आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Book Review ›   maine apni maa ko janm diya hai book review in hindi
maine apni maa ko janm diya hai book review in hindi

इस हफ्ते की किताब

मैंने अपनी मां को जन्म दिया है - कविताओं में उतरते हुए लोग

मनोरंजन डेस्क अमर उजाला, नई दिल्ली

75 Views

जानी-मानी लेखिका रश्मि भारद्वाज के कविता संग्रह 'मैंने अपनी मां को जन्म दिया है' में जीवन के विविध पक्षों की छाप है। उनकी कविताएं दुख, मुक्ति और स्वाभिमान के मुद्दों के अतिरिक्त  विस्थापन, पर्यावरण और सहकारिता के वृहत्तर प्रश्नों से भी टकराती हैं। इन कविताओं में महानगरीय जीवन की भाग-दौड़ भी है और इसके प्रतिकार में उपजा सन्नाटा भी। जिंदगी की रवानगी से रूबरू होते ये पन्ने पाठकों को भावनात्मक सोच की नई ऊंचाइयों पर ले जाते हैं।

किताब- मैंने अपनी मां को जन्म दिया है
लेखिका- रश्मि भारद्वाज
प्रकाशक- सेतु प्रकाशन प्रा. लि., दिल्ली
मूल्य- 130 रुपये

सर्वाधिक पढ़े गए
Top
Your Story has been saved!