विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
एक माह तक वृंदावन बिहारी जी मंदिर में कराएं चन्दन तुलसी इत्र सेवा , मिलेगा नौकरी व व्यापार से जुड़े समस्याओं का समाधान
Puja

एक माह तक वृंदावन बिहारी जी मंदिर में कराएं चन्दन तुलसी इत्र सेवा , मिलेगा नौकरी व व्यापार से जुड़े समस्याओं का समाधान

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

31 मई तक गेहूं खरीद का होगा पूरा भुगतान

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि हमने निजी स्कूलों को फीस वृद्धि से रोका है, साथ ही ये भी कहा कि वे अन्य खर्च छोड़कर अभिभावकों से केवल ट्यूशन फीस लें। क्योंकि स्कूलों को अपने अध्यापकों की सैलरी देनी है, इसलिए फीस ही उनका आय का मुख्य स्रोत है। दूसरा बिजली उपभोक्तों के लिए राहत दी है कि वे बिना जुर्माने के 31 मई तक अपना बिल भर सकते हैं। बिना रीडिंग के भेजे गए औसतन बिलों को आगे एडडेस्ट किया जाएगा। मंगलवार को करनाल स्थित लघु सचिवालय सभागार में जूम एप के माध्यम से मीडिया कर्मियों से संवाद कर उनके सवालों के जवाब दिए।
प्रदेश के अस्पतालों में वेंटीलेटर खरीदने के सवाल पर सीएम ने कहा कि अभी प्रदेश में एक भी गंभीर मरीज नहीं है, जिसको वेंटीलेटर की जरूरत हो। प्रदेश हर तरह से तैयार है। करनाल की बात करें तो मेडिकल कालेज में 12 वेंटीलेटर हैं, इसी प्रकार अन्य निजी अस्पतालों को भी वेंटीलेटर रीजर्व रखने को कहा गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में कोरोना के अब तक 1200 पोजिटिव केस सामने आए है, जिनमें करीब 400 एक्टिव केस है और उनका ईलाज चल रहा है।
आगामी कुछ दिनों में मिलेगी आढ़तियों को पेमेंट
सीएम ने कहा कि प्रदेश में गेहूं और सरसों की खरीद सुचारू रूप से हुई है। हरियाणा के किसानों का एक-एक दाना खरीदा गया, अब दूसरे राज्यों से आने वाली गेंहू खरीदी जा रही है। 10 मई तक किसानों की सारी पेमेंट चली गई है, अगले दो-तीन दिन में आढ़तियों को शेष पेमेंट मिल जाएगी और 31 मई तक सभी किसानों की अदायगी हो जाएगी।
दूसरे प्रदेशों से हरियाणा ने की बेहतर व्यवस्थाएं
सीएम ने कहा कि 50 हजार छोटी-बड़ी औद्योगिक ईकाईयां चालूू करवाई गई, जिनमें 25 से 28 लाख लोग काम से जुड़े, शामिल है। दूसरे प्रदेशों की तुलना में हरियाणा प्रदेश की व्यवस्थाएं काफी बेहतर रही। अब आगे होटल इत्यादि जो होम डिलीवरी कर रहे है, उनको भी मुख्य धारा में लाएंगे।एक प्रश्र के उत्तर में मुख्यमंत्री ने बताया कि सरकार की ओर से कुटीर उद्योगों में मालिक 20 हजार रूपये तक का ऋण बिना ब्याज के एक मजदूर के लिए प्रावधान किया गया है ताकि वह मजदूर को आर्थिक सहयोग कर सके। एमएसएमई के माध्यम से अब ऐसी व्यवस्था बनाई गई है कि 25 से 30 लाख लोगों को रोजगार से जोड़ा जा रहा है।
पानी का दोहन रोकना होगा
धान रोपाई रोकने से भाकियू के आंदोलन पर सीएम ने कहा कि भूमिगत जल की बचत के लिए उन्होंने कहा कि प्रदेश के 8 ब्लॉक ऐसे है, जहां भूमिगत जल करीब डेढ़ सौ फुट नीचे चला गया है, यदि इसका दोहन इसी प्रकार से जारी रहा तो आने वाली पीढिय़ां कोसेगी। किसानों से कहा गया है कि वे हैप्पी सीडर जैसी मशीनों से धान की सीधी रोपाई करें।
निवेशकों की हरियाणा पहली पसंद
उन्होंने बताया कि इज ऑफ डूईंग से हरियाणा निवेशकों की पहली पसंद बन गया है और भविष्य में यहां औद्योगिक कलस्टरों से बेरोजगारों के लिए रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। बिहार व उत्तर प्रदेश के करीब 1 लाख कामगारों ने इच्छा प्रकट की है कि वे हरियाणा में काम करना चाहते है। प्रदेश के युवकों को भी रोजगार देंगे। एक अन्य प्रश्र के उत्तर में उन्होंने बताया कि तुफान व ओलावृष्टि से जिन किसानों की फसले खराब हुई है, उनकी विशेष गिरदावरी की जाएगी और सरकारी सिस्टम के तहत बीमा दिया जाएगा।
... और पढ़ें

रिजर्वेशन कम टिकट रद कराने ज्यादा आ रहे यात्री

दो जून से चलने वाली ट्रेनों के लिए आरक्षण काउंटर खुलते ही यहां लोगों की कतार लगने लगी है, स्थिति यह है कि फिलहाल टिकट बुकिंग के लिए कम और रद कराने के लिए अधिक यात्री पहुंच रहे हैं। मालूम हो कि मार्च और अप्रैल माह में लाकडाउन के दौरान ट्रेनों का संचालन नहीं हो सका है। ऐसे में इस दौरान की बुकिंग वाले यात्री बड़ी संख्या में कैंसिलेशन के लिए पहुंच रहे हैं। रेलवे के अनुसार सोमवार और मंगलवार में ही करीब दो लाख रुपये के टिकट रिफंड किये गये हैं, जबकि मई और जून माह की बुकिंग को रद कराने के लिए अगले सप्ताह का समय दिया गया है।
दो जून से चलने वाली ट्रेनों में चार ट्रेन करनाल से भी हैं। इसमें जनशताब्दी एक्सप्रेस, सचखंड एक्सप्रेस, पश्चिम एक्सप्रेस और शहीद तथा सरयु यमुना एक्सप्रेस शामिल हैं। ऐसे में प्रतिदिन आरक्षण के लिए औसतन 30 फार्म भरे जा रहे हैं। सुरक्षा इंतजामों के साथ रेलवे यातायात सुचारू हो सकेगा या नहीं यह तो भविष्य के गर्भ में है, लेकिन फिलहाल पिछले महीनों के आरक्षण कैंसिल कराने वालों का केंद्र पर तांता लगा हुआ है। दरअसल लॉकडाउन की वजह से रेल यातायात बंद होने पर रेलवे ने पुरानी टिकटें रिटर्न की मियाद बढ़ा दी थी। इसके तहत अभी मार्च और अप्रैल के रिजर्वेशन की कैंसिलेशन चल रही है। दो दिन में ही करीब दो लाख रुपये के टिकट रिफंड किये गये हैं। जीआरपी थाना प्रभारी ताराचंद का कहना है कि दो जून से ट्रेनों के संचालन और सुरक्षा को लेकर कवायद चल रही है। इसके तहत जीआरपी और आरपीएफ की अलग-अलग एस्कार्ट ड्यूटी होगी। किसकी किस ट्रेन में ड्यूटी होनी है उसका खाका तैयार किया जा रहा है। अभी एस्कार्ट के आदेश नहीं हैं लेकिन इसकी तैयारी चल रही है। ट्रेनों में सुरक्षा और सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखा जाएगा। परिसर में भी आरक्षित श्रेणी के अलावा किसी की एंट्री नहीं होगी।
... और पढ़ें

बाइक को ट्राले ने मारी टक्कर, युवक की मौत

ट्राले की टक्कर से एक बाइक सवार युवक की मौत हो गयी। हादसा उस समय हुआ जब बाइक सवार दो युवक गांव खरक के पास से गुजर रहे थे, तभी पीछे से वाहन ने टक्कर मार दी। दुर्घटना में पीछे बैठा युवक राहुल-26 दूर जा गिरा और मौके पर ही उसकी मौत हो गयी। जबकि बाइक चला रहे उसके भाई गुरमीत को कच्ची सड़क पर गिरने के कारण चोट नहीं आयी है। दुर्घटना के बाद आरोपी चालक वाहन छोड़कर मौके से फरार हो गया।
घटनाक्रम के अनुसार सोमवार की देर शाम सीकरी गांव के रहने वाले दो भाई राहुल और गुरमीत पल्सर बाइक से यमुनानगर के दुसैन गांव में जा रहे थे, जहां उन्हें अपने भांजे के जन्मदिन में शरीक होना था। शाम करीब सात बजे दोनों भाई कस्बे के गांव खरक के पास से गुजर रहे थे, तभी तेज रफ्तार एक ट्राले ने उन्हें पीछे से टक्कर मार दी। हादसे की सूचना पर पहुंची पुलिस ने मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। इंद्री थाना के एसआई शेरसिंह का कहना है कि शिकायत के आधार पर केस दर्ज कर जांच की जा रही है। ट्राले को कब्जे में लेकर आरोपी चालक की तलाश की जा रही है।
... और पढ़ें

मूल्यांकन कार्य में लगे 550 शिक्षक चाहे तो छोड़ सकते हैं ऑनलाइन क्लास

सीबीएसई की बोर्ड कक्षाओं की उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन कार्य में लगे शिक्षकों को राहत मिली है। बोर्ड अधिकारियों ने स्कूल संचालकों को आदेश दिए हैं कि कॉपियों की चेकिंग में लगे शिक्षकों को क्लास लेने, विद्यार्थियों की रिपोर्ट भेजने, होमवर्क या यूनिट टेस्ट चेक करने, लेक्चर का वीडियो बनाने से संबंधित कोई भी कार्य नहीं दिया जाए। ये शिक्षक सिर्फ मूल्यांकन कार्य ही करेंगे। सीबीएसई के इस फैसले से जिले के करीब 550 शिक्षकों को राहत मिली है। हालांकि वे चाहे तो अपनी मर्जी से ये सभी कार्य कर सकते हैं। उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन का कार्य 12 जून तक चलना है।
वीसी में कई जिलों से शिक्षकों ने बताई थी समस्या
शिक्षकों ने बोर्ड को वेबिनार के जरिए अपनी समस्या के बारे में बताया था। उन्होंने बताया कि वे दबाव में मूल्यांकन कार्य कर रहे हैं। क्योंकि उन्हें रोजाना ऑनलाइन क्लास लेकर इसकी रिपोर्ट भी बनाकर भेजनी होती है। इस तरह से एक साथ सभी कार्य करना उनके लिए मुश्किल है। वे एकाग्र होकर उत्तर पुस्तिकाओं की चेकिंग नहीं कर पा रहे हैं, इससे निष्पक्ष परिणाम देने में भी दिक्कत आएगी। शिक्षकों की इस समस्या पर तुरंत संज्ञान लेते हुए बोर्ड ने यह राहत दी है।
सीबीएसई की ओर से मूल्यांकन कार्यों में लगे शिक्षकों को राहत दी गई है। जिले में करीब 550 शिक्षक इस कार्य में लगे हैं। हालांकि ज्यादातर शिक्षक क्लास अभी ले रहे हैं। यदि वे चाहे तो सिर्फ उत्तर पुस्तिकाओं का कार्य ही कर सकते हैं। -डॉ. राजन लांबा, अध्यक्ष, सहोदय स्कूल कॉम्प्लेक्स करनाल।
... और पढ़ें

युवक ने फंदा लगाकर की आत्महत्या

जमींदार ने प्रवासी को पीटकर किया घायल

कोरोना काल में जहां कर्णनगरी के लोगों ने प्रवासी श्रमिकों की बढ़-चढ़कर मदद की और अधिकांश अपने घरों को लौट चुके हैं, वहीं मानवता को शर्मसार करने वाली एक घटना वीरवार देर शाम सामने आई है जहां जुंडला के एक जमींदार ने बिहार के प्रवासी श्रमिक को मारपीट कर घायल करने के बाद बच्चों समेत बारिश के मौसम में बाहर निकाल दिया। फिलहाल समाजसेवियों के सहयोग से जिला प्रशासन ने इस परिवार को राधा स्वामी सत्संग भवन भिजवा दिया है। सवाल यह है कि यह घटना ऐसे समय में सामने आई है, जब सुप्रीम कोर्ट तक स्पष्ट रूप से राज्य सरकारों को आदेश दे चुका है कि प्रवासी श्रमिकों को रहने, खाने-पीने व उन्हें उनके गृह राज्य भेजने की व्यवस्था की जाए। इसके बावजूद प्रवासियों के साथ ऐसा बर्ताव कहीं न कहीं जिला प्रशासन की ढिलाई को दर्शाता है।
कई माह पहले आया था करनाल
पटना जिले के जंजला गांव निवासी चंदन पासवान पत्नी व सात बच्चों के साथ कई महीने पहले करनाल आया था। वह काफी समय से यहीं रहकर जुंडला के जमींदार के यहां काम कर रहा था। बताते हैं कि उसकी पत्नी होली पर गांव गई थी लेकिन लॉकडाउन के कारण आ नहीं सकी है। तब से वही अपने सात बच्चों को किसी तरह संभालता है और काम भी करता है। आरोप है कि जुंडला का एक जमींदार उसके साथ क्रूर बर्ताव कर रहा था। वह अक्सर उसके साथ मारपीट किया करता था वीरवार सुबह उसने सभी हदें पार कर दी। प्रवासी श्रमिक ने बताया कि आज फिर उसके बच्चों के खाने को लेकर जमींदार नाराज हो गया। उसने लाठी-डंडे से उसके साथ जमकर मारपीट की, जिससे वह घायल हो गया। उसके बाद जमींदार ने उसे बच्चों समेत घर से निकाल दिया।
रेलवे स्टेशन से भगाया
इसके बाद प्रवसी अपने घर जाने के लिए रेलवे स्टेशन पहुंचा लेकिन यहां रेलकर्मियों ने मानवता का परिचय नहीं दिया और उसे स्टेशन से भी यह कहकर भगा दिया कि कोई ट्रेन नहीं है। आखिरकार प्रवासी अपने बच्चों के साथ स्टेशन के बाहर ही दीवार के सहारे बैठ गया। देर शाम बच्चे भूख से बिलबिलाने लगे। एक समाजसेवी तरुण ने देखा तो बच्चों को बिस्कुट दिलाए, उसकी मरहम पट्टी का इंतजाम किया। भोजन मंगाकर खिलाया। इसके बाद मामले की सूचना एसडीएम नरेंद्रपाल मलिक को दी गई तो मौके पर पुलिस पहुंची। एसडीएम ने प्रवासी को राधा स्वामी सत्संग भवन में उसके रहने, खाने पीने की व्यवस्था के साथ बिहार भेजने का भरोसा दिया है।
... और पढ़ें

पांच और कोरोना पॉजिटिव आये सामने

करनाल में एकबार फिर कोरोना का पंच लगा है। वीरवार को कोरोना के पांच नये केस के साथ ही जिले में इसकी संख्या 42 पर पहुंच गयी है। नए मिले सभी कोरोना पॉजिटिव मरीजों को मुलाना मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया है। साथ ही इनके परिजनों और संपर्क में आये लोगों को क्वारंटीन किया गया है। हालात इसी प्रकार रहे तो आने वाले दिनों में समस्या गंभीर हो सकती है।
वीरवार को पॉजिटिव आये लोगों में ओल्ड चार चमन निवासी एक युवक है, जो दिल्ली से लौटा है। वह वहां पर पेंटर का काम करता है। वहीं एक युवक शांति नगर से है, जिसकी पुरानी सब्जी में प्लास्टिक की दुकान है। वह पैसे लेने के लिए पानीपत गया था। जबकि मीरा घाटी निवासी एक युवक दिल्ली में मार्केटिंग का काम करता है, वह भी पाजिटिव मिला है। इसके साथ ही नीलोखेड़ी के गांव तखाना निवासी एक 85 वर्षीय बुजुर्ग महिला भी वायरस से संक्रमित मिली है। दो दिन पहले ही उनके घर पानीपत से रिश्तेदार आये थे। इसके अलावा कुंजपुरा की एक 10 साल की बच्ची के पिता पहले से ही कोरोना पाजिटिव हैं। अब बेटी भी संक्रमित पायी गयी है। केसों की जानकारी मिलते ही जिला प्रशासन की ओर से सभी मरीजों को एंबुलेंस के माध्यम से मुलाना मेडिकल कालेज पहुंचाया गया। साथ ही आसपास के एरिया को सील करते हुए स्क्रीनिंग शुरू कर दी गयी है। सभी पांचों के संपर्क में आए लोगों को भी कल्पना चावला मेडिकल कालेज में दाखिल कराया गया है। इन सभी के सैंपल लिये गए हैं, जिसकी रिपोर्ट शुक्रवार को आएगी।
जिले में कुल केस 42, एक्टिव 19
जिले में अब कोरोना के कुल केस 42 हो गए हैं। इनमें से एक की मौत हो चुकी है, जबकि 22 लोग ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं। इसके अलावा, 182 लोगों के सैंपल लिए गए हैं। उनकी रिपोर्ट आना शेष है। सीएमओ डा. अश्वनी कुमार ने बताया कि अब तक 6284 लोगों के सैंपल लिए गए हैं, उनमें से 6060 लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। वहीं, विदेश से आए लोगों की संख्या 1074 पहुंच चुकी है। इनमें से 28 दिनों का सर्विलांस 1012 लोग पूरा कर चुके हैं।
... और पढ़ें

लॉकडाउन के कारण पत्नी नहीं आ सकी तो पति ने की आत्महत्या

शहर की शिवाजी कॉलोनी में 22 वर्षीय युवक ने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। बताया जा रहा है कि होली के दिन उसकी पत्नी अपने मायके गई थी। लॉकडाउन के कारण वह वापस करनाल नहीं आ पाई। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करा परिजनों को सौंप दिया है। मृतक के पिता रामदास ने बताया कि 22 वर्षीय बेटा विशाल की शादी मार्च महीने में हुई थी। वह मेहनत मजदूरी करता था। होली के दिन उसकी पत्नी यूपी मायके चली गई थी। तभी से दोनों बाप-बेटा अकेले घर में रह रहे थे। रात को विशाल खाना खाकर सो गया था। जब वह सुबह उठकर दाल चावल बनाने के लिए रसोई में गया तो वह फंदे पर लटका था। पुलिस ने बताया कि जांच की जा रही है। अभी तक कोई ठोस कारणों का पता नहीं लगा है। ... और पढ़ें

हरियाणा में कोरोना का कहर, गुरुग्राम में एक मौत, 13 जिलों में सर्वाधिक 123 पॉजिटिव मिले

हरियाणा में कोरोना का कहर इस कदर जारी है कि अब तक प्रदेश में पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा 123 मामले सामने आ गए हैं। 13 जिलों में ये नए संक्रमित मरीज सामने आए हैं। जिले का स्वास्थ्य महकमा खासा चिंतित है और संक्रमण को रोकने की नई रणनीति पर काम कर रहा है। अब कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 1504 पहुंच गई है। 

इनमें से 881 मरीज ठीक हो गए हैं। जबकि 604 मरीज अभी भी संक्रमित हैं। गुरुग्राम में भी 1 दिन में सबसे ज्यादा 68 मामले सामने आए हैं। गुरुग्राम में एक और मौत होने के बाद प्रदेश में इस संक्रमण से मरने वालों की संख्या 19 हो गई है। गुरुग्राम में 68, फरीदाबाद में 18, सोनीपत में 6, कुरुक्षेत्र, रोहतक और करनाल में 5-5, हिसार व कैथल में 4-4, सिरसा में 3, फतेहाबाद में 2, पानीपत, यमुनानगर, चरखी दादरी 1-1 नए संक्रमित मरीज सामने आए हैं। अब पंचकूला को छोड़कर सारे जिले कोरोनाग्रस्त हो चुके हैं। 


यह भी पढ़ें-
पाकिस्तानी की गुहार, 'मोदी साहब! मेरा कबूतर वापस कर दीजिए, मैं बहुत चाहता हूं', पढ़ें- मामला

संक्रमण से रिकवरी रेट घटकर 58.58 फीसदी हो गया है। संक्रमण बढ़ने का रेट 1.45 प्रतिशत पहुंच गया है। 4267 संदिग्ध मरीजों की सैंपल रिपोर्ट आना अभी बाकी है। विभिन्न जिलों में अब कुल पॉजिटिव मरीजों में से गुरुग्राम में 405, फरीदाबाद में 276, सोनीपत में 180, झज्जर में 97, नूंह में 66, अंबाला में 47, पलवल में 51, भिवानी में 11, चरखी दादरी में 8, फतेहाबाद में 11, हिसार में 26, जींद में 29, करनाल में 42, कैथल में 10, कुरुक्षेत्र में 26, पानीपत में 60, पंचकूला में 25, रोहतक में 24, नारनौल में 36, सिरसा में 14, यमुनानगर में 9, रेवाड़ी में 18, महेंद्रगढ़ में 33 मरीज सामने आ चुके हैं। 

अमेरिका से लौटे 21 पॉजिटिव मरीज अतिरिक्त हैं। जबकि गुरुग्राम के एक निजी अस्पताल में 14 इटालियन मरीजों को भी रखा गया था। दूसरी ओर, गुरुग्राम 193, अंबाला में 40 भिवानी में 6, चरखी दादरी में 1, रेवाड़ी 4, फरीदाबाद में 138, फतेहाबाद में 7, हिसार में 5, जींद में 18, करनाल में 16, कैथल में 4, कुरुक्षेत्र 7, नूंह में 65, पलवल में 39, पानीपत में 36, पंचकूला में 25, रोहतक में 11, सिरसा में 9, महेंद्रगढ़ में 6, चार सोनीपत में  139, झज्जर 90, यमुनानगर में 8 मरीजों समेत सभी 14 संक्रमित इटालियन मरीज भी ठीक हो चुके हैं।
... और पढ़ें

हरियाणा से बाहर बारात गई तो दुल्हा-दुल्हन समेत बारातियों को भी होना पड़ेगा होम क्वारंटाइन

लॉकडाउन के कारण कई शादी समारोह स्थगित हो गए हैं। जबकि कई लोग अपने शुभ मुहूर्त को ध्यान में रखते हुए समारोह आयोजित कर रहे हैं। अब प्रशासन ने बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए इसमें भी नई शर्त लागू कर दी है। करनाल से यदि प्रदेश से बाहर कहीं भी बारात जाती है तो 14 दिन के लिए दूल्हा-दुल्हन समेत सभी बारातियों को होम क्वारंटीन रहना होगा। यदि उनमें से किसी की तबियत बिगड़ती है या कोरोना के लक्षण दिखाई देते हैं, तो इसकी सूचना स्वास्थ विभाग को देनी होगी। ताकि संबंधित लोगों का टेस्ट कराया जा सके। पॉजिटिव पाए जाने वाले केसों की ट्रेवल हिस्ट्री प्रदेश से बाहर की मिलने पर यह निर्णय लिया गया है।
एक गाड़ी में तीन सवारी की परमिशन, जितनी मर्जी ले जाएं बारात
प्रदेश से बाहर बारात ले जाने के लिए सरल हरियाणा पोर्टल और जिले के संबंधित एसडीएम से परमिशन लेनी होगी। इसके लिए बकायदा एक लिखित में शपथ पत्र भी लिया जाएगा। ट्रेवल के लिए एक गाड़ी में तीन लोगों के जाने की अनुमति है। ऐसे में यदि 12 लोग बारात में जा रहे हैं तो उनके लिए चार गाड़ियों की परमिशन लेनी होगी। परमिशन फार्म में गाड़ी का नंबर और चालक का मोबाइल नंबर और सवारियों की पूरी जानकारी ली जाएगी।
दूसरे जिलों में जाने के लिए परमिशन की जरूरत नहीं, लेकिन क्वारंटीन रहना होगा
यदि बारात प्रदेश के ही किसी दूसरे जिले में जानी है तो परमिशन की जरूरत नहीं है। जबकि सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए उन्हें होम क्वारंटीन रहना होगा। प्रदेश से बाहर जाने वालों के लिए 14 दिन का होम क्वारंटीन का नियम और विदेश से आने वालों का 7 दिन के लिए क्वारंटीन का नियम तय किया है।
जिले के अंदर आयोजित शादी समारोह में 20 लोगों के शामिल होने की अनुमति है। यदि बारात प्रदेश से बाहर जाती है तो उसकी परमिशन लेनी होगी और वापस लौटने पर 14 दिन का होम क्वारंटीन में रहना होगा। ऐसा नहीं करने पर या बिना परमिशन बारात ले जाने या ट्रेवल हिस्ट्री छिपाने पर मामला भी दर्ज किया जाएगा। शादी के अलावा डेथ केस में भी यही नियम लागू होगा।
-निशांत कुमार यादव, डीसी करनाल।
... और पढ़ें

फेरों से ठीक पहले खुली दूल्हे की पोल, ऐसा सच आया सामने, दुल्हन बोली- इससे नहीं करनी शादी

क्षेत्र के गांव बरास में लड़की ने शादी की सारी औपचारिकताएं पूरी होने के बाद दूल्हे की टांग में कमी बताकर साथ जाने से इनकार कर दिया। जिससे दूल्हे को बिना दुल्हन के बैरंग लौटना पड़ा। पानीपत निवासी दूल्हे के पिता ने बताया कि करीब 12 दिन पहले उसके बेटे का रिश्ता बरास में हुआ था।

दोनों पक्षों में हुई बातचीत के अनुसार बुधवार को बारात लेकर धौलाकुआं पहुंचे थे। शादी की सभी औपचारिकताएं पूरी होने के कुछ देर बाद लड़की ने लड़के की टांग में कमी बताकरसाथ जाने से मना कर दिया। जिससे वहां सन्नाटा पसर गया। इसकी सूचना मिलते ही लड़के की मां की तबीयत भी खराब हो गयी।

लड़के के पिता के अनुसार लड़की पक्ष के लोग 3-4 बार लड़के को घर आकर देखकर गए। दोनों पक्षों में रजामंदी के बाद बुधवार को बारात लेकर आये थे। दूल्हा-दुल्हन में फेरे व वरमाला भी हो चुकी थी। जिसके बाद लड़की ने लड़के की टांग में कमी बताकर साथ जाने से मना कर दिया। जिसकी सूचना मिलते ही मौके पर मौजूद लोग हक्के-बक्के रह गए।

दुल्हन द्वारा दूल्हे के साथ जाने से मना करने के बाद शहनाई की आवाज सन्नाटे में बदल गयी। इसके बाद मौजिज लोगों द्वारा दुल्हन को मनाने के भरसक प्रयास किये गए। लेकिन दुल्हन अपने इरादे पर अड़ी रही। जिसके बाद दूल्हा भी मायूस हो गया।

जांच अधिकारी रामशरण ने बताया कि इस मामले में लड़की ने लड़के को अपाहिज बताकर लड़के के साथ जाने से मना कर दिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
... और पढ़ें

लॉक डाउन के कारण पत्नी नहीं आ सकी तो पति ने की आत्महत्या

करनाल। शहर की शिवाजी कॉलोनी में 22 वर्षीय युवक ने फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। बताया जा रहा है कि होली के दिन उसकी बहू अपने मायके गई हुई थी। लॉक डाउन के कारण वह वापस करनाल नहीं आ पाई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया है । मामले की जांच की जा रही है। मृतक के पिता रामदास ने बताया कि 22 वर्षीय बेटा विशाल की शादी मार्च महीने में हुई थी । वह मेहनत मजदूरी करता था होली के दिन उसकी बहू यूपी में मायके चली गई थी । तभी से वे दोनों बाप बेटा अकेले घर में रह रहे थे। रात को विशाल खाना खाकर सो गया था । जब वह सुबह उठकर दाल चावल बनाने के लिए रसोई में गया तो देखा कि वह फंदे पर लटका हुआ था। पुलिस ने बताया कि जांच की जा रही है । अभी तक कोई ठोस कारण का पता नहीं लगा है। ... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us