विज्ञापन
विज्ञापन
घर बैठे बनवाएं फ्री जन्मकुंडली, जानें कब मिलेगा नौकरी में प्रमोशन
Astrology

घर बैठे बनवाएं फ्री जन्मकुंडली, जानें कब मिलेगा नौकरी में प्रमोशन

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

मध्यप्रदेश में कोरोना ने पकड़ी रफ्तार, शिवरात्रि पर 25 हजार श्रद्धालु ही कर सकेंगे महाकाल के दर्शन

मध्यप्रदेश में एक फिर कोरोना वायरस ने रफ्तार पकड़ ली है। दैनिक मामलों की संख्या में भी बढ़ोतरी दर्ज की गई है। प्रदेश में बुधवार को कोरोना संक्रमण के 417 नए मामले सामने आए। हालत बिगड़ते देख सूबे के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने महाशिवरात्रि पर्व के आयोजन को सीमित करने के निर्देश दिए हैं। इस बार महाकाल मंदिर में भी 25 हजार श्रद्धालुओं को ही प्रवेश मिल सकेगा। प्रदेश के अन्य बड़े मंदिरों में भी श्रद्धालुओं की संख्या सीमित रखी जाएगी। 

मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण के 417 नए मामले आने के साथ ही प्रदेश में संक्रमितों का आंकड़ा 2,62,850 पहुंच गया है। 417 नए मामलों में से सबसे ज्यादा 156 इंदौर और 90 भोपाल में मिले। अभी 3097 मरीज भर्ती हैं, जिनमें से 1123 इंदौर में और 567 भोपाल में हैं। 18 से 24 फरवरी के बीच प्रदेश में 1980 नए केस मिले थे, जो 25 फरवरी से 3 मार्च के बीच 28 प्रतिशत बढ़कर 2537 हो गए। भोपाल में यह रफ्तार 24 प्रतिशत है। संक्रमण की तेजी ने सरकार को अलर्ट कर दिया है।




महाशिवरात्रि को लेकर विशेष सावधानी 
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्थिति की समीक्षा कर सभी जिलों को निर्देश दिए कि सात दिन बाद महाशिवरात्रि पर्व है, इसलिए धार्मिक आयोजनों में लोगों की संख्या सीमित रखी जाए। उज्जैन में आमतौर पर महाशिवरात्रि पर्व पर एक लाख से अधिक श्रद्धालु जुटते हैं। वहीं इस साल अनुमानित संख्या 20 से 25 हजार तक रखी जा सकती है। बाकी बड़े मंदिरों में भी श्रद्धालु सीमित रखने के निर्देश दिए गए हैं।
... और पढ़ें

मध्यप्रदेश: राजघराने की बेटी से मांगा गया दहेज, ससुरालवालों पर मुकदमा दर्ज

आए दिन दहेज के नाम पर बहू को प्रताड़ना की खबर आती रहती है। ऐसा नहीं है कि इससे सिर्फ गरीब या मध्यवर्ग परिवार के लोग ही पीड़ित हैं। मध्यप्रदेश के एक राजघराने से ऐसा ही मामला सामने आया है। यहां एक राजघराने की बेटी से उसके ससुराल वालों ने पिता की विंसेंट रॉल्स रॉयस कार और मुंबई में फ्लैट मांग कर डाली।

खबरों के मुताबिक, विवाहिता सिंधिया राजघराने से ताल्लुक रखती है। सिंधिया परिवार के दिवंगत सरदार संभाजी राव आंग्रे की पौत्री कात्यायनी ने अपने पति अर्जुन काक, ससुर रिटायर्ड कर्नल अनिल काक, सास मंगेश काक पर दहेज एक्ट और धमकाने के आरोप में एफआईआर दर्ज कराई है। यह रिपोर्ट महिला थाने में दर्ज कराई गई है।

कात्यायनी ने आरोप लगाया कि पति ने पहले के दिए हुए करोड़ों रुपये और सोना ले लिया है। अब वह पिता की सन् 1951 मॉडल की विंसेंट रॉल्स रॉयस कार और मुंबई में एक फ्लैट मांग रहा है। कात्यायनी की शादी साल 2018 में अर्जुन काक की से हुई थी। शादी के बाद से ही दोनों परिवार वालों के बीच अनबन है।

जानिए क्या है पूरा मामला
सिंधिया राजघराने के स्वर्गीय संभाजीराव आंग्रे के बेटे तुलाजीराव आंग्रे की बेटी 34 वर्षीय कात्यायनी आंग्रे की शादी 18 अप्रैल 2018 को इंदौर में धार कोठी निवासी रिटायर्ड कर्नल अनिल काक के बेटे अर्जुन काक के साथ हुई थी। अर्जुन काक की मां मंगेश काक का संबंध इंदौर राजघराने से बताया जाता है।

शादी के कुछ दिनों के बाद से ही कात्यायनी से दहेज की मांग की जा रही थी।  महिला थाने में कात्यायनी ने बताया कि शादी में पिता ने बेशकीमत सोने, प्लेटीनम, डायमंड के गहने दिए थे जिनकी कीमत लगभग एक करोड़ रुपये से अधिक थी। 

उसे अपने ससुराल भी नहीं ले जाया गया। एक पारिवारिक मित्र के जरिए वह ससुराल चली गई लेकिन वहां उससे और दहेज की मांग की जाने लगी। इसके बाद तंग आकर उसने थाने में शिकायत कर दी है। अब पुलिस ने दहेज एक्ट और धमकाने का मामला दर्ज किया है।
... और पढ़ें

मध्यप्रदेश में बढ़ने लगे कोरोना वायरस संक्रमण के मामले, सख्ती और सावधानी जरूरी

मध्यप्रदेश में बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 417 नए मामले सामने आए और इसके साथ ही प्रदेश में इस वायरस से अब तक संक्रमित पाए गए लोगों की कुल संख्या 2,62,850 तक पहुंच गए।

राज्य में पिछले 24 घंटों में इस बीमारी से किसी की भी मौत नहीं हुई। प्रदेश में अब तक इस बीमारी से मरने वालों की संख्या 3,865 है। यह जानकारी मध्यप्रदेश स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने दी है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में बुधवार को कोविड-19 के 156 नये मामले इंदौर में आए, जबकि भोपाल में 90 नए मामले आए।

अधिकारी ने बताया कि प्रदेश में कुल 2,62,850 संक्रमितों में से अब तक 2,55,888 मरीज स्वस्थ होकर घर चले गए हैं और 3,097 मरीज़ों का इलाज विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है। उन्होंने कहा कि बुधवार को 293 रोगियों को ठीक होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।


 
... और पढ़ें

नर्मदा आरती : जबलपुर में राष्ट्रपति कोविंद, राज्यपाल आनंदीबेन व सीएम शिवराज हुए शरीक

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद शनिवार को मध्यप्रदेश के जबलपुर में विभिन्न कार्यक्रमों में शरीक हुए। शाम को उन्होंने यहां नर्मदा आरती में शिरकत की। इस मौके पर उनके साथ राज्यपाल आनंदी बेन पटेल व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह भी मौजूद थे। तीनों विशिष्ट जनों ने मां नर्मदा की आराधना की।

जानकारी के अनुसार, राष्ट्रपति कोविंद शनिवार शाम मध्यप्रदेश की जीवन रेखा मानी जाने वाली पवित्र नर्मदा नदी के किनारे ग्वारीघाट पर नर्मदा आरती में शामिल हुए। इस अवसर पर राष्ट्रपति के साथ भारत के प्रधान न्यायाधीश एसए बोबड़े और केन्द्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल भी उपस्थित थे।

नर्मदा आरती के बाद कोविंद मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय परिसर पहुंचे जहां उनके सम्मान में सांस्कृतिक कार्यक्रम और रात्रिभोज का आयोजन किया गया।

राष्ट्रपति मध्यप्रदेश की दो दिवसीय यात्रा पर शनिवार सुबह जबलपुर पहुंचे थे। उन्होंने दोपहर में यहां मानस भवन में अखिल भारतीय राज्य न्यायिक अकादमी के निदेशकों के दो दिवसीय सम्मेलन का शुभारंभ किया।

प्रदेश सरकार के एक अधिकारी ने बताया कि शनिवार की रात राष्ट्रपति जबलपुर में विश्राम करेंगे और रविवार सुबह 9.30 बजे दमोह जिले के जलहरी गांव रवाना होंगे। उन्होंने बताया कि वहां से वह मध्य प्रदेश आदिम जाति विभाग द्वारा आयोजित जन जाति सम्मेलन में भाग लेने संग्रामपुर गांव जाएंगे।

अधिकारी ने बताया कि रविवार दोपहर 2.40 बजे जलहरी से निकलकर राष्ट्रपति 3.20 बजे डुमना हवाई अड्डे पर पहुंचेंगे जहां से वह नई दिल्ली के लिए रवाना होंगे।
 
... और पढ़ें
जबलपुर में नर्मदा आरती में शिरकत करते राष्ट्रपति कोविंद जबलपुर में नर्मदा आरती में शिरकत करते राष्ट्रपति कोविंद

मप्र : दमोह में भाजपा विधायक के जन्म दिन समारोह में खूनी संघर्ष, दो लोगों की मौत

मध्य प्रदेश के दमोह जिले में भाजपा विधायक के जन्मदिन पर आयोजित सार्वजनिक समारोह के मौके पर खूनी संघर्ष हो गया। इसमें दो लोगों की मौत हो गई। मृतकों में एक विधायक प्रतिनिधि तो दूसरा अतिथि शिक्षक था। संघर्ष के वक्त विधायक धर्मेंद लोधी घटनास्थल पर मौजूद नहीं थे। 

एक की मौत गोली लगने से दूसरे को पत्थर-डंडे से पीटा गया
दमोह जिले के पुलिस अधीक्षक (एसपी) हेमंत चौहान ने शनिवार को बताया कि मृतकों की पहचान अरविंद जैन (30) और जोगेन्द्र सिंह (30) के तौर पर हुई है। उन्होंने बताया कि प्राथमिक जांच के मुताबिक सिंह की मौत गोली लगने से हुई, जबकि जैन को कुछ लोगों ने पत्थर और डंडे से पीटकर मार डाला।

बनवार गांव में था कार्यक्रम
एसपी चौहान ने बताया कि जिला मुख्यालय से 40 किलोमीटर दूर नोहटा थाना क्षेत्र के बनवार गांव में शुक्रवार रात विधायक धमेन्द्र लोधी के जन्म दिन के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में जैन और सिंह के बीच कथित तौर पर एक विवाद हुआ था। बताया जाता है कि जैन विधायक प्रतिनिध थे, जबकि सिंह अतिथि शिक्षक थे।

आरोपियों की पहचान नहीं हुई
एसपी ने कहा कि पुलिस घटना की जांच कर रही है और अभी तक किसी भी आरोपी की पहचान नहीं हुई है। पुलिस के अनुसार घटना के वक्त जबेरा से विधायक लोधी मौके पर मौजूद नहीं थे। 

राष्ट्रपति के दौरे के बीच घटना
वहीं, जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय टंडन ने जिले में आपराधिक घटनाओं की वृद्धि के लिये पुलिस की निष्क्रियता को जिम्मेदार ठहराया है। टंडन ने कहा कि यह घटना ऐसे समय हुई है, जब राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की रविवार की यहां की यात्रा के मद्देनजर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है।प्रदेश भाजपा सचिव राजनीश अग्रवाल ने इस घटना के बारे में पूछे जाने पर कहा कि उन्हें इसकी जानकारी नहीं है।
... और पढ़ें

मध्यप्रदेश : इंदौर और भोपाल में फिर छाया कोरोना का प्रकोप, सीएम बोले- आठ मार्च से लग सकता है नाइट कर्फ्यू

देश में एक बार फिर कोरोना के बढ़ते मामले दस्तक दे रहे हैं। महाराष्ट्र में पिछले एक हफ्ते में 50,000 से ज्यादा मामले सामने आए हैं, तो वहीं मध्यप्रदेश के इंदौर और भोपाल में भी संक्रमितों का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। इंदौर में तो कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन ने प्रवेश कर लिया है और यहां छह लोगों ने कोरोना का नया स्ट्रेन पाया गया है। 

पिछले महीने नई दिल्ली जांच के लिए भेजे गए छह मरीजों में यूनाइटेड किंगडम वाले कोरोना स्ट्रेन की मौजूदगी पाई गई है। लेकिन इसमें हैरान करने वाली बात यह है कि ये छह लोग कभी विदेश गए ही नहीं, तो ऐसे में सवाल पैदा होता है कि आखिर इन लोगों में कोरोना का नया स्ट्रेन मिला कैसे? 

आठ मार्च से नाइट कर्फ्यू संभव
भोपाल में कोरोना की समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि इंदौर और भोपाल में कोरोना के मामलों में लगातार वृद्धि हो रही है। अगर अगले तीन दिनों तक कोरोना के दैनिक मामलों में गिरावट नहीं देखी गई तो आठ मार्च से दोनों शहरों में नाइट कर्फ्यू लागू कर दिया जाएगा। 

इंदौर में पिछले तीन दिन में 491 और भोपाल में 278 संक्रमित मामले सामने आए। जबलपुर, बैतुल, छिंदवाड़ा, उज्जैन और महाराष्ट्र से लगे जिलों में कोविड-19 के मामलों में बढ़त देखी जा रही है। महाराष्ट्र से आने वाले यात्रियों के लिए अब कोरोना निगेटिव की रिपोर्ट साथ लाना अनिवार्य कर दिया गया है। इसकी जवाबदेही बस ऑपरेटरों की होगी। 

बिना मास्क के लोगों पर होगी कार्रवाई
बता दें कि देश में कोरोना के 16,000 से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं, वहां अकेले महाराष्ट्र में शुक्रवार को 10,216 नए मामले सामने आए। दिल्ली में डेढ़ महीने बाद 312 संक्रमित मामले मिले हैं। मुख्यमंत्री ने बैठक में कहा कि जो दुकानदार या ग्राहक, बिना मास्क के दिखा तो उस पर कार्रवाई की जाएगी। 

बता दें कि कोरोना के नए स्ट्रेन को बी.1.1.7 के नाम से भी जाना जाता है। दुनिया में कोरोना के इस नए स्ट्रेन के कई म्यूटेशन भी देखे गए हैं। एमजीएम मेडिकल कॉलेज इंदौर के डीन डॉक्टर संजय दीक्षित का कहना है कि कोरोना का ये नया स्ट्रेन फैलता तेजी से है लेकिन इससे मृत्युदर ज्यादा नहीं है। 
... और पढ़ें

मध्यप्रदेशः राज्य में बेटियों की आबरू खतरे में, विधानसभा में गृहमंत्री ने रखी चौंकाने वाली रिपोर्ट

कोरोना वायरस (प्रतीकात्मक तस्वीर)
मध्यप्रदेश में बेटियों की आबरू खतरे में है, इस बात की पुष्टि विधानसभा में राज्य के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने खुद की है। इस रिपोर्ट के अनुसार प्रदेश में हर दिन औसतन 15 बच्चियों या महिलाओं के साथ दुष्कर्म की घटनाएं हुईं हैं। साथ ही एक दिन में औसतन 16 बच्चियों के अपहरण किए गए। 1 अप्रैल 2020 से 12 फरवरी 2021 तक यानी 318 दिन में दुष्कर्म व अपहरण के कुल 10002 मामले पुलिस ने दर्ज किए हैं।

