विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020
Astrology Services

हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

अब अधिक दाम पर सामान बेचने वालों की खैर नहीं, दुकान के बाहर चस्पा करनी होगी रेट लिस्ट

हरियाणा में दुकानदारों और फेरी वालों ने निर्धारित रेट से ज्यादा दाम पर सब्जियां, फल या अन्य सामान बेचा तो उनकी खैर नहीं है।

5 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

चरखी दादरी

रविवार, 5 अप्रैल 2020

जामा मस्जिद में मिले 16 लोगों के सम्पर्क में आने वालों की तलाश

जिले में अभी तक कोराना संदिग्धों के 14 सैंपल जांच के लिए भेजे जा चुके हैं, जिसमें दस की रिपोर्ट निगेटिव है और 4 की रिपोर्ट आनी बाकी है। इसके अलावा मस्जिद में ठहरे 16 लोगों के संपर्क में आने वाले 290 लोगों की सूची तैयार कर उनकी तलाश में की जा रही है। इसके अलावा 11 लोगों को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है। शहर की जामा मस्जिद में रुके 16 मुस्लिम समुदाय के लोगों की वीरवार को भी स्वास्थ्य विभाग की टीम ने जांच की। सभी 16 लोग स्वस्थ मिले और अब इनकी नियमित स्वास्थ्य जांच की जाएगी। दिल्ली से वाया भिवानी होकर दादरी पहुंचे मुस्लिम समुदाय के लोगों के संपर्क में जिले के 290 लोग आए हैं। जामा मस्जिद में आए 18 लोगों में दो लोग चार दिन रुककर वापिस लौट गए थे। मस्जिद में रह रहे लोग मुंबई और दिल्ली से हैं।
सीएमओ प्रदीप शर्मा ने बताया कि जिले में अब तक 14 लोग संदिग्ध पाए गए हैं और इन सबके सैंपल विभाग ने लेकर जांच के लिए पीजीआई भेज दिए हैं। उन्होंने जिनकी रिपोर्ट नेगेटिव आई है, उन्हें घर में आइसोलेट किया गया है। उन्होंने बताया कि वीरवार को तीन संदिग्धों के सैंपल लिए गए जिनमें दो महिलाएं और एक पुरुष शामिल हैं। डिप्टी सीएमओ संजय गुप्ता के अनुसार वीरवार को जो तीन सैंपल लिए गए हैं उनकी पैसेंजर हिस्टरी नहीं है। उन्हें बुखार, खांसी और जुकाम की शिकायत थी और जांच के दौरान उनमें फ्लू के लक्षण नजर आए और इसके चलते उनके सैंपल लिए गए। इन तीनों को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है। उनके अलावा वीरवार को आठ और लोगों को आइसोलेशन वार्ड में दाखिल किया गया है। हालांकि इन आठ लोगों में अब तक कोई लक्षण नजर नहीं आए हैं लेकिन विभाग फिर भी उन पर अभी नजर रखे हुए है।
दो दिन में भेजे गए हैं चार सैंपल
बुधवार को भी विभाग ने एक संदिग्ध युवक का सैंपल भेजा था। उक्त युवक में भी फ्लू के लक्षण नजर आए थे। गत मंगलवार को भी उस युवक का सैंपल भेजा गया था लेकिन फार्म में जानकारी में त्रुटि रहने से बुधवार को दोबारा सैंपल लिया गया। वहीं, वीरवार को एक ही दिन में विभाग ने तीन सैंपल भेजे हैं। दो दिन में चार संदिग्ध मामले विभाग के सामने आए हैं और चारों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। इनमें दो महिलाएं और दो पुरुष हैं और चारों की रिपोर्ट आने का इंतजार है।
जामा मस्जिद में जांच के लिए पहुंची टीम
वीरवार को तीन संदिग्ध लोगों के सैंपल जांच को भेजे हैं। इसके अलावा 11 लोगों को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया है। अब तक 14 सैंपल भेजे गए हैं जिनमें से 10 की रिपोर्ट निगेटिव आई है जबकि चार का इंतजार है। वीरवार को हमारे पास 290 लोगों की सूची आई है जो दिल्ली से आने वाले लोगों के संपर्क में आए हैं। संपर्क में आए सभी लोग दादरी जिले के रहने वाले हैं और इन्हें ट्रेस करने कवायद हमने शुरू कर दी है।
- संजय गुप्ता, डिप्टी सीएमओ
... और पढ़ें

राशन किटों को घरों से निकलकर दुकानों पर बेच रहे लोग

लॉकडाउन के दौरान घरों में कैद कमजोर आर्थिक स्थिति वाले हजारों परिवारों तक अभी भी मदद नहीं पहुंच पा रही है। दूसरी ओर जिला प्रशासन और विधायक के अलावा विभिनन सामाजिक संगठन ऐसे परिवारों की मदद करने में जुटे हुए हैं। चरखी दादरी जिले में लॉकडाउन के दौरान 4000 से अधिक राशन किट वितरित की जा चुकी हैं। इस संकट के दौर में इंसानियत को शर्मसार करने वाले मामले भी सामने आ रहे हैं। मदद स्वरूप दी गई राशन किट को सकीर्ण मानसिकता के कुछ लोग घरों से बाहर निकलकर दुकानों पर आकर 100 से 200 रुपये कम दाम पर बेच देते हैं। इस तरह के एक या दो नहीं बल्कि 100 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं। थक हारकर संगठनों ने इसकी शिकायत जिला उपायुक्त श्यामलाल पूनिया से की। इसके तुरंत बाद उपायुक्त ने लोगों से राशन किट खरीदने वाले दुकानदारों पर तुरंत कार्रवाई करने के आदेश दे दिए।
सामाजिक संगठनों के अलावा जिला प्रशासन और दादरी विधायक सोमबीर सांगवान जरूरतमंदों तक राशन सामग्री पहुंचा रहे हैं। विधायक अब तक 2000 से अधिक राशन किट वितरित कर चुके हैं जबकि हरियाणा व्यापार मंडल बुधवार तक 652 कीट वितरित कर चुका है। इसके अलावा भारत विकास परिषद, श्री ग्वाल सेवा दल सहित काफी संगठन लोगों तक राशन किट पहुंचा रहे हैं। इन सबका मकसद एक ही है कि जिले का बाशिंदा हो या प्रवासी लॉकडाउन के दौरान कोई भूखे पेट न सोए। एक संगठन के पदाधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि राशन किटों की डबलिंग (एक ही जगह दो बार किट वितरण होना) होने पर कुछ परिवार घरों से बाहर आकर सस्ते दामों पर ये किट बेच जाते हैं।
इस तरह की काफी सूचनाएं राशन किट वितरण करने वाले संगठनों को मिल चुकी है। यह मामला मंगलवार को संगठनों के पदाधिकारियों की मार्फत उपायुक्त श्यामलाल पूनिया के संज्ञान में भी आया। इस पर एक्शन लेते हुए उपायुक्त ने एडवाइजरी जारी कर दी है। इसके मुताबिक अगर कोई दुकानदार लोगों को मदद स्वरूप दी गई राशन किट खरीदता पाया गया तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
बाक्स: 350 से लेकर 650 रुपये तक की वितरित की जा रहीं राशन किट
जिले में निशुल्क राशन किट वितरित करने वाले संगठनों के पदाधिकारियों के अनुसार 350 से लेकर 650 रुपये तक की राशन किट वितरित की जा रही हैं। इनमें दस किलोग्राम आटा, चार किलोग्राम चावल, दो किलोग्राम दाल, एक पैकेट नमक, मिर्च और हल्दी का पैकेट दिए जा रहे हैं। कुछ संगठन तो आधा लीटर तक सरसों का तेल भी किट में डाल रहे हैं। 650 रुपये वाली किट को दुकानदार के पास जाकर लोग 400 से 450 रुपये में बेच रहे हैं।
बाक्स: राशन किटों की डिमांड अधिक, इसलिए अपनाया पैंतरा
मानवता का फर्ज निभा रहे कई संगठन लगातार राशन किट वितरण मुहिम चला रहे हैं। इन संगठनों के पदाधिकारियों ने अब तक 4000 से अधिक राशन किट वितरित की हैं। विधायक सोमबीर सांगवान ने पांच हजार परिवारों को राशन मुहैया कराने का ऐलान किया था और 2000 से अधिक परिवारों की अब तक वो मदद कर चुके हैं। इस समय राशन किटों की डिमांड अधिक है और संगठनों के ऑर्डर पूरा करने के लिए दुकानदारों ने लोगों के साथ मिलकर ये नया पैंतरा अपनाया है।
बाक्स: इन जरूरतमंदों से जानिए... क्या है राशन किट का महत्व
- मैं अपी पत्नी और बच्चों के साथ दादरी शहर में रह रहा हूं। दिहाड़ी करके मैं अपने घर का चूल्हा जलाता हूं। लॉकडाउन के दौरान काम नहीं मिल पा रहा और पास में जो रुपये थे वो खत्म हो गए। राशन के डिब्बे भी खाली हैं। मंगलवार को मेरे घर आकर मुझे राशन किट निशुल्क दी गई है जिसमें आटा, चावल, दाल सहित अन्य राशन है। करीब एक सप्ताह का काम अब आराम से चल जाएगा।
लक्ष्मण कुमार
---------
- मैं अपने परिवार के साथ किराये का कमरा लेकर रह रहा हूं। इस महिने तो आर्थिक स्थिति बेहद गड़बड़ाई हुई है। हालांकि मकान मालिक ने इस माह का किराया अभी नहीं लिया है। सोमवार रात को घर का राशन खत्म हो गया था। मैं चिंतित था कि बीबी और बच्चों को क्या खिलाऊंगा। मंगलवार दोपहर करीब 11 बजे हरियाणा व्यापार मंडल के पदाधिकारी मेरे घर आए और परिवार में सदस्यों की संख्या पूछकर एक राशन किट दे दी।
अशोक
ऐसा मामला मेरे संज्ञान में भी आया है। अगर अब कोई दुकानदार मदद स्वरूप दी गई राशन किट किसी परिवार से खरीदता मिला तो उसके खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। इस संबंध में मैंने निर्देश दे दिए हैं। सामाजिक संगठनों सहित विधायक और जिला प्रशासन प्रयास कर रहा है कि कोई भी परिवार भूखे पेट न सोए। इसलिए लोग संकट की घड़ी में ऐसा न करें। लोगों के सहयोग से ही प्रत्येक जरूरतमंद तक राशन किट पहुंच सकेगी।
श्यामलाल पूनिया, उपायुक्त, चरखी दादरी
... और पढ़ें

चंडीगढ़ कंट्रोल रूम में व्यक्ति ने फोन कर लगाई खाने की गुहार, पका खाना लेकर पहुंचे डीआरओ को घर पर पूरा मिला राशन का स्टॉक

शहर के चरखी दरवाजा क्षेत्र में रह रहे एक शख्स ने मंगलवार रात दस बजे चंडीगढ़ कंट्रोल रूम में परिवार के भूखा होने की दुहाई देकर मदद मांगी। इसके तुरंत बाद जिला अधिकारियों के फोन घनघनाने शुरू हो गए। देर रात 11 बजे डीआरओ सुखबीर सिंह उक्त शख्स का पता लगाकर उसके घर पका हुआ खाना लेकर पहुंचे। बुुधवार सुबह 11 बजे भी प्रशासनिक टीम उक्त शख्स और परिवार के लिए खाना लेकर पहुंची। संदेह होने पर उसके रसोईघर में रखा आटा, दाल, चीनी, नमक के डिब्बों की जांच की गई तो राशन का स्टॉक पूरा मिला। उक्त व्यक्ति के घर राशन किट भी मिली और उसे प्रशासन की तरफ से चेतावनी भी दी गई। वहीं उक्त व्यक्ति का कहना है कि उसने राशन आज सुबह ही खरीदा था।
हुआ यूं कि मंगलवार रात दस बजे चरखी दरवाजा क्षेत्र निवासी एक व्यक्ति ने चंडीगढ़ स्थित कंट्रोल रूम में फोन कर दिया। उक्त शख्स ने बताया कि लॉकडाउन के चलते उनके घर का राशन खत्म हो चुका है और पूरा परिवार भूखा है। व्यक्ति के हालातों की सूचना रात को ही डीसी श्यामलाल पूनिया को दी गई। उन्होंने एसडीएम और डीआरओ को उस शख्स के घर खाना पहुंचाने की जिम्मेदार सौंपी। सूत्रों के अनुसार रात करीब 11 बजे खाने का पैकेट लेकर डीआरओ सुखबीर सिंह उक्त व्यक्ति के घर पहुंचे और उसे खाने का पैकेट दे दिया।
बुधवार सुबह करीब 11 बजे भी टीम उक्त व्यक्ति के घर खाना देने पहुंची। टीम ने परिवार को खाना खाने की बात कही तो उन्होंने सूखे राशन की डिमांड की। खाना खाने में पूरे परिवार के आनाकानी करने पर अधिकारियों को शक हुआ और इसके बाद उसके कमरे में बनाए गए रसोईघर की भी जांच की गई। जांच के दौरान ड्रम आटे का भरा मिला जबकि दाल सहित अन्य मसाले भी घर पर थे। इस पर डीआरओ ने उक्त शख्स को चेतावनी दी और इसकी रिपोर्ट उपायुक्त श्यामलाल पूनिया को भी सौंप दी।
आंगन में जला चूल्हा देखकर हुआ टीम को शक
सूत्रों के अनुसार मंगलवार रात भी करीब एक घंटे तक अधिकारी उक्त शख्स के घर के बाहर खड़े रहे। उसने न तो फोन उठाया और न ही दरवाजा खोला। इसके बाद उक्त शख्स ने गेट खोकर टीम से खाने का पैकेट ले लिया। बुधवार सुबह टीम जब दोबारा उसके घर खाना देने पहुंची तो आंगन में बनाए गए चूल्हे गर्म मिला। इससे संदेह हुआ कि परिवार ने घर पर खाना बनाया है। इसके बाद टीम अंदर पहुंची तो व्यक्ति का झूठ पकड़ा गया।
घर पर मिले फ्रिज, टीवी, बेड, अलमारी और कूलर
उक्त शख्स प्रवासी है और पिछले 10 साल से परिवार सहित दादरी शहर में रह रहा है। उसके दो बच्चे हैं। सूत्रों के अनुसार जांच के दौरान टीम को उसके घर बेड, फ्रिज, अलमारी, कूलर और टीवी भी मिला। इतना ही नहीं आटे का स्टॉक भी पूरा था और पूछताछ के दौरान उक्त शख्स ने बताया कि बुधवार सुबह आटे का पैकेट वो एक दुकान से खरीदकर लाए हैं।
घर से 100 मीटर की दूरी पर दिया जाता है भोजन
सूत्रों के अनुसार जिस व्यक्ति ने चंडीगढ़ कंट्रोल रूम में परिवार के भूखा होने की बात कही है उसके मकान से 100 मीटर की दूरी पर प्रतिदिन खाना वितरित किया जाता है। टीम ने इसकी जानकारी भी उक्त शख्स को दी और इसके बाद भी उसने कच्चे राशन की मांग की।
मेरी लोगों से अपील है कि जो वास्तव में जरूरतमंद हैं वो ही प्रशासन या संगठनों की मदद लें। पूरे प्रयास किए जा रहे हैं कि कोई भी शख्स भूखे पेट न सोए। घर पर राशन का स्टॉक पूरा होने के बाद डिमांड करना गलत है।
सुखबीर सिंह, डीआरओ, चरखी दादरी
... और पढ़ें

अब पार्षदों की मौजूदगी में बंटेगा जरूरतमंद परिवारों को राशन

शहर में अब कोई भी सामाजिक संस्था सीधे घरों में जाकर राशन नहीं पहुंचाएगी। जरूरतमंद परिवारों तक राशन किट पहुंचाने और राशन के दुरुपयोग को रोकने के लिए जो योजना तैयार की है उसमें पार्षदों की भी मदद ली जाएगी। शहर के 21 वार्डों में रहने वाले जिन परिवारों को ड्राई राशन के लिए प्रशासनिक मदद की दरकार है वो अपने वार्ड के पार्षद से संपर्क करें। जिला प्रशासन संबंधित वार्ड के पार्षद को सा िलेकर राशन किट वितरण करेगा। इसके लिए जरूरतमंद परिवार पार्षद के फोन पर किट की डिमांड कर सकते हैं।
करीब एक सप्ताह तक सामाजिक संगठनों ने अपने स्तर पर जरूरतमंद परिवारों तक पहुंचकर राशन किट वितरित की। इस दौरान सामने आया कि कुछ परिवार दो से तीन जगहों से राशन किट लेकर उन्हें 100 से 200 रुपये कम दाम पर वापिस दुकानों पर जाकर बेच रहे हैं। ऐसे मामले सामने आने के बाद प्रशासन ने सामाजिक संगठनों के साथ बैठक कर सीधे राशन वितरण न करने के निर्देश दिए।
अब जिला प्रशासन नगर परिषद की मार्फत शहर में जरूरतमंद परिवारों तक राशन पहुंचा रहा है। सामाजिक संगठन अपनी किट वहां जमा करा देते हैं और इसके बाद उनका वितरण किया जाता है। नप टीम अब पहले पार्षद से संपर्क करेगी और इसके बाद राशन वितरण करने वार्ड में पहुंचेगी। पार्षद द्वारा दी गई परिवारों की सूची के आधार पर ही राशन वितरण होगा। इससे एक तरफ राशन किटों का दुरुपयोग नहीं होगा तो वहीं प्रत्येक जरूरतमंद परिवार तक राहत सामग्री पहुंच सकेगी।
किस वार्ड के लोग किस नंबर पर करें संपर्क
वार्ड संख्या पार्षद मोबाइल नंबर
1 समुन देवी 96711-58299
2 महेश गुप्ता 98121-30219
3 आनंद महराणा 98121-72946
4 दिनेश जांगड़ा 94169-25230
5 मीना रानी 98131-09699
6 रवींद्र गुप्ता 93544-20429
7 संजय छपारिया 98124-26611
8 बख्शी सैनी 98122-78916
9 पार्वती सैनी 80590-74700
10 मनोज वर्मा 93555-10016
11 विनोद कुमार 99914-77185
12 ज्योति रानी 98133-94308
13 इंदुमति 90508-49396
14 ऊषा मेहरा 99928-43600
15 बबीता देवी 94160-92408
16 बबलू श्योराण 93555-33333
17 सुमन देवी 94162-39608
18 कुलदीप गांधी 98133-32217
19 वीरेंद्र पप्पू 98120-03265
20 रचना देवी 90500-02669
21 रोहित कुमार 90349-10926
शहर में किसी वार्ड में रह रहे परिवार को ड्राई राशन के लिए अगर प्रशासनिक मदद की दरकार है तो अपने वार्ड के पार्षद से संपर्क करे। इसके अलावा अपनी डिमांड 01250-20056 पर कॉल कर भी दर्ज करा सकते हैं। पार्षदों को साथ लेकर वार्डों में राशन किट जरूरतमंद परिवारों को ही वितरित की जा रही हैं।
-सुंदर श्योराण, एक्सईएन, नगर परिषद।
... और पढ़ें

गांवों में बाहरी लोगों के प्रवेश पर रोक, पंचायतों ने शुरू किया ठीकरी पहरा

सामाजिकता का पाठ पढ़ाने वाली ग्राम पंचायतें भी अब पूरी तरह से सतर्क हो गई हैं। कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए जिले के अधिकतर गांवों में ठीकरी पहरा भी शुरू कर दिया ताकि गांव में बाहरी व्यक्तियों के प्रवेश पर निगरानी रखी जा सके। ग्राम पंचायतें प्रशासन के निर्देशन में सक्रियता से काम कर रही हैं।
साथ ग्राम पंचायतें भी अपने स्तर पर भरसक प्रयास कर रही हैं। गांवों में हर प्रकार की गतिविधि पर नजर रखी जा रही है। पंचायतों की ओर से सख्त निर्णय लिए जा रहे हैं। अब तक एक दर्जन से अधिक गांवों में ठीकरी पहरा शुरू किया जा चुका है। इसके तहत गांवों में अपने स्तर पर लोगों ने नाके लगा रखे हैं। इन नाकों पर लोगों द्वारा बारी- बारी से ठीकरी पहरा दिया जा रहा है ताकि बाहरी व्यक्ति के गांव में प्रवेश करने पर उसे अलग से रखा जा सके जिससे सोशल इंफेक्शन को बढ़ावा न मिलने पाए। गांव में विदेश, दूसरे राज्य व अन्य स्थान से आने वाले हर व्यक्ति पर नजर रखी जा रही है।
अब तक शहर और गांवों में कोरोना वायरस का एक भी मामला नहीं है। प्रशासन और आम लोग परस्पर तालमेल से काम कर रहे हैं। गांवों के लोग सोशल डिस्टेंसिंग पर पूरा ध्यान दे रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों के सभी धार्मिक आयोजन भी रद्द किए जा चुके हैं। विभिन्न गांवों में लगने वाले धार्मिक मेले, कुश्ती दंगल, क्रीड़ा प्रतियोगिता, रात्रि जागरण और भंडारा कार्यक्रम आदि स्थगित कर रखे हैं।
गांवों की सीमा की सील
इस समय ग्राम पंचायतों ने अपने अपने गांवों की सीमाओं को एक प्रकार से सील कर रखा है। आवागमन पर पूर्णतया प्रतिबंध लगा रखा है। गांव कादमा, घिकाड़ा, बौंदकलां, मानकावास, पांडवान, डोहकी, मिर्च सहित कई गांवों में ग्रामीणों ने ठीकरी पहरा शुरू कर अपने गांवों की सीमाएं सील कर रखी हैं ताकि बाहरी व्यक्ति का गांव में प्रवेश ना होने पाए। बाहर से आने वाले व्यक्ति की सूचना तत्काल प्रशासन को दी जाएगी।
एसपी ने गांवों का लिया जायजा
एसपी बलवान सिंह राणा ने विभिन्न गांवों में जाकर लोगों से पूछताछ की। नाकों पर खड़े ग्रामीणों से विभिन्न जानकारी ली गई। ग्रामीणों ने एसपी को बताया कि लॉकडाउन के तहत नियमों की पूरी तरह से पालना की जा रही है। धारा-144 की भी पालना की जा रही है।
कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जरूरी है सतर्कता
सरपंच एसोसिएशन जिला प्रधान राजकरण निवासी पांडवान का कहना है कि महामारी को लेकर लोगों में अब चिंता बढ़ने लगी है। उनका कहना है कि फसल कटाई का काम भी शुरू हो गया है। ऐसेे में इस महामारी से निपटने के लिए भी पंचायतें पूरा प्रयास कर रही हैं। प्रशासन के निर्देशों की पालना की जा रही है। जिला प्रधान राजकरण ने सरपंचों से कहा कि वे इस महामारी से लड़ने के लिए अपने स्तर पर पूरा प्रयास करें। प्रशासन के साथ परस्पर तालमेेल बनाए रखें। सामाजिक दूरी का पूरा ध्यान रखा जाए। जरूरतमंद लोगों की हरसंभव मदद की जाए। धारा-144 का किसी भी स्तर पर उल्लंघन नहीं होना चाहिए।
... और पढ़ें

भिवानी के कोरोना संक्रमित जमातियों ने दादरी के बीस लोगों को को किया संक्रमित

भिवानी में कोरोना पॉजिटिव मिले दोनों जमातियों ने चरखी दादरी जिले के 18 लोगों से भी संपर्क किया था। इतना ही नहीं गांव हिंडोल से भी शनिवार को एक जमाती सामने आया है और दो लोग उसके संपर्क में थे। एक साथ 20 लोगों के दो कोरोना पॉजिटिव और एक संदिग्ध जमाती के संपर्क में आने से स्वास्थ्य विभाग सतर्कता और तेजी से कार्य कर रहा है। हिंडोल गांव के अलावा डोहका और कासनी गांव के 18 लोगों को सिविल अस्पताल के आइसोलेशन वार्डों में भर्ती किया और इनमें से तीन संदिग्धों के सैंपल लेकर रोहतक पीजीआई भेजे हैं।
चरखी दादरी से 28 किलोमीटर की दूरी पर स्थित भिवानी जिले में शनिवार सुबह दो कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आए। वहीं, पता चला कि दोनों कोरोना पॉजिटिव जमाती दादरी जिले के गांव कासनी और डोहका भी आए थे। डोहका में दस और कासनी में आठ लोग इनके संपर्क में आए। स्वास्थ्य विभाग ने अपने स्तर पर पता किया तो पता चला कि हिंडोल गांव निवासी एक शख्स भी जमाती है और वह दिल्ली से लौटा था। उसने दो लोगों से संपर्क किया है। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम तीनों संदिग्धों को सिविल अस्पताल ले आई और आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया। इन तीनों के सैंपल लेकर रोहतक पीजीआई भेजे।
दिल्ली से लौटे 30 लोगों के संपर्क में आए 311 लोग
ज्ञात रहे कि दिल्ली से लौटे 27 लोगों की स्वास्थ्य जांच के बाद विभाग ने इनके संपर्क में आए 293 में से 291 लोगों के स्वास्थ्य की जांच शुक्रवार शाम तक ही कर ली थी। शनिवार सुबह भिवानी के दो कोरोना पॉजिटिव और हिंडोल निवासी संदिग्ध जमाती के संपर्क में आने वाले 20 लोगों की जांच की गई। स्वास्थ्य विभाग दिल्ली से लौटे 30 जमातियों के संपर्क में आने वाले 311 लोगों के स्वास्थ्य की जांच कर चुकी है।
सुबह और शाम मस्जिद में पहुंची टीम
शहर की जामा मस्जिद में रुके 16 लोगों के स्वास्थ्य की जांच नियमित की जा रही है। शनिवार को भी सुबह और शाम स्वास्थ्य विभाग की टीम इनके स्वास्थ्य की जांच करने पहुंची। मस्जिद में आने जाने पर जिला प्रशासन ने रोक लगा रखी है और 16 लोगों को मस्जिद में ही क्वारंटीन किया हुआ है।
आइसोलेशन वार्ड में भर्ती लोगों की संख्या हुई 36
शुक्रवार सुबह तक सिविल अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में 18 लोग भर्ती थे। इसके बाद कोरोना पॉजिटिव दोनों जमातियों के संपर्क में आने वाले 18 और लोगों को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया। शुक्रवार शाम तक आइसोलेशन वार्ड में 36 लोग भर्ती थे।
भिवानी में कोरोना पॉजिटिव मिले दोनों जमातियों ने चरखी दादरी के डोहका और कासनी गांव के 18 लोगों से संपर्क किया। इसके अलावा हिंडोल निवासी जमाती के संपर्क में दो लोग आए। उन तीनों के सैंपल लेकर जांच के लिए पीजीआई भेजे गए हैं। अब तक 17 सैंपल भेजे गए हैं, जिनमें से 11 की रिपोर्ट निगेटिव आई है।
-डॉ. चंचल तोमर, डिप्टी सीएमओ, चरखी दादरी।
... और पढ़ें

हरियाणा में कोरोना के 27 नए मामले, जमातियों के कारण बढ़ी संख्या, 71 तक पहुंचा आंकड़ा

हरियाणा में कोरोना पॉजिटिव केस तेजी से बढ़ने लगे हैं। शनिवार को 27 नए मामले सामने आए हैं। कुल पीड़ितों का आंकड़ा 71 पहुंच चुका है। मरकज से संबंध रखने वालों की संख्या 28 पहुंच गई है। इनमें एक नेपाल का रहने वाला है। जबकि पांच तमिलनाडु, तीन केरल, तीन पश्चिम बंगाल और तेलंगाना, बिहार और यूपी के दो-दो लोग हैं। वहीं पंजाब, कर्नाटक, दिल्ली, महाराष्ट्र के एक-एक लोग शामिल हैं।

इनमें से आधा दर्जन जमाती हरियाणा से संबंध रखते हैं। सबसे ज्यादा पलवल जिले में 13 नए मामले सामने आने के बाद हड़कंप मचा हुआ है। फरीदाबाद में आठ और कैथल में भी एक जमाती पॉजिटिव पाया गया है। सभी मरीजों को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है। उनके संपर्क में आने वाले लोगों को भी आइसोलेट कर दिया गया है। 

वहीं कोरोना से अंबाला में मौत के बाद शुक्रवार को रोहतक की एक महिला की दिल्ली में कोरोना की वजह से मौत हो गई थी, जिसकी किडनी खराब थी, उसे दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में दाखिल कराया गया था। जहां जांच के बाद कोरोना पॉजिटिव पाया गया। हालांकि स्वास्थ्य विभाग ने अभी तक इसकी पुष्टि नहीं की है।

पलवल में संक्रमितों की संख्या सबसे ज्यादा
मरीजों के आंकड़े में पलवल पहले नंबर पर पहुंच गया है। पलवल में अब 17 केस हो गए हैं, जिनमें से एक ठीक हो चुका है। इसी तरह से 15 मरीजों के ठीक होने के बाद अब अंबाला में 3, भिवानी 2, फरीदाबाद 13 इस जिले में आठ मामले बढ़े हैं। गुरूग्राम 8, हिसार 1, करनाल 1, कैथल 1, नूंह 3, पलवल 16, पानीपत 1, पंचकूला में 2, रोहतक 1, सिरसा में 3 मरीज है।
... और पढ़ें

पुलिस सड़क पर निकलने पर बरसा रही लाठियां तो घरों तक पहुंचा रही राशन

हरियाणा में कोरोना वायरस
कोविड-19 संक्रमण के बीच जिला पुलिस के दो अलग-अलग किरदार देखने को मिल रहे हैं। एक किरदार में पुलिस बेवजह घुमनेेे वालों पर सख्ती बरतती नजर आ रही है तो वहीं, दूसरे किरदार में जरूरतमंदों के घरों तक आवश्यक वस्तुएं पहुंचाने का काम भी कर रही है। इस संबंध में जिला पुलिस कप्तान बलवान सिंह राणा ने निर्देश भी जारी किए हैं। शुक्रवार को पुलिस के ये दोनों ही किरदार शहर में देखने को मिले।
अमूमन अपनी सख्ती के लिए जाने जानी वाली हरियाणा पुलिस संकट की इस घड़ी में समाजसेवा की ड्यूअी भी निभा रही है। शुक्रवार को जो दो अलग-अलग किरदार देखने को मिले और पुलिसकर्मियों की ड्यूटी का ही हिस्सा है। लॉ एंड ऑर्डर को कायम रखने के लिए पुलिस को सख्ती बरतनी पड़ती है तो जरूरतमंदों की मदद करना समाजसेवा और ड्यूटी का हिस्सा है। इस समय पुलिस कप्तान के नेतृत्व में पुलिसकर्मी दोहरा फर्ज अच्छे से निभा रहे हैं।
जिला पुलिस लॉकडाउन होने की वजह से अपने घरों में कैद जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए भी आगे आ रही है। पुलिस अधीक्षक बलवान सिंह राणा ने कहा कि आपराधिक गतिविधियो पर नजर रखने के साथ पुलिस जरूररमंद लोगो का ध्यान भी रख रही है। उन्होने कहा कि चरखी दादरी पुलिस अलग-अलग तरह से जरूररतमंद लोगों की मदद करने मे लगी है। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि पुलिस के कई रोल होते हैं। समाज की जरूरतों के हिसब से पुलिस अपना रोल निभाती है। अभी पुलिस कानून व्यवस्था बनाए रखने एवं क्राइम कंट्रोल करने के अलावा जरूरतमंद लोगों का सहारा बनकर एक अहम रोल निभा रही है।
इस बारे मे पुलिस प्रवक्ता सुमित कुमार ने बताया कि राज्य मे लॉकडाउन चल रहा है। सभी को अपने घरों मे रहने की हिदायत दी गई है। बहुत से ऐसे मजदूर हैं जो दूसरे राज्यो से मेहनत मजदूरी के लिए आए हुए थे। यह सभी मजदूर रोज की कमाई से ही अपने घर का चूूल्हा जलाते हैं। लॉकडाउन की वजह से इन्हें काम नहीं मिल पा रहा और रसद का संकट इनके सामने गहराया हुआ है। पुलिस अधीक्षक के निर्देशानुसार ऐसे परिवारों तक पुलिस राहत सामग्री पहुंचा रही है।
----------
वर्जन::
पुलिस को कई किरदार निभाने पड़ते हैं। ये दोनों किरदार ड्यूटी का ही हिस्सा है। जरूरतमंद परिवारों तक राहत सामग्री पहुंचाने के निर्देश सभी थाना प्रभारियों को दिए गए हैं।
बलवान सिंह राणा, एसपी, चरखी दादरी
लॉकडाउन में बाहर आने वालों से पूछताछ करते पुलिसकर्मी।
लॉकडाउन में बाहर आने वालों से पूछताछ करते पुलिसकर्मी।- फोटो : CharkhiDadri
... और पढ़ें

बीपीएल परिवारों का अप्रैल माह का राशन घर पर मिलेगा

उपायुक्त श्यामलाल पूनिया ने बताया कि सरकार के निर्देशों के अनुसार सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अंतर्गत बीपीएल परिवारों को मिलने वाला अप्रैल माह का राशन पात्र उपभोक्ताओं के घरों तक पहुंचाया जाएगा। किसी भी उपभोक्ता को राशन डिपो पर जाने की जरूरत नहीं है। कोरोना की महामारी को देखते हुए ऐसा निर्णय लिया गया है।
सार्वजनिक जनवितरण प्रणाली के तहत सभी पात्र लाभार्थियों को अप्रैल माह का राशन उनके घर तक पहुंचाया जाएगा। अप्रैल माह मे एएवाई राशनकार्ड धारकों को 35 किलोग्राम गेहूं प्रति राशनकार्ड, एक किलोग्राम चीनी प्रति राशनकार्ड, दो लीटर प्रति सरसों तेल राशनकार्ड पर नि:शुल्क वितरण किया जाएगा। बीपीएल कार्डधारकों को गेहूं पांच किलोग्राम प्रति सदस्य, चीनी एक किलोग्राम प्रति राशनकार्ड व सरसों तेल दो लीटर प्रति राशनकार्ड पर निशुल्क दिया जाएगा। इसके अतिरिक्त ओपीएच राशनकार्ड धारकों को पांच किलोग्राम गेहूं प्रति सदस्य की दर से नि:शुल्क दिया जाएगा।
वितरण, प्राप्ति व दरों के संबंध मे कोई शिकायत हो तो वह चरखी दादरी व बौंदकलां क्षेत्र के सहायक खाद्य एवं पूर्ति अधिकारी के दूरभाष नंबर 70561-47494 और बाढड़ा क्षेत्र के लिए निरीक्षक, खाद्य एंव पूर्ति के दूरभाष नंबर 86070-64541 पर संपर्क कर सकते हैै।
... और पढ़ें

दिल्ली से लौटे 27 लोगों के संपर्क में आए 291 लोग चेकअप में निकले स्वस्थ

दिल्ली से लौटने वाले 27 लोगों के स्वास्थ्य जांच के बाद शुक्रवार को स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने इनके संपर्क में आए 291 लोगों का स्वास्थ्य भी जांचा। जांच के दौरान सब स्वस्थ मिले और उनमें कोरोना संक्रमण के लक्षण नहीं मिले। सरकार की तरफ से स्वास्थ्य जांच के लिए 293 लोगों की सूची भेजी गई थी जिनमें से दो का अभी पता नहीं चल पाया है। सभी लोगों का स्वास्थ्य ठीक होना राहत की बात है। चूंकि कुछ गांवों में इसे लेकर भय का महौल था और वीरवार को ही डीसी और एडीसी सहित एसपी भी ग्रामीणों के बीच पहुंचे थे। वहीं, शुक्रवार को जिला अस्पताल से किसी संदिग्ध का सैंपल नहीं भेजा गया।
चरखी दादरी जिले में अब तक 14 संदिग्धों के सैंपल लेकर जांच के लिए पीजीआई भेजे गए हैं। इनमें से 10 की रिपोर्ट नेगेटिव आ चुकी है जबकि चार की रिपोर्ट शुक्रवार को पीजीआई से आने की उम्मीद थी लेकिन रिपोर्ट नहीं आई। वहीं, शुक्रवार को एक भी संदिग्ध का सैंपल नहीं भेजा गया। शुक्रवार को स्वास्थ्य विभाग की टीमें फिल्ड में सक्रिय रहीं। विभाग की दो टीमों ने सुबह और शाम शहर की जामा मस्जिद में जाकर वहां क्वारंटीन 16 लोगों के स्वास्थ्य की जांच की और इस दौरान वो स्वस्थ मिले।
डिप्टी सीएमओ संजय गुप्ता ने बताया कि सरकार की तरफ से भेजी गई 293 लोगों की सूची में से 291 लोग ट्रेस कर लिए गए हैं। इन सबकी स्वास्थ्य जांच की गई और इनमें से किसी में लक्षण नजर नहीं आए। उन्होंने बताया कि दिल्ली से लौटे लोगों के संपर्क में आने वाले 293 लोग शहर और जिले के छह गांवों के रहने वाले हैं। इन सभी के घर स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंची और स्वास्थ्य जांच की गई। इन्हें होम क्वारंटीन किया गया है।
गिरफ्तारी या इपाउंड करने की बजाय चालान करने की कार्रवाई
लॉकडाउन के चलते घरों के अंदर ही रहने की अपील के बावजूद लोग अभी भी बेवजह सड़कों पर घुमते नजर आ रहे हैं। प्रशासन सभी आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति घर-घर शुरू करवा चुका है। वीरवार को प्रशासन ने हिदायत जारी की थी कि अगर शुक्रवार को कोई बाहर घुमता मिला तो उसका वाहन इंपाउंड किया जाएगा और चालक की गिरफ्तारी होगी। हालांकि शुक्रवार को ऐसा एक भी मामला सामने नहीं आया। पुलिस विभाग की तरफ से 10 वाहनों के चालान करने की पुष्टि जरूर की गई है।
सुबह तीन घंटे खुली रहेंगे बीज भंडार
किसानों की समस्याओं को देखते हुए जिला प्रशासन ने लॉकडाउन में मेडिकल स्टोर, किराना स्टोर, दुग्ध डेयरी के बाद अब बीज भंडार केंद्रों को सीमित समय तक खोलने की छुट दे दी है। शुक्रवार को शहर में सुबह के समय तीन घंटे बीज भंडार खुले रहे। सुबह आठ से 11 बजे का समय इनके लिए निर्धारित किया गया है।
किस गांव में कितने लोगों का जांचा गया स्वास्थ्य
डिप्टी सीएमओ संजय गुप्ता ने बताया कि सरकार की तरफ से भेजी गई सूची में शामिल 291 लोगों के स्वास्थ्य की जांच की गई है। उन्होंने बताया कि अटेला गांव में 5, डोहका में 9, फतेहगढ़ में 20, मानकावास में 2, पांडवान में 177, चरखी में 116 और शहर में 24 लोगों के स्वास्थ्य की जांच की गई।
... और पढ़ें

जयश्री गांव में सामूहिक हुक्का पीने पर प्रतिबंध, बाहरी के प्रवेश पर भी रोक

लॉकडाउन को पूरी तरह से लागू करने के लिए जयश्री पंचायत ने बाहरी व्यक्तियों के प्रवेश पर पूर्ण रूप से पाबंदी लगा दी है। गांव में प्रवेश करने के लिए केवल मंदिर के पास वाला रास्ता ही खुला रहेगा। शुक्रवार को सरपंच राजकुमार की अध्यक्षता में हुई बैठक में एक कमेटी का गठन किया गया है। जिसमें तय किया गया कि गांव में एक ही मंदिर के पास वाला रास्ता खुला रहेगा। यदि किसी से कोई मिलने आएगा तो उसे गांव के मुख्य रास्ते से ही आना पड़ेगा। कोई भी व्यक्ति बाहर किसी के संपर्क में नहीं आएगा। इसके साथ ही गांव में ठीकरी पहरा लगाया जाएगा।
गांव में सामूहिक हुक्का बैन कर दिया गया है। हुक्का केवल एक व्यक्ति अकेला ही पी सकता है। इसके साथ ही कोई भी ताश नहीं खेलेगा। गांव से बाहर मजदूरी पर कोई नहीं जाएगा। जो भी ग्रामीण देश सेवा में बाहर नौकरी करते है। वो आइसोलेशन का में रहेगें। इसके साथ ही गांव में नहीं घूमेंगे। गांव में आइसोलेशन की जिम्मेवारी संजय पटवारी के पास सौंपी गई है। ग्रामीण स्वेच्छा से वहां पर पैसे जमा करवा सकते है। सब्जी व परचून का सामान मुहैया रहेगा। इसके लिए गांव में मोबाइल नंबर उपलब्ध है। किसी भी ग्रामीण को कोई समस्या आती है तो कमेटी से संपर्क कर सकता है। गठित कमेटी में सरपंच राजकुमार, पूर्व सरपंच रोशनलाल, जितेंद्र नंबरदार, ब्रह्मप्रकाश संजय पटवारी, अभे सिंह, सतबीर, रोहताश, रामचंद्र, व बाबूलाल शामिल है।
... और पढ़ें

पड़ोसी के घर ताला तोड़कर चुराए गहने और सामान, गिरफ्तार

रोडवेज परिचालक के बंद मकान के ताले चटकाकर चोर ने गहनों और नगदी पर हाथ साफ कर लिया। शुक्रवार सुबह मकान मालिक को घटना का पता चला और इसकी शिकायत सिटी थाना पुलिस को दी गई। पुलिस ने चार घंटे के अंदर ही वारदात को ट्रेस करते हुए उनके घर के पास में ही रहने वाले आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। शुक्रवार सुबह उस कोर्ट में पेश किया जाएगा। पुलिस ने इस संबंध में परिचालक की शिकायत पर केस दर्ज किया है।
पुलिस को दी शिकायत में लोहारू चौक के पास रहने वाीले रामकिशन ने बताया कि वह रोडवेज में चालक है। उसने शहर के लोहारू चौक फ्लाईओवर के समीप मकान बनाया हुआ है। रामकिशन ने बताया कि गत 29 मार्च को वह अपने परिवार सहित अपने गांव लाडावास चला गया था। जाने से पहले उन्होंने मकान को अच्छे से बंद किया था। पीड़ित ने बताया कि शुक्रवार सुबह करीब साढ़े पांच बजे उसे सूचना मिली कि उसके घर के गेट खुले हैं और बाहर तक सामान बिखरा हुआ है। इसके तुुरंत बाद वह घर पहुंचा तो ताले टूटे मिले। रामकिशन ने इसकी सूचना सिटी थाना पुलिस को भी दी।
सूचना मिलते ही सिटी थाना पुलिस सहित एफएसएल टीम भी मौके पर पहुंची। पुलिस ने घटनास्थल का जायजा लिया तो कुछ सबूत हाथ लगे। इसके बाद पुलिस ने जांच की मामले का पटाक्षेप कर दिया। पुलिस सूत्रों की मानें तो चोरी को पड़ोसी ने ही अंजाम दिया। वहीं, रामकिशन ने बताया कि चोर उसके घर से करीब पांच रुपये का कैंटिन का सामान सहित गहने ले गए। पुलिस ने रामकिशन की शिकायत पर केस दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।
पैरों के निशान और बिखरे सामान से मिली मदद
पुलिस सूत्रों के अनुसार घटनास्थल पर चोर के पैरों के निशान मिले हैं और इसके अलावा जो सामान बाहर फैला हुआ था उसकी जांच करने पर पुलिस चोर तक पहुंच पाई। पुलिस ने पैरों के निशानों को ट्रेस किया तो आरोपी के घर तक मिले। वहीं, सामान भी उसी दिशा में बिखरा हुआ था।
तीन दिन के भीतर जिले में दो चोरियां सुलझाई
आमतौर पर पुलिस को चोरी की ज्यादातर वारदातें सुलझाने में समय लग जाता है। पिछले तीन दिनों के अंदर जिले में दूसरी चोरी हुई है। अहम बात यह है कि दोनों ही चोरियों को पुलिस ने ट्रेस कर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। इससे पहले चोरी का मामला गांव लांबा में सामने आया था और वीरवार को पुलिस ने लांबा निवासी युवक को ही चोरी के आरोप में गिरफ्तार कर लिया था।
रामकिशन की शिकायत पर पुलिस ने चोरी का केस दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। शुक्रवार सुबह ही चोरी की सूचना हमें मिली थी और उसके तुरंत बाद सिटी थाना पुलिस मौके पर पहुंच गई थी। एफएसएल टीम ने भी घटनास्थल से साक्ष्य जुटाए और चोर तक पहुंचने में इनसे मदद मिली।
×विक्रम सिंह, एएसआई एवं जांच अधिकारी, सिटी थाना
... और पढ़ें

चरखी दादरीः कोरोना फंड को लेकर प्रशासन के खिलाफ फेसबुक पर डालीं दो पोस्ट, मामला दर्ज

प्रशासन की हिदायतों के बावजूद कोविड-19 को लेकर बिना पुष्टि के फेसबुक पर पोस्ट करना एक व्यक्ति को भारी पड़ गया। आरोपी ने एक नहीं बल्कि दो पोस्ट कीं और इनमें प्रशासन पर कोरोना रिलीफ फंड हजम करने के कथित आरोप लगाए। इस पर संज्ञान लेते हुए तहसीलदार ने मामले की शिकायत सिटी थाना पुलिस को दी है। पुलिस ने आरोपी नरेंद्र बंसल के खिलाफ 188 और 505-बी आईपीसी के तहत केस दर्ज कर लिया।

कोरोना को लेकर पोस्ट डालने पर जिले में यह तीसरी एफआईआर दर्ज हुई है। कोविड-19 को लेकर जिला प्रशासन ने हिदायत जारी कर रखी है कि कोई भी व्यक्ति बिना पुष्टि के सोशल मीडिया पर पोस्ट न डाले या कोई सूचना आगे फॉरवर्ड न करें। अगर कोई ऐसा करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इन हिदायतों को नजरअंदाज करते हुए नरेंद्र बंसल ने फेसबुक पर एक पोस्ट डाल दी।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us