विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

पंजाब से पैदल ही पहुंच गए 400 से अधिक लोग, डीसी ने बसों में भेजा घर

पंजाब सीमा से सटे जिले के बैरियरों से सैकड़ों लोग पैदल ही अपने घर पहुंच रहे हैं। रविवार को मैहतपुर, पंडोगा एवं गगरेट बैरियर से करीब 470 हिमाचली पैदल ऊना पहुंचे।

30 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

मंडी

सोमवार, 30 मार्च 2020

सोशल मिडिया पर कोरोना को लेकर भ्रांतिया फैलाने पर कसा शिकंजा

सुंदरनगर (मंडी)। कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को लेकर एक ओर सब भयभीत हैं, वहीं दूसरी ओर कुछ ऐसे शरारतीतत्व भी हैं जो सोशल मीडिया के माध्यम से गलत जानकारियां शेयर कर और अफवाह फैला कर लोगों को गुमराह कर रहे हैं। ऐसे ही एक शख्स के खिलाफ सुंदरनगर पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार विनोद कुमार नामक एक युवक लगातार फेसबुक पर कोरोना वायरस को लेकर विभिन्न प्रकार की भ्रांतियां फैलाकर लोगों को गुमराह करने का प्रयास कर रहा था। जब इसकी सूचना सुंदरनगर पुलिस को मिली तो उसके खिलाफ थाना सुंदरनगर में प्राथमिकी दर्ज की गई है। डीएसपी गुरबचन सिंह ने बताया कि इस समय जब देश कोरोना पर जीत हासिल करने के लिए एकजुटता से सहयोग कर रहा है तो ऐसे में कुछ लोग समाज में भ्रांतियां फैला कर लोगों को गुमराह और भयभीत करने का प्रयास कर रहे हैं। ऐसे लोगों के खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है और आगे भी जारी रहेगी। ... और पढ़ें

कर्फ्यू में ढील मिलने पर लोगों ने की खरीददारी

मंडी। हिमाचल में लगाए गए कर्फ्यू के दौरान दी गई मामूली ढील में लोग भारी संख्या में चौपहिया और दोपहिया वाहनों में बाजारों से सामान लेने निकल पड़े। सुबह दस से दोपहर दो बजे तक सब्जी मंडी समेत गली मोहल्लों की दुकानों में सामान खरीदने के लिए मारामारी मची रही। पुलिस ने सख्ती बढ़ाई तो कई स्थानों पर तू-तू मैं-मैं की नौबत तक आ गई। नए विक्टोरिया पुल और अन्य स्थानों पर लोगों को ड्यूटी के दौरान पुलिस कर्मचारियों से उलझते देखा गया।
हालांकि, कई जगह पुलिस की सख्ती जरूरी सेवाएं देने वालों पर भी की गई, जिसे लेकर रोष है। उधर, जिला प्रशासन की ओर से कर्फ्यू के दौरान लोगों से घरों से बाहर न निकलने की अपील की जाती रही। उपायुक्त मंडी ऋग्वेद ठाकुर ने ढील के दौरान खुद अहम स्थानों का दौरा कर लोगों से संयम बरतने की अपील की। उन्होंने कहा कि लोगों को जरूरत का सामान मिलता रहेगा। दूध, अखबार, ब्रेड, सब्जियों, गैस सिलिंडर और दवाई आदि की कमी नहीं आने दी जाएगी।
... और पढ़ें

नेरचौक में घर द्वार सामान के लिए घुमाएं 941

राशन कार्ड धारकों को नहीं मिलेगी राशन किट

मंडी। जिला मंडी में राशन किट राशन कार्डधारकों को जारी नहीं होगी। प्रशासन ने ऐसे लोगों को आगाह किया है, जिनके पास राशन कार्ड हैं उन्हें यह किट नहीं मिलेगी। प्रशासन का तर्क है कि कार्डधारकों को प्रदेश सरकार की ओर से पहले ही डिपुओं के जरिए दो महीने का राशन उपलब्ध करवाया जा रहा है। यह सेवा उन लोगों के लिए है जिनके राशन कार्ड यहां के नहीं हैं। अतिरिक्त उपायुक्त आशुतोष गर्ग ने कहा कि कर्फ्यू के दौरान मंडी जिले में जरूरतमंद की मदद के इच्छुक लोग प्रशासन का सहयोग लें ताकि किसी प्रकार की कोई अव्यवस्था की स्थिति न उपजे। जो कोई मदद करना चाहते हैं उसके संबंध में अपने एसडीएम या उपायुक्त कार्यालय में संपर्क करें। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन यह सुनिश्चित बना रहा है कि जिले में कर्फ्यू के चलते एक भी व्यक्ति भूखा न सोए।
...
यह मिल रहा किट में
हर एक किट में औसतन 4 लोगों के एक परिवार के लिए हफ्ते-दस दिन का राशन है। राशन की एक किट में जरूरतमंद परिवार को 5-5 किलो चावल और आटा, 2 किलो दाल, रिफाइंड तेल का एक लीटर का पैक, एक किलो नमक और 100-100 ग्राम हल्दी और मिर्ची पाउडर दिया जा रहा है।
...
भोजन सामग्री के लिए करें संपर्क
आशुतोष गर्ग ने कहा कि कोई भी व्यक्ति, परिवार जिसे भोजन सामग्री की जरूरत है वे स्थानीय प्रशासन को इस बारे सूचित करें। उपायुक्त कार्यालय के व्हाट्सऐप नंबर 9805970400 पर भी संदेश भेज सकते हैं। इसके अलावा जिला आपदा प्रबंधन केंद्र के टोल फ्री नंबर 1077 या 1905-226201, 202, 203 और 204 पर भी संपर्क किया जा सकता है।
..
ठेकेदार अपने मजदूरों का रखें ध्यान
अतिरिक्त उपायुक्त ने जिले के सभी ठेकेदारों को उनके मजदूरों की भोजन संबंधी जरूरतों का ध्यान रखने को कहा। उन्होंने कहा कि यह ठेकेदारों का नैतिक दायित्व है कि वे इस मुश्किल समय में अपने मातहत सभी मजदूरों को राशन उपलब्ध करवाएं।
...
आप भी कर सकते हैं मदद
यदि कोई व्यक्ति प्रशासन का सहयोग करना चाहता हो तो वह रेडक्रॉस सोसायटी के बैंक खाते में सहायता राशि भेज सकता है। कोई भी व्यक्ति उपायुक्त एवं अध्यक्ष भारतीय रेडक्रॉस सोसायटी, जिला शाखा मंडी, खाता नंबर 3377000104129588, पंजाब नेशनल बैंक, शाखा स्कूल बाजार मंडी, हि.प्र., के नाम से सहायता राशि ऑनलाइन जमा करवा सकता है।
000
... और पढ़ें

आपदा के समय पर प्रवासियों को निकालने वाले ठेकेदारों और मकानमालिकों पर होगी कार्रवाई

नेरचौक (मंडी)। कोरोना के चलते प्रवासी मजदूरों से छत छिनने का संकट पैदा हो गया है। क्षेत्र में कुछ ठेकेदार और मकान मालिक प्रवासी मजदूरों को बाहर का रास्ता दिखा रहे हैं। ऐसी शिकायतों पर नेरचौक प्रशासन ने कड़ा रुख अपनाया है। डाटा एकत्र करके प्रवासियों को आपदा के समय में बाहर का रास्ता दिखाने वालों पर कार्रवाई करने की तैयारी की जा रही है। एसडीएम आशीष शर्मा ने इसकी पुष्टि की है।
कहा कि मौजूदा समय में सात से आठ हजार बाहरी राज्यों के कामगार रह रहे हैं। इनके पास राशन और पैसा न होने के चलते भूखे रहने की नौबत आ गई है। जिन ठेकेदारों और व्यवसायियों के पास ये प्रवासी मजदूर कार्य कर रहे हैं, उन्होंने इनसे किनारा कर लिया है। प्रशासन ऐसे लोगों की सहायता के लिए तत्पर है। कहा कि जिन लोगों ने बाहरी कामगार लोगों को अपने पास रखा है, वे इनका साथ दें। अन्यथा उनके विरुद्ध कर्फ्यू कानून का उल्लंघन करने के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने इन प्रवासी मजदूरों से भी अपील की है कि वे जहां हैं वही रहें। उन्होंने आश्वासन दिया कि इनके खाने-पीने की व्यवस्था अगर ठेकेदार या व्यवसायी लोग करने में सक्षम नहीं है तो प्रशासन यह व्यवस्था करेगा। इसके लिए वे प्रशासन के साथ संपर्क कर सकते हैं।
...
ठेकेदारों को दी चेतावनी: एसएचओ
एसएचओ बल्ह राजेश ठाकुर ने बताया कि बल्ह घाटी में करीब 3000 के आसपास बाहर से आए कामगारों का पंजीकरण है। उन्होंने ठेकेदारों और व्यवसायियों को सचेत किया कि उनके पास काम कर रहे कामगारों की सही जानकारी दें लेकिन अभी तक अधिकांश लोगों ने सही जानकारी पुलिस को नहीं दी है।
000
... और पढ़ें

