विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus in HP : लॉकडाउन और कर्फ्यू के चलते फंसे चार लाख प्रवासी कामगार

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन और कर्फ्यू के चलते हिमाचल में चार लाख प्रवासी कामगार फंस गए हैं।

29 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

सोलन

रविवार, 29 मार्च 2020

कोरोना के संकट से खामोश हो गया सोलन शहर, थम गई रफ्तार

सोलन। कोरोना वायरस के गंभीर संकट के बीच मंगलवार को सोलन शहर थम गया। भीड़भाड़ वाले शहर में अचानक सन्नाटा पसर गया। लोग घरों में दुबक गए और पुलिस के अलावा अन्य सभी वाहन जहां जगह मिली, वहीं खड़े हो गए। हालांकि कर्फ्यू के एलान से कुछ देर पूर्व जरूर हलचल भरे नजर आए। जैसे ही कर्फ्यू की घोषणा हुई लोग सब्जी, किराना व दूध आदि खरीदने के लिए दुकानों में जुट गए। भारी भीड़ पांच बजे से कुछ समय पूर्व तक इन दुकानों के बाहर देखने को मिली। मालरोड पर कुछ दुकानें सुबह से ही बंद थी। कर्फ्यू की घोषणा के बाद दुकानदारों ने आधा शट्टर खोलकर सामान बेचना शुरू कर दिया। सरकार ने पांच बजे से कर्फ्यू लगाने की बात कही थी। जैसे ही पांच बजे पुलिस की दो गाड़ियां शहर में पहुंच गई। इन गाड़ियों ने लाउड स्पीकर के माध्यम से लोगों को कर्फ्यू लगे होने की जानकारी दी और बाजार में घूम रहे सभी लोगों को घरों में चले जाने के आदेश जारी कर दिए। इस बीच पुलिस की एक टीम भी बाजार में पहुंच कर लोगों व गाड़ियों में घूम रहे लोगों को घरों की तरफ खदेड़ती नजर आई। परवाणू में पुलिस की टीम सड़क पर कुर्सी लगाकर बैठ गई और वाहनों व उद्योगों से निकल रहे लोगों को जल्द से जल्द घर पहुंचने के आदेश दिए। ऐसे ही हालात बीबीएन, अर्की, धर्मपुर, दाड़लाघाट, कंडाघाट व कसौली में भी देखने को मिली। नेशनल हाईवे कर्फ्यू के बाद पूरी तरह से वीरान हो गया। पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव ने कहा कि सरकार ने कर्फ्यू लागू करने का एलान किया है। जिसके लिए पर्याप्त पुलिस बल तैनात किया गया है। उन्होंने बताया कि सभी लोगों को घरों में ही रहने की नसीहत दी गई है। आगामी आदेशों तक लोग घरों से बाहर नहीं निकल पाएंगे। वहीं, उपायुक्त केसी चमन ने बताया कि कर्फ्यू को लेकर उचित दिशा निर्देश जारी कर दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि जरूरी सेवाओं को छोड़कर अन्य किसी को भी सड़क पर आने की इजाजत नहीं होगी।
परवाणू में कर्फ्यू को सफल बनाने में जुटी पुलिस
परवाणू (सोलन)। औद्योगिक शहर परवाणू में पुलिस मंगलवार को कर्फ्यू को सफल बनाने में जुटी रही। इस दौरान परवाणू बैरियर सहित शहर में पुलिस के जवान तैनात रहे और बाहर निकले हुए लोगों को समझा कर वापस घरों में भेजा। पुलिस ने इसके तहत कसौली रोड को भी सील कर दिया और वहां पर भी पुलिस के जवानों की तैनाती की गई। इसके अलावा टीटीआर, सेक्टर-4 बैरियर व परवाणू ओल्ड हाईवे में स्थित बैरियर भी पूरी तरह से बंद रहा। पहले दिन शहर में कुछ फार्मा व साबुन के उद्योग खुले रहे और सिर्फ इन उद्योगों के कर्मचारियों की ही आवाजाही रही। उधर, थाना प्रभारी रविंद्र ने बताया कि कर्फ्यू के बाद किसी को बेवजह घूमने की इजाजत नहीं है।
... और पढ़ें

सोलन अस्पताल में कोरोना की संदिग्ध मरीज दाखिल

सोलन। क्षेत्रीय अस्पताल सोलन में कोरोना वायरस का एक और संदिग्ध मामला आया है। यह जिला सोलन में पांचवां ऐसा मामला है। इससे पहले चार लोगों को भी कोरोना के संबंध में आईसोलेशन वार्ड में भर्ती किया जा चुका है। जिनकी रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद उन्हें घर भेज दिया गया है। अब मंगलवार की सुबह एक नया मामला आया है, जिसमें सोलन की एक युवती जो 14 मार्च को बर्लिन जर्मनी की यात्रा कर सोलन पहुंची थी। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग ने इसे अपनी निगरानी में रखा हुआ था, वहीं मंगलवार की सुबह उसे खांसी, जुखाम, बुखार की शिकायत होने के बाद एंबुलेंस की मदद से अस्पताल पहुंचाया गया है। जहां पर इसे आईसोलेशन वार्ड में भर्ती कर दिया गया है। वहीं अब डॉक्टरों की टीम प्रारंभिक जांच में जुट गई है। इसमें सैंपल लिए जा रहे हैं। जिसे जांच के लिए आईजीएसमी शिमला भेजा जा रहा है। इसकी रिपोर्ट आने के बाद ही कोरोना वायरस का पता लग पाएगा। वहीं विभाग की टीम ने संबंधित युवती के परिवार को भी अपनी निगरानी में ले लिया है।
जांच के लिए भेजी जा रही रिपोर्ट
नोडल अधिकारी डॉ. कमल अवटल ने बताया कि बुखार होने पर एक 28 वर्षीय युवती को क्षेत्रीय अस्पताल सोलन लाया गया है। यह युवती जर्मनी से 14 मार्च को आई थी, जो स्वास्थ्य विभाग की निगरानी में थी। मंगलवार को तबीयत खराब होने पर उसे आईसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है। वहीं युवती के सैंपल लेकर उसे जांच के लिए आईजीएमसी शिमला भेज दिया है। सैंपल की रिपोर्ट के बाद ही कोरोना को लेकर खुुलासा हो सकेगा।
... और पढ़ें

सोलन से भेजे तीन सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव

सोलन। क्षेत्रीय अस्पताल सोलन समेत नागरिक अस्पताल अर्की के आईसोलेशन वार्ड में कोरोना के संबंध में भर्ती तीनों लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। इसके बाद इन लोगों के परिजनों और स्वास्थ्य विभाग ने राहत की सांस ली है। इसमें अब इन सभी लोगों को डॉक्टर घर भेजने की तैयारी कर रहे हैं। इसमें अब कंडाघाट से भर्ती युवक को पांच अप्रैल, अर्की और बसाल से भर्ती महिलाओं को 15 अप्रैल तक उनके घरों पर ही स्वास्थ्य विभाग अपनी निगरानी में रखेगा।
जानकारी के अनुसार कंडाघाट से एक युवक को कोरोना के संबंध में आईसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया था। यह युवक मलयेशिया से सफर कर सोलन पहुंचा था। इसके बाद यहां पहुंचने पर उसकी तबीयत खराब हो गई थी। इसके बाद युवक को भर्ती किया गया था। इसमें पहले भी युवक के वीरवार को सैंपल आईजीएमसी शिमला जांच के लिए भेजे गए थे। कुछ सैंपल रह गए थे जिसके बाद इन सैंपलों को रविवार को दोबारा भेजा गया। ये अब सही पाए गए हैं। इसके अलावा सोलन से बसाल की एक महिला को भी भर्ती किया था। जो सिंगापुुर से सोलन आई थीं। इनकी रिपोर्ट भी सही निकली है। वहीं अर्की की महिला भी विदेश से यात्रा कर वापस अर्की आई थीं। इनकी रिपोर्ट भी निगेटिव आई है। इसके बाद पीड़ितों के परिवार सहित स्वास्थ्य विभाग ने राहत की सांस ली है।
भर्ती तीनों मरीजों को भेजा घर
क्षेत्रीय अस्पताल सोलन के नोडल अधिकारी डॉ. कमल अटवाल ने बताया कि सोलन से भेजे तीन लोगों के सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। अब विभाग इन तीनों लोगों को उनके घर भेज रहा है। अब एक पांच अप्रैल और दो 15 अप्रैल तक स्वास्थ्य विभाग की निगरानी में रहेंगे। इसमें सुबह, दोपहर और शाम को इन संबंधित लोगों के स्वास्थ्य की रिपोर्ट ली जाएगी।
... और पढ़ें

Coronavirus in HP : लॉकडाउन और कर्फ्यू के चलते फंसे चार लाख प्रवासी कामगार

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन और कर्फ्यू के चलते हिमाचल में चार लाख प्रवासी कामगार फंस गए हैं। सोलन के औद्योगिक क्षेत्र बीबीएन में करीब दो लाख कामगार अपने घरों को नहीं लौट पा रहे हैं। सिरमौर, ऊना जिले में लगभग 50-50 हजार, बिलासपुर में 10800 प्रवासी मजदूर फंसे हैं। यही हाल मंडी, कांगड़ा और अन्य जिलों का भी है।

उद्योग बंद होने से काम-धंधा ठप हो गया है। श्रमिक किराये के कमरों में कैद होने को मजबूर हैं। मकान मालिक की गारंटी पर दुकानों से उधार पर राशन लेकर गुजारा कर रहे हैं। हालांकि अब विधायक, मंत्री, जनप्रतिनिधि, जिला प्रशासन और कई संस्थाएं इनकी मदद को आगे आई हैं। इन्हें आश्रय और खाना दिया जा रहा है। कई लोग आर्थिक मदद कर रहे हैं। ठेकेदारों को भी कामगारों को घर बैठे भोजन खिलाने के आदेश हैं।

हालांकि, उद्योगों में काम करने वाले हिमाचली पैदल ही घरों को रवाना हो गए हैं। प्रवासी कामगारों-फेरी लगाने वालों में उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल आदि राज्यों के लोग शामिल हैं। करीब 20 फीसदी कामगार पहले ही होली के कारण घर निकल चुके हैं, जो वापस नहीं आए।  प्रदेश में नेपाल मूल के बड़ी संख्या में मजदूर कार्यरत हैं। हालांकि नेपाली श्रमिकों को तो फिर भी बागवानी क्षेत्र में काम मिल रहा है।

इसके अलावा दूसरे राज्यों से आए गैर बागवानी क्षेत्रों को काम नहीं मिल पा रहा। इनमें औद्योगिक क्षेत्रों के श्रमिक बहुत ज्यादा हैं। इन्होंने जो कमाई की थी, वह इनके खुद के खाने-पीने और रहने में लग रही है। कई श्रमिकों ने ऑनलाइन अपने परिवारों को पैसा भेजा है। चंडीगढ़, पंजाब और हरियाणा के लोग भी पैदल घरों को लौट रहे हैं। अनुमान के अनुसार करीब 20 हजार लोग यहां से जा चुके हैं। 
... और पढ़ें
पांवटा में कामगार पांवटा में कामगार

मीलों दूर अपने घरों के लिए पैदल ही निकल पड़े लोग

संतोष कुमार
नालागढ़ (सोलन)। प्रदेश की औद्योगिक राजधानी बीबीएन में कार्यरत कामगारों ने अब कर्फ्यू और जिला प्रशासन के धारा-144 के आदेशों के बावजूद पैदल ही अपने घरों को निकल पड़े हैं। देश में लॉकडाउन के चौथे दिन और प्रदेश में कर्फ्यू के पांचवें दिन लोगों के सब्र का बांध टूटने लगा है। बीबीएन के उद्योगों में काम करने आए लोग पैदल ही अपने घरों को जाने लगे हैं।
कोरोना की वरवाह किए बगैर कर्फ्यू के बीच लोग अपने पैतृक स्थानों के लिए पैदल ही मीलों दूरी का सफर करने के लिए निकल पड़े हैं। बीबीएन में लगे उद्योगों में समूचे देश से कामगार काम की तलाश में आए हैं। इनमें हिमाचल के कोने-कोने से कामगार यहां उद्योगों में काम करते हैं। प्रदेश में कर्फ्यू लगने से उद्योगों में उत्पादन बंद होने के कारण ये लोग अपने परिजनों से मिलने के लिए बेचैन हैं। ये लोग बिलासपुर, कांगड़ा, हमीरपुर आदि क्षेत्रों के लिए मीलों दूर पैदल ही सफर कर रहे हैं।
हालांकि प्रशासन ने बाहरी राज्यों और जिलों में प्रवेश पर रोक लगाई हुई है। बावजूद इसके लोग अपने घरों को जाने का पथ पार कर रहे हैं। सड़कों पर लोग अपने गंतव्य की ओर निकल रहे हैं। प्रशासन ने बाहर से आए लोगों के रहने, ठहरने और खाने-पीने का प्रबंध किया है लेकिन बावजूद इसके लोग प्रशासन के आदेशों की अवहेलना कर अपने घरों को सफर करने में मशगूल है।
उधर, एसडीएम नालागढ़ प्रशांत देष्टा ने कहा कि प्रशासन ने बाहर से आए लोगों के रहने , ठहरने और खाने-पीने का उचित प्रबंध किया है। लोग इधर-उधर न जाएं। बाहरी राज्यों और बाहरी जिलों से आवागमन पर प्रशासन की सख्त मनाही की है। उन्होंने कहा कि यदि किसी भी व्यक्ति को कोई परेशानी है तो प्रशासन को सूचना दें और तुरंत उन तक मदद पहुंचाई जाएगी।
... और पढ़ें

सीआरआई कसौली और मंडी अस्पताल में मिल सकती है कोरोना वायरस टेस्ट की सुविधा

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने सीआरआई कसौली में कोरोना वायरस के टेस्ट करवाने के लिए केंद्र सरकार को प्रस्ताव भेजा है। केंद्र की मंजूरी मिलते ही टांडा और आइजीएमसी के साथ ही कसौली की सीआरआई लैब में भी कोरोना का परीक्षण शुरू हो जाएगा। मुख्यमंत्री इसकी जानकारी विधानसभा में भी दे चुके हैं। मुख्यमंत्री ने जोनल अस्पताल मंडी में भी परीक्षण करवाने का प्रस्ताव शामिल किया है। सीआरआई कसौली में अगर कोरोना वायरस के टेस्ट की सुविधा दी जाती है तो जिला सोलन व सिरमौर में भी सुविधा उपलब्ध हो जाएगी।

फिर टेस्ट के लिए शिमला नहीं जाना पड़ेगा। सीआरआई कसौली के निदेशक अजय तहलान ने कहा की मीडिया के माध्यम से ही जानकारी मिली है।  सीआरआई के पास करोड़ों रुपये की लैब हैं और ऐसे परीक्षण के लिए उनका स्टाफ भी पूरी तरह से तैयार है। उन्होंने मुख्यमंत्री के इस प्रस्ताव का स्वागत किया है। प्रदेश के अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य आरडी धीमान ने कोरोना वायरस के टेस्ट सीआरआई कसौली और जोनल अस्पताल मंडी में करवाने के लिए केंद्र को प्रस्ताव भेजने की पुष्टि की है।
... और पढ़ें

मंडी से बाजार पहुंचते ही दोगुना हो गया मटर का भाव

सोलन। शहर के सब्जी विक्रेता लोगों को सरेआम लूट रहे हैं। शुक्रवार को सब्जी मंडी में मटर 15 से 30 रुपये तक बिका है। बाजार पहुंचते मटर का भाव 50 से 60 रुपये हो गया। हालांकि सब्जी मंडी में मटर की स्थानीय खेप पहुंच रही है। इसके बावजूद भी सब्जी विक्रेता लोगों से अधिक दाम वसूल कर रहे हैं। इससे आम लोगों की जेब पर डाका डाला जा रहा है।
जानकारी के अनुसार कोरोना वायरस को लेकर जिला प्रशासन से जिला में धारा 144 लागू की गई है। दुकानों को खोलने सहित बाजार में आवश्यक सामान खरीदने के लिए भी समय निर्धारित किया है। इसमें सब्जी विक्रेता सब्जी मंडी से सस्ते दामों में सब्जी लेकर आ रहे है जबकि बाजार में सब्जियों को दोगुना अधिक दामों पर बेच रहे हैं। इससे जिला प्रशासन से जारी निर्देशों को भी दरकिनार किया जा रहा है। इसमें जिला प्रशासन ने दुकानदारों और सब्जी विक्रेताओं से उचित दामों पर सामान बेचने को कहा है। आलू, प्याज, मटर, गोभी सहित अन्य सब्जियों को बहुत अधिक दामों में बेचा जा रहा है।
अधिक दाम वसूल करने पर होगी कार्रवाई
डीएफएससी मिलाप शांडिल ने बताया कि उनकी टीम बाजारों के सब्जी विक्रेताओं की रेट लिस्ट की जांच कर रहे हैं। शनिवार को टीम सभी कारोबारियों की रेट लिस्ट और थोक भाव का बिल जांच करेंगी। इसमें अनियमितता पाई गई तो कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

सोलन में सुबह आठ बजे से 11 बजे तक खुलेंगी दुकानें

सोलन। कर्फ्यू में ढील का समय दोबारा से तीन घंटे तक कर दिया गया है। सोलन में अब सुबह 8:00 बजे से 11:00 बजे तक रोजमर्रा की जरूरतों वाली दुकानें खुली रहेंगी। इस अवधि में एक-दूसरे से उचित दूरी बनाकर जरूरी सामान की खरीद कर पाएंगे। इससे पहले शुक्रवार को राज्य सरकार ने उच्च स्तरीय बैठक के बाद सभी जिलों के लिए तीन घंटे का समय निर्धारित किया था।
इसे अपने-अपने हिसाब से जिला में लागू करने के आदेश दिए। सोलन प्रशासन ने आठ से ग्यारह बजे तक का समय चुना है। इस दौरान लोग दूध, राशन व दवाओं समेत सभी जरूरी वस्तुओं की खरीद कर पाएंगे। यह तीसरी मर्तबा है, जब कर्फ्यू में ढील का समय बदला गया है। इससे पहले एक दिन के लिए सुबह सात से एक बजे तक खरीदारी का समय निर्धारित किया था।
इस दौरान बड़ी संख्या में लोग सड़क पर गाड़ियों और भीड़ की शक्ल में निकल आए। इसके बाद सरकार को ढील की शर्तों में फेरबदल करना पड़ा है। साथ ही सोलन प्रशासन ने होम डिलीवरी करवाने का फैसला कर लिया है। लोगों को जरूरी सामान के लिए बस फोन पर ऑर्डर देना होगा। इस जरूरी सामान में सभी तरह की खाने-पीने की वस्तुओं के साथ ही राशन भी शामिल है।
शहर भर के करीब 50 से अधिक कारोबारियों को प्रशासन ने होम डिलीवरी के लिए अधिकृत किया है। इस सूची में वो ही नाम शामिल किए गए हैं जो व्यापार मंडल की तरफ से अधिकृत किए थे। एसडीएम रोहित राठौर ने बताया कि सूची सार्वजनिक कर दी गई है और कारोबारियों को होम डिलीवरी के लिए अधिकृत किया है।
खरीदारी के समय उचित दूरी रखें लोग : डीसी
उपायुक्त केसी चमन ने बताया कि कर्फ्यू में ढील के समय को तीन घंटे तक सीमित किया है। जिले में सुबह आठ बजे से ग्यारह बजे तक कर्फ्यू में ढील रहेगी। उन्होंने बताया कि इस दौरान कोई भी व्यक्ति आवश्यक वस्तुओं की खरीद-फरोख्त कर सकता है। उन्होंने बताया कि इसके बाद बाजार बंद कर दिया जाएगा। कर्फ्यू के दौरान लोगों को घरों में रहना होगा। उन्होंने लोगों से आह्वान किया है कि खरीदारी करते समय एक-दूसरे से उचित दूरी जरूरी रखें।
... और पढ़ें

क्वारंटीन सेंटर भेजे चार धाम की यात्रा से लौटे 13 लोग

सोलन। कंडाघाट में चार धाम की यात्रा से लौटे 13 लोगों को डेढ़घराट में बने क्वारंटीन सेंटर भेज दिया गया। यह सभी आगामी 14 दिनों तक सेंटर में रहेंगे। यदि इनमें कोरोना के लक्षण पाए जाते हैं तो उन्हें क्षेत्रीय अस्पताल भेज दिया जाएगा। फिलहाल, सभी लोगों की सेहत ठीक है और उनके किसी भी तरह के लक्षण नहीं मिले हैं।
डेढ़घराट में प्रशासन इनकी निगरानी कर रहा है जबकि स्वास्थ्य विभाग नियमित रूप से लोगों के स्वास्थ्य की जांच में लगा है। प्रशासन के अनुसार, उक्त सभी लोग चार धाम की यात्रा करके आ रहे थे जिसके बाद यह सभी कुमारहट्टी के एमएमयू में चेकअप के लिए गए। इसके बाद इसकी सूचना वहीं से प्रशासन को दी गई। वीरवार रात को प्रशासन ने मौके पर टीम रवाना कर सभी को क्वारंटीन सेंटर भेज दिया।
इनकी जांच के लिए स्वास्थ्य विभाग की एक टीम को रात में ही क्वारंटीन सेंटर भेजा गया। यहां टीम ने जांच के बाद सभी यात्रियों को फिलहाल दुरुस्त करार दिया है। ये सभी लोग सायरी और धामी के रहने वाले हैं। इनमें से दो या तीन लोगों को छोड़कर सभी बुजुर्ग हैं। प्रशासन ने कालका-शिमला नेशनल हाईवे पर डेढ़घराट में क्वारंटीन सेंटर बनाया है।
क्वारंटीन सेंटर में रहेंगे लोग : एसडीएम
एसडीएम डॉ. संजीव धीमान ने बताया कि ये सभी लोग धामी और सायरी के रहने वाले हैं। जो चार धाम की यात्रा से लौटे हैं। उन्होंने बताया कि सभी को क्वारंटीन सेंटर में रखा है जिनका प्राथमिक टेस्ट किया जाएगा।
... और पढ़ें

अब सात से एक बजे तक कर सकेंगे जरूरी सामान की खरीदारी

सोलन। जिला सोलन में जारी कर्फ्यू में लोगों को राहत प्रदान की गई है। इसमें अब लोग सुबह सात से एक बजे तक अपनी जरूरत के सामान की खरीदारी कर सकेंगे। इसके लिए उपायुक्त ने निर्देश जारी कर दिए हैं। इसके अलावा सब्जी मंडी भी उक्त समय के अनुसार ही खुलेगी, इसमें किसान अपने उत्पादों को मंडी तक पहुंचा सकते हैं। यह निर्णय लोगों की सुविधा को लेकर लिया गया है। हालांकि इस दौरान वाहनों का प्रयोग नहीं किया जाएगा। इस अवधि में सभी को सोशल डिस्टेंसिंग प्रक्रिया का पालन करना होगा। वर्तमान में बंद होटल, गेस्ट हाउस एवं होम स्टे के प्रयोग की अनुमति केवल ऐसे व्यक्तियों को ठहराने के लिए दी जाएगी जो कर्फ्य के कारण फंस गए हैं। उपायुक्त सोलन केसी चमन ने बताया कि यह निर्णय लोगों की सुविधा के लिए लिया गया है। उन्होंने लोगों से जारी गई अधिसूचना की पालना करने की अपील की है।
क्षमता से 70 फीसदी अधिक यात्री नहीं होंगे मान्य
आदेशों के अनुसार उक्त सभी इकाइयों के कर्मियों को आवास अथवा ठहराव स्थल से उद्योग परिसर लाने-ले जाने के लिए उद्योग की अथवा किराए पर ली गई बस या वाहन में बैठने की कुल क्षमता से 70 प्रतिशत से अधिक यात्री नहीं ले जाएंगे। इस संबंध में उपमंडलाधिकारी सहित सहायक आयुक्त परवाणू की ओर से जारी प्रवेश पत्र आवश्यक होगा। सभी उद्योगों में एक समान शिफ्टिंग पैट्रन लागू करना होगा। यह आदेश आगामी 20 दिनों तक प्रभावी रहेंगे।
... और पढ़ें

सोलन में अब इस समय खुलेंगी दुकानें, प्रशासन ने किया होम डिलीवरी का प्रबंध

कर्फ्यू में ढील का समय दोबारा से तीन घंटे तक कर दिया गया है। सोलन में अब सुबह 8:00 बजे से 11:00 बजे तक रोजमर्रा की जरूरतों वाली दुकानें खुली रहेंगी। इस अवधि में एक-दूसरे से उचित दूरी बनाकर जरूरी सामान की खरीद कर पाएंगे। इससे पहले शुक्रवार को राज्य सरकार ने उच्च स्तरीय बैठक के बाद सभी जिलों के लिए तीन घंटे का समय निर्धारित किया था।

इसे अपने-अपने हिसाब से जिला में लागू करने के आदेश दिए। सोलन प्रशासन ने आठ से ग्यारह बजे तक का समय चुना है। इस दौरान लोग दूध, राशन व दवाओं समेत सभी जरूरी वस्तुओं की खरीद कर पाएंगे। यह तीसरी मर्तबा है, जब कर्फ्यू में ढील का समय बदला गया है। इससे पहले एक दिन के लिए सुबह सात से एक बजे तक खरीदारी का समय निर्धारित किया था।
... और पढ़ें

सोशल मीडिया पर कोरोना वायरस के संबंध में अफवाह फैलाई तो होगी कार्रवाई

सोलन। कोरोना वायरस को लेकर सोशल मीडिया पर गलत मैसेज या किसी भी प्रकार की अफवाह फैलाना लोगों के लिए भारी पड़ सकता है। लोगों को संबंधित विषय को लेकर भ्रमित करने वालों के खिलाफ स्वास्थ्य विभाग पुलिस की सहायता से कार्रवाई भी करेगा। जिसका निर्णय स्वास्थ्य विभाग ने लोगों की सुरक्षा सहित उन्हें कोरोना वायरस के डर को दूर करने के उद्देश्य से लिया गया है। हालांकि, जिला स्वास्थ्य विभाग के अनुसार सोलन में कोई भी कोरोना वायरस का मामला सामने नहीं आया है। अभी तक भेजे गए सभी सैंपल निगटिव निकले हैं। वीरवार देर रात क्षेत्रीय अस्पताल सोलन में कोरोना वायरस होने का एक मैसेज लोगों में खूब शेयर हुआ। मैसेज में लिखा गया था कि कोरोना वायरस से सतर्क रहें। हालांकि, इस प्रकार का कोई भी मामला क्षेत्रीय अस्पताल सोलन में नहीं आया है। उधर जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एनके गुप्ता ने बताया कि गलत मैसेज भेजने और अफवाह फैलाने वाले पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। लोगों से आग्रह है कि गलत मैसेज को शेयर करने से बचें। ... और पढ़ें

कर्फ्यू में ढील के बीच सड़क पर निकले लोग, दुकानों के बाहर लगी कतारें

सोलन। संपूर्ण लॉकडाउन के बीच जारी कर्फ्यू में ढील का सोलन शहरवासियों ने खूब फायदा उठाया। शहर के लोग सुबह आठ बजते ही सड़क पर निकल आए और रोजमर्रा की जरूरतों की खरीद शुरू कर दी। आलम यह रहा कि जो चीजें आम दिनों में देर रात तक नहीं बिकती थी वो कुछ ही देर में खत्म हो गई। दूध, ब्रेड और फल 12 बजे से पहले ही सभी दुकानों से साफ हो गए। कर्फ्यू में ढील के बीच कहीं भी सोशल डिस्टेंसिंग का फार्मूला काम करता हुआ नजर नहीं आया। दुकानों के बाहर लोग अभी भी भीड़ में सामान खरीद रहे हैं। किसी भी दुकान के बाहर सोशल डिस्टेंसिंग के लिए न तो सर्कल बनाए गए हैं और न ही कोई रेखा खींची गई है। हालांकि कुछ दुुकानों के बाहर राशन लेने के लिए कतार में खड़े लोग जरूर एक-दूसरे से दूरी बनाकर खड़े नजर आए। लेकिन यह व्यवस्था भी भीड़ को देखते हुए लोगों ने खुद ही कर रखी थी। सोलन शहर के अलावा जिला भर में आठ बजे से 12 बजे तक कर्फ्यू में ढील दी गई और इस दौरान लोग खरीदारी के लिए सड़क पर निकले। बद्दी, बरोटीवाला व नालागढ़ में लोगों ने जरूरी सामान की खरीदारी की। जबकि कुनिहार व अर्की क्षेत्र में कर्फ्यू में ढील के दौरान भी वाहन या सड़क पर घूम रहे लोगों को पुलिस ने रोककर बाहर निकलने का कारण पूछा। जिन लोगों के पास उचित कारण नहीं था उन्हें वापस लौटा दिया गया। पुलिस कई जगहों पर भीड़ न जुटाने का आह्वान भी करती रही। इस बीच खरीदारी कर रहे लोगों अजय कुमार, सुंदर सिंह, मनोज, संजीव व प्रकाश ने बताया कि घर का जरूरी सामान खरीदने के लिए उन्हें आना पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि घर में सामान खरीदने के लिए एक व्यक्ति की ड्यूटी लगी है, अन्य सभी घरों में ही हैं। बाजार में टहल रहे लगभग सभी लोग दो दिन का सामान अपने साथ लेकर घरों को वापस जाते नजर आए। सोलन में सुबह आठ बजे से पौने 12 बजे तक बेरोकटोक वाहन भी चलते रहे। लेकिन पौने 12 बजे के बाद से पुलिस ने सख्ती दिखानी शुरू कर दी और इस बीच सड़क पर टहल रहे लोगों को घरों की तरफ जाने का इशारा देना शुरू कर दिया। 12 बजते ही सड़क पूरी तरह से खाली हो गई और लोग दोबारा अपने घरों में लौट गए।
कुनिहार में गोले में खड़े नजर आए लोग
कुनिहार (सोलन)। कर्फ्यू में ढील के बाद दुकानों में भीड़ बढ़ती देख पुलिस ने लोगों को काबू करने के लिए राशन की दुकानों के बाहर गोले लगा दिए। सभी लोगों को गोले में खड़े रहकर ही सामान खरीदने की इजाजत दी गई। एक से डेढ़ मीटर की दूरी पर लगाए गए इन गोलों की मदद से दुकानों में भीड़ जमा नहीं हुई। हालांकि लोगों को सामान खरीदने में जरूर देरी हुई लेकिन उन्होंने इस पहल का स्वागत भी किया।
धर्मपुर में खली खाद्य सामग्री की कमी
धर्मपुर(सोलन)। कालका-शिमला हाईवे पर प्रदेश में कर्फ्यू में ढील के दौरान स्थानीय दुकानों पर लोगों को दूध, ब्रेड लस्सी व अन्य चीजों की किल्लत हो गई। कारोबारियों ने बताया कि सब्जी व ब्रेड, दूध की सप्लाई कम आई है। वहीं सब्जी की दुकानों में भी भारी संख्या में लोग पहुंचे लेकिन सभी को सब्जी नहीं मिल सकी। सब्जी की मात्रा कम होने से काफी लोग सब्जी लेने से वंचित रहे। कालका-शिमला हाईवे पर धर्मपुर चौक में कर्फ्यू में ढील का समय समाप्त होने के बाद वाहनों व पैदल चल रहे इक्का-दुुक्का लोगों को पुलिस ने चेतावनी देकर छोड़ दिया।
निर्धारित समय तक ही रहेगी ढील : एसपी
पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव ने बताया कि कर्फ्यू के बीच लोगों को जरूरी चीजों की कमी न हो इसके लिए यह बंदोबस्त किए गए हैं। उन्होंने बताया कि आठ से 12 बजे तक कर्फ्यू में ढील रहेगी और लोग जरूरत का सामान खरीद पाएंगे। लेकिन उसके बाद किसी को भी सड़क पर आने की इजाजत नहीं होगी।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us