विज्ञापन
विज्ञापन

Vikas Dubey Arrested Live Updates: कानपुर लाया जा रहा है विकास दुबे, उज्जैन एसपी ने कहा- यूपी पुलिस को बताएंगे हर तथ्य

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, उज्जैन Updated Fri, 10 Jul 2020 03:45 AM IST
Vikas Dubey Arrested in Ujjain Live Updates News in Hindi Gangster Vikas Dubey questioned at unknown place will be handed over to UP Kanpur Police
कुख्यात अपराधी विकास दुबे, उज्जैन एसपी मनोज कुमार सिंह - फोटो : ANI

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

खास बातें

मध्यप्रदेश पुलिस ने कानपुर गोलीकांड के आरोपी कुख्यात अपराधी विकास दुबे को यूपी पुलिस को सौंप दिया है। विकास दुबे को लेकर यूपी एसटीएफ उज्जैन से कानपुर के लिए रवाना हो गई है। इससे पहले विकास दुबे को उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार किया गया। उससे अज्ञात स्थान पर मध्यप्रदेश पुलिस ने आठ घंटे तक पूछताछ की। बता दें कि विकास दुबे उत्तर प्रदेश के नंबर प्लेट वाली एक गाड़ी से मध्यप्रदेश पहुंचा था। गाड़ी पर हाईकोर्ट लिखा हुआ था। इसी कारण वह आसानी से सीमा पार कर पाया। गाड़ी किसी मनोज यादव के नाम पर पंजीकृत बताई जा रही है। हालांकि, उन्होंने विकास दुबे से किसी भी तरह का कोई संबंध होने की बात नकारी है। इसके अलावा गैंगस्टर की गिरफ्तारी पर कांग्रेस ने सवाल उठाते हुए मिलीभगत की ओर इशारा किया है। जिसपर भाजपा ने उसे जवाब दिया है। यहां पढ़ें सभी अपडेट्स-
विज्ञापन

लाइव अपडेट

04:01 AM, 10-Jul-2020

झांसी टोल प्लाजा पर विकास दुबे को लेकर पहुंची यूपी एसटीएफ टीम ,कानपुर के लिए रवाना

कानपुर पुलिस हत्याकांड के मुख्य आरोपी विकास दुबे को मध्य प्रदेश के उज्जैन से यूपी ला रही यूपी एसटीएफ टीम की गाड़ियों का काफिला देर रात करीब 3.13 बजे झांसी पहुंचा। कड़ी सुरक्षा के बीच पुलिस की तीन गाड़ियों के साथ विकास को सड़क मार्ग से उज्जैन से कानुपर लाया जा रहा है। इस दौरान झांसी के टोल पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था रही। एसटीएफ का काफिला गुजरते हुए आम वाहनों की आवाजाही पूरी तरह से रोक दी गई। विकास को पुलिस की जिस गाड़ी में लाया जा रहा है उसके आगे पीछे पुलिस की दो अन्य गाडियां भी साथ चल रही हैं।
 
विज्ञापन
07:17 PM, 09-Jul-2020
पुलिस वालों के शवों को तेल से जलाना चाहता था विकास दुबे
विकास दुबे ने पुलिस के सामने कबूलनामे में कई बातें कबूली हैं। पूछताछ में उसने बताया कि हम पुलिसवालों के शव को तेल से जलाकर सबूतों को मिटाना चाहते थे, लेकिन पुलिस बल के अचानक से आ जाने की वजह से हमें शवों को वहीं छोड़कर भागना पड़ा। आगे पढ़ेंः- गैंगस्टर विकास दुबे का कबूलनामा

कुख्यात अपराधी विकास दुबे पर उज्जैन पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में क्या-क्या कहाः-
  • उज्जैन के एसपी मनोज कुमार सिंह ने कहा कि विकास दुबे को मध्यप्रदेश पुलिस ने गिरफ्तार किया है। 
  • विकास ने महाकाल मंदिर में 250 का टिकट लिया। उसने शुरुआत में अपनी पहचान छुपाई।
  • उन्होंने कहा कि बाहरी लोगों पर हमारी नजर थी। विकास दुबे को हमने यूपी पुलिस के हवाले किया है। 
  • एसपी मनोज कुमार सिंह ने कहा कि हमने विकास दुबे को यूपी एसटीएफ के हवाले किया है। 
  • एसपी ने कहा, उज्जैन में विकास दुबे के खिलाफ मामला दर्ज नहीं किया गया है। 
  • उज्जैन एसपी ने कहा, जिस दुकान से फूल और प्रसाद लिया उसी दुकानदान ने सूचना दी।
  • उन्होंने कहा कि कानपुर पुलिस से कई बार बात हुई है। उज्जैन पुलिस की पारदर्शी कार्रवाई है।
  • एसपी ने कहा, हर तथ्य से यूपी पुलिस को अवगत कराएंगे। 

पुलिस ने विकास दुबे की पत्नी और बेटे को हिरासत में लिया
पुलिस ने विकास दुबे की पत्नी और बेटे को हिरासत में लिया गया। वहीं, विकास के नौकर को भी पुलिस ने दबोचा। 

'जैसे हमारा बेटा खत्म हुआ वैसा ही उसके साथ होना चाहिए'
कानपुर एनकाउंटर में मारे गए पुलिस कर्मियों में से एक कांस्टेबल बबलू कुमार के पिता ने विकास दुबे की गिरफ्तारी पर कहा, 'जैसे हमारा बेटा खत्म हुआ वैसा ही उसके साथ होना चाहिए। उसे कड़ी सजा दी जानी चाहिए।'
06:19 PM, 09-Jul-2020

गिरफ्तारी है या आत्मसमर्पण- पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव

कानपुर गोलीकांड के आरोपी विकास दुबे की गिरफ्तारी को लेकर सियासत शुरू हो गई है। कांग्रेस ने जहां उसके उज्जैन पहुंचने को मिलीभगत बताया है वहीं भाजपा ने उसे जवाब देते हुए सेना और पुलिस का मनोबल गिराने वाला करार दिया है। इसके अलावा यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पूछा था कि ये गिरफ्तारी है या आत्मसमर्पण। आगे पढ़ें- विकास दुबे की गिरफ्तारी पर सियासत शुरू, कांग्रेस के सवाल पर भाजपा ने दिया जवाब

 
05:34 PM, 09-Jul-2020

आरोपी का उज्जैन पहुंचना मिलीभगत की ओर इशारा करता है- प्रियंका गांधी

इससे पहले प्रियंका गांधी ने कहा था कि आरोपी का उज्जैन पहुंचना मिलीभगत की ओर इशारा करता है। उन्होंने ट्वीट कर कहा था, 'कानपुर के जघन्य हत्याकांड में यूपी सरकार को जिस मुस्तैदी से काम करना चाहिए था, वह पूरी तरह फेल साबित हुई। अलर्ट के बावजूद आरोपी का उज्जैन तक पहुंचना, न सिर्फ सुरक्षा के दावों की पोल खोलता है बल्कि मिलीभगत की ओर इशारा करता है।'
05:29 PM, 09-Jul-2020

प्रियंका गांधी ने सीबीआई जांच की मांग की है

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सीबीआई जांच की मांग की है। विकास ने पूछताछ में बताया कि देवेंद्र मिश्र से उसकी नहीं जमती थी। सीओ ने उसे देख लेने की धमकी दी थी, इसलिए मारा।
05:20 PM, 09-Jul-2020

सीजेएम तृप्ति पाण्डेय वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए करेंगी सुनवाई

सूत्रों के मुताबिक, सीजेएम तृप्ति पाण्डेय वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए सुनवाई करेंगी।
05:15 PM, 09-Jul-2020

पुलिस रिमांड पर लेकर कानपुर सबूत ढूंढने जाएगी

सूत्रों के मुताबिक, पुलिस रिमांड पर लेकर कानपुर सबूत ढूंढने जाएगी। खबर ये भी है कि विकास दुबे को पुलिस ने दी थी रेड की जानकारी। 
05:12 PM, 09-Jul-2020

उज्जैन के पुलिस सेंटर में है विकास दुबे

सूत्रों के मुताबिक खबर है कि उज्जैन के पुलिस सेंटर में है विकास दुबे। यहां उससे पूछताछ जारी है। 
05:05 PM, 09-Jul-2020

विकास दुबे ने कहा, चौबेपुर के अलावा कई थानों में उसके मददगार

विकास दुबे ने कहा, मैंने सभी साथियों को अलग अलग भागने को कहा था। आगे उसने कहा कि एनकाउंटर के डर से फायरिंग की। इसके अलावा उसने कहा कि चौबेपुर के अलावा कई थानों में मेरे मददगार थे। 
05:02 PM, 09-Jul-2020

पुलिस पूछताछ में विकास दुबे ने क्या क्या कहाः-

  • पुलिसकर्मियों के शव जलाने के लिए तेल लाए थे।
  • शवों को जलाकर सबूत मिटाने की योजना थी
  • हमें खबर थी पुलिस सुबह आएगी।
  • पुलिस सुबह की बजाय रात में ही रेड करने आ गई।
04:57 PM, 09-Jul-2020

विकास दुबे की मां ने सरकार से जान बख्श देने की गुहार लगाई

विकास दुबे के पकड़े जाने के बाद उसकी मां ने सरकार से जान बख्श देने की गुहार लगाई है। विकास की मां ने बताया कि वह हर साल उज्जैन के महाकाल मंदिर में जाकर भगवान के दर्शन करता था और उनका श्रृंगार करवाता था।
04:51 PM, 09-Jul-2020

विकास दुबे ने माना कि कुछ पुलिस कर्मी उसके संपर्क में थे

कुख्यात अपराधी विकास दुबे ने माना कि कुछ पुलिस कर्मी उसके संपर्क में थे। वहीं, सूत्रों के मुताबिक खबर मिल रही है कि यूपी पुलिस की एक टीम उज्जैन पहुंचने वाली है। विकास दुबे को ट्रांजिट रिमांड के लिए उज्जैन सीजेएम तृप्ति पांडे के समक्ष पेश किया जाएगा।
04:11 PM, 09-Jul-2020

पुलिस की कार्रवाई पर उठने लगे सवाल

विकास दुबे के पकड़े जाने के बाद पुलिस की कार्रवाई पर सवाल खड़े होने लगे हैं। कानपुर एनकाउंटर में शहीद हुए बिल्हौर सीओ देवेंद्र मिश्रा के परिवार ने विकास की गिरफ्तारी पर सवाल उठाए हैं। आगे पढ़ें- कानपुर एनकाउंटर में शहीद सीओ देवेंद्र मिश्रा के परिजनों का आरोप, बोले विकास दुबे को क्यों बचाया जा रहा है





 
03:56 PM, 09-Jul-2020

विकास दुबे की गिरफ्तारी के बाद लखनऊ के दो वकील हिरासत में 

कुख्यात अपराधी विकास दुबे की गिरफ्तारी के बाद लखनऊ के दो वकीलों को भी उज्जैन से पुलिस हिरासत में लिया गया है। ये दोनों वकील निजी गाड़ी से उज्जैन गए थे। पुलिस उनसे विकास दुबे से कनेक्शन की जांच कर रही है। आगे पढें- विकास दुबे की गिरफ्तारी के बाद हिरासत में लिए गए दो वकील, निजी गाड़ी से उज्जैन गए थे, पूछताछ जारी
03:48 PM, 09-Jul-2020

विकास की गिरफ्तारी के बाद घोषित इनामी राशि पर टिकी सबकी नजर

विकास को तो पकड़ लिया गया, लेकिन जिस तरह से उसकी गिरफ्तारी हुई है उसके बाद से सभी की नजर उसपर घोषित इनामी राशि पर टिक गई है। आगे पढ़ें- आखिरकार पकड़ा गया विकास दुबे, अब किसे मिलेगी पांच लाख की इनामी राशि?

 
03:40 PM, 09-Jul-2020

विकास दुबे हो सकता है कोरोना पॉजिटिव

आशंका है कि विकास दुबे कोरोना पॉजिटिव हो सकता है। ऐसी संभावना इसलिए है क्योंकि उसके रिश्तेदार श्रवण मिश्रा की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। आग पढ़ें- विकास दुबे हो सकता है कोरोना संक्रमित, फरीदाबाद में गिरफ्तार रिश्तेदार श्रवण की रिपोर्ट आई पॉजिटिव
 
03:32 PM, 09-Jul-2020

विकास की जमीनें बेचने की फिराक में था राजू 

विकास का साला राजू बहन सोनू के नाम पर खरीदी गई जमीनों को बेचने की फिराक में था। दुबे ने अपने दर्जनों गुर्गे राजू खुल्लर और सोनू को जिंदा या मुर्दा पकड़कर लाने के लिए लगा दिए थे।
03:25 PM, 09-Jul-2020

मुखबिर से मिली थी विकास दुबे के गांव में होनी की सूचना

कानपुर एनकाउंटर में गोरखपुर के रहने वाले दारोगा सुधाकर पांडे घायल हो गए थे। उन्होंने घटना के बारे में बताते हुए कहा था कि हमले के दौरान लगा कि मौत बिल्कुल सामने खड़ी है। सुधाकर पांडे ने बताया कि विकास दुबे की घर पर होने की सूचना मुखबिर द्वारा मिली, जिस पर क्षेत्राधिकारी स्तर की टीम जिसमें तीन थाने शामिल थे। रात के करीब एक बजे जब 40 पुलिसकर्मियों टीम दुबे के गांव पहुंची तो देखा कि रास्ते को जेसीबी लगाकर रोक दिया गया था।
03:16 PM, 09-Jul-2020

डीएसपी सहित आठ पुलिसकर्मी हुए थे गोलीकांड में शहीद

एनकाउंटर में डीएसपी देवेंद्र मिश्र, शिवराजपुर एसओ महेश यादव समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे। शुरुआती जांच में ही पता चला था कि थाने से दहशतगर्द विकास को सूचना दी गई थी कि दबिश पड़ने वाली है। इसलिए उसने पूरी तैयारी के साथ पुलिस पर हमला किया। एसएसपी ने इस प्रकरण की जांच एसपी ग्रामीण बृजेश कुमार श्रीवास्तव को दी थी।
03:01 PM, 09-Jul-2020

खूनी खेल देखने के बाद फरार हो गए थे एसओ विनय तिवारी और दरोगा केके शर्मा

चौबेपुर के बिकरू गांव में हुए एनकाउंटर में तत्कालीन चौबेपुर एसओ विनय तिवारी और हलका इंचार्ज दरोगा केके शर्मा की गद्दारी पर मुहर लग गई है। आठ पुलिसकर्मियों की मौत के जिम्मेदार यही हैं। आंखों से खूनी खेल देखने के बाद मौके से फरार हो गए थे। पुलिसकर्मियों की शहादत पर ये पुलिसकर्मी खुश हुए थे।
02:55 PM, 09-Jul-2020

170 कैमरों के बीच खुलेआम घूमता रहा विकास दुबे

महाकाल मंदिर परिसर में 170 आधुनिक कैमरे लगे हुए हैं। इसके अलावा यहां हर समय 60 सुरक्षाकर्मी तैनात रहते हैं। गुरुवार सुबह जब मंदिर से विकास को गिरफ्तार किया गया, तब भी वहां भारी संख्या में सुरक्षाकर्मी तैनात थे। हैरानी की बात यह है कि इस सब के बावजूद विकास दुबे मुंह पर मास्क लगाकर खुलेआम घूम रहा था। उसने मंदिर में फोटो भी खिंचवाए और किसी तो खबर तक नहीं लगी।
 
02:50 PM, 09-Jul-2020

सात राज्यों की पुलिस को गुमराह करता रहा गैंगस्टर विकास दुबे

कुख्यात विकास दुबे को पकड़ने के लिए उत्तर प्रदेश, हरियाणा, उत्तराखंड, दिल्ली, और मध्यप्रदेश में अलर्ट जारी किया गया था लेकिन विकास इतना शातिर है कि सात दिनों तक सात राज्यों की पुलिस को गुमराह करता रहा। विकास को पकड़ने के लिए कानपुर के चालीस थानों के पुलिसबल, दस हजार पुलिसकर्मी और यूपी एसटीएफ की सौ से अधिक टीमें, साथ ही प्रदेश का खुफिया विभाग उसकी तलाश करता रहा लेकिन इन सब को गच्चा देकर वो मध्यप्रदेश भाग निकला और फिर बड़ी आसानी से पुलिस की गिरफ्त में आ गया।
02:45 PM, 09-Jul-2020

2022 का विधानसभा चुनाव लड़ना चाहता था गैंगस्टर

अपनी राजनीतिक पैठ बनाने के लिए विकास दुबे 2022 के विधानसभा चुनाव की तैयारी भी कर रहा था और उसने भाजपा और बसपा दोनों पार्टियों पर अपनी निगाह लगा रखी थी। करीबी सूत्रों के अनुसार वह रनिया से बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर इस बार चुनाव को लेकर पूरी तैयारी में था। कुछ दिनों पहले बदमाशों के हाथों मारे गए पिंटू सेंगर और विकास दुबे दोनों अगल-बगल की विधानसभा को लेकर बसपा से ही तैयारी में जुटे थे।
02:13 PM, 09-Jul-2020

दो अन्य साथी भी हुए गिरफ्तार: मध्यप्रदेश पुलिस

मध्यप्रदेश पुलिस ने कहा कि विकास दुबे उज्जैन में महाकाल मंदिर में वीआईपी पास लेकर दर्शन करने पहुंचा था। उसके दो अन्य साथी भी गिरफ्तार किए गए हैं।
02:06 PM, 09-Jul-2020

लखनऊ नंबर की गाड़ी से उज्जैन पहुंचा था विकास दुबे

लखनऊ नंबर की गाड़ी से महाकाल जी मंदिर पहुंचा था विकास दुबे। नंबर प्लेट पर हाईकोर्ट लिखा हुआ है। यह गाड़ी मनोज यादव के नाम पर रजिस्टर्ड है। 
01:42 PM, 09-Jul-2020

सात जुलाई को सामने आया था पहला सीसीटीवी फुटेज

सात जुलाई की रात को विकास का फरीदाबाद में पहला सीसीटीवी फुटेज सामने आया था। जहां वो होटल में कमरा लेने गया था। इस दौरान विकास ने अपनी भाभी के यहां शरण ली। फरीदाबाद से गायब होने के बाद विकास 750 किमी दूर मध्यप्रदेश के उज्जैन में नजर आया। यहां उसने महाकाल मंदिर में दर्शन के लिए पर्ची कटवाई फिर मंदिर प्रांगण में घूमता रहा।
01:37 PM, 09-Jul-2020

विकास दुबे को जल्द ही ट्रांजिट रिमांड पर उज्जैन से उप्र लाएगी पुलिस

उत्तर प्रदेश के कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या का आरोपी और कुख्यात अपराधी विकास दुबे को मध्यप्रदेश के उज्जैन से ट्रांजिट रिमांड पर यहां लाया जाएगा। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने इसकी जानकारी दी। दुबे को आज मध्यप्रदेश पुलिस ने उज्जैन से गिरफ्तार किया है। अपर पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने कहा कि दुबे को ट्रांजिट रिमांड पर उत्तर प्रदेश लाया जाएगा और कानपुर कांड में शामिल दुबे के गिरोह के सभी सदस्यों को पकड़ने तक हमारा अभियान जारी रहेगा।
01:26 PM, 09-Jul-2020

शिवली गांव में दो दिन छिपा रहा था विकास दुबे

विकास को पकड़ने के लिए कानपुर के चालीस थानों की फोर्स, सात हजार पुलिसकर्मी और यूपी एसटीएफ की सौ से अधिक टीमें उसकी तलाश करती रहीं लेकिन इन सब को गच्चा देकर वो मध्यप्रदेश भाग निकला और फिर बड़ी आसानी से पुलिस की गिरफ्त में आ गया। सबसे मजे की बात ये कि विकास कानपुर एनकाउंटर की घटना को अंजाम देने के बाद वो घटनास्थल से महज पांच किमी दूर शिवली गांव में दो दिन छिपा रहा और पुलिस पूरे प्रदेश में उसे ढूंढती रही।
01:15 PM, 09-Jul-2020

बंदूक के दम पर विकास ने जबरन कराई थी अपने 'राइट हैंड' अमर की शादी

कानपुर एनकाउंटर के बाद पुलिस के साथ हमीरपुर एनकाउंटर में मारे गए अमर दुबे की 29 जून को शादी बंदूक के दम पर दहशतगर्द विकास दुबे के किलेनुमा घर में हुई थी। आवारापन और दर्ज केसों की जानकारी के बाद युवती के घरवालों ने शादी से इंकार कर दिया था तो विकास ने दबाव डालकर शादी करवा दी।
01:06 PM, 09-Jul-2020

शहडोल के बुढ़ार से विकास के साले को भी ले गई एसटीएफ

विकास दुबे की तलाश में जुटी यूपी एसटीएफ बुधवार को दोबारा शहडोल जिले के बुढ़ार पहुंची और उसके साले ज्ञानेंद्र निगम उर्फ राजू उर्फ राजू खुल्लर को ले गई। एक दिन पहले यूपी एसटीएफ राजू के बेटे 20 वर्षीय आदर्श उर्फ महेंद्र निगम को भी अपने साथ ले गई थी।
12:55 PM, 09-Jul-2020

उज्जैन से विकास की गिरफ्तारी पर प्रियंका ने यूपी सरकार को बताया फेल

गैंगस्टर विकास दुबे की गिरफ्तारी को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि आरोपी का उज्जैन पहुंचना मिलीभगत की ओर इशारा करता है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, 'कानपुर के जघन्य हत्याकांड में यूपी सरकार को जिस मुस्तैदी से काम करना चाहिए था, वह पूरी तरह फेल साबित हुई। अलर्ट के बावजूद आरोपी का उज्जैन तक पहुंचना, न सिर्फ सुरक्षा के दावों की पोल खोलता है बल्कि मिलीभगत की ओर इशारा करता है। तीन महीने पुराने पत्र पर ‘नो एक्शन’ और कुख्यात अपराधियों की सूची में ‘विकास’ का नाम न होना बताता है कि इस मामले के तार दूर तक जुड़े हैं। यूपी सरकार को मामले की सीबीआई जांच करा सभी तथ्यों और प्रोटेक्शन के ताल्लुकातों को जगजाहिर करना चाहिए।'
 
 
12:44 PM, 09-Jul-2020

प्रिंसिपल को मारकर खून हाथों में मला था

विकास दुबे बेहद क्रूर हत्यारा रहा है। 1992 से 2020 तक जो भी उसके आड़े आया, विकास ने उसे मार दिया। हर हत्या क्रूरता की हदें पार करने वाली थी। विकास जिस स्कूल में पढ़ा था, उसके ही प्रिंसिपल की वीभत्स हत्या कर दी थी। बुजुर्ग सिद्धेश्वर पांडेय दुहाई देते रहे, लेकिन उसने एक न सुनी। हत्या के बाद उसने पांडेय का खून अपने हाथों पर भी मला था। पांडेय के बेटे राजेंद्र कहते हैं कि विकास ने उनके पिता को तड़पा-तड़पाकर मारा था।
 
12:40 PM, 09-Jul-2020

विकास की लाल डायरी से हो सकते हैं काफी खुलासे

संतोष शुक्ला के भाई मनोज ने कहा था, 'प्रशासनिक तंत्र ने विकास की मदद की। इसलिए अपराध की दुनिया का पौधा वटवृक्ष बन गया। मैं न्याय की गुहार लगता रहा, लेकिन तत्कालीन राजनीतिक परिस्थितियां विकास के पक्ष में थीं। मेरी कहीं सुनवाई नहीं हुई। कुछ मंत्री विकास की मदद कर रहे थे। विकास के पास एक लाल डायरी है। इसमें वह अपने खास अधिकारियों, नेताओं और उनसे जुड़े लोगों का हिसाब रखता है। अगर पुलिस को डायरी मिलती है तो काफी खुलासे हो सकते हैं।’
12:25 PM, 09-Jul-2020

किलेनुमा मकान में बंकर भी बना रखा था, पुलिस पर एके 47 से चलाईं गोलियां

विकास का मकान चारों ओर से 20 फीट ऊंची और मोटी चहारदीवारी से घिरा हुआ था। दीवारों पर कंटीले तार भी थे। मकान में उसने बंकर बना रखा था, जबकि निगरानी के लिए उसने 50 सीसीटीवी कैमरे लगा रखे थे। प्रशासन की कार्रवाई से पहले घटनास्थल पर बाहरी लोगों के जाने पर पुलिस ने रोक लगा दी थी।
12:12 PM, 09-Jul-2020

एनकाउंटर के डर से आत्मसमर्पण करना चाहता था विकास दुबे 

महाकाल मंदिर के पुजारी आशीष ने बताया कि पुलिस द्वारा एनकाउंटर में मारे जाने के डर से विकास दुबे आत्मसमर्पण करना चाहता था। मंदिर परिसर पहुंचने के बाद वो चिल्ला चिल्लाकर कहने लगा कि वह ही विकास दुबे है। उसने महाकाल मंदिर के सुरक्षाकर्मियों से कहा कि पुलिस को उसके बारे में सूचना दी जाए। 
12:04 PM, 09-Jul-2020

मां बोली बेटे की जान बख्श दे सरकार

गैंगस्टर विकास दुबे की मां का कहना है कि हर साल मेरा बेटा उज्जैन मंदिर जाता था और श्रृंगार करवाता था। भोले बाबा ने मेरे बेटे की जान बचाई है। सरकार बेटे की जान बख्श दे।
12:01 PM, 09-Jul-2020

दुबे के गैंग के पांच लोगों को पुलिस ने मार गिराया

दो जुलाई की रात पुलिस टीम पर हमले के बाद से पुलिस ने अब तक उसके गैंग के पांच लोगों को मार गिराया है, जबकि खाकी से गद्दारी करने वाले तीन पुलिसकर्मियों समेत कई अन्य पुलिस की गिरफ्त में हैं।
 
11:53 AM, 09-Jul-2020

बड़ा सवाल: आखिर उज्जैन कैसे पहुंचा विकास दुबे?

बुधवार को फरीदाबाद और एनसीआर में लोकेशन मिलने के बाद आखिर वह उज्जैन कैसे पहुंचा यह बड़ा सवाल है। हालांकि अब उज्जैन पुलिस उससे पूछताछ कर रही है। यूपी पुलिस के पहुंचते ही उसकी ट्रांजिट रिमांड की कार्रवाई की जाएगी। उम्मीद है थोड़ी देर में ही उज्जैन पुलिस इसका खुलासा करेगी कि वह यहां कैसे पहुंचा।
11:42 AM, 09-Jul-2020

पर्ची पर लिखाया सही नाम

गुरुवार सुबह लगभग नौ बजे विकास दुबे वीआईपी दर्शन के टिकट काउंटर पर पहुंचा। वहां उसने वीआईपी दर्शन के लिए 250 रुपए की पर्ची कटवाई। उसने जानबूझकर पर्ची पर अपना सही नाम विकास दुबे लिखवाया और मोबाइल नंबर भी दिया।
11:09 AM, 09-Jul-2020
महाकाल मंदिर में लखन यादव नाम के गार्ड ने गैंगस्टर विकास दुबे को पहचाना और उसे पुलिस को सौंप दिया।
 
 
11:04 AM, 09-Jul-2020

ये आत्मसमर्पण है या गिरफ्तारी: अखिलेख यादव

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेख यादव ने विकास दुबे की गिरफ्तारी को लेकर कहा, 'खबर आ रही है कि ‘कानपुर-कांड’ का मुख्य अपराधी पुलिस की हिरासत में है। अगर ये सच है तो सरकार साफ करे कि ये आत्मसमर्पण है या गिरफ्तारी। साथ ही उसके मोबाइल की सीडीआर सार्वजनिक करे जिससे सच्ची मिलीभगत का भंडाफोड़ हो सके।'
 
 
10:16 AM, 09-Jul-2020

मध्यप्रदेश के गृह मंत्री ने दुबे की गिरफ्तारी की पुष्टि की

गैंगस्टर की गिरफ्तारी पर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा का कहना है कि मध्यप्रदेश पुलिस को इंटेलिजेंस से कुख्यात अपराधी विकास दुबे के उज्जैन आने की सूचना मिली थी। इसी आधार पर महाकाल थाना पुलिस ने विकास की गिरफ्तारी की है।
09:41 AM, 09-Jul-2020

विकास दुबे को लेकर झांसी पहुंची यूपी एसटीएफ टीम, कानपुर के लिए रवाना

कानपुर गोलीकांड के सातवें दिन कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे ने फिल्मी अंदाज में मध्यप्रदेश के उज्जैन स्थित महाकाल मंदिर में आत्मसमर्पण कर दिया। सूत्रों से मिली खबर के अनुसार विकास दुबे ने महाकाल मंदिर के गार्ड से चिल्ला- चिल्लाकर कहा कि जानते हो मैं विकास दुबे हूं। इसके बाद महाकाल के सुरक्षा गार्डों ने तत्परता दिखाते हुए उसे पकड़कर मध्यप्रदेश पुलिस के हवाले कर दिया।
 
 
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us