विज्ञापन
विज्ञापन
आज ही बनवाएं फ्री जन्मकुंडली, जानें कैसा है आपका भविष्य !
JANAM KUNDALI

आज ही बनवाएं फ्री जन्मकुंडली, जानें कैसा है आपका भविष्य !

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

हरियाणाः त्योहार में बढ़ सकता है संक्रमण, दो हफ्ते चलेंगे विशेष सैंपल शिविर

आगामी त्योहारी सीजन और बढ़ती सर्दी के मद्देनजर हरियाणा स्वास्थ्य महकमा चिंतित है। विभाग को इस दौरान संक्रमण फैलाव की बड़ी चिंता सता रही है। इसी के मद्देनजर सरकार ने अगले दो हफ्तों में प्रदेश में कोरोना जांच के लिए विशेष सैंपल शिविर लगाने के निर्देश दिए हैं।

 कोरोना मामलों में वृद्धि को रोकने के लिए हरियाणा स्वास्थ्य विभाग ने राज्य के सभी सिविल सर्जनों को अगले दो सप्ताह में प्रदेशभर में कोविड -19 सैंपल कैंप आयोजित करने के निर्देश दिए हैं। हरियाणा के महानिदेशक स्वास्थ्य सेवाएं डॉ. सूरजभान कंबोज ने बताया कि कोरोना मामलों में वृद्धि को रोकने के लिए पूरे रा’य में कोविड-19 टेस्ट बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं। 

आरटी-पीसीआर और रैपिड एंटीजेन कोविड-19 सैंपल कैंप अगले दो सप्ताह में जिलों में विशेष रूप से मलिन बस्तियों, दूर दराज व भीड़भाड़ वाले इलाकों में लगाए जाएंगे, जो बीमारी फैलने के लिए अधिक संवेदनशील होते हैं। उन्होंने बताया कि कैंप को अभियान मोड में आयोजित किया जाएगा।  इसके अलावा, फेस मास्क पहनने का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित किया जाएगा। साथ ही, आईईसी और प्रत्यक्ष परामर्श के माध्यम से लोगों को कोविड-19 के बारे में भी जागरूक किया जाएगा। 

यह भी निर्देश दिए गए हैं कि इन कैंपों में कोरोना के प्रसार की रोकथाम के लिए सभी सावधानियां जैसे पीपीई किट, सोशल डिस्टेंसिंग, हाथों की सफाई आदि का अनुपालन सुनिश्चित किया जाए और सख्त निगरानी रखी जाएगी।

1773 नए केस, 12 और मरीज कोरोना का शिकार
हरियाणा में कोरोना वायरस से 12 और मरीज कोरोना वायरस का शिकार हो गए हैं। जबकि 1743 नए मामले सामने आए हैं। गुरुग्राम में दो, फरीदाबाद में एक, सोनीपत में दो, हिसार में तीन, अंबाला में एक व भिवानी में तीन मरीजों ने संक्रमण से दम तोड़ दिया है। इसके अलावा 208 मरीज ऐसे हैं। जिनकी हालत गंभीर बनी हुई है। 1391 मरीज स्वस्थ भी हुए हैं।

हरियाणा में अब कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 167210 हो गई है। जिसमें 153230 मरीज ठीक हो गए हैं। 12191 मरीज अभी भी वायरस से ग्रस्त है। रिकवरी रेट 91.64 प्रतिशत पहुंच गई है। 
... और पढ़ें
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

देश के सर्वाधिक प्रदूषित 23 शहरों में हरियाणा के 15, स्मॉग भी छाया, दिल्ली के बाद हिसार सबसे प्रदूषित

हरियाणा में वायु प्रदूषण खतरनाक स्तर पर बना हुआ है। पिछले कुछ दिनों से हरियाणा देश का सबसे प्रदूषित राज्य बना हुआ है। शुक्रवार को भी देश के सबसे ज्यादा प्रदूषित 23 शहरों में हरियाणा के 15 शहर शामिल रहे। रेड जोन में शामिल रहे इन शहरों का वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 300 से 400 के बीच रहा। 

वहीं देश की राजधानी दिल्ली सबसे ज्यादा प्रदूषित रही। आनंद बिहार में एक्यूआई 365 दर्ज किया गया। इसके बाद हिसार दूसरे, गुरुग्राम व फतेहाबाद तीसरे और गाजियाबाद चौथा सबसे प्रदूषित शहर रहा। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की वेबसाइट पर शुक्रवार रात आठ बजे इन शहरों का औसत एक्यूआई क्रमश: 429, 411-411 और 406 दर्ज किया गया। प्रदेश के कई शहरों में सुबह-शाम स्मॉग का भी असर रहा।
  
इधर, फतेहाबाद में शुक्रवार तक कृषि विभाग के पास हरसैक से 550 आगजनी की लोकेशन पहुंची। कृषि अधिकारियों का दावा है कि इनमें से 212 जगह पराली में आग नहीं लगी हुई थी। शेष 338 लोकेशन में से भी विभाग ने 156 किसानों के खिलाफ ही मामले दर्ज करवाए हैं। हिसार में पराली जलाने पर 2 लोगों के चालान किए गए। अब तक जिले में पराली जलाने पर 56 चालान किए जा चुके हैं।
... और पढ़ें

हाईकोर्ट की महत्वपूर्ण टिप्पणी- आरोपी की गोली पीड़ित को नहीं लगी, इस आधार पर नहीं दी जा सकती जमानत

पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने जमानत से जुड़ी याचिका पर सुनवाई करते हुए स्पष्ट कर दिया कि याची की चलाई गोली पीड़ित को नहीं लगी, इस आधार पर जमानत का लाभ नहीं दिया जा सकता। याचिका दाखिल करते हुए लुधियाना निवासी जतिंदर सिंह ने हाईकोर्ट से 31 मई को दर्ज हत्या के प्रयास मामले में अग्रिम जमानत की मांग की थी। 

याची ने बताया कि उसने शिकायतकर्ता के पिता पर नहीं हवा में गोली चलाई थी। याची ने कहा कि गोली जब किसी को छुई तक नहीं तो कैसे हत्या के प्रयास की धारा उस पर लगाई जा सकती है। जमानत का विरोध करते हुए पंजाब सरकार ने कहा कि शिकायतकर्ता के पिता पर ही गोली चलाई गई थी लेकिन निशाना चूकने के कारण वह बच गए। इसके साथ ही याची की हिरासत आवश्यक है क्योंकि अभी तक हथियार बरामद नहीं हुआ है।

 हाईकोर्ट ने कहा कि केवल इस आधार पर कि शिकायतकर्ता का पिता बच गया हत्या के प्रसास की धारा से याची को बचाने के लिए काफी नहीं है। जिन परिस्थितियों का हवाला दिया जा रहा है वह, ट्रायल कोर्ट को तय करना है। लेकिन याची से हिरासत में पूछताछ जरूरी है ताकि हथियार बरामद किया जा सके। अभी दी गई जमानत जांच को प्रभावित कर सकती है। इन्हीं टिप्पणियों के साथ हाईकोर्ट ने जमानत याचिका खारिज कर दी।
... और पढ़ें

बरोदा उपचुनावः कमल और पंजे की लड़ाई में चश्मा बढ़ा रहा रोमांच, प्रचार आखिरी दौर में

बरोदा उपचुनाव अपने आखिरी दौर में पहुंच चुका है। हलके की फिजा पूरी तरह चुनावी है। पहलवान बाजी मारेगा, कांग्रेस का ‘भालू’ जीत का स्वाद चखेगा या फिर इनेलो के जोगेंद्र सिंह मलिक विजय परचम लहराएंगे, हर तरफ इसकी ही चर्चा है।

कमल और पंजे की लड़ाई में चश्मे ने रोमांच बढ़ा दिया है। भाजपा-जजपा, कांग्रेस के दिग्गजों के साथ ही इनेलो की तरफ से पूर्व सीएम ओमप्रकाश चौटाला ने खुद प्रचार की कमान संभाली हुई है। वह अपने राज में हुए कामों की दुहाई जनता को दे रहे हैं।

भाजपा गठबंधन सहयोगी जजपा के साथ मिलकर अब तक उनके लिए बंजर रही बरोदा की धरती पर कमल का फूल खिलाना चाह रही है। जींद उपचुनाव में भी भाजपा ने मनोहर लाल सरकार के पहले कार्यकाल में 52 साल में पहली बार कमल खिलाया था। अब पार्टी बरोदा को भी भगवा रंग में रंगना चाह रही है। जबकि, कांग्रेस ने इस सीट को अपने कब्जे में रखने के लिए पूरा जोर लगाया हुआ है। हुड्डा पिता-पुत्र के अलावा अन्य कांग्रेस दिग्गज भी दिन रात प्रचार में डटे हैं। इनेलो ओपी चौटाला के दम पर करिश्माई प्रदर्शन की आस लगाए हुए है। 

कांग्रेस ने यह सीट छह बार, इनेलो-लोकदल ने छह बार व अन्य क्षेत्रीय दलों ने भी एक-बार जीती है। बीते तीन चुनाव से यहां कांग्रेस जीतती आ रही है। कांग्रेस फिर यहां जीतना चाहती है तो भाजपा उसके जबड़े से जीत छीनने का दम भर रही है। सीएम मनोहर लाल के बाद डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला भी शुक्रवार को चुनावी रण में उतर गए। बरोदा की सरदारी जनता किसे सौंपती है, यह 9 नवंबर को चुनाव नतीजा साफ कर देगा।

बरोदा लिखेगा नया इतिहास : मनोहर लाल
सीएम मनोहर लाल का कहना है कि इस चुनाव में बरोदा की जनता नया इतिहास लिखेगी। यह चुनाव विकास बनाम भ्रामक प्रचार का है। कांग्रेस ने हमेशा बरोदा की अनदेखी की है। भाजपा ने हलके की सुध ली है। उन्हें पूरा विश्वास है, जनता विकास को चुनेगी।

राजनीति की दशा-दिशा बदलेगा उपचुनाव : हुड्डा
पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि उपचुनाव कई बार ऐसी परिस्थितियों में होता है कि वह प्रदेश की राजनीति की दशा और दिशा बदल देता है। बरोदा में भी उसी तरह का चुनाव है इस चुनाव की काफी अहमियत है। हमारा उम्मीदवार कमजोर नहीं, बहुत मजबूत है। वह गरीब आदमी व किसान का बेटा है और हमारा पुराना वर्कर है। 

यह इनेलो का गढ़, भाजपा मुकाबले में नहीं : अभय
इनेलो नेता अभय चौटाला का कहना है कि यह कांग्रेस का नहीं, इनेलो का गढ़ है। लगातार पार्टी यहां 2005 तक चुनाव जीतती आई है। पिछले तीन चुनाव जो हम हारे हैं, इसमें पार्टी की नहीं बल्कि उम्मीदवार की तरफ से कहीं ना कहीं कोई कमी थी। यहां भाजपा कहीं मुकाबले में नहीं है। हुड्डा ने यहां 10 साल कोई काम नहीं किया, सिर्फ वादे किए। 31 अक्तूबर को इनेलो की रैली से माहौल पूरी तरह हमारे पक्ष में हो जाएगा। ओपी चौटाला ने कहा कि चुनावी परिणाम से सरकार पूरी तरीके से डगमगा जाएगी। इस बार इनेलो अपने पुराने इतिहास को दोहराएगी।

6 साल में एक बार चाय पीने नहीं आए सीएम : दीपेंद्र
राज्यसभा सांसद दीपेंद्र हुड्डा ने कहा कि कुशासन के खिलाफ बरोदा की जनता जनादेश देने जा रही है। भाजपा ने 6 सालों में कुछ काम नहीं करवाए। मुख्यमंत्री 6 साल में एक बार चाय पीने भी नहीं आए और उपचुनाव में अंतिम समय चुनाव के लिए पहुंचे हैं। चुनाव नतीजे आते ही सरकार की उल्टी गिनती शुरू हो जाएगी।
... और पढ़ें

हाईकोर्ट ने सरकार से पूछा आखिर क्यों बढ़ रहे हैं ऑनर किलिंग के मामले, जांच के तरीके पर उठाए सवाल

demo pic...
ऑनर किलिंग के बढ़ते मामलों पर चिंता जताते हुए पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने हरियाणा से पूछा कि आखिर क्यों ऑनर किलिंग के मामले बढ़ रहे हैं। हाईकोर्ट ने कहा कि ऐसे मामलों में जांच के लिए विशेष पद्घति अपनाई जानी चाहिए लेकिन गैर वैज्ञानिक जांच ही की जाती है।

फतेहाबाद के भट्टू कलां में हुई ऑनर किलिंग के मामले में रवि कुमार व अन्य 14 लोगों पर आरोप था कि उन्होंने एक युवक धर्मवीर का अपहरण कर उसकी हत्या कर दी। ऐसा इसलिए किया गया कि धर्मवीर ने आरोपियों के परिवार की लड़की सुनीता से प्रेम विवाह किया था। 

इस मामले में 1 जून 2018 को 15 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई, जिसमें लड़की के परिवार वाले और रिश्तेदारों के नाम शामिल थे। लड़की ने मजिस्ट्रेट के सामने परिवार वालों के खिलाफ बयान दर्ज कराए। इस मामले में आरोपी रवि ने नियमित जमानत की मांग के लिए याचिका दाखिल की है। हाईकोर्ट ने याचिका पर सुनवाई के दौरान जांच पर सवाल उठाए। 

हाईकोर्ट ने हरियाणा के डीजीपी से पूछा है कि प्रदेश में ऑनर किलिंग के कितने मामले दर्ज हुए हैं और लंबित मामलों की संख्या कितनी है। ऐसे मामलों में जांच जल्द और बेहतर तरीके से करने के लिए विशेष जांच दल (एसआईटी) द्वारा तेजी से जांच के लिए विशेष जांच दल बनाने पर भी हाईकोर्ट ने जवाब मांगा है। इसके साथ ही यह भी पूछा है कि ऑनर किलिंग में प्रभावित परिवार, गवाह व जोड़े में से जीवित साथी की सुरक्षा के लिए पुलिस क्या कदम उठाती है।
... और पढ़ें

हरियाणा : युवाओं के लिए अच्छी खबर, नवंबर से 15 हजार पदों पर शुरू होगी भर्ती

हरियाणा सरकार जल्द सरकारी विभागों में खाली पड़े पदों को भरेगी। 10 नवंबर के बाद 15 हजार खाली पदों को भरने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। विभिन्न श्रेणी के इन पदों की भर्ती को हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग सिरे चढ़ाएगा।

नौकरी का लंबे समय से इंतजार कर रहे बेरोजगार युवाओं के लिए यह बड़ी खुशखबरी है। आयोग ने सरकारी विभागों से खाली पदों का ब्योरा मांग लिया है।

कर्मचारी चयन आयोग के अध्यक्ष भारत भूषण भारती ने बताया कि 15 हजार पदों पर भर्ती की जाएगी। शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि व अन्य विभागों में खाली पद भरे जाएंगे। सब विभागों से रिक्त पदों का विवरण पहले ही मांग लिया गया है। अब भर्ती का विज्ञापन निकालकर पद भरने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

उन्होंने कहा कि अभी तक हुई भर्तियों में पूरी पारदर्शिता बरती गई है। ऑनलाइन भर्ती प्रक्रिया शुरू होने से भ्रष्टाचार पर अंकुश लगा है। क्यूआर कोड एवं ओएमआर जैसी चीजें लागू होने से कोई उम्मीदवार किसी अन्य की जगह बैठकर पेपर नहीं दे सकता। इससे भर्ती प्रक्रिया स्पष्ट रहती है। कुछ दिन पहले ही मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने आने वाले चार सालों में एक लाख अन्य पदों पर भर्तियां करने की घोषणा की है। जिसके लिए आयोग पूरी तरह से तैयार है।

सामाजिक आर्थिक आरक्षण व परीक्षा के सिलेबस निर्धारण के बारे में उन्होंने बताया कि यह फैसला सरकार का होता है। सरकार ही इस बारे में निर्णय लेती है। उनका कार्य केवल परीक्षाओं को पारदर्शी तरीके से संपन्न करवाना है।

लंबित भर्ती परिणाम भी जल्द निकलेंगे 
हरियाणा सरकार ने लंबित भर्ती परिणाम को भी जल्द घोषित करने का निर्णय लिया है। जिन भर्तियों में कोई कानूनी अड़चन नहीं है व सिर्फ परिणाम घोषित होना है, उनमें अब कोई देरी नहीं होगी। कर्मचारी चयन आयोग को सीएम मनोहर लाल ने निर्देश दिए हैं कि किसी भी भर्ती का परिणाम बेवजह न रोका जाए। जिन भर्तियों की परीक्षा हो चुकी है व पूरी प्रक्रिया पारदर्शी रही है, उन्हें भी रद्द नहीं किया जाएगा। सरकार युवाओं को भर्ती रद्द कर परेशानी में नहीं डालना चाहती।
... और पढ़ें

कालका-शिमला ट्रैक पर रोमांचकारी टॉय ट्रेन का सफर, यात्रियों से गुलजार होने लगे स्टेशन, 78 ने की यात्रा

मिसाल: पराली जलाई नहीं बेची, किसानों ने की नौ लाख रुपये की पहली कमाई

पराली प्रबंधन को लेकर हरियाणा सरकार के प्रयास इस बार रंग लाने लगे हैं। सरकार सामुदायिक कार्यक्रमों के तहत किसानों को पराली से कमाई करवाने पर ज्यादा जोर दे रही है। हरियाणा कृषि एवं कृषक कल्याण विभाग इसमें अपनी अहम भूमिका निभा रहा है।

इन्हीं प्रयासों का नतीजा रहा कि हरियाणा के दो गांवों के 200 किसानों ने सामुदायिक कार्यक्रम के तहत पराली से अभी तक 9 लाख रुपये की कमाई कर ली है। किसानों की यह कमाई प्रदेश में सामुदायिक कार्यक्रम के तहत इतनी बड़ी कमाई का पहला उदाहरण है। ये किसान अंबाला के उगाड़ा और बाड़ा गांव के रहने वाले हैं, जिन्होंने इस बार अपनी पराली जलाने के बजाय उससे कमाई की है।

उधर, हरियाणा सरकार ने भी ऐसे किसानों को प्रोत्साहन देने के लिए 12 करोड़ 70 लाख रुपये का बजट जारी कर दिया है। सरकार ने यह भी साफ किया है कि किसानों ने यदि इस दिशा में और जागरूकता दिखाई तो इस बजट को और बढ़ाया जाएगा। यानि पराली ना जलाने वाले किसान सरकार की इस प्रोत्साहन योजना के तहत मालामाल हो सकते हैं।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X