विज्ञापन
विज्ञापन
जन्मतिथि से बनवाएं अपनी फ्री जन्मकुंडली और जानें आने वाले समस्त शुभ - अशुभ योग
Kundali

जन्मतिथि से बनवाएं अपनी फ्री जन्मकुंडली और जानें आने वाले समस्त शुभ - अशुभ योग

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

लखनऊ: दोस्त से झगड़े के बाद युवती ने फांसी लगा दी जान, केस दर्ज

लखनऊ के गुडंबा थानाक्षेत्र के प्रगति बिहार में किराए पर रहने वाली नेहा ने सोमवार रात फांसी लगाकर जान दे दी। मृतका की मां की तहरीर पर दोस्त के खिलाफ खुदकुशी के लिए उकसाने का केस दर्ज कर लिया है। प्रभारी निरीक्षक गुडंबा रीतेंद्र प्रताप सिंह के मुताबिक, सीतापुर के हथिया की रीना सिंह ने बताया कि वे बेटी नेहा के साथ पुराना लखनऊ के अलावा प्रगति बिहार में रहती हैं।

27 सितंबर की रात करीब 11 बजे मेरी बेटी का दोस्त चारबाग लालकुआं निवासी आशू शर्मा घर पर आया था। आशू और नेहा के बीच काफी विवाद हुआ। मैं व मेरी नातिन मुस्कान दूसरे कमरे में थीं। झगड़े के बाद नेहा ने फांसी लगाकर जान दे दी। 
... और पढ़ें

लखनऊः साइबर ठगों ने पेटीएम खाते से उड़ाए 49 हजार रुपये, केस दर्ज

लखनऊ के आलमबाग निवासी प्रतिष्ठा के पेटीएम खाते से साइबर जालसाजों ने 49 हजार रुपये निकाल लिए। इसकी जानकारी होने पर पीड़िता ने थाने में तहरीर दी जिस पर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया। प्रभारी निरीक्षक आलमबाग प्रदीप सिंह के मुताबिक, प्रतिष्ठा पटेलनगर में रहती हैं। उनका बैंक ऑफ बड़ौदा में खाता है जो पेटीएम से लिंक हैं।

प्रतिष्ठा के मुताबिक, उनके खाते से 8 जुलाई से 13 जुलाई के बीच में कई बार में ऑनलाइन रकम निकाली गई जो कई लोगों के खाते में गई। विनय कुमार गुप्ता के खाते में 1900, रूपाली गुप्ता के 1900, काजल शेखर पराटे के खाते में 10,000, अमलपति गोपालराव के खाते में 10,000, काजल शेखर पराटे को 10,000, अमलपति के 10,000, रुपाली के 10,000, रुपाली के 10,000, मीर साजिद अली के 10,000 रुपये गए।

रकम न होने के कारण कुछ ट्रांजिक्शन रुक गया। मेरे खाते से कुल 49 हजार रुपये निकाले गए। इन सभी निकासी के बारे में कोई जानकारी नहीं थी। बैंक में जाने के बाद पता चला। प्रभारी निरीक्षक के मुताबिक पीड़िता की तहरीर पर केस दर्ज कर लिया गया है। मामले की जांच साइबर क्राइम सेल की मदद से की जा रही है।
... और पढ़ें

80 वर्षीय बुजुर्ग से ठगी, एसयूवी का लालच दे ठगे लाखों रुपये, कमिश्नर के आदेश पर दर्ज हुई एफआईआर

इनाम में एसयूवी का लालच देकर लखनऊ में कृष्णानगर थानाक्षेत्र के जाफरखेड़ा निवासी 80 वर्षीय कृष्ण दयाल सक्सेना से जालसाजों ने 34 लाख 80 हजार रुपये ठग लिए। पीड़ित ने पुलिस कमिश्नर से गुहार लगाई तो केस दर्ज किया गया। मामले की जांच पुलिस, साइबर क्राइम सेल की मदद से कर रही है।

प्रभारी निरीक्षक कृष्णानगर धीरेंद्र कुमार उपाध्याय के मुताबिक, जाफरखेड़ा में बुजुर्ग कृष्ण दयाल सक्सेना रहते हैं। कृष्ण दयाल के मुताबिक, उनके पास 2019 के जून में एक साधारण डाक से पत्र मिला। लिफाफा खोलने पर अंदर एक पम्पलेट और स्क्रैच कार्ड निकला। कार्ड को स्क्रैच करने पर एक स्कॉर्पियो डीलक्स गाड़ी इनाम में निकली।

लिफाफा आयुर्वेदिक शोध संस्थान मालेगांव कामाख्या मंदिर रोड कामरूप असम की ओर से भेजा गया था। लिफाफे में एक व्हाट्सएप नंबर दिया था। जिस पर उन्होंने जानकारी दी। इसके बाद 5600 रुपये जमा करने और पहचान पत्र का प्रमाण व खाता नंबर भेजने को कहा गया। जिसे उन्होंने भेज दिया।
... और पढ़ें

महिला की गला रेतकर हत्या, झाड़ियों में मिला शव, रेप की आशंका

काकोरी के बेहटा गांव स्थित राधा कृष्ण मंदिर के पास सड़क किनारे झाड़ियों में सोमवार सुबह एक 40 साल की महिला का शव पड़ा मिला। खून से लथपथ महिला का गला रेता गया था। स्थानीय लोगों ने पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना दी। पुलिस ने शव की शिनाख्त कराने की कोशिश की लेकिन सफलता नहीं मिली।

पुलिस ने फॉरेंसिक टीम को भी मौके पर साक्ष्य जुटाने के लिए बुलाया। पुलिस शिनाख्त के लिए आसपास के जिलों में संपर्क कर रही है। स्थानीय लोगों ने दुष्कर्म के बाद हत्या कर शव फेंके जाने की आशंका जाहिर की है। पुलिस मामले की जांच करने में जुटी है।

एसीपी काकोरी सैय्यद मो. कासिम आब्दी के मुताबिक, सोमवार सुबह बेहटा गांव के मंदिर के पास सड़क किनारे झाड़ियों में महिला का शव पड़ा मिला। डॉग स्क्वॉयड, फॉरेंसिक टीम बुलाई गई थी। महिला के शरीर पर लाल कुर्ता, काले रंग की लेगी थी। हाथ में लाल कंगन, कलावा, गले में दुपट्टा था।

एसीपी के मुताबिक, महिला की हत्या कहीं और की गई है। शव को छिपाने के लिए झाड़ियों में फेंका गया है। महिला की शिनाख्त के लिए राजधानी सहित आसपास के कई थानों में संपर्क किया गया है। सभी थानों से महिलाओं की गुमशुदगी के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है।
... और पढ़ें
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

लखनऊः सेतु निगम के कर्मचारी की संदिग्ध हालात में मौत, कमरे में पड़ा मिला शव

लखनऊ में हजरतगंज के सिकंदरनगर में किराए के मकान में रहने वाले सेतु निगम के कर्मचारी नंद लाल (50) की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। उसका शव मंगलवार को कमरे में पड़ा था। मकान मालिक ने मड़ियांव में रहने वाले बेटे को सूचना दी। पुलिस के मुताबिक, सोमवार रात को वह शराब के नशे में था।

इसकी सूचना मकान मालिक ने बेटे को दी थी लेकिन वह पिता की हरकतों से परेशान था। इसलिए नहीं आया। सुबह उसे पिता की मौत की सूचना दी गई।  प्रभारी निरीक्षक हजरतगंज अंजनी कुमार पांडेय के मुताबिक, मूलरूप से सीतापुर के शिवथाना निवासी नंदलाल सेतु निगम कार्यालय में चतुर्थ श्रेणी के पद पर तैनात था।

वह लक्ष्मण मेला पार्क स्थित सिकंदरनगर में किराए के मकान में रहते थे। जबकि उसकी पत्नी लल्ली देवी बेटा पुनीत वर्मा, सुनील और विनीत मड़ियांव के प्रीतम नगर में अपने मकान में रहते थे। बेटे सुनील के मुताबिक पिता शराब के लती थी। जिसके चलते वह अलग रहते थे और शनिवार व रविवार को घर आते थे। मंगलवार सुबह मकान मालिक ने हजरतगंज पुलिस को सूचना दी कि नंद लाल का शव कमरे में जमीन पर पड़ा है।
... और पढ़ें

यूपीएससी की तैयारी कर रहा युवक गोमती में कूदा, बचाई जान, पूछताछ की तो बोला...

लखनऊ में गौतमपल्ली थानाक्षेत्र के रिवर फ्रंट से रविवार दोपहर को एक युवक ने अचानक गोमती नदी में छलांग लगा दी। 1090 चौराहे पर मौजूद पुलिस कर्मियों को मौजूद लोगों ने सूचना दी। सूचना मिलने पर पुलिस व गोमती नदी में नाव पर बैठे मछुआरों ने युवक को सुरक्षित बाहर निकाला। पुलिस के मुताबिक युवक यूपीएससी की तैयारी कर रहा है। वह मूलरूप से बिहार के दरभंगा का है।

गौतमपल्ली थाने के दरोगा राजेश सरोज के मुताबिक रिवर फ्रंट से रविवार दोपहर को नदी में छलांग लगाने वाला युवक मूलरूप से बिहार के दरभंगा के मंगलपरु लालबाग निवासी विवेक कुमार विभाकर है। उसे बाहर निकालने के बाद पुलिस ने सिविल अस्पताल में भर्ती कराया। जहां उसके होश में आने के बाद पूछताछ की गई।

पूछताछ में विवेक ने बताया कि वह यूपीएससी की तैयारी करता है। हाल ही में आए परीक्षा परिणाम में उसका चयन नहीं हुआ। पटना की एक युवती से उसका प्रेम संबंध भी चार साल से है। चयन न  होने के कारण युवती ने उससे दूरी बना ली थी। इसी कारण वह डिप्रेशन में आ गया। उसने खुदकुशी करने के लिए नदी में छलांग लगाई थी। विवेक अपने बहनोई के साथ जेल रोड मेट्रो ऑफिसर्स कॉलोनी में रहता है। बहन से घूमने की बात कहकर घर से निकला था। युवक के बहनोई मेट्रो में तैनात हैं।
... और पढ़ें

जालसाज ने सर्राफा कारोबारी से ठगे 11 लाख, फाइनेंस कंपनी से ढाई करोड़ के लोन का दिया था झांसा

लखनऊ के चौक थाने में फाइनेंस कंपनी से ढाई करोड़ रुपये का लोन दिलाने के नाम पर सर्राफा कारोबारी अशरफ निवासी जौहरी मोहल्ला चौक से 11 लाख रुपये एक जालसाज निर्भय ने ठग लिए। लोन न होने पर रुपये वापस मांगे तो टालमटोल करने लगा। पीड़ित ने जमानत में मिले चेक को भुगतान के लिए लगाया जो बाउंस हो गया। प्रभारी निरीक्षक चौक विश्वजीत सिंह ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर जांच की जा रही है।

अशरफ  के पास अगस्त में उनके पास एक कॉल आई थी। कॉल करने वाले ने खुद को फाइनेंस कंपनी का कर्मचारी निर्भय बताया। निर्भय ने लोन पास कराने का दावा किया था। अशरफ  ने पैन कार्ड व संपत्ति के पेपर व्हाट्सएप से भेजे थे। कुछ दिन बाद निर्भय ने अशरफ  की दुकान पहुंच कर उनसे मुलाकात की।

आरोपी ने सर्राफ को बताया कि ढाई करोड़ का लोन कराने से पहले फाइल चार्ज के लिए 11 लाख रुपये जमा करने होंगे। अशरफ  ने उसे रुपये दे दिए। रुपये मिलने के बाद निर्भय ने अशरफ  को चेक देते हुए कहा था कि अगर लोन नहीं मिला तो चेक लगाकर अपने रुपये वापस ले लीजिएगा। अशरफ  के मुताबिक, 11 लाख हड़पने के बाद निर्भय टाल मटोल करता रहा। शक होने पर सर्राफ  ने आरोपी के दिए चेक बैंक में लगाए। जो बाउंस हो गए।
... और पढ़ें

डीपी में डॉक्टर की फोटो लगाकर महिला ने भर्ती के नाम पर ठगा, ये था पूरा मामला

प्रतीकात्मक तस्वीर
सिविल अस्पताल में एक महिला ने इलाज के नाम पर बलरामपुर निवासी महिला मरीज के तीमारदारों से 50 हजार रुपये वसूल लिए। यही नहीं, महिला ने जालसाजी के लिए अस्पताल के एक डॉक्टर की फोटो का इस्तेमाल डीपी के लिए किया। शक होने पर तीमारदारों ने शुक्रवार को हंगामा किया तो आरोपी महिला व तीमारदार को निदेशक कक्ष में ले जाया गया।

पुलिस दोनों को कोतवाली ले गई, जहां दोनों पक्षों ने समझौता कर लिया। बलरामपुर जिले की रहने वाली एक 35 वर्षीय महिला मरीज को बीती सात अक्तूबर को इमरजेंसी में भर्ती कराया गया था। महिला सर्जिकल फीमेल वार्ड में डॉक्टर आरके गौतम की देखरेख में इलाज चल रहा है।

तीमारदार राजीव के मुताबिक, गांव की एक महिला ने सिविल अस्पताल में बेहतर इलाज दिलाने का झांसा देकर 50 हजार वसूल लिए थे। राजीव ने डॉक्टर से बात कराने की बात कही तो उसने पूर्व सीएमओ डॉ. आरपी सिंह की फोटो अपने बेटे के व्हाट्सएप नंबर पर लगाकर बेटे से बात करा दी।

इसके बाद तीमारदार ने उसे सिविल में भर्ती कराया। राजीव को शक हुआ तो उसने शुक्रवार दोपहर वार्ड में हंगामा करते हुए गांव की परिचित महिला को निदेशक के सामने पेश किया। निदेशक डॉ. मधु सक्सेना ने बताया कि महिला ने अस्पताल के डॉक्टर की फोटो का गलत इस्तेमाल किया था। जो साइबर क्राइम के तहत आता है। पार्क रोड चौकी प्रभारी सीबी गिरी ने बताया कि दोनों पक्षों ने सुलह कर लिया है। 
... और पढ़ें

सिपाही की पत्नी से घर में घुसकर छेड़खानी, बाल पकड़कर जमीन पर पटका, विरोध पर दंपती को किया अधमरा

जिले में खाकी भी सुरक्षित नहीं है। दबंगों ने गुरुवार रात रायबरेली के महराजगंज कोतवाली में तैनात सिपाही की पत्नी के साथ घर में घुसकर छेड़खानी की। विरोध करने पर सिपाही की पत्नी के बाल पकड़कर उसे जमीन पर पटक दिया और सिपाही व पत्नी को पीट-पीटकर अधमरा कर दिया। मासूम बच्ची को भी मामूली चोटें आईं।

यही नहीं दबंगों ने 22 हजार की नकदी और सोने का कुंडल लूट लिया। वारदात की सूचना के बाद भी कोतवाल मौके पर नहीं पहुंचे। एसपी की फटकार के बाद कोतवाल ने पहुंचकर घटनाक्रम की पड़ताल की। घायल सिपाही को सीएचसी में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने सात लोगों के खिलाफ केस दर्ज करके दो आरोपियों को दबोच लिया है।

बुलंदशहर का रहने वाला युवक यहां महराजगंज कोतवाली में आरक्षी पद पर तैनात है। वह कस्बे के ही गांधी नगर मोहल्ले में किराए के मकान में रहता है। गुरुवार रात आरक्षी ड्यूटी पर था। उसकी पत्नी अपनी पांच साल की बेटी के साथ घर पर थी। इसी बीच दबंग किस्म के सात लोग घर के अंदर घुस गए और आरक्षी की पत्नी के साथ छेड़खानी करने लगे।

उसका दुपट्टा खींचकर बाहर फेंक दिया। घर से बाहर भागी पत्नी ने पति को फोन किया। दबंगों ने पत्नी को घर के अंदर खींच लिया और बाल पकड़कर जमीन पर पटक दिया। इसी बीच घर पहुंचे सिपाही ने विरोध किया तो दबंगों ने सिपाही और उसकी पत्नी की बुरी तरह पिटाई कर दी। पिटाई मे सिपाही गंभीर रूप से जख्मी हो गया। मासूम बच्ची को भी मामूली चोटें आईं। इसके बाद सभी हमलावर सिपाही की पत्नी का सोने का कुंडल और 22 हजार रुपये की नकदी लूटकर फरार हो गए।
... और पढ़ें

ताला बंद मकानों की रेकी कर चोरी करने वाले दो गिरोह का पर्दाफाश,आठ धरे

लखनऊ में पुलिस ने मड़ियांव और चिनहट इलाके में ताला बंद मकानों की रेकी कर चोरी करने वाले दो गिरोह का पर्दाफाश किया है। मड़ियांव व चिनहट पुलिस ने इन गिरोहों के आठ चोरों को दबोच लिया है। उनके पास से चोरी का माल बरामद किया है। सभी जेल भेज दिए गए।

प्रभारी निरीक्षक मड़ियांव विपिन कुमार सिंह के मुताबिक, पकड़े गए चोरों में मुतक्कीपुर का कल्लू, आकाश रावत उर्फ  तोंदे, नौबस्ता का भूपेंद्र कश्यप व प्रमोद शामिल है। शनिवार रात ये सभी घूम रहे थे। पुलिस ने रोका तो भागने लगे। चारों को दौड़ाकर पकड़ा गया। पूछताछ में चोरी की वारदातों का खुलासा हुआ।

इनके कब्जे से दो एसी, एलसीडी टीवी, मोबाइल, नकदी और अन्य सामान बरामद किया गया है। डीसीपी उत्तरी शालिनी सिंह ने गिरफ्तारी की टीम में शामिल पुलिस कर्मियों को तीन हजार रुपये इनाम की घोषणा की है। प्रभारी निरीक्षक के मुताबिक गिरोह के चोर दिन में रेकी करके रात में वारदात को अंजाम देते थे। खासकर ग्रामीण इलाकों और खेतों से सटे हुए घरों को टारगेट करते थे ताकि वारदात के बाद भाग सकें।
... और पढ़ें

सचिवालय में नौकरी दिलाने के नाम पर युवतियों से साढ़े चार लाख रुपये ठगे, थमाया फर्जी नियुक्ति पत्र

लखनऊ के सरोजनीनगर थाना क्षेत्र में एक जालसाज ने दो युवतियों को सचिवालय में नौकरी दिलाने के नाम पर साढे़ चार लाख रुपये ठग लिए। जालसाज ने फर्जी नियुक्ति पत्र भी थमा दिया। युवतियां ड्यूटी ज्वॉइन करने सचिवालय पहुंचीं तो उन्हें ठगी का एहसास हुआ। युवतियों को रुपया मांगने पर जान से मारने की धमकी मिली।

सरोजनीनगर निवासी दो युवतियों ने शक्ति पाल सिंह पर साढे़ चार लाख रुपये हड़पने का आरोप लगाया है। शक्ति सिंह ने सचिवालय में नौकरी दिलाने की बात कही थी। उसने अपने को गोंडा का रहने वाला व गोमतीनगर स्थित एक होटल का मालिक बताया था। झांसे में आई एक युवती ने डेढ़ लाख रुपये दे दिये, जबकि दूसरी युवती ने तीन लाख रुपये दिये थे।

दोनों युवतियां जब सचिवालय ड्यूटी ज्वॉइन करने पहुंची तो उन्हें अपने को ठगे जाने की जानकारी हुई। इसके बाद दोनों ने शक्ति सिंह को फोन कर अपनी रकम वापस मांगी तो जान से मारने की धमकी देने लगा। पुलिस जालसाज के खिलाफ  केस दर्ज कर तलाश में जुटी है।
... और पढ़ें

सेवानिवृत्त दरोगा के बेटे पर यौन शोषण का केस, पीड़िता की आपबीती हुई वायरल...

सरोजनीनगर के गौरा विहार निवासी सेवानिवृत्त दरोगा के बेटे अभिषेक वर्मा पर शादी का झांसा देकर आठ महीने तक यौन शोषण करने और आपत्तिजनक वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने का आरोप लगाते हुए केस दर्ज कराया गया है। इंस्पेक्टर आनंद कुमार शाही ने बताया, पीड़िता कानपुर के नौबस्ता इलाके की रहने वाली है। आरोपी से पूछताछ व मामले की जांच की जा रही है। 

पीड़िता का कहना है कि अभिषेक वर्मा से उसकी मुलाकात कानपुर में एक बर्थडे पार्टी में हुई थी। पीड़िता ने उसे बताया कि वह शादीशुदा है और उसका एक बेटा भी है। फिलहाल वह पति से अलग बेटे के साथ रह रही है। यह सुनने के बाद भी अभिषेक ने उसका पीछा नहीं छोड़ा और बातचीत शुरू कर दी।

पीड़िता के मुताबिक वह अभिषेक की बातों के जाल में फंस गई और मंदिर में शादी कर साथ रहने लगी। कभी दोनों कानपुर तो कभी लखनऊ में अभिषेक के घर में रहते। हालांकि, कुछ दिन बाद ही अभिषेक ने उससे दूरी बनानी शुरू कर दी। अभिषेक ने अपने एक दोस्त के जरिये उसे संदेशा भेजा कि अब वह साथ नहीं रहना चाहता है
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X