विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

हरियाणा में मोहम्मद साद के छिपे होने की आशंका, तलाश के लिए पुलिस टीम का गठन: गृह मंत्री अनिल विज

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा है कि मोहम्मद साद यदि यहां पर होगा तो अवश्य पकड़ लिया जाएगा।

7 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

जींद

मंगलवार, 7 अप्रैल 2020

झगड़े में बचाव करने आए युवक को मारी गोली, दूसरे को लगे छर्रे

जींद। पिल्लूखेड़ा गांव में दो युवकों के झगड़े में बीचबचाव करने गए एक युवक को एक अन्य युवक ने गोली मार दी। इसमें गोली युवक के पैर में लगी जबकि एक अन्य युवक को भी गोली के छर्रे लगे। गोली लगे युवक को गंभीर हालत में नागरिक अस्पताल में दाखिल करवाया गया। चिकित्सकों ने उसे पीजीआई रोहतक रेफर कर दिया जबकि दूसरे युवक ने पिल्लूखेड़ा में ही किसी निजी अस्पताल में उपचार करवाया। मामले की सूचना पुलिस को दी गई है। पुलिस घायल युवक के बयान दर्ज करने के लिए पीजीआई रोहतक रवाना हो गई है।
पिल्लूखेड़ा निवासी हरज्ञान ने बताया कि गांव पिल्लूखेड़ा में गेहूं का तूड़ा बनाने के लिए आए रीपर चालकों को अपने-अपने यहां ले जाने के लिए दो युवकों का आपस में विवाद हो रहा था। उनका बीच-बचाव करने के लिए उसका भतीजा मनोज आ गया तथा दोनों को समझाने लगा। इसी बीच आपस में झगड़ रहे दोनों युवकों में से एक युवक ने मनोज पर गोली दाग दी। गोली मनोज के पैर में लगी। इसके अलावा मनोज के पास खड़े नीरज नामक एक अन्य युवक को भी गोली के छर्रे लगे। मनोज के तुरंत नागरिक अस्पताल में दाखिल करवाया गया, यहां से चिकित्सकों ने उसे पीजीआई रोहतक रेफर कर दिया। पिल्लूखेड़ा थाना प्रभारी राकेश कुमार ने कहा कि उन्हें मामले की सूचना मिल चुकी है। पुलिस टीम रोहतक पीजीआई में घायल के बयान लेने के लिए रवाना कर दी है। शिकायत के बाद ही आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा।
... और पढ़ें

नशीले पदार्थ को लेकर दो पक्षों में चलीं लाठियां, 12 लोग घायल

नशे के पदार्थ को लेकर शुक्रवार को संडील गांव में दो पक्षों में जमकर लाठी, डंडे और ईंटें चलीं ईंटें चलीं। मामले की सूचना मिलते ही डीएसपी दलीप सिंह पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और लोगों को घरों से बाहर नहीं निकलने की चेतावनी देकर मामला शांत करवाया। दोनों पक्षों में चले लाठी, डंडे और ईंटों से 12 लोग घायल हुए हैं। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
एक पक्ष ने पुलिस को बताया कि गांव का रहने वाला एक व्यक्ति भांग पत्ती बेचने के लिए गांव से किठाना रोड पर स्थित ईंट भट्ठे पर जा रहा था। युवक पर शक होने पर उन्होंने तलाशी ली तो लिफाफे में भांग पत्ती मिली। मामले की सूचना उन्होेंने पुलिस को दी। जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंच कर युवक को हिरासत में ले लिया। लोगों का आरोप है कि पुलिस द्वारा युवक को पकड़े जाने के बाद उक्त पक्ष के लोगों ने दूसरे पक्ष के लोगों के घर पहुंचकर लाठी, डंडे तथा ईंटों से हमला कर दिया।
वहीं दूसरे पक्ष के लोगों ने कहा कि उनकी बस्ती के काफी लोगों ने कोरोना वायरस को लेकर नाका लगाया हुआ है। नाका लगाने के नाम पर महिलाओं पर बुरी नजर रखने के अलावा वहां से गुजरने वाले लोगों को परेशान किया जा रहा है। इसको लेकर जब समझाने का प्रयास किया तो उन्होंने घरों में घुसकर महिलाओं के कपड़े फाड़ने के अलावा उन पर लाठी, डंडे और ईंटों से हमला कर दिया। हमला होने के कारण काफी लोगों को चोटें आई हैं। मामले की सूचना मिलते ही नगूरां चौकी प्रभारी महेंद्र सिंह, अलेवा थाना प्रबंधक संजय कुमार, उचाना थाना प्रभारी देवेंद्र सिंह पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और मामला शांत करवाया।
दोनों पक्ष के लोगों को समझाने के बाद शांत किया
संडील गांव में दो पक्षों के बीच झगड़े की सूचना मिली थी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर दोनों पक्षों को समझाकर मामले को शांत करवा दिया है। दोनों पक्षों की शिकायत आने पर मामले की जांच की जाएगी।
दलीप सिंह, डीएसपी
 झगड़े की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस।
झगड़े की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस।- फोटो : Jind
... और पढ़ें

