आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Irshaad ›   republic day 2020: Harivansh Rai Bachchan best hindi poem
एक और जंजीर तड़कती है, भारत मां की जय बोलो: हरिवंशराय बच्चन

इरशाद

एक और जंजीर तड़कती है, भारत मां की जय बोलो: हरिवंशराय बच्चन

अमर उजाला, काव्य डेस्क, नई दिल्ली

504 Views
इन जंजीरों की चर्चा में कितनों ने निज हाथ बँधाए,
कितनों ने इनको छूने के कारण कारागार बसाए,
इन्हें पकड़ने में कितनों ने लाठी खाई, कोड़े ओड़े,
और इन्हें झटके देने में कितनों ने निज प्राण गँवाए!
किंतु शहीदों की आहों से शापित लोहा, कच्चा धागा।
एक और जंजीर तड़कती है, भारत मां की जय बोलो। आगे पढ़ें

सर्वाधिक पढ़े गए
Top
Your Story has been saved!