बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
शनिवार का दिन, जानें इन तीन राशियों के लिए क्यों होगा शुभ ?
Myjyotish

शनिवार का दिन, जानें इन तीन राशियों के लिए क्यों होगा शुभ ?

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

हरियाणा : इंजेक्शन मिलते ही भोजनालय, रेस्तरां और होटलों में भी होगा टीकाकरण

हरियाणा सरकार वैक्सीन की कमी दूर होते ही भोजनालय, रेस्तरां और होटलों में टीकाकरण शुरू करेगी। कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए यह निर्णय लिया गया है। स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि सरकार कोरोनारोधी इंजेक्शन की अधिकतम पहुंच सुनिश्चित करने में जुटी है। जो दिव्यांग स्वयं टीका लगवाने के लिए टीकाकरण केंद्र पर नहीं आ सकते, उन्हें लाने-ले जाने के लिए वाहन सेवा उपलब्ध करवाई जाएगी। 

सभी आशा वर्कर्स एवं संबंधित कर्मचारियों को दूसरी खुराक के टीकाकरण के लिए लाभार्थियों को जुटाने के निर्देश दे दिए हैं। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी एचसीडब्ल्यू यानी स्वास्थ्य देखभाल कर्मियों और एफएलडब्ल्यू यानि फ्रंटलाइन वर्कर्स के पंजीकृत लाभार्थियों को दूसरी खुराक कीकवरेज दर में सुधार के लिए पूरा प्रयास कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि दूसरी खुराक के कवरेज में सुधार के लिए सभी जिला अधिकारियों के साथ लाभार्थियों की सूची पहले ही साझा की जा चुकी है। राज्य सरकार का लक्ष्य प्रत्येक पात्र लाभार्थी का जल्द से जल्द टीकाकरण करना है। इसके लिए योजना तैयार की गई है, जिसे वैक्सीन की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित होते ही सिरे चढ़ाया जाएगा। हरियाणा देश के उन कुछ राज्यों में से एक है, जिन्होंने अपनी अधिकतम आबादी को कोविड-19 वैक्सीन लगाई है।

राज्य में 82 प्रतिशत स्वास्थ्य देखभाल कर्मियों (एचसीडब्ल्यू) और 82 प्रतिशत फ्रंटलाइन वर्कर्स (एफएलडब्ल्यू) को कोविड-19 वैक्सीन की पहली खुराक देने का कार्य सफलतापूर्वक पूरा किया जा चुका है। स्वास्थ्य विभाग को जल्द और अधिक वैक्सीन उपलब्ध होने की संभावना है। इसके बाद 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी लाभार्थियों का टीकाकरण प्राथमिकता के आधार पर किया जाएगा।

कोरोना : नए केस 426, ठीक हुए 944
प्रदेश में शनिवार को कोरोना के 426 नए केस दर्ज किए गए। वहीं, ठीक होने वालों की संख्या 944 रही। एक दिन की पॉजिटिविटी दर घटकर 1.23 प्रतिशत रह गई है। कोरोना की दूसरी लहर की संक्रमण दर भी घटकर 12.97 प्रतिशत तक पहुंच गई है। रिकवरी दर लगातार बढ़कर 98.15 फीसदी पर पहुंची है। एक्टिव केसों की संख्या 5186 रह गई है।

मौत के मामले नहीं हो रहे कम, दर 1.17 प्रतिशत
बेशक कुछ दिन से प्रदेश में कोरोना के मामलों में गिरावट आई है लेकिन मौत का आंकड़ा अभी भी कम नहीं हो रहा है। शनिवार को 45 मरीजों की मौत दर्ज की गई। इस समय हरियाणा में मृत्यु दर 1.17 प्रतिशत पहुंच गई है। हिसार में 8, पानीपत 6, जींद 5, गुरुग्राम-सिरसा-झज्जर 4-4, सोनीपत-कुरुक्षेत्र-महेंद्रगढ़ 1-1, भिवानी 3, फतेहाबाद-कैथल-अंबाला-यमुनानगर में 2-2 कोरोना मरीजों की मौत दर्ज की गई है।
... और पढ़ें
कोरोना वैक्सीन कोरोना वैक्सीन

हरियाणा: दम तोड़ने लगा कोरोना और फिर बड़े प्रदर्शन की तैयारी में जुटे किसान... पढ़ें प्रदेश की अन्य बड़ी खबरें 

हरियाणा भाजपा ने विभिन्न प्रकोष्ठों, विभागों में नई नियुक्तियां की हैं। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ओपी धनखड़ ने अपनी टीम में तजुर्बे को तवज्जो दी है। संतुलन बिठाते हुए भाजपा नेताओं को दायित्व सौंपे गए हैं। इनेलो, कांग्रेस से आए नेताओं को भी जिम्मेदारी सौंपी गई है। वहीं किसानों ने एलान किया है कि वे 26 जून को राजभवन पर राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपने के लिए किसी तरह की अनुमति नहीं लेंगे। पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

किसान आंदोलन: संयुक्त किसान मोर्चा ने किया बड़ा एलान, 26 जून को राजभवन पर करेंगे प्रदर्शन
संयुक्त किसान मोर्चा ने जजपा-भाजपा नेताओं के लिए गांवबंदी का एलान कर दिया है और उनको केवल अपने गांवों के अलावा किसी अन्य गांवों में घुसने नहीं देने की अपील ग्रामीणों से की गई है। वहीं किसान 26 जून को आंदोलन के सात महीने पूरे होने पर राजभवन पर प्रदर्शन करके राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन देंगे। इसके लिए किसी तरह की अनुमति भी किसान नहीं लेंगे। 
पढ़ें पूरी खबर...   

थम रहा संक्रमण: दूसरी लहर में अब तक सबसे कम 463 नए पॉजिटिव मिले, 43 मरीजों ने तोड़ा दम
हरियाणा में कोरोना की दूसरी लहर में अब तक के सबसे कम 463 नए केस मिले हैं, जबकि 1036 मरीज ठीक भी हुए हैं। राहत की बात यह है सभी जिलों में नए केसों की संख्या 50 से नीचे है, वहीं ठीक होने वालों की संख्या अधिक है। 
पढ़ें पूरी खबर...   

हरियाणा: ओपी धनखड़ की टीम विस्तार में तजुर्बे को तवज्जो 
हरियाणा भाजपा ने विभिन्न प्रकोष्ठों, विभागों में नई नियुक्तियां की हैं। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ओपी धनखड़ ने अपनी टीम में तजुर्बे को तवज्जो दी है। संतुलन बिठाते हुए भाजपा नेताओं को दायित्व सौंपे गए हैं। इनेलो, कांग्रेस से आए नेताओं को भी जिम्मेदारी सौंपी गई है। मीडिया पैनलिस्ट में अच्छे वक्ता सांसदों, विधायकों को जगह मिली है।
पढ़ें पूरी खबर...   
 
चार माह से लापता किसान बिजेंद्र को लेकर प्रदर्शन, जींद-चंडीगढ़ मार्ग बंद करने की चेतावनी
किसान आंदोलन में भाग लेने 26 जनवरी को दिल्ली गया कंडेला गांव का 27 वर्षीय बिजेंद्र आज तक लौटकर नहीं आया। चार महीने से बिजेंद्र का कोई अता-पता नहीं होने से उसकी मां चिंतित है। हर समय भरी आंखों से अपने बेटे की राह देखती रहती है।  
पढ़ें पूरी खबर...   

किसानों के लिए अच्छी खबर: एक सॉफ्टवेयर की मदद से पता लगा सकेंगे अपने चावल की गुणवत्ता 
किसानों के लिए एक अच्छी खबर है। अब वह खुद अपनी फसल का मूल्य निर्धारित कर सकेंगे। उन्हें पता होगा कि उनकी फसल का दाना-दाना कितना मजबूत है। इसके लिए केंद्रीय वैज्ञानिक उपकरण संगठन (सीएसआईओ) ने एक सॉफ्टवेयर तैयार किया है।
पढ़ें पूरी खबर...     ... और पढ़ें

हरियाणा में थम रहा संक्रमण: दूसरी लहर में अब तक सबसे कम 463 नए पॉजिटिव मिले, 43 मरीजों ने तोड़ा दम

