विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
जानिए काल सर्प दोष कैसे हो सकता है आपके लिए विनाशकारी ?
SAWAN Special

जानिए काल सर्प दोष कैसे हो सकता है आपके लिए विनाशकारी ?

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

घाटी को दहलाने की साजिश रच रहा पाकिस्तान, मारे गए आतंकियों से बरामद चॉकलेट और घातक हथियार हैं गवाह

मारे गए आतंकियों से बरामद हथियार-गोला बारूद व अन्य वस्तुएं मारे गए आतंकियों से बरामद हथियार-गोला बारूद व अन्य वस्तुएं

जम्मू-कश्मीरः क्वारंटीन केंद्र से भाग गए पांच सौ लोग, फिर भागने वालों ने ही लगाए आरोप

जम्मू-कश्मीर: सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी, हंदवाड़ा के नौगाम में घुसपैठ कर रहे दो आतंकी ढेर

जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी मिली है। सुरक्षाबलों ने हंदवाड़ा के नौगाम सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास संदिग्ध हरकतें देखी। इसके बाद सुरक्षाबलों ने मोर्चा संभाला। इस दौरान घुसपैठ कर रहे दो आतंकियों को मार गिराया। मारे गए आतंकियों के पास से दो एके -47 और अन्य आपत्तिजनक वस्तुएं बरामद हुई हैं।

बता दें कि घाटी में पांच अगस्त से पहले व्यापक हिंसा की साजिश आतंकी तंजीमों ने रची है। अनुच्छेद 370 हटने के एक साल पूरे होने पर यह षड्यंत्र सीमा पार से रचा गया है। जम्मू-कश्मीर में कई नेता आतंकियों के निशाने पर हैं।

यह भी पढ़ेंः
जम्मू-कश्मीर में पांच अगस्त से पहले हो सकता है बड़ा हमला, पाकिस्तान ने रची साजिश, निशाने पर ये लोग 
... और पढ़ें

जम्मू संभाग के 279 गांवों से गुजरेगा दिल्ली-कटरा एक्सप्रेस-वे, भूमि अधिग्रहण की अधिसूचना जारी

भारतीय सेना
केंद्रीय सड़क परिहवन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने दिल्ली-कटरा एक्सप्रेस-वे के नए प्रस्ताव के अनुरूप भूमि अधिग्रहण की अधिसूचना जारी कर दी है। यह एक्सप्रेस-वे प्रदेश के 279 गांवों से होकर गुजरेगा। जम्मू-कश्मीर में दाखिल होने पर 432.3 किलोमीटर मार्ग से 588.5 किलोमीटर तक इस विस्तारीकरण या फोरलेन के विस्तार से जुड़ी भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया में अब तेजी आएगी।

कठुआ जिले में कीड़ियां गंडियाल से प्रस्तावित इस एक्सप्रेस-वे के लिए डीपीआर और सर्वे का काम बीते माह ही शुरू हो चुका है। अधिसूचना जारी होने के बाद इस महत्वाकांक्षी परियोजना के लिए भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया भी साथ-साथ पूरी करने की तैयारी है। केंद्रीय राजमार्ग और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने अमर उजाला से विशेष बातचीत में इस महत्वाकांक्षी परियोजना का काम इसी साल से शुरू करने की बात की थी।

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, कठुआ जिले से प्रदेश में दाखिल होने वाले इस एक्सप्रेस-वे की जद में कठुआ तहसील के 37 गांव, हीरानगर के 20 गांव और नगरी परोल के छह गांव के साथ-साथ मढ़ीन तहसील के 13 गांवों की जमीन आंशिक रूप से शामिल है। वहीं सांबा जिले में सांबा तहसील के 28, घगवाल तहसील के 14, विजयपुर के 21, बाड़ी ब्राह्मणा के पांच, रामगढ़ का एक और राजपुरा एक गांव शामिल है।

यह भी पढ़ें- 
जम्मू-कश्मीरः क्वारंटीन केंद्र से भाग गए पांच सौ लोग, फिर भागने वालों ने ही लगाए आरोप
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीर में शराब के दाम 50 फीसदी तक जल्द हो सकते हैं कम, वित्त विभाग को भेजा गया प्रस्ताव

प्रदेश सरकार शराब पर लगाए गए 50 फीसदी अतिरिक्त टैक्स को जल्द ही समाप्त कर सकती है। आबकारी विभाग ने इसे हटाने के लिए वित्त विभाग को प्रस्ताव भेजा है। आबकारी आयुक्त राजेश कुमार शवन की ओर से भेजे प्रस्ताव में कहा गया है कि पिछले दो महीने में राजस्व वसूली की समीक्षा के दौरान यह पाया गया कि मध्यम व कम आर्थिक ब्रांड और सेना व पैरा मिलिट्री कैंटीन में शराब की बिक्री कम हो गई है। 

यह भी पढ़ेंः
जम्मू-कश्मीर में पांच अगस्त से पहले हो सकता है बड़ा हमला, पाकिस्तान ने रची साजिश, निशाने पर ये लोग    

50 फीसदी टैक्स ने खुले मार्केट और कैंटीन से शराब की बिक्री को प्रभावित किया है। सेना की डिपो से भी केंद्र शासित प्रदेश में पिछले साल की तुलना में कम बिक्री हुई है। यह संज्ञान में आया है कि कई राज्यों ने अतिरिक्त टैक्स हटा लिया है। आबकारी आयुक्त ने कहा है कि 50 फीसदी अतिरिक्त टैक्स को नई नीति के आने तक हटाने की सिफारिश की जाती है। 

यह भी पढ़ें- जम्मू-कश्मीरः क्वारंटीन केंद्र से भाग गए पांच सौ लोग, फिर भागने वालों ने ही लगाए आरोप
 
... और पढ़ें

सेना में भर्ती होने का स्वर्णिम अवसर, उत्तरी कमान ने युवाओं को दिया ये संदेश

जम्मू-कश्मीरः आठ साल की हुई नूरी, क्लोन से तैयार हुई थी पहली पश्मीना बकरी

क्लोन से तैयार की गई दुनिया की पहली पश्मीना बकरी नूरी आठ साल की हो गई है। उसके चार बच्चे हैं। पांचों का कुनबा पूरी तरह से स्वस्थ है। वर्ष 2012 में शेरे कश्मीर यूनिवर्सिटी आफ एग्रीकल्चरल साइंसेज एंड टेक्नोलॉजी कश्मीर के पशु विज्ञान विभाग की टीम ने पश्मीना बकरी का क्लोन तैयार किया था। इसे नूरी नाम दिया गया।

इससे पहले देश में पशु श्रेणी में भैंस के तौर पर पहला क्लोन तैयार किया गया था। आठ साल पूर्व विशेषज्ञों की टीम ने विश्व बैंक वित्त पोषित नेशनल एग्रीकल्चरल इनोवेशन प्रोजेक्ट के तहत नूरी के रूप में दुनिया को पश्मीना बकरी का पहला क्लोन दिया। 

तत्कालीन मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने नूरी से जुड़ी यादों को ट्विटर पर साझा किया। उमर ने शुक्रवार को ट्वीट किया - ‘मुझे याद है वो दिन जब नूरी को आउटिंग के लिए पहली बार सचिवालय लाया गया था। 

यकीन नहीं हो रहा कि उस दिन को आठ साल हो गए हैं। मैं खुश हूं कि नूरी बिल्कुल ठीक है।’ गौरतलब है कि पश्मीना बकरी की प्रजाति लद्दाख के चंगथंग क्षेत्र में पाई जाती है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन