विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

इग्नू दीक्षांत समारोहः दीक्षांत समारोह में छाईं हरदीप, 113 को मिली डिग्री

इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी रीजनल सेंटर जम्मू ने अपना 33वां दीक्षांत समारोह का आयोजन किया। इसमें जम्मू यूनिवर्सिटी के वीसी प्रो. मनोज धर मुख्य...

18 फरवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

जम्मू

शनिवार, 22 फरवरी 2020

मुफ्त बिजली-पानी व बिल माफी के लिए किया प्रदर्शन किया

अरनिया। बॉर्डर संघर्ष समिति के बैनर तले कस्बे में बिजली-पानी के बिल व बकाया बिलों की माफी की मांग को लेकर क्षेत्र के लोगों ने शुक्रवार को प्रशासन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शन की अगुवाई कर रहे पार्षद और समिति के प्रधान यशपाल बुड्ढा ने कहा कि पाकिस्तानी गोलाबारी के चलते साल में करीब आठ माह क्षेत्र के लोग जान बचाने के लिए सुरक्षित स्थानों शिविरों या फिर रिश्तेदारों के यहां चले जाते हैं, जबकि सामान्य स्थिति में भी रात में सुरक्षित स्थानों पर चले जाते हैं। उस पर बिजली विभाग प्रतिमाह भारी भरकम बिल थमा रहा है। जो हम लोगों के साथ अन्याय है, जिसे हम सहन नहीं करेंगे। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि पाकिस्तानी गोलाबारी करीब पांच किलोमीटर तक मार करती है, इसीलिए बॉर्डर से पांच किलोमीटर तक बिजली-पानी और बकाया बिल माफ होना चाहिए।
निजीकरण के चलते बिजली तारों को डाला जा रहा है, जबकि स्थानीय प्रशासन इस पर मौन धारण किए है। वहीं शनिवार को अरनिया-आरएस पुरा सड़क को बंद कर इससे भी बड़ा प्रदर्शन किया जाएगा जो मांगे माने जाने तक जारी रहेगा। प्रदर्शन में कमल कुमार, यशपाल प्रजापति व गोल्डी सहित कई लोग मौजूद शमिल रहे।
---------------------
किसान बढ़ा बिजली बिल देने की स्थिति में नहीं
संवाद न्यूज एजेंसी
ज्यौड़ियां। बिजली बिल में बढ़ोतरी किए जाने से क्षेत्र के ग्रामीणों में रोष दिन-प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। शुक्रवार को खौड़ के पंचायत मट्टू की वार्ड एक, दो और तीन के ग्रामीणों ने बैठक कर बिजली विभाग के खिलाफ रोष जताया। बैठक की अध्यक्षता मट्टू पंचायत के पूर्व पंच नारायण सिंह ने की तथा बैठक में पंचायत के सैकड़ों की संख्या में लोग उपस्थित रहे।
बैठक में नारायण सिंह ने कहा कि बिजली विभाग की तरफ से इस माह भेजे गए बिल को बढ़ाकर भेजा है, जिसे अदा कर पाना मुश्किल है, क्योंकि हम खेतीबाड़ी पर निर्भर हैं, और पांच-छह साल से खेतीबाड़ी में कोई मुनाफा नहीं हो रहा है। खेती घाटे में जा रही है, क्योंकि सिंचाई विभाग की तरफ से समय पर नहरों की सफाई नहीं की जा रही है। सूखे से फसलें सूख रही हैं। कभी बेमौसम बारिश से फसल खराब हो रही है। सरकार कोई ध्यान नहीं दे रही है। बिजली का बिल बढ़ाया जा रहा है।
बैठक में नायब सरपंच पंचायत मट्टू कुलबीर सिंह ने कहा कि किसानों के लिए बिजली का बढ़ा बिल दे पाना मुश्किल है। पंचायत के ज्यादातर लोग गरीब हैं। बिजली विभाग को चाहिए कि बिल में कटौती कर पहले की तरह ही बिल भेजे जाएं। ऐसा नहीं किया तो हम लोग विभाग के खिलाफ सड़क पर आ जाएंगे। बैठक के दौरान फैसला लिया गया कि अगर विभाग की तरफ से बिल को बढ़ाया तो हम लोग बिल अदा नहीं करेंगे। बैठक में पंच तरसेम सिंह, पूर्व सरपंच राकेश कुमार तथा घसीटा राम सहित अन्य कई लोग उपस्थित रहे।
... और पढ़ें

कयाकिंग-कैनोइंग स्पोर्ट्स की जज बनी कश्मीर की बेटी, कहा- डल झील न होती तो मैं न होती

पाकिस्तान की नापाक हरकतों का सेना ने दिया करारा जवाब, मार गिराया एक सैनिक, कई घायल

पाकिस्तान की नापाक हरकतें थमने का नाम नहीं ले रही हैं। वह लगातार संघर्षविराम का उल्लंघन कर आंतकियों को घुसपैठ कराने की फिराक में है। इसी को लेकर वह आए दिन गोलाबारी कर रहा है। गुरुवार को पाकिस्तानी सेना ने कुपवाड़ा सेक्टर में भारी गोलाबारी की। जवाबी कार्रवाई में भारतीय सेना ने पाकिस्तान को काफी नुकसान पहुंचाया। इसके साथ ही जवाबी कार्रवाई में सेना ने पाकिस्तान का एक सैनिक मार गिराया। कई पाकिस्तानी सैनिकों के घायल होने की सूचना है।

वहीं पाकिस्तान द्वारा लगातार अंतरराष्ट्रीय सीमा व नियंत्रण रेखा पर घुसपैठ कराने के प्रयासों पर नियंत्रण के लिए मकवाल, आरएस पुरा और कठुआ बार्डर पर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) की तीन नई बटालियन भी तैनात की गई हैं। इसके अलावा चार से पांच और नई बटालियन भेजने की तैयारी है।

बीएसएफ मुख्यालय, दिल्ली के आईजी एलके मोहंती के अनुसार, अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पिलर टू पिलर गैप भरने के लिए नए सिरे से रणनीति बनाई गई है। इसके तहत बीएसएफ की तीन कंपनियों को हाल ही में जम्मू-कठुआ और सांबा सेक्टर में आईबी पर तैनात किया गया है। कुछ और कंपनियां भी इंटरनेशनल बार्डर पर तैनात की जाएंगी, जिन्हें शीघ्र ही भेज दिया जाएगा। पिलर टू पिलर गैप पूरा करने के लिए अतिरिक्त बल की तैनाती की जाएगी।
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीरः अनंतनाग में सुरक्षा बलों ने मार गिराए दो आतंकी, गोलीबारी जारी

exchange of fire exchange of fire

जम्मू-कश्मीरः घाटी में आतंकी और चार ओजीडब्ल्यू गिरफ्तार

घाटी में आतंकवाद के मोर्चे पर सुरक्षा बलों को शुक्रवार को भारी सफलता मिली। एक आतंकी और चार ओजीडब्ल्यू समेत पांच लोगों को गिरफ्तार कर हथियार और गोला बारूद बरामद किए गए हैं।

दक्षिणी कश्मीर के शोपियां जिले के हेफ इलाके से हिजबुल मुजाहिदीन के तीन ओजीडब्ल्यू को गिरफ्तार किया गया। इनकी शिनाख्त शमीम भट उर्फ शाहिद, जुबैर अहमद पाडर तथा बिलाल अहमद तेली के रूप में हुई है। 

तीनों की उम्र लगभग 20 साल है। इनके पास से एक एके-47 राइफल, पिस्तौल तथा गोलियां बरामद की गई हैं। इनकी निशानदेही पर गांव में सेब के बगीचे में बनाए गए आतंकी ठिकाने को ध्वस्त किया गया। इस ठिकाने का इस्तेमाल आतंकियों ने हिजबुल कमांडर नवीद बाबा के पकड़े जाने के बाद बंद कर दिया था। 

उत्तरी कश्मीर के बारामुला जिले के पट्टन इलाके में एक आतंकी को नाके पर चेकिंग के दौरान गिरफ्तार किया गया। इसकी शिनाख्त जुनैद फारूक पंडित उर्फ अबु तलहा के रूप में हुई है। वह बारामुला के हामरे पट्टन का रहने वाला है और पिछले साल नौ जून को आतंकी संगठन में शामिल हुआ था। हालांकि, यह बात भी सामने आ रही है कि अंग्रेज से एमए पास जुनैद ने समर्पण किया है।

 दूसरी ओर बडगाम पुलिस ने आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के एक ओजीडब्ल्यू को गिरफ्तार करने का दावा पुलिस ने किया है। पुलिस के अनुसार, सूचना के आधार पर खानसाहिब में लगाए गए नाके पर स्थानीय आतंकी साकिब अहमद लोन को गिरफ्तार किया गया। 

उसके पास से आपत्तिजनक सामग्री भी बरामद हुई है। पुलिस के अनुसार वह खानसाहिब इलाके में जैश के आतंकियों को हर प्रकार की सहायता देता था। पुलिस ने मामला दर्ज कर तफ्तीश शुरू कर दी है।

सोपोर में कासो
उत्तरी कश्मीर के सोपोर के सीलू गांव में आतंकियों की मौजूदगी की सूचना पर शुक्रवार की देर रात घेराबंदी कर सर्च आपरेशन चलाया गया। गांव में आने जाने वाले रास्ते को सील कर दिया गया था। सुरक्षा बलों ने घर-घर तलाशी ली। यह अभियान देर रात तक चलता रहा।
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीरः मौसम बदला, कई इलाकों में बारिश और बर्फबारी, आज भी आसार

बदले मौसम के बीच वीरवार को प्रदेश के कई इलाकों में बारिश और बर्फबारी हुई। मौसम के इस मिजाज से तापमान में फिर गिरावट आई है। कश्मीर के पर्वतीय इलाकों में बर्फबारी से शीत लहर बढ़ी है। खराब मौसम के कारण कटड़ा-सांझीछत चापर सेवा प्रभावित रही। 

श्रीनगर-लेह राष्ट्रीय राजमार्ग पर यातायात बहाल नहीं हो पाया है। जिला राजोरी और पुंछ को शोपियां (कश्मीर) से जोड़ने वाला मुगल रोड भी बंद पड़ा है। मौसम विज्ञान केंद्र श्रीनगर के अनुसार शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश हो सकती है। 

ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर में वीरवार तड़के 3 बजे से शुरू हुआ बारिश का सिलसिला बाद दोपहर 3 बजे तक जारी रहा। कश्मीर के अन्य हिस्सों में भी बारिश हुई। साधना टाप, गुरेज, जोजीला टाप सहित अन्य पर्वतीय इलाकों में हल्की बर्फबारी हुई है। 

श्रीनगर में दिन का तापमान सामान्य से 1.8 डिग्री गिरकर 8.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। कई जिलों में दिन का तापमान दस डिग्री से नीचे चला गया है। जम्मू संभाग के कई इलाकों में बारिश हुई। जम्मू में हल्की बारिश के साथ दिनभर बादल छाए रहे। 

देर शाम बादलों की गड़गड़ाहट से बारिश हुई। जम्मू में दिन का तापमान सामान्य से 0.7 डिग्री गिरकर 21.5 और न्यूनतम सामान्य से 6.6 डिग्री चढ़कर 17.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। 

संभाग में न्यूनतम तापमान 3.2 डिग्री सेल्सियस के साथ बनिहाल सबसे ठंडा रहा। बटोत में न्यूनतम तापमान 4.9, भद्रवाह में 4.4 और कटड़ा में 12.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। 

स्थान      न्यूनतम तापमान 
कारगिल   माइनस 9.8
लेह        माइनस  6.3
पहलगाम   माइनस 0.4
गुलमर्ग     माइनस  4.0
श्रीनगर      3.6
... और पढ़ें

उधमपुर में 260 करोड़ का राशन घोटाला, अफसरों-कर्मचारियों के 15 ठिकानों पर छापा

jammu snow
उधमपुर में हुए 260 करोड़ रुपये के सरकारी राशन घोटाले में एंटी करप्शन ब्यूरो (एसीबी) ने वीरवार को पांच जिलों में संबंधित विभाग के अफसरों-कर्मचारियों व ठेकेदार के 15 ठिकानों पर एक साथ छापे मारे।

घोटाले में एक फ्लोर मिल तथा सीएपीडी विभाग के अधिकारियों-कर्मचारियों की मिलीभगत सामने आई है। ढुलाई-पिसाई के नाम पर सरकार के करोड़ों रुपये डकार लिए गए। माल की ढुलाई के लिए ट्रक की जगह स्कूटर के नंबर दे दिए गए। ब्यूरो की टीमों ने छापे के दौरान छह लाख रुपये नकद और कई अहम दस्तावेज जब्त किए। 

उधमपुर में चार अलग-अलग टीमों ने छापा मारा। जांच में सामने आया है कि फ्लोर मिल में 157 ट्रकों से लाया गया गेहूं एफसीआई और एसआरटीसी के रिकार्ड में ही नहीं है। जिन नंबर के ट्रकों का इस्तेमाल कर पैसा लिया गया, वे नंबर स्कूटर-मोटरसाइकिल और कारों के हैं। 30 मीटर दूर राशन पहुंचाने के लिए भी ट्रकों का इस्तेमाल किया। ट्रांसपोर्ट, पिसाई और लेबर के नाम करोड़ों रुपये का घोटाला किया गया।

उधमपुर के पूर्व सहायक निदेशक मुकलिस अली निवासी थन्ना मंडी राजोरी, पूर्व सहायक निदेशक अब्दुल रशीद निवासी बनिहाल रामबन, जोगिंदर सिंह निवासी लोअर रूप नगर जम्मू, रमेश चंद्र निवासी सांबा, पूर्व सुपरवाइजर उधमपुर, त्रिकुटा फ्लोर मिल के रमेश कुमार, सुषमा गुप्ता निवासी उधमपुर, सुशील कुमार निवासी उधमपुर, एफसीआई गोदाम उधमपुर के पूर्व सुपरवाइजर राकेश परगाल, मुबारक मंडी निवासी दीपक अबरोल बुकिंग मैनेजर एसआरटीसी उधमपुर, रमेश कुमार क्लर्क उधमपुर एसआरटीसी डिपो निवासी उधमपुर, त्रिकुटा फ्लोर मिल के मालिक अमित महाजन, निवासी गांधी नगर जम्मू, एसआरटीसी का ठेकेदार परमदीप सिंह निवासी त्रिकुटा नगर के घर पर कार्रवाई कर कई तरह का रिकॉर्ड जब्त किया गया।  

30 मीटर की ढुलाई पर 90 लाख का भुगतान
2013 से 2014 तक सीएपीडी ने अपने खाते में 157 ट्रकों से गेहूं आने की जानकारी दी है लेकिन यह ट्रक एफसीआई और एसआरटीसी के खाते में मौजूद ही नहीं हैं। जिन ट्रकों की माल ढुलाई के पैसे लिए गए, वह रिकॉर्ड में नहीं हैं। त्रिकुटा फ्लोर मिल और एफसीआई के गोदाम में मात्र 30 मीटर दूर माल ढुलाई और ट्रांसपोर्ट के 90 लाख रुपये का भुगतान किया गया।

जोगिंदर सिंह के घर से छह लाख नकद बरामद
उधमपुर में सीएपीडी के पूर्व सहायक निदेशक जोगिंदर सिंह के घर पर छापे के दौरान छह लाख रुपये बरामद किए। बाकी के लोगों के घरों से भी कई अहम दस्तावेज जब्त किए गए हैं।
 
... और पढ़ें

लेहः कोरोनावायरस के एक संदिग्ध मरीज की मौत, एक अस्पताल में भर्ती

लेह में कोरोना वायरस के एक संदिग्ध मरीज की मौत का मामला सामने आया है। एसएनएम अस्पताल, लेह में तीन संदिग्ध मरीजों को भर्ती किया गया था, जिसमें एक को आइसोलेट पर रखा गया है, जबकि एक के सैंपलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। 

इस बीच एक संदिग्ध मरीज की मौत हो गई और उसके सैंपलों की रिपोर्ट आना बाकी है। हालांकि तीनों संदिग्ध मरीजों का लेह से संपर्क का कोई इतिहास नहीं मिला है। संदिग्ध मरीजों को देखते हुए केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख और जम्मू-कश्मीर में सतर्कता बढ़ाई गई है। इस बीच वुहान, चीन से जम्मू-कश्मीर में स्थानीय विद्यार्थियों का लौटने का सिलसिला जारी है। 

लेह में संदिग्ध मरीज की मौत के बाद सभी अस्पतालों को अलर्ट किया गया है। इसमें कोरोना वायरस के लक्षणों से पीड़ित मरीजों पर खास ध्यान केंद्रित किया जा रहा है। इसमें संदिग्ध मरीजों के प्रशिक्षित स्टाफ द्वारा सभी जरूरी सैंपल लिए जा रहे हैं। लेह के स्वास्थ्य निदेशक फुंगचुक अंगुचुक ने बताया जिस मरीज की मौत हुई है, उसका चीन से कोई इतिहास नहीं मिला है। वह सामान्य नमूनिया से पीड़ित था। 

इसके अलावा अन्य संदिग्ध मरीजों का भी चीन से कोई संपर्क नहीं था। स्वास्थ्य निदेशालय की ओर से सभी जरूरी इंतजाम किए गए हैं। वहीं, वुहान से लौट रहे विद्यार्थियों को 14 दिन घर पर आइसोलेशन में रखा जा रहा है। 

इसमें सभी विद्यार्थियों की स्वास्थ्य निदेशालय कश्मीर/जम्मू की सर्विलांस टीमें दिन में दो बार निगरानी कर रही हैं। इस बीच जम्मू में दो और विद्यार्थी वुहान से लौटे हैं। वुहान से लौटने वाले सभी विद्यार्थी नेगेटिव हैं।
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीरः वन भूमि पर कॉप्लेक्स बनाने के मामले में पूर्व मंत्री कोहली पर शिकंजा

पीडीपी-भाजपा गठबंधन की सरकार में मंत्री रहे अब्दुल गनी कोहली की ओर से वन भूमि पर अवैध रूप से एजूकेशन कॉंप्लेक्स बनाए जाने का जम्मू-कश्मीर हाईकोर्ट ने संज्ञान लिया है। जम्मू के मंडलायुक्त और वन विभाग के मुख्य संरक्षक से जानकारी मांगी गई है कि वह इस जमीन की पूरी जानकारी दस्तावेज के साथ एक सप्ताह में उपलब्ध कराएं।

सुंजवां इलाके में 10 कनाल जमीन पर कोहली ने बीएड, ईटीटी कॉलेज, पैरा मेडिकल कॉलेज और अन्य कुछ बनाया हुआ है। एडवोकेट अंकुर शर्मा ने कोर्ट में याचिका दायर कर कोहली के खिलाफ एफआईआर लगाने की मांग की थी। 2016 में यह मामला उठाया गया था।  

गुरुवार को चीफ जस्टिस गीता मित्तल और जस्टिस ताछी रबस्टन की खंडपीठ ने मामले पर सुनवाई की। इसके बाद आदेश दिए गए कि अधिकारी मौके पर जाकर जमीन का निरीक्षण करें। कोर्ट ने जानना चाहा कि कैसे वन भूमि को किसी के नाम कर दिया गया। साथ ही व्यावसायिक इमारतें बनाने की अनुमति दे दी गई।

स्कूल बोर्ड के सचिव को भी नोटिस जारी किया गया कि वह बताएं कि वन भूमि पर कैसे कॉलेज चलाने की अनुमति दे दी गई। इसके साथ ही राजस्व विभाग के सचिव को भी नोटिस जारी किया गया कि कैसे वन भूमि को किसी निजी व्यक्ति के नाम कर दिया गया।
... और पढ़ें

रवींद्र रैना ने उपराज्यपाल मुर्मू से की मुलाकात, इन मुद्दों पर हुई बात

उपराज्यपाल गिरीश चंद्र मुर्मू ने जम्मू-कश्मीर में सरकारी विभाग के कार्यरत अस्थायी कर्मचारियों के मसले का जल्द निवारण करने का आश्वासन दिया है। भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष रवींद्र रैना और पूर्व मंत्री शक्ति राज परिहार ने राजभवन में उपराज्यपाल से मुलाकात की।

रवींद्र रैना के अनुसार उपराज्यपाल ने उन्हें बताया कि जम्मू-कश्मीर में कई सालों से लंबित पड़े सरकारी विभागों में अस्थायी कर्मचारियों के मसले को हल करने के लिए प्रदेश सरकार गंभीरता से काम कर रही हैं और जल्द ही इस दिशा में फैसले लिए जाएंगे। इससे पूर्व भाजपा नेताओं ने उपराज्यपाल के समक्ष पीएचई, बिजली, पीडब्लूडी विभाग समेत अन्य सरकारी विभागों में अस्थायी कर्मचारियों के नियमितीकरण व लंबित वेतन का मसला उठाया।

उन्होंने कहा बायो मैट्रिक हाजिरी में इन कर्मचारियों को शामिल करने के बावजूद इनके मसलों का हल नहीं किया जा रहा है। कई सालों से इन कर्मचारियों को वेतन तक नहीं मिला है। हजारों की संख्या में इन कर्मचारियों के परिवारों को भारी आर्थिक तंगहाली का सामना करना पड़ रहा है।
... और पढ़ें

पीएचई के अस्थायी कर्मचारियों की काम छोड़ हड़ताल जारी

सुंदरबनी। मांगों को लेकर काम छोड़ हड़ताल पर बैठे पीएचई के अस्थायी कर्मचारियों की काम छोड़ हड़ताल 15 वें दिन भी जारी रही। इससे लोगों को महाशिवरात्रि पर भी पानी का आपूर्ति नहीं मिल सकी। हालांकि पीएचई के स्थायी कर्मचारियों ने महाशिवरात्रि पर पानी की सप्लाई करने के लिए भरपूर कोशिश की, लेकिन नगर के चार पांच वार्डों में ही पानी की सप्लाई हो पाई। ग्रामीण क्षेत्रों में पानी की सप्लाई ठप ही रही। 15 दिन से पीएचई के अस्थायी कर्मचारियों की काम छोड़ हड़ताल के कारण पानी की किल्लत को लेकर लोगों का रोष दिन प्रति दिन विभाग के खिलाफ बढ़ता जा रहा है। लोगों का कहना है कि अगर विभाग के पास पानी चलाने के लिए स्थायी कर्मचारी नहीं हैं तो जो अस्थायी कर्मचारी हड़ताल कर रहे हैं उनकी मांगों पर सरकार क्यों नहीं गौर कर रही है। लोगों का कहना है कि अगर जल्द पानी की सप्लाई बहाल नहीं होती है, तो लोगों को भी अब सड़कों पर उतरना पडे़गा। संवाद ... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us