विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्रि के दौरान विशेष प्रभावशाली है बगलामुखी मंत्रों का जाप एवं वांछाकल्पता पाठ ! आज ही बुक करें
Navratri Special

नवरात्रि के दौरान विशेष प्रभावशाली है बगलामुखी मंत्रों का जाप एवं वांछाकल्पता पाठ ! आज ही बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

सांसद रवि किशन के इस रूप को देखकर हो जाएंगे हैरान, अयोध्या की रामलीला में निभाया ये खास किरदार

रामलीला: MP Ravi kishan रामलीला: MP Ravi kishan

ब्रिटिश हुकूमत ने भी मां अहिल्यापुर देवी के सामने झुकाया था शीश, अंग्रेज चाहकर भी नहीं कर पाए थे ये काम

देवरिया जिला मुख्यालय से 11 किमी दूर मुड़ेरा बुजुर्ग चौराहे से शेरों के मुख वाला गेट से होकर जाने वाले मार्ग पर अहिलवार बुजुर्ग के निकट अहिल्यापुर देवी का स्थान नवरात्र में लोगों के लिए आस्था का केंद्र बना हुआ है। पहले दिन से लेकर अंतिम दिन तक देवी के उपासक यहां आकर दर्शन पूजन एवं नारियल चुनरी चढ़ाकर मन्नतें मांगते हैं। मान्यता है कि आने वाले हर साधक की मनौतियों को देवी अवश्य ही पूरा करती हैं।

देवरिया व भटनी रेलवे स्टेशनों के बीच में पड़ने वाले अहिल्यापुर रेलवे स्टेशन से करीब तीन किमी आगे स्थित अहिल्यापुर दुर्गा मंदिर का इतिहास भी कम दिलचस्प नहीं है। यहां के बुजुर्ग बताते हैं कि आजादी के पूर्व तक आधी दुनिया जिस ब्रिटिश हुकूमत के आगे नतमस्तक थी, उस अंग्रेजी शासन को भी आदि शक्ति मां दुर्गा के समक्ष शीश झुकाना पड़ा।।
... और पढ़ें

बसपा विधायक को लोन देने वाले बैंककर्मियों की बढ़ सकती है मुश्किलें, सीबीआई जांच में हो सकती है कार्रवाई

बसपा विधायक विनय शंकर तिवारी के खिलाफ बैंक ऑफ इंडिया से 754.25 रुपये की धोखाधड़ी के दर्ज मामले मेें अज्ञात सरकारी कर्मचारी और अज्ञात लोगों को भी मुकदमे का हिस्सा बनाया गया है। इसका मतलब है कि सीबीआई की जांच का दायरा बढ़ेगा। इसकी जद में मनमाने ढंग से ऋण देने वाले बैंक अफसर और कर्मचारी भी आएंगे। विधायक के सगे-संबंधियों तक भी जांच की आंच पहुंच सकती है।

सीबीआई ने जो मुकदमा दर्ज किया है उसके मुताबिक बैंक ऑफ इंडिया स्टार हाउस विभूति खंड के जोनल मैनेजर यादवेंद्र नारायण द्विवेदी ने लिखित शिकायत की थी। जोनल मैनेजर के आरोप थे कि वर्ष 2012 से 2016 के बीच बैंक ऋण लिया गया, लेकिन चुकाया नहीं गया। इससे बैंक ऑफ इंडिया को 754.25 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है।

जोनल मैनेजर की लिखित शिकायत में ही मैसर्स गंगोत्री एंटरप्राइजेज, अजित पांडेय, विनय शंकर तिवारी, रीता तिवारी और रॉयल इंपायर मार्केटिंग प्राइवेट लिमिटेड का नाम था। अज्ञात सरकारी कर्मचारी व अज्ञात व्यक्ति का भी जिक्र है। इसी आधार पर सीबीआई ने मुकदमा दर्ज कर जांच-पड़ताल शुरू  की है।

सीबीआई के सूत्रों के मुताबिक जल्द ही समन जारी करके आरोपियों को पूछताछ के लिए बुलाया जाएगा। जिस समयावधि में ऋण बांटा गया है, उस दौरान तैनात बैंक अफसर व कर्मचारियों से भी पूछताछ होगी। बैंक ऋण के लिए जमा कराए गए दस्तावेजों की गहनता से छानबीन की जाएगी। जो अफसर या कर्मचारी दोषी मिलेंगे, उनके नाम एफआईआर में बढ़ाकर विवेचना आगे बढ़ाई जाएगी।
 
... और पढ़ें

मिठाई की दुकान पर नहीं नजर आ रहा ये खास चीज, प्रशासन के आदेश को किया जा रहा नजरअंदाज

बसपा विधायक विनय शंकर तिवारी। फाइल फोटो

खेल-खेल में जागरूक किए जा रहे हैं बच्चे, इस बारे में दी जा रही है जानकारी

गोरखपुर शहर की मलिन बस्तियों में रहने वाले किशोर-किशोरियों के लिए अभियान चला कर उन्हें कोविड-19, किशोर स्वास्थ्य और परिवार नियोजन के प्रति जागरूक किया जा रहा है। स्वयंसेवी संस्था पापुलेशन सर्विसेज इंटरनेशनल-द चैलेंज इनीशिएटिव ऑफ हेल्दी सिटी (पीएसआई-टीसीआईएचसी) के सहयोग से राष्ट्रीय शहरी स्वास्थ्य मिशन के तहत अब तक 20 मलिन बस्तियों में यह आयोजन किए जा चुके हैं।

मिशन की मंडलीय अर्बन हेल्थ कंसल्टेंट डॉ. प्रीती सिंह ने जाफरा बाजार के रमदत्तपुर में हुए आयोजन में मंगलवार को प्रतिभाग किया। उन्होंने किशोर-किशोरियों को स्वच्छता और व्यक्तिगत सफाई का महत्व बताया। आयोजन के दौरान खेल-खेल में कार्ड के जरिए स्वच्छता की जानकारी दी। किशोर-किशोरियों को खेलों के जरिए ही कोविड-19, किशोर स्वास्थ्य और परिवार नियोजन कार्यक्रमों के बारे में विस्तार से बताया गया।

डॉ. प्रीती सिंह ने बताया कि गोरखपुर शहर में अब तक 190 किशोरियों और 54 किशोरों को छोटी-छोटी टोलियों में कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करते हुए जागरूक किया गया है। प्रतिदिन इस प्रकार की तीन गतिविधियां आयोजित की जाती हैं। किशोर-किशोरियों को उनके शरीर के हार्मोनल बदलाव, परिवार नियोजन के साधनों से संबंधित उनके अधिकारों, सेक्सुअल एजुकेशन, गोपनीय परामर्श के बारे में भी बताया जाता है। इस अवसर पर एकीकृत बाल विकास विभाग की मुख्य सेविका सुनीता शुक्ला, संस्था के प्रोग्राम मैनेजर केवल सिंह सिसौदिया, स्वयंसेवक पवन कुमार पांडेय और तूलिका द्विवेद्वी प्रमुख तौर पर मौजूद रहे।

किशोर स्वास्थ्य पर जोर
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. श्रीकांत तिवारी ने कहा कि एक स्वस्थ किशोर और किशोरी कल के बेहतर समाज का निर्माता है। किशोर सेहत से जुड़े कार्यक्रमों के तहत निःशुल्क सैनेटरी पैड, आयरन-कैल्शियम की गोलियां, परिवार नियोजन के अस्थायी साधन आदि स्वास्थ्य विभाग उपलब्ध करवाता है। यह सुविधा सभी नगरीय स्वास्थ्य केंद्रों पर उपलब्ध है। शहरी क्षेत्र में पीएसआई-टीसीआईएचसी संस्था इस कार्यक्रम में तकनीकी सहयोग दे रही है।



 
... और पढ़ें

सीबीएसई: दसवीं और बारहवीं की मार्कशीट पर फेल नहीं अब होगा एसेंशियल रिपीट

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के 10वीं और 12वीं के अंकपत्र (मार्क्सशीट) पर अब फेल की बजाय एसेंशियल रिपीट लिखा जाएगा। सत्र 2020 के रिजल्ट में अंक पत्र के बदलाव को बोर्ड ने प्रयोग के तौर पर मंजूरी दी थी। मगर अभिभावकों और बच्चों का सकारात्मक रूझान देखकर अब इसे स्थाई रूप से लागू कर दिया है।

वर्ष की शुरूआत में बोर्ड ने सभी संबद्ध स्कूलों के प्रधानाचार्य से जानकारी मांगी थी कि फेल या कंपार्टमेंट की जगह किन शब्दों का इस्तेमाल किया जाए। इसके लिए सुझाव देते हुए कहा है कि शब्द ऐसा हो जिससे बच्चों के मन में नकारात्मक भाव ना आए। इस शब्द को पढ़ने के बाद असफल होने की बात तो पता चले पर भविष्य में सफल होने का उत्साह भी बना रहे।

देशभर के प्रधानाचार्यों की ओर से भेजे सुझाव के बाद बोर्ड ने फेल की जगह एसेंशियल रिपीट लिखने का आदेश निकाला है। सीबीएसई जब रिजल्ट जारी करता है तो सभी परीक्षार्थियों को रिजल्ट देता है। इसमें उत्तीर्ण और अनुत्तीर्ण दोनों विद्यार्थी शामिल होते हैं। लेकिन अब जो छात्र अनुत्तीर्ण हो जायेंगे, उन्हें अंक पत्र तो दिये जायेंगे लेकिन उसमें फेल शब्द नहीं लिखा रहेगा।

 
... और पढ़ें

दूसरों को फंसाने के लिए झूठा केस दर्ज कराना पड़ेगा महंगा, पकड़े जाने पर हो सकती है जेल

महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराध के आरोपियों को पुलिस सख्त सजा दिलाएगी, लेकिन पुरानी रंजिश में किसी को फंसाने के लिए इस तरह का झूठा मामला दर्ज कराने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई होगी। एसएसपी ने इस तरह के मामले लगातार बढ़ने पर अब पुलिस को झूठा मामला दर्ज कराने वालों पर भी केस दर्ज कर कार्रवाई का निर्देश दिया है।

दरअसल, पुरानी रंजिश या फिर पंचायती चुनाव की दुश्मनी में छेड़छाड़ और दुष्कर्म तक के झूठे मामले दर्ज कराए जा रहे हैं। हाल ही में बेतियाहाता में किराएदारी विवाद के एक मामले में चौकी इंचार्ज को सस्पेंड किया गया। जांच में पता चला है कि चौकी इंचार्ज ने एक पक्ष को दुष्कर्म का केस दर्ज कराने की सलाह दी थी। इस प्रकरण की जांच भी चल रही है।

जानकारी के मुताबिक, महिला अपराध के मामले में त्वरित कार्रवाई करने का आदेश एसएसपी जोगेंद्र कुमार ने दिया है, लेकिन कई ऐसे भी मामले हैं, जिसमें बेवजह ही मारपीट या फिर दूसरी घटना होने पर लोगों को छेड़छाड़ या दुष्कर्म के मामलों में फंसा दिया जाता है। एसएसपी के आदेश का आड़ लेकर पुलिस आरोपित को जेल भेज दे रही है और फिर जांच में मामला सिर्फ मारपीट या पुरानी रंजिश का निकल रहा है।

यही वजह है कि एसएसपी ने मातहतों से साफ कर दिया है कि वे महिला अपराध के मामलों में त्वरित कार्रवाई जरूर करें, लेकिन जहां पर भी उनको संदेह लगता है, वहां पर जांच कर लें और सही होने पर सख्त कार्रवाई करें। आरोपित के पास अगर बचाव में कोई साक्ष्य हैं तो उसकी भी पड़ताल होनी चाहिए।

एसएसपी जोगेंद्र कुमार ने कहा कि महिला अपराध के मामले में किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा। जो दोषी होगा, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी, लेकिन अगर किसी को झूठे मामले में फंसाया गया है तो पुलिस उसकी भी जांच करेगी।
 
... और पढ़ें

गोरखपुर : कोरोना से 24 घंटे में पांच की मौत, 133 नए मिले संक्रमित

गोरखपुर में कोरोना मरीजों की संख्या 24 घंटे के अंदर फिर से 100 के पार पहुंच गई है। मंगलवार को 133 नए मरीज मिले हैं। साथ ही पांच मरीजों की मौत भी हुई है। करीब एक सप्ताह बाद 24 घंटे में इतने संक्रमितों की मौत हुई है। सोमवार को 67 मरीज मिले थे। मौजूदा समय में जिले में संक्रमितों की संख्या 18247 हो गई है। इनमें 16559 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। एक्टिव केस 1388 रह गए हैं। मरने वालों की संख्या 300 हो गई है।

जानकारी के मुताबिक, मंगलवार को मिले संक्रमितों में नौ साल का एक बालक भी शामिल है, जो चरगांवा क्षेत्र के एक निजी अस्पताल में भर्ती है। इसके अलावा बीआरडी मेडिकल कॉलेज के दो कर्मी, तारामंडल में एक ही परिवार के तीन लोग, आवास विकास कॉलोनी में एक पांच साल का मासूम, मालवीय नगर में एक ही परिवार के तीन लोग, चिलमापुर में एक ही परिवार के दो लोग, कूड़ाघाट में एक ही परिवार के दो लोग, मोहद्दीपुर में एक ही परिवार के दो लोग संक्रमित मिले हैं। सीएमओ डॉ श्रीकांत तिवारी ने बताया कि मरीजों की संख्या लगातार घट रही है। संक्रमितों के संपर्क में आने वाले लोगों की भी जांच लगातार की जा रही है।

शहर में 87 और ग्रामीण क्षेत्रों में मिले 44 नए मरीज
शहर में 87 नए मरीज मिले हैं। इनमें कैंट थाना क्षेत्र में सर्वाधिक 28 मरीज शामिल हैं। इनके अलावा तिवारीपुर और चिलुआताल में दो-दो, गुलरिहा में तीन, रामगढ़ताल क्षेत्र में चार, कोतवाली और राजघाट में पांच-पांच, गोरखनाथ 18 और शाहपुर में 20 मरीज मिले हैं।

ग्रामीण क्षेत्रों में 44 नए मरीज मिले हैं। इनमें पाली, सहजनवां, पिपराइच और बड़हलगंज में एक-एक, भटहट, ब्रह्मपुर, गोला, सरदारनगर, पिपरौली और गोला में दो-दो, गगहा चार, खजनी और खोराबार में सात-सात और चरगांवा 12 मरीज मिले हैं। इनके अलावा दो मरीज अलग-अलग थाना क्षेत्रों के हैं।

 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X