विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020
Astrology Services

विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

झारखण्ड

बुधवार, 19 फरवरी 2020

बाबूलाल मरांडी की पार्टी झाविमो ने एक और विधायक को पार्टी से निष्कासित किया

बाबूलाल मरांडी की झारखंड विकास मोर्चा ने पार्टी विरोधी गतिविधियों के आरोप में गोड्डा में पोड़ैयाहाट से अपने विधायक प्रदीप यादव को बृहस्पतिवार को पार्टी से निष्कासित कर दिया। इससे पहले पार्टी ने 21 जनवरी को मांडर क्षेत्र से विधायक बंधू तिर्की को पार्टी से निष्कासित किया था।

झारखंड विकास मोर्चा के प्रधान केन्द्रीय महासचिव एवं प्रवक्ता अभय सिंह ने आज यहां एक संवाददाता सम्मेलन में इस बात की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि यादव को पार्टी के खिलाफ काम करने के आरोप में दो दिन पहले कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था। 

लेकिन उन्होंने नोटिस का कोई जवाब नहीं दिया जिसे देखते हुए पार्टी के अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी के निर्देश पर आज उन्हें पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निष्कासित करने का फैसला किया गया। तिर्की के बाद यादव को भी पार्टी से बाहर किये जाने के बाद अब विधानसभा में झाविमो के इकलौते विधायक पार्टी अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी रह गए हैं।
... और पढ़ें

झारखंड : लोहरदगा में हालात सामान्य, प्रशासन ने हटाया कर्फ्यू

झारखंड के लोहरदगा से प्रशासन ने कर्फ्यू को हटा लिया है। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के समर्थन में लोहरदगा में 23 जनवरी को जुलूस निकला था। जुलूस पर पथराव के बाद हुई हिंसा के चलते माहौल खराब हो गया था। एहतियातन लोहरदगा में कर्फ्यू लगा दिया गया था। कर्फ्यूग्रस्त लोहरदगा जिले में सप्ताहभर पहले दो चरणों में छह घंटे की ढील दी गई थी। ढील के दौरान स्थिति सामान्य बनी रही। हालात में सुधार को देखते हुए जिला प्रशासन ने गुरुवार को कर्फ्यू हटा दिया। प्रशासन ने एहतियातन धारा-144 जारी रखी है।

पुलिस अधीक्षक लोहरदगा ने बताया कि जिले में कानून व्यवस्था को सुचारु करने के लिए कर्फ्यू लगाया गया था। सप्ताहभर पहले कर्फ्यू में कुछ छूट दी गई तो माहौल शांत दिखा। शांति व्यवस्था को देखते हुए कर्फ्यू हटा लिया गया है, वहीं एहतियातन जिलेभर में धारा-144 जारी रखी गई है। 

अब तक 51 लोगों को न्यायिक हिरासत में भेजा गया
पुलिस अधीक्षक ने बताया कि 23 जनवरी को सीएए समर्थक जुलूस पर पथराव के बाद भड़की हिंसा को लेकर अब तक 51 लोगों को न्यायिक हिरासत में लिया जा चुका है। शांति व्यवस्था के लिए कर्फ्यू के दौरान ड्रोन कैमरे से शहर और आसपास के इलाके में लगातार निगरानी की जा रही थी। क्षेत्र में शांति बनाए रखने के लिए शनिवार को झारखंड पुलिस के अतिरिक्त बलों की लगभग 15 कंपनियां, 100 एसआई / इंस्पेक्टर और 15 डीएसपी अतिरिक्त रूप से तैनात किए गए थे। शांति बनाए रखने के लिए जिले के तमाम स्कूल कॉलेजों को बंद कर दिया गया था।वहीं कर्फ्यू के कारण यहां तमाम सरकारी कार्यालय एवं बैंक कई दिनों तक बंद रहे। लोहरदगा से चलने वाली कई ट्रेनें भी रद्द कर दी गई थी।
... और पढ़ें

झारखंडः दुमका में ग्लाइडर दुर्घटनाग्रस्त, इंजीनियर की मौत, पायलट घायल

झारखंड की उप राजधानी दुमका में सोमवार को हवाई अड्डे के निकट एक ग्लाइडर दुर्घटनाग्रस्त हो गया, जिसमें सवार एक फ्लाइट इंजीनियर की मौत हो गई। जबकि पायलट गंभीर रूप से घायल हो गया, जिन्हें इलाज के लिए दुर्गापुर ले जाया गया है।

दुमका के पुलिस अधीक्षक वाईएस रमेश ने यहां बताया कि आज शाम दुमका हवाई अड्डे से उड़ान भरने के बाद यह ग्लाइडर दुर्घनाग्रस्त हो गया जिससे उस पर सवार फ्लाइट इंजीनियर की मौत हो गई, जबकि पायलट गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें तत्काल दुमका सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां प्राथमिक चिकित्सा के बाद उन्हें धनबाद स्थित अस्पताल भेजा गया लेकिन बाद में उन्हें बेहतर इलाज के लिए दुर्गापुर भेज दिया गया।

उन्होंने बताया कि घटना में घायल फ्लाइट इंजीनियर की अस्पताल ले जाए जाते समय रास्ते में मौत हो गई। फ्लाइट इंजीनियर की पहचान मथुरा के नगला लोका गांव के 32 वर्षीय धर्मेंद्र कुमार सिंह के रूप में की गई है। जबकि ग्लाइडर के पायलट की पहचान कैप्टन जेपी सिंह के रूप में की गई है।

उन्होंने बताया कि अभी दुर्घटना के कारणों का पता नहीं चल सका है। विस्तृत विवरण की प्रतीक्षा की जा रही है। इस बीच दुमका की उपायुक्त राजेश्वरी बी ने बताया कि दुर्घटना की जांच होने तक दुमका हवाई अड्डे को सील कर दिया गया है। शहर से लगभग चार किलोमीटर दूर स्थित हवाई अड्डे पर दुर्घटना की जांच के लिए नागर विमानन विभाग के अधिकारी कल पहुंचेंगे।
... और पढ़ें

तेज दर्द से परेशान लालू प्रसाद ने निकलवाएं अपने दो दांत, अब दिल्ली भेजने की तैयारी

बताया गया है कि दांत में दर्द से राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव बेहद परेशान थे, जिसके बाद उन्होंने अपने डॉक्टरों को इस बारे में बताया। इसके बाद डॉक्टरों ने उन्हें सलाह दी कि उन्हें अपने दांतों को निकलवाना होगा। 

लालू प्रसाद यादव की डॉक्टर उमेश प्रसाद ने कहा कि दांत निकाल देने बाद उन्हें दो दिनों तक केवल खिचड़ी खाना होगा, साथ ही कोई भी गर्म चीज खाने से परहेज करना है। उन्हें डॉक्टरों ने तीन दिन एंटीबायोटिक्स खाने की भी सलाह दी गई है। 

दूसरी ओर, लालू प्रसाद यादव के बेहतर चिकित्सा उपचार के लिए दिल्ली के एम्स में रेफर करने की कवायद शुरू हो गई है। उनके डॉक्टर ने मेडिकल बोर्ड बनाने के लिए अधीक्षक के पास फाइल भी भेज दी है। 

वर्तमान समय में लालू प्रसाद सजायाफ्ता कैदी हैं, इसलिए उनको इलाज के लिए दिल्ली भेजे जाने से मेडिकल बोर्ड उनकी जांच करेगा। इसके बाद बोर्ड की रिपोर्ट जेल और न्यायालय को भेजी जाएगी, जिसके बाद उनके आदेश लेकर ही उन्हें दिल्ली भेजा जा सकता है। 

बता दें कि लालू के मुख्यमंत्री रहने के दौरान पशुपालन विभाग में 900 करोड़ रुपये से ज्यादा का चारा घोटाला किया गया था। अभी तक इस घोटाले से जुड़े चार मामलों में कोषागार से फर्जी धन निकासी के दोष में लालू को सजा घोषित हो चुकी है। इनमें दो मामले चाईबासा कोषागार के हैं, जबकि एक-एक मामला दुमका व देवघर कोषागार का है।

हालांकि चाईबासा और देवघर के एक-एक मामले में लालू को जमानत मिल चुकी है। उन पर दोरांदा कोषागार से जुड़े पांचवां मामले में रांची की विशेष सीबीआई अदालत में सुनवाई जारी है। दिसंबर, 2017 से जेल में बंद लालू फिलहाल रांची में राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस में इलाज करा रहे हैं।
... और पढ़ें
Lalu Prasad Yadav Lalu Prasad Yadav

झारखंड: धनबाद में भाजपा विधायक के आवास पर पुलिस ने मारा छापा, चार समर्थक गिरफ्तार

दिल्ली विधानसभा में भाजपा विधायक दल का नेता चुनने की तैयारी शुरू, इन्हें मिली जिम्मेदारी

दिल्ली विधानसभा चुनाव में भाजपा को मिली करारी हार के बाद पार्टी सकारात्मक विपक्ष की भूमिका निभाने की तैयारी कर रही है। सदन में भाजपा विधायक दल के नेता के चयन के लिए पार्टी ने अपनी राष्ट्रीय महासचिव सरोज पांडे को अधिकृत किया है।

सरोज पांडे जल्दी ही दिल्ली चुनाव में जीते सभी आठ विधायकों से मुलाकात करेंगी और नेता प्रतिपक्ष के चयन पर उनकी राय लेंगी। पिछली विधानसभा में रोहिणी से भाजपा विधायक विजेंद्र गुप्ता ने नेता प्रतिपक्ष की भूमिका निभाई थी। उनके अलावा मुरलीधर राव को झारखंड में नेता प्रतिपक्ष का चयन करने के लिए अधिकृत किया गया है। 
 
दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 में भाजपा के आठ विधायकों ने जीत हासिल की है। इनमें पिछली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता भी शामिल हैं। इस बार भी उन्हीं को नेता प्रतिपक्ष बनाने की चर्चा जोरों पर है।

हालांकि करावल नगर से जीते मोहन सिंह बिष्ट भी पांचवीं बार विधानसभा पहुंचने में सफल रहे हैं। उनके अनुभव को देखते हुए उन्हें भी इस जिम्मेदारी को देने की पहल की जा सकती है। 
 
अमर उजाला के साथ हुई बातचीत में विजेंद्र गुप्ता ने कहा कि कम संख्या होने के बावजूद भाजपा ने पिछली विधानसभा में सकारात्मक विपक्ष की भूमिका निभाई थी। इस बार भी उनकी कोशिश सरकार के अच्छे कार्यों में उसका साथ देने की रहेगी।

उन्होंने कहा कि जहां उन्हें यह लगेगा कि सरकार अपनी जिम्मेदारियों से पीछे हट रही है, वे उसे उसकी जिम्मेदारी याद दिलाने की कोशिश करेंगे।
 
... और पढ़ें

चाईबासा जैसा जनसंहार कभी नहीं देखा, दुखद है कि राज्य सरकार ने कार्रवाई नहीं की : शाह

शाह ने कहा कि चाईबासा में जिस प्रकार गरीब आदिवासियों की नृशंस हत्या की गई और परिवार वालों के सामने गरीब ग्रामीणों के सिर को धड़ से अलग कर दिया गया वैसा मैंने जीवन में कभी नहीं देखा। उससे भी दुखद बात यह है कि राज्य सरकार ने अब तक इस मामले में कोई सख्त कार्रवाई नहीं की है।

शाह ने कहा कि हम झारखण्ड को पतन के रास्ते पर जाते नहीं देख सकते।  उन्होंने कहा कि यदि इसी प्रकार राज्य में कानून व्यवस्था का हाल रहा और राज्य सरकार इसी प्रकार चलती रही तो भाजपा जनता के हितों की रक्षा के लिए सड़क से सदन तक संघर्ष करेगी।

उन्होंने कहा कि झारखंड में बाबूलाल मरांडी के भाजपा में वापस आने के बाद अब पार्टी के राज्य में तीनों बड़े नेता-मरांडी, अर्जुन मुंडा तथा रघुवर दास मिलकर भाजपा को आगे ले जाएंगे।

शाह ने आगे कहा कि भाजपा राज्य की नयी सरकार को अच्छे कार्यों के लिए और केन्द्र की योजनाओं को लागू करने के लिए रचनात्मक सहयोग देगी लेकिन जनविरोधी कार्यों के खिलाफ वह सड़क से लेकर सदन तक संघर्ष करेगी। 
... और पढ़ें

जेवीएम से निष्कासित बंधु तिर्की और प्रदीप यादव कांग्रेस में हुए शामिल

अमित शाह
कांग्रेस का केंद्रीय नेतृत्व भले ही एक मार्च को रैली करके राहुल गांधी के समक्ष जेवीएम से निष्कासित विधायक बंधु तिर्की और प्रदीप यादव के संग सार्वजनिक रूप से ताल ठोककर अपनी खोई जमीन पाने की तैयारी कर रहा हो पर अपनों की रार के चलते पार्टी की यह राह फिलहाल आसान नहीं दिखती।

बावजूद इसके पार्टी प्रभारी आरपीएन सिंह ने कहा कि स्थानीय इकाई की नाराजगी को दूर कर दिया गया है। अंसारी से बात करके उनकी सारी शंकाओं को समाधान कर दिया गया है। अब पार्टी में नाराजगी जैसा कुछ नहीं है।  

उधर बाबू लाल मंराडी के नेतृत्व वाले झारखंड विकास मोर्चा के भाजपा में विलय के पार्टी से खफा मंदार के विधायक बंधु तिर्की और विधायक दल के नेता और पोरैयाहाट के विधायक प्रदीप यादव ने दावा किया है कि उनकी पार्टी के 85 फीसदी पदाधिकारी जिलाध्यक्ष समेत अनेक वरिष्ठ नेता कांग्रेस में विलय करेंगे।

2006 से जिस विचारधारा को लेकर वह समाज के शोषित और आदिवासी समाज की लड़ाई लड़ रहे थे। वह भाजपा के समर्थन के चलते लीक से हटती नजर आई। जहां तक सवाल उनकी सदस्यता का है तो उन्होंने कहा अब फैसला स्पीकर को करना है कि वह बाबूलाल मरांडी के समूह को अधिकारिक मानते हैं या उनके ।
... और पढ़ें

बाबूलाल मरांडी का 14 साल का 'वनवास' खत्म, अमित शाह की मौजूदगी में हुए भाजपा में शामिल

झारखंड: जहरीली शराब का गिरिडीह में आतंक, चार दिनों में 13 लोगों की मौत, दहशत में स्थानीय लोग

झारखंड में जहरीली शराब का कहर देखने को मिला है। राज्य के गिरिडीह जिले में जहरीली शराब पीने से पिछले चार दिनों में 13 लोगों ने अपनी जान गंवाई हैं। बताया गया है कि जहरीली शराब की पीने की वजह से पांच लोगों की हालत बेहद गंभीर है। वहीं, दो लोगों को बेहतर इलाज के लिए रांची के रिम्स अस्पताल भेजा गया है। 

जिले के सरिया प्रखंड के फकिराफरी गांव में भी सात लोगों की जहरीली शराब पीने से मौत हुई है। वहीं, देवरी प्रखंड के गादिकला गांव के रहने वाले छह लोगों की भी जहरीली शराब पीने से मौत हुई है। जहरीली शराब पीने से हुई मौतों के बाद से पूरे गांव में मातम छाया हुआ है। 

मौत के कारण स्थानीय लोगों में दहशत का माहौल है। इस घटना के बाद जिलाधिकारी राहुल कुमार सिन्हा ने मामले की जांच के निर्देश दिया है। वहीं, घटना की सूचना मिलते ही स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव में पहुंच कर हालात का जायजा ले रही है। साथ ही लोगों के खून के नमूनों की जांच भी की जा रही है। 
... और पढ़ें

बाबूलाल का 14 साल का 'वनवास' खत्म, अमित शाह की मौजूदगी में हुई 'घर वापसी'

झारखंड के पहले मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी आज 14 साल का 'वनवास' खत्म कर 'घर वापसी' करते हुए भाजपा में शामिल हो गए। इसके अलावा उन्होंने अपनी पार्टी झारखंड विकास मोर्चा (झाविमो) का भाजपा में विलय भी कर दिया। केंद्रीय गृहमंत्री और भाजपा के पूर्व अध्यक्ष अमित शाह ने बाबूलाल मरांडी को माला पहनाकर पार्टी में स्वागत किया। 



अमित शाह बोले- 2014 से कर रहा था कोशिश
इस दौरान वहां मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि जब मैं 2014 में भाजपा अध्यक्ष बना था उसी के बाद से बाबूलाल मरांडी को भाजपा में लाने की कोशिश कर रहा हूं। किसी ने सही कहा है कि वह काफी जिद्दी हैं। हम उन्हें आसानी से मना नहीं सकते थे। वह अब झारखंड के लोगों की इच्छा के अनुसार भाजपा में शामिल हो गए हैं।

शाह ने कहा कि बाबूलाल मरांडी आप घर वापस आए हैं। आज मैं बहुत प्रसन्न हूं। आपको यहां कभी बाहरी होने का एहसास नहीं होगा। उन्होंने कहा कि कुछ निजी कारणों से वह पार्टी छोड़ गए थे लेकिन अब उनकी वापसी से पार्टी की ताकत झारखंड में कई गुना बढ़ जाएगी। 

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि भाजपा जनता के मुद्दों पर सड़क से सदन तक लड़ाई करेगी क्योंकि उसका लक्ष्य सिर्फ चुनाव जीतना नहीं है बल्कि उसका वास्तविक उद्देश्य मां भारती की सेवा करना है। 

उन्होंने आगे कहा कि विपक्ष में रहते हुए भाजपा झारखंड सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं का समर्थन करेगी। लेकिन हम नक्सलवाद, आतंकवाद और भ्रष्टाचार को प्रोत्साहित करने के प्रयासों का विरोध करेंगे। हम विधानसभा के भीतर और बाहर इन मुद्दों के खिलाफ लड़ेंगे।

माना जा रहा है कि मरांडी को भाजपा में बड़ी जिम्मेदारी दी जा सकती है। बता दें कि 2006 में बाबूलाल मरांडी ने भाजपा में मतभेद होने के बाद पार्टी की सदस्यता से इस्तीफा देकर झारखंड विकास मोर्चा का गठन कर अपनी अलग पार्टी बना ली थी। 14 साल बाद मरांडी सोमवार को दोबारा भाजपा में शामिल हुए।

मरांडी को मिल सकती है बड़ी जिम्मेदारी
विलय के बाद संगठन के स्वरूप और उसमें बाबूलाल मरांडी की भूमिका पर भी चर्चा हो रही है। भाजपा नेताओं ने मरांडी को महत्वपूर्ण दायित्व देने की बात कही, पर मरांडी ने कहा कि वे एक सामान्य कार्यकर्ता के रूप में भाजपा में शामिल होंगे। उन्हें पद की कोई लालसा नहीं।

सूत्रों के अनुसार केंद्रीय नेतृत्व बाबूलाल मरांडी को झारखंड विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष बना सकता है। 

झाविमों के दो निष्कासित विधायक कांग्रेस में होंगे शामिल

झारखंड विकास मोर्चा से निकाले गए दोनों विधायक प्रदीप यादव और बंधु तीर्की आज कांग्रेस में शामिल होंगे। दिल्ली में कांग्रेस दफ्तर में करीब 3.30 बजे दोनों कांग्रेस में शामिल होंगे। झारखंड कांग्रेस के प्रभारी आरपीएन सिंह की मौजूदगी में दोनों विधायक कांग्रेस का हाथ थामेंगे। हलांकि कांग्रेस में प्रदीप यादव के शामिल होने का विरोध भी हो रहा है। इरफान अंसारी ने प्रदीप यादव के विरोध में कार्यकारी अध्यक्ष के पद से इस्तीफा देने का एलान किया है।
... और पढ़ें

कल होगी बाबूलाल मरांडी की 'घर वापसी', भाजपा में करेंगे अपनी पार्टी झाविमो का विलय

झारखंड विकास मोर्चा (झाविमो) के अध्यभ बाबूलाल मरांडी सोमवार को भाजपा में शामिल हो जाएंगे। इसके अलावा वह अपनी पार्टी का भाजपा में विलय कर देंगे। इसके लिए उनकी पार्टी की केंद्रीय समिति मंजूरी दे चुकी है। माना जा रहा है कि मरांडी को भाजपा में बड़ी जिम्मेदारी दी जा सकती है। उनकी पार्टी के नेताओं में भाजपा में विलय होने को लेकर उत्साहित हैं।

मरांडी की घरवापसी के मौके पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम में 20 हजार कार्यकर्ताओं के शामिल होने की उम्मीद है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा 17 फरवरी को यहां प्रभात तारा मैदान में विलय समारोह में उपस्थित रहेंगे।

झाविमो के प्रधान महासचिव अभय सिंह का कहना है कि उनकी पार्टी का भाजपा में विलय ऐतिहासिक होगा और इसमें शामिल होने के लिए पंचायत स्तरीय कार्यकर्ता आएंगे। उन्होंने कहा, 'झारखंड को संवारने और राष्ट्रवाद को मजबूती देने के लिए पार्टी कार्यकर्ता नए उत्साह का संदेश लेकर समारोह स्थल से लौटेंगे।'

मरांडी को मिल सकती है बड़ी जिम्मेदारी

विलय के बाद संगठन के स्वरूप और उसमें बाबूलाल मरांडी की भूमिका पर भी चर्चा हुई। भाजपा नेताओं ने मरांडी को महत्वपूर्ण दायित्व देने की बात कही, पर मरांडी ने कहा कि वे एक सामान्य कार्यकर्ता के रूप में भाजपा में शामिल होंगे। उन्हें पद की कोई लालसा नहीं। मरांडी ने अमित शाह से आग्रह किया के वे पार्टी के विलय समारोह में शामिल हों।

सूत्रों के मुताबिक झाविमो के भाजपा में विलय के बाद बाबूलाल को बड़ा पद दिए जाने की संभावना है। बता दें कि वर्ष 2000 में जब बिहार से अलग होकर झारखंड राज्य बना था, उस वक्त बाबूलाल मरांडी भाजपा के दिग्गज नेता थे और प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री बने थे।

... और पढ़ें

झारखंड: एनआईए ने नक्सली संगठन पीएलएफआई से जुड़े सात लोगों के खिलाफ पूरक आरोप-पत्र दायर किया

झारखंड के प्रतिबंधित नक्सल संगठन पीएलएफआई से जुड़े सात लोगों के खिलाफ राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए)  ने पूरक आरोप-पत्र दायर किया है। इनके पास से विदेशों में बने हथियार एवं गोला-बारूद जब्त किए गए थे, जिसके बाद एनआईए ने यह कदम उठाया है।

एनआईए के एक प्रवक्ता के अनुसार गुलाब कुमार यादव, रवि यादव, राकेश कुमार पासवान, पवन कुमार यादव, संतोष यादव, सुरेश यादव और प्रमजीत मोची पर भारतीय दंड संहिता, गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम कानून, शस्त्र अधिनियम, आपराधिक कानून संशोधन कानून के प्रावधानों के तहत आरोप लगाए हैं।

अधिकारी ने बताया कि इनमें से छह फिलहाल न्यायिक हिरासत में है जबकि प्रमजीत फरार है। एनआईए के मुताबिक पीपुल्स लिब्रेशन फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएलएफआई) के सदस्य लातेहर के बलुभांग के तितिर महुआ वन क्षेत्र में एकत्र हुए और गैरकानूनी गतिविधि को अंजाम देने की साजिश रच रहे थे।

एजेंसी के मुताबिक विश्वसनीय सूचना के आधार पर छापेमारी की गई और चार आरोपियों को विदेश में निर्मित हथियारों एवं गोला-बारूदों के साथ गिरफ्तार किया गया है। एनआईए ने कहा कि आरोपी सरकारी विकास परियोजनाओं और ट्रांसपोर्टरों के ठेकेदारों से वसूली किया करते थे। उन्होंने अवैध तरीके से विदेश में बने हथियार और गोला-बारूद हासिल किए जिनका इस्तेमाल वसूली के लिए ठेकेदारों और कारोबारियों को डराने के लिए किया जाता था।

पहला पूरक आरोप-पत्र शुक्रवार को रांची में एनआईए की विशेष अदालत के समक्ष दायर किया। इस मामले में आगे की जांच जारी है।

... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन