विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus: हरियाणा में अब कुल मरीज 24, सात ठीक होकर घर पहुंचे, 187 की रिपोर्ट बाकी

हरियाणा में शुक्रवार को तीन नए केस मिले। इसके बाद प्रदेश में अब कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या अब 24 हो गई है।

31 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

पंचकूला

मंगलवार, 31 मार्च 2020

मजदूर करने लगे पलायन, ठेकेदार पर केस दर्ज

पंचकूला। जिले में लॉकडाउन की स्थिति होने के बावजूद सोमवार को गांव नग्गल के पास पुलिस नाके पर कुछ प्रवासी मजदूर पलायन करते समय पकड़े गए। पूछताछ में मजदूरों ने पुलिस को बताया कि वे गांव टोका में डॉग केयर सेंटर में मजदूरी का काम करते हैं। उनके ठेकेदार अजय राणा ने उनके लिए रोटी-पानी आदि मूलभूत सुविधाओं का प्रबंध नहीं किया है। मजबूरी के कारण उन्हें सामान सहित पलायन करना पड़ रहा है। पुलिस ने पाया कि आरोपी ठेकेदार अजय राणा ने मजदूरों को मूलभूत सुविधाएं न देकर और उन्हें एकसाथ भेजकर धारा 144 की अवहेलना की है। इस कारण थाना चंडी मंदिर पुलिस ने आरोपी अजय राणा के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। ... और पढ़ें

पैक्ड फूड सप्लाई के लिए एरिया निर्धारित कर सौंपी जिम्मेदारी

पंचकूला। जिला प्रशासन द्वारा लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंद व्यक्तियों को पैक्ड फूड वितरित करने के लिए अलग-अलग एरिया बनाकर जिम्मेदारी सौंपी गई है। उपायुक्त मुकेश कुमार आहूजा ने बताया कि सबडिविजन पंचकूला में एसडीएम धीरज चहल व कालका में एसडीएम राकेश संधू को पैक्ड फूड वितरित करने के लिए नोडल अधिकारी बनाया गया है। इन क्षेत्रों में इंसीडेंट कमांडर भी नियुक्त किए गए हैं, जो पैक्ड वितरण की निगरानी करेंगे।
उपायुक्त ने बताया कि सेक्टर-20 आशियाना के लिए विशाल सैनी, सेक्टर-26 के लिए सुनील जाखड़, गांधी कॉलोनी क्षेत्र में नीवन कुमार शर्मा, अभयपुर में भगत सिंह को इंसीडेंट कमांडर लगाया गया है। पंचकूला सब डिविजन में गरीब परिवारों को लॉकडाउन के चलते दोपहर व रात्रि का भोजन वितरित करने के लिए छह स्वयंसेवी संस्थाओं एवं तीन समाजसेवी सहयोगियों को एरिया दिया गया है।
उपायुक्त ने बताया कि राधा स्वामी सत्संग व्यास संगठन को आशियाना सेक्टर-20 व 26, एसएमएमडीएस भंडारा संस्था को खड़क मंगोली, जैन सभा इवनिंग चंडीगढ़ को सेक्टर-20 की झुग्गियां, एमडीसी गोशाला को गांधी कॉलोनी, सकेतड़ी झुग्गी व भैंसा टिब्बा झुग्गियों में रहने वाले लोगों को पैक्ड फूड देने की जिम्मेदारी सौंपी गई है।
गुरुद्वारा नाडा साहिब को खड़क मंगोली और गुरुद्वारे के सामने स्थित झुग्गियों तथा श्यामलाल बंसल को अभयपुर क्षेत्र में रहने वाले लोगों को दोपहर व सायं का भोजन वितरित करने के लिए दायित्व सौंपा गया है। अमित गोयल को सेक्टर-2, 4 व 14 की झुग्गियां, वैभव गर्ग को सेक्टर-15 की झुग्गियां तथा बेकर्स लांज को मोगीनंद क्षेत्र में बनी हुई झुग्गियों में रहने वाले लोगों को खाना पहुंचाने की जिम्मेदारी दी गई है।
... और पढ़ें

बार एसोसिएशन ने वकीलों को दी 14 अप्रैल तक कोर्ट में पेश ना होने की हिदायत

कोरोना के चलते हालांकि हाईकोर्ट ने 1 और 3 अप्रैल को लगने वाले केस की सुनवाई स्थगित कर दी है। 4 अप्रैल से हाईकोर्ट में दस दिन का अवकाश है और ऐसे में अब अप्रैल के तीसरे सप्ताह के बाद ही हाईकोर्ट नियमित सुनवाई शुरू करेगा। इसके साथ ही हाईकोर्ट बार एसोसिएशन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील के चलते सभी वकीलो से 14 अप्रैल तक किसी भी केस न पेश होने की हिदायत जारी कर दी है।
बार एसोसिएशन ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर इस निर्णय के बारे में सभी वकीलों को सूचित कर दिया है। हाईकोर्ट ने बार एसोसिएशन ने सोमवार को फिर आपात बैठक कर इसका निर्णय लिया और कहा है कि हाईकोर्ट के वकीलों, स्टाफ, सुरक्षा कर्मियों और जजों को इस घातक वायरस के संभावित खतरे से बचाए जाने के लिए 14 अप्रैल तक काम से दूरी का यह निर्णय लिया जाना जरूरी है ताकि कोई भी संक्रमण की चपेट में न आए। ऐसे में हाईकोर्ट में कामकाज पूरी तरह से ठप्प रखने जाने का बार एसोसिएशन ने प्रस्ताव पास कर दिया है और साथ ही यह भी कहा है कि बार एसोसिएशन के इस निर्णय के बावजूद कोई भी वकील अगर हाईकोर्ट आया तो उस पर जुर्माना लगाया जा सकता है। इसके साथ ही सोमवार को पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ की सभी जिला और सब डिवीजन अदालतों को बंद किए जाने का फैसला करते हुए इसके निर्देश जारी कर दिए हैं। हाईकोर्ट के रजिस्टार जनरल संजीव बेरी ने 23 मार्च से 31 मार्च तक हाईकोर्ट में क्लोजर के निर्देश 14 अप्रैल तक जारी रखने के निर्देश दिए हैं।
... और पढ़ें

कोरोना वायरसः चंडीगढ़ में लॉकडाउन के दौरान अव्यवस्था के लिए डीसी होंगे जिम्मेदार, निर्देश जारीकोरोना वायरसः चंडीगढ़ में लॉकडाउन के दौरान अव्यवस्था के लिए डीसी होंगे जिम्मेदार, दिशा-निर्देश जारी

लॉकडाउन में किसी तरह की अव्यवस्था फैली तो उसकी जिम्मेदारी उपायुक्त की होगी। गृह मंत्रालय की ओर से उपायुक्त मनदीप सिंह बराड़ को लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने को कहा गया है। साथ ही प्रवासी दिहाड़ी मजदूरों के रहने-खाने के साथ ही चिकित्सकीय सेवाएं भी उपलब्ध कराने को निर्देशित किया गया है।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से लॉकडाउन की घोषणा के बाद चंडीगढ़ में कर्फ्यू लगाकर शहर की सीमाओं को लॉक कर दिया गया था। इसके बाद चंडीगढ़ में कार्य कर रहे अन्य राज्यों के दिहाड़ी मजदूरों ने पलायन शुरू कर दिया। इन मजदूरों का पलायन रोकने के लिए प्रशासनिक स्तर पर कई कदम उठाए जा रहे हैं।

रविवार देर रात 12.30 बजे केंद्रीय गृह सचिव द्वारा प्रभावित राज्यों के उपायुक्तों से वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए हालातों का जायजा लिया गया। चंडीगढ़ के उपायुक्त मनदीप सिंह बराड़ ने भी उन्हें शहर के हालातों से रूबरू कराया गृह सचिव ने उपायुक्त को निर्देश दिए कि लॉकडाउन में किसी प्रकार की कोई लापरवाही न बरती जाए, यदि लॉकडाउन में किसी तरह की अव्यवस्था फैलती है तो उसके लिए डीसी जिम्मेदार होंगे।

गृह सचिव से मिले निर्देशों के बाद डीसी मनदीप सिंह बराड़ ने एसएसपी नीलांबरी विजय जगदले से शहर से लगती सीमाओं पर स्थिति का जानकारी ली। साथ ही एसएसपी को लॉकडाउन और शहर की सुरक्षा व्यवस्था को चाक चौबंद करने के निर्देश दिए।

शेल्टर होम का लिया जायजा
प्रवासी दिहाड़ी मजदूरों के लिए शहर में बनाए गए शेल्टर होम का उपायुक्त मनदीप सिंह बराड़ और एसएसपी नीलांबरी विजय जगदले ने जायजा लिया। शेल्टर होम में लगे अधिकारियों और कर्मचारियों से शेल्टर होम में की गई व्यवस्थाओं की जानकारी ली। साथ ही प्रवासी दिहाड़ी मजदूरों के साथ चर्चा की।

उन्होंने शेल्टर होम में रहने वाले दिहाड़ी श्रमिकों से उन्हे किसी प्रकार की यहां कोई परेशानी नहीं होगी। चिकित्सकीय सेवाओं के साथ ही उन्हें शेल्टर होम में खाना भी खिलाया जाएगा। उपायुक्त ने दिहाड़ी श्रमिकों से कहा कि शहर में लॉकडाउन है, इसलिए वह शेल्टर होम के बाहर न जाएं।
... और पढ़ें
शेल्टर होम शेल्टर होम

कोरोना वायरसः कर्फ्यू तोड़ने वालों की ड्रोन से होगी निगरानी, यूटी कर्मियों ने दी एक दिन की सैलरी

कोरोना वायरस संक्रमण फैलने के चलते लगे कर्फ्यू को तोड़कर शहर में बेवजह घूम रहे लोगों को अब ड्रोन की मदद से पकड़ा जाएगा। ड्रोन से सड़कों पर घूम रहे लोगों और गाड़ियों की तस्वीरें लेकर पुलिस कंट्रोल रूम को भेजा जाएगा, जिसके बाद ऐसे लोगों पर तुरंत कार्यवाई की जाएगी।

सोमवार को प्रशासक वीपी सिंह बदनौर ने एक बैठक के दौरान यह आदेश चंडीगढ़ पुलिस के डीजीपी को दिए हैं। इसके अलावा चंडीगढ़ प्रशासन के सभी कर्मचारियों ने अपनी एक दिन की सैलरी पीएम रिलीफ फंड में दान की है, यह राशि करीब 5 करोड़ रुपये है।

प्रशासन के सभी अधिकारियों के साथ हुई बैठक में प्रशासक को बताया गया कि शहर में 56 मेडिकल टीमें कोरोना संक्रमित व्यक्तियों के संपर्क में आने वालों की जांच कर रही हैं। इनमें से अगर किसी को अस्पताल में भर्ती कराने की जरूरत पड़ती है तो उन्हें भर्ती भी किया जा रहा है। प्रशासक ने शहरवासियों से अपील की है कि वह अपने पड़ोस में विदेश से आने वाले व्यक्तियों की जानकारी तुरंत चंडीगढ़ प्रशासन को दें।

बैठक में डीसी मनदीप सिंह बराड़ ने बताया कि रविवार को 32000 खाने के पैकेट जरूरतमंदों को बांटे गए हैं। प्रशासक ने कोरोना महामारी में सक्रिय भागीदारी निभाने के लिए शहर की सभी एनजीओ, चैरिटेबल संस्थाओं आदि का धन्यवाद किया।

नगर निगम के कमिश्नर केके यादव ने बताया कि शहर में दूध, फल, सब्जियों आदि की होम डिलीवरी जारी है। इसके अलावा जोमैटो, मार्कफेड, बिग बाजार और पंजाब एग्रो भी जल्द ही लोगों से ऑनलाइन ऑर्डर लेकर सामान की डिलीवरी शुरू कर देंगे।

सभी शहरवासी सुबह 11 बजे से दोपहर 3 बजे के बीच अपने पास के मार्केट और एटीएम में जाकर पैसे निकलवा व राशन का सामान आदि खरीद सकेंगे। हालांकि उन्हें पैदल ही जाना होगा, किसी भी मार्केट में गाड़ी से जाने पर पाबंदी होगी। अगर ऐसा किसी ने किया तो उसकी गाड़ी को जब्त कर लिया जाएगा।

इसके अलावा उन्होंने कहा कि भारत सरकार के निर्देशों के अनुसार किसी भी प्रवासी मजदूर को शहर से बाहर नहीं जाने दिया जाएगा। इन सभी मजदूरों के रहने और खाने-पीने की व्यवस्था मलोया के कम्युनिटी सेंटर में की गई है। यहां पर वर्तमान में 52 प्रवासी मजदूर रह रहे हैं।
... और पढ़ें

पीयू में अब राशन, सब्जियों व दवाओं की किल्लत खत्म

चंडीगढ़। पंजाब यूनिवर्सिटी के शिक्षकों व कर्मचारियों को अब राशन, दवाएं व सब्जियों के लिए दिक्कत नहीं होगी। सोमवार को भरपूर मात्रा में उन्हें यह सामान मुहैया कराया गया। अन्य दिनों में भी यह सामान मिलता रहेगा। घरों तक यह सामान पहुंचाया जा रहा है।
सोमवार को पीयू में सब्जियों की बिक्री के लिए बसें पहुंचीं। शिक्षकों के ऑर्डर के मुताबिक उनके घरों पर सब्जियां पहुंचाई गईं। इसी तरह पीयू के मार्केट से दवाएं व राशन भी डिमांड के बाद घरों पर भिजवाया जा रहा है। वहीं दूसरी ओर वीसी प्रो. राजकुमार ने सभी व्यवस्थाओं की समीक्षा की। टास्क फोर्स से दिनभर की जानकारियां जुटाईं। जहां दिक्कतें खड़ी हो रही हैं उनका समाधान भी किया जा रहा है।
दूसरे दिन भी चला सफाई अभियान
पीयू कैंपस में दूसरे दिन भी सफाई अभियान चला। दर्जनों सफाईकर्मी काम करते रहे। वहीं पौधों में भी पानी डालने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। पेड़ों के पत्तों को भी उठाया जा रहा है। हॉस्टलों में भी विशेष सफाई अभियान चल रहा है। मेस में खाने की गुणवत्ता बनी रहे, इस पर भी ध्यान दिया जा रहा है। इसकी अलग से मॉनीटरिंग की जा रही है। सभी विद्यार्थी खाना खाते समय मास्क आदि लगाकर रखते हैं। साथ ही हॉस्टलों में सैनिटाइजर आदि रखवाए गए हैं।
... और पढ़ें

पीयू के चार हजार शिक्षक व कर्मचारी 15 लाख से अधिक देंगे कोरोना बचाव के लिए फंड

चंडीगढ़। पंजाब यूनिवर्सिटी के चार हजार शिक्षक व कर्मचारी कोरोना बचाव के लिए फंड देंगे। इसके तहत पीएम केयर्स फंड में 15 लाख से अधिक की रकम भेजी जाएगी। इसके लिए पीयू में तैयारी चल रही है। यह रकम सैलरी से काटी जाएगी, लेकिन इससे पहले सभी से पूछा जा रहा है कि वह कितनी मदद कोरोना बचाव के लिए देना चाहते हैं।
यूजीसी की ओर से दो दिन पहले आदेश आए थे कि देशभर में कोरोना का विस्तार हो रहा है। ऐसे में पैसे की अधिक जरूरत होगी। संसाधन आदि खरीदने की जरूरत है। इसके लिए सभी आर्थिक मदद को आगे आएं। अपनी इच्छानुसार मदद करें। इसके बाद वीसी प्रो. राजकुमार ने सबसे पहले पहल करते हुए अपना एक वेतन राहत बचाव के लिए दिया। अब अन्य शिक्षक व कर्मचारी भी मदद के लिए आगे आए हैं। इसका डाटा पीयू तैयार कर रहा है। तीन अप्रैल को सभी शिक्षकों के खाते में सैलरी आएगी। उसी सैलरी से कुछ हिस्सा काटकर पीएम केयर्स फंड में डाला जाएगा। पीयू ने इसके लिए सभी शिक्षकों व कर्मचारियों को पत्र लिखा है। कहा है कि वह यह बताएं कि कितनी मदद देना चाहते हैं। बताया जाता है कि कोई शिक्षक व कर्मचारी अपनी एक दिन की सैलरी देना चाहते हैं तो कुछ दो से तीन व पांच दिन तक की सैलरी भी देने की इच्छा जता रहे हैं। इस डाटा के आने के बाद पूरी रकम का पता लगेगा कि कितनी राहत पीयू पहुंचाएगा। जानकारों का कहना है कि 15 लाख रुपये से अधिक पीयू जुटा लेगा।
सिंडिकेट व सीनेट के मेंबर भी देंगे दान
पीयू के सिंडिकेट व सीनेट के मेंबर भी कोरोना बचाव के लिए आगे आ रहे हैं। वह भी पांच से दस हजार रुपये तक की मदद प्रति व्यक्ति करेगा। इसकी पहल सिंडिकेट मेंबर अशोक गोयल ने रविवार को की थी। एक पत्र रजिस्ट्रार को लिखा था और सभी सदस्यों से मदद करने का आग्रह किया था। इस पत्र के बाद पीयू रजिस्ट्रार प्रो. करमजीत सिंह ने आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है। बताया जाता है कि इसके लिए 105 मेंबर बचाव राहत देंगे। यह रकम भी लाखों में होगी।
वर्जन-----
पीयू कोरोना बचाव के लिए राशि देगा। सभी शिक्षकों व कर्मचारियों से पूछा जा रहा है कि वह कितनी मदद करना चाहेंगे। सभी की लिस्ट आने के बाद रकम पीएम केयर्स फंड के लिए भेज दी जाएगी।
---- विक्रम नैय्यर, एफडीओ, पंजाब विश्वविद्यालय
... और पढ़ें

कोविड पर रिसर्च के लिए पीयू को दिए छह लाख रुपये

चंडीगढ़। कोरोना पर दुनियाभर में रिसर्च चल रही है। इसी को ध्यान में रखते हुए पीयू के वैज्ञानिकों ने भी रिसर्च की ठानी और अपने-अपने रिसर्च प्रोजेक्ट कई फंडिंग रिसर्च एजेंसियों को भेजे। पीयू को मुंबई की बायोटेक्नोलॉजी फर्म ने छह लाख रुपये का रिसर्च अनुदान दिया है। वैज्ञानिक डॉ. रोहित शर्मा इस पर काम करेंगे। इनके अलावा कई शिक्षकों ने और भी प्रोजेक्ट सरकार व एजेंसियों को भेजे हैं। बताया जा रहा है कि जल्द ही पीयू को कई और प्रोजेक्ट के लिए रकम मिलेगी और उसके रिजल्ट भी वैज्ञानिक बेहतर देंगे।
वहीं दूसरी ओर पीयू के सूक्ष्मजीव विज्ञान विभाग व जैव प्रोद्योगिकी विभाग के वालिंटियर्स ने स्वास्थ्य विभाग से कहा है कि कोविड 2019 के नमूनों की जांच में सहयोग कर सकते हैं। उनके पास प्रशिक्षण अच्छा है और वह इसमें अच्छी खासी मदद कर सकेंगे। जरूरत पड़ने पर उन्हें कभी भी बुलाया जा सकता है। यह भी कहा है कि उन्हें वायरस से सुरक्षा के लिए पर्याप्त सामग्री भी दी जाए।
इनसेट---
कोमिक अब सभी भाषाओं में
पीजीआई व पीयू के विशेषज्ञों ने किड्स, वायु और कोरोना कॉमिक्स को दूसरी भाषाओं में भी तैयार किया है जो आसानी से समझी जा सकती है। पहले अंग्रेजी भाषा में यह उपलब्ध थी। अब सभी भाषाओं में यह उपलब्ध होगी। इससे सभी को पढ़ने व समझने में आसानी होगी।
... और पढ़ें

जागरूकता की कमी के कारण वेंडर्स नहीं लगा रहे मास्क

चंडीगढ़। यूटी प्रशासन सेक्टरों में अवैध वेंडरों की एंट्री पर शिकंजा कसने में असफल दिखाई दे रहा है। हर सेक्टर में 5-6 अवैध वेंडर्स घूम रहे हैं। ये मनमाने दामों पर सब्जियां बेचने के साथ सेहत का भी ख्याल नहीं रख रहे। न मास्क लगा रहे हैं और न ही सैनिटाइजर का कोई प्रबंद किया है। शहरवासियों का कहना है कि ये वेंडर्स पूरा दिन घूमते रहते हैं। सावधानियां नहीं बरत रहे। कम से कम लोगों की सुरक्षा को देखते हुए उन्हें जागरूक किया जाना चाहिए। लोगों का कहना है कि प्रशासन की ओर से हर सेक्टर में 4-5 वेंडर बैठा दिए जाएं तो सेक्टर के लोग अनजान वेंडर के संपर्क में आने से बच सकते हैं।
पूरे शहर को हो सकता है नुकसान
सेक्टर-43 के आरडब्ल्यूए प्रधान अशोक ने बताया कि लोगों की सुविधा के लिए डोर-टु-डोर सब्जी बेचना ठीक है, लेकिन वेंडरो की लापरवाही भारी पड़ सकती है। सेक्टर-19 निवासी नीरज का कहना है कि मास्क और ग्लव्ज के साथ-साथ वेंडर्स को सैनिटाइज किया जाना बहुत आवश्यक है। क्योंकि वह सुबह से लेकर शाम तक हजारों लोगों के संपर्क में आते हैं। सेक्टर-18 निवासी वरुण ने कहा कि एक नागरिक की गलती पूरे शहर और उसके बाद पूरे देश को तबाह कर सकती है। वेडर्स के साथ-साथ हर नागरिक, हर बच्चे और प्रत्येक बुजुर्ग का इस बीमारी से बचाव के लिए जागरूक होना जरूरी है।
... और पढ़ें

वर्करों को काम से निकालने पर चंडीगढ़ पुलिस ने दर्ज किया पहला केस, ठेकेदार गिरफ्तार

चंडीगढ़। आठ कर्मचारियों को निकालने के आरोप में चंडीगढ़ पुलिस ने पंचकूला सेक्टर-25 निवासी ठेकेदार महेश के खिलाफ केस दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है।
चंडीगढ़ में 23 मार्च की मध्य रात्रि से कर्फ्यू लगाया गया है। इससे मजदूर व अन्य लोगों का काम पूरी तरह ठप है। लोगों के कमाई के रास्ते बंद हो गए है, जिस कारण ज्यादा मजदूर अलग-अलग जगहों से पलायन कर रहे हैं। सोमवार को चंडीगढ़ के सभी बॉर्डर एरिया पर पलायन कर रहे लोगों पर पूरी तरह रोक लगा दी। इसके बाद पुलिस ने पलायन कर रहे 68 पुरुष, 2 महिलाएं और 2 बच्चों को मलोया के शेल्टर होम में भेजा है। इनके खाने-पीने का बंदोबस्त किया गया है।
अहाते में काम करते थे सभी कर्मचारी
सोमवार को सिपाही मंजीत सिंह गश्त कर रहे थे। अंडर रेलवेब्रिज के पास 7-8 लोग रेलवे स्टेशन की तरफ जाते देखे। उन्होंने बताया कि वह ओल्ड रोपड़ पर शराब के ठेके के पास अहाते में काम करते हैं। यह अहाता पंचकूला के महेश कुमार ने लिया था। 22 मार्च से शराब के ठेके और अहाते बंद हैं। सोमवार को ठेकेदार महेश ने उन्हें यह कहकर अहाते से निकाल दिया कि अब वो उनका खर्चा नहीं उठा सकते। इसलिए तुम लोग अपना अपना इंतजाम देख लो। इसके बाद पुलिस ने शिव कुमार, मनजीत, रिंकू, अनिल यादव, राम, सुनील, भीम दास और विकास शर्मा को मलोया शेल्टर होम भेज दिया। जबकि सेक्टर25 निवासी महेश के खिलाफ मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया।
इन धाराओं के तहत होगी कार्रवाई
पुलिस ने कहा है कि कोई भी मकान मालिक 1 महीने तक अपने किराएदार को किराए के लिए तंग नहीं करेगा और ना ही उसे बाहर निकालेगा। अगर कोई किराया मकान मालिक ऐसा करते हुए पाया गया तो पुलिस उसके खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम की धारा 10 (2) (एल) के तहत कार्रवाई करेगी।
शहर से अंदर बाहर नहीं जा सकेगा कोई
एसएसपी नीलांबरी विजय जगदले ने डीएसपी थाना प्रभारियों के साथ मीटिंग की। सख्त निर्देश दिए गए कि एसएचओ/बीट स्टाफ अपने अपने संबंधित एरिया में गश्त बढ़ा दें। अगर कोई भी पलायन करता हुआ पाया जाता है तो शेल्टर होम पहुंचाएं। साथ ही बॉर्डर एरिया पर पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है, कि अन्य राज्य से कोई प्रवासी चंडीगढ़ में प्रवेश न करे और किसी भी प्रवासी को चंडीगढ़ से जाने की अनुमति नहीं है।
... और पढ़ें

बिन वजह घरों के बाहर निकलने वाले 5601 राउंडअप

चंडीगढ़। कर्फ्यू के दौरान बेवजह सड़कों पर घूम रहे लोगों पर पुलिस ने कड़ी कार्रवाई की। रविवार शाम 7 से सोमवार शाम 7 बजे तक शहर के अलग-अलग जगहों से 306 लोगों को हिरासत में लिया। वहीं 152 वाहन चेकिंग के दौरान 89 वाहनों को जब्त किया गया। इस तरह 23 के मध्यरात्रि से पुलिस ने अब तक 5601 लोगों को हिरासत में लिया। इसके अलावा 80 मामले दर्ज कर कुल 97 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।
ईस्ट डिवीजन में सबसे ज्यादा मामले
सोमवार को कर्फ्यू के दौरान सबसे ज्यादा हुड़दंग के मामले ईस्ट के अंतर्गत सामने आए। पुलिस ने ईस्ट डिवीजन से 167, सेंट्रल जोन से 59 और साउथ डिवीजन से 77 लोगो को राउंडअप किया गया। राउंडअप के मामले सबसे ज्यादा मनीमाजरा थाने के अंतर्गत सामने आए हैं।
... और पढ़ें

पंचर व टायरों को हवा नहीं मिलने पर ठप हो रही जरूरी सामान पहुंचाने वाली गाड़ियां

चंडीगढ़। लॉकडाउन के दौरान जरूरी सामान पहुंचाने वाली गाड़ियों के सामने एक विकट समस्या आ गई है। गाड़ियों के टायरों को न तो हवा मिल पा रही है और न ही पंक्चर वाले। यदि कोई गाड़ी पंक्चर हो जाए तो उस गाड़ी पर ब्रेक लग जाता है। पंजाब व हरियाणा के ट्रांसपोर्टर जसमत सिंह जस्सी ने बताया कि सरकार ने लोगों तक जरूरी सामान पहुंचाने के लिए छूट दे रखी है। गाड़ियों के माध्यम से ही सामान को एक जगह से दूसरी जगह तक पहुंचाया जा रहा है।
इस दौरान यदि गाड़ियां पंक्चर या खराब हो जाए तो गाड़ी को गोदाम में खड़ी करने के अलावा कोई दूसरा चारा नहीं है, क्योंकि न तो पंक्चर वाला है और न ही सर्विस वाला। पेट्रोल पंप पर भी हवा नहीं दी जा रही। सर्विस वाले भी बंद हैं। ट्रांसपोर्टर की कई गाड़ियां ठप हो चुकी हैं और उन्हें ठीक करने वाला कोई नहीं है। यदि यही हाल रहा तो आने वाले दिनों में जरूरी सामान की सप्लाई भी ठप हो सकती है। जस्सी का कहना है कि हरियाणा सरकार व चंडीगढ़ प्रशासन को इस बारे में सोचना चाहिए और इस बारे में जल्द से जल्द से कोई समाधान निकाला जाए।
कम से कम शहर के एक दो पेट्रोल पंप पर ऐसी कोई व्यवस्था की जाए। इस बारे में चंडीगढ़ सेक्टर चार पेट्रोल पंप के ऑनर सिद्धांत ने बताया कि उनके पेट्रोल पंप पर हवा की व्यवस्था है, लेकिन वे उन लोगों को मुहैया करवा रहे हैं, जिन्हें इमरजेंसी है। यदि ग्राहक को जरूरत है तो वे पेट्रोल पंप के कर्मचारी को हवा के बारे में पूछ सकते हैं और भरवाई भी जाती है। उन्होंने बताया कि कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए पेट्रोल पंप भी कम ही कर्मचारियों के आने की इजाजत दे रहा है। यह कदम एहतियात के तौर पर उठाया गया है।
... और पढ़ें

भोजन और राशन को करें संपर्क : रंजीता मेहता

पंचकूला। लायंस क्लब पंचकूला एलिट के सहयोग से लोगों तक खाना और राशन पहुंचाने की मुहिम जारी है। हरियाणा प्रदेश महिला कांग्रेस की प्रवक्ता रंजीता मेहता ने सकेतड़ी, अभयपुर, आशियाना फ्लैटों में जाकर राशन बांटा।
उनके साथ पूर्व पार्षद सुभाष चंद निषाद, युवा कांग्रेस नेता अनिल चौहान ने भी राशन और खाना बांटा। जिला रेडक्रॉस सोसाइटी सेक्टर -15 में राशन पहुंचाया गया। रंजीता मेहता ने बताया कि जिला प्रशासन की ओर से कोरोना वायरस के दौरान लोगों की मदद की जा रही है। यह समय एकजुटता दिखाने का है। रंजीता मेहता ने बताया कि जिन लोगों के पास भोजन या राशन नहीं है, वह मेरे मोबाइल नंबर 9317899999 पर संपर्क कर सकते हैं, मैं तुरंत भोजन और राशन की व्यवस्था करवाने के लिए प्रयास करूंगी।
उन्होंने कहा कि पूर्व पार्षदों को भी आगे आकर लोगों की मदद करनी चाहिए। पूर्व पार्षद सुभाषनिषाद ने कहा कि वार्ड में मैंने अपने स्तर पर सैनिटाइजेशन करवाया है यदि किसी गरीब को किसी भी चीज की आवश्यकता हो, तो वह मुझे 9872846685 पर संपर्क कर सकता हैं।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us