कोरोना वायरस: चंडीगढ़ में फंसे 17 लोग, जंजैहली से पठानकोट पैदल निकले

सेना भर्ती (फाइल फोटो)
कोरोना महामारी ने हिमाचल में परिवार के सदस्यों को बांट दिया है। बेटा दिल्ली में है। पत्नी ऊना और खुद पिता शिमला में कर्फ्यू खत्म होने का इंतजार कर रहे हैं। हिमाचल में परिवहन सेवाएं बंद हैं। कर्फ्यू के चलते टैक्सी भी नहीं चल रही हैं। चंडीगढ़ में हिमाचल के करीब 17 लोगों के फंसने की सूचना है। यातायात सेवाएं बंद होने से ये लोग शिमला नहीं आ पा रहे हैं। इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज आईजीएमसी में अनुबंध पर तैनात एक नर्स अपने गांव ऊना गई थीं।

22 मार्च से वह शिमला नहीं आ पाई हैं। अस्पताल से नर्सें फोन कर ड्यूटी के किए बुला रही हैं। सचिवालय और परिवहन निगम में प्रतिदिन इस तरह की शिकायतें आ रही हैं। लोगों ने प्रदेश सरकार और परिवहन निगम से कर्फ्यू में एक दिन की छूट देकर बसें चलाने की मांग की है। उधर परिवहन मंत्री गोविंद ठाकुर का कहना है कि अगर किसी को राशन व अन्य सुविधा की जरूरत है। तो वह फोन कर सकता है।
... और पढ़ें

बाजारों में उमड़ पड़ी खरीदारों की भीड़

मंडी। कर्फ्यू में ढील का समय दस से दोपहर एक बजे तक करने से छोटी काशी मंडी के बाजारों में खरीदारी करने लोग भारी संख्या में निकले। चौहट्टा बाजार में खासी भीड़ उमड़ी। यहां सुबह करीब 12 बजे जाम की स्थिति बन गई। सब्जी मंडी में सोशल डिस्टेंसिंग के नियम भी दरकिनार हुए। लोगों ने जरूरत का सामान खरीदा लेकिन नियमों का पालन नहीं किया। ऐसे में कोरोना कैसे रुक पाएगा। सोशल डिस्टेंसिंग के लिए दुकानों के आगे लगाए चूने के गोलों का किसी ने पालन नहीं किया।
सप्लाई कम होने के कारण सब्जियों के दामों में बढ़ोतरी हुई। सब्जी विक्रेता सुरेंद्र कुमार, देवेंद्र कुमार और राजीव ने बताया कि टमाटर, प्याज, आलू, भिंडी और फ्रासबीन की सप्लाई दूसरे राज्यों से हो रही है। सप्लाई कम होने के कारण दामों में बढ़ोतरी हो रही है। टमाटर 50 रुपये प्रति किलो हो गया है। इसमें 10 रुपये प्रतिकिलो की दर से बढ़ोतरी हुई है। आलू में तीन रुपये, प्याज में चार रुपये प्रतिकिलो की बढ़ोतरी हुई है। भिंडी और फ्रासबीन बाजार से गायब हो गए हैं। गोभी और मटर के दामों में गिरावट देखी जा रही है। इसकी पैदावार यहीं पर हो रही है और सप्लाई बाहर नहीं जा रही जिस कारण दाम घट गए हैं।
खरीदारों को सब्जियों के दामों में हुई बढ़ोतरी अभी नहीं खल रही है। खरीदारों को इस बात की ज्यादा खुशी है कि उन्हें रोजाना ताजी सब्जियां मिल रही हैं। लोग प्रशासन और सरकार के अब तक के इंतजामों से खुश हैं। डीसी मंडी ऋग्वेद ठाकुर का कहना है कि सप्लाई कम होने के कारण हल्के दाम बढ़े हैं लेकिन प्रशासन इस पर पूरी तरह से नजर बनाए हुए हैं। उन्होंने कहा कि अधिक दाम न बढ़े और जमाखोरी न हो इसके लिए प्रशासन पूरी नजर रख रहा है।
000
... और पढ़ें

कोरोना के खिलाफ जंग में उतरीं मंडी की महिलाएं, घरों में बांट रहीं मास्क

आपदा की घड़ी में मंडी जिला की महिलाएं घर की चाहरदिवारी के अंदर और बाहर कोरोना के खिलाफ जंग में उतर आई हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में जहां मास्क की किल्लत है, वहां महिलाएं खुद घर में मास्क बनाकर अन्य महिलाओं और जरूरतमंदों को मुहैया करवा रही हैं। यही नहीं, स्प्रे पंप से घरों और गलियों को सैनिटाइज भी कर रही हैं। इस घड़ी में महिलाओं के ऐसे जज्बे को लोग सलाम कर रहे हैं। 

सीएम जयराम के गृह क्षेत्र सराजघाटी के सुधराणी गांव की हिमा देवी ने बताया कि गांव की कुछ लड़कियों को साथ लेकर पिछले तीन दिनों से मास्क बनाने का काम छेड़ा है। हिमा देवी जिला परिषद सदस्य संत राम की पत्नी हैं। गांव की लड़कियां तनुजा, तेजा दुगल, कृष्णा, प्रीति राणा, वंदना और अन्य युवतियां मास्क बनाने का काम कर रही हैं।

तीन दिनों में शहबार, सोझा, उपला, खनेठी, पाणु और शरण गांव में 300 मास्क जरूरतमंदों को मुफ्त बांट चुकी हैं। सरकाघाट चौक ब्राड़ता के गांव ब्राड़ता महिला मंडल की प्रधान रीना कुमारी अपने घर पर सिलाई मशीन से कपड़े से बनाए मास्क घर-घर बांट रही हैं।

रीना देवी की इस पहल को सभी गांव वाले मनु वर्मा, अंकेश कुमार, ओम चंद, बलबीर पालसरा, सुशांत ठाकुर, विक्रांत ठाकुर, व्यासा देवी, अंकेश कुमार, सुलोचना देवी, मनु वर्मा, पूजा कुमारी, निशी ठाकुर आदि सराह रहे हैं।

ग्राम पंचायत समैला के गांव लोहरडा की महिला मंडल की उपप्रधान सरोज अत्री कीटनाशक स्प्रे पंप लेकर गांव को सैनिटाइज करने उतरी हैं। शनिवार को उन्होंने समैला पंचायत में छिड़काव किया। डीसी मंडी ऋग्वेद ठाकुर ने भी महिलाओं के जज्बे को सराहा है।
... और पढ़ें

मनाली से तीन दिन में सुंदरनगर पैदल पहुंचे प्रवासी मजदूर

सुंदरनगर (मंडी)। कर्फ्यू के कारण वाहनों के न चलने से मजदूर अब अपने गांव की ओर पैदल ही जा रहे हैं। शनिवार को सुंदरनगर में उत्तर प्रदेश के जिला सहारनपुर के रहने वाले 10 प्रवासी मजदूर पहुंचे हैं। ये लोग मनाली के जीया में पत्थर तोड़ने का कार्य करते हैं।
तीन दिन तक 132 किलोमीटर का सफर पैदल तय करने के बाद सुंदरनगर पहुंच गए हैं। मजदूर वजाहद, एहतशाम, सलमान, मुहम्मद अब्दुल, मुबारक अली, फुरकान, मुम्तजीर, अली खान, मौसिम खान और शकील खान पिछलेे 3 दिनों से लगातार 132 किलोमीटर का सफर तय कर मनाली से सुंदरनगर पहुंचे हैं। मजदूरों ने कहा कि वह मनाली के गांव जीया में पत्थर तोड़ने का कार्य करते थे। उन्होंने कहा कि अभी उन्हें जीया में कार्य करते हुए लगभग 2 माह का ही समय हुआ था। उन्होंने कहा कि कर्फ्यू के कारण मनाली में उनके ठेकेदार सतपाल ने गांव के लिए भेज दिया है। मजदूरों ने कहा कि मनाली से लेकर सुंदरनगर तक उन्हें कई जगह पुलिस और प्रशासन ने रोककर पूछताछ की। सबने आगे ही धकेला। कहा कि मंडी प्रशासन ने उन्हें मंडी में रोककर गुरुद्वारे में रखा और सुबह आगे भेज दिया।
मजदूरों ने कहा कि उनके पास खाने को भी कुछ नहीं बचा हुआ है। अब मजदूरों ने सुंदरनगर प्रशासन से उन्हें घर पहुंचाने की मांग की है। इधर, एसडीएम सुंदरनगर राहुल चौहान ने कहा मामला संज्ञान में आया है और मजदूरों के लिए रहने की व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने बताया कि सुंदरनगर सीसे स्कूल बाल में प्रवासी मजदूरों के रहने की व्यवस्था की गई है जहां उन्हें खाना भी उपलब्ध करवाया जा रहा है।
000
... और पढ़ें

कॉल करें या व्हाट्सऐप, जल्द आपके घर पहुंच जाएगा राशन

मंडी। जिला प्रशासन ने कर्फ्यू के दौरान लोगों की सहायता के लिए मंडी नगर परिषद क्षेत्र में राशन-दवाइयों की होम डिलीवरी सेवा शुरू की है। शनिवार से लोग इस सेवा का लाभ उठा सकेंगे। कारोबारियों के सहयोग से इस सेवा को शुरू किया गया है। इसमें ग्राहक ऑनलाइन भुगतान भी कर सकेगा। इसके लिए वालंटियरों का ग्रुप बनाया गया है। दवाओं और राशन सप्लाई करने वाले अलग-अलग ग्रुप हैं।
इनके फोन नंबर पर कॉल या व्हाट्सऐप मैसेज कर लोग जरूरी सामान का अपना ऑर्डर दे सकते हैं। जिला प्रशासन के स्वयंसेवी उनके घर सामान पहुंचाएंगे। सुंदरनगर नगर परिषद क्षेत्र में भी शनिवार से होम डिलीवरी की व्यवस्था शुरू हो जाएगी। जिले के अन्य शहरी क्षेत्रों में जल्द ही इस सेवा की शुरुआत कर दी जाएगी। उपायुक्त ऋग्वेद ठाकुर ने बताया कि जिला प्रशासन ने लोगों को घरों में राशन, दवाइयां एवं अन्य जरूरी सामान पहुंचाने की व्यवस्था की है। कहा कि सरकार के निर्देशानुसार मंडी में आवश्यक सामान की दुकानें खोलने के समय में कुछ परिवर्तन किया गया है। अब जिले में जरूरी सामान की दुकानें सुबह 10 बजे से दोपहर एक बजे तक खुली रहेंगी। कोरोना से बचाव और सोशल डिस्टेंसिंग को मानते हुए लोग घरों से कम से कम बाहर निकलें। होम डिलीवरी की सेवा इसी दिशा में एक और प्रयास है। लोग सुबह 10 से दोपहर 1 बजे के बीच खुद दुकान में आकर जरूरी सामान ले सकते हैं।
.....
सब्जी, फल की नहीं होगी होम डिलीवरी
ऋग्वेद ठाकुर ने कहा कि होम डिलीवरी में सब्जी एवं फलों की डिलीवरी नहीं रखी गई है। अमूमन लोग ऐसे सामान की खरीदारी खुद देख परख कर करते हैं। इसे ध्यान में रखते हुए प्रशासन ऐसी व्यवस्था करने का प्रयास कर रहा है कि लोगों को मोहल्लों के स्तर पर फल एवं सब्जियां मिल सकें। इसके लिए कुछ जगहें तय की गई हैं जहां यह सामान रोजाना सुबह 10 से दोपहर 1 बजे के दौरान मिल सकेगा।
...
सामान के लिए इन नंबरों पर करें संपर्क
मंडी शहर में जरूरी सामान की होम डिलीवरी के लिए मोहिक मॉल चंद्रलोक गली 94180-13369, संतोष सिंह एवं जसबीर सिंह चौहट्टा बाजार 98160-22413, मनोहर लाल एंड संस महाजन बाजार 94186-41625, दी मेगा स्टार राम नगर 94180-24186, गुरप्रीत ट्रेडर्स महाजन बाजार 98160-24273, जय सिंह कपूर एंड संस ओल्ड कॉलेज रोड 94180-46141, सिंधु राम एंड संस चौहट्टा बाजार 94181-56345, कृष्ण कुमार एंड संस महाजन बाजार 94183-06472 और शिवम जनरल स्टोर सौली खड्ड 94181-81300 पर फोन या व्हाट्सऐप कर सकते हैं।
....
दवाइयां चाहिए तो डायल करें ये नंबर
दवाइयों के लिए मानव मेडिकल स्टोर जेल रोड 94180-17474, दीप मेडिकल स्टोर भूतनाथ बाजार 86269-00569, बहल मेडिकल स्टोर पड्डल 94189-22455, जीएल मेडिकल स्टोर पड्डल 96255-72536, नामधारी मेडिकल स्टोर सेरी बाजार 98160-57502, डॉल्फिन फार्मेसी जोनल अस्पताल के नजदीक 98059-03482, शर्मा मेडिकल स्टोर 98050-90169, मेडिकल एंड जनरल स्टोर भूतनाथ 98160-36020, कवीश मेडिकल स्टोर पड्डल 82196-07060, शिवा मेडिकल स्टोर जेल रोड 98171-80089, बाला जी मेडिकल स्टोर स्कूल बाजार 94181-03505, ठुकराल मेडिकल हॉल जोनल अस्पताल के नजदीक 94180-54244, दीप मेडिकल सेंटर पड्डल 94181-56358, लाइफ लाइन फार्मेसी पड्डल 94181-56565 पर फोन या व्हाट्सऐप कर सकते हैं।
....
98059-70400 पर भी कर सकते हैं व्हाट्सऐप
उपायुक्त ऋग्वेद ठाकुर ने कहा कि यदि कर्फ्यू या लॉकडाउन को लेकर कुछ सवाल हैं तो वे 98059-70400 पर व्हाट्सऐप करें। मंडी जिला प्रशासन के इस व्हाट्सऐप नंबर पर उनके हर सवाल का जवाब मिलेगा। प्रशासन लोगों की मदद के लिए हर समय तत्पर है।
000
000
... और पढ़ें

बलद्वाड़ा राशन डिपो में जुटी भीड़ पुलिस से भी उलझ गए उपभोक्ता

सरकाघाट/मंडी। कारोनो वायरस की रोकथाम के लिए लगाए गए कर्फ्यू में ढील के दौरान दुकानों के सामने चूने के गोले लगाकर उपभोक्ताओं को लाइनों में खड़ा किया जा रहा है। मंडी समेत सुंदरनगर, गोहर, थुनाग, धर्मपुर और जोगिंद्रनगर में कारोबारी और लोग इसके लिए सजग हैं। सरकाघाट क्षेत्र के बलद्वाड़ा राशन डिपो में इन नियमों की पूरी तरह से अनदेखी की जा रही है।
शुक्रवार को पुलिस की मौजूदगी में भीड़ एकत्र हो गई। भीड़ को अलग करने के लिए जब कोशिश हुई तो लोग ही पुलिस के साथ उलझ गए। अगर पढ़े लिखे लोग ही इस तरह की हरकतें करेंगे तो बाकी लोगों से क्या उम्मीद की जा सकती है। शुक्रवार सुबह सात बजे से पहले ही लोगों की डिपो के आसपास भीड़ जुटना शुरू हो गई। डिपो के खुलते ही लोग एकदम राशन लेने के लिए टूट पडे़। पुलिस कर्मचारियों ने जब उन्हें रोकना चाहा तो वह नहीं रुके और कर्मचारियों के साथ उलझ पड़े। कई लोग डिपो की भीतर जाकर सेल्समैन से भी उलझ गए। पुलिस ने मुश्किल से स्थिति पर काबू पाया।
डिपो पर जमा हो रही भीड़ प्रशासन की ढील को भी उजागर कर रही है। लोग इतनी संख्या में जमा हो रहे हैं तो कर्फ्यू का क्या फायदा। लोग अनुशासनहीनता दिखा रहे हैं। किसी को भी एक मीटर की दूरी में रहने की हिदायत का पालन करते नहीं देखा जा रहा है। उधर, एसडीएम जफर इकबाल का कहना है कि वह स्वयं जाकर डिपो स्टाफ और वहां की स्थिति का जायजा ले चुके हैं। अगर फिर भी लोग नहीं मान रहे हैं तो सख्ती के साथ निपटा जाएगा।
000
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us