आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Vishwa Kavya ›   marin sorescu famous poems bimari
मारिन सोरस्क्यू की कविता: बीमारी

विश्व काव्य

मारिन सोरस्क्यू की कविता: बीमारी

अमर उजाला, काव्य डेस्क, नई दिल्ली

232 Views
डॉक्टर , मैं महसूस कर रहा हूँ
कि कुछ घातक घट रहा है
मेरे ज़ेहन के आस-पास
हर एक अंग दुख रहा है,
दिन के वक़्त सूर्य पीड़ा में है,
रात को चाँद और सितारे  आगे पढ़ें

सर्वाधिक पढ़े गए
Top
Your Story has been saved!