हरियाणा में कोरोना की दूसरी लहर में अब तक के सबसे कम 463 नए केस मिले हैं, जबकि 1036 मरीज ठीक भी हुए हैं। राहत की बात यह है सभी जिलों में नए केसों की संख्या 50 से नीचे है, वहीं ठीक होने वालों की संख्या अधिक है। 6 जिलों में 10 से भी कम केस मिले हैं। इस समय हरियाणा में 5749 एक्टिव केस रह गए हैं। एक दिन की संक्रमण दर 1.24, दूसरी लहर की संक्रमण 13.8 और कुल संक्रमण दर 8.10 प्रतिशत है। हालांकि, मृत्यु दर बढ़कर 1.16 फीसदी पहुंच गई है।

संक्रमण से 43 की मौत
शुक्रवार को हरियाणा में 43 मरीजों की कोरोना संक्रमण से मौत हो गई। इनमें सबसे अधिक पानीपत में 7 और हिसार-सिरसा में 5-5 कोरोना मरीजों की मौत हुई है। गुरुग्राम-भिवानी झज्जर में 3-3, कुरुक्षेत्र-यमुनानगर-फतेहाबाद-कैथल-जींद-नूंह में 2-2, फरीदाबाद-सोनीपत-अंबाला-पलवल-महेंद्रगढ़ में 1-1 मरीज की मौत हुई है। 

कोरोना संक्रमण की चेन लगी टूटने: स्वास्थ्य मंत्री
गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि प्रदेश में ‘महामारी अलर्ट-सुरक्षित हरियाणा’ की व्यवस्था इस बात की ओर इशारा करती है कि कोरोना संक्रमण की चेन अब टूटने लगी है। ऐसा लोगों का विश्वास है कि आने वाले दिनों में हम कोरोना की चेन पूरी तरह से तोड़ने में सफल होंगे।

अनिल विज ने कहा कि हरियाणा सरकार द्वारा की गई व्यवस्था ‘महामारी अलर्ट-सुरक्षित हरियाणा’ कोरोना से बचाव को लेकर एक सुरक्षित व्यवस्था मिली है। लोगों की जान की रक्षा करना हम सबकी जिम्मेदारी है, इसलिए मास्क पहनना, सामाजिक दूरी बनाए रखना और बार-बार हाथों की सफाई भी कोरोना संक्रमण को रोकने के मूल मंत्रों में शामिल है। डॉक्टर, पैरा- वॉलंटियर्स, नर्सें, पुलिस कर्मचारी, सफाई कर्मी और अन्य सभी संबंधित विभागों ने पूरी ताकत लगा रखी है कि हर हालत में कोरोना को फैलने से रोकना है।
... और पढ़ें

हरियाणा स्कूल शिक्षा बोर्ड: दसवीं कक्षा का परिणाम जारी, कोई नहीं हुआ फेल, ओपन-प्राइवेट का रिजल्ट रुका

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने शुक्रवार को दसवीं कक्षा का परीक्षा परिणाम जारी कर दिया। आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर घोषित परिणाम शत प्रतिशत रहा। इस बार दसवीं कक्षा के लिए नियमित एवं कंपार्टमेंट के 3,24,623 परीक्षार्थी बोर्ड में पंजीकृत थे। इन सभी को उत्तीर्ण घोषित कर दिया गया। 

बीते साल की तरह इस बार भी कोई टॉपर घोषित नहीं किया गया है। इस बीच, हरियाणा सरकार ने नौंवी और 11वीं में फेल करीब 60 हजार छात्रों को पास होने का एक और मौका देने का फैसला किया है। बोर्ड के चेयरमैन प्रो. जगबीर सिंह ने शुक्रवार को दसवीं कक्षा के परीक्षा परिणामों को घोषित करते हुए बताया कि आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर सभी परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए हैं। इस मौके पर बोर्ड उपाध्यक्ष वीपी यादव व सचिव राजीव प्रसाद भी उपस्थित रहे। परीक्षा परिणाम दोपहर बाद तीन बजे बोर्ड की वेबसाइट
www.bseh.org.in  पर अपलोड कर दिए गए। 

उल्लेखनीय है कि दसवीं की बोर्ड परीक्षा अप्रैल माह में प्रस्तावित थी लेकिन कोविड-19 के कारण स्थगित कर दी गई। बाद में प्रदेश सरकार के निर्देश पर बोर्ड ने परीक्षाएं रद्द कर दीं। 10वीं के परीक्षार्थियों का परिणाम विद्यालयों द्वारा भेजे गए आंतरिक मूल्यांकन एवं प्रायोगिक परीक्षा के अंकों को आधार मानकर आनुपातिक अंक के आधार पर पर तैयार किए गए। बोर्ड की सेकेंडरी (नियमित) परीक्षा के लिए प्रदेश से 3,13,345 परीक्षार्थी पंजीकृत थे। इसमें 1,72,059 छात्र एवं 1,41,286 छात्राएं शामिल हैं। वहीं, कंपार्टमेंट परीक्षा के 11,278 परीक्षार्थियों का भी परिणाम घोषित किया गया है, जिनमें 5,884 छात्र एवं 5,394 छात्राएं शामिल हैं। 

ओपन परीक्षा का परिणाम बुधवार तक
बोर्ड ने ओपन से अप्लाई करने वाले व प्राइवेट परीक्षार्थियों का रिजल्ट फिलहाल जारी नहीं किया है। वह विचार कर रहा है कि किस प्रकार उनका मूल्यांकन किया जाए। ओपन परीक्षार्थियों का परिणाम बुधवार तक घोषित किया जा सकता है। ओपन में लगभग 50 हजार परीक्षार्थी हैं। प्राइवेट परीक्षार्थियों के परिणाम के बारे में बोर्ड ने फिलहाल कोई जानकारी नहीं दी है।


... और पढ़ें

हरियाणा: चार माह से लापता किसान बिजेंद्र को लेकर प्रदर्शन, जींद-चंडीगढ़ मार्ग बंद करने की चेतावनी

हरियाणा स्कूल शिक्षा बोर्ड।
किसान आंदोलन में भाग लेने 26 जनवरी को दिल्ली गया कंडेला गांव का 27 वर्षीय बिजेंद्र आज तक लौटकर नहीं आया। चार महीने से बिजेंद्र का कोई अता-पता नहीं होने से उसकी मां चिंतित है। हर समय भरी आंखों से अपने बेटे की राह देखती रहती है। इसको लेकर कंडेला गांव के काफी लोग शुक्रवार को डीसी डॉ. आदित्य दहिया से मिलने पहुंचे।

ग्रामीणों ने कहा कि प्रशासन दिल्ली पुलिस से बिजेंद्र का पता करवाए। यदि 18 जून तक बिजेंद्र का पता नहीं चला तो 19 जून से कंडेला गांव में जींद-चंडीगढ़ मार्ग को अनिश्चितकाल के लिए बंद कर दिया जाएगा। बिजेंद्र की मां ने कहा कि यदि बेटा एक दिन भी घर नहीं आए तो क्या गुजरती है, लेकिन उनका बेटा तो चार महीने से नहीं आया है। डीसी डॉ. आदित्य दहिया ने कहा कि वे हौसला रखें। सब ठीक हो जाएगा।

भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश प्रवक्ता छज्जूराम कंडेला ने बताया कि 26 जनवरी के आंदोलन के लिए गांव से सैकड़ों लोग दिल्ली गए थे। उनमें बिजेंद्र भी शामिल था। साथ गए लोगों ने बताया कि पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई के समय वह उनके साथ था। इसके बाद मची भगदड़ के बाद से ही उसका सुराग नहीं लग रहा है। छज्जूराम कंडेला ने बताया कि बिजेंद्र के पिता का करीब 15 साल पहले निधन हो चुका है। बिजेंद्र अपनी मां का सहारा था और खेती करता था। बिजेंद्र के नहीं आने से उसकी मां संतोष हर समय परेशान रहती है। लोगों ने प्रशासन से मांग की है कि अपने स्तर पर बिजेंद्र का पता करें।
... और पढ़ें

हरियाणा: सरकार ने लिया था एक लाख कोरोनिल किट खरीदने का फैसला, हाईकोर्ट में मिली चुनौती

हरियाणा सरकार द्वारा पतंजलि निर्मित कोरोनिल की एक लाख दवा किट खरीद को पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट में चुनौती दी गई है। याची ने हरियाणा सरकार के इस निर्णय पर रोक लगाने की मांग की है। हाईकोर्ट की रजिस्ट्री में दाखिल इस याचिका पर जल्द ही सुनवाई होगी।

फरीदाबाद निवासी अभिजीत ने अपनी याचिका में बताया कि पतंजलि ने कोरोनिल किट को जारी करते हुए इसे कोरोना का 100 प्रतिशत इलाज बताया था। इसके बाद आयुष मंत्रालय ने इस दावे पर पतंजलि को नोटिस जारी किया था। उत्तराखंड में भी इसी प्रकार का विवाद हुआ था जब आयुर्वेद विभाग के अधिकारी ने बताया था कि पतंजलि ने कोरोना की दवा के लिए नहीं बल्कि खांसी और बुखार के खिलाफ प्रतिरक्षा बूस्टर के लाइसेंस का आवेदन किया था। 


जून 2020 को पतंजलि के सीईओ बालकृष्ण ने खुद कहा था कि पतंजलि ने कोरोना का इलाज नहीं बनाया और कोरोनिल खांसी और बुखार जैसी एलर्जी के लिए प्रतिरक्षा बूस्टर है। इसी वर्ष फरवरी ने इस दवा को डब्ल्यूएचओ प्रमाणित बताया था, जबकि डब्ल्यूएचओ ने ट्विटर पर कहा कि उन्होंने किसी भी पारंपरिक दवा की न तो समीक्षा की है और न ही प्रमाणित किया है। 

याची ने कहा कि वर्तमान में प्रदेश को वैक्सीन, ऑक्सीजन, एंटीबायोटिक्स, विटामिन आदि की जरूरत है। इन सभी से ध्यान हटाकर एक ऐसी दवा पर सरकार ढाई करोड़ रुपये खर्च करने जा रही है, जिसका कोई वैज्ञानिक प्रमाण ही नहीं है। एक लाख किट को खरीद कर लोगों में इसका मुफ्त वितरण करने का फैसला और कुछ नहीं बल्कि जनता के पैसे की बर्बादी है।
... और पढ़ें

HBSE 10th Result 2021 Live: वेबसाइट पर भी परिणाम जारी, ऐसे देख सकते हैं अपना परिणाम

परेशानी: खेलो इंडिया यूथ गेम्स में 34 पहलवानों के खेलने पर संकट, अभी तक किसी ने नहीं किया आवेदन

खेलो इंडिया यूथ गेम्स में 34 पहलवानों के खेलने पर संकट है। यूथ गेम्स के लिए चयनित हुए पहलवानों को आवेदन करना होता है। मगर अभी तक किसी भी पहलवान ने आवेदन नहीं किया है। अब भारतीय कुश्ती संघ ने इस पर कड़ी नाराजगी जताते हुए सभी को बाहर निकालने की चेतावनी जारी कर दी है। 

भारतीय कुश्ती संघ के संयुक्त सचिव विनोद तोमर ने कहा कि अब उनको शनिवार तक का आखिरी मौका दिया है और पहलवान आवेदन नहीं करते हैं तो उनकी जगह दूसरे पहलवानों की सूची जारी कर दी जाएगी।


खेलो इंडिया यूथ गेम्स का आयोजन हरियाणा में होना है, जिनको कोरोना की स्थिति सामान्य होने पर नवंबर में कराया जाना है। भारतीय कुश्ती संघ ने राष्ट्रीय प्रतियोगिता के प्रदर्शन के आधार पर पहलवानों का चयन किया है। देशभर से 34 पहलवानों को चुना गया है और उनकी सूची जारी करके खेलो इंडिया के पोर्टल पर आवेदन करने के लिए कहा गया था, लेकिन एक भी पहलवान ने अभी तक खेलो इंडिया के पोर्टल पर आवेदन नहीं किया है। इसे बड़ी लापरवाही मानते हुए भारतीय कुश्ती संघ के पदाधिकारियों ने नाराजगी जताई है और इन 34 पहलवानों को खेलो इंडिया यूथ गेम्स की सूची से बाहर निकालने की चेतावनी जारी कर दी है।  

6 महिला और 28 पुरुष पहलवान शामिल
खेलो इंडिया यूथ गेम्स के लिए जिन 34 पहलवानों का चयन किया गया, उनमें छह महिला पहलवान शामिल हैं तो 28 पुरुष पहलवान हैं। इनमें हरियाणा से 5, दिल्ली से 6, मणिपुर से एक, महाराष्ट्र से 8, पंजाब से 3, तेलंगाना से एक, यूपी से दो, बिहार से दो, चंडीगढ़ से दो, जम्मू कश्मीर से एक, उत्तराखंड से एक, एसएससीबी से एक, गुजरात से एक पहलवान शामिल हैं। 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन