विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
sawan 2020 : जाने कैसे बदलता है यह शिवलिंग अपना रंग
Sawan Special

sawan 2020 : जाने कैसे बदलता है यह शिवलिंग अपना रंग

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

Coronavirus: हिमाचल के चंबा में सात नए कोरोना मरीज

सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

पहली बार सीधे बागवानों से सेब खरीदने पहुंचा वाॅलमार्ट, नामी कंपनियों ने हिमाचल में डाला डेरा

हिमाचल में सेब खरीदने के लिए नामी कंपनियां भी बागवानों के पास पहुंच गई हैं। इनमें बिग बास्केट, वाॅलमार्ट, रिलायंस फ्रेश और सफल प्रमुख हैं। इन कंपनियों के प्रतिनिधियों ने सेब उत्पादक क्षेत्रों में जाकर फसल का मुआयना शुरू कर दिया है। बागवानों से सिर्फ ए ग्रेड का सेब ही ये कंपनियां खरीदेंगी। बगीचों के नजदीक ही सेब खरीद की जाएगी और बागवानों को तत्काल भुगतान भी कर दिया जाएगा। 

ये नामी कंपनियां मौके पर सेब की क्वालिटी देखकर बगीचों में ही फसल खरीदना चाहती हैं। प्रदेश में पैदा होने वाले अच्छे सेब पर इनकी नजर है। कंपनियां सिर्फ ऊंचाई में पैदा होने वाले सेब की खरीद करेंगी। माना जाता है कि जितनी ज्यादा ऊंचाई वाले इलाकों में सेब पैदा होता है, उसकी भंडारण क्षमता भी उतनी ज्यादा होती है। इस कारण कंपनियों की नजर ऊंचाई वाले सेब पर है। कंपनियां अधिक ऊंचाई वाले क्षेत्रों में पैदा होने वाला बढ़िया सेब खरीदेंगी और फसल देखकर ही दाम भी तय होगा। 

कंपनियां बागवानों से सिर्फ क्रेट में रखे सेब ही खरीदेंगी। बागवानों से पेटी में रखा सेब खरीदने से परहेज किया जाएगा, क्योंकि कंपनी माल की गुणवत्ता परखने में ज्यादा सिर दर्दी नहीं करना चाहती। कुछ कंपनियों ने अपने सेब खरीद केंद्र खोल दिए हैं और कुछ खोलने में जुटी हैं। इसके अलावा वाल मार्ट जैसे कंपनियां अपने रेफ्रीजरेटर वैन की मदद से अपने सीए स्टोंरों में सेब खरीदकर पहुंचाएंगी। 
... और पढ़ें

2500 करोड़ से बनेगा थाना प्लोन हाइड्रो प्रोजेक्ट, खुलेंगे रोजगार के द्वार

हिमाचल के मंडी जिले के जोगिंद्रनगर में 2500 करोड़ रुपये से बनने वाली 191 मेगावाट थाना प्लोन हाइड्रो इलेक्ट्रिक परियोजना के निर्माण की सारी बाधाएं दूर हो गई हैं। इस परियोजना के लिए पर्यावरण मंत्रालय से हरी झंडी मिल गई है। डीपीआर का कार्य भी अंतिम चरण में है। डीपीआर स्वीकृत होते ही भूमि अधिग्रहण का कार्य शीघ्र आरंभ किया जा सकेगा। परियोजना के निर्माण के लिए 405 हेक्टेयर भूमि की आवश्यकता होगी। एफसीए (फॉरेस्ट क्लीयरेंस) के लिए डीएफओ जोगिंद्रनगर को नोडल अधिकारी बनाया गया है। एफसीए के लिए भी सभी औपचारिकताएं अंतिम चरण में हैं। परियोजना के महाप्रबंधक अजय बिष्ट ने बताया कि परियोजना निर्माण से प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से स्थानीय लोगों को रोजगार के अवसर मुहैया होंगे। 

107 मीटर बनेगा बांध
परियोजना के लिए बांध ब्यास नदी पर बनेगा, जिसकी उंचाई 107 मीटर होगी। पावर हाउस बांध से 200 मीटर की दूरी पर बनेगा। प्रोजेक्ट की खास बात यह है कि इससे क्षेत्र के लोग प्रभावित नहीं होंगे। सांसद रामस्वरूप ने बताया कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के प्रयासों से यह संभव हो सका है। उन्होंने बताया कि निर्माण कार्य के लिए एनएचपीसी व एसजेवीएनएल से बात चल रही है। परियोजना के निर्माण कार्य को गति प्रदान करने के लिए थाना प्लोन हाईड्रो इलैक्ट्रिक परियोजना के प्रबंधन से समय समय पर संपर्क किया जा रहा है।
... और पढ़ें

राज्य सूचना आयुक्त पद को सेवानिवृत्त आईएएस, आईपीएस अधिकारियों में होड़

जल विद्युत परियोजना(सांकेतिक)
राज्य सूचना आयुक्त के पद के लिए सेवानिवृत्त आईएएस, आईपीएस और अन्य अधिकारियों में होड़ लग गई है। पूर्व में सरकार में अतिरिक्त मुख्य सचिव रहीं मनीषा नंदा, पीसी धीमान और सचिव पूर्णिमा चौहान जैसे दिग्गजों ने आवेदन किए हैं। इनके अलावा कुछ आईपीएस अधिकारियों और अन्य अधिकारियों ने भी आवेदन किए हैं। आम लोगों में से भी कई आवेदन आए हैं। 

राज्य सूचना आयुक्त के इस पद के लिए प्रशासनिक सुधार विभाग ने आवेदन मांगे थे। आवेदन 25 जुलाई तक मांगे गए थे। करीब 60 आवेदन पहुंचने के बाद अब इसकी फाइल सीएम कार्यालय भेजी गई है। इस पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता वाली चयन कमेटी निर्णय लेगी। कमेटी में एक मंत्री और नेता प्रतिपक्ष भी हैं। इनकी बैठक होने के बाद ही निर्णय होगा। वर्तमान में राज्य सूचना आयुक्त के पद पर सुशील चंद्र श्रीवास्तव की नियुक्ति है।

वह इसी महीने में सेवानिवृत्त होने जा रहे हैं। उससे पहले ही सरकार ने इस पद को भरने के लिए आवेदन मांगे हैं। इस पद पर ऐसे व्यक्ति ही नियुक्ति की जाती है, जो किसी राजनीतिक पार्टी से न जुड़ा हो और लाभ के पद पर न हो। राज्य सूचना आयुक्त पद के लिए यह नियुक्ति तीन साल के लिए ही की जाएगी। अगर तीन साल से पहले 65 वर्ष की आयु पूरी हो तो उसी तिथि में सेवानिवृत्ति मानी जाएगी। 
... और पढ़ें

खली का संदेश, कोरोना से बचाव के लिए उठाएं जरूरी कदम

विश्व विख्यात रेसलर दलीप सिंह राणा उर्फ द ग्रेट खली सोमवार को गुरु की नगरी पांवटा साहिब पहुंचे। मुख्य गुरुद्वारा साहिब पांवटा साहिब में उन्होंने शीश नवाया। इस दौरान उन्होंने कोरोना महामारी से संक्रमित सदी के महानायक अमिताभ बच्चन के परिवार समेत हर संक्रमित के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की। ग्रेट खली ने कहा कि कोरोना से हम सबको बचाव करना जरूरी है। इसके लिए केंद्र, राज्य सरकार समेत प्रशासन की जरूरी गाइडलाइन का पालन करने का आह्वान किया।

पांवटा में माथा टेकने के बाद ग्रेट खली गिरिपार में अपने पैतृक गांव धिराइना रवाना हो गए। उन्होंने कहा कि इस बीमारी को हल्के में नहीं लिया जाए। आज सदी के महानायक अमिताभ बच्चन परिवार समेत लाखों लोग इसकी चपेट में है। इससे हम सब लोगों को सबक भी लेने चाहिए। बचाव के लिए जरूरी कदम जरूर उठाएं। द ग्रेट खली ने कहा कि सामाजिक दूरी का पालन करें। भीड़भाड़ में बिना काम के न निकलें।

बाहर जाने पर मास्क पहने और जागरूकता सबसे जरूरी है। आज शहर से गांव तक कोरोना से बचाव जरूरी है। अपने शरीर में रोगों से लड़ने की क्षमता को बढ़ाने के लिए उचित खानपान, प्रतिदिन व्यायाम-योगा करें। विशेषकर बुजुर्गों और छोटे बच्चों को इस रोग से बचाव का पूरा ध्यान रखा जाए।
... और पढ़ें

Coronavirus: हिमाचल में रिकाॅर्ड 78 पॉजिटिव मरीज,1291 पहुंचा आंकड़ा

हिमाचल में ऑनलाइन लाइसेंस सुविधा देने की तैयारी, 27 जुलाई से पायलट तौर पर शुरू होंगी सेवाएं

प्रदेश सरकार हिमाचल में ऑनलाइन लाइसेंस आवेदन, वाहनों का पंजीकरण, रजिस्ट्रेशन शुरू करने जा रही है। परिवहन विभाग ने इसका सॉफ्टवेयर तैयार किया है। 27 जुलाई से पायलट तौर पर यह सेवा जिला शिमला और कांगड़ा में शुरू होगी। इसके बाद अन्य जिलों में यह सुविधा शुरू होनी है। यह सुविधा शुरू होने से लोगों को परिवहन विभाग के कार्यालय आने की जरूरत नहीं पड़ेगी। लाइसेंस के दस्तावेज ऑनलाइन जमा होने के बाद विभाग लोगों को ड्राइविंग टेस्ट के लिए बुलाएगा। इसके बाद लोगों को पास या फेल की जानकारी ऑनलाइन ही दी जाएगी।

टेस्ट पास होने की स्थिति में गाड़ी का लाइसेंस भी ऑनलाइन उपलब्ध कराया जाएगा। वाहनों की रजिस्ट्रेशन भी ऑनलाइन होगी। वाहनों की फीस जमा करने को भी दफ्तर जाने की जरूरत नहीं होगी। परिवहन विभाग से जुड़ी सभी सुविधा ऑनलाइन मिलेगी। परिवहन विभाग के निदेशक कैप्टन जेएम पठानिया ने बताया कि सुविधा को ऑनलाइन किया जा रहा है। जिला शिमला और कांगड़ा में ऐसे पायलट तौर पर शुरू किया जा रहा है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन