नशे में धुत होकर प्रेमिका को कॉल लगाने पर काटा तो फोन तोड़ा, बाइक और घर को कर दिया आग के हवाले

Amar Ujala Bureauअमर उजाला ब्यूरो Updated Thu, 29 Oct 2020 12:59 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
गुुरुग्राम के एक कॉल सेंटर में नौकरी के दौरान संजीव गाबा को सहकर्मी युवती से प्रेम हो गया। उसने युवती के समक्ष शादी का प्रस्ताव रखा, लेकिन उसने इंकार दिया। नतीजा संजीव डिप्रेशन में चला गया और इसकी वजह से उसकी नौकरी भी चली गई। तब से वह पूरेवाल कालोनी में अपनी मां और बड़े भाई के साथ ही रह रहा है। मां ने बताया कि संजीव का इलाज चल रहा है, वह अकसर झगड़ा करने लगता था।
विज्ञापन

कच्चा कैंप की पूरेवाल कॉलोनी निवासी संजीव गाबा ने मौके पर नशे में धुत हालत में बताया कि उसने दो साल पहले गुरुग्राम के कॉल सेंटर में नौकरी की। वहां पर उसे एक लड़की से प्रेम हुआ। वह नौकरी छोड़ना चाहता था, लेकिन उस सहकर्मी की वजह से नौकरी करता रहा। नौ माह पहले शादी की बात की तो लड़की ने मना कर दिया। जिससे वह डिप्रेशन में रहने लगा और पानीपत आ गया। बुधवार दोपहर उसकी याद आई तो घर में रखी देशी शराब पी। उसके बाद फोन मिलाया, लेकिन उसने फोन काट दिया। जिससे गुस्सा आया और वह आग बबूला हो गया। दोपहर साढ़े तीन बजे मां अंजू गाबा से झगड़ा किया। वह अपना आपा खो बैठा, उसने पहले अपना फोन जमीन पर पटक कर तोड़ दिया और फिर बाहर खड़ी अपनी बाइक में आग लगा दी। इसके बाद घर के अंदर गया और धक्का देकर मां को बाहर निकाल दिया। इसके साथ ही घर को आग के हवाले कर बाहर आ गया। आग बेकाबू हो गई और संजीव एवं उसके किराएदारों के पांच एलपीजी सिलेंडर में से दो फट गए। जोरदार धमाके के साथ आग तीसरी मंजिल तक पहुंच गई। एक दीवार ढह गई, एक पड़ोसी महिला झुलस गई और कांच एवं ईंट लगने से संजीव समेत छह अन्य लोग घायल हो गए। जिसमें एक छह साल की छोटी बच्ची भी है।
बेटा तोड़ चुका है 10 से 15 फोन, डिप्रेशन में करता रहता है नुकसान : अंजू
संजीव की मां अंजू ने बताया कि बेटा डिप्रेशन में रहता है। बहुत बार जानने का प्रयास किया, लेकिन उन्हें कुछ नहीं बताया। वह जब भी पूछताछ करते वह अपना फोन तोड़ देता। गत पिछले माह भी 30 सितंबर को उसने एलईडी समेत अन्य सामान तोड़ दिया था। उनके साथ हाथापाई की थी, जिस वजह से पुलिस बुलानी पड़ी थी, लेकिन उस समय संजीव ने गलती मानकर भविष्य में ऐसा न करने का आश्वासन दिया था।
बाइक में लगी आग बुझाने लगे तो दूसरी तरफ घर में शुरू हो गई : इंद्र
पड़ोसी इंद्र ने बताया कि वह बाइक से पेट्रोल निकालने लगा, देखते ही देखते बाइक में आग लगा दी। बाइक में आग लगी ही थी कि वह दौड़कर पहुंचे और अन्य लोगों की मदद से बाइक पर पानी डालकर आग को बुझने लगे। संजीव दौड़कर अंदर गया, वह आग बुझा ही रहे थे कि इसी बीच घर के अंदर से धुआं निकला शुरू हो गया।
20 दिन पहले ही शिफ्ट हुआ था, मालिक पर करूंगा कार्रवाई : देशपाल
देशपाल ने बताया कि वह ऑटो यूनियन का प्रधान है। गत 20 दिन पहले ही संजीव की मां अंजू से बातचीत कर उनके मकान की पहली मंजिल पर वह परिवार समेत शिफ्ट हुआ था। अकसर लड़ाई झगड़े चलते रहते थे। बुधवार को पत्नी क्षमा रानी ने फोन कर सूचना दी कि आग लग गई है। जिसके बाद पत्नी तीनों बच्चे मुस्कान, विनय व हिताक्षी को लेकर नीचे आ गई। जब तक वह पहुंचा तो दो बेटी व पत्नी घायल थी।
धमाके से ढह गई दीवार, गनीमत रही मकान में कोई नहीं था : जतिन
पड़ोसी जतिन ने बताया कि वह अपने पिता महेंद्र, मां सुशीला, भाई सन्नी व पत्नी के साथ रहता है। उसका परिवार मंगलवार को गांव में चला गया था, वह मकान में अकेला था। सिलिंडर फटने से धमाका इतना जबरदस्त हुआ कि उनके मकान की दीवार टूट गई और आग उनके घर तक आ पहुंची। जिससे उनके बेड, कपड़े समेत पूरा फर्नीचर जलकर नष्ट हो गया।
घर के चौक में रखा था सिलिंडर, इसलिए तीनों मंजिल तक पहुंची आग
दमकल कर्मियों ने बताया कि फटा हुआ सिलिंडर का मलबा उन्हें मकान के पिछले हिस्से से मिला है। वहां ऊपर हॉल बना हुआ है। सिलिंडर फटने से पहले पड़ोसी की दीवार तोड़कर आग उनके घर पहुंची और उसके बाद आग संजीव के हॉल से होते हुए किरादार के मकान में पहुंची और वहां से तीसरी मंजिल तक गई। ऐसे में संजीव के साथ साथ किराएदार का भी सामान जलकर राख हो गया।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X