बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

अर्चना की जगह इशरत के शव का कर दिया अंतिम संस्कार, बेटों ने किया हंगामा, यूं खुला पूरा मामला

न्यूज डेस्क/अमर उजाला, लखनऊ Published by: ishwar ashish Updated Fri, 14 Feb 2020 05:06 PM IST
विज्ञापन
प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
इससे बड़ी लापरवाही और क्या हो सकती है कि एक परिवार अपनी मां को ही नहीं पहचान सका और उसकी जगह दूसरी महिला के शव का दाह संस्कार कर दिया। खास बात तो यह है कि महिला दूसरे समुदाय की थी। ऐसे में जब उसके परिवारीजनों ने अपनी मां का शव मांगा तो मामला सामने आया।
विज्ञापन


उन्होंने लखनऊ के विभूतिखंड पुलिस से शिकायत भी की। बाद में धर्मगुरुओं के समझाने पर दोनों परिवार शांत हुए। गोमतीनगर के सहारा अस्पताल में भर्ती विवेक खंड निवासी जेके गर्ग की पत्नी अर्चना (70) को न्यूरो की समस्या था। उन्हें न्यूरो मेडिसिन विभाग की आईसीयू में भर्ती कराया गया था। 11 फरवरी को उनकी मौत हो गयी।


उसी दिन अलीगंज निवासी तकरी रजा की पत्नी इशरत मिर्जा (73) की भी मौत हुई थी। दोनों शव मर्च्युरी में रखवा दिए। अर्चना के परिवारीजन दोपहर को एक शव को अपनी मां की लाश समझकर ले गए। यह शव इशरत का था। सिर्फ इतना ही नहीं अगली सुबह अर्चना के परिवारीजनों ने शव का हिंदू रीति रिवाज से अंतिम संस्कार भी कर दिया।
 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

तहरीर मिलने पर मुकदमा दर्ज कर की जाएगी कार्रवाई

विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us