बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
कन्या राशि में चंद्रदेव, सात राशि वालों के बनेंगे बिगड़े काम
Myjyotish

कन्या राशि में चंद्रदेव, सात राशि वालों के बनेंगे बिगड़े काम

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

अयोध्या: समाजसेवी बने कोतवाल ने तिहुरा मांझा गांव लिया गोद, शिक्षा, स्वास्थ्य सहित इन मुद्दों पर होगा काम

कोरोना काल में अभाव की जिंदगी जी रहे ग्रामीणों की मदद करने के लिए अयोध्या कोतवाल अशोक सिंह आगे आए हैं। उन्होंने मानवता का फर्ज निभाते हुए कोतवाली क्षे...

12 जून 2021

विज्ञापन
Digital Edition

इंतजार खत्म: 2036 युवाओं को सरकारी नौकरी की सौगात, कृषि प्राविधिक भर्ती का अंतिम चयन परिणाम जारी

अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने कृषि प्राविधिक के 2059 पदों की भर्ती का अंतिम चयन परिणाम जारी कर दिया है। आयोग ने अंतिम तौर पर 2036 अभ्यर्थियों को नियुक्ति के लिए चयनित किया है। 20 का परिणाम रोक लिया गया है। 

आयोग के सचिव आशुतोष मोहन अग्निहोत्री ने बताया है कि वर्ष-2018 में अधीनस्थ कृषि सेवा वर्ग-3 प्राविधिक सहायक (ग्रुप- सी) के 2059 पदों के लिए भर्ती निकाली गई थी। इनमें से 1031 पद अनारक्षित, 432 अनुसूचित जाति, 41अनुसूचित जनजाति तथा 555 अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए थे। लिखित परीक्षा व अर्हता, अभिलेख आदि के परीक्षण के बाद 2036 अभ्यर्थियों के अंतिम चयन परिणाम को मंजूरी दी गई है। 20 अभ्यर्थियों का परिणाम रोक लिया गया है। इनका परिणाम आयोग की विभिन्न शर्तों व जांच प्रक्रिया के अधीन होगा। ओबीसी कोटे में तीन पद के लिए अभ्यर्थी नहीं मिल सके। ये पद खाली रह गए।  

उन्होंने बताया कि 49 अभ्यर्थियों के परिणाम विभिन्न शर्तों के साथ घोषित किए गए हैं। इनका चयन परिणाम आयोग की शर्तों व अभ्यर्थियों द्वारा प्रस्तुत किए जाने वाले प्रपत्रों व प्रमाण पत्रों के अधीन होगा। आयोग के सचिव ने बताया 2036 चयनित अभ्यर्थियों में अनारक्षित के 1022, अनुसूचित जाति के 428, अनुसूचित जनजाति के 41 तथा अन्य पिछड़ा वर्ग के 545 अभ्यर्थी शामिल हैं।

जिन 20 अभ्यर्थियों का रिजल्ट रोका गया है उनमें अनारक्षित के 9, अनुसूचित जातियों के 4 तथा अन्य पिछड़ा वर्ग के 7 पद शामिल हैं। अग्निहोत्री ने बताया है कि चयनित अभ्यर्थियों के परिणाम से संबंधित लिखित परीक्षा के प्राप्तांक आयोग की वेबसाइट पर यथासमय उपलब्ध कराए जाएंगे। 2036 पदों पर चयनित अभ्यर्थियों का परीक्षा परिणाम व उससे संबंधित कटऑफ आयोग की वेबसाइट पर अपलोड कर दिया गया है।
... और पढ़ें
UPSSSC UPSSSC

लखनऊ विश्वविद्यालय: दो से 12 अगस्त तक होंगी परीक्षाएं, यूनिवर्सिटी ने जारी किया परीक्षा कार्यक्रम

लखनऊ विश्वविद्यालय की स्नातक स्तर की परीक्षाएं 2 से 12 अगस्त तक होगी। वहीं, डॉ. राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय अयोध्या की स्नातक एवं स्नातकोतर परीक्षाएं 21 जुलाई से 13 अगस्त तक होंगी। कोरोना संक्रमण के मद्देनजर विश्वविद्यालयों की परीक्षाओं को लेकर उच्च शिक्षा विभाग की ओर से जारी दिशा-निर्देश के आधार पर प्रदेश के 15 राज्य विश्वविद्यालयों ने परीक्षा कार्यक्रम जारी कर दिया है।

लखनऊ विश्वविद्यालय में स्नातक स्तर की परीक्षाएं विषयवार प्रश्न पत्रों को संकलित कर वस्तुनिष्ठ प्रश्न पत्र के आधार पर कराई जाएगी। स्नातक स्तर की परीक्षा 2 से 12 अगस्त तक होगी। कला, वाणिज्य, विज्ञान, शिक्षा एवं ललित कला संकाय की प्रथम सेमेस्टर दिसंबर 2020 की परीक्षा अभी तक नहीं हो सकी है। प्रथम एवं द्वितीय सेमेस्टर के विद्यार्थियों को उनके आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर बिना परीक्षा के प्रोन्नत किया जाएगा। द्वितीय से तृतीय सेमेस्टर, चतुर्थ से पांचवें सेमेस्टर और छठे से सातवें सेमेस्टर और आठवें से 9वें सेमेस्टर में प्रोन्नत किया जाएगा।

डॉ. राम मनोहर लोहिया राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय लखनऊ में बीए, एलएलबी (ऑनर्स), एलएलएम (एक वर्षीय) पाठ्यक्रम में विद्यार्थियों की सत्र 2020-21 की कुछ परीक्षाएं हो चुकी है और कुछ परीक्षा ऑनलाइन कराई जा रही है। अंतिम वर्ष के विद्यार्थियों के घोषित प्रोविजिन परीक्षा परिणाम का कोलेशन चल रहा है। जून के अंत तक अंतिम परीक्षा परिणाम घोषित कर विद्यार्थियों को ग्रेड शीट्स प्रकाशित करने की कार्यवाही की जाएगी।

डॉ.राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय अयोध्या में स्नातक और स्नातकोतर परीक्षाएं 21 जुलाई से 13 अगस्त के बीच होंगी।

ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती ऊर्दू-अरबी-फारसी विश्वविद्यालय लखनऊ
ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती ऊर्दू-अरबी-फारसी विश्विविद्यालय लखनऊ में सभी विभागों का ऑनलाइन आंतरिक मूल्यांकन 5 से 8 जुलाई तक कराया जाएगा। स्नातक, स्नातकोतर एवं डिप्लोमा पाट्यक्रमों के अंतिम सेमेस्टर की मुख्य परीक्षा 27 जून को रखी गई है। दो पालियों में होने वाली परीक्षा में वस्तुनिष्ठ प्रश्न पूछे जाएंगे।

स्नतक द्वितीय, चतुर्थ और षष्ठम सेमेस्टर, स्नातकोतर द्वितीय, चतुर्थ सेमेस्टर, डिप्लोमा द्वितीय सेमेस्टर की परीक्षा का परिणाम अगस्त के पहले सप्ताह में जारी किया जाएगा।
... और पढ़ें

यूपी चुनाव 2022: भाजपा कार्यालय पहुंचे जितिन प्रसाद बोले- क्षेत्रीय दल कभी प्रदेश का भला नहीं कर सकते

भाजपा में शामिल होने के बाद पहली बार प्रदेश कार्यालय पहुंचे जितिन प्रसाद ने यूपी चुनाव को लेकर सपा पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय दल कभी प्रदेश का भला नहीं कर सकते क्योंकि यहां पर नेता ही पार्टी होता है पार्टी से निकलकर कोई नेता नहीं बनता है। यहां से वह मुख्यमंत्री आवास पहुंचे जहां उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की।

उन्होंने भाजपा में अपनी भूमिका पर कहा कि भाजपा का प्रदेश नेतृत्व, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जो भी कार्य देंगे मैं उसे पूरी निष्ठा और ईमानदारी के साथ करूंगा।

उन्होंने कहा कि मैं अभी कुछ नहीं बोलना चाहता आने वाले समय में मेरा काम बोलेगा। लखनऊ में भाजपा मुख्यालय में पहुंचने पर पहले वह पार्टी कार्यालय में बने मंदिर में माथा टेकने गए फिर पत्रकारों से बात की। पार्टी कार्यालय में उनका स्वागत भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने किया।

बता दें कि जितिन कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए हैं। ऐसा कहा जा रहा है कि जितिन के भाजपा में शामिल होने से भाजपा ब्रह्मण वोट बैंक को अपने पाले में लाने में कामयाब हो जाएगी। वह लंबे समय तक कांग्रेस में रहे और यूपीए सरकार के दौरान केंद्र में मंत्री भी रह चुके हैं।
... और पढ़ें

यूपी: 69000 सहायक अध्यापक भर्ती के रिक्त पदों को भरने की तैयारी शुरू, पूरा कार्यक्रम जारी

बेसिक शिक्षा परिषद में 69000 सहायक अध्यापक भर्ती में रिक्त रहे पदों पर प्रतीक्षा सूची से भरा जाएगा। करीब 5 हजार से अधिक अभ्यर्थियों को 30 जून को नियुक्ति पत्र वितरित किए जाएंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मंजूरी के बाद शासन ने कार्यक्रम जारी किया है।

एनआईसी की ओर से चयन और जिला आवंटन की सूची 26 जून को जारी की जाएगी। 28 से 29 जून तक जिलों में काउंसलिंग और दस्तावेजों की जांच होगी। 30 जून को नियुक्ति पत्र जारी किए जाएंगे।

बता दें कि भर्ती में खाली पदों को भरे जाने की मांग को लेकर बड़ी संख्या में शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थियों ने पिछले दिनों सचिव उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद पर धरना प्रदर्शन किया था।

अभ्यर्थियों का कहना था कि 69 हजार शिक्षक भर्ती में लगभग छह हजार पद खाली हैं। प्रदेश के बेसिक शिक्षा मंत्री ने  23 मार्च को इन खाली पदों को एक महीने में भरने का आश्वासन दिया था। एक महीने का आश्वासन अब तीन महीने बीत गया है। अभी तक प्रदेश सरकार की ओर से इस बारे में कोई पहल नहीं की गई।

घेराव कर रहे अभ्यर्थियों का कहना था कि बेसिक शिक्षा परिषद की ओर से अभी तक खाली पदों का आंकड़ा तक तैयार नहीं किया जा सका। परिषद की ओर से आंकड़ा तैयार करने के साथ काउंसलिंग का कार्यक्रम जारी करना चाहिए। घेराव कर रहे अभ्यर्थियों का कहना था कि मुख्यमंत्री एवं बेसिक शिक्षा मंत्री के निर्देश के बाद भी अधिकारी पूरे मामले में हीलाहवाली कर रहे हैं।

बता दें कि शिक्षक भर्ती आरक्षण की गड़बड़ी के आरोपों को लेकर भी चर्चा में आ चुकी है। अभ्यर्थियों का कहना था कि यदि प्रदेश सरकार ने जल्द जांच करवाकर चयन से बाहर हो गए पिछड़े वर्ग के अभ्यर्थियों को नियुक्ति नहीं दी गई।

अभ्यर्थियों का आरोप था कि 69000 शिक्षक भर्ती में पिछड़े अभ्यर्थियों के लगभग 6000 पदों पर घोटाला हुआ है। 2019 में आयोजित इस भर्ती प्रक्रिया में कई लाख अभ्यर्थी शामिल हुए थे, जिसमें से लगभग एक लाख 40 हजार अभ्यर्थी पास हुए थे।
... और पढ़ें

यूपी: बेटे को सपा द्वारा जिला पंचायत अध्यक्ष का उम्मीदवार घोषित करते ही अंबिका चौधरी ने बसपा छोड़ी

प्रतीकात्मक तस्वीर
पूर्वांचल के कद्दावर नेता अंबिका चौधरी के बेटे आनंद चौधरी को समाजवादी पार्टी ने जिला पंचायत अध्यक्ष का उम्मीदवार बनाया है। ऐसे में अम्बिका चौधरी ने बसपा से इस्तीफा दे दिया है। जल्द ही अंबिका चौधरी अपने समर्थकों के साथ समाजवादी पार्टी की सदस्यता ले सकते हैं।

सपा के बलिया जिला अध्यक्ष राज मंगल यादव ने बताया कि राष्ट्रीय अध्यक्ष और प्रदेश अध्यक्ष की अनुमति के बाद चौधरी को उम्मीदवार घोषित किया गया है। प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम ने आनंद चौधरी को पार्टी की सदस्यता भी दिला दी है।

वहीं, बसपा के लिए यह बड़ा झटका है। विधायकों की बगावत के बाद पूर्वांचल के एक और नेता का साथ छूटना पार्टी के लिए मुश्किलें बढ़ाने वाला माना जा रहा है।
... और पढ़ें

12वीं के परीक्षा परिणाम: मूल्यांकन नीति पर कोई हाईस्कूल तो कोई इंटर के अंकों को तरजीह देने के पक्ष में

यूपी बोर्ड कक्षा 12 के परीक्षा परिणाम के लिए शासन ने जो नई मूल्यांकन नीति तैयार की है उसको लेकर शिक्षकों और स्कूलों के बीच अलग-अलग राय है। कोई हाईस्कूल के अंक को ज्यादा वेटेज देने के पक्ष में है तो कोई इंटर के अंकों को। हर किसी के पास अपनी राय को लेकर अपना-अपना तर्क है।

यूपी बोर्ड ने इंटर के परीक्षा परिणाम के लिए शासन ने जो मूल्यांकन नीति तैयार की है उसके अनुसार कक्षा 10 के बोर्ड परीक्षाओं का 50 प्रतिशत वेटेज लिया जाएगा। वहीं, कक्षा 11 के परीक्षाओं का 40 प्रतिशत और इंटर की प्री-बोर्ड परीक्षाओं का महज 10 प्रतिशत ही वेटेज लिया जाएगा।

कक्षा 10 की बोर्ड परीक्षाओं को ज्यादा वेटेज देना और इंटर की प्री-बोर्ड परीक्षाओं को कम वेटेज देने को लेकर स्कूलों के भी अपने-अपने तर्क हैं। कुछ शिक्षकों का मानना है कि 10वीं की बोर्ड परीक्षाओं को ज्यादा वेटेज देना मेधावियों के हित में होगा। क्योंकि वे एक बार बोर्ड परीक्षा की प्रक्रिया से गुजर चुके हैं। वहीं, कुछ का मानना है कि जब इंटर का परीक्षा परिणाम जारी किया जाना है तो इंटर के अंकों का वेटेज ज्यादा होना चाहिए।
... और पढ़ें

यूपी: दो जुलाई से प्रारंभ होंगी राज्य विश्विद्यालयों की परीक्षाएं, प्रदेश सरकार ने जारी किया कार्यक्रम

यूपी: 24 घंटे में 294 नए संक्रमित मिले, सीएम योगी ने दी राहत, सोमवार से कोरोना कर्फ्यू में अब रात 9 बजे तक छूट

यूपी में कोरोना को नियंत्रित करने का योगी मॉडल कामयाब साबित हुआ है। प्रदेश में बीते 24 घंटे में कोरोना के सिर्फ 294 नए मामले सामने आए हैं। वहीं, सक्रिय मामलों की संख्या भी अब पांच हजार से कम रह गई है। शुक्रवार को प्रदेश में दो लाख 73 हजार कोरोना टेस्ट किए गए इसके बावजूद संक्रमितों की संख्या 300 से भी कम रही।

प्रदेश में अब तक 5.5 करोड़ कोरोना के टेस्ट हो चुके हैं। वहीं, 2.51 करोड़ लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है। इनमें से 55 लाख युवा हैं। बता दें कि प्रदेश सरकार टेस्ट, ट्रेस और ट्रीट की रणनीति पर काम कर रही है जिससे कोरोना को नियंत्रित करने में भारी कामयाबी मिली है।

कोरोना वायरस नियंत्रण में ढिलाई बर्दाश्त नहीं : योगी
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोरोना वायरस के नियंत्रण में किसी तरह की ढिलाई बर्दाश्त नहीं की जाएगी। कोविड प्रोटोकाल का हर हाल में पालन कराया जाए। पेट्रोलिंग के साथ सैनिटाइजेशन पर जोर दिया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस भी जिले में पांच सौ से अधिक एक्टिव केस हैं वहां तत्काल कोरोना कर्फ्यू में छूट समाप्त कर दी जाए। वह शनिवार को सरकारी आवास पर कोविड 19 की समीक्षा कर रहे थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस कमजोर हुआ है, लेकिन अभी समाप्त नहीं हुआ है। इसलिए थोड़ी लापरवाही भी भारी पड़ सकती है। बाजारों आदि सार्वजनिक स्थानों पर भीड़ एकत्र न होने पाए। इसलिए लगातार पेट्रोलिंग कराई जाए। शनिवार व रविवार को साप्ताहिक बंदी के दौरान सैनिटाइजेशन एवं फॉगिंग अनिवार्य रूप से कराई जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि 26 जून से बच्चों को निगरानी समितियों के माध्यम से निशुल्क मेडिसिन किट उपलब्ध कराई जाएगी। इसकी नियमित मॉनीटरिंग की जाए। बैठक में मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि कस्टमाइज्ड क्रैश कोर्स की रणनीति बनाई जाए। प्रधानमंत्री की ओर से फ्रंटलाइन वर्कर्स के लिए इस कोर्स को शुरू किया गया है। पहले चरण में लगभग 10 हजार फंटलाइन वर्कर प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं।

टीकाकरण बढाएं
मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि टीकाकरण का ग्राफ बढ़ाया जाए। ग्रामीण इलाकों में ग्राम पंचायत तथा नगरीय क्षेत्रों में वार्ड को केंद्र बिंदु बनाकर टीकाकरण कराया जाए। 21 जून तक छह लाख लोगों को प्रतिदिन टीके की डोज दी जाए। एक जुलाई से प्रतिदिन 10 लाख लोगों का टीकाकरण होगा। सप्ताहभर बाद इसे बढ़ाकर 12 लाख किया जाएगा। अब तक 2.5 करोड़ से अधिक लोगों को टीका लग चुका है। 

ऑक्सीजन संयंत्र की संख्या हुई 533
प्रदेश में ऑक्सीजन संयंत्र की संख्या लगातार बढ़ाई जा रही है। अब इनकी संख्या बढ़कर 533 हो गई है। इसमें पीएम केयर्स के सहयोग से 129 ऑक्सीजन संयंत्र तैयार किए गए हैं। 24 घंटों में राज्य में 305 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति की गई है। 

55.81 लाख मीट्रिक टन गेहूं खरीद
बैठक में मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि अब तक करीब 12 लाख 80 हजार किसानों से 55.81 लाख मीट्रिक टन गेहूं खरीदा गया है। इसी तरह सभी औद्योगिक गतिविधियां सुचारू रूप से संचालित है। निर्माण परियोजनाओं की गति बढाई जा रही है। मुख्यमंत्री ने जनपद वाराणसी में शाही नाले से संबंधित निर्माण कार्यों को तेजी से पूर्ण करने के निर्देश दिए।

सोमवार से कोरोना कर्फ्यू में अब रात 9 बजे तक छूट
कोविड संक्रमण के दृष्टिगत बेहतर होती स्थिति के बीच 21 जून से सोमवार से शुक्रवार प्रातः 07 बजे से रात्रि 09 बजे तक कोरोना कर्फ्यू में छूट दी जाएगी। इस अवधि में कोविड प्रोटोकॉल के साथ बाजार, मॉल, रेस्टोरेंट पार्क, आदि खुल सकेंगे। धर्मस्थलों पर एक समय मे अधिकतम 05 लोगों की उपस्थिति हो सकती है, शादी समारोहों में अधिकतम 50 लोगों की सहभागिता की अनुमति दी जाए। सब्जी मंडिया खुले स्थानों पर संचालित की जाएं। स्टेडियम, जिम, क्लब, शिक्षण कार्य अभी बंद रखे जाएं। नई गाइडलाइन के संबंध में विस्तृत दिशा-निर्देश आज ही जारी कर दिए जाएं।

 500 से ज्यादा कोरोना मरीज होते ही खत्म होगी कर्फ्यू से छूट
सभी जिलों में संक्रमण की दैनिक स्थिति पर सतत नजर रखी जाए। यदि किसी जनपद में एक्टिव कोरोना मरीजों की संख्या 500 से अधिक होती है तो कोरोना कर्फ्यू में दी जा रही छूट तत्काल समाप्त कर दी जाए।

... और पढ़ें

जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव: जेपीएस राठौर जिला और क्षेत्र पंचायत अध्यक्ष चुनाव के प्रभारी नियुक्त

भाजपा के प्रदेश महामंत्री जेपीएस राठौर को जिला पंचायत और क्षेत्र पंचायत अध्यक्ष चुनाव के लिए प्रभारी नियुक्त किया गया है। पार्टी सभी 75 जिलों में चुनाव के लिए प्रदेश सरकार के एक मंत्री और एक पार्टी पदाधिकारी को भी प्रभारी नियुक्त करेगी।

भाजपा पूरी ताकत के साथ सभी 75 जिला पंचायतों और 826 क्षेत्र पंचायतों में अध्यक्ष का चुनाव लड़ रही है। पार्टी ने जिला पंचायत अध्यक्ष के लिए उम्मीदवारों का चयन कर लिया है, औपचारिक घोषणा बाकी है। वहीं क्षेत्र पंचायत अध्यक्ष के उम्मीदवारों के लिए जिलों और क्षेत्रों से पैनल मांगा गया है।

पार्टी ने जिला पंचायत अध्यक्ष और क्षेत्र पंचायत अध्यक्ष चुनाव की कमान जेपीएस राठौर को सौंपी है। राठौर इससे पहले लोकसभा चुनाव 2014, विधानसभा चुनाव 2017, लोकसभा चुनाव 2019 में भी चुनाव प्रबंधन के प्रभारी रहे हैं।

इससे पहले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष विजय बहादुर पाठक को प्रभारी नियुक्त किया गया था।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us