के प्रवेश द्वार पर डिसइन्फेक्टेंट टनल (जिसमें से गुजरने वाला व्यक्ति संक्रमण रहित होगा) लगाया जाएगा।

इस टनल से सामाजिक दूरी को ध्यान में रखते हुए आठ से दस सेकेंड में दो व्यक्तियों को सैनिटाइजेशन किया जा सकता है। लखनऊ मंडल ने यह टनल तैयार कर लिया है, शीघ्र ही इसे लगाया जाएगा।

पूर्वोत्तर रेलवे के लखनऊ मंडल के जनसंपर्क अधिकारी ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण से निपटने के लिए रेल प्रशासन ने इस टनल को तैयार कराया है। इस टनल से गुजरने वाले यात्रियों को स्प्रे मशीन के माध्यम से उपयुक्त दवाओं द्वारा सैनिटाइज किया जा सकेगा।

इस टनल को गोरखपुर जंक्शन स्टेशन के प्रवेश द्वार पर लगाया जाएगा। बताया कि पूर्वोत्तर रेलवे लखनऊ मंडल की रेल प्रबंधक डॉ. मोनिका अग्निहोत्री के निर्देशन में लखनऊ मंडल के सवारी एवं मालडिब्बा विभाग (समाडि) के गोरखपुर स्थित कोचिंग डिपो ने इस टनल को तैयार किया है। उन्होंने बताया कि छह फुट चौड़ी, नौ फुट ऊंची तथा 16 फुट लंबी इस मशीन में स्प्रे करने के लिए छह नोजल लगाए गए हैं।
... और पढ़ें

गोरखपुर में मौसम हुआ सुहाना, हो सकती है झमाझम बारिश, देखें तस्वीरें

लक्षण न दिखने के बावजूद जांच में पाए गए कोरोना पॉजिटिव, अब यहां होगी इसकी जांच

कोरोना वायरस को लेकर आरएमआरसी में की जा रही जांच के परिणामों पर अब शोध किया जाएगा। ऐसा आरएमआरसी के देश भर के सभी 27 सेंटरों में होगा। इसमें ठीक होने के पैटर्न और लक्षण न दिखने के बावजूद जांच में कोरोना पॉजिटिव पाए जाने वालों की हिस्ट्री जांची जाएगी।

गोरखपुर में अब तक आरएमआरसी की जांच में 14 लोग कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं। जबकि 200 से अधिक लोग कोरोना निगेटिव। डर की बात यह है कि जो 14 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए है। इनमें छह मरीज तब्लीगी मरकज के थे, जिनमें 14 दिनों के बाद भी कोरोना के कोई लक्षण नजर नहीं आए थे।

आरएमआरसी, गोरखपुर के निदेशक डॉ रजनीकांत ने बताया कि इस पर काम शुरू हो गया है। कोरोना पॉजिटिव और निगेटिव आने वाली रिपोर्ट रिव्यू की जा रही है। ऐसे मरीजों की लिस्ट अलग बनाई जा रही है जिनकी रिपोर्ट पॉजिटिव हैं। पॉजिटिव लोगों के डीएनए की भी जांच की जा रही है।
... और पढ़ें

Corona: दो दिनों से दरवाजे पर फेंका मिल रहा है पचास की नोट, गलती से भी ना उठाएं

गोरखपुर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां बुधवार को मकान के सामने लोगों को फेंके हुए नोट मिले हैं। ऐसा ही मामला मंगलवार को भी समाने आया था।

बताया जा रहा है कि मंगलवार को गोरखपुर के राप्तीनगर तृतीय चरण ई डब्ल्यू एस क्वार्टरों में इ-203 और ए-204 अनूप श्रीवास्तव और संजय गुप्ता के मकान के सामने 50 रुपये का नोट फेंका हुआ मिला।

मंगलवार को मिले नोट को एक बच्चे दुकान पर देकर कुछ खरीद लिया। वहीं बुधवार को मिले नोट पर अनूप की नजर पड़ी, तो उन्होंने हाथ में दस्ताना पहन कर उठाया और प्लास्टिक की थैली में डालकर वार्ड के पार्षद बृजेश सिंह छोटू के पास ले गए।

पार्षद ने लोगों से कोई भी नोट या अनजान वस्तु को छूने से मना कर दिया और आवश्यक कार्रवाई का आश्वासन दिया। इस दौरान पार्षद के साथ मेजर जीके मिश्रा, सैन्य प्रकोष्ठ अशोक निषाद, बबलू वर्मा, निक्कू, सुनील मौर्या तथा सैकड़ों की संख्या में मुहल्ले के लोग उपस्थित थे।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us