विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus in HP : लॉकडाउन और कर्फ्यू के चलते फंसे चार लाख प्रवासी कामगार

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन और कर्फ्यू के चलते हिमाचल में चार लाख प्रवासी कामगार फंस गए हैं।

29 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

ऊना

रविवार, 29 मार्च 2020

जरूरतमंदों को घर तक पहुंचाया जाएगा राशन

ऊना। जिला प्रशासन ने कर्फ्यू के दौरान आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई सुनिश्चित करने की योजना बनाई है। उपायुक्त संदीप कुमार ने कहा कि कोरोना के प्रभाव की रोकथाम के साथ-साथ लोगों को आवश्यक वस्तुओं की कमी नहीं होने दी जाएगी। इसके लिए व्यवस्था बनाई जा रही है। सभी को इसमें सहयोग करना होगा।
जिलाधीश ने कहा कि आंगनबाड़ी के बच्चों को एक महीने का एडवांस राशन दिया जाएगा। इसके लिए डीपीओ आईसीडीएस सतनाम सिंह को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। इसके अलावा विशेष व्यक्तियों और विशेष स्कूलों के बच्चों की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए जिला कल्याण अधिकारी सुरेश शर्मा को अधिकृत किया है। वे राशन से लेकर व्यवस्थाओं में मदद करेंगे।
डीसी ने कहा कि बुजुर्गों और जरूरतमंदों को भी भुगतान की सुविधा के आधार पर दवा और राशन की आपूर्ति की जाएगी। इसके लिए ईजी डे और विशाल मेगा मार्ट के साथ संपर्क किया गया है।
उपायुक्त ने कहा कि आवश्यक सेवाओं जैसे राशन, रसोई गैस, तेल की सप्लाई करने वाली एजेंसियों को जिला खाद्य आपूर्ति नियंत्रक विजय सिंह हमलाल पास जारी करेंगे। सभी कंपनियां और एजेंसियां अपने कर्मचारियों को स्वयं पहचान पत्र जारी करेंगी।
संदीप कुमार ने कहा कि सब्जी मंडी में आने वाले आढ़तियों को एपीएमसी के सचिव सर्वजीत डोगरा पास जारी करेंगे। उपायुक्त ने अपील की है कि लोग अनावश्यक रूप से खरीदारी न करें। आवश्यक वस्तुओं की कमी नहीं होने दी जाएगी लेकिन सभी का सहयोग अनिवार्य है।
उपायुक्त ने कहा है कि बैंक आम लोगों के लिए सुबह 7 बजे से 10 बजे तक खुले रहेंगे। इसके बाद 12 बजे तक बैंक अंदरूनी कार्य करेंगे। डीसी ने कहा कि 10 बजे तक जो ग्राहक बैंक के अंदर दाखिल होंगे उन्हें बैंक मैनेजर समय अंकित कर डिस्चार्ज पास जारी कर देंगे।
उपायुक्त ने कहा कि कुछ लोग मर्जी से मलेरिया की दवा का इस्तेमाल कर रहे हैं। उन्होंने अपील की कि कोई भी दवा बिना डॉक्टर की सलाह के न खाएं। यह घातक हो सकता है। उन्होंने इस बारे में दवा विक्रेताओं भी दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं।
उपायुक्त ने कहा कि पशु चारे की समस्या आ रही है और इस समस्या को दूर करने के लिए उप निदेशक पशु पालन विभाग को नोडल अधिकारी बनाया गया है। सभी पशु चिकित्सा अधिकारियों को किसानों की समस्या को सुलझाने के लिए उचित कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं।
डीसी ने कहा कि आपात स्थिति में लोगों की मदद के लिए हेल्प सेंटर बनाया गया है। मदद मांगने के लिए 01975-226040, 9882528521, 7018067907 पर संपर्क किया जा सकता है। जिनको डायलिसिस या फिजियोथेरेपी की सुविधा की आवश्यकता है, वह 9418440747 पर संपर्क करें। उन्हें घर से पिक एंड ड्रॉप की सुविधा दी जाएगी
... और पढ़ें

पंजाब से सवारियां लेकर पहुंच गई एंबुलेंस

पंजावर (ऊना)। पुलिस ने पंजाब-हिमाचल की सीमा पंडोगा में लगाए नाके पर दो एंबुलेंस को सवारियां ले जाते हुए पकड़ा। बताया जा रहा है कि पंडोगा में नाके के दौरान पकड़ी दो एंबुलेंस में करीब 10 लोग सवार थे।
नाके पर पकड़े लोग एंबुलेंस में सवार होकर जिला मंडी जा रहे थे। पुलिस ने दोनों एंबुलेंस चालकों सहित वाहनों में सवार लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। प्रदेश में कोरोना वायरस को लेकर कर्फ्यू लगा है। प्रदेश की सीमाओं पर पुलिस की विशेष रूप से नाकेबंदी की गई है। ऐसे में अगर कोई वाहन सड़क पर निकलता है या फिर प्रदेश की सीमा में प्रवेश करता है तो उसकी चेकिंग की जा रही है। वीरवार सुबह कर्फ्यू के दौरान पंडोगा पुलिस चौकी प्रभारी रमेश कुमार, एएसआई अश्वनी कुमार, दिनेश कुमार, विश्वनाथ व बलविंद्र के साथ नाके पर थे।
इस दौरान पुलिस ने पंजाब की ओर से आ रही दो एंबुलेंस को रोककर चेक किया, तो उसमें कोई भी व्यक्ति मरीज नहीं पाया गया। जब पुलिस ने एंबुलेंस में सवार लोगों से पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि वे जालंधर में निजी संस्थानों में नौकरी करते हैं। कर्फ्यू लगने से वहां कोई काम धंधा नहीं है। इसलिए वे अपने घरों की ओर जा रहे हैं। सभी लोग जिला मंडी के रहने वाले बताए जा रहे हैं। चौकी प्रभारी ने बताया कि दोनों एंबुलेंस में करीब 10 लोग सवार होकर जा रहे थे। एसपी डॉ. के. गोकुलचंद्रन का कहना है कि पुलिस ने एंबुलेंस चालकों सहित एंबुलेंस में सवार लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।
... और पढ़ें

दुकानों के आगे सोशल डिस्टेंस को बनाए गोल घेरे

संतोषगढ़/गगरेट (ऊना)। कर्फ्यू में ढील के दौरान दुकानों के बाहर लोगों के लिए घेरे लगा दिए हैं। घेरे में खड़े होकर बारी-बारी लोग सामान खरीदेंगे। वीरवार को एएसपी ऊना, तहसीलदार विजय राय और पुलिस चौकी प्रभारी संतोषगढ़ प्रदीप कुमार ने संतोषगढ़ बाजार में लोगों में सोशल डिस्टेंस मेंटेन रखने के लिए दुकानों के आगे गोल घेरे लगाए।
गगरेट में भी पुलिस ने दुकानों के आगे सफेद चूने से घेरे लगाए। दुकानदारों को भी हिदायत जारी की है कि सोशल डिस्टेंस को मेंटेन रखें। कोरोना वायरस के इंफेक्शन के चक्र को मात्र सोशल डिस्टेंस से ही दूर किया जा सकता है। बीते बुधवार को कर्फ्यू में ढील के दौरान लोग जरूरी सामान लेने के लिए उमड़ पड़े। बाजार में भीड़ का माहौल बन गया। उसे दूर करने के लिए पुलिस ने 14 चालान काटे और लोगों को सोशल डिस्टेंस मैंनेट करने के लिए एसडीएम गगरेट विनय मोदी को स्वयं मैदान में उतरना पड़ा था।
बीते कल वाली भीड़ दोबारा न बने इसके लिए गगरेट पुलिस ने पूरी तरह कमर कस ली। गगरेट थाना प्रभारी हरनाम सिंह का कहना है कि कोरोना वायरस को रोकने के लिए फिलहाल इसका चक्र तोड़ना सबसे जरूरी है। उन्होंने कहा कि जब तक हम सोशल डिस्टेंस यानी एक मीटर की कम से कम दूरी नहीं रखेंगे, तब तक वायरस संक्रमण नहीं रुकेगा। इसलिए पुलिस ने दुकानों कर आगे सफेद घेरे बनाए गए हैं।
... और पढ़ें

लॉकडाउन और कर्फ्यू के बीच राहत लेकर आए रामायण और महाभारत धारावाहिक

केंद्र सरकार इस प्रयास में है कि लोग घरों में रहें और कोरोना वायरस से जनित महामारी से अपना बचाव कर सकें। लोगों को घरों में ही रोकने के लिए सरकार ने दूरदर्शन पर रामायण और महाभारत जैसे धार्मिक सीरियल शुरू किए हैं। बड़े-बुजुर्ग रामायण के बारे में तो यहां तक कहते हैं कि जब इसका प्रसारण टीवी पर होता था तो कर्फ्यू जैसी स्थिति उस समय हो जाया करती थी।

मौजूदा परिवेश में कोरोना वायरस से बचाव में जुटे नागरिकों को दूरदर्शन के चैनल पर एक बार फिर 90 के दशक में प्रसारित किए गए रामायण व महाभारत जैसे टीवी धारावाहिक फिर से शुरू किया है ताकि लोग अधिक से अधिक अपने घरों में रहें तथा मनोरंजन के साथ नई पीढ़ी को इतिहास की जानकारी भी मिले। 

इस सीरियल के शुरू होने से लोगों ने सरकार का आभार जताया है। घर में बैठ कर सरकार के बताए नियमों का पालन कर रहे नागरिकों के लिए समय बिताने के साधन के साथ पुराने समय की याद एक बार फिर ताजा हो रही है। शनिवार सुबह 9 बजे रामायण व 12 बजे महाभारत धारावाहिक देख दूरदर्शन के चैनलों को भी लोग सर्च कर सेट कर रहे हैं।

क्षेत्र के लोगों में रमेश लौ, ईश्वर चंद्र, विकास, संजय शर्मा, अतुल कालिया, इंदरजीत, बीडी पराशर, संजीव, तनुजा शर्मा, अंजू, इंदु शर्मा आदि के अनुसार इन धारावाहिकों के शुरू होने से न केवल समय अच्छा बीतेगा बल्कि युवाओं को भी भारत की पुरानी संस्कृति जानने का अवसर मिलेगा ।

घरों में बैठ टीवी स्क्रीन पर लोगों ने देखी रामायण
कर्फ्यू के दौरान घरों में बैठे लोगों ने टीवी स्क्रीन पर रामायण धारावाहिक देखा। शनिवार सुबह से लोग अपने घरों में रामायण धारावाहिक देखने के लिए काफी उत्सुक दिखाई दिए। करीब तीन दशक बाद रामायण धारावाहिक को दोबारा शुरू किया गया है।

केंद्र सरकार ने कर्फ्यू और नवरात्रों के दौरान रामायण धारावाहिक को दोबारा शुरू करवाया है। शनिवार सुबह और रात को 9 बजे इसका प्रसारण शुरू हो गया है। शनिवार की सुबह अधिकतर लोगों ने घरों में बैठकर रामायण के पहले एपिसोड को देखने का लुत्फ उठाया। नेशनल चैनल पर शनिवार से इसका प्रसारण शुरू हो गया है।

कर्फ्यू के चलते नवरात्र में कन्या पूजन भी रुका
कोरोना वायरस के चलते नवरात्रों के दौरान घर-घर होने वाला कन्या पूजन नहीं हो रहा है। कर्फ्यू का लोग पालन कर रहे हैं। इस बार लोग अपने घर में ही परिवार सहित पूजा कर रहे हैं। नवरात्रों के दौरान सार्वजनिक स्थलों पर भंडारों और पूजा सहित जागरण का आयोजन भी होता है।

लेकिन लोग इस बार इन सब से दूर हैं। गृहिणियों रीना देवी, मीरा देवी, तारो देवी, कश्मीरा देवी, सुनीता एवं सुरेंद्र कुमार, विशंभर दास, अरविंद कुमार का कहना है कि इस बार कोरोना वायरस की वजह से कन्या पूजन सहित भंडारे और जागरण नहीं करवाए जा रहे हैं।

सरकार व स्वास्थ्य विभाग के आदेशों व एडवाइजरी की पालना की जा रही है। अगर हालात सामान्य होते हैं तो आगामी नवरात्रों में ये कार्यक्रम हो जाएंगे। बहरहाल, घर में ही परिवार सहित पूजा अर्चना कर रहे हैं।
... और पढ़ें
Ramayan Ramayan

कफर््यू में भी शराब माफिया के हौसले बुलंद

संतोषगढ़ (ऊना)। जिला में कोरोना वायरस को लेकर लगाए गए कफर्यू में शराब माफिया की सप्लाई नहीं रुक रही है। एक ओर प्रदेश सरकार ने शराब ठेके बंद करने के निर्देश जारी किए हैं तो वहीं शराब माफिया के लोग गुपचुप तरीके से वीआईपी गाड़ियों में शराब की पेटियां सप्लाई कर रहे हैं। पुलिस ने शुक्रवार देर रात संतोषगढ़ नगर के वीरभद्र चौक के पास नाकेबंदी के दौरान एक स्कॉर्पियो गाड़ी से दो पेटी अवैध शराब बरामद की है। आरोपी गाड़ी चालक की पहचान अंकुश कुमार पुत्र जीवन कुमार उर्फ हरबंस निवासी गांव कुलग्रां थाना नगंल पजांब के रूप में हुई है। पुलिस ने अवैध शराब की खेप कब्जे में लेकर आरोपी गाड़ी के खिलाफ केस दर्ज कर मामले की आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है। उधर, एसपी डॉ. कार्तिकेयन गोकुलचंद्रन का कहना है कि पुलिस ने आरोपी गाड़ी चालक अंकुश कुमार के खिलाफ केस दर्ज कर मामले की आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है। ... और पढ़ें

स्कूलों में बांटा जाएगा योजना के तहत मिड डे मील राशन

स्कूलों में मिड डे मील योजना के तहत बांटा जाएगा राशन
प्रति छत्र की डाइट के अनुसार ही दी जाएगी खाद्य सामग्री
कोरोना के लिए जारी नियमानुसार ही बंटेगा स्कूलों में राशन
जिला के करीब 770 स्कूलों के लिए जारी किए गए हैं निर्देश
संवाद न्यूज एजेंसी
ऊना। प्रदेश सरकार और शिक्षा निदेशालय के निर्देशानुसार सभी सरकारी स्कूलों में मिड डे मील योजना के तहत विद्यार्थियों को खाद्य सामग्री वितरित की जाएगी। इसके लिए जिला उपायुक्त संदीप कुमार ने भी शिक्षा विभाग के जिला अधिकारियों और स्कूल प्रबंधकों को निर्देश जारी किए हैं। इसके साथ यह राशन स्कूल प्रबंधक सिर्फ कर्फ्यू में दी जा रही ढील में ही बांटना होगा। साथ ही स्कूल प्रबंधकों और मिड-डे-मील इंचार्ज को यह राशन सामाजिक दूरी रखकर ही बांटना होगा। जिला उपायुक्त ने स्कूल प्रबंधकों को कोरोना वायरस को रोकने के लिए निर्धारित नियमों की पालना करके ही इस कार्य को करने के सख्त निर्देश दिए हैं। मिड-डे-मील योजना के जिला को ऑर्डिनेटर अतुल शर्मा ने बताया कि अभिभावकों को चावल, दो दालें और नमक-मसालों के लिए राशि बांटी जाएगी। इसमें प्राइमरी के विद्यार्थियों के लिए प्रतिदिन के हिसाब से 100 ग्राम राशन और 4.48 रुपये खर्च और अपर प्राइमरी के लिए 150 ग्राम राशन और 6.71 रुपये मसलों का खर्च दिया जाएगा। प्रदेश सरकार के निर्देशों के अनुसार जिला ऊना के करीब 770 स्कूलों में मिड डे मील का राशन वितरण किया जाएगा। इस समय जिला में 499 प्राथमिक स्कूल, 95 माध्यमिक, 48 उच्च और 199 सीसे स्कूल हैं, जिनकी कक्षा पहली से लेकर कक्षा आठवीं तक मिड-डे-मील का राशन थोड़ी-थोड़ी संख्या में अभिभावकों को बुलाकर बांटा जाएगा।
... और पढ़ें

चिंतपूर्णी ट्रस्ट ने झुग्गी झोपडिय़ों में बांटा राशन

भरवाईं(ऊना)। चिंतपूर्णी क्षेत्र में झुग्गी-झोपड़ियों में रहने वाले प्रवासी मजदूरों को शनिवार को डीसी ऊना संदीप कुमार के आदेशों के बाद मंदिर ट्रस्ट की तरफ राष्ट्रीय एकता मंच एनजीओ के माध्यम से सहायता प्रदान की गई। मंदिर ट्रस्ट की तरफ से सभी गरीब 132 प्रवासी परिवारों को राशन बांटा गया। इन्हें इस दौर में अपने घर का खर्च चलाना मुश्किल हो गया था। ऐसे प्रवासी मजदूरों और दिहाड़ीदारों को राशन दिया गया। उपायुक्त ऊना ने इस आपदा के समय राशन बांटने की मुहिम चलाई है और गरीबों को राशन बांटने के भंडार खोल दिए हैं। मंदिर ट्रस्ट ने राष्ट्रीय एकता मंच की सहायता से चिंतपूर्णी बस स्टैंड में सुबह 11 बजे के करीब 132 गरीब परिवारों को राशन बांटा। मंदिर ट्रस्ट की ओर से गरीब परिवारों को 5 किलो चावल, 5 किलो आटा, 1 किलो चीनी, 3 किलो दाल, एक किलो देसी घी, एक किलो नमक, 200 ग्राम सोयाबीन, आधा किलो सूखा दूध, 100 ग्राम हल्दी, मिर्ची, गर्म मसाला दिया जा रहा है। तहसीलदार भरवाईं महेंद्र सिंह, पटवारी श्वेता और मीनाक्षी ठाकुर अपने काम को पूरी जिम्मेवारी के साथ कर रहे हैं। वहीं, राशन की पैकिंग के लिए मंदिर ट्रस्ट के कर्मचारी भी दिन रात लगे हुए हैं, ताकि सभी को बराबर मात्रा में सामान मिल सके। वहीं मंदिर कार्यालय के अधीक्षक जीवन कुमार भी पूरी प्रक्रिया पर नजर बनाए रखे हुए हैं। उधर, थाना प्रभारी जगबीर ठाकुर की पुलिस टीम सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने में अपनी भूमिका निभा रही है। राष्ट्रीय एकता मंच एनजीओ की सदस्य मीनाक्षी ठाकुर ने बताया कि उनके सर्वे के अनुसार 168 के आसपास प्रवासियों के परिवार हैं। वहीं, भाजपा देहरा जिलाध्यक्ष संजीव शर्मा मंदिर ट्रस्ट की ओर से चलाई गई इस मुहिम का निरीक्षण करने पहुंचे और उन्होंने डीसी ऊना की इस पहल को सराहा। नायब तहसीलदार महेंद्र सिंह ने बताया कि ट्रस्ट की कोशिश रहेगी कि हर जरूरतमंद गरीब परिवार तक राशन पहुंचाया जा सके। कोई ऐसा गरीब जरूरतमंद परिवार है तो उनके ध्यान में लाया जाए। ऐसे लोगों की भी जल्द सहायता करने की कोशिश करेंगे। ... और पढ़ें

सफाई कर्मचारियों को मिलेगी 1500 की प्रोत्साहन राशि

संतोषगढ़ (ऊना)। शहरी विकास विभाग हिमाचल प्रदेश की ओर से नगर निकायों में काम करने वाले सफाई कर्मचारियों को 500 रुपये की प्रोत्साहन राशि देने का निर्णय लिया गया है। गौर हो कि कोरोना वायरस फैलने से उत्पन्न हुई इस महामारी की स्थिति में जहां सरकार और प्रशासन की ओर से जनता को घरों के अंदर रहने की अपील की गई है, वहीं पर नगर निकायों के सफाई कर्मचारी पूरे नगर में सारा दिन सफाई भी करते हैं और लोगों के घरों से कूड़ा इकट्ठा करने के साथ-साथ दवाइयों की सप्रे करने का जिम्मा भी इन्हीं को सौंपा गया है। इस तरह से यह सफाई कर्मचारी अपनी जान की परवाह न करते हुए नगर में स्वच्छता का माहौल कायम रखे हुए हैं। नगर परिषद मैहतपुर बसदेहड़ा और वर्तमान में नगर परिषद संतोषगढ़ का भी अतिरिक्त कार्यभार देख रही कार्यकारी अधिकारी वर्षा चौधरी ने बताया कि शुक्रवार को शहरी विकास विभाग के सचिव और निदेशक के साथ हुई वीडियो कांफ्रेंसिंग में अधिकारियों ने प्रदेश के सभी नगर निकायों में स्वच्छता रखने को लेकर किए जा रहे हैं कार्यों की फीडबैक ली और कांफ्रेंसिंग के दौरान सचिव और निदेशक की ओर से निर्देश जारी किए गए कि नगर निकायों में काम करने वाले सभी सफाई कर्मचारियों को उनके वेतन के अतिरिक्त 1500 रुपये की अतिरिक्त प्रोत्साहन राशि विभाग की ओर से उनके वेतन से अलग दी जाएगी। इसके अलावा मार्च महीने के वेतन के साथ सफाई कर्मचारियों को अप्रैल महीने का वेतन भी दे दिया जाएगा, ताकि सफाई कर्मचारियों को अपने परिवार का जीवन यापन करने में कोई कठिनाई न आए और वह इस संकट की घड़ी में और तत्परता के साथ अपने कार्य का निर्वहन कर सकें। वर्षा चौधरी ने बताया कि नगर परिषद मैहतपुर बसदेहड़ा और संतोषगढ़ में काम कर रहे सफाई कर्मचारियों के बैंक खाते में 1500 रुपये की प्रोत्साहन राशि नगर परिषद की ओर से सीधे तौर पर जमा करवाई जाएगी और उन्हें पहले मिल रहे वेतन की व्यवस्था के अनुसार मार्च महीने के वेतन के साथ अप्रैल माह का वेतन भी दे दिया जाएगा। ... और पढ़ें

लेकिन जरूरतमंदों को स्वयं ना बांटें राशन

ऊना। अपने स्तर पर जरूरतमंदों को राशन और अन्य आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई घातक सिद्ध हो सकती है। यह बात शनिवार को उपायुक्त ऊना संदीप कुमार ने एक प्रेस वार्ता में कही।
उन्होंने कहा कि आगे आकर समाज की मदद करने की भावना का सम्मान है, लेकिन ऐसा करना धारा 144 का उल्लंघन भी है और इससे एक ही स्थान पर बार-बार राशन पहुंच जाएगा, जिससे सभी जरूरतमंद लोगों तक राशन की सप्लाई नहीं हो पाएगी। साथ ही राशन की सप्लाई के समय सामाजिक दूरी का भी ध्यान रखा जाना चाहिए।
जिलाधीश ने कहा कि जो भी व्यक्ति मदद करना चाहते हैं वे जिला ग्रामीण विकास अभिकरण के परियोजना अधिकारी संजीव ठाकुर से संपर्क कर सकते हैं, ताकि उचित व्यवस्था बनाई जा सके। उन्होंने बताया कि शनिवार तक लगभग 10 हजार परिवारों तक राशन पहुंचाया गया है और इस मुहिम को आने वाले दिनों में और तेज किया जा रहा है। उन्होंने लंगर लगाने वालों को सावधान करते हुए कहा कि ऐसा करना संक्रमण का कारण बन सकता है। डीसी ने कहा कि राशन के बाद स्लम एरिया में दूध, सब्जी और ब्रैड आदि की सप्लाई भी की जा रही है। इसके अलावा स्थानीय स्तर पर मेडिकल कैंप भी लगाए जाएंगे।
उन्होंने कहा कि बाबा रुद्रानंद, जोगीपंगा और बाबा बाल जैसी धार्मिक संस्थाएं भी राशन देने को आगे आई हैं। उन्होंने संकट की इस घड़ी में मदद के लिए सभी सामाजिक संगठनों का धन्यवाद किया।
जो जहां है, वहीं रहे
उपायुक्त संदीप कुमार ने कहा कि जिला ऊना के कई लोग बाहरी राज्यों में फंसे हैं, ऐसे व्यक्ति जिला प्रशासन से संपर्क कर सकते हैं। उनके रहने और खाने की व्यवस्था वहीं के प्रशासन से बात कर करवाई जाएगी। मेहमानों की तरह उनका ध्यान रखा जाएगा और समय अनुकूल होते ही वापस बुलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि सिर्फ आपातकालीन स्थितियों में ही पास की व्यवस्था की जाएगी और बाहर से आने वालों का मेडिकल चेकअप किया जाएगा।
टैक्सियों के रेट किए तय
डीसी ने कहा कि आपात स्थिति में अगर किसी को टैक्सी की आवश्यकता है तो इसके लिए जिला प्रशासन ऊना ने रेट तय कर दिए हैं। ऊना से पीजीआई चंडीगढ़ तक 6 सीटर वाहन के लिए 3200 रुपये, 4 सीटर वाहन के लिए 2700, ऊना से होशियारपुर तक 6 सीटर वाहन के लिए 1500 रुपये, 4 सीटर वाहन के लिए 1200 रुपये, ऊना से कांगड़ा के लिए 6 सीटर का रेट 2700 रुपये तथा 4 सीटर का किराया 2200 रुपये होगा। इसके अलावा ऊना से लुधियाना के लिए 6 सीटर गाड़ी का किराया 3300 रुपये तथा 4 सीटर का रेट 2800 रुपये तय किया गया है। साथ ही आपात स्थिति में 10 किमी तक ऊना लोकल में जाने के लिए भी टैक्सी प्राप्त की जा सकती है। छह सीटर वाहन के लिए 500 रुपये तथा 4 सीटर टैक्सी के लिए 300 रुपये चुकाने होंगे। आपात स्थिति में यात्रा के लिए पास जारी किए जाएंगे, जिसके लिए फोटो लाना अनिवार्य होगा। टैक्सी सुविधा के लिए लेख राज (फोन नंबर- 9816610725) तथा संदीप कुमार (फोन नंबर- 9816044014) पर संपर्क किया जा सकता है।
पशु चारे का इंतजाम किया
उपायुक्त संदीप कुमार ने कहा कि पशु चारे का इंतजाम कर दिया गया है। पंजाब से काफी संख्या में गाड़ियां जिला ऊना पहुंच रही हैं। पशुचारे के लिए अपने नजदीकी पशु चिकित्सा अधिकारी से संपर्क करें। इसके अलावा पशु पालन विभाग के हेल्पलाइन नंबर 9817956715, 9816508652 पर भी बात की जा सकती है। अगर आवश्यकता हुई तो पशुचारे की राशनिंग भी की जाएगी।
... और पढ़ें

दौलतपुर चौक में एक ऑटोरिक्शा जब्त

दौलतपुर चौक (ऊना)। स्थानीय पुलिस ने नियमों की अवहेलना करने के चलते शुक्रवार को एक आटोरिक्शा जब्त किया है। इससे पहले पुलिस नौ बाइक भी जब्त कर चुकी है। इसके अलावा पुलिस चौकी दौलतपुर चौक के तहत कर्फ्यू की सख्त अनुपालना करवाने के लिए आधा दर्जन रिजर्व बटालियन जवानों सहित 25 पुलिस जवान कानून व्यवस्था संभालेंगे, ताकि लोग कर्फ्यू का उल्लंघन न कर पाए। गौर हो कि विश्वव्यापी कोरोना वायरस के कहर के चलते जब भी कर्फ्यू में ढील दी जाती है तो लोग एकदम से वाहनों सहित बाजार में घुस जाते हैं। इसके अलावा क्षेत्र में कुछ चोर रास्ते भी है जहां नाका न होने की वजह से पड़ोसी राज्य पंजाब के लोग भी आसानी से घुसपैठ कर जाते हैं। अब पुलिस के पास संख्या बल पर्याप्त होने से ऐसे घटनाओं पर आसानी से रोक लग सकेगी। उधर, चौकी प्रभारी तरसेम सिंह का कहना है कि पुलिस ने शुक्रवार को एक आटोरिक्शा जब्त किया। उन्होंने बताया कि बेहतर कानून व्यवस्था के लिए छह रिजर्व बटालियन के जवानों सहित कुल 25 पुलिस जवान मुस्तैदी से ड्यूटी दे रहे हैं। ... और पढ़ें

चंडीगढ़ से हिमाचल भागे तीन होम क्वारंटीन, होटल में छिपे होने की आशंका

कोविड-19 कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने की आशंका से हर कोई भयभीत है। ऐसे में सरकार विदेश से लौटे लोगों और उनके परिवार को होम क्वारंटीन कर रही है, ताकि यह संक्रमण आगे न फैले। लेकिन सूचना है कि चंडीगढ़ से ऐसे तीन लोग हिमाचल की ओर फरार हो गए हैं, जिन्हें चंडीगढ़ प्रशासन ने होम क्वारंटीन किया है।

पुख्ता सूत्रों के मुताबिक इनके ऊना जिला के किसी होटल में छिपे होने की आशंका जताई जा रही है। हालांकि जिला पुलिस ने नाके पर अपनी व्यवस्था पूरी तरह से चुस्त-दुरुस्त रखी है। बताया जा रहा है कि चंडीगढ़ स्थित सेक्टर 18-सी, हाऊस नंबर 1225 के तीन सदस्यों को चंडीगढ़ प्रशासन द्वारा होम क्वारंटीन किया गया था।
... और पढ़ें

अधिक दाम पर सब्जी बेची तो होगी कार्रवाई : डीसी

आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने शुरू किया जरूरी वस्तुएं बांटने का काम

ऊना। जिला ऊना के आंगनबाड़ी केंद्रों के माध्यम से बच्चों को प्रदान की जाने वाली खाने-पीने की वस्तुओं की सप्लाई का काम शुरू हो गया है। जिला कार्यक्रम अधिकारी ऊना सतनाम सिंह ने बताया कि शुक्रवार से आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं ने जिलेभर में बच्चों, गर्भवती महिलाओं और दूध पिलाने वाली माताओं को आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई शुरू कर दी है। परिवारों को दलिया, न्यूट्री, मीठे व नमकीन बिस्कुट आदि प्रदान किए जा रहे हैं। यह सप्लाई 1 अप्रैल से लेकर 30 अप्रैल 2020 की अवधि के लिए दी जा रही है। सामान देने के साथ-साथ लोगों को कोरोना वायरस के संक्रमण के बारे में भी जागरूक किया जा रहा है।
सतनाम सिंह ने कहा कि आंगनबाड़ी केंद्रों पर एक-एक मीटर के फासले पर निशान बनाकर लोगों को वस्तुएं प्रदान की जा रही हैं और सामाजिक दूरी का महत्व समझाया जा रहा है। साथ ही उन्हें अन्य सार्वजनिक स्थानों पर भी फासला रखने की सलाह दी जा रही है और व्यक्तिगत स्वच्छता के बारे में जागरूक किया जा रहा है।
----
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us