आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Vishwa Kavya ›   Bertolt Brecht love poems
बर्तोल ब्रेख्त

विश्व काव्य

जर्मन कवि बर्तोल्त ब्रेख्त की प्रेम कविताएं

अमर उजाला काव्य डेस्क, नई दिल्ली

280 Views
1. 

मेरे प्रिय ने मुझे
एक नन्ही टहनी दी
जिस पर पीली पत्तियाँ थीं।

वर्ष
जाता है
अपने अन्त की ओर

प्रेम
अभी
आरम्भ हुआ है। आगे पढ़ें

तुम्हें चलना होगा और तुम मज़बूत हो जाओगे

सर्वाधिक पढ़े गए
Top
Your Story has been saved!