विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
मात्र 2 दिन शेष ,गंगा दशहरा पर कराएं गंगा आरती एवं दीप दान, पूरे होंगे रुके हुए काम
Puja

मात्र 2 दिन शेष ,गंगा दशहरा पर कराएं गंगा आरती एवं दीप दान, पूरे होंगे रुके हुए काम

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

मुंबई से आए बुखार पीड़ित को ट्रेन से उतार अस्पताल भेजा, मौत

लखनऊ। मुंबई से लौट रहे प्रतापगढ़ निवासी मो. अली खान (50) की शनिवार सुबह सिविल अस्पताल में मौत हो गई। उन्हें तेज बुखार के साथ ही सांस लेने में तकलीफ थी। चारबाग में उन्हें ट्रेन से उतारकर अस्पताल भेजा गया था। मो. अली खान की मौत से अस्पताल में हड़कंप मच गया। शाम को उनकी कोरोना जांच रिपोर्ट निगेटिव आने पर अस्पताल प्रशासन ने राहत की सांस ली। प्रतापगढ़ के रहने वाले मो. अली खान मुंबई से लौट रहे थे। चारबाग स्टेशन पर उनकी हालत गंभीर होने पर शनिवार सुबह उन्हें ट्रेन से उतार लिया गया। आननफानन में उन्हें सिविल अस्पताल की कोविड इमरजेंसी में भेजा गया। वहां पर दो घंटे चले इलाज के बाद सुबह करीब सात बजे उनकी मौत हो गई। इससे वहां पर भर्ती अन्य मरीजों को दूसरी जगह शिफ्ट कराया गया। आननफानन में शव को पैक करके मॉर्च्युरी भेजा गया। निदेशक डॉ. डीएस नेगी ने बताया कि प्रवासी की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद शव तीमारदारों को दे दिया गया। ... और पढ़ें

दो डॉक्टर व एक नर्स समेत चार कोरोना की चपेट में

लखनऊ। राजधानी में दो डॉक्टर व एक नर्स सहित चार लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। डॉक्टर और नर्स हरदोई रोड स्थित चरक हॉस्पिटल के हैं और यहां भर्ती हुए मरीज के संपर्क में आने से संक्रमण की चपेट में आ गए। डॉक्टरों व नर्स को डॉ. राममनोहर लोहिया संस्थान में भर्ती कराया गया है। अस्पताल को बंद कराकर सैनिटाइज कराया जा रहा है। वहीं निजी अस्पताल से एसजीपीजीआई में भर्ती कराए गए प्रतापगढ़ निवासी मरीज के बेटे में भी कोरोना की पुष्टि हुई है। नए मरीजों के साथ ही राजधानी में कुल मरीजों की संख्या 398 हो गई है। इनमें लखनऊ के मूल निवासियों की संख्या 296 है। चरक हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर में अंबेडकर निवासी एक मरीज की 24 मई को डायलिसिस हुई थी। उसे भर्ती कर कोरोना की जांच भी कराई गई थी। अगले दिन मरीज की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। संक्रमण का पता चलते ही आननफानन में डायलिसिस यूनिट को बंद कर दिया गया था। वहीं, 24 डॉक्टर व कर्मचारियों को क्वारंटीन कर प्रोटोकॉल के तहत पांचवें दिन उनकी जांच कराई गई। शनिवार को आई रिपोर्ट में दो डॉक्टर व नर्स पॉजिटिव पाए गए। इनमें से एक डॉक्टर कुर्सी रोड तो दूसरे चौक क्षेत्र के रहने वाले हैं। वहीं नर्स हॉस्टल में रहती हैं। डॉक्टरों व नर्स के संपर्क में आए चिकित्साकर्मियों के लिए सैंपल सीएमओ डॉ. नरेंद्र अग्रवाल ने बताया कि सीएमओ डॉ. नरेंद्र अग्रवाल ने बताया कि फिलहाल अस्पताल को अग्रिम आदेशों तक बंद रखा जाएगा। संक्रमित डॉक्टरों और नर्स के संपर्क में आए चिकित्सा कर्मियों के सैंपल लेकर उन्हें होम क्वारंटीन में रहने की सलाह दी गई है। संपर्क में आए लोगों की भी सूची बनाकर उनकी जांच के निर्देश दिए गए हैं। गौरतलब है कि पहले भी दो बार चरक डायग्नोस्टिक सेंटर की डायलिसिस यूनिट को संक्रमण फैलने की आशंका के मद्देनजर बंद किया जा चुका है। डॉक्टर व नर्स सतर्क थे, इसलिए दूसरों में वायरस फैलने की आशंका कम दोनों डॉक्टरों के परिवारीजनों को भी होम क्वारंटीन में रहने की सलाह दी गई है। यदि किसी में लक्षण मिला तो जांच कराई जाएगी। डॉक्टर पूरी तरह से सावधानी बरत रहे थे और मरीज में पुष्टि होने के बाद खुद क्वारंटीन में थे। ऐसे में उनके जरिए अन्य लोगों में वायरस फैलने की आशंका नहीं है। फिर भी हर स्तर पर एहतियात बरता जा रहा है। राजधानी में पहले भी डॉक्टर आ चुके हैं चपेट में राजधानी में 11 मार्च को गोमती नगर निवासी महिला डॉक्टर पॉजिटिव पाई गई थीं। वह कनाडा से लौटी थीं। वह राजधानी में कोरोना की पहली मरीज थीं। वहीं 18 मार्च को केजीएमयू के एक रेजिडेंट डॉक्टर भी मरीज का इलाज करते वक्त वायरस की चपेट में आ गए थे। अब निजी अस्पताल के 2 डॉक्टर भी वायरस की चपेट में आ गए। वहीं, केजीएमयू की दो नर्स और एक निजी अस्पताल की नर्स भी संक्रमण की चपेट में आ चुकी हैं। ... और पढ़ें

यात्री बढ़ नहीं रहे तो घट रही फ्लाइटों की संख्या

लखनऊ। पर्याप्त यात्री नहीं मिलने से उड़ानों की संख्या घटती जा रही है। अमौसी एयरपोर्ट पर शनिवार को करीब डेढ़ हजार यात्रियों ने ही उड़ान भरी। यात्रियों की संख्या नहीं बढ़ने से एयरलाइन प्रशासन परेशान है। इसे लेकर मंथन शुरू कर दिया है। चौधरी चरण सिंह अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट उत्तर भारत के प्रमुख हवाई अड्डों में शामिल है। यह 50 लाख से डेढ़ करोड़ यात्री प्रतिवर्ष की श्रेणी में हाल ही में शामिल हुआ है। जहां पिछले वित्तीय वर्ष में करीब 55 लाख यात्रियों (घरेलू और अंतरराष्ट्रीय) ने सफर किया था। इतना ही नहीं हवाई अड्डे से डेढ़ सौ के आसपास विमानों का आना जाना प्रतिदिन होता था। पर आजकल कोरोना वायरस के कारण विमानों का संचालन ठप सा हो गया है। अभी भी लखनऊ से दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, बेंगलुरु, हैदराबाद, अहमदाबाद आदि के लिए बहुत ही सीमित संख्या में विमानों का संचालन हो रहा है। विमानन कंपनियों की दलील है कि यात्रियों की संख्या ही कम है। लोग हवाई सफर से कतरा रहे हैं। ऐसे में विमानों की संख्या नहीं बढ़ाई जा सकती है। जिन विमानों का संचालन किया जा रहा है, उसमें भी 50% तक यात्री नहीं मिल पा रहे हैं। ऐसे में खर्च निकालना मुश्किल हो रहा है। अगर पिछले हफ्ते की बात करें तो बमुश्किल अमौसी एयरपोर्ट से 10000 यात्रियों ने ही सफर किया होगा। ... और पढ़ें

उत्तर प्रदेश में कई जगह आंधी-तूफान और बिजली का कहर, 23 लोगों की गई जान

पश्चिमी विक्षोभ के चलते प्रदेश में कई जगह मौसम शनिवार को और बिगड़ गया। बुंदेलखंड और कानपुर के आसपास के जिलों में तेज हवाओं संग बारिश और ओले गिरने से 16 लोगों की जान चली गई। पूरे प्रदेश में आंधी-तूफान के कारण हुए विभिन्न हादसों और बिजली गिरने से कुल 23 लोगों की मौत हुई है। 

कई शहरों में शुक्रवार रात से ही मौसम बिगड़ने से बड़े-बड़े पेड़ और बिजली के पोल गिर गए। इससे शनिवार तक विद्युत आपूर्ति ठप रही। फसलों को भी भारी नुकसान पहुंचा है। आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र, लखनऊ के अनुसार रविवार को भी प्रदेश के कुछ इलाकों में गरज-चमक के साथ आंधी-बारिश हो सकती है। 50 से 60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से आंधी आ सकती है।

बुंदेलखंड और कानपुर के आसपास आंधी-बारिश और बिजली गिरने से उन्नाव में सात, कन्नौज में छह, बांदा और कानपुर शहर में एक-एक व्यक्ति की जान चली गई। कानपुर शहर के बिल्हौर में आंधी-बारिश संग आधा घंटे तक बड़े-बड़े ओले गिरे जिससे फसल चौपट हो गईं। सैकड़ों गाड़ियों के शीशे टूट गए और कई लोग घायल भी हुए। घाटमपुर में भी जमकर ओलावृष्टि हुई। 

कानपुर में शनिवार को एक ही दिन में 54.6 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई। इससे मई माह में बारिश का 43 साल का रिकॉर्ड टूट गया। 1977 में मई में एक ही दिन में 46.6 मिमी बारिश हुई थी। उन्नाव में दोपहर तीन बजे के बाद बारिश के साथ कई स्थानों पर ओलावृष्टि भी हुई। बुंदेलखंड के बांदा में दोपहर बाद मौसम बदल गया और बारिश संग ओले गिरे। 

महोबा में देर शाम को तेज आंधी चलने से बिजली के खंभे और तार टूटने से विद्युत आपूर्ति ठप हो गई। जालौन, हमीरपुर, चित्रकूट में भी बारिश संग कई स्थानों पर ओले गिरे। कानपुर देहात में शनिवार को तेज हवाओं संग बारिश-ओले गिरने से जहां मूंग की फसल को नुकसान पहुंचा, वहीं सब्जी की फसल को फायदा हुआ है। इटावा में शुक्रवार रात साढ़े आठ बजे आई आंधी-बारिश से कई घरों की दीवारें और छप्पर गिर गए। बिजली के एक दर्जन से ज्यादा खंभे टूटने से शहर की आपूर्ति व्यवस्था बाधित हो गई। 

फर्रुखाबाद में बृहस्पतिवार से शुक्रवार रात तक तेज हवा संग बारिश होती रही। फतेहपुर में दिन में तेज धूप और तपिश के बाद शाम पौने पांच बजे तेज हवा के साथ बारिश हुई, जिससे टिन शेड आदि उड़ गए। औरैया में शुक्रवार की रात व शनिवार को सुबह तक बारिश हुई। हरदोई में भी शनिवार को दिन में कई बार बारिश हुई।

मैनपुरी : क्रय केंद्र पर भीग गया 16 सौ क्विंटल गेहूं

मैनपुरी के किशनी क्षेत्र में सरकारी क्रय केंद्र के बाहर रखा 15 सौ क्विंटल गेहूं बारिश में भीग गया। वहीं, अजीतगंज क्षेत्र में सौ क्विंटल गेहूं भीगा। जबकि, बारिश और आंधी की चेतावनी मौसम विभाग की ओर से पहले ही जारी की जा चुकी थी। एडीएम बी. राम ने कहा कि गेहूं भीगने के मामले में जिम्मेदारों की जवाबदेही तय की जाएगी। जो दोषी होगा उस पर कार्रवाई की जाएगी।

आगरा : ताज में आंधी से टूटीं जालियां, गेट हुआ टेढ़ा, पेड़ टूटे
शुक्रवार को ताजनगरी में 124 किमी की रफ्तार से आए बवंडर ने न केवल ताजमहल बल्कि सिकंदरा, एत्माद्दौला, मेहताब बाग समेत कई स्मारकों को काफी नुकसान पहुंचाया है। ताजमहल में संगमरमर और लाल पत्थर की जालियों के अलावा पश्चिमी गेट की चूल टूट जाने से गेट टेढ़ा हो गया, वहीं फैसिलिटी सेंटर में भी छत और मेटल डिटेक्टर टूट गए। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने शनिवार सुबह से ही टीमें भेजकर नुकसान का आकलन कराया।
-
... और पढ़ें
thunderstorm thunderstorm

उत्तर प्रदेश में संक्रमितों की संख्या सात हजार के पार, अमेठी में 43 और नोएडा में मिले 27 मरीज

उत्तर प्रदेश में 10 दिन में बढ़े दो हजार करोना मरीज 
प्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या बीते 10 दिन में दो हजार बढ़ गई है। इस दौरान यह संख्या 5,000 से बढ़कर 7,701 पर पहुंच गई। जबकि यहां पहले केस से एक हजार का आंकड़ा छूने में लगभग डेढ़ महीना लगा था। इसके बाद लगभग डेढ़ महीने में मरीजों की संख्या बढ़कर सात गुना से अधिक हो गई है। कल तक यूपी में कोविड पॉजिटिव मरीजों की संख्या 7701 हो गई है।  

मेरठ में कोरोना से एक और मौत
मेरठ जनपद के मेडिकल कॉलेज में शनिवार देर रात को कोरोना वायरस से 27वीं मौत हो गई। प्राचार्य डॉ. एस. के. गर्ग ने इसकी पुष्टि की है।

बदायूं में दो और मिले कोरोना पॉजिटिव
शनिवार रात आई रिपोर्ट में जिले में दो और कोरोना पॉजिटिव निकले हैं। दोनों कादरचौक के प्रवासी मजदूर बताए जा रहे हैं। अब पॉजिटिव मरीजों की संख्या 23 हो गई है।

लखीमपुर खीरी में युवती संक्रमित
शनिवार रात लखनऊ से आई 30 प्रवासी मजदूरों की जांच रिपोर्ट में एक 18 वर्ष की लड़की कोरोना पॉजिटिव मिली है।अन्य 29 निगेटिव मिले। लड़की परिजनों के साथ दिल्ली से आई थी। वह ग्राम मगरेना, तहसील-मोहम्मदी की निवासी है और वर्तमान में यूडी कॉलेज, तहसील-मोहम्मदी में परिजनों सहित क्वारन्टीन है।

आगरा में दो और कोरोना मरीजों की मौत, पांच नए केस भी मिले 
शनिवार को कोरोना संक्रमित 72 वर्षीय महिला व 60 वर्षीय पुरूष की मौत के बाद अब मरने वालों की संख्या 41 हो गई है। डीएम प्रभु एन ने बताया दोनों संक्रमित श्वास रोग से ग्रस्त थे। वहीं पांच नए संक्रमित मिलने से अब मरीजों का आंकड़ा 892 हो गया है। शनिवार को पांच मरीज डिस्चार्ज भी हुए। अब तक 788 मरीज डिस्चार्ज हो चुके हैं। 63 संक्रमितों का उपचार चल रहा है। जिले में अब 82 हॉटस्पॉट बन चुके हैं। इनमें 41 हॉटस्पॉट एक्टिव हैं जबकि 41 बंद हो चुके हैं।

फिरोजाबाद जिले में शनिवार को 12 नए कोरोना संक्रमित मिले
फिरोजाबाद जिले में अब संक्रमितों का आंकड़ा 248 पर पहुंच गया है। वहीं आज संक्रमित महिला पार्षद की मौत भी हो गई। इससे मृतकों की संख्या 12 हो गई है।

गाजिाबाद में 11 और मरीजों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि  
कोरोना संक्रमण की चपेट में 11 और लोग आ गए हैं। इनमें इंदिरापुरम के आशियाना ग्रीन, वसुंधरा, खोड़ा, सूर्य नगर, वैशाली, कौशांबी, लोनी व लोहिया नगर में मरीजों की पुष्टि हुई है। शनिवार को 211 सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। जिसमें 167 सैंपलों की रिपोर्ट आ आई है, इनमें से 11 मरीज पॉजिटिव पाए गए हैं। जबकि अभी भी विभाग को 508 सैंपलों की जांच रिपोर्ट का इंतजार है। 
बुलंदशहर में मिले 9 कोरोना संक्रमित मरीज
बुलंदशहर के सिकंदराबाद क्षेत्र में मृत कोरोना पॉजिटिव की घरेलू सहायिका के पति समेत तीन की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। नगर के आवास विकास कालोनी प्रथम निवासी अधिवक्ता की पत्नी भी कोरोना संक्रमित पाई गईं। वहीं खुर्जा क्षेत्र में पूर्व में मिले संक्रमित के संपर्क में आने पर तीन अन्य लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके अलावा सिकंदराबाद में एक मेडिकल स्टोर संचालक कोरोना संक्रमित पाया गया है और नगर के देवीपुरा प्रथम निवासी डायलिसिस मरीज में भी कोरोना की पुष्टि हुई है। अब जनपद में कुल संक्रमितों की संख्या 125 पहुंच गई है। इनमें से 83 मरीज ठीक हो चुके हैं, जबकि दो की मौत हो चुकी है और 40 मरीजों का इलाज चल रहा है।

बागपत में दो सिपाही समेत 11 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले
यूपी के बागपत जिले में शनिवार रात को दो सिपाही समेत 11 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। अब जनपद में कुल संख्या 43 पहुंच गई है।

मेरठ में सात और कोरोना संक्रमित मरीज मिले
मेरठ में शनिवार रात को कोरोना के सात और नए संक्रमित मरीज मिले हैं। अब जनपद में संक्रमितों की संख्या 418 हो गई है। इनमें 298 लोग ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं, जबकि 26 लोगों की कोरोना से अब तक मौत हो चुकी है। अब वर्तमान में 94 एक्टिव केस है।

सहारनपुर में नौ नए कोरोना संक्रमित मिले
यूपी के सहारनपुर जिले में शनिवार को नौ और कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। अब जनपद में पॉजिटिव मरीजों की कुल संख्या 243 पहुंच गई है। इनमें से 201 मरीज स्वस्थ्य होकर अपने घर लौट चुके हैं। वर्तमान में 42 सक्रिय मरीज हैं।

गोरखपुर में दो और कोरोना संक्रमित मामले आए सामने
उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में शनिवार को दो और कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इनमें से एक परसा खुर्द उरुवा वहीं दूसरा भरपुरवा पिपराइच का रहने वाला है। इसकी पुष्टि सीएमओ श्रीकांत तिवारी ने की है। उन्होंने बताया कि अब जिले में कुल 76 कोरोना संक्रमित हो गए हैं।

बस्ती में मृतक की रिपोर्ट आई कोरोना पॉजिटिव, सात नए मामले भी आए सामने
बस्ती जिले में शनिवार सुबह बीआरडी मेडिकल कॉलेज से एक मृतक की रिपोर्ट पॉजिटीव आई है। वहीं शनिवार देर शाम एक दूसरी रिपोर्ट में सात प्रवासी मजदूर पॉजिटिव पाए गए हैं। यह सभी ओपेक चिकित्सालय कैली में क्वारंटीन थे। आज जिले से कुल आठ कोरोना संक्रमित मामले सामने आए हैं। यह सभी मुंबई से 23 से लेकर 28 मई के बीच बस्ती आए हैं। जिले में अब कोरोना पॉजिटिव की कुल संख्या 164 हो गई है, जबकि 43 ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं। जिले में अब तक कोरोना से पांच मौत हुई है। जबकि एक्टिव मरीजों की संख्या 116 हो गई है। यह पुष्टि एसीएमओ डा. फख्रेयार हुसैन ने की है।

कन्नौज में 10 और कोरोना संक्रमण के मामले आए सामने 
उत्तर प्रदेश के कन्नौज जिले में शनिवार शाम को आई रिपोर्ट में 10 और मरीजों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके बाद अब जिले में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 55 पहुंच गया है। बता दें कि जिले में शनिवार सुबह भी कोरोना के दो संक्रमित मरीज मिले थे।   

उन्नाव में कोरोना के तीन नए केस
यूपी में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। उन्नाव जिले में शनिवार को तीन और कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए हैं। संक्रमितों में दो महिलाएं व एक 21 वर्षीय युवक शामिल है। तीनों पुरवा तहसील के हिलौली ब्लॉक क्षेत्र के रहने वाले हैं। जिले में अब कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 33 हो गई है। तीन मरीजों की कोरोना से मौत हो चुकी है। छह मरीज ठीक हो चुके हैं। संक्रमितों में 30 प्रवासी हैं।

जिला अस्पताल में तैनात डॉक्टर के पिता में कोरोना
यूपी के इटावा जिले में 73 वर्षीय बुजुर्ग में कोरोना की पुष्टि हुई है। कोरोना मरीज जिला अस्पताल में तैनात डॉक्टर के पिता हैं। इटावा में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 49 पहुंच गई है। जिसमें 43 एक्टिव केस हैं। एक की मौत हो चुकी है। पांच मरीज ठीक होकर घर जा चुके हैं। एक्टिव मरीजों में 28 प्रवासी हैं।

कानपुर में कोरोना का एक और मरीज बढ़ा
कानपुर में शनिवार को कोरोना का एक और मरीज बढ़ गया। 263 सैंपल की रिपोर्ट आई है। जिसमें सुजातगंज निवासी एक व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव निकला है। इसके साथ ही कानपुर में अभी तक के कोरोना पॉजिटिव का आंकड़ा 368 पर जा पहुंचा है। जिसमें से 301 मरीज ठीक हो चुके हैं। शहर में एक्टिव केस की संख्या 56 हो गई है। 

कन्नौज में कोरोना के दो और मरीज बढ़े
यूपी के कन्नौज जिले में शनिवार को कोरोना के दो और मरीज बढ़ गए हैं। एक सीहपुर व दूसरा संक्रमित उमर्दा ब्लॉक के गांव बस्ता निवासी है। जिले में कुल 45 केस सामने आ चुके हैं। इनमें 22 एक्टिव हैं और 23 मरीज ठीक हो चुके हैं।

अमेठी में 36 और कोरोनो वायरस के मामले सामने आए
उत्तर प्रदेश के अमेठी जिले में 36 और कोरोना वायरस के नए मामले सामने आए हैं। जिला मजिस्ट्रेट ऑफिस के मुताबिक इसके बाद जिले में अब 97 एक्टिव केस हो गए हैं। उन्होंने बताया कि शुक्रवार रात को ही यह रिपोर्ट प्राप्त हुई थी। चीफ मेडिकल ऑफिसर आरएम श्रीवास्तव ने कहा कि इन सभी मरीजों को गौरीगंज के L-1 असैदापुर में भर्ती किया गया है। बाकी को अमेठी के जगदीशपुर में राधेश्याम सत्य प्रचार ट्रामा सेंटर में रखा गया है। वहीं 28 लोग कोरोना वायरस को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। 

चित्रकूट में कोरोना का एक और मरीज बढ़ा
यूपी में कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है। शनिवार को चित्रकूट जिले में एक और कोरोना मरीज बढ़ गया। तीन दिन पहले मुंबई से आए एक प्रवासी की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। सीएमओ डॉ. विनोद कुमार यादव ने बताया कि चित्रकूट जिले में अब कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ कर 37 हो गई है।

कासगंज में एक और संक्रमित मिला 
कासगंज में एक और संक्रमित मिला है। संक्रमित का पहले नोएडा के एक अस्पताल में इलाज चल रहा था। कुछ दिन पहले ही वो नोएडा से लौटे थे। 

मेरठ में कोरोना से 26वीं मौत
यूपी के मेरठ में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। आज मेरठ में एक और कोरोना से मौत हो गई है। मेरठ में अब तक कोरोना से 26 लोगों की मौत हो चुकी है। मृतक को कल ही कोरोना की पुष्टि हुई थी। प्राचार्य डॉ. एसके गर्ग ने इसकी पुष्टि की है। मेरठ में अब तक संक्रमित मरीजों की संख्या 400 पहुंच गई है, इनमें 296 स्वस्थ हो चुके हैं। अब 79 केस सक्रिय है।

सहारनपुर में छह ट्रेनों के संचालन के लिए मिला अपडेट
लॉकडाउन का चौथा चरण समाप्त होने की तरफ है। इसके साथ ही रेलवे ने नई ट्रेनों के संचालन की तैयारी शुरू कर दी है। सहारनपुर में कोलकाता से अमृतसर, अमृतसर से हरिद्वार, अमृससर मुंबई रूट के लिए छह गाड़ियों के संचालन के लिए फिलहाल अपडेट मिला है। रेलवे अफसरों और कर्मचारियों ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं।

सिद्धार्थनगर में तीन नए मरीज मिले
सिद्धार्थनगर जिले में शनिवार सुबह 3 और कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इनमें से एक मरीज का इलाज पहले से ही गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में चल रहा है। वहीं और दो पॉजिटिव शोहरतगढ़ और सदर तहसील क्षेत्र रहने वाले हैं। जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 102 हो गई है। इसकी पुष्टि सीएमओ डॉ सीमा राय ने की है।

मिर्जापुर में दो संक्रमित मिले
मिर्जापुर में शनिवार को कोरोना वायरस से दो लोग संक्रमित मिले हैं। जिलाधिकारी सुशील कुमार पटेल ने इसकी पुष्टि की है। दोनों लोग मुंबई से लौटे थे। जिले में अब कोरोना संक्रमित 17 मामले हो चुके हैं। 

