विज्ञापन
विज्ञापन
यदि आप है कर्ज की समस्या से परेशान तो शरद पूर्णिमा पर जरुर कराएं कृष्ण पूजन ! अभी बुक करें
Puja

यदि आप है कर्ज की समस्या से परेशान तो शरद पूर्णिमा पर जरुर कराएं कृष्ण पूजन ! अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

गोरखपुर: रेलवे अस्पताल के शौचालयों पर सपा पार्टी ने जताया एतराज, जानिए क्या है वजह

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले के रेलवे अस्पताल के शौचालयों की दीवारों का रंग समाजवादी पार्टी के झंडे जैसा होने पर सपा ने एतराज जताया है। समाजवादी पार्टी की ओर से इस पर घोर आपत्ति जताते हुए तुरंत इसे ठीक करने की अपील की गई है। इस मामले को लेकर आज सपाई, रेलवे के अफसरों से मिलकर बातचीत करेंगे।

बता दें कि गुरुवार को समाजवादी पार्टी ने ट्वीट कर इस बारे में आपत्ति जताई। ट्वीट में लिखा गया, 'दूषित सोच रखने वाले सत्ताधीशों द्वारा राजनीतिक द्वेष के चलते गोरखपुर रेलवे अस्पताल में शौचालय की दीवारों को सपा के रंग में रंगना लोकतंत्र को कलंकित करने वाली शर्मनाक घटना!'

तस्वीरों में देखा जा सकता है कि शौचालयों पर लाल और हरे रंग की टाइलें लगाई गई हैं। जिसके बाद समाजवादी पार्टी की ओर से अब भाजपा पर हमला किया जा रहा है। इस पर पार्टी की ओर से संज्ञान लेकर कार्रवाई की मांग करने के साथ ही तत्काल रंग बदलने की मांग की गई है।
 
... और पढ़ें
रेलवे अस्पताल का शौचालय। रेलवे अस्पताल का शौचालय।

सर्दियों में बढ़ जाता है ब्रेन स्ट्रोक व दिमाग की नस फटने का खतरा, विशेषज्ञों के मुताबिक पहले घंटे में ऐसे बच सकती है जान

ठंड की शुरुआत हो चुकी है और ऐसे मौसम में ब्रेन स्ट्रोक के मामले बढ़ने लगते हैं। समय से इलाज मिले तो मरीज की जान बचाने में मदद मिल सकती है और उसका असर भी कम हो सकता है। विशेषज्ञों के मुताबिक ब्रेन स्ट्रोक होने पर पहला घंटा ही गोल्डन पीरिएड माना जाता है। इसमें तापमान का सीधा असर शरीर की कार्यप्रणाली पर पड़ता है। जैसे-जैसे तापक्रम गिरता है, शरीर के अंगों की प्रक्रिया भी धीमी पड़ने लगती है। नसों में सिकुड़न हो जाती है और इसके कारण दिमाग में रक्तप्रवाह धीमा पड़ने लगता है। अगर कोई शख्स शरीर के अंग को टेढ़ा कर रहा है, उसके देखने, सुनने व समझने की क्षमता प्रभावित हो गई हो तो तत्काल उसे डॉक्टर के पास ले जाएं। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान संस्थान के मुताबिक देश में हर तीन मिनट में कोई न कोई व्यक्ति ब्रेन स्ट्रोक से दम तोड़ देता है।
... और पढ़ें

विदेश भेजने वाली फर्म में घुसकर 22 लाख लूटने पर चार के खिलाफ केस दर्ज, घटना को संदिग्ध मान रही पुलिस

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में विदेश भेजने वाली फर्म गल्फ इंस्टीट्यूट में घुसकर 22 लाख रुपये लूटे जाने के मामले में पुलिस ने तहरीर के आधार पर चार अज्ञात बदमाशों के खिलाफ केस दर्ज किया है। वहीं, एसपी क्राइम दो पीआरवी पुलिस वालों के साथ सीन क्रिएशन कर घटना की हकीकत जांचने की कोशिश की। उधर, सुरक्षा के लिहाज से सिंघड़िया के पास पुलिस पिकेट लगा दी गई है।
 
सिंघड़िया के आदर्श नगर कॉलोनी निवासी व गल्फ फर्म के संचालक संतोष सिंह ने मंगलवार शाम सात बजे कंपनी के कार्यालय में घुसकर 22 लाख रुपये लूटने की सूचना दी थी। इसके बाद एसएसपी जोगेंद्र कुमार और एसपी सिटी डॉ. कौस्तुभ फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे थे।

जांच पड़ताल में कंपनी के ऑफिस से नौ लाख रुपये और संचालक के घर से 20 लाख रुपये मिले थे। कार्यालय से फर्जी पासपोर्ट, स्टांप बरामद होने के बाद पुलिस ने संचालक, उनकी पत्नी, भाई और तीन कर्मचारियों को हिरासत में लिया था। फिलहाल पुलिस ने तहरीर के आधार पर लूट का केस दर्ज किया है।

वहीं, विदेश भेजने के नाम पर धोखाधड़ी करने के रैकेट का पर्दाफाश करने में पुलिस जांच पड़ताल कर रही है। पुलिस सूत्रों के अनुसार, पुलिस ने कुछ अन्य लोगों को भी हिरासत में लिया है, जो इस धंधे से जुड़े हैं। सीओ कैंट सुमित शुक्ला ने बताया कि पूरे प्रकरण की गहनता से जांच की जा रही है। जल्द ही मामले का पर्दाफाश किया जाएगा।

बता दें कि पुलिस शुरू से ही लूट की इस वारदात को संदिग्ध मानकर चल रही है। यही कारण है कि लूट की सूचना पर कंपनी के दफ्तर पहुंची पुलिस उसकी ही गतिविधियों की जांच शुरू कर दी। कंपनी के कार्यालय और संचालक के घर से 29 लाख रुपये बरामद भी किए। कार्यालय से मिले फर्जी दस्तावेज के आधार पर संचालक समेत पांच लोगों को हिरासत में लेकर दिनभर पूछताछ भी की है। 
... और पढ़ें

एयरफोर्स कर्मचारी का फंदे से लटका मिला शव, खुदकुशी की आशंका

घटना के बाद तैनात पुलिस।
उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एयरफोर्स के चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी का शव बुधवार रात में सरकारी आवास के कमरे में फंदे से लटका मिला। साथी कर्मचारियों की सूचना पर पहुंची एयरफोर्स चौकी की पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

जानकारी के अनुसार तमिलनाडु के वेल्लूपुरम के अनानगर के करीमनपुर निवासी ईद आलम (30) गोरखपुर एयरफोर्स स्टेशन में चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारी के पद पर तैनात थे। वह एयरफोर्स के विजय नगर कॉलोनी स्थित सरकारी आवास में रहते थे। बुधवार की रात करीब सात बजे उनका शव गमछे के फंदे से कुंडे के सहारे लटका था। पड़ोस में रहने वाले साथी कर्मचारी किसी काम से उनके आवास पहुंचे।
 
आवाज लगाने पर कोई जवाब नहीं आने पर कर्मचारियों ने खिड़की से अंदर देखा तो उनका शव फंदे से लटका था। कर्मचारियों ने अपने अधिकारियों को सूचना दी। उनके खुदकुशी की आशंका जताई जा रही है। हालांकि खुदकुशी के कारणों की जानकारी नहीं हो सकी। उनके पिता की पहले ही मौत हो चुकी है।

पुलिस के अनुसार वह अकेले ही सरकारी आवास में रहते थे। संबंध में कैंट थाना प्रभारी दिनेश मिश्रा ने बताया कि एयरफोर्स के अधिकारियों ने इत्तेफाकिया तहरीर दी है। जिसके अनुसार चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी का शव फंदे से लटका मिला है। उनके खुदकुशी करने की बात कही जा रही है। पोस्टमार्टम के बाद स्थिति स्पष्ट होगी।
... और पढ़ें

मोबाइल पर बात कर रहे युवक को तमंचे से मारी थी चार गोलियां, मौके से मिली पिस्टल किसकी पता नहीं

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले के पीपीगंज थाने से थोड़ी ही दूरी पर मंगलवार शाम गोली लगने से घायल व्यापारी पुत्र संदीप को बदमाशों ने एक नहीं बल्कि चार गोलियां मारी थीं। गोलियां सिर के अलावा पीठ, पेट और हाथ में लगी हैं। यही नहीं, गोलियां तमंचे से मारी गईं हैं। मौके से मिली पिस्टल किसकी है इसकी जांच पुलिस कर रही है। चर्चा है कि पिस्टल संदीप की है, जो अवैध है। फिलहाल, पुलिस इस मामले में बोलने से बच रही है।
 
वहीं, संदीप की हालत में सुधार है। उसे लखनऊ के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। ऑपरेशन करके गोलियां निकाल दी गईं हैं। संदीप के पिता ने बताया कि चिटित्सकों ने उसकी हालत स्थिर बताई है। उधर, संदीप ने जिन दो नामों पर शक जाहिर किया था उनकी मोबाइल लोकेशन प्रदेश से बाहर की मिली है। एक इस समय जम्मू में है तो दूसरा हैदराबाद में। हालांकि, इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। पुलिस का कहना है कि मामले की छानबीन की जा रही है। इस बीच एसएसपी ने पीपीगंज थानेदार को लाइनहाजिर कर दिया है।
... और पढ़ें

गोरखपुर: एसएसपी ने पीपीगंज व बेलघाट थानेदार को किया लाइनहाजिर, कैंट इंस्पेक्टर का किया तबादल

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले के एसएसपी जोगेंद्र कुमार ने बुधवार को पीपीगंज थानेदार राजेंद्र मिश्रा व बेलघाट के थानेदार निर्भय नारायण सिंह को लाइनहाजिर कर दिया। वहीं कैंट इंस्पेक्टर मनोज कुमार राय का तबादला कर तिवारीपुर थाने की कमान सौंप दी। एसएसपी के पीआरओ रहे दरोगा दिनेश मिश्रा को कैंट थाने की कमान सौंपी गई है। ट्रेनी एएसपी शशांक सिंह को बेलीपार का नया थानेदार बनाया गया है।

जानकारी के अनुसार पीपीगंज में मंगलवार की रात युवक को चार गोली मारे जाने की घटना के बाद एसएसपी ने वहां के थानेदार राजेंद्र मिश्रा को बुधवार को लाइनहाजिर कर दिया। उनकी जगह तिवारीपुर थाने के एसएसआई सत्यप्रकाश सिंह को पीपीगंज का नया थानेदार बनाकर भेजा गया है।

वहीं बेलघाट के थानेदार निर्भय नारायण सिंह को अपराध व अपराधियों की धरपकड़ की समीक्षा के बाद लाइनहाजिर किया गया है। बेलीपार के थानेदार रहे आनंद प्रकाश को बेलघाट का नया थानेदार बनाया गया है।

वहीं मंगलवार की रात कैंट के सिंघड़िया में 22 लाख की लूट की घटना के बाद कैंट इंस्पेक्टर मनोज राय का भी एसएसपी ने तबादला कर दिया। उन्हें कैंट थाने से तिवारीपुर का नया थानेदार बनाकर भेजा गया है।

एसएसपी पीआरओ रहे दिनेश मिश्रा को कैंट थाने की कमान सौंपी गई है। उन्होंने बुधवार को कार्यभार ग्रहण भी कर लिया। इसी प्रकार व्यावहारिक प्रशिक्षण के लिए ट्रेनी एएसपी शशांक सिंह को बेलीपार का थानेदार बनाया गया है।
... और पढ़ें

सीएम योगी ने अधिकारियों को चेताया, कहा- जल्दी हो निर्माण रिवाइज इस्टीमेट बनाने की नौबत न आए

गोरखपुर-देवरिया फोरलेन के साथ ही रामगढ़ताल परियोजना क्षेत्र स्थित वाटर स्पोर्ट्स कांप्लेक्स का निर्माण कार्य 15 दिसंबर तक हो जाएगा। इन विकास कार्यों की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को एनेक्सी भवन में समीक्षा की। मुख्यमंत्री ने साफ कहा कि विकास कार्य निर्धारित समय पर पूरे कराए जाएं ताकि लागत बढ़ाने की नौबत न आए।

बिहार के विधानसभा चुनाव में प्रचार करके मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बुधवार को गोरखपुर आए। साथ ही जिले के विकास कार्यों की समीक्षा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि जंगल कौड़िया और गोरखपुर-महराजगंज फोरलेन का निर्माण कार्य भी जल्द पूरा कराया जाए।

शहरी क्षेत्र की सड़कों का निर्माण हर हाल में नवंबर तक पूरा कराया जाना चाहिए। जिले में सड़कों के लिए जहां भी जमीन अधिग्रहीत की गई है, उससे संबंधित किसानों को जल्द मुआवजा उपलब्ध कराया जाए। इसमें किसी तरह की लापरवाही नहीं होनी चाहिए।

जल निगम के कामकाज की जानकारी मुख्यमंत्री ने ली है। साथ ही कहा कि श्रमिकों की संख्या बढ़ाकर काम जल्द पूरे कराए जाएं। बैठक में  डीजी पर्यटन रवि कुमार एनजी, कमिश्नर जयन्त नार्लिकर, डीएम के. विजयेन्द्र पांडियन समेत कई विभागों के अफसर मौजूद रहे।

 
... और पढ़ें

गोरखपुर को मिल सकता है ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट का तोहफा, सीएम योगी ने दिया जमीन तलाशने का निर्देश

सब कुछ ठीक रहा तो आने वाले दिनों में गोरखपुर को ग्रीन फील्ड (पर्यावरणीय विशेषता लिए हुए) एयरपोर्ट का तोहफा मिल सकता है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसके लिए डीएम के. विजयेंद्र पांडियन और सीईओ गीडा संजीव रंजन को धुरियापार क्षेत्र में 1500 से 1600 एकड़ जमीन तलाशने का निर्देश दिया है। हालांकि, अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि एयरपोर्ट घरेलू होगा या अंतरराष्ट्रीय। जिला प्रशासन और गीडा के अफसरों का कहना है कि अभी सिर्फ जमीन तलाशने को कहा गया है।

बुधवार को दो दिवसीय दौरे पर गोरखपुर पहुंचे मुख्यमंत्री ने एनेक्सी भवन सभागार में विकास कार्यों की समीक्षा के दौरान ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट के मामले में चर्चा की। सीएम ने प्रशासन और गोरखपुर औद्योगिक विकास प्राधिकरण (गीडा) को जमीन तलाशने के लिए कहा है।

बता दें कि हाल ही में गीडा ने धुरियापार में 5500 एकड़ जमीन के अधिग्रहण के लिए नोटिफिकेशन जारी किया है। 18 गांवों से जमीनें ली जाएंगी। ऐसे में एयरपोर्ट के लिए जमीन की तलाश बहुत कठिन नहीं होगी। जिले में दो साल पहले भी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट के लिए जमीन तलाशने की कवायद शुरू हुई थी, मगर कुछ ही दिनों बाद यह मामला ठंडा पड़ गया।

 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X