विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020
Astrology Services

हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

मध्य प्रदेश

सोमवार, 6 अप्रैल 2020

#ladengecoronase: आर्ट ऑफ लिविंग-आईएएचवी ने प्रवासी मजदूरों और जरूरतमंदों तक पहुंचाई राहत सामग्री

मध्यप्रदेश में आर्ट ऑफ लिविंग के स्वयं सेवकों ने आईएएचवी के साथ मिलकर लाखों प्रवासी मजदूरों, परिवारों और जरूरतमंदों को 500 टन आवश्यक राहत सामग्री पहुंचाई। संस्थान ने हैदराबाद में भी एक अस्पताल की व्यवस्था की है। इसमें तनाव और चिंता को दूर करने संबंधी परामर्श के लिए एक ऑनलाइन हेल्पलाइन भी जारी की गई है।

लगातार प्रयासों के चलते आर्ट ऑफ लिविंग के स्वयं सेवकों ने अपने सहयोगी संस्थान इंटरनेशनल एसोसिएशन फॉर ह्यूमन वैल्यूज के साथ मिलकर देश के सभी कोनों महाराष्ट्र, कर्नाटक, पंजाब, मध्यप्रदेश, पश्चिम बंगाल, छत्तीसगढ़, तेलंगाना, दिल्ली और जम्मू राज्य शामिल हैं में लगातार बिना थके हुए राहत सामग्री पहुंचा रहे हैं।

स्वयं सेवकों ने देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे एक लाख से अधिक दैनिक श्रमिकों और प्रवासी मजदूरों को राहत सामग्री पहुंचाई है। आर्ट ऑफ लिविंग / आईएएचवी ने इस अभियान में फिल्म और टीवी के सहयोगियों को शामिल करते हुए देशभर में लाखों परिवारों को 10 दिन का राशन वितरित किया। 500 टन राहत सामग्री का वितरण देश के विभिन्न हिस्सों में किया गया जिसमें भोज्य पदार्थ, दवाइयां और प्रक्षालक ( सैनिटाइजर ) शामिल हैं।
... और पढ़ें

Corona in MP: भोपाल में महिला आईएएस अधिकारी भी संक्रमित, इंदौर-छिंदवाड़ा में दो मौतें

मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। प्रदेश में दो लोगों की मौत हुई है। छिंदवाड़ा में 36 साल के सरकारी कर्मचारी और इंदौर में 42 साल के व्यक्ति की कोरोना वायरस से मौत हो गई है। इसके साथ ही राज्य में मृतकों की संख्या बढ़कर 11 हो गई है। राज्य में अब कुल कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या 164 पर पहुंच गई है। आज खरगोन में भी दो संक्रमित मिले। 



स्वास्थ्य विभाग की दो शीर्ष महिला अधिकारी संक्रमित

शनिवार को स्वास्थ्य विभाग की दो शीर्ष महिला अधिकारी कोरोना वायरस से संक्रमित पाई गईं। इनमें से एक आईएएस अधिकारी हैं। स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि दोनों महिला अधिकारी भोपाल में पदस्थ हैं। इससे पहले गुरुवार को स्वास्थ्य विभाग से जुड़े एक अन्य आईएएस अधिकारी में भी कोरोना वायरस के संक्रमण के पुष्टि हुई थी।
भोपाल में अब तक 17 लोगों में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई है।

पिता भी हैं कोरोना पॉजिटिव

छिंदवाड़ा जिले में कोविड-19 से पहली मौत हुई। इस शख्स के पिता की कोरोना रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। अतिरिक्त जिलाधिकारी (एडीएम) राजेश बाथम ने कहा, 'पीड़ित सरकारी कर्मचारी थे और उनकी तैनाती इंदौर में थी। जो मध्यप्रदेश में कोविड-19 के हॉटस्पॉट के रूप में उभरा है। उनके पिता की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उन्हें जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है।'
 


इंदौर में 42 साल के संक्रमित की मौत
अधिकारी ने बताया कि इंदौर में 42 साल के कोरोना संक्रमित की मौत हो गई है। इसके साथ राज्य में कोविड-19 की वजह से मरने वालों की संख्या 11 पर पहुंच गई है। शासकीय महात्मा गांधी स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय के एक अधिकारी ने बताया कि शहर के नार्थ हाथीपाला क्षेत्र में रहने वाले 42 वर्षीय पुरुष की कोरोना वायरस से संक्रमित होने के कारण शनिवार सुबह मनोरमा राजे टीबी (एमआरटीबी) चिकित्सालय में मौत हो गई। अधिकारी ने बताया कि मरीज को पिछले तीन दिन से सांस लेने में परेशानी हो रही थी और वह खांसी एवं बुखार से भी पीड़ित था। वह उच्च रक्तचाप और मोटापे से भी पीड़ित था।



भोपाल में 14 मामले सामने आए   
भोपाल के मुख्य चिकित्सा अधिकारी सुधीर देहरिया ने कहा कि यहां अबतक 14 लोग कोरोना संक्रमित हैं। इनमें से चार लोग दिल्ली से लौटे तब्लीगी जमात के हैं। एक पुलिस कांस्टेबल भी इसकी चपेट में आया है। इनके संपर्क में आए लोगों की पहचान की जा रही है।  
  इंदौर के कलेक्टर मनीष सिंह ने जारी किए दो आदेश  
  • 5 अप्रैल को रात 9 बजे घर पर ही दीये जलाना है, घर के बाहर या सड़कों पर न निकलें। यदि कोई बाहर मिलता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। 
  • कोरोना से युद्ध में जुटे सरकारी कर्मचारियों को किराए के लिए परेशान न करें मकान मालिक, ड्यूटी से लौटने पर घरों में प्रवेश पर भी न लगाएं पाबंदी। 
इंदौर में छह, उज्जैन में दो की मौत
एक अधिकारी ने बताया कि कोरोना वायरस की वजह से इंदौर में छह, उज्जैन में दो और खरगौन में एक व्यक्ति की मौत हो चुकी है।

आलीराजपुर जिले में पिता-पुत्र की मौत की खबर 
वहीं, खबरों के मुताबिक, आलीराजपुर जिले के उदयगढ़ कस्बे में सात घंटे के भीतर पुत्र व पिता की मौत हुई है। इससे प्रशासन व स्वास्थ्य अमले में हड़कंप मच गया। कलेक्टर ने अंतिम संस्कार रुकवा कर पिता-पुत्र दोनों के शव से सैंपल लिए, आसपास के ग्रामीणों की भी जांच की गई। ग्रामीणजन कोरोना की आशंका से सहमे हुए हैं। हालांकि, सीएमएचओ ने कहा कि दोनों की मौत को कोरोना से जोड़कर नहीं देखा जाना चाहिए। 

खरगोन जिले में कोरोना वायरस के दो नए मामले मिले
मध्यप्रदेश के खरगोन जिले में शनिवार को कोरोना वायरस के दो नए मामले सामने आए। इनमें से एक फ्रांस में मेडिकल की पढ़ाई करने वाला विद्यार्थी और दूसरा 49 वर्षीय एक अन्य व्यक्ति है जिसने दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में तबलीगी जमात के कार्यक्रम में हिस्सा लिया था। जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) रजनी डाबर ने बताया कि शनिवार को प्राप्त रिपोर्ट में दो लोगों को कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है। इनमें शहर के शंकर नगर में रहने वाला 49 वर्षीय व्यक्ति शामिल है जो हाल ही में निजामुद्दीन मरकज में तब्लीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल होकर 19 मार्च को खरगोन वापस लौटा था। इससे पहले यह व्यक्ति दक्षिण अफ्रीका भी गया था और वहां से दिल्ली लौटकर मरकज के कार्यक्रम में शामिल हुआ था।

मध्यप्रदेश के मुरैना में दस नए मामले
मध्यप्रदेश के मुरैना में दस नए संक्रमित पाए गए हैं। कलेक्टर प्रियंका दास ने बताया कि सभी संक्रमित दुबई से लौटे संक्रमित युगल के रिश्तेदार हैं। हालांकि, परिवार के 18 सदस्यों के रिपोर्ट नेगेटिव आए हैं।
 
... और पढ़ें

मध्यप्रदेश: इंजीनियर ने एक दिन में बनाई फुल बॉडी सेनेटाइजेशन मशीन, 30 हजार में कर दिखाया कारनामा

मध्यप्रदेश के भोपाल में कोरोना वायरस से लड़ाई के लिए फुल बॉडी सेनेटाइजेशन मशीन तैयार की गई है। इस मशीन को नगर निगम के इंजीनियर एक दिन में 30 हजार की लागत से तैयार किया है। आमतौर पर इस मशीन को तैयार करने में दो लाख रुपये लगते हैं। सेनेटाइजेशन मशीन की मदद से कोरोना वॉर रूम को संक्रमण से मुक्त रखने में मदद मिल सकेगी।

फुल बॉडी सेनेटाइजेशन मशीन को उपायुक्त विनोद कुमार शुक्ल और सहायक यंत्री श्री हबीब उर रहमान की टीम द्वारा निजी कंपनी के सहयोग से तैयार किया गया है। खास बात यह है कि इसे भोपाल में ही बनाया गया है। 

इस मशीन को स्मार्ट सिटी कार्यालय के मुख्य द्वार पर स्थापित कराया गया है। स्मार्ट सिटी कार्यालय में कार्यरत हर अधिकारी और कर्मचारी को इस मशीन के भीतर से गुजर कर ही कार्यालय में प्रवेश दिया जा रहा है। अब यहां अधिकारी और कर्मचारी भयमुक्त होकर काम कर रहे हैं।

वहीं, दूसरी तरफ भोपाल में कोविड-19 से लड़ने के लिए अब खराब हो चुकी पुरानी बसों का इस्तेमाल किया जा रहा है। दरअसल, भोपाल में अब लो-फ्लोर बसों में मोबाइल आइसोलेशन वार्ड बनाए जा रहे हैं। यह काम नगर निगम और सार्थक संस्था की तरफ से किया जा रहा है। इन वार्डों को इसलिए बनाया जा रहा है ताकि जरूरत पड़ने पर इन्हें एक जगह से दूसरी जगह आसानी से ले जाया जा सके।

इस पूरे मामले पर नगर निगम कमिश्नर बी विजय दत्ता ने कहा है कि इन आइसोलेशन वार्डों को कॉर्पोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी (सीएसआर) के तहत तैयार किया जाएगा। मौजूदा समय में यहां डिपो में 36 कबाड़ बसें खड़ी हैं। इनमें से 22 बसों पर काम शुरू कर दिया गया है। इन बसों में अभी सीटों को हटाया जा रहा है, जो जल्द ही पूरा हो जाएगा।  
... और पढ़ें

कोरोना : भोपाल में संक्रमण के मामले बढ़कर 50 हुए, शहर आज से पूरा लॉकडाउन

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना वायरस से पहली मौत हुई है। राजधानी में 52 वर्षीय व्यक्ति की मौत के साथ ही राज्य में इस संक्रमण से मरने वालों की संख्या बढ़कर 15 हो गई। भोपाल के कलेक्टर तरुण कुमार पिथोड़े ने कहा कि हाल ही में उस व्यक्ति की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई थी। रविवार की रात उसका इलाज एक निजी अस्पताल में चल रहा था, जहां उसकी मृत्यु हो गई।

निजी अस्पताल के डॉ. राजेश शर्मा ने बताया कि वह शहर के सब्जी बाजार में एक चौकीदार के रूप में काम करता था और लंबे समय से अस्थमा से पीड़ित था। राज्य में अब तक 15 लोग इस महामारी के शिकार हुए हैं। जिनमें इंदौर में नौ, उज्जैन में दो भोपाल, खरगोन और छिंदवाड़ा में एक-एक तथा राज्य के अन्य इलाके में इस बीमारी से एक व्यक्ति की मौत हुई है। 
 
रविवार को भोपाल में कोरोना के 23 नए मरीज मिले। इन्हें मिलाकर भोपाल में कोरोना के 41 मरीज हो चुके हैं। पॉजिटिव पाए गए 23 लोगों में नौ स्वास्थ्य विभाग के अफसर और एक कर्मचारी तथा 12 तब्लीगी जमात के लोग और एक सब्जी व्यापारी का बेटा शामिल है। 

शहर से आज से पूरा लॉकडाउन
गंभीर होती स्थिति को देखते हुए प्रशासन ने सोमवार से पूरा शहर लॉक डाउन करने का फैसला किया है। दूध और दवाई की दुकानों को छोड़कर शेष सभी प्रकार की दुकानें अगले आदेश तक बंद रहेंगी। 

आदेश के अनुसार, केवल होम डिलीवरी, दूध की दुकानें और मेडिकल दुकानें ही इस लॉकडाउन में खुलेंगी। साथ ही शासकीय कार्य के लिए अतिआवश्यक सेवा मे लगे हुए सभी अधिकारियो और कर्मचारियो के वाहनों को इस प्रतिबंध से छूट रहेगी। बिना कारण घर से निकले तो गिरफ्तारी भी हो सकती है। यदि आप दूध लेने भी जा रहे हैं तो पैदल ही जाना होगा। यदि वाहन लेकर निकले और पुलिस ने रोक लिया तो केस दर्ज किया जा सकता है। ये लॉकडाउन नौ अप्रैल तक जारी रहेगा। इसके बाद अफसर लॉकडाउन के नतीजों का रिव्यू करेंगे, इसके बाद ही आगे का निर्णय लिया जाएगा।

भोपाल में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़कर 50 हुए
भोपाल में सोमवार को कोरोना वायरस संक्रमण के नौ और मामले सामने आने के बाद यहां संक्रमित कुल लोगों की संख्या बढ़कर 50 हो गई है। इनमें से सात मरीज स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी और अधिकारी हैं।

प्रदेश के जनसंपर्क विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि सोमवार को नौ और लोगों की जांच के बाद वे कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए। भोपाल में इस महामारी के मरीजों की संख्या बढ़कर 50 हो गई है।

पिछले एक सप्ताह में प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग की प्रमुख सचिव सहित दो आईएएस अधिकारी कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इसके अलावा स्वास्थ्य विभाग के कुछ अन्य कर्मचारी और अधिकारी भी संक्रमित पाए गए हैं।
... और पढ़ें
कोरोना वायरस कोरोना वायरस

चिंताजनक हालात: मध्यप्रदेश के मुरैना में 26 हजार लोगों पर संक्रमण का खतरा, सभी किए गए क्वारंटीन

दुबई से लौटे एक शख्स ने मृत्युभोज दिया, जिसमें शामिल होने वाले दस लोगों को कोरोना पॉजिटिव पाया गया। अब इन दस लोगों की वजह से 26 हजार लोगों को घर में क्वारंटीन करना पड़ा है। एसडीएम आरएस बकना ने रविवार को बताया, दुबई के एक होटल में वेटर का काम करने वाला शख्स मां की मौत की सूचना मिलने के बाद 17 मार्च को दुबई से मध्यप्रदेश के  मुरैना लौटा था।

20 मार्च को उसकी मां की तेरहवी थी और उस शख्स ने मृत्युभोज का आयोजन किया था। इस व्यक्ति ने शुरुआत में अपने दुबई से लौटने की जानकारी छुपाई थी, लेकिन 2 अप्रैल को उसे और उसकी पत्नी को कोरोना से संक्रमित पाया गया।

चीफ मेडिकल ऑफिसर आरसी बांदिल ने बताया, तबीयत ज्यादा बिगड़ने पर यह दंपती अस्पताल पहुंचा था। कोरोना वायरस के लक्षण मिलने के बाद उन्हें तुरंत आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया। इसके बाद दोनों के सैंपल लिए गए, जिसमें कोरोना वायरस की पुष्टि हुई। इसके बाद इस व्यक्