विधायक सोहनलाल वाल्मीकि के सवाल के जवाब में गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि इस अवधि में पूरे प्रदेश में महिलाओं व बालिकाओं के साथ दुष्कर्म के 4833 मामले दर्ज किए गए। इस दौरान 5085 बच्चियों व 84 महिलाओं के अपहरण के मामले भी सामने आए हैं। इन मामलों में कुल 6767 आरोपियों को जेल भेजा गया है।
... और पढ़ें

मध्यप्रदेश विधानसभा में नया प्रयोग : हर सत्र में एक दिन सिर्फ पहली बार चुने गए विधायक ही पूछेंगे सवाल

मध्यप्रदेश विधानसभा में एक नया प्रयोग होने जा रहा है। अब से हर सत्र में एक दिन ऐसा होगा, जब प्रश्नकाल के दौरान केवल नए विधायक ही सवाल पूछेंगे और सरकार की ओर से मंत्री उनका जवाब देंगे। इस दौरान कोई वरिष्ठ विधायक टोकाटाकी नहीं करेगा। बजट सत्र के दौरान 15 मार्च को ऐसा पहली बार करने की तैयारी है। विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम ने शुक्रवार को यह जानकारी मीडिया को दी।
इसको लेकर अध्यक्ष गौतम ने कहा, नए विधायकों को भी सदन में अपनी बात रखने और सवाल पूछने का मौका मिलना चाहिए। इससे ही भविष्य का नेतृत्व उभरता है। वहीं युवा विधायकों को चाहिए कि वे सदन की कार्यवाही में ज्यादा से ज्यादा भाग लें और अपना संसदीय ज्ञान बढ़ाएं। 

विधानसभा अध्यक्ष गौतम ने बताया कि 15 मार्च को प्रश्नकाल के दौरान तारांकित (जिन पर सदन में चर्चा होती है) 25 प्रश्न नए विधायकों के लिए जाएंगे। बता दें कि प्रश्नों का चयन लॉटरी के माध्यम से होता है। हालांकि, सरकार सभी प्रश्नों का विभागवार लिखित में जवाब देती है, लेकिन लॉटरी के माध्यम से जिन प्रश्नों का चयन होता है, उस पर सदन में संबधित विधायक को प्रति प्रश्न सरकार से पूछने का अधिकार होता है। उन्होंने कहा कि 15 मार्च के लिए लॉटरी में सिर्फ पहली बार के विधायकों के प्रश्नों को ही लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस व्यवस्था से नए विधायकों को सरकार से सवाल-जवाब का मौका मिलेगा और उनका आत्मविश्वास भी बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि विधायकों को सदन में संरक्षण देना अध्यक्ष की नैतिक जिम्मेदारी है।

महिला दिवस पर सभापति होगी महिला  
गौतम ने बताया कि इसी तरह 8 मार्च को महिला दिवस है। इस अवसर पर महिला सभापति को आसंदी (सदन में अध्यक्ष की कुर्सी) पर बैठने और कार्यवाही को संचालित करने का अवसर दिया जाएगा। हालांकि, ऐसा वर्ष 2013 से 2018 के बीच हो चुका है, जब महिला सभापति को आसंदी पर बैठाया गया था और अधिकांश सवाल महिला विधायकों ने ही पूछे थे।
... और पढ़ें

ग्वालियर में अनूठी लूट : कारोबारी की पत्नी के पैर छूकर लुटेरा बोला- आप मां जैसी हैं पर माफ करना मेरी बहन की शादी है...

मध्य प्रदेश के ग्वालियर शहर में लूट की अनूठी वारदात सामने आई है। एक होजियरी कारोबारी के घर में घुसे लुटेरे ने उनकी पत्नी के पैर छुए और बोला- आप मेरी मां जैसी है, लेकिन माफ करना मेरी बहन की शादी है। इसके बाद लुटेरे ने टॉय गन व चाकू के दम पर कारोबारी की पत्नी व नौकरानी को बंधक बनाया और उनके हाथ-पैर बांधकर करीब चार लाख का माल ले उड़ा। 


डिलिवरी बॉय बनकर आया, पहले लूटा बाद में छूए पैर
लूट की यह अनूठी घटना ग्वालियर की समाधिया कॉलोनी के कृष्णा एनक्लेव दिलीप कुकरेजा के घर में हुई। लुटेरा डिलिवरी बॉय बनकर उनके घर में घुसा। उसने कुकरेजा की पत्नी वंदना को खिलौना पिस्तौल अड़ाई और हाथ-पैर बांधकर मुंह पर टेप लगा दिया। इसी तरह उसने नौकरानी सुनीता को चाकू दिखाकर धमकाया। लूटपाट करने के बाद बदमाश ने कारोबारी की पत्नी के पैर छूए। 

महाराज बाड़ा पर है दुकान
कारोबारी कुकरेजा की ग्वालियर के प्रसिद्ध महाराज बाड़ा पर होजियरी की दुकान है। गुरुवार सुबह दिलीप कुकरेजा और बेटा उमेश दुकान पर निकल गए थे। घर पर पत्नी वंदना और नौकरानी सुनीता थे। शाम करीब चार बजे एक युवक डिलिवरी बॉय बनकर आया। उसने आते ही वंदना पर पिस्तौल तान दी। इस पर दोनों के बीच झूमाझटकी हुई। इसी बीच लुटेरे की पिस्तौल गिरी तो टूट गई। इसके बाद उसने चाकू निकाल लिया। वंदना को काबू में करने के बाद उसने उनके हाथ-पैर बांध दिए। इसके बाद घर में से चार लाख रुपये का सामान ले उड़ा।  ग्वालियर के एएसपी सतेंद्र सिंह तोमर के अनुसार आसपास के इलाके के सीसीटीवी फुटेज देख कर बदमाश की तलाश की जा रही है। लूट के सामान में दो लाख पचास रुपये नकद, आभूषण व अन्य सामग्री है। 
... और पढ़ें

इंदौर में ब्रिटिश वैरिएंट : छह मरीजों में पाया गया नया स्ट्रेन, विदेश गए बगैर हुए संक्रमित

मध्य प्रदेश के इंदौर में छह लोगों में कोरोना का ब्रिटिश वैरिएंट मिलने से हड़कंप मच गया है। इन लोगों के विदेश जाने की भी कोई जानकारी नहीं है। इसके बावजूद ये कैसे यूके वैरिएंट की चपेट में आए, डॉक्टरों के लिए यह हैरान करने वाले मामला है। शहर में बढ़ते मरीजों को देखते हुए नाइट कर्फ्यू  लगाए जाने के आसार हैं। 

अचानक हार्ट अटैक से होने लगी मौतें, इसलिए दिल्ली भेजे थे सैंपल
इंदौर के नोडल कोविड अधिकारी अमित मालाकार के अनुसार पिछले माह 106 सैंपल जांच के लिए दिल्ली भेजे गए थे। इनमें से छह में कोरोना के ब्रिटेन में मिले नए वायरस की पुष्टि हुई है। ये मरीज 10 से 15 फरवरी के बीच कोरोना संक्रमित हुए थे। इंदौर से 100 से ज्यादा सैंपल जांच के लिए इसलिए दिल्ली भेजे गए थे, क्योंकि 27 मरीजों की मौत अचानक हार्ट अटैक से हुई थी। अन्य सैंपल एसिम्टोमैटिक और कोरोना के कमजोर लक्षण वाले मरीजों के थे। 

पहले दो लोगों में मिला था यूके स्ट्रेन
इंदौर के दो लोगों में पहले भी यूके स्ट्र्रेन मिलने की पुष्टि हुई थी, हालांकि ये दोनों विदेश से लौटे थे। नए मामले चूंकि विदेश यात्रा से नहीं जुड़े हैं, इसलिए हैरान करने वाले हैं। जो छह लोग यूके  स्ट्रेन से संक्रमित मिले हैं, उनमें बच्चे व अधेड़ उम्र के लोग हैं। 

इन इलाकों के हैं छहों संक्रमित
यूके स्ट्रेन से पीड़ित मिले छह मरीजों में एक राजेंद्र नगर का, तीन तेजाजी नगर क्षेत्र के, एक  पलासिया का तथा एक प्रेम नगर क्षेत्र का है। छहों पुरुष है। इनका घरों में इलाज चल रहा है। 

तेजी से फैलता है यूके स्ट्रेन
इंदौर में यूके स्ट्रेन मिलना चिंताजनक है, क्योंकि यह तेजी से फैलता है। इसलिए इससे बचाव के उपाय करना जरूरी होंगे। इंदौर के संभागायुक्त डॉ. पवन शर्मा ने कहा कि अब रोको-टोको अभियान काे ज्यादा ताकत से लागू किया जाएगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी इस पर सख्ती बरतने के निर्देश दिए हैं। 

लग सकता है नाइट कर्फ्यू 
अधिकारियों का कहना है कि शहर के हालात पर अगले कुछ दिन नजर रखी जाएगी। यदि संक्रमण बढ़ा तो नाइट कर्फ्यू लगाने पर विचार किया जाएगा। 
... और पढ़ें

अपने जन्मदिन पर शिवराज सिंह चौहान ने लगाए पौधे, प्रधानमंत्री मोदी ने दी बधाई

आज मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का जन्मदिन है और इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनको जन्मदिन की बधाई दी। प्रधानमंत्री मोदी ने राज्य को विकास की ‘नई ऊंचाइयों’ पर ले जाने के लिए उनकी प्रशंसा की। इसके अलावा अपने 62वें जन्मदिन पर शिवराज सिंह चौहान पौधे लगा रहे हैं।

शिवराज सिंह चौहान ने अपनी पत्नी के साथ अपने आवास पर पौधे लगाए। पौधे लगाने के दौरान शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि अपने सामाजिक अभियान को जारी रखने के लिए वो हर दिन एक पौधा लगाएंगे। शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मेरी लोगों से अपील है कि वो पर्यावरण को बचाने के लिए ज्यादा से ज्यादा पौधे लगाएं। 



बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया कि भाजपा के ऊर्जावान नेता और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को जन्मदिन की अशेष शुभकामनाएं। उन्होंने अपने नेतृत्व में राज्य को विकास की नई ऊंचाइयां दी हैं। मैं उनके सुखी, स्वस्थ और दीर्घायु जीवन की कामना करता हूं।



शिवराज सिंह चौहान 2005 से मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं, लेकिन वर्ष 2018 के राज्य विधानसभा चुनाव में भाजपा की हार के बाद वह 15 महीने सत्ता से दूर रहे। हालांकि कांग्रेस विधायकों के दलबदल के बाद वह फिर से मुख्यमंत्री बने और बाद में कांग्रेस विधायकों के इस्तीफे के कारण खाली सीट पर हुए उपचुनाव में उनकी पार्टी ने जीत दर्ज की।
... और पढ़ें

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोविड-19 टीके का लगवाया पहला डोज

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बृहस्पतिवार को एक सरकारी अस्पताल में कोविड-19 टीके के पहले डोज का इंजेक्शन लगवाया।

प्रदेश के जनसंपर्क विभाग के अधिकारी ने बताया कि चौहान को सरकार द्वारा संचालित हमीदिया अस्पताल में कोविशील्ड के पहले डोज का इंजेक्शन लगाया गया।

उन्होंने बताया कि टीकाकरण के दिशानिर्देशों के तहत टीका लगने के बाद चौहान आधे घंटे के निर्धारित समय तक अस्पताल में ही रहे। चौहान के साथ उनकी पत्नी साधना सिंह भी थीं।

मुख्यमंत्री के पिछले साल 25 जुलाई को कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी। उन्होंने भोपाल के निजी अस्पताल में कुछ दिन भर्ती रहकर अपना उपचार कराया था।

स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि मध्यप्रदेश में बुधवार तक कुल 9,29,353 लोगों को टीका लगाया जा चुका है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X