विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus in HP : लॉकडाउन और कर्फ्यू के चलते फंसे चार लाख प्रवासी कामगार

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन और कर्फ्यू के चलते हिमाचल में चार लाख प्रवासी कामगार फंस गए हैं।

29 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

हमीरपुर (हि. प्र.)

रविवार, 29 मार्च 2020

कर्फ्यू के चलते पशुओं को चारा, पोल्ट्री को फीड की किल्लत

बड़सर/हमीरपुर। प्रदेशभर में कर्फ्यू के कारण जिले के पशुपालकों को चारे, फीड और पोल्ट्री फार्म संचालकों को फीड की किल्लत हो गई है। पशुओं के लिए तूड़ी व फीड पंजाब और हरियाणा से आती थी, लेकिन कर्फ्यू के चलते बाहरी प्रदेशों से ऐसे वाहनों की आवाजाही बिल्कुल ठप है। महज जरूरी चीजों के वाहन ही प्रदेश व जिले में आ रहे हैं। ऐसे में पशुपालकों को अपने पशुओं को पालना मुश्किल हो गया है। पशुपालकों विनोद कुमार, संजीव कुमार, दिनेश कुमार, जीवन चंद, रवि कुमार का कहना है कि प्रशासन ने हमें तो तीन घंटे की मोहलत राशन इत्यादि खरीदने को दी है, लेकिन पशुओं के लिए तूड़ी व फीड न आने से पशु भूखे हैं।
ग्रामीण क्षेत्रों में तो लोग अपने खेतों से पशुओं को चारा ला भी रहे हैं, लेकिन शहरी क्षेत्र सहित ऐसे पशुपालक जो फीड और तूड़ी सहित खरीदे गए घास को ही पशुओं को खिलाने के लिए निर्भर हैं, परेशानी में है। वहीं पोल्ट्री फार्म में मुर्गों को फीड उपलब्ध नहीं हो पा रही है। कोरोना वायरस के चलते एक तो लोग मुर्गा खाने से परहेज कर रहे हैं और ऐसे में फार्म से मुर्गों की तादाद नहीं घट रही है। ऐसे में फार्म संचालकों को फीड के लिए बिना कमाई से पैसे खर्च करने पड़े। अब तो फीड पहुंच ही नहीं रही है। इस कारण पशुपालकों और पोल्ट्री फार्म संचालकों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इन पशुपालकों और पोल्ट्री फार्म संचालकों ने चारा व फीड उपलब्ध करवाने की मांग प्रशासन व सरकार से की है।
... और पढ़ें

आवश्यक कार्यों के लिए फेसबुक पेज पर करें बात : एसडीएम

नादौन (हमीरपुर)। एसडीएम नादौन किरण बड़ाना ने क्षेत्रवासियों से आग्रह किया है कि किसी भी समस्या के लिए उनके कार्यालय से जारी किए गए फेसबुक पेज का प्रयोग करें। उन्होंने बताया कि अनावश्यक उनके कार्यालय में आने से बचें और अधिकतर अपने कार्यों के लिए कार्यालय के फोन पर संपर्क करें। बड़ाना ने बताया की व्यवस्था की जा रही है कि उनके कार्यालय से अधिकतर कार्य ऑनलाइन ही करवाए जा सकें। जिसके लिए सबसे पहले एसडीएम के अकाउंट से फेसबुक जारी की गई है। उन्होंने लोगों से कहा कि वह अपने क्षेत्र में इस आपदा के समय आ रही किसी भी समस्या की जानकारी इस फेसबुक पर डाल सकते हैं। उनकी समस्या का समाधान इसी सूचना के आधार पर करने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने लोगों से आग्रह किया है कि किसी आपात स्थिति से निपटने के लिए राशन के पैकेट एकत्रित किए जा रहे हैं, जिन्हें रिजर्व किया जा रहा है। यदि किसी क्षेत्र में किसी प्रवासी मजदूर के पास राशन नहीं है तो उनके कार्यालय में संपर्क करें। ऐसे लोगों को प्रशासन की ओर से राशन वितरित किया जाएगा। ... और पढ़ें

बिजली कर्मचारियों से पुलिस की बदसलूकी निंदनीय : खरवाड़ा

नादौन (हमीरपुर)। हिमाचल प्रदेश बिजली बोर्ड कर्मचारी यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप खरवाड़ा ने कहा कि बोर्ड के कर्मचारी कोरोना जैसी भंयकर बीमारी के चलते अपनी जान को खतरे में डाल कर राज्य सरकार के आदेशों पर बिजली आपूर्ति को सुचारु बनाए रखने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं। लेकिन, ड्यूटी पर तैनात बिजली कर्मचारियों की प्रदेश के विभिन्न हिस्सों से पुलिस द्वारा परेशान करने, मारपीट, धक्कामुक्की और गाली गलौज करने के कई मामले सामने आए हैं। यूनियन को प्रदेश के विभिन्न हिस्सों से पुलिस की बदसलूकी की शिकायतें आ रही हैं। पुलिस की ओर से बिजली बोर्ड के अधिकारियों द्वारा जारी किए गए पहचान पत्र को मानने के बजाय कर्फ्यू पास मांगा जा रहा है। कई अधिकारियों और कर्मचारियों के कर्फ्यू पास बनाए जाने की प्रक्रिया चलाई जा रही है।
लेकिन, पुलिस के कुछेक कर्मचारियों की ओर से संयम से काम न लेने व जिम्मेदार कर्मचारी की भूमिका निभाने की बजाय लठेतों जैसा व्यवहार किया जा रहा है। जिसको बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। यूनियन समस्त प्रदेश पदाधिकारियों व यूनिट प्रधान व सचिवों से आह्वान करती है कि वह अपने स्थानीय अधिकारियों से बातचीत करके कर्मचारियों के कर्फ्यू पास जारी करवाने के लिए कहें और जब तक कर्फ्यू पास जारी नहीं हो जाते हैं तब तक कर्मचारी घर से बाहर ड्यूटी के लिए न निकलें। यूनियन ने बिजली बोर्ड के समस्त कर्मचारियों से अपील की है कि वह सबसे पहले अपनी सुरक्षा का ध्यान रखते हुए अपनी ड्यूटी का निर्वहन करें ताकि, किसी किस्म की अनहोनी न हो। कर्मचारियों से बदसलूकी व मारपीट का मामला प्रबंध निदेशक के ध्यान में लाया गया है।
... और पढ़ें

लॉकडाउन और कर्फ्यू के बीच राहत लेकर आए रामायण और महाभारत धारावाहिक

केंद्र सरकार इस प्रयास में है कि लोग घरों में रहें और कोरोना वायरस से जनित महामारी से अपना बचाव कर सकें। लोगों को घरों में ही रोकने के लिए सरकार ने दूरदर्शन पर रामायण और महाभारत जैसे धार्मिक सीरियल शुरू किए हैं। बड़े-बुजुर्ग रामायण के बारे में तो यहां तक कहते हैं कि जब इसका प्रसारण टीवी पर होता था तो कर्फ्यू जैसी स्थिति उस समय हो जाया करती थी।

मौजूदा परिवेश में कोरोना वायरस से बचाव में जुटे नागरिकों को दूरदर्शन के चैनल पर एक बार फिर 90 के दशक में प्रसारित किए गए रामायण व महाभारत जैसे टीवी धारावाहिक फिर से शुरू किया है ताकि लोग अधिक से अधिक अपने घरों में रहें तथा मनोरंजन के साथ नई पीढ़ी को इतिहास की जानकारी भी मिले। 

इस सीरियल के शुरू होने से लोगों ने सरकार का आभार जताया है। घर में बैठ कर सरकार के बताए नियमों का पालन कर रहे नागरिकों के लिए समय बिताने के साधन के साथ पुराने समय की याद एक बार फिर ताजा हो रही है। शनिवार सुबह 9 बजे रामायण व 12 बजे महाभारत धारावाहिक देख दूरदर्शन के चैनलों को भी लोग सर्च कर सेट कर रहे हैं।

क्षेत्र के लोगों में रमेश लौ, ईश्वर चंद्र, विकास, संजय शर्मा, अतुल कालिया, इंदरजीत, बीडी पराशर, संजीव, तनुजा शर्मा, अंजू, इंदु शर्मा आदि के अनुसार इन धारावाहिकों के शुरू होने से न केवल समय अच्छा बीतेगा बल्कि युवाओं को भी भारत की पुरानी संस्कृति जानने का अवसर मिलेगा ।

घरों में बैठ टीवी स्क्रीन पर लोगों ने देखी रामायण
कर्फ्यू के दौरान घरों में बैठे लोगों ने टीवी स्क्रीन पर रामायण धारावाहिक देखा। शनिवार सुबह से लोग अपने घरों में रामायण धारावाहिक देखने के लिए काफी उत्सुक दिखाई दिए। करीब तीन दशक बाद रामायण धारावाहिक को दोबारा शुरू किया गया है।

केंद्र सरकार ने कर्फ्यू और नवरात्रों के दौरान रामायण धारावाहिक को दोबारा शुरू करवाया है। शनिवार सुबह और रात को 9 बजे इसका प्रसारण शुरू हो गया है। शनिवार की सुबह अधिकतर लोगों ने घरों में बैठकर रामायण के पहले एपिसोड को देखने का लुत्फ उठाया। नेशनल चैनल पर शनिवार से इसका प्रसारण शुरू हो गया है।

कर्फ्यू के चलते नवरात्र में कन्या पूजन भी रुका
कोरोना वायरस के चलते नवरात्रों के दौरान घर-घर होने वाला कन्या पूजन नहीं हो रहा है। कर्फ्यू का लोग पालन कर रहे हैं। इस बार लोग अपने घर में ही परिवार सहित पूजा कर रहे हैं। नवरात्रों के दौरान सार्वजनिक स्थलों पर भंडारों और पूजा सहित जागरण का आयोजन भी होता है।

लेकिन लोग इस बार इन सब से दूर हैं। गृहिणियों रीना देवी, मीरा देवी, तारो देवी, कश्मीरा देवी, सुनीता एवं सुरेंद्र कुमार, विशंभर दास, अरविंद कुमार का कहना है कि इस बार कोरोना वायरस की वजह से कन्या पूजन सहित भंडारे और जागरण नहीं करवाए जा रहे हैं।

सरकार व स्वास्थ्य विभाग के आदेशों व एडवाइजरी की पालना की जा रही है। अगर हालात सामान्य होते हैं तो आगामी नवरात्रों में ये कार्यक्रम हो जाएंगे। बहरहाल, घर में ही परिवार सहित पूजा अर्चना कर रहे हैं।
... और पढ़ें
Ramayan Ramayan

कोरोना ने बढ़ाईं गंभीर रोगों से पीड़ित मरीजों की दिक्कतें

गंभीर बीमारी से पीड़ित मरीजों को उपचार के लिए बाहरी राज्य में जाने में मुश्किल हो रही है। कई मरीजों को पीजीआई समेत अन्य निजी सुपर स्पेशियलिटी अस्पतालों में कीमोथैरेपी या किडनी ट्रांसप्लांट के लिए पहुंचना मुश्किल हो गया है। चिकित्सा परामर्श या दवाई न मिलने पर मृत्यु का भय उन्हें सता रहा है।

क्षेत्र के रमेश चंद का किडनी ट्रांसप्लांट हुआ है। इन्हें नियमित दवाई का सेवन करना पड़ता है। दवाई खत्म हो चुकी है। कर्फ्यू के दौरान वह चंडीगढ़ से अपने दवाई कैसे लाएं? गाड़ी की सुविधा भी नहीं है। एचआरटीसी बसों में इन्हें निशुल्क बस पास की सुविधा है। उनके साथ एक अटेंडेंट भी जा सकता है। अब समस्या यह है कि वह कैसे दवाई लाएं व इलाज करवाएं। 

सूरम चंद डेराबस्सी में एक निजी अस्पताल के आईसीयू में हैं। इनकी देखभाल के लिए रिश्तेदार को वहां जाना है, लेकिन कोई सुविधा नहीं मिल रही है। कोटला गांव में पत्नी के साथ रह रहे हरवंश दत्त ने बताया कि उनकी पत्नी का पंचकूला के एक अस्पताल में ऑपरेशन हुआ है। विशेष इंजेक्शन लगाने के लिए पंचकूला ले जाना है। बिझड़ी की कांता को हमीरपुर रेफर किया गया है।

इन्होंने कहा कि यदि उन्हें अपने जीवन रक्षक दवाई ही नहीं मिलेगी तो वह कोरोना से कैसे लड़ पाएंगे। प्रशासन से इन लोगों ने आग्रह किया कि बाहरी राज्यों के लिए ऐसी दवाई लाने या जाने की सुविधा दी जाए। संकट की घड़ी में ऐसे लोगों को मदद की दरकार है। उधर, एसडीएम प्रदीप कुमार ने बताया कि अगर इन लोगों को कर्फ्यू पास की जरूरत है तो इनके पास बना दिए जाएंगे।
... और पढ़ें

लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर दुकानदार के खिलाफ केस दर्ज

लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर दुकानदार के खिलाफ केस दर्ज
करियाना दुकानदार ने शाम 6 बजे तक खुली रखी थी दुकान
कफ्र्यू का उल्लंघन करने पर बड़सर थाना में दूसरा केस दर्ज
कबाड़ स्टोर से पुलिस ने 4 पेटी अवैध शराब बरामद की
अमर उजाला ब्यूरो
हमीरपुर/सुजानपुर। पुलिस थाना बड़सर के तहत लॉकडाउन एवं कर्फ्यू का उल्लंघन करने पर एक दुकानदार के खिलाफ केस दर्ज हुआ है। दुकानदार ने कर्फ्यू और लॉकडाउन का उल्लंघन कर निर्धारित समय अवधि से अधिक तक दुकान खुली रखी थी। पुलिस की टीम ने दबिश देकर दुकानदार के खिलाफ मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। शुक्रवार शाम को लोहारड़ा निवासी बलदेव सिंह ने अपनी किराना की दुकान खोली हुई थी।
नियमों के अनुसार कर्फ्यू के दौरान सुबह 7 से 10 बजे तक ही ढील दी गई है। नियमों का उल्लंघन कर उक्त दुकानदार ने अपनी दुकान खुली रखी थी। जिस पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए भारतीय दंड संहिता की धारा 188 और डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट की धारा 51 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। इससे पूर्व भी 23 मार्च को बड़सर थाने के तहत लॉकडाउन की उल्लंघन करने पर एक दुकानदार पर केस दर्ज हुआ था। थाना प्रभारी बड़सर मस्तराम का कहना है कि पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है शुक्रवार को दुकान बंद करवा दी गई थी। उधर, पुलिस थाना सुजानपुर के तहत स्थानीय कस्बे के कबाड़ स्टोर से पुलिस ने 4 पेटी अवैध शराब बरामद की है। इनमें से 3 पेटी देसी शराब की है, जबकि 1 पेटी अंग्रेजी शराब की है। पुलिस ने शराब को जब्त कर मामला दर्ज कर आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है। उधर, थाना प्रभारी सुजानपुर सुभाष शास्त्री का कहना है कि शराब बरामद कर मामला दर्ज कर छानबीन की जा रही है।
... और पढ़ें

उपमंडल के बाजारों में सब्जी विक्रेताओं की मनमानी

गारली (हमीरपुर)। एक तरफ कोरोना वायरस के चलते लागू कर्फ्यू के कारण लोगों का कारोबार और रोजगार बंद है। वहीं, दूसरी तरफ सब्जियों के दाम आसमान पहुंच गए हैं। सब्जी मंडी हमीरपुर की ओर से निर्धारित किए गए थोक भाव और परचून भाव के बीच जमीन आसमान का अंतर है। उपमंडल के बिझड़ी, धंगोटा, महारल, सलौणी और अन्य बाजारों में दुकानदार सब्जियों के दाम मनमर्जी से वसूल रहे हैं। बिझड़ी व साथ लगते बाजारों में टमाटर 100 रुपये प्रति किलो बेचा जा रहा है। जबकि, थोक मंडी में इसका रेट 45 से 55 रुपये चल रहा है। 32 रुपये किलो मिलने वाला प्याज 50 से लेकर 70 रुपये तक बेचा जा रहा है। मैहरे व भोटा बाजार में टमाटर 40 से 60 रुपये तथा प्याज 40 रुपये प्रति किलो बेचा जा रहा है। लोग केवल 10 किलोमीटर के अंतर पर कीमतों में इतने अंतर का कारण समझ नहीं पा रहे हैं।
ढटवाल के सब्जी विक्रेता ऊना बंगाणा के एक थोक विक्रेता से सब्जी लेते हैं। घर द्वार सब्जी मिल जाने के कारण उनको महंगे दामों पर आगे बेचा जा रहा। जिसका खामियाजा आम लोग उठा रहे हैं। यही नहीं इलाके की दुकानों में रेट लिस्ट भी गायब है। अगर दिख भी जाए तो उसे पढ़ना मुश्किल होता है। लोगों बुद्धि सिंह, सुरेश कुमार, जीवन शर्मा, विक्रम पठानिया, शकुंतला देवी, सीमा शर्मा और अर्पणा ठाकुर ने प्रशासन से मांग की है कि दुकानदारों को हर सामान पर अलग से मूल्य प्रदर्शित करने के आदेश दिए जाएं तथा दोगुने दामों पर सब्जियां देने वालों को सबक सिखाया जाए। नियमों के अनुसार सब्जी विक्रेता क्यू फार्म पर प्रदर्शित रेटों पर 5 फीसदी ही लाभ ले सकते हैं। उधर, एसडीएम बड़सर प्रदीप कुमार के अनुसार इस तरह की शिकायत पहले भी मिली हैं। जल्दी ही बाजारों के दौरा करके मनमानी कर सब्जियां बेचने वालों पर शिकंजा कसा जाएगा।
... और पढ़ें

आपात स्थिति में कर्फ्यू पास के लिए करें व्हाट्सऐप : अर्जित

हमीरपुर। जिला पुलिस ने आपात स्थिति में कर्फ्यू पास के लिए व्हाट्सऐप नंबर जारी किए हैं ताकि, कोई बीमार या मृत्यु समेत अन्य आपात स्थिति में कर्फ्यू पास प्राप्त कर सकें। पुलिस सहायता कक्ष नंबर 01972-224339, 112 पर कॉल कर सकते हैं और व्हाट्सऐप के लिए 78769-16802, 78769-16814, 78769-16818 और 78769-16825 पर संपर्क कर सकते हैं। पुलिस अधीक्षक हमीरपुर अर्जित सेन ठाकुर ने कहा कि कई लोग इधर-उधर फंसे हुए हैं। जबकि, कुछ लोगों को बीमारी के इलाज के लिए मुश्किलें पेश आ रही हैं, जिसके चलते पुलिस ने आपात स्थिति में व्हाट्सऐप नंबर जारी किए हैं। उन्होंने कहा कि केवल आपात स्थिति में ही इन नंबरों का प्रयोग करें, दुरुपयोग पर पुलिस कानूनी कार्रवाई के लिए बाध्य होगी। ... और पढ़ें

150 क्विंटल खाद्य सामग्री बांटी, आज से पशुओं को मिलेगा चारा

हमीरपुर। उपायुक्त हरिकेश मीणा ने शनिवार को जिला में कोविड-19 कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने संबंधी उपायों और आवश्यक वस्तुओं की सुचारु आपूर्ति के प्रबंधों की सभी उपमंडलाधिकारियों (नागरिक) के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा की। उन्होंने सभी विक्रेताओं को जमाखोरी रोकने और निर्धारित दरों से अधिक मूल्य न वसूलने के निर्देश दिए हैं और उपमंडलाधिकारी (ना.) खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग के साथ मिलकर ऐसे मामलों पर कड़ी नजर रखें। अगर कोई विक्रेता दुकान पर मूल्य सूची नहीं दर्शाता है तो उसके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई अमल में लाएं।
जमाखोरी को रोकने के लिए परचून से लेकर थोक विक्रेता तक खाद्य वस्तुओं की अधिकतम भंडारण की सीमा निर्धारित की जा रही है। जिले में इस समय लगभग 18 हजार प्रवासी मजदूरों की पहचान की गई है। नादौन व हमीरपुर में इनकी संख्या काफी अधिक है। इन्हें आवश्यक खाद्य वस्तुएं वितरित करने के लिए सभी उपमंडलाधिकारी (ना.) लॉजिस्टिक सेल के साथ मिलकर कार्य करें। गत दिवस भी लगभग 150 क्विंटल खाद्य सामग्री इनमें वितरित की गई। नादौन में स्थानीय संस्था के सहयोग से प्रशासन की ओर से लगभग 600 पैकेट खाने के वितरित किए गए हैं। पशुओं को चारा उपलब्ध करवाने के लिए 15 वाहन लगाए गए हैं और रविवार से बाहर से चारा आना प्रारंभ हो जाएगा।
स्थानीय प्रशासन के माध्यम से ही करें मदद
उन्होंने कहा कि जिले के निराश्रित, गरीब व असहाय लोगों को खाद्य सामग्री इत्यादि उपलब्ध करवाने के लिए काफी संख्या में दानी-सज्जन भी आगे आ रहे हैं। इसके लिए वे जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के टॉल फ्री नंबर 1077, 221277, 221377, 221477 व 221877 पर भी संपर्क कर सकते हैं अथवा इसकी वेबसाइट पर लॉग इन कर अपनी मांग भेज सकते हैं।
... और पढ़ें

आज से फिर सुबह 7 बजे से 10 बजे तक निकल पाएंगे बाहर

हमीरपुर। कर्फ्यू के दौरान जरूरी वस्तुओं की खरीदारी के लिए फिर से सुबह 7 बजे से 10 बजे तक का समय निर्धारित कर दिया गया है। दोपहर एक बजे तक ढील देने के आदेशों को वापस ले लिया गया है। उपायुक्त हरिकेश मीणा ने कहा कि हमीरपुर जिले में कर्फ्यू के दौरान लोगों को आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए उचित प्रबंध किए जा रहे हैं। जिले की सभी नगर परिषद व नगर पंचायतों तथा उप नगरीय क्षेत्रों में दूध व सब्जियों की घर-घर आपूर्ति की व्यवस्था की जा रही है। मीणा ने कहा कि पड़ोसी राज्य पंजाब से फल-सब्जियों की आपूर्ति प्रारंभ हो गई है। शुक्रवार को हमीरपुर में 250 क्विंटल के लगभग तथा नादौन में लगभग 105 क्विंटल फल-सब्जियां पहुंची हैं।
फल-सब्जियों की मांग के अनुसार आपूर्ति के लिए पंजाब से समन्वय स्थापित किया जा रहा है और लगभग 36 वाहन इस ढुलाई कार्य में लगाए गए हैं। शहर में दूध की आपूर्ति सुचारु होने के बाद शनिवार से सब्जियों की आपूर्ति भी पर्याप्त मात्रा में सुनिश्चित की जाएगी। शहर में फल-सब्जियों की आपूर्ति के लिए सभी परिवारों का मोबाइल नंबर सहित ब्योरा एकत्र किया गया है। प्रति परिवार सब्जियों की मांग का ब्योरा एक दिन पूर्व ही प्राप्त कर उसके अनुसार इसकी घर-घर आपूर्ति सुनिश्चित की जाएगी। इसके लिए शहर के सभी वार्डों में क्लस्टर बनाए जाएंगे। सब्जियों की ढुलाई में लगे वाहनों के नंबर तथा आपूर्ति का समय संबंधित वार्ड के निवासियों के साथ सोशल मीडिया व अन्य माध्यमों से साझा किए जाएंगे। इसी तर्ज पर किराना और राशन आपूर्ति के लिए भी कार्य योजना तैयार की जा रही है, ताकि लोग घरों से कम से कम बाहर निकलें और उन्हें आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति घर-द्वार पर ही मिल सके।
बाक्स:
दानी-सज्जनों से इस मानवीय कार्य में सहयोग का आग्रह किया
जिले में करीब 10 हजार प्रवासी मजदूर पंचायत स्तर पर हैं। उन्हें 10 किलो आटा, पांच किलो चावल, एक-एक किलो दो दालें, नमक, खाद्य तेल तथा मसाले इत्यादि का पैकेट प्रति परिवार प्रदान किया जाएगा। बाबा बालक नाथ मंदिर ट्रस्ट की ओर से लगभग 400 पैकेट उपलब्ध करवाए जा रहे हैं और कई दानी-सज्जन भी इसमें सहायता के लिए आगे आए हैं। 28 मार्च तक इन सभी प्रवासी मजदूर परिवारों को राशन उपलब्ध करवाने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने सभी दानी-सज्जनों से इस मानवीय कार्य में सहयोग का आग्रह किया है। इसके लिए संबंधित व्यक्ति या संस्था जिला आपदा कोष के माध्यम या जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के दूरभाष नंबर 01972-221477, 221277, 221377, 221877 व 1077 पर संपर्क कर सकते हैं और लॉजिस्टिक सेल के माध्यम से इसमें सहयोग दे सकते हैं।
... और पढ़ें

दो युवक 300 किलोमीटर दूर से पैदल पहुंच गए हमीरपुर

हमीरपुर। उपमंडल सुजानपुर के रहने वाले दो युवक पिंजौर से करीब 300 किलोमीटर दूर अपनी कंपनी से पैदल चलकर हमीरपुर पहुंच गए। लक्की और संदीप ने बताया कि वह पिंजौर में एक टेक्सटाइल कंपनी में काम करते हैं। लेकिन, कोरोना के चलते कंपनी में कार्य बंद है। किराये के कमरे में रहते हुए उनके पास पैसे और राशन भी खत्म हो चुका था। वहीं, एचआरटीसी, निजी बसें और टैक्सियां बंद होने के चलते वह पैदल ही अपने घर के लिए चल पड़े थे। रास्ते में जहां भी कोई वर्षाशालिका दिखी, वहीं रात गुजार ली। यही नहीं खाने के लिए भोजन न मिलने के चलते बिस्कुट से पेट भरकर गुजारा किया। गांधी चौक पहुंचने पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विजय सकलानी ने इन युवकों से पूछताछ की और घर पहुंचने से पहले मेडिकल करवाने की सलाह दी। ... और पढ़ें

पांच दिन बाद पहुंची सब्जी की सप्लाई, लोगों की भीड़ से हालात बिगड़े

नादौन (हमीरपुर)। सब्जी उपमंडी नादौन में शुक्रवार सुबह पांच दिनों बाद पहुंची सब्जी और फलों की सप्लाई के बाद इन्हें खरीदने के लिए लोगों की भीड़ लग गई। सब्जी मंडी के बाहर सब्जी ढोने के लिए वाहनों की कतारें लग गईं। हर कोई पहले सब्जी-फल खरीदने की होड़ में लग गया। करीब 400 लोग सुबह ही सब्जी मंडी में वाहनों को लेकर सब्जी-फल लेने पहुंचे। हालात और अफरातफरी के माहौल के बीच किसी ने इस बारे पुलिस को सूचना दी। थाना प्रभारी प्रवीण राणा की अगुवाई में पुलिसकर्मियों ने हालात पर काबू पाया। उप मंडी के आढ़ती बबलू ने बताया कि गत पांच दिनों से बाजार में सब्जी, फल की भारी कमी आ गई थी और लोग पुरानी सब्जी व फल खरीदने को मजबूर थे।
उन्होंने बताया कि वीरवार को उपायुक्त हमीरपुर हरिकेश मीणा के नादौन दौरे के दौरान इस समस्या को उठाया गया तो उनके निर्देश पर एसडीएम नादौन किरण बड़ाना ने आढ़तियों को विशेष पास जारी किए। जिसके बाद ही सप्लाई संभव हो सकी है। उन्होंने बताया कि शुक्रवार को प्रत्येक खरीदार को एक बराबर सब्जियों व फलों की बिक्री की गई ताकि, हर क्षेत्र में सब्जी व फल पहुंच सके। उन्होंने बताया कि अभी भी मांग के अनुसार सप्लाई नहीं पहुंची है। वाहन पंजाब आदि राज्यों में नहीं जा पा रहे थे, परंतु प्रशासन के सहयोग से यह संभव हो सका है। उधर, कुछ लोगों ने आरोप लगाया कि सब्जी के दामों में वृद्धि हुई है। इस संबंध में थाना प्रभारी प्रवीण राणा ने बताया कि सूचना मिलते ही मौका पर पहुंचकर हालात पर काबू पाया गया। जबकि, वहां प्रत्येक व्यक्ति को हाथ में ग्लब्स तथा मास्क पहनने की सख्त हिदायत दी गई। फिर भी कोई इन निर्देशों की अवहेलना करता हुआ पाया गया तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।
... और पढ़ें

दूल्हे की बरात और दुल्हन की डोली पर कोरोना का खतरा

जाहू (हमीरपुर)। दूल्हे की बरात और दुल्हन की डोली चीन से आए कोरोना वायरस ने रोक दी है। शादियों के जश्न में इस वायरस ने खलल डालकर दूल्हा और दुल्हन पक्ष की तैयारियों पर पानी फेर दिया है। प्रदेश में अप्रैल माह में शादियों का सिलसिला शुरू होने वाला है। परंतु सरकारी विभागों और निजी कंपनियों में काम करने वाले दूल्हे और दुल्हन कई जगह कर्फ्यू के कारण अपने-अपने ड्यूटी संस्थानों और क्षेत्रों में फंसे हुए हैं। अधिकतर दूल्हे और दुल्हन के परिवार वालों ने कोरोना वायरस के चलते शादियों को इस वायरस के खतरे के खत्म होने के बाद करने पर चर्चा छेड़ दी है। दोनों परिवारों की ओर से पूरी तैयारियां कर ली गई हैं। कई जगह दूल्हे और दुल्हन वालों ने आपस में सहमति बनाकर शादी करने का निर्णय अगली तिथियों को करने का फैसला लिया है।
इसके लिए दूल्हे और दुल्हन वाले विवाह करवाने वाले पुरोहितों को पूछ कर शादी का दूसरा मुहूर्त निकालने में जुट गए हैं। भोरंज उपमंडल के मनभी गांव के कमल कुमार ने बताया कि उनके भांजे की शादी 13 अप्रैल को थी। परंतु कोरोना वायरस के चलते शादी को रोक दिया गया है। शादी की अगली तिथि पंडित से मुहूर्त निकाल कर तय की जाएगी। उधर, सतीश कुमार ने बताया कि उनके भतीजे की शादी भी अप्रैल 20 को है। परंतु कोरोना वायरस की वजह से शादी रोकने का निर्णय लिया गया है। अगली तिथि मुहूर्त के अनुसार तय की जा रही है। यही हाल प्रदेश के अन्य जिलों में होने वाली शादियों का भी है। कुछ शादियां ऐसे भी रुकी हैं जो दूल्हे फौज में अपनी सेवाएं दे रहे हैं। लेकिन, कोरोना वायरस के फैलने की वजह से फौजी को छुट्टी न मिलने की वजह से शादी को रोकना पड़ रहा है। कोरोना वायरस के चलते केंद्र और राज्य सरकार ने फैसला लिया है कि 4 या 5 से अधिक लोग इकट्ठे नहीं हो सकते हैं। जिसकी वजह से लोगों ने शादियों को रोकने का निर्णय लिया है। उधर, पंडित विश्न दास ने कहा कि लोग उन्हें शादियों को स्थगित कर आगामी तिथियों व मुहूर्त के बारे में फोन कर रहे हैं।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us