विज्ञापन
विज्ञापन
महानवमी पर जरूर माँ सिद्धिदात्री की पूजन, दूर हो जाएंगी आर्थिक समस्या
Navratri Special

महानवमी पर जरूर माँ सिद्धिदात्री की पूजन, दूर हो जाएंगी आर्थिक समस्या

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

तस्वीरें: सीएम योगी ने कन्याओं के पांव पखारने के बाद लगाया तिलक, कहा- 'रामराज्य में जाति, मत और मजहब की कोई जगह नहीं'

सीएम योगी आदित्यनाथ ने नौ कन्याओं के पांव पखारने के बाद कराया भोजन। सीएम योगी आदित्यनाथ ने नौ कन्याओं के पांव पखारने के बाद कराया भोजन।

मामूली बात को लेकर दो भाईयों में हुआ विवाद, भतीजे ने चाचा पर किया जानलेवा हमला

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले के चिलुआताल क्षेत्र के बरगदवा चौराहे पर स्थित चावला बेकर्स व सिद्धि विनायक मिष्ठान भंडार के मालिकों के बीच लेन देन को लेकर काफी समय से विवाद चल रहा है। विवाद इस कदर बढ़ गया कि सिद्धि विनायक के मालिक पर उनके भतीजे ने जानलेवा हमला कर दिया। जिससे सिर में गंभीर चोट आई है। हालत नाजुक होने के कारण उन्हें लखनऊ रेफर कर दिया गया है।

जानकारी के मुताबिक, दोनों प्रतिष्ठान के मालिक सगे भाई हैं। चावला बेकर्स के मालिक विजय चावला व सिद्धि विनायक के इंद्र चावला हैं। इंद्र चावला ने विजय चावला से कुछ दिनों पहले पुराने लेन देन का हिसाब करने को कहा था, जो आज के दिन ही होना था।

शनिवार की देर रात को इंद्र चावला विजय चावला की दुकान पर गए। इस दौरान विजय चावला के दो बेटे हितेश व करन उनके साथ थे। बात-बात में ही दोनों में कहासुनी शुरू हो गई जिसके बाद इंद्र चावला अपने दुकान पर चले आए।

कुछ देर बाद विजय के लड़के ने इंद्र के लड़के संदीप को फोन करके दुकान के बाहर बुलाया। जहां पर विजय व उनके दोनों पुत्र मौजूद थे, यहां आपस में कहासुनी होने के बाद मामला हाथापाई तक पहुंच गया।

हाथापाई देखकर इंद्र चावला वहां आए तो उन्हें विजय के बेटे ने पटक दिया जिससे इंद्र वहीं अचेत अवस्था में गिर गए और नाक से खून आने लगा। आनन-फानन इंद्र चावला को निजी अस्पताल ले जाया गया। जहां से डाक्टरों ने हालत नाजुक बताते हुए उन्हें लखनऊ रेफर कर दिया।

घटना की जानकारी चिलुआताल पुलिस को लिखित तहरीर के माध्यम से इंद्र चावला के पुत्र संदीप ने दे दिया है। प्रभारी निरीक्षक नीरज राय ने बताया कि घायल के पुत्र द्वारा तहरीर दिया गया है। दोषियों के विरुद्ध मारपीट, गाली गलौज व गैर इरादतन हत्या करने का प्रयास की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

'संतों की अदालत' में दंडाधिकारी होंगे गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ, नाथ योगियों के विवादों का करेंगे निपटारा

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में विजयदशमी पर गोरखनाथ मंदिर में दिन के कार्यक्रमों की समाप्त होने के बाद 'संतों की अदालत' लगेगी। इसमें गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ दंडाधिकारी की भूमिका में होंगे। वह नाथ पंथ के योगियों के विवादों का निपटारा करेंगे। उनका फैसला अंतिम माना जाता है।
 
विजयदशमी के दिन होने वाले इस आयोजन में योगी आदित्यनाथ नाथ पंथ के संतों के विवादों का निपटारा करते हैं। इसके पूर्व नाथ योगी एवं संत पात्र देवता के रूप में प्रतिष्ठित कर उनका पूजन करते हैं। नाथ पंथ के अनुयायियों  के मुताबिक नाथ संप्रदाय में पात्र पूजा की परंपरा पौराणिक है। यह संतों के बीच अनुशासन बनाए रखने का जरिया है। योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री के साथ ही नाथ पंथ के सर्वेसर्वा भी हैं। देश भर के नाथ योगी उन्हें अपना मुखिया मानते हैं। गोरक्षपीठ नाथ पंथ की सबसे बड़ी पीठ है।

पात्र देवता के रूप में प्रतिष्ठित होते हैं गोरक्षपीठाधीश्वर
नाथ पंथ की परंपरा के अनुसार विजयदशमी को गोरक्षपीठाधीश्वर पात्र देवता के रूप में प्रतिष्ठित होते हैं।  नाथ योगी उनकी पूजा करते हैं। दक्षिणा भी देते हें। इसमें नाथ पंथ में दीक्षित योगी ही शामिल होते हैं। वहां संप्रदाय और गुरू की घोषणा करनी होती है। कोई नाथ पंथी पात्र देवता के सामने झूठ नहीं बोलता है। दूसरे दिन बाहर से आए नाथ पंथ के साधुओं को दक्षिणा व अंगवस्त्र देकर विदा किया जाता है।
... और पढ़ें

सीएम योगी ने प्रदेश वासियों को दी दशहरा की शुभकामनाएं, बोले- यह पर्व असत्य पर सत्य की विजय का प्रतीक है

तीन दिवसीय प्रवास पर गोरखपुर आए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को प्रदेशवासियों को विजयादशमी की शुभकामनाएं दी हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि विजयादशमी का पर्व अधर्म पर धर्म, बुराई पर अच्छाई और असत्य पर सत्य की विजय का प्रतीक है। इस दिन भगवान श्रीराम ने रावण का संहार किया था। सम्पूर्ण भारत में यह पर्व परंपरागत श्रद्धाभाव एवं हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है।
 
 

गोरखनाथ मंदिर में अष्टमी की पूजा व आरती के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम सत्य, मर्यादा, न्याय, शांति, परोपकार और लोक कल्याण हेतु समर्पित रहे। नैतिक, मानवीय और सामाजिक मूल्यों के प्रतीक भगवान श्रीराम का जीवन सद्मार्ग पर चलने व आदर्श जीवन जीने की प्रेरणा प्रदान करता है।

विजयादशमी का पर्व आशा, उत्साह और ऊर्जा के साथ अपने लक्ष्य को प्राप्त करने का संदेश देता है। विजयादशमी के दिन मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम ने आतंक, अन्याय एवं अधर्म के पर्याय रावण पर विजय प्राप्त की थी। विजयादशमी शक्ति उपासना का उत्सव है।

नवरात्र के नौ दिन जगदंबा की उपासना करके भक्तों में शक्ति का संचार होता है।  मुख्यमंत्री ने विजयादशमी के अवसर पर आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में कोविड-19 के प्रोटोकॉल व सोशल डिस्टेसिंग के पालन की अपील की है।
... और पढ़ें

यूपी की बिटिया को मिला पीएम रिचर्स फेलोशिप पुरस्कार, किया ऐसा कारनामा कि हर कोई है हैरान

सीएम योगी आदित्यनाथ।

गोरखपुर में 100 से नीचे आया कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा, 87 नए मिले मरीज

गोरखपुर में कोरोना मरीजों की संख्या अब कम होती जा रही है। आंकड़े लगातार 100 के नीचे आ रहे हैं। शनिवार को 24 घंटे के अंदर केवल 87 नए मरीज मिले हैं। खास बात यह है कि एक भी मरीज की मौत नहीं हुई है। इसके बाद से जिले में संक्रमितों का आंकड़ा 18522 पहुंच गया है। इनमें 17067 लोग ठीक हो चुके हैं। जबकि मौत की संख्या 304 ही है। एक्टिव केस 1181 रह गई है।

कोरोना की रफ्तार कम होने से स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन ने राहत की सांस ली है। संक्रमितों की बात करें तो रामजानकी नगर में एक ही परिवार के चार लोग शामिल हैं। इनमें दो साल का एक मासूम भी संक्रमित निकला है।

इनके अलावा बीआरडी मेडिकल कॉलेज के तीन, अस्थाई जेल के पांच, मोगलहा में एक ही परिवार के दो, जमरू में एक ही परिवार के पांच, चौहान टोला जंगल हाकिम नंबर 22 में एक ही परिवार के दो लोग, मोहद्दीपुर में एक ही परिवार के दो लोग संक्रमित मिले हैं।

सीएमओ डॉ श्रीकांत तिवारी ने बताया कि मरीजों की संख्या लगातार घट रही है। जबकि जांच रोजाना चार से पांच हजार के बीच है। एंटीजन और आरटीपीसीआर की जांच में भी ज्यादातर लोग निगेटिव मिल रहे हैं। यह बेहद सुखद है। संक्रमितों के संपर्क में आने वाले लोगों की भी जांच लगातार की जा रही है।


 
... और पढ़ें

यूपी: दस्तावेज, हस्ताक्षर, मुहर व अंगूठे का क्लोन बनाकर करते जालसाजी, आठ गिरफ्तार

दस्तावेज के साथ हस्ताक्षर, मुहर और अंगूठे के निशान का क्लोन तैयार कर फर्जी ग्राहक सेवा केंद्र के माध्यम से करीब ढाई करोड़ रुपये की जालसाजी करने वाले गिरोह का पुलिस ने शनिवार को भंडाफोड़ किया। मामले में अधिवक्ता समेत आठ लोगों को गिरफ्तार किया है, जबकि दो लोग फरार हैं। पकड़े गए आरोपियों के पास से भारी मात्रा में क्लोन के निशान, पंद्रह सौ से ज्यादा आधार कार्ड नंबर और अन्य दस्तावेज मिले हैं। पर्दाफाश करने वाली टीम को एसएसपी ने 50 हजार रुपये पुरस्कार देने की घोषणा की है।

एसएसपी जोगिंदर कुमार ने मीडिया को बताया कि रामगढ़ताल इलाके के सुनील कुमार सिंह के खाते से बीस हजार रुपये की जालसाजी की शिकायत पुलिस को मिली थी। छानबीन में पता चला कि ग्राहक सेवा केंद्र से रुपये निकाले गए थे। पुलिस ने जांच की तो पता चला कि इसके पीछे बड़ा गिरोह काम कर रहा है।

लल्ला सिंह और उपेंद्र सिंह ने फर्जी ग्राहक सेवा केंद्र की फ्रेंचाइजी ली थी। उसी आईडी का इस्तेमाल कर धोखाधड़ी की जा रही थी। अधिवक्ता उपेंद्र रजिस्ट्री दफ्तर से नकल के माध्यम से अंगूठे के निशान और आधार कार्ड नंबर हासिल करता था। इसके बाद अन्य लोग मिलकर क्लोन की मदद से फिंगर प्रिंट तैयार करते थे और ग्राहक सेवा केंद्र से रुपये फर्जी खातों में ट्रांसफर कर देते थे। बाद में एटीएम की मदद से रुपये निकाल लेते थे।

 
... और पढ़ें

त्रिस्तरीय सुरक्षा घेरे में होगा सीएम योगी का रथ, चप्पे-चप्पे पर तैनात रहेगी पुलिस

विजयादशमी पर गोरखनाथ मंदिर से निकलने वाली शोभायात्रा को लेकर सुरक्षा की तैयारी पूरी कर ली गई है। मंदिर से मानसरोवर के बीच जगह-जगह घरों की छतों पर पुलिस कर्मी तैनात होंगे। मुख्यमंत्री व गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ का रथ त्रिस्तरीय सुरक्षा घेरे में होगा।

शोभायात्रा से एक घंटा पहले ड्रोन से रास्ते और छतों की निगरानी शुरू हो जाएगी। रथ के साथ एटीएस के कमांडो भी रहेंगे। शनिवार को डीआईजी रेंज राजेश मोडक, एसएसपी जोगेंद्र कुमार ने गोरखनाथ मंदिर पहुंचकर शोभायात्रा मार्ग की सुरक्षा व्यवस्था की जानकारी ली।

जानकारी के मुताबिक, सुरक्षा में जिले के तीन एएसपी, छह सीओ, 15 थानेदार, 65 दारोगा और 800 सिपाही तैनात होंगे। गोरखनाथ मंदिर से मानसरोवर पोखरा तक की सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुलिसकर्मियों की 65 टीमें लगाई जाएंगी। एक टीम में एक दारोगा व आठ सिपाही को रखा गया है। 28 एटीएस कमांडो के साथ पुलिस की 12 टीमें गोरक्षपीठाधीश्वर के रथ साथ चलेंगी।

त्रिस्तरीय सुरक्षा घेरे में एनएसजी कमांडो के बाद सीएम सिक्योरिटी टीम, उसके बाद एटीएस कमांडो, जिला पुलिस के दारोगा व सिपाही रहेंगे। सुरक्षा के लिहाज से चार स्थानों पर सीसी कैमरे लगाए गए हैं। गलियों में चप्पे-चप्पे पर पुलिस फोर्स तैनात रहेगी।

सुरक्षा व्यवस्था में कितने लोग लगाए गए हैं। सुरक्षा व्यवस्था कैसी होगी यह सब चंद लोगों को ही मालूम है। रविवार दोपहर दो बजे से शोभायात्रा समाप्त होने तक गोरखनाथ मंदिर, मानसरोवर पोखरा व रामलीला मैदान की तरफ भारी वाहनों के आने-जाने पर प्रतिबंध रहेगा।



 
... और पढ़ें

गोरखनाथ मंदिर उड़ाने की धमकी देने वाले युवक की डूबने से मौत, जांच में पाया गया था मानसिक रोगी

दो बार गोरखनाथ मंदिर को उड़ाने की धमकी देने का आरोपी बैदवली बाबू गांव निवासी शिवेंद्र सिंह (22) की शनिवार को मौत हो गई। वह पोखरे में नहाने चला गया था और इसी दौरान पैर फिसल से गहरे पानी में चला गया।

मौके पर मौजूद ग्रामीण  जबतक उसे बाहर निकालते उसकी मौत हो गई थी। पुलिस ने पंचनामा भरकर शव घरवालों को सुपुर्द कर दिया।
 
जानकारी के मुताबिक, शिवेंद्र ने एक बार पुलिस कंट्रोल रूम में और एक बाद सीधे एसएसपी को फोन कर गोरखनाथ मंदिर को उड़ाने की धमकी दे डाली थी। दोनों बार ही सूचना आते ही अफसरों के हाथ पांव फूल गए थे और फिर जांच में शिवेंद्र के पकड़े जाने के बाद राहत की सांस ली गई थी।

पुलिस की जांच में यह भी सामने आया था कि शिवेंद्र मानसिक रोगी और लंबे समय से उसका उपचार भी चल रहा था। शनिवार को अचानक डूबने से उसकी मौत हो गई।

सूचना पर थानाध्यक्ष बांसगांव जगत नारायण सिंह, एसआई अमरीश राजभर, जयराम सिंह, प्रधान प्रतिनिधि विकास सिंह, सुनील सिंह की मौजूदगी में पंचनामा भरकर शव परिवार वालों को सुपुर्द कर दिया।

 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X