गांव में घूम रहे दो संदिग्धों को पकड़ा, मिले खांसी, बुखार के लक्षण

गांव बुराडेहर के ग्रामीणों ने दो संदिग्धों को घूमते हुए देखा तो उन्होंने इसकी सूचना स्वास्थ्य विभाग को दी। टीम के पहुंचने से पहले एक युवक ग्रामीणों को चकमा देकर भाग गया। टीम ने एक संदिग्ध को जुलाना के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर गई जहां पर उसे बुखार और खांसी के लक्षण पाए जाने पर जींद के नागरिक अस्पताल भिजवा दिया। युवक ने कहा कि वह मुरादाबाद से दिल्ली जा रहा था। रास्ता भटक कर वह यहां पहुंच गया है। उसे कई दिन से बुखार था। जब तक उसे जींद अस्पताल भेजा नहीं गया था तब तक ग्रामीणों ने दूसरे युवक को भी गतौली गांव के पास पकड़ लिया। युवक ने अपनी पहचान मुरादाबाद निवासी जहांगीर (35) के रूप में करवाई है। वहीं दूसरे युवक ने अपनी पहचान यूपी के ग्वाली के रूप में बताई। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने दोनों को जींद के नागरिक अस्पताल भिजवा दिया है। इस मौके पर चिकित्सक संजय ने बताया कि दोनों को बुखार था। जांच के बाद ही पता चलेगा कि कोरोना है या नहीं। दोनों को अलग अलग एंबुलेंस से जींद के नागरिक अस्पताल पहुंचाया गया है, जहां पर दोनों की जांच होगी। ... और पढ़ें

Coronavirus in Haryana: सोनीपत में मिला एक और केस, संक्रमित मरीजों की संख्या हुई 106

हरियाणा के सोनीपत जिले में मंगलवार को कोरोना का एक और केस मिला। इसके साथ ही प्रदेश में मरीजों की संख्या 106 हो गई है। दरअसल, दिल्ली के महाराजा अग्रसेन अस्पताल में कोरोना संक्रमित एसआई की मौत हो गई थी। मृतक के संपर्क में आने से उसका बेटा भी कोरोना संक्रमित हो गया।

पीएमओ डॉ. आदर्श शर्मा ने इसकी पुष्टि की। उन्होंने बताया कि एसआई को ब्रेन स्ट्रोक होने के कारण 13 मार्च को दिल्ली के महाराजा अग्रसेन अस्पताल में भर्ती किया गया था। इसी दौरान यहां कोरोना के मरीज आने से एसआई को भी संक्रमण हो गया और उनकी 4 अप्रैल को मौत हो गई।

अस्पताल प्रबंधन ने यह जानकारी प्रशासन को देने की बजाय एसआई का शव परिजनों को सौंप दिया। मृतक का बेटा पिता के शव को लेकर घर आया और यहां पूरे रीति रिवाज के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान संपर्क में आने पर युवक को भी कोरोना संक्रमण हो गया।

वहीं जानकारी न देने के मामले में पुलिस ने कड़ी कार्रवाई करते हुए महाराजा अग्रसेन अस्पताल के खिलाफ आपदा प्रबंधन एक्ट, धारा 188 समेत विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया। तुरंत हरकत में आते हुए प्रशासन ने चौकी प्रभारी समेत छह मौजूदा पुलिस कर्मियों को होम क्वारंटीन कर दिया।

दो रिटायर्ड पुलिस कर्मियों के अलावा 20 ऐसे लोगों को भी होम क्वारंटीन किया गया है, जो मृतक के पड़ोस में रहते हैं और मौत की सूचना मिलने के बाद उनके घर गए व अंतिम संस्कार में भी शामिल हुए। एसआई का परिवार पहले ही होम क्वारंटीन किया जा चुका है।
 
... और पढ़ें
कोरोना संक्रमण कोरोना संक्रमण

कोरोना वायरस के संक्रमण से जींद भी नहीं रहा अछूता, जमाती मिला पॉजिटिव

कोरोना वायरस के संक्रमण से जींद भी नहीं रहा अछूता, जमाती मिला पॉजिटिव
27 वर्षीय युवक तब्लीगी जमात में भाग लेकर 18 मार्च को पहुंचा था जींद
पानीपत से जिस ट्रेन में जींद आया था युवक उस ट्रेन में सफर करने वालों से जांच करवाने की अपील
चार लोगों की रिपोर्ट आनी अभी भी बाकी
संवाद न्यूज एजेंसी
जींद। अब तक कोरोना वायरस के संक्रमण से अछूता रहा जींद जिला भी इसकी चपेट में आ गया है। गांव निडानी निवासी 27 वर्षीय युवक में कोरोना की पुष्टि हुई है। युवक 16 से 18 मार्च तक निजामुदीन तब्लीगी जमात में शामिल हुआ था। 18 मार्च को वह पानीपत से जींद तक ट्रेन से आया था। प्रशासन ने उसके संपर्क में आए 19 लोगों को घर में ही क्वारंटीन किया है। युवक को जींद नागरिक अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। चार लोगों की रिपोर्ट अभी भी आनी है। एहतियात के तौर पर प्रशासन ने निडानी गांव की एक बस्ती को सील कर दिया है।
सिविल सर्जन डॉ. जयभगवान जाटान ने बताया कि एक अप्रैल को जींद में तब्लीगी जमात से लौट आठ लोगों को आइसोलेशन वार्ड में दाखिल किया गया था। शनिवार को इन सभी का कोरोना जांच के लिए सैंपल लिया गया था। इनमें से निडानी गांव का रहने वाला 27 वर्षीय युवक पॉजिटिव मिला है। एक अप्रैल को इस युवक को गंगापुत्रा आयुर्वेदिक अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया था। चार अप्रैल को उसको सैंपल के लिए नागरिक अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में लाया गया था। सोमवार दोपहर बाद युवक की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। अब इसे अन्य लोगों से अलग कमरे में आइसोलेट किया गया है। इसके साथ संपर्क में आए अन्य 19 लोगों को चिह्नित किया गया है। इन सभी को घर में ही क्वारंटीन किया गया है।
बॉक्स
घर से 13 फरवरी को पहले गया था उत्तराखंड
प्रशासन द्वारा जानकारी दी गई है कि युवक 13 फरवरी को अपने गांव से उत्तराखंड गया था। वहां पर वह 40 दिन रुका था। इसके बाद 16 मार्च को दिल्ली रेलवे स्टेशन पर पहुंचा। इसके बाद वह 16 से 18 मार्च तक दिल्ली में तब्लीगी जमात में रहा। 18 मार्च को सुबह साढ़े सात बजे दिल्ली से ट्रेन पकड़कर पानीपत आया था। पानीपत से रात साढ़े आठ बजे चली ट्रेन से जींद के लिए रवाना हुआ। रात को साढ़े 10 बजे युवक जींद स्टेशन पहुंचा और यहां से बाइक पर सवार होकर गांव चला गया। डीसी ने बताया कि 18 मार्च को इसे घर में क्वारंटीन किया गया था। इस युवक को न तो बुखार है और न ही किसी प्रकार की कोई बीमारी। उपायुक्त ने आमजन से अपील की है कि जिन लोगों ने 18 मार्च को पानीपत से रात साढ़े आठे बजे जींद आने वाली ट्रेन से यात्रा की है और उनको बुखार, खांसी या जुकाम की शिकायत है तो वे तुरंत नागरिक अस्पताल में अपनी जांच करवाएं।
बॉक्स
तीन किलोमीटर तक का क्षेत्र कन्टेंमेंट जोन में
डीसी डॉ. आदित्य दहिया ने कहा कि निडानी गांव के युवक की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद प्रशासन ने तुरंत प्रभाव से गांव को सैनिटाइज किया है। तीन किलोमीटर के क्षेत्र को कन्टेंमेंट जोन (एक तरह से सील) घोषित किया है। इसमें किसी भी व्यक्ति को अंदर तथा बहार जाने की अनुमति नहीं होगी। इसके अलावा पांच किलोमीटर का क्षेत्र बफर जोन (बहुत जरूरी कार्य से बाहर जाना) घोषित किया गया है। इसमें केवल बहुत जरूरी कार्य से ही व्यक्ति प्रशासन की अनुमति से बाहर जा या आ सकता है। पूरे गांव में राशन की व्यवस्था तथा अन्य जरूरी सुविधाओं की व्यवस्था प्रशासन की तरफ से की जाएगी। गांव में केवल पुलिस या चिकित्सकों को ही जाने की अनुमति होगी। प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट है। उन्होंने निडानी और अन्य जिले के लोगों से प्रशासन का सहयोग करने की अपील की है।
फोटो कैप्शन
06जेएनडी 61 : नागरिक अस्पताल में स्थित आइसोलेशन वार्ड।
06जेएनडी 62 : गांव को जाने वाले रास्ते पर खड़े स्वास्थ्य व अन्य सुरक्षा एजेंसियों के आदमी।
... और पढ़ें

सरकार के मांगें न मानने तक आढ़ती नहीं खरीदेंगे गेहूं

दी फूड ग्रेन डीलर एसोसिएशन के सदस्यों की बैठक प्रधान सुरेश खरकभूरा के नेतृत्व में हुई की । बैठक में फैसला लिया गया कि कोई भी आढ़ती आढ़त से संबंधित कोई भी काम नहीं करेगा। कोई भी आढ़ती किसान की फसल की ढेरी को न ही बेचेगा, न ही खरीदेगा और न ही दुकान के अंदर रखेगा। जो कपास इन दिनों मंडी में है वह मंडी से लेकर जा सकता है या गोदाम में रख सकता है। फड़ पर किसी भी तरह का तोल के लिए कांटा नहीं लगेगा। जो भी आढ़ती एसोसिएशन के फैसले का उल्लंघन करेगा उसके खिलाफ एसोसिएशन अपने स्तर पर कार्रवाई करेगी।
अप्रैल में रिन्यू होने वाले लाइसेंसों को भी कोई आढ़ती रिन्यू नहीं करवाएगा। खरकभूरा ने कहा कि जब तक सरकार प्रदेश स्तरीय एसोसिएशन की मांगों धान का अभी तक का बकाया भुगतान तुरंत करने, गेहूं खरीद के भुगतान का माध्यम पहले की तरह आढ़ती के माध्यम से करने, सीमांत किसान का गेहूं भी हमारी मंडियों में सरकार द्वारा खरीदने, सरसों, कपास और सूरजमुखी सहित अन्य फसलों की खरीद आढ़ती के माध्यम से करने को नहीं मानती सरकार के गेहूं खरीद में सहयोग नहीं करेंगे। आढ़ती पूर्ण रूप से हड़ताल रखते हुए कोई फसल अपने यहां नहीं उतरवाएंगे। उन्होंने कहा कि आढ़ती किसान का वर्षों से चला आ रहा रिश्ता सरकार तोड़ना चाहती है, मगर उसे तोड़ने नहीं दिया जाएगा। आढ़ती अपना रोजगार बचाने और आढ़ती-किसान के रिश्ते को बचाने के लिए अनिश्चितकालीन हड़ताल कर रहे हैं। सरकार आढ़ती और किसान विरोधी मंशा को किसी सूरत में कामयाब नहीं होने दिया जाएगा। इस मौके पर हरदीप डूमरखां, देवी प्रसन्न छातर, बलराज श्योकंद, संदीप चौधरी, रमेश नंबरदार, बिजेंद्र घोघड़ियां, रामकुमार घोघड़ियां, एडवोकेट जगदीप, रामनिवास दनौदा, सुरेश बुडायन और संदीप चौधरी मौजूद रहे।
... और पढ़ें

27 नए मामलों के साथ हरियाणा के 15 जिलों तक पहुंचा कोरोना, संक्रमित मरीजों की संख्या हुई 105

हरियाणा में कोरोना वायरस की पहुंच कुल 22 में से 15 जिलों तक हो गई है। तब्लीगी जमात के कनेक्शन के बाद कोरोना वायरस के मामलों में भी एकाएक तेजी आई है। प्रदेश में अब कोरोनाग्रस्त मरीजों के मामले 105 पहुंच गए हैं। सरकार ने अपनी टेस्टिंग क्षमता को भी और बढ़ाने का फैसला किया है। इसके लिए कुछ प्राइवेट लैब को भी अधिकृत किया जा रहा है।

सोमवार को पलवल, फरीदाबाद, करनाल चरखी दादरी और नूंह में 27 नए मामले सामने आए हैं। इन कुल कोरोनाग्रस्त मामलों में से 15 मरीज ठीक भी हो गए हैं। उन्हें अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई है। इन नए मामलों में 7 मामले फरीदाबाद, 1 चरखी दादरी, 9 पलवल, 6 नूंह और 4 करनाल में सामने आए हैं। 

इसके अलावा प्रदेश में इस वक्त 18214 लोगों को स्वास्थ्य महकमे ने मेडिकल सर्विलांस के दायरे में रखा हुआ है। 812 लोग ऐसे हैं जो अभी तक कुल 103 कोरोनाग्रस्त मरीजों के सीधे संपर्क में आ चुके हैं। इन मरीजों को लेकर ज्यादा टेंशन है, सभी के सैंपल लिए गए हैं। सरकार द्वारा लिए गए 2194 सैंपल में से 1639 की रिपोर्ट नेगेटिव आ गई हैं। जबकि 459 सैंपल की रिपोर्ट अभी आना बाकी है। 548 संदिग्ध मरीज अस्पताल में भर्ती है जिनका इलाज अभी चल रहा है।
... और पढ़ें

लॉकडाउन के दौरान लोगों के साथ साथ बंदरों का भी समझ रहे दर्द

सांकेतिक तस्वीर

आज आने वाली कोरोना सैंपल की 10 रिपोर्टों पर टिकी लोगों की निगाह

हरियाणा के लगभग हर जिले में कोरोना के संक्रमित लोग सामने आए हैं, लेकिन जींद के लिए राहत भरी खबर है कि अभी तक कोई कोरोना संक्रमित नहीं मिला है।
सोमवार को जींद से भेजे गए दस सैंपलों की रिपोर्ट आएगी। इस रिपोर्ट पर ही जींद की उम्मीद टिकी हुई है। यदि यह सभी रिपोर्ट निगेटिव आती हैं तो जिले के लोगों के लिए राहत भरी बात होगी। अभी तक आई चार रिपोर्ट निगेटिव आई है। स्वास्थ्य विभाग की टीम अब भी बाहर से आने वाले लोगों की पहचान करने में जुटी हुई है। रविवार को भी केरल तथा गुजरात से आए पांच लोगों की पहचान की गई। इनमें से किसी में भी कोरोना से संबंधित लक्षण दिखाई नहीं दे रहे। रविवार को 22 मार्च के जनता कर्फ्यू की तरह पूरा शहर एकदम सुनसान नजर आया। यदि इसी प्रकार लॉकडाउन का पालन हुआ तो जिले को कोरोना से बचाया जा सकता है।
14 अप्रैल तक पहुंचने के लिए जिले के लोगों को और अधिक सावधानी के साथ लॉकडाउन का पालन करने की जरूरत है। हालांकि अब तक लॉकडाउन के बावजूद लोग घरों से बाहर निकलते नजर आए, लेकिन रविवार को पूरा शहर सुनसान नजर आया। जिले के लोगों के लिए यह परीक्षा की घड़ी है। एक तो रविवार को वैसे ही बाजार तथा सड़कों पर आम दिनों में भी रौनक कम होती है, ऊपर से लॉकडाउन होने के कारण पूरा शहर सुनसान नजर आया। यदि इसी प्रकार से लॉकडाउन का असर रहा तो यह सभी के लिए सेहत के लिए अच्छी बात होगी। फिलहाल विदेश से लोग जींद में नहीं आ रहे हैं, लेकिन जब से तब्लीगी जमात के लोग आए हैं, लोगों की चिंता जरूर बढ़ गई है। तब्लीगी जमात से आए आठ लोगों के सैंपल भेजे गए हैं। अब जींद में केवल दूसरे प्रदेशों से या अपने काम धंधे के सिलसिले में दूसरे राज्यों में गए लोग अपने घरों को लौट रहे हैं। इन सभी की पहचान के लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम स्वास्थ्य निरीक्षक राममेहर वर्मा की अगुवाई में दिन-रात काम कर रही है। इसके अलावा खुफिया विभाग की टीम भी ऐसे लोगों का पता लगाने में जुटी हुई है।
रविवार जैसा करें लॉकडाउन का पालन
डीसी डॉ. आदित्य दहिया ने कहा कि जिस प्रकार से रविवार को लॉकडाउन का असर दिखा है, उसी प्रकार यदि लोग 14 अप्रैल तक इसका पालन करें तो यह बहुत बढ़ियां रहेगा। लोग लॉकडाउन का पालन जितना करेंगे, उतना ही जींद जिला बचेगा। उन्होंने लोगों से कुछ दिन और घर में रहने तथा प्रशासन का सहयोग करने की अपील की।
स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से अलर्ट
सिविल सर्जन डॉ. जयभगवान जाटान ने कहा कि सभी दस रिपोर्ट निगेटिव आने की उम्मीद है। उन्होंने खुद सभी लोगों, जिनके सैंपल लिए गए हैं, का स्वास्थ्य देखा है। किसी में भी कोई लक्षण नहीं है। इसके बावजूद प्रतिदिन जिले में बाहर से आने वाले लोगों के स्वास्थ्य की जानकारी ली जाती है। रविवार को भी बाहर से आए पांच लोगों के स्वास्थ्य का निरीक्षण किया गया। सभी पूरी तरह से स्वस्थ हैं।
... और पढ़ें

एमआरपी से अधिक दाम पर सामान बेचने वाले 20 दुकानदारों के काटे चालान

खाद्य एवं आपूर्ति विभाग ने अब तक 20 किराना दुकानदारों के चालान किए हैं। यह सभी चालान लीगल मेट्रोलॉजी एक्ट-2009 तथा विधिक माप विज्ञान के तहत किए गए हैं। इसके तहत कुछ दुकानदार एमआरपी पर सामान नहीं बेचते मिले तो कुछ के कांटे प्रमाणित नहीं मिले। अब सोमवार से शनिवार तक किराना की दुकानें सुबह 8 से दोपहर 1 बजे तक तथा सायं को 3 से 6 बजे तक खुली रहेंगे। इस समय के अतिरिक्त कोई दुकानदार दुकान खोले मिला तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
डीसी डॉ. आदित्य दहिया ने बताया कि सभी किराना दुकानदारों को निर्देश दिए गए हैं कि वह जिस वस्तु पर अधिकतम खुदरा मूल्य अंकित हो, वहीं बेचें। अधिकतम खुदरा मूल्य के बिना कोई भी सामान नहीं बेचें। अगर कोई दुकानदार इन नियमों का उल्लंघन करता पाया गया तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि जिन दुकानदारों के चालान किए गए हैं, उनमें से तीन किराना की दुकानें चेकिंग के दौरान ऐसी पाई गई, जिन्होंने मापतौल विभाग से अपने कांटों को प्रमाणित नहीं करवाया था। इसके अलावा बाकी का एमआरपी से अधिक मूल्य पर सामान बेचने पर चालान किया गया।
उन्होंने स्पष्ट निर्देश दिए कि कोई भी दुकानदार नियमों की अनदेखी न करें। कोरोना वायरस के चलते किराना की दुकानों को खुली रखने के लिए जिला प्रशासन द्वारा अनुमति प्रदान की गई है। सभी दुकानदार निर्धारित समयावधि में दुकानों को खुली रखें ताकि आमजन को खाद्य वस्तुएं व अन्य जरूरी सामान की खरीद करने में कोई परेशान न हो। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन तथा व्यापार मंडल एवं किराना एसोसिएशन द्वारा दुकानों को खुली रखने के लिए मिलकर समय निर्धारित कर दिया गया है। सोमवार से शनिवार तक सभी किराना की दुकान सुबह 8 बजे से दोपहर एक बजे तक तथा सायं को तीन बजे से छह बजे तक ही खुली रहेंगी। रविवार को सभी दुकानें बंद रहेंगी। उन्होंने लोगों से अपील की कि वह निर्धारित समय पर आकर ही सामान की खरीददारी करें और सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखें।
... और पढ़ें

लॉकडाउन में बेवजह घूमने वालों के वाहन हो रहे लॉक

लॉकडाउन के दौरान बिना किसी कारण घूमने वालों पर पुलिस प्रशासन की पैनी नजर है और ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई भी की जा रही है। बेवजह घूमने वाले ऐसे 40 वाहन चालकों के अब तक चालान काटे जा चुके हैं। इनमें 20 वाहनों को जब्त भी किया गया है। शहर में आने वाले रास्तों के अलावा बाजारों में भी पुलिस की नजर है।
सोशल मीडिया पर कोई अफवाह नहीं फैलाए, इस पर भी पुलिस प्रशासन नजरें गड़ाए है। शहर में दुकानों के खुलने के लिए सुबह 7 से 11 बजे तक और शाम को 5 से लेकर रात 8 बजे तक का शेड्यूल बनाया गया है। दुकानें शेड्यूल के अनुसार खुल रही हैं कि नहीं इस पर भी पुलिस प्रशासन की नजर है। पुलिस बनभौरी रोड पर सबसे अंतिम गांव मखंड, बरवाला रोड पर दुर्जनपुर, छातर रोड पर मांडी गांव के साथ उचाना कलां के पास भौंगरा, खापड़ को जाने वाले चौकों पर नाका लगाया हुआ है। यहां से आने-जाने वालों से कारण पूछा जाता है। पुलिस को यह लगता है कि वाहन चालक जानबूझ कर बहाना बना रहा है तो उसे वापस भेज दिया जाता है। जो बार-बार समझाने के बाद नहीं मानते हैं उनके चालान किए जा रहे हैं। पुलिस की सख्ती का असर दिखाई दे रहा है। बेवजह वाहन चालक सड़क पर कम आ रहे हैं।
लॉकडाउन की लोगों को बता रहे है परिभाषा
चौकी इंचार्ज कृष्ण कुमार खर्ब ने कहा कि लॉकडाउन लोगों की सुरक्षा के लिए लगा हुआ है। इसका उद्देश्य है कि लोग घरों में रहें, ताकि कोरोना वायरस के चक्र को तोड़ा जा सके। लोगों को चाहिए कि वे बिना वजह सड़कों पर न आए। कोई जरूरी काम हो तो ही घरों से बाहर निकलें। हम सबको चाहिए कि कोरोना वायरस के चक्र को तोड़ने के लिए लॉकडाउन का पूरा पालन करें।
... और पढ़ें

लॉकडाउन का पालन कराने के लिए युवा दे रहे ठीकरी पहरा

उचाना। कोरोना वायरस से गांव को बचाने के लिए खटकड़ के युवाओं ने कमान संभाल ली है। गांव में आने वाली दो दर्जन से अधिक गलियों के अलावा कसुहन, बड़ौदी, भौंसला, मोहनगढ़ छापड़ा को जाने वाले लिंक मार्गों पर युवा अलग-अलग टीमें बना कर पहरा दे रहे हैं। इन मार्गों पर आने-जाने वाले का पूरा रिकॉर्ड दर्ज किया जा रहा है।
गाड़ी, बाइक नंबर लिखने के साथ-साथ उनकी फोटो भी मोबाइल में उतरा रहे हैं। गांव में जाने के लिए अगर कोई बाहर का व्यक्ति आता है तो जिसके पास जाना है उसको फोन करके बाहर बुलाया जाता है। गांव का व्यक्ति अगर उसको पहचान कर जाने के लिए कहता है तो उसका पता लिखने के बाद सैनिटाइजर से हाथ धुलवा कर जाने दिया जा रहा है। दिन-रात युवा टीमें बना कर पहरा दे रहे हैं।
ताश खेलने पर लगेगा अलग-अलग जुर्माना
गांव के सरपंच बलकार ने बताया कि सामूहिक रूप से लोग एकत्रित न हो इसके लिए पंचायत ने कई फैसले लिए हैं। ताश खेलने वालों पर एक-एक हजार रुपये, देखने वालों पर दो-दो हजार रुपये, जिसकी जगह पर ताश खेलते मिले उस पर पांच हजार रुपये जुर्माना लगाने का फैसला लिया है। सामूहिक रूप से हुक्का पीने पर भी जुर्माना लगाया गया है। घर पर अकेला व्यक्ति हुक्का पी सकता है, लेकिन सामूहिक रूप से हुक्का पीने पर लॉकडाउन तक पाबंदी लगाई गई है। इसको लेकर गांव में मुनियादी करवाई गई है।
पहरे में भी सोशल डिस्टेंसिंग अपना रहे है युवा
कप्तान, रणदीप, अनिष, सुनील, अंकित, अमित, बल्लू, मनीष, संदीप ने बताया कि पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा है कि कोरोना वायरस से बचने की दवा है घरों में रहें, सोशल डिस्टेंसिंग की लक्ष्मण रेखा पार न करें। युवा गांव में दिए जा रहे ठीकरी पहरे में सोशल डिस्टेंसिंग अपना रहे हैं। गांव में भी ग्रामीणों को इसको लेकर युवा टीमें बना कर जागरूक कर रहे हैं। युवा दिन-रात पहरा दे रहे हैं ताकि उनका गांव कोरोना वायरस से बचा रहे। गांव के लोग भी इसको लेकर पूरा सहयोग कर रहे हैं।
... और पढ़ें

पीएम के संदेश पर बढ़ी दीये और मोमबत्ती की बिक्री

उचाना। रविवार को रात 9 बजे घर की लाइट बंद करके 9 मिनट तक मोमबत्ती, दीये, टॉर्च या मोबाइल फ्लैश लाइट जलाने के पीएम के संदेश पर लोगों ने तैयारी शुरू कर दी है। किराना की दुकानों पर मोमबत्ती और जो मिट्टी के मटके, दीये बनाते हैं उनके यहां दीये लेने के लिए लोग पहुंच रहे हैं।
रामकिशन, सतबीर ने कहा कि आमतौर पर दिवाली पर ही दीयों की बिक्री होती थी। इस बार दिवाली की तरह लोग दीये लेने के लिए शुक्रवार से आ रहे हैं। पीएम नरेंद्र मोदी के संदेश के बाद लोग दीये लेने आ रहे हैं। किराना दुकानदार वेदप्रकाश ने कहा कि मोमबत्ती की बिक्री आम दिनों में बहुत कम होती थी। शुक्रवार से मोमबत्ती की बिक्री बढ़ी है।
महाराज अग्रसेन मंदिर पुजारी अशोक शर्मा ने बताया कि पीएम नरेंद्र मोदी के संदेश व निर्णय आमतौर पर आठ बजे आते थे। अंक विद्या के अनुसार आठ अंक यानी शनि से प्रभावित है। मगर इस बार उनका संदेश सुबह नौ बजे आया है। उन्होंने पांच अप्रैल को रात्रि 9 बजे से 9 मिनट का समय मांगा है। शर्मा ने बताया कि शनि का स्थान मंगल ने लिया है। अंक नौ सार्वभौमिक अंक है। इसलिए अब निर्णय मंगल से प्रभावित है। निश्चित रूप से लग्नेश व राशिपति मंगल का प्रभाव इन्हें विश्व शिखर पर स्थापित करेगा।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us