टोल प्लाजा पर छूट न देने के विरोध में ग्रामीणों ने एनएचएआई के खिलाफ किया प्रदर्शन

Panchkula bureauपंचकुला ब्‍यूरो Updated Thu, 05 Mar 2020 02:12 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
बरवाला। राष्ट्रीय राजमार्ग-73 पर स्थित बरवाला के गांव नग्गल स्थित टोल प्लाजा पर बुधवार को टोल फीस कटनी शुरू हो गई। इस टोल प्लाजा पर कस्बा बरवाला व स्थानीय गांवों के लोगों को एनएचएआई द्वारा छूट न दिए जाने को लेकर सैकड़ों ग्रामीणों ने एकजुट होकर एनएचएआई के खिलाफ प्रदर्शन किया।
विज्ञापन

इस मौके पर जलौली वासी पुष्पिन्द्र राणा, संजीव कुमार, रणदीप राणा, धर्मपाल, किसान यूनियन के जिला प्रधान गोपाल राणा खटौली, जगदीप सिंह, अनिल शर्मा भरैली, राजबीर राणा बतौड़, फकीर चंद, देवेन्द्र शमारबढ, राजीव, मलकीत, बलविन्द्र सिंह, राहुल, लवली आदि ने कहा कि स्थानीय लोगों को इस टोल प्लाजा पर कोई राहत नहीं दी गई है। उन्होंने आरोप लगाया कि जिस प्रकार से टोल प्रबंधन स्थानीय लोग के टोल पास बनाने के लिए वाहन की आरसी और आधार में एक ही नाम होने की शर्त लगा रहा है, यह बिलकुल आधारहीन है और स्थानीय लोगों के पास एक ही आईडी पर बनने चाहिए व स्थानीय लोगों को टोल पर किसी प्रकार की परेशानी नहीं होनी चाहिए।
ग्रामीणों ने आरोप लगाते हुए कहा कि इस टोल पर कार की वन साइड की पर्ची 85 रुपए रखी गई है जो राज्य के अन्य टोल प्लाजों से काफी अधिक है। इसको लेकर भी ग्रामीणों में रोष है। टोल पर ग्रामीणों द्वारा रोष जताने पर बरवाला पुलिस चौकी इंचार्ज अपनी पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे। वहीं ग्रामीणों ने बताया कि वे वीरवार को इकट्ठे होकर अपनी इस समस्या को लेकर विधानसभा स्पीकर ज्ञान चंद गुप्ता व जिला उपायुक्त पंचकूला से मिलेंगे।
10 किलोमीटर तक के लोगों को टोल में छूट की मांग
लोगों की मांग की है कि जलौली, नग्गल, बरवाला, बतौड़, खटौली, भरैली, अलीपुर आदि गांवों के लोगों को करीब 10 किलोमीटर तक टोल में छूट दी जानी चाहिए। ग्रामीणों ने यह भी कहा कि स्थानीय लोगों के टोल के दोनों ओर खेत लगते हैं जिससे किसानों को अपने खेतों में आना जाना भी लगा रहता है ऐसे में यदि किसान इस प्रकार से टोल देकर अपनी जेब कटवाता रहा तो किसान आर्थिक रूप से बेहद कमजोर हो जाएगा। वहीं क्षेत्र के लोगों ने कहा कि अभी एनएचएआई का निर्माण कार्य भी पूरा नहीं हुआ तो एनएचएआई विभाग द्वारा बिना निर्माण कार्य पूरा हुए व वाहन चालकों को पर्याप्त सुविधाएं न मिलने से पहले ही यहां पर टोल फीस काटनी शुरू कर दी। वहीं इस टोल पर आज पहले दिन ही वाहनों की लंबी-लंबी लाइनें लगी रहीं और टोल से गुजरने वाले वाहन चालकों को बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ा।
क्या कहना है लोगों का
बरवाला वासी ग्रामीण रणदीप राणा ने बताया कि एनएचएआई विभाग द्वारा गांव नग्गल के पास जो टोल लगाया गया है उस पर बुधवार से टोल फीस लगनी शुरू हो गई है जो सरासर गलत है जबकि अभी नेशनल हाईवे का निर्माण कार्य अधूरा पड़ा है और न ही वाहन चालकों को अभी हाईवे की पर्याप्त सुविधा मिल पा रही है।
भरैली वासी ग्रामीण अनिल शर्मा ने बताया कि एनएचएआई की ओर से स्थानीय ग्रामीणों व लोगों को टोल फीस में कोई छूट नहीं दी गई है। उन्होंने मांग की है कि एनएचएआई विभाग को स्थानीय लोगों को इस टोल पर छूट देनी चाहिए।
बरवाला पंचायत सदस्य गुरजीत सिंह ने बताया कि जिला पंचकूला में एनएचएआई द्वारा दो टोल प्लाजा लगाकर ग्रामीणों व लोगों के परेशानी खड़ी कर दी है जबकि एक ही जिले में दो जगह टोल लगाना ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि अगर बरवाला से कालका जाना हो तो उनको दो टोल देने पड़ेंगे, उनका इतना पेट्रोल नहीं लगेगा जितना पैसा उनको टोल में देना पड़ेगा।
जलौली वासी पुष्पिन्द्र राणा ने बताया कि जिस प्रकार हरियाणा के घरौंडा के टोल प्लाजा पर वहां के स्थानीय लोगों को करीब 10 किलोमीटर तक छूट दी हुई है उसी प्रकार हमें भी इस टोल पर 10 किलोमीटर तक की छूट दी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि किसानों के ट्रैक्टर ट्राली को भी छूट दी जानी चाहिए और उन्हें टोल पर किसी तरह की परेशानी न हो।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us