विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

हरियाणा: रेवाड़ी में फंसे 13500 मजदूर, रोडवेज ने 100 बसें चलवाईं, यूपी के कोने-कोने तक जाएंगी

देशभर में 21 दिनों का लॉकडाउन है। कोरोना के खिलाफ दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी आबादी जंग लड़ रही है।

29 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

महेंद्रगढ़/नारनौल

सोमवार, 30 मार्च 2020

हरियाणा में किराना, दवाओं की दुकानें खुलने का समय नहीं होगा निर्धारित, सरकार ने बताई वजह

हरियाणा सरकार ने निर्देश दिए हैं कि प्रदेश भर में किराना, दवाओं और अन्य जरूरी वस्तुओं की दुकानें खुलने का समय निर्धारित न किया जाए। समय निर्धारित होगा, तो इन दुकानों पर एकदम भीड़ उमड़ेगी, जिससे संक्रमण बढ़ने का खतरा बढ़ेगा। लिहाजा जिला प्रशासन इन दुकानों को अधिक देर तक खुला रहने दें। हो सके तो रात तक भी जरूरी वस्तुओं की दुकानों को खुला रखा जाए।

उधर, सरकार ने पुलिस प्रशासन को भी आदेश दिया है कि जरूरी वस्तुओं की खरीद के लिए जा रहे किसी भी व्यक्ति को अनावश्यक तंग न किया जाए, जिससे पुलिस और पब्लिक के बीच टकराव की स्थिति पैदा हो। इस संदर्भ में मुख्य सचिव ने यह निर्देश सभी मंडल आयुक्तों, जिला उपायुक्तों के साथ कांफ्रेंसिंग से बैठक करके दिए। 

हरियाणा की मुख्य सचिव केशनी आंनद अरोड़ा ने सभी मंडलायुक्तों, जिला उपायुक्तों को निर्देश दिए कि 21 दिनों तक राज्य में पूरी तरह से लॉकडाउन होने की स्थिति में आवश्यक वस्तुओं की आवाजाही में किसी प्रकार की कोई समस्या न आए और घर-घर तक आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए व्यवस्था तैयार की जाए। इसके अलावा, सभी पुलिसकर्मी जो मौके पर मौजूद हैं, वे सोशल डिस्टेसिंग का पालन अवश्य करें। परंतु आवश्यक वस्तुओं की खरीद करने जा रहे आम लोगों को न रोकें और उन्हें पूरी चेकिंग के साथ आने-जाने दिया जाए।
... और पढ़ें

घर तक पहुंचेगी खाद्य सामग्री, तैयारियों में जुटा जिला प्रशासन

नारनौल। जिले में किराना स्टोर, सब्जी, दूध, दवाई या पशुचारा से संबंधित आवश्यक सामान की दुकानें खुली रहेंगी। आवश्यक वस्तुओं से संबंधित दुकानदार चाहे तो लगातार दुकान खोल सकता है। हर दुकानदार को इस बात के लिए पाबंद किया गया है कि वो अपनी दुकानों के आगे ग्राहक को कम से कम छह फीट की दूरी पर खड़ा होने का इंतजाम करें। सभी मास्क लगाएं व हाथ साफ रखें। इधर, जिला प्रशासन घर तक खाद्य सामग्री पहुंचाने की योजना पर काम कर रहा है।
यह जानकारी डीसी जगदीश शर्मा ने मुख्य सचिव के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से हुई बैठक के बाद साझा की। डीसी ने बताया कि सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुसार जिला प्रशासन एक या दो दिन में ऐसी व्यवस्था लागू करने जा रहा है। इससे लोगों को किसी भी प्रकार के समान के लिए बाहर निकलने की जरूरत नहीं पड़ेगी। हर मोहल्ले में आवश्यक वस्तुओं को लोगों तक पहुंचाने की योजना बनाई जा रही है। इसके लिए हर इलाके के लिए संपर्क नंबर जारी किए जाएंगे। हेफैड के ऑयल व दाल मिल लगातार चालू रहेंगी। पीडीएस की सप्लाई पहले की तरह ही रहेगी। इस दौरान डीएफएससी व जीएम हैफेड हर रोज खाद्य सामग्री पर नजर भी रखेंगे। उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि दुकान पर सामान लेने जाएं तो घर का एक ही सदस्य जाए। साथ ही अपने पड़ोस के नागरिकों को भी अगर किसी सामान की जरूरत है तो उसका भी सामान लाएं। उन्होंने स्पष्ट किया कि दुकानदारों को सैनिटाइजर से ग्राहकों के हाथ साफ करवाने होंगे साथ ही मास्क पहने रहना है।
सात थाना क्षेत्रों में ड्यूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त :
सरकार के आदेशों अनुसार कोरोना वायरस को लेकर देश में लॉकडाउन की घोषणा की गई है। जिलाधीश एवं डीसी जगदीश शर्मा ने एक आदेश पारित कर इस घोषणा को सख्ती से लागू करने के लिए जिले में सात थाना क्षेत्रों में ड्यूटी मजिस्ट्रेट लागू किए हैं। ड्यूटी मजिस्ट्रेट के अलावा संबंधित एसडीएम अपने क्षेत्र के ओवरऑल इंचार्ज होंगे। थाना शहर नारनौल पर नायब तहसीलदार रतनलाल को ड्यूटी मजिस्ट्रेट लगाया गया है। इसी प्रकार थाना सदर नारनौल पर प्रमोद कुमार बीडीपीओ, थाना कनीना पर देशबंधु बीडीपीओ, थाना महेंद्रगढ़ पर तहसीलदार विजय कुमार, थाना सतनाली पर प्रकाश वीर नायब तहसीलदार, थाना अटेली पर ओमप्रकाश बीडीपीओ व थाना नांगल चौधरी पर धर्मबीर बीडीपीओ को ड्यूटी मजिस्ट्रेट लगाया गया है।
कंट्रोल रूम का नंबर जारी
जिला प्रशासन ने लॉकडाउन के मद्देनजर जिले में कंट्रोल रूम का नंबर जारी किया है। कोई भी नागरिक 01282-251209 पर संपर्क कर सकता है। जिला राजस्व अधिकारी इस कंट्रोल नंबर के ओवरऑल इंचार्ज होंगे। इनके साथ एडीआईओ हरीश शर्मा नोडल अधिकारी होंगे। स्वस्थ्य से संबंधित जानकारी के लिए कंट्रोल नंबर 01282-250391 पर 24 घंटे सातों दिन कार्य करेगा। स्वास्थ्य विभाग की ओर से टोल फ्री नंबर 1075 तथा 108 व हेल्पलाइन नंबर 011-23978046 पर संपर्क कर सकते हैं।
विदेश से लौटे लोगों की जानकारी दें : ईओ
नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी अभय सिंह यादव ने लॉकडाउन के मद्देनजर सभी गणमान्य नागरिकों को पत्र जारी कर विदेश से आए नागरिकों को सूचना देने का आग्रह किया है। साथ ही अगर किसी वार्ड या मोहल्ले में कोई भी धार्मिक स्थल खुला पाया जाता है तो उसकी सूचना भी प्रशासन को दें। इसके अलावा लोगों को भी अपने स्तर पर घरों में रहने का आह्वान करें, ताकि महामारी से बचाव किया जा सके।
... और पढ़ें

उच्चत में खराब राशन वितरित करने पर बीपीएल कार्ड धारकों में रोष

खंड के गांव उच्चत में डिपो धारक द्वारा खराब राशन वितरित किए जाने की वजह से गांव के बीपीएल राशन उपभोक्ताओं में रोष है। एक तरफ सरकार ने लोगों को कोरोना वायरस से बचाने के लिए पूरे प्रदेश को बंद किया हुआ है। इधर, खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के अधिकारी खराब राशन लोगों में वितरित कर क्षेत्र में बीमारियों को बढ़ावा देने का कार्य कर रहे हैं।
ग्रामीण राजकुमार, हवा सिंह, देवेंद्र, रामपाल, रामचंद्र, निर्मला देवी, हरिओम, मुंशीराम, कमला, राजकुमार, धनपत, जोगेंद्र, रामपाल, रामनिवास, सुरेंद्र, राजपाल, रामकिशन, छोटूराम, सीताराम, मदनलाल, नरेंद्र, महेंद्र सिंह, विनोद कुमार, मुन्नी देवी, रामानंद व जगमाल सहित अन्य लोगों ने बताया कि डिपो धारक के द्वारा गांव में सड़ा-गला, खराब गेहूं वितरित किया जा रहा है। उन्होंने इस संबंध में उच्च अधिकारियों को भी कई बार शिकायत देकर अवगत करवा दिया है। लेकिन अभी तक अधिकारियों की तरफ से उन्हें केवल आश्वासन ही मिला है। ग्रामीणों का आरोप अधिकारी मिलीभगत कर अच्छे राशन को बेचकर अपनी जेब भर रहे हैं। गांव उच्चत में ग्रामीणों को पिछले दो-तीन माह से खराब राशन दिए जाने के चलते ग्रामीणों में संबंधित विभाग के प्रति रोष साफ देखा जा सकता है। ग्रामीणों ने अधिकारियों पर आरोप लगाते हुए कहा कि लिखित में शिकायत देकर अवगत करवाने के बाद भी उनकी समस्या का कोई समाधान नहीं किया जा रहा है। इससे ऐसा लगता है कि नीचे से लेकर ऊपर तक सभी अधिकारी, कर्मचारी आपस में मिले हुए हैं। इसका खामियाजा गरीब लोगों को भुगतना पड़ रहा है। लोगों ने कहा कि एक तरफ तो कोरोना वायरस की वजह से पूरा प्रदेश बंद है। वहीं राशन डिपो धारक द्वारा सही अनाज न दिए जाने की वजह से लोगों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीणों ने सरकार से मांग करते हुए उक्त लोगों के खिलाफ सख्त से सख्त करवाई करने की मांग की है। ताकि सभी लोगों को अच्छा, खाने लायक अनाज प्राप्त हो सके।
समस्या को लेकर बोले सरपंच और ग्रामीण
डिपो धारक द्वारा गांव में वितरित किया गया राशन खराब है। उसे इंसानों द्वारा खाना तो दूर की बात अगर पशुओं को भी डाला जाए तो पशु उसे खाने से बीमार हो सकते हैं। हमने विभाग से उपभोक्ताओं को अच्छा राशन उपलब्ध करवाने की मांग की है।
-ईश्वर सिंह, ग्रामीण।
-राशन वितरण में खराब राशन को लेकर मेरे पास कई बार शिकायत आ चुकी है। इस संबंध में मैंने लिखित में उच्च अधिकारियों को भी शिकायत देकर अवगत करवा दिया था। लेकिन अभी लोगों की इस समस्या का कोई समाधान नहीं हो पाया है।
- सरंपच महावीर, उच्चत।
विभाग से ही मेरे पास खराब गेहूं भेजा रहा है। इस संबंध में मैंनेे विभाग के अधिकारियों को भी अवगत करवा दिया था। राशन डालने आने वाले ठेकेदार, ड्राइवरों के द्वारा भी मनमानी की जा रही है। अधिकतर बार ठेकेदार बिना चेक करवाए भी ऐसे ही माल को उतार कर चले जाते हैं। मैं तो केवल आगे से आया हुआ राशन ही लोगों को वितरित कर रहा हूं।
-ईश्वर सिंह, डिपो धारक, उच्चत।
सभी डिपो धारकों को खराब राशन आने पर सूचना देने, खराब राशन वितरित न करने के निर्देश दिए हुए हैं। अगर किसी डिपो धारक के पास खराब राशन गया है तो उसे बदलवा दिया जाएगा।
- ध्यान सिंह, इंस्पेक्टर, खाद्य एवं आपूर्ति विभाग, कनीना।
... और पढ़ें

चूजे-मुर्गियों को पिकअप में भरकर नांगल मोहनपुर की बणी में छोड़ा

कोरोना कोविड-19 के चलते खपत नहीं होने के चलते अज्ञात पोल्ट्री फार्म संचालक शनिवार रात मुर्गियों की पिकअप भरकर उन्हें नांगल मोहनपुर गांव की बणी में छोड़कर फरार हो गया। कई मुर्गियां बीमार हालात में थी। जिनसे गांव में महामारी फैलने की संभावना बन गई। सुबह होने पर मुर्गियां इधर-उधर घूम रही थी। खेतों में जाने वाले किसानों ने मुर्गी-चूजे देखे तो गांव के सरपंच को सूचना दी। किसान रोशन लाल ने बताया कि कुत्ते मुर्गियों को मार रहे थे।
एसडीएम कनीना रणबीर सिंह को दी गई। किसान ने बताया कि करीब 300 मुर्गियों को छोड़ा गया है। पोल्ट्री फार्म संचालक की तलाश करने के लिय टीम का गठन किया। जो मौके पर जाकर जांच कार्रवाई में जुट गई। मुर्गियों को लावारिश छोड़ने वाले की पहचान की जाएगी। सभी पोल्ट्री फार्म संचालकों को नोटिस दिये जाएंगे।
सतनाली में 250 मृत मुर्गे फेंक गए
सतनाली मंडी। रविवार की सुबह कस्बे के आईटीआई के सामने खुले मैदान में कोई व्यक्ति करीब 250 मृत मुर्गे फेंक कर फरार हो गया। भारी मात्रा में मृत मुर्गे पड़े होने से आसपास बदबू फैल गई। खेतों में जा रहे लोगों की नजर पड़ी तो उन्होंने इसकी सूचना सरपंच को दी। सरपंच प्रतिनिधि होशियार सिंह उर्फ ढिल्लु शेखावत ने बताया कि चिकित्सक और पुलिस को सूचित किया। आवश्यक कार्रवाई के उपरांत मृत मुर्गी-मुर्गों को गड्ढा खुदवाकर नमक और केमिकल डालकर दफनाया गया।
... और पढ़ें
नांगल मोहनपुर की बणी में छोड़ी गई मुर्गियां। नांगल मोहनपुर की बणी में छोड़ी गई मुर्गियां।

जानिये, कहां और कैसे मिल सकती है सहायता और जानकारी

कोरोना वायरस के कारण जिला लॉकडाउन है। ऐसे में पूरा बाजार बंद है और जरूरत की दुकानें ही खुली हैं। ऐसे अमर उजाला आपके लिए जिले के जरूरी नंबरों व जानकारी दे रहा है। जिससे जरूरत के समय आप इसका लाभ उठा सके।
सर्दी-जुकाम होने पर कहां जाएं
जिला नागरिक अस्पताल में फ्लू कार्नर की ओपीडी रोजाना चल रही है। यहां पर सुबह आठ बजे से शाम छह बजे तक कोई भी सर्दी-जुकाम, खांसी और बुखार का मरीज डॉक्टरों को दिखा सकता है।
सामान्य बीमारी पर कहां जाए, मेडिकल इमरजेंसी पर कहां संपर्क करें
स्वास्थ्य संबंधी समस्या होने पर पास के स्वास्थ्य केंद्र पर संपर्क करें। जीएच में सामान्य बीमारी की ओपीडी बंद है। गायनी व बच्चों की ओडीपी चल रही है। इमरजेंसी होने पर कभी भी अस्पताल आ सकते हैं। हेल्पलाइन नंबर 01282-250391 पर जानकारी ले सकते हैं।
कोरोना के लक्षण होने पर कहां जाएं, इसकी जांच कहां होगी
यदि आपको कोरोना से संबंधित कोई लक्षण लगता है तो नागरिक अस्पताल पहुंचे। डॉक्टर स्वास्थ्य जांच के बाद सैंपल लेंगे और कोरोना आइसोलेशन वार्ड में रहेंगे। यदि विदेश से लौटे हैं तो खुद 14 दिन क्वारंटीन में रहे। ऐसे लोगों की स्वास्थ्य की जांच विभाग की टीम करती रहती है। कोरोना के लिए 9306754767 पर संपर्क करें।
दूध, सब्जी व फल कहां उपलब्ध है
शहर के सभी डेयरी सेंटर खुले हैं। रेवाड़ी रोड स्थित वीटा का सेंटर है। फल व सब्जियों की मंडी नई अनाजमंडी नांगल चौधरी रोड पर है। यहां से किसी भी वक्त सब्जी व फल ले सकते हैं। इसके अलावा नारनौल मार्केट कमेेटी ने पूरे शहर को 12 जोन बनाकर रेहड़ी वालों को लाइसेंस दिया है, जो गली में सब्जी व फल बेच रहे हैं। कोई समस्या हो तो सतनाली व महेंद्रगढ़ के लिए 9466349947, नारनौल व नांगल चौधरी के लिए 9416417857, अटेली 8168765696 व कनीना 9813177879 मोबाइल पर संपर्क करें।
जिले में रुकने का इंतजाम कहां है और क्या करना होगा
जिले में सामान्य अस्पताल व बस स्टैंड नारनौल, अटेली में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, नांगल चौधरी में बैजनाथ कॉम्पलेक्स, महेंद्रगढ़ व कनीना में नपा कार्यालय को अस्थाई रूप से रैन बसेरा बना है। यहां पहुंचने पर संबंधित विभाग को सोने व खाने का इंतजाम है। कोई कागजी कार्रवाई की जरूरत नहीं है। इसके लिए नप नारनौल के ईओ अभय सिंह यादव के मोबाइल 9416216410 पर संपर्क करें।
प्रश्न : लॉकडाउन के दौरान पास कहां से बनेगा
उत्तर : सरल पोर्टल के माध्यम से मूवमेंट पास जारी होगा। इसके लिए सरल केंद्र पर जाना होगा या ऑनलाइन खुद मोबाइल पर पंजीकरण कराएं। कोई परेशानी हो तो एडीसी के मोबाइल 9812220009 पर संपर्क करें। साथ ही महेंद्रगढ़ एसडीएम के 8307250414, एसडीएम नारनौल के 8684853009 व एसडीएम कनीना के मोबाइल 7015194283 भी फोन कर जरूरी जानकारी ले सकते हैं। आवश्यक सेवाओं के कर्मचारियों के पास नगराधीश करेंगे। उनका मोबाइल 8620000004 हैं।
कुछ अन्य महत्वपूर्ण नंबर
पेंशन के लिए 7015975523
पशु चारा से संबंधित 9416086 998
खाद, बीज व दवाई 9416446457
दवा छिड़काव 9467257933
आंगनवाड़ी सेंटर 9671284402
भोजन के लिए 9812831111
कंट्रोल रूम का नंबर 01282-251209
स्वास्थ्य से संबंधित जानकारी 01282-250391,1075,108
... और पढ़ें

लॉकडाउन के दौरान चार दिन में 12.90 लाख के चालान कांटे

लॉकडाउन के दौरान ट्रैफिक पुलिस ने 12 लाख 90 हजार रुपये का चालान कर चुकी है। इसके साथ ही 33 वाहनों को इंपाउंड किया है।
ट्रैफिक एसएचओ राजकुमार कौशिक ने बताया की लॉकडाउन के चलते पुलिस नाका लगाकर वाहनों की जांच की जा रही है। उन्होंने बताया कि छह दिन में करीब 12 लाख रुपये का चालान किया गया है। राजकुमार ने बताया कि लोगों को समझाया भी जा रहा है कि लॉकडाउन में घर से बाहर न निकले। पुलिस की टीम ऐसे लोगों को समझा रही है। नहीं मानने पर चालान भी कर रही है।
एसपी सुलोचना गजराज के निर्देशानुसार वाहनों की जांच करने के बाद ही जाने दिया जा रहा है। रविवार को ट्रैफिक थाना प्रभारी राज कुमार ने 19 वाहनों के चालान कर एक लाख 41 हजार रुपये का जुर्माना किया है। लॉकडाउन के आदेश होने के बाद बिना वजह सड़कों पर घूमने वाले वाहनों पर ट्रैफिक पुलिस सख्ती बरत रही हैं। पुलिस ने पिछले चार दिनों में चालान कर 12 लाख 90 हजार जुर्माना वसूला है।
... और पढ़ें

सब्जी मंडी में नहीं होगी भीड़, रेहड़ी चालकों को जारी किए जाएंगे पास

सब्जी मंडी की भीड़ को कम करने के लिए मार्केट कमेटी की ओर से रेहड़ी चालकों को पास दिए जाएंगे। पास के अनुसार उन्हें रेहड़ी लगानी होगी। पास में लिखा रहेगा कि कब और कहां रेहड़ी लगानी है। उसके बाद भी रेहड़ी चालक कोई गलती करता है तो उसको मार्केट कमेटी की ओर से नोटिस जारी किया जाएगा। सब्जी की कालाबाजारी रोकने के लिए प्रतिदिन रेहड़ी चालक को अपनी रेहड़ी पर रेट लिस्ट लगानी होगी।
शनिवार को पुलिस अधीक्षक सुलोचना गजराज ने लॉकडाउन के हालात जानने के लिए महेंद्रगढ़ शहर का मुआयना किया। उन्होंने सब्जी मंडी, नाके, बाजार आदि का निरीक्षण किया। उन्होंने सब्जी मंडी एसोसिएशन के प्रधान सूरत सिंह को भी मौके पर बुलाया। मंडी में व्यवस्था बनाए रखने के लिए आदेश दिए। एसपी ने निर्देश दिए कि मंडी में केवल आढ़ती दुकान खोल सकेंगे। रेहड़ी चालक निर्धारित जगहों पर ही सब्जी बेचेंगे। अगर रेहड़ी चालक तय स्थान पर रेहड़ी नहीं लगाते मिले तो इसके लिए मंडी प्रधान को जिम्मेवार माना जाएगा। उनको नोटिस जारी कर जवाब मांगा जाएगा। एक सिस्टम बनाकर काम किया जाए ताकि लोगों को परेशानी न आए। एसपी सुलोचना गजराज ने कहा मेरे पास सब्जी में कालाबाजारी होने की शिकायत आ रही हैं।
रविवार से सभी रेहड़ी चालक अपनी रेट लिस्ट अपडेट कर रेहड़ी के आगे चस्पा करेंगे। उसी कीमत पर सब्जी बेचेंगे। कोई भी सब्जी विक्रेता, दुकानदार कालाबाजारी करता मिला तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। एसपी ने देवीलाल पार्क की सफाई करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने एसडीएम विश्राम कुमार मीणा और डीएसपी को निर्देश दिए कि रेहड़ी तय स्थान पर ही लगनी चाहिए। सामान खरीदने वाले ग्राहक रेहड़ी के आगे एक मीटर का फासला बनाकर लाइन में खड़े हों।
नाकों की संख्या बढ़ाई जाए
पुलिस अधीक्षक सुलोचना गजराज ने डीएसपी को निर्देश दिए कि सब्जी मंडी के दोनों गेट पर पुलिस की ड्यूटी लगाई जाए ताकि थोक व्यापारी के अलावा कोई अन्य नहीं घुस सके। शहर, बाजार में नाकों की संख्या बढ़ाई जाए। रविवार को राव तुलाराम चौक, माजरा चुंगी, बालाजी चौक पर भी नाके होंगे। बिना हेलमेट, बिना नंबर प्लेट की गाड़ी को तुरंत जब्त करें। नियम तोड़ने वालों के चालान भी करें। बिना ठोस कारण सड़क पर घूमते मिलने वालों पर मामला दर्ज किया जाए।
तीन स्थानों पर बिकेंगी सब्जी
तीन दिन पहले प्रशासन की ओर से फल और सब्जी की रेहड़ी लगाने के लिए आंबेडकर चौक, देवीलाल पार्क और पुलिस परेड ग्राउंड स्थान निर्धारित किए थे। सभी रेहड़ी चालक देवीलाल पार्क में ही सब्जी बेच रहे हैं । जिससे वहां भीड़ लग जाती है। देवीलाल पार्क का दौरा करने के बाद पुलिस अधीक्षक ने 30-30 रेहड़ियां निर्धारित स्थानों पर लगाने के निर्देश दिए। अगर नहीं मानते हैं तो उनको नोटिस जारी किया जाए।
... और पढ़ें

कोरोना को हराने के लिए चौराहों पर मुस्तैद नारी शक्ति

लॉकडाउन के दौरान सब्जी मंडी में लगी भीड़।
कोरोना वायरस को लेकर जिले में लॉकडाउन है। शहर की सड़कों पर सन्नाटा पसरा है। लेकिन खाकी वर्दी पहने नारी शक्ति परिवार की चिंता न करते हुए अपनी ड्यूटी पर लोगों की सेवा कर रही हैं। उनका कहना है कि परिवार के साथ समाज सेवा में भी पीछे नहीं है। कोरोना को हराने के लिए हम सभी को मिलकर लड़ना होगा। सभी लोगों से अपील है कि घर में रहे और बेवजह बाहर न आए। पुलिस व प्रशासन की ओर से जारी हिदायतों का पालन करें। जिससे इस महामारी को काबू किया जा सके।
लोगों को लॉकडाउन में घर सें नहीं निकलना चाहिए। कई बार लोग बिना कारण घर से बाहर मिलते हैं। ऐसा न हो कि दिन भर घर में तो सुरक्षित रहें और शाम को भीड़ में शामिल होकर अंजाने में संक्रमण साथ लेकर घर पहुंच जाए। ऐसे में सभी को अपने घर में रहना चाहिए। बाजार में सामाने लेने जाए तो एक मीटर की दूरी बनाकर रखें।
शारदा देवी, एसआई
कोरोना वायरस से बचाव के लिए लोगों को सलाह दी जा रही कि घर से न निकले। कई बार लोग इसे मानते भी नहीं है और सड़क पर आ जाते हैं। बेहतर होगा की लॉकडाउन का पालन कर घर में ही रहे। विभाग से जो जिम्मेदारी मिली है, इसे पूरी ईमानदारी से किया जा रहा है। करोना वायरस को पूरे जज्बे के साथ हराना है।
-शकुंतला देवी, एएसआई
हम सभी मिलकर करोना वायरस को हरा सकते हैं। अगर हम डर गए तो इसको हराएगा कौन लेकिन लोगों को जागरूकता में रहकर इसका मुकाबला करना चाहिए। सभी लोग अपने घरों में रहे और पुलिस का सहयोग करें। परिवार के साथ अपनी ड्यूटी को भी निभा रही हूं।
कविता, पुलिस कर्मी
कोरोना वायरस में ड्यूटी होने के कारण लोगों में जागरूकता लाने का भी काम कर रही हूं। इस कार्य में नारी शक्ति भी अपनी पूरी जिम्मेदारी निभा रही है। इसलिए घर के कार्य के साथ इस संकट के घड़ी में सड़क पर रहकर ड्यूटी हो रही है। लोगों से अपील हैं कि इस संकट की घड़ी में लॉकडाउन को सफल बनाने में सहयोग दें।
नीलम, पुलिस कर्मी
... और पढ़ें

प्रवासी मजदूरों को पड़े रोजी रोटी के लाले, भूखे-प्यासे पैदल लौटने को हुए मजबूर

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के कारण प्रवासी श्रमिकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। लॉकडाउन के कारण प्रवासी मजदूर पैदल ही अपने गंतव्य स्थान पर पहुंच रहे हैं। प्रशासन द्वारा ऐसे मजदूरों को रहने व खाने पीने का कोई प्रबंध नहीं है। जिससे प्रवासी मजदूर भूखे प्यासे पैदल ही अपने घरों को लौट रहे हैं।
क्षेत्र में इन दिनों नेशनल हाईवे के निर्माण कार्य समेत अन्य प्रोजेक्ट पर काम चल रहा था। इसके अलावा फसल की कटाई कार्य के चलते यूपी, मध्य प्रदेश, बिहार व राजस्थान से मजदूर आते हैं। फसल कटाई का फरवरी के अंत से शुरू होकर अप्रैल तक चलता है। ये मजदूर सरसों व गेहूं फसल की कटाई के बाद लौटते हैं। कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर इन मजदूरों को मजदूरी नहीं मिल रही है। ये मजदूर पूरे परिवार के साथ मजदूरी करने के लिए निकलते हैं। किसान खुद अपने परिवार के साथ फसल कटाई में लगा है। जिससे इन मजदूरों को मजदूरी न मिलने के कारण रोजी-रोटी का संकट पैदा हो गया है।
दूसरी ओर रेवाड़ी-नारनौल एनएच, नांगल चौधरी से पटीकरा बार्डर तक एनएच, ग्रीन कोरिडोर व मेडिकल कॉलेज के निर्माण कार्य को लेकर हजारों की संख्या में श्रमिक अन्य राज्यों से आए हैं। कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए लॉकडाउन से अचानक काम बंद हो गया है। श्रमिकों ने बताया कि नारनौल-नांगल चौधरी हाईवे पर कार्य कर रहे थे। 21 दिन तक काम बंद होने से ठेकेदार ने हाथ खड़े कर दिए। इससे उन्हें अपने गांव जाने के अलावा कोई रास्ता नहीं है। करीब एक दर्जन श्रमिक शुक्रवार की रात निजामपुर से पैदल नारनौल पहुंचे।
महावीर चौक पर श्रमिकों ने बताया कि दिल्ली के बाद उन्हें सहारनपुर (यूपी) जाना है। ऐसे में रातभर पैदल चलकर दिल्ली पहुंचेंगे। दूसरी ओर राजस्थान व गुजरात के श्रमिक भी पैदल अपने गांव जाने को मजबूर हैं। हालांकि इन श्रमिकों को कुछ लोगों ने खाना देखकर मदद की। लेकिन रुकने के इंतजाम न होने से उन्हें जाना पड़ा।
मकान मालिक किराये का बना रहे थे दबाव
दिल्ली में एक आईटी कंपनी में कार्यरत वैभव ने बताया कि कंपनी बंद है। मकान मालिक किराए के लिए दबाव बना रहे थे। ऐसे में सामान दोस्त के कमरे में रखकर शुक्रवार शाम को दिल्ली से चला था। उन्होंने बताया कि बीच में लिफ्ट लेकर सुबह नारनौल पहुंचा हूं। अब पिलानी जाने के लिए किसी की मदद का इंतजार कर रहा हूं। सूरत से एक व्यक्ति अटेली शुक्रवार की रात दस बजे पहुंचा।
सूरत से बैदल और ट्रक के सहारे पहुंचा
हीरो होंडा चौक पर युवक ने बताया सूरत में भी अनिश्चितता का माहौल है। ट्रक व पैदल चलकर नारनौल तक पहुंचा हूं। युवक ने अस्पताल में अपनी जांच कराने के बाद गांव जाने का फैसला लिया। अमरजीत, अशोक व कबूल समेत अन्य ने बताया कि ईंट भट्ठा बंद होने से अजमेर राजस्थान पैदल जा रहे हैं। उनका कहना है कि ठेकेदार ने मदद करने से हाथ खड़ा कर दिया है।
लोगों की सुविधा के लिए 24 घंटे खुले रहेंगे छह रैन बसेरे : डीसी
कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन के कारण गरीब व यात्रा के दौरान फंसे हुए लोगों व मजदूरों की सहायता के लिए जिला के विभिन्न स्थानों पर अस्थाई रैन बसेरे की व्यवस्था की गई है। लोगों की सुविधा के लिए ये रैन बसेरे 24 घंटे खुले रहेंगे। डीसी जगदीश शर्मा ने बताया कि नारनौल के सामान्य अस्पताल व बस स्टैंड व अटेली में सामान्य सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में व्यवस्था की गई है। वही नांगल चौधरी में बैजनाथ कॉम्पलेक्स, महेंद्रगढ़ व कनीना में नगर पालिका कार्यालय को अस्थाई रूप से रैन बसेरा बनाया गया है। इसके लिए नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी अभय सिंह यादव को नोडल अधिकारी बनाया गया है। कोई भी नागरिक मोबाइल नंबर 9416216410 पर संपर्क कर सकता है। रैन बसेरा के अतिरिक्त जिला में स्थित धर्मशाला में भी जरूरतमंदों के लिए रात को ठहरने का प्रबंध किया गया है। इस आपदा की घड़ी में प्रशासन को समाजसेवियों से भी पूरा सहयोग मिल रहा है। उन्होंने कहा कि प्रशासन द्वारा हर संभव प्रयास किया जा रहा है कि किसी भी व्यक्ति को खाने व रहने की कोई दिक्कत न हो।
शुक्रवार की शाम को कई श्रमिकों को खाना उपलब्ध कराया गया था। जरूरतमंदों को आगे भी खाना उपलब्ध कराया जाएगा। इसके साथ ही शहर में कई सामाजिक संगठन इस कार्य में लगे हैं। आपदा के समय लोगों को गरीबों की मदद करनी चाहिए।
भारती सैनी, चेयरपर्सन नप
... और पढ़ें

ये हैं अपराजिता: बिना डरे रख रहीं लोगों की सेहत का ख्याल

कोरोना वायरस से लड़ाई में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए नारी शक्ति अहम रोल अदा कर रही है। बिना अपनी जान की परवाह किए स्वास्थ्य सेवाओं में जुटी महिलाएं मरीजों के स्वास्थ्य का पूरी तरह से ख्याल रखने में जुटी हैं।
कोरोना की रोकथाम के लिए प्रधानमंत्री के आदेश पर पूरे देश में लॉकडाउन जारी है। इसके चलते लोग घरों में बंद हैं। हर किसी की अपनी जान की परवाह है। लेकिन, स्वास्थ्यकर्मी अपनी सेहत की परवाह न करते हुए दिन-रात ड्यूटी कर रहे हैं। हालांकि उनकी समस्याओं को देखते हुए जीएच प्रबंधन ने प्रशासन से पास जारी करने को कहा है, ताकि लॉकडाउन में कोई बीच में न रोके।
हम ही डरेंगे तो संभालेगा कौन
नागरिक अस्पताल में ड्यूटी है। अगर कोरोना वायरस से ही हम डर जाएंगे तो लोगों की सेहत का कौन ख्याल रखेगा। हम पूरी सतर्कता के साथ हम नियमित सेवाएं दे रहे हैं। कोरोना संक्रमण से डरने की बजाय डॉक्टरों द्वारा दिशा-निर्देशों का पालन करें। खांसी व बुखार की शिकायत पर तुरंत डाक्टर की सलाह लें। बेवजह घर से न निकलें और घर में ही रहें।
- राजबाला, नर्सिंग सिस्टर।
कोरोना से लड़ाई में हम देंगे साथ
कोरोना से लड़ाई में पूरा देश लड़ रहा है। आखिर हम क्यों पीछे रहें। हम पूरी जिम्मेदारी से अस्पताल आ रहे हैं। इमरजेंसी मरीजों को इलाज सुविधा मुहैया करा रहे हैं। करोना किसी को भी हो सकता है। हम पूरी निष्ठा के साथ ड्यूटी करने को आ रहे है। गायनी वार्ड को भी बखूबी संचालित किया जा रहा है। बेहतर होगा कि लोग घर में रहे और लॉकडाउन का पालन करें।
- कृष्णा, मैट्रन।
ड्यूटी करना मेरा कर्तव्य
स्वास्थ्य सेवाएं महत्वपूर्ण हैं और यही मेरी ड्यूटी है। किसी भी महिला को दिक्कत न हो इसलिए प्रतिदिन आती हूं। लॉकडाउन है, वाहन नहीं मिलते। अपने कर्तव्य को निभाने के लिए बगैर किसी छुट्टी के प्रतिदिन ड्यूटी कर रही हूं। लोग सरकार का सहयोग करें और घर में रहे। जरूरी हो तो ही घर से बाहर निकलें। जीएच प्रबंधन लोगों के हेल्थ को लेकर गंभीर है। यहां जरूरी होने पर ही आएं।
- सुरेश, नर्सिंग सिस्टर।
हम अस्पताल में करते हैं सेवा
सैनिक बार्डर पर हमारी रक्षा करते हैं। हम अस्पताल में रहकर लोगों की जान बचाने में लगे रहते हैं। अस्पताल में आने वाले व्यक्ति स्वस्थ्य होकर जाए हम पूरा योगदान करते हैं। हम नियमित स्वास्थ्य सेवाओं में अपना योगदान देते रहेंगे। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए बचाव करना चाहिए। भीड़भाड़ वाली जगहों से जाने से बचे। जीएच लोगों की सेवा के लिए पूरी तैयारी किए हुए हैं।
-कुसुम, इंफेक्शन कंट्रोल नर्स।
... और पढ़ें

पचास किलो के कट्टे में दे रहा था 45 किलो आटा, केस दर्ज

लॉकडाउन के चलते शहर में खाद्य पदार्थों की कालाबाजारी करने का पहला मामला सामने आया है। शिकायत पर सिटी थाना पुलिस ने आरोपी पर धोखाधड़ी समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज कर लिया है।
मिली जानकारी के अनुसार वीरवार की शाम करीब छह बजे खाद्य एवं आपूर्ति को सूचना मिली कि फर्म हरिराम गौरव कुमार द्वारा आटे की कालाबाजारी की जा रही है। आरोपी 50 किलोग्राम आटा बैग में 45 किलोग्राम ही आटा लोगों को दे रहा है। जबकि पैसे 50 किलोग्राम का ले रहा है। सूचना मिलने पर खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के उपनिरीक्षक सतबीर सिंह गोदाम पर पहुंचे। जहां ग्राहक को बेचे गए 50 किलोग्राम वजन वाले आटा बैग का वजन किया गया तो उसमें 45 किलोग्राम वजन मिला। इसकी सूचना सिटी थाना पुलिस को दी। सूचना मिलने पर पुलिस ने गोदाम पर पहुंच उपनिरीक्षक की मौजूदगी में शिकायतकर्ता के बयान दर्ज किए।
पीड़ित छतरपुर (मध्यप्रदेश) निवासी श्यामलाल जो की अभी हुडा सेक्टर में रहता है। पीड़ित ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि हरिराम गौरव कुमार के गोदाम से 50 किलोग्राम का आटे का बैग खरीदा है। जब वह बैग को घर पर लेजाकर तौला तो 45 किलो का मिला। इस प्रकार आरोपी ने उससे 50 किलोग्राम आटे के पैसे लेकर 45 किलोग्राम आटा दिया है। पुलिस ने श्यामलाल की शिकायत पर हरिराम गौरव कुमार फर्म के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम-1955 का उल्लंघन करने व आईपीसी की धारा 420 के तहत केस दर्ज कर कार्रवाई शुरु कर दी है। थाना प्रभारी संतोष कुमार ने बताया कि आरोपी पूरे पैसे लेकर कम आटा दे रहा था। केस दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है। पीड़ित परिवार उसी दुकान से पहले भी सामान लेता रहा है। लॉकडाउन के दौरान आरोपी ने अधिक पैसे लिए।
... और पढ़ें

विदेश से लौटे 86 लोगों में से पांच को होम क्वारंटीन से मिली छूट

जिले में विदेश से लौटे नागरिकों की संख्या अब 86 पहुंच गई है। ऐसे लोगों पर स्वास्थ्य विभाग नजर रखे हुए हैं और सभी स्वस्थ है। पांच लोगों को होम क्वारंटीन से छूट मिल गई है। इसके बाद अब विभाग की नजर में 81 लोगों पर है। दूसरी ओर विभाग 100 बेड के आइसोलेशन वार्ड बनाने की तैयारी में जुट गया है।
सीएमओ डॉ. अशोक कुमार ने बताया कि जिले में अभी तक 86 ऐसे लोग थे जो विदेश से लौटे हैं। उन्होंने बताया कि सभी के घरों के बाहर होम क्वांटरीन का बोर्ड लगवाया गया है। इसमें पांच लोगों ने 14 दिन का होम क्वांटरीन पूरा कर लिया है। अब उन्हें इससे छूट दी जा चुकी है। उन्होंने बताया कि अब 81 पर नजर रखी जा रही है। जिले में 23 बेड का आइसोलेशन वार्ड बनाए जाने की तैयारी है। इसके लिए जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं।
74 की हुई स्क्रीनिंग
जिला नागरिक अस्पताल के डिप्टी एमएस डॉ. राजेश कुमार ने बताया कि शुक्रवार को 74 मरीजों की फ्लू कार्नर में स्क्रीनिंग की गई। अस्पताल में गायनी व बच्चों की ही ओपीडी चल रही है। दूसरी ओर लगातार अब फ्लू वार्ड में आने वालों की संख्या कम हो रही है। पहले ओपीडी 200 रहती थी।
... और पढ़ें

पिकअप में मिली 570 बोतल शराब

कनीना थाना पुलिस ने गश्त के दौरान एक पिकअप को शराब ले जाते काबू किया है। जिसमें 570 बोतल शराब बरामद हुई। पुलिस ने आबकारी विभाग ने कार्रवाई करते हुए गिरफ्तार किया। बाद में उसे रिहा कर दिया गया।
प्रदेश सरकार ने वीरवार रात 12 बजे से शराब ठेके बंद करने के निर्देश दिए थे। पुलिस ने रात से ही शराब ठेकों को निर्देश दे दिए थे। पुलिस ने कोरोना के चलते अलग अलग एरिया में नाके लगाए हैं। आधी रात पुलिस ने कनीना-अटेली सड़क मार्ग पर नांगल मोड़ के पास इसराना की ओर से आ रही पिकअप को रुकवाया। पुलिस कर्मियों ने रुकवाया तो उसमें शराब भरी थी। पिकअप चालक गांव ककराला निवासी बच्चन सिंह को वाहन सहित कब्जे में लिया। पुलिस ने इस बारे में नारनौल स्थित आबकारी निरीक्षक दलीप सिंह को सूचना दी। जिस पर उन्होंने मौके पर पहुंचकर शराब की बोतल की गिनती तो कुल मिलकार 570 बोतल, 47 पेटी शराब मिली। जिसमें 1300 पव्वा सहित देसी, अंग्रेजी, बीयर शामिल थी। थाने में कागजी कार्रवाई पूरी करने के बाद आबकारी निरीक्षक दलीप सिंह पिकअप डाले सहित शराब को अपने कस्टडी में ले गए। आरोपी के खिलाफ आबकारी अधिनियम के तहत केस दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया। जिसे बाद में जमानत पर रिहा कर दिया गया।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us