गाजीपुर में मिले दो कोरोना वायरस के मरीज
गाजीपुर जिले में शनिवार को कोरोना वायरस के दो और मामले सामने आए हैं। कोरोना संक्रमितों की संख्या अब 103 तक पहुंच गई है। इसमें से 30 मरीज ठीक हो चुके हैं। जबकि 73 मरीज अब भी एक्टिव हैं। सीएमओ डॉ जीसी मौर्य ने इसकी पुष्टि की है। 

फर्रुखाबाद में दो युवक कोरोना पॉजिटिव निकले
यूपी के फर्रुखाबाद जिले में दिल्ली व अहमदाबाद से लौटे दो युवक कोरोना पॉजिटिव निकले हैं। 25 मई को दोनों युवक गांव आए थे। शनिवार को दोनों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जनपद में कोरोना मरीजों की संख्या 33 हो गई है। इसमें से 18 ठीक होकर घर आ चुके हैं।

फिरोजाबाद में कोरोना संक्रमण से एक और मौत
फिरोजाबाद में कोरोना संक्रमण से एक और मौत हो गई है। कोरोना संक्रमित नगर निगम की महिला पार्षद ने शनिवार सुबह दम तोड़ दिया है। आगरा में कराई जांच में उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। जिले में अब तक 11 संक्रमितों की मौत हो चुकी है। जबकि अब तक 236 संक्रमित मिले हैं।

यूपी में 275 नए कोरोना पॉजिटिव, 4410 डिस्चार्ज
यूपी शुक्रवार को 275 नए कोरोना पॉजिटिव सामने आए थे। जिसके बाद प्रदेश में कुल मरीजों की संख्या 7445 हो गई थी। इनमें से 2874 एक्टिव केस हैं। 4410 को डिस्चार्ज किया जा चुका है। जबकि शुक्रवार तक कुल 201 मरीजों की मौत हो चुकी थी। 
... और पढ़ें

लॉकडाउन : अस्पतालों में होने वाले प्रसव में आई 84 फीसदी की गिरावट पर कुछ को मिला जिंदगी भर का दर्द

लॉकडाउन हुआ तो संस्थागत प्रसव भी घट गए। वह भी 84 फीसदी तक। संस्थागत प्रसव घटा तो नॉर्मल डिलीवरी बढ़ गई। सिजेरियन के मामले घट गए। पर, इससे खुश न हों। इसके दुष्परिणाम भी सामने आने लगे हैं। लापरवाही से कराया गया प्रसव जिंदगी भर का दर्द भी दे रहा है।

अंबेडकरनगर की उर्मिला के बच्चे का प्रसव के दौरान सिर दब गया। प्रसव के 15 दिन बाद उसको झटके आने लगे। बच्चे को लेकर परिवारीजन कई अस्पताल गए लेकिन सबने जवाब दे दिया। अब उसे केजीएमयू के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया है। वह बताती हैं कि गर्भ के दौरान अयोध्या के एक निजी अस्पताल में चेकअप कराती थीं। अब वह लॉकडाउन की वजह से अस्पताल नहीं जा पाने की अपनी बेबसी को कोसती हैं। ये दर्द सिर्फ उर्मिला का नहीं है। विशेषज्ञ कहते हैं कि ऐसे बहुत से मामले सामने आ रहे हैं। इनमें सबसे ज्यादा मामले लापरवाही से कराए गए प्रसव से जच्चा को हुए संक्रमण के हैं। वे चिंता जताते हैं कि लॉकडाउन पूरी तरह खत्म होने के बाद ऐसे मामलों में बढ़ोतरी होगी।

लखनऊ के सरकारी अस्पतालों के मार्च और अप्रैल के आंकड़े बताते हैं कि इस दौरान संस्थागत प्रसव में 84 फीसदी तक की गिरावट आई। वजह-गर्भवती को अस्पताल ही नहीं ले जाया जा सका। मार्च में लखनऊ के सरकारी अस्पतालों में करीब 300 प्रसव कराए गए। अप्रैल में यह आंकड़ा 400 के आसपास रहा, जबकि पिछले साल अप्रैल में 2525 संस्थागत प्रसव हुए थे। यानी पिछले साल के मुकाबले महज 16 प्रतिशत का ही संस्थागत प्रसव हुआ। डफरिन अस्पताल में पहले जहां 20 से 25 प्रसव प्रतिदिन होते थे, इन दिनों यह संख्या बमुश्किल 10 होती है। इनमें औसतन सात मामले होते हैं जिनमें प्रसव सिजेरियन के जरिए होते हैं। क्वीन मेरी में प्रसव का आंकड़ा पहले रोजाना 40 से 50 तक का रहा है, जो अब बमुश्किल 20 तक पहुंचता है। यही स्थिति अन्य अस्पतालों की भी है।


 
... और पढ़ें

हर रोज 10 हजार टेस्ट करवाने के लिए टेस्टिंग क्षमता बढ़ाएं: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अफसरों को निर्देश दिया कि प्रदेश की टेस्टिंग क्षमता बढ़ाई जाए जिससे कि प्रदेश में हर रोज 10 हजार कोविड टेस्ट किए जा सकें। उन्होंने माइक्रोप्लानिंग करके टेस्टिंग लैब व्यवस्था को बेहतर बनाने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री शुक्रवार को लखनऊ स्थित अपने सरकारी आवास पर लॉकडाउन की समीक्षा कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि मेडिकल कॉलेजों सहित सभी चिकित्सालयों में डॉक्टर नियमित रूप से राउण्ड लें। अस्पतालों में पीपीई किट, एन-95 मास्क, ट्रिपल लेयर मास्क, ग्लव्स और सैनिटाइजर जैसी संक्रमण से बचाने वाली सामग्री के साथ-साथ स्ट्रेचर और व्हीलचेयर की भी पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। उन्होंने मेडिकल कॉलेजों से नियमित संवाद रखते हुए कार्यों की जानकारी प्राप्त करने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश सरकार सभी कामगारों व श्रमिकों की प्रदेश वापसी के लिए संकल्पबद्घ है। इसके लिए श्रमिकों व कामगारों की सूची अन्य राज्यों से प्राप्त की जाए जिससे कि उनके लिए निशुल्क ट्रेन की व्यवस्था करवाई जाए।

वहीं, उन्होंने ये भी कहा कि उत्तर प्रदेश में कार्यरत विभिन्न राज्यों के कामगार व श्रमिक जो वापस जाने के इच्छुक हों उनकी सकुशल वापसी के लिए सूची विभिन्न राज्य सरकारों को भेजी जाए।
... और पढ़ें

सभी धर्मगुरुओं ने सीएम योगी को लिखा पत्र, मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारे व चर्च खोलने की मांगी इजाजत

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ
लखनऊ में धर्मगुरुओं ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिख कर मंदिर, मस्जिद, चर्च व गुरुद्वारे खोलने की इजाजत मांगी है। उन्होंने कहा कि सरकार लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करने की हिदायत के साथ धार्मिक स्थलों को खोलने की इजाजत प्रदान करे। 

मुख्यमंत्री को भेजे पत्र में धर्मगुरुओं ने कहा कि 70 दिनों से लोग धार्मिक स्थलों में नहीं जा पा रहे हैं। पूजा-अर्चना, इबादत नहीं कर पाने से बहुत से लोग बेचैन हैं। वह डिप्रेशन का शिकार हो गए हैं। धार्मिक स्थल खोलने के लिए सरकार की जो भी शर्तें होंगी, उसी के अनुसार अमल किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि लॉकडाउन-4 खत्म होने वाला है, लेकिन वायरस का प्रकोप कम नहीं हो रहा है। ऐसे मेें लॉकडाउन-5 भी लागू हो सकता है। सरकार ने सुरक्षा व्यवस्था के साथ लॉकडाउन में कुछ ढील की है। बाजार, दफ्तर और दुकानें खोलने की इजाजत दी है। इसलिए सरकार से मांग है कि कुछ शर्तों और सुरक्षा के उपायों की पाबंदी के साथ धार्मिक स्थल भी खोलने की इजाजत दी जाए।
... और पढ़ें

लखनऊः बेखौफ होकर करें शॉपिंग, हर संभव मदद कर रहे व्यापारी

आप यदि लखनऊ के आलमबाग बाजार जाकर कुछ खरीदारी करने की सोच रहे हैं तो बेफिक्र होकर जाएं। व्यापारियों ने दुकानों पर ग्राहकों की सुरक्षा, उन्हें खरीदारी के लिए संक्रमणमुक्त माहौल देने के व्यापक इंतजाम किए हैं। हालांकि इंतजामों की सफलता ग्राहकों की अपनी समझदारी और उसमें सहयोग करने पर भी निर्भर करती है। कारोबारियों का कहना है कि हम और हमारा स्टाफ भी यहां से होकर घर जाते हैं, सभी को अपनी जान की परवाह है। ऐसे में हम ग्राहकों की परवाह कैसे न करेंगे। आलमबाग बाजार में लेफ्ट-राइट फॉर्मूले पर शुक्रवार को एक पट्टी की ही दुकानें खुली थीं। अमर उजाला संवाददाता ने वहां की दुकानों पर सुरक्षा इंतजामों का जायजा लिया। 
... और पढ़ें

श्रमिक स्पेशलः घंटों देरी से पहुंच रहीं ट्रेनें, कहीं खाने को मिला तो कहीं पानी भी नहीं

स्पेशल ट्रेनों की लेट-लतीफी मजदूरों के लिए परेशानी का सबब बनी हुई है। गाड़ियां घंटों की देरी से चारबाग रेलवे स्टेशन पहुंच रही हैं। वहीं मजदूरों को रास्ते में खाना और पानी भी पर्याप्त मात्रा में नहीं मिल रहा है। शुक्रवार को भी कई श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चारबाग रेलवे स्टेशन पहुंची। 

गत बुधवार को गोवा के मडगांव से सुपरफास्ट स्टेशल ट्रेन शाम सात बजे रवाना हुई थी। लेकिन ट्रेन जब भुसावल पहुंची तो उसे रोक दिया गया। जबकि पीछे से आने वाली गाड़ियों को गुजारा जाता रहा। इस ट्रेन को महज 36 घंटे में चारबाग रेलवे स्टेशन पहुंच जाना चाहिए था, लेकिन देरी की वजह से 41 घंटे लग गए। 

इस ट्रेन से बस्ती जा रहे मजदूरों ने शिकायत की कि झांसी तक खाने-पीने की व्यवस्था थी, लेकिन उसके बाद चारबाग तक पीने का पानी तक नहीं मिला। चेन्नई से गोरखपुर जाने वाली श्रमिक स्पेशल ट्रेन शुक्रवार सुबह झांसी से आगे बढ़ी, मजदूरों ने रेलवे प्रशासन से शिकायत की कि इटारसी के बाद से कुछ खाने तक को नहीं मिला। पानी भी नसीब नहीं हुआ।  04871 स्पेशल ट्रेन में यात्रा कर रहे मोहम्मद शमीम ने बताया कि रास्ते में खाने के पैकेट दिए गए, पर पानी कहीं नहीं मिला।
 
... और पढ़ें

लखनऊ के योगेश ने लिखे थे ये यादगार गाने, जानें कैसे शुरू हुआ सफर

ये पंक्तियां बॉलीवुड के मशहूर गीतकार योगेश ने लखनऊ के अपने प्रिय मित्र सत्य प्रकाश तिवारी ‘सत्तू’ के लिए लिखी थीं, जो बाद में सुपरहिट फिल्म आनंद के गीत में शामिल हुईं। यही मित्र उनके लिए जीवन में सफलता की सीढ़ी भी बने। पढ़िए लखनऊ से मुम्बई पहुंचने की कहानी...

बॉलीवुड  के मशहूर गीतकार योगेश गौड़ नहीं रहे। 19 मार्च 1942 को लखनऊ में जन्मे योगेश जी के संघर्ष की कहानी लखनऊ से शुरू हुई और उन्हें मुंबई ले गई। वे आखिरी बार वर्ष 2015 में आए थे, जब उन्हें यूपी सरकार की ओर से ‘यशभारती’ से नवाजा गया।

तभी ज्यादातर लखनऊ वाले यह जान पाए कि गीतकार योगेश यहीं के निवासी थे। जब वे लखनऊ के डीएवी कॉलेज में बीए फाइनल कर रहे थे, तभी पिता का स्वर्गवास हो गया। पिता पीडब्ल्यूडी लखनऊ में इंजीनियर थे।

इसके बाद उन्होंने कॉलेज छोड़ दिया। नौकरी के लिए मुंबई आने का फैसला किया। तकरीबन पिछले 30 साल से योगेशजी के संपर्क में रहने वाले देवमणि पांडेय ने बताया कि बीते 12 मई को ही उनकी मुलाकात उनसे हुई थी। उन्होंने बताया कि वह पिता के निधन के बाद मित्र सत्यप्रकाश सत्तू के साथ मुंबई आ गए।
... और पढ़ें

सावधान! बोर्ड परीक्षा में अंक बढ़ाने के नाम पर फोन कर मांग रहे रुपये

सीबीएसई की हाईस्कूल-इंटरमीडिएट की उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन का काम शिक्षकों के घर में शुरू हुआ तो अभिभावकों के पास उनके बेटा-बेटी के अंक बढ़ाने के नाम पर रुपये मांगने वालों के फर्जी कॉल आने लगे। कॉल करने वाले खुद को बोर्ड से संबंधित अधिकारी व कर्मचारी बता रहे हैं।

बोर्ड ने एक सार्वजनिक सूचना जारी कर सभी अभिभावकों को ऐसे फर्जी फोन कॉल से सचेत रहने को कहा है। बोर्ड ने साफ किया है कि बोर्ड कभी भी रुपये लेकर नंबर बढ़ाने का दावा नहीं करता। लॉकडाउन की वजह से मार्च में सीबीएसई बोर्ड की जो परीक्षाएं संचालित की जा रही थीं, वह स्थगित कर दी गई थीं।

वहीं मूल्यांकन कार्य को भी स्थगित कर दिया गया। बाद में जब लॉकडाउन की अवधि और बढ़ी तो बोर्ड ने उत्तर पुस्तिकाओं को शिक्षकों के घर भेजकर मूल्यांकन कराने का निर्णय लिया। वहीं बोर्ड ने स्थगित की गईं परीक्षाओं को एक जुलाई से आयोजित कराने का निर्णय लिया। इस दौरान मौके का फायदा उठाते हुए कुछ अराजक तत्व व संदिग्ध लोगों ने अभिभावकों को फर्जी फोन कॉल करना शुरू कर दिया है।
... और पढ़ें

61 साल बाद बारिश ने तोड़ा रिकॉर्ड

लखनऊ। शनिवार शाम आंधी के बाद आई बारिश ने 61 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया। मई के एक दिन में 1959 के बाद ऐसी बारिश नहीं हुई। रुक-रुककर डेढ़ घंटे तक चले झमाझम बारिश के दौर से पूरा शहर तरबतर हो गया। मौसम विभाग के आंकड़ों के मुताबिक 28 मई 1959 के बाद मई के एक दिन में ऐसी बारिश नहीं हुई। वर्ष 2010 में एक ही दिन में 30.4, 2011 में एक ही दिन में 23.2 मिमी. बारिश हुई थी। मौसम के कई रंग सुबह से दोपहर तक बादलों की आवाजाही होती रही। शाम 4 बजे मौसम का मिजाज तेजी से बदला और 25 से 55 किमी. प्रति घंटे की रफ्तार से चली आंधी के झोंकों के साथ काले बादलों ने डेरा जमाना शुरू कर दिया। 4.30 बजते तक तो लगने लगा जैसे रात हो गई। सड़कों पर वाहनों को हेडलाइट जलानी पड़ी। ... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us