विज्ञापन
विज्ञापन
प्रतिष्ठित ज्योतिषाचार्यों से करें बात, जानें राहु केतु राशि परिवर्तन के कैसे होंगे प्रभाव
astrology

प्रतिष्ठित ज्योतिषाचार्यों से करें बात, जानें राहु केतु राशि परिवर्तन के कैसे होंगे प्रभाव

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

जम्मू-कश्मीर: राजोरी में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी, तीन आतंकी गिरफ्तार, गोला-बारूद और हथियार बरामद

जम्मू-कश्मीर के राजोरी जिले में पुलिस और सेना को एक संयुक्त ऑपरेशन में शनिवार को बड़ी सफलता हासिल हुई। सुरक्षाबलों ने तीन संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार कर उनके पास से हथियार, गोला-बारूद और नकदी बरामद की है। 

जानकारी के अनुसार पुलिस और सेना को सूचना मिली थी कि शहर के गुर्दन वाला इलाके में तीन संदिग्ध लोग घूम रहे हैं, सूचना मिलते ही पुलिस और सेना ने ज्वाइंट सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया और नाकाबंदी कर तलाश शुरू की। 

सेना और पुलिस ने इन तीन संदिग्ध आतंकियों को एक ठिकाने से गिरफ्तार किया। तीनों आंतकी कश्मीर घाटी के पुलवामा और शोपियां के रहने वाले बताए जा रहे हैं। वहीं सुरक्षाबलों ने उनके कब्जे से दो एके-56 राइफल, 6 एके मैगजीन, 180 राउंड गोलियां, दो पिस्टल, 3 पिस्टल मैगजीन, 30 पिस्टल, चार हैंड ग्रेनेड और एक लाख के करीब नकदी बरामद की है। 

सूत्रों के अनुसार, तीनों आतंकी हथियारों से लैस होकर राजोरी की ओर बढ़ रहे थे और राजोरी में खून खराबा करने की फिराक में थे। सूत्रों का कहना है कि तीनों आतंकी राजोरी में सेना और पुलिस के ठिकानों को निशाना बनाने की फिराक में थे, लेकिन उससे पहले ही उन्हें सुरक्षाबलों ने दबोच लिया। इस मामले में तीनों से कड़ी पूछताछ जारी है।
... और पढ़ें
आतंकियों से बरामद किए गए हथियार आतंकियों से बरामद किए गए हथियार

घुसपैठ को एलओसी पर लॉन्चिंग पैड प्रशिक्षित आतंकियों से पैक, पाकिस्तानी पोस्ट के आस-पास बनाए गए हैं ठिकाने

एलओसी पर घुसपैठ के लिए बनाए गए लॉन्चिंग पैड प्रशिक्षित आतंकियों से पूरी तरह पैक हैं। इनपुट है कि यह लॉन्चिंग पैड पाकिस्तानी सेना की पोस्ट के आस-पास ही बनाए गए हैं ताकि घुसपैठ कराने में आसानी रहे। 

सर्दियां तथा बर्फबारी शुरू होने से पहले अधिक से अधिक आतंकियों को भारतीय सीमा में धकेलने के लिए आईएसआई की साजिश के तहत ही पूरी एलओसी पर राजोरी से लेकर उत्तरी कश्मीर तक पाकिस्तान लगातार सीजफायर कर रहा है। गोलाबारी की आड़ में आतंकियों को घुसपैठ कराने के लिए कवर फायर दिया जा रहा है। 

रक्षा सूत्रों ने बताया कि जम्मू संभाग में राजोरी, पुंछ से लेकर उत्तरी कश्मीर में बांदीपोरा, बारामुला व कुपवाड़ा जिले में एलओसी से सटे इलाकों में 55 से अधिक लॉन्चिंग पैड पर आतंकियों की गतिविधियां देखी जा रही हैं। 

प्रत्येक पैड पर 25 से 30 आतंकियों की मौजूदगी बताई जा रही है। इनमें लश्कर-ए-ताइबा, जैश-ए-मोहम्मद व हिजबुल मुजाहिदीन के प्रशिक्षित तथा हथियारों से लैस आतंकियों की मौजूदगी बताई जा रही है। 
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीर: आईबी पर पाकिस्तानी ड्रोन दिखा, सुरक्षाबलों ने चप्पा-चप्पा खंगाला

जम्मू-कश्मीर के हीरानगर में अंतरराष्ट्रीय सीमा (आईबी) से सटे मनियारी गांव में वीरवार रात ड्रोन देखे जाने की सूचना के बाद हड़कंप मच गया। पुलिस और सीआरपीएफ ने इलाके में तलाशी अभियान चलाकर चप्पे-चप्पे को खंगाला, लेकिन कोई सुराग नहीं मिला।

बॉर्डर डीएसपी सचित महाजन ने बताया कि वीरवार रात करीब पौने आठ बजे गांव के सरपंच मोहनलाल ने घर की छत से ड्रोन देखे जाने की जानकारी दी। बताया कि उसकी आवाज तो नहीं सुनाई दी, लेकिन लाइट दिखाई दे रही थी। 

सरपंच से सूचना मिलते ही पुलिस टीम ने इलाके में तलाशी अभियान शुरू कर दिया। देर रात तक इस गांव के आसपास के इलाकों को खंगाला गया। शुक्रवार सुबह फिर से इस इलाके में पुलिस और सीआरपीएफ ने संयुक्त तलाशी अभियान चलाया। 

घंटों तलाशी अभियान चलाने के बाद भी कोई सुराग नहीं मिला। अधिकारी के अनुसार हो सकता है कि वह कोई ड्रोन न हो, लेकिन फिर भी पुलिस पूरी तरह से सतर्क है। 
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीर में क्रिकेट अकादमी स्थापित करेंगे सुरेश रैना, दूरदराज के युवाओं को मिलेगी तवज्जो

टीम इंडिया के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज सुरेश रैना जम्मू-कश्मीर के युवाओं के क्रिकेट कौशल को बढ़ावा देंगे। इसके लिए रैना ने जम्मू और कश्मीर में पांच-पांच स्कूलों को स्थापित करने पर सहमति जताई है। इसमें विशेषतौर पर दूरदराज के युवाओं को प्राथमिकता दी जाएगी। 

युवाओं की क्रिकेट प्रतिभा तलाशने के साथ उन्हें अंतरराष्ट्रीय मंच पर प्लेटफार्म देने का मौका दिया जाएगा। रैना ने शुक्रवार को श्रीनगर में एलजी मनोज सिन्हा के साथ मुलाकात में उनके आग्रह पर दोनों संभागों में स्कूल खोलने के लिए हामी भरी। 

उन्होंने कहा कि वह प्रतिभाशाली युवाओं को प्रोफेशनल स्तर पर प्रशिक्षित करेंगे। उन्होंने कहा कि युवा प्रतिभा की पहचान करने की जरूरत होती है, जिसमें उनके कौशल को मजबूत बनाकर उन्हें आगे लाया जा सकता है। 

एलजी ने जम्मू-कश्मीर में खेल संस्कृति विकसित करने के संकल्प को दोहराया। इसमें शिक्षा के साथ खेलों को बढ़ावा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर के प्रतिभाशाली युवाओं को एक नई दिशा प्रदान करेंगे। बैठक में मुख्य सचिव, बीवीआर सुब्रह्मण्यम, प्रमुख सचिव, स्कूल शिक्षा और कौशल विकास डॉ. असगर सामून, उपराज्यपाल के प्रधान सचिव नीतीश्वर कुमार और युवा सेवा एवं खेल विभाग के प्रधान सचिव सरमद हफीज मौजूद रहे। 
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीरः सरकार ने चेताया, दाखिला फीस ली तो निजी स्कूलों पर लगेगा दस गुना जुर्माना

सुरैश रैना ने एलजी मनोज सिन्हा से की मुलाकात
जम्मू-कश्मीर में निजी स्कूल दाखिला फीस नहीं ले सकते। 31 अक्तूबर 2019 को शिक्षा का अधिकार अधिनियम लागू होने के बाद यदि किसी स्कूल ने बच्चों से दाखिला फीस ली है तो उसे फौरन लौटाना होगा। फीस न लौटाने पर स्कूल की मान्यता रद्द कर दी जाएगी। 

सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट के फैसलों का हवाला देते हुए प्रदेश सरकार ने फीस फिक्सेशन कमेटी की सिफारिश पर आदेश जारी किया है। निजी स्कूलों में बच्चे के दाखिले की स्क्रीनिंग पर भी रोक होगी।

नियमों को तोड़ने वाले स्कूल पर अधिनियम की धारा 13 के तहत 25 से 50 हजार रुपये तक जुर्माना होगा। स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. असगर हसन सामून ने शुक्रवार को यह आदेश जारी किया।

आदेश में कहा गया है कि 28 जनवरी 2019 को फीस फिक्सेशन कमेटी को निजी स्कूलों में फीस ढांचे संबंधी मामले संचालित करने के अधिकार दिए गए। कमेटी के अनुसार निजी स्कूल केवल ट्यूशन फीस, वार्षिक फीस, परिवहन फीस, स्वैच्छिक विशेष कारण फीस समेत वही शुल्क ले सकते हैं, जिन्हें कमेटी की ओर से स्वीकृति दी गई हो, लेकिन दाखिला व अन्य कोई भी फीस नहीं ली जा सकती।

कमेटी ने 14 सितंबर 2020 को सरकार से अनुरोध किया कि वे निजी स्कूलों को दाखिला फीस नहीं लेने के निर्देश जारी करे। इसी सिफारिश पर सरकार ने यह आदेश जारी किया है।

एक्ट की धारा 13 में हैं ये प्रावधान
1. स्कूल में दाखिले पर कैपिटेशन फीस नहीं ली सकती। दाखिला देने के लिए बच्चों की स्क्रीनिंग भी नहीं की जा सकती।
2. कैपिटेशन फीस लेने वाले स्कूल पर वसूली गई फीस से दस गुना तक जुर्माने लगेगा।
3. बच्चों को स्क्रीनिंग के बाद दाखिला देने के मामले में पहले उल्लंघन पर 25 हजार व इसके बाद हर उल्लंघन पर 50 हजार रुपये जुर्माना।
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीरः बारामुला पुलिस ने पकड़ी करोड़ों की कोकीन, चार गिरफ्तार

बारामुला पुलिस ने वीरवार को करोड़ों की कोकीन के साथ चार तस्करों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार छह किलो कोकीन पकड़ी गई है। जिसकी कीमत करोड़ों में है। 

एसएसपी बारामुला अब्दुल कयूम ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि बारामुला पुलिस ने ओल्ड टाउन बारामुला से चार संदिग्धों को दबोचा। उनकी निशानदेही पर पुलिस ने नरकोटिक्स के छह पैकेट बरामद किए। इसमें छह किलो कोकीन निकली। 

पकड़े गए लोगों की शिनाख्त गुलनार पार्क के बिलाल मीर, सैयद करीम के रफीक सोफी, आजाद गंज के तारिक भूरू और आहान गांदरबल के शबीर अहमद मीर के तौर पर हुई है। पुलिस थाने में एनडीपीएस एक्ट की धाराओं में मामला दर्ज किया गया है।
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीर के लिए आर्थिक पैकेज का एलान, एक साल तक बिजली पानी के बिल में 50 प्रतिशत की छूट

शोपियां मुठभेड़: सेना ने माना सैनिकों के खिलाफ साक्ष्य मिले, कार्रवाई का आदेश

सेना को 'प्रथम दृष्टया' साक्ष्य मिले हैं कि जवानों ने कश्मीर के शोपियां जिले में हुई एक मुठभेड़ में सशस्त्र सेना विशेषाधिकार कानून (अफस्पा) के तहत मिली शक्तियों का उल्लंघन किया। इस संबंध में अनुशासनात्मक कार्यवाही शुरू की गई है । अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

इस साल जुलाई में यह मुठभेड़ हुई थी और इसमें तीन लोग मारे गए थे । दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले के अमशीपुरा गांव में सेना ने 18 जुलाई को तीन आतंकवादियों को मार गिराने का दावा किया था। श्रीनगर में रक्षा प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने कहा कि आतंकवाद विरोधी अभियानों के दौरान नैतिक आचरण के लिए प्रतिबद्ध सेना ने सोशल मीडिया पर सामने आई उन रिपोर्ट के बाद जांच शुरू की, जिसमें दावा किया गया था कि जम्मू के राजौरी जिले के रहने वाले तीन व्यक्ति अमशीपुरा से लापता पाए गए थे।

जांच को चार सप्ताह के भीतर ही पूरा कर लिया गया। सेना ने एक संक्षिप्त बयान में कहा कि जांच से कुछ निश्चित साक्ष्य सामने आए जो कि दर्शाते हैं कि अभियान के दौरान अफस्पा, 1990 के तहत निहित शक्तियों का दुरुपयोग किया गया और उच्चतम न्यायालय द्वारा स्वीकृत सेना प्रमुख की ओर से निधार्रित नियमों का उल्लंघन किया गया।

इसके मुताबिक, परिणामस्वरूप, सक्षम अनुशासनात्मक प्राधिकरण ने प्रथम दृष्टया जवाबदेह पाए गए सैनिकों के खिलाफ सेना अधिनियम के तहत अनुशासनात्मक कार्यवाही शुरू करने का निर्देश दिया है।
... और पढ़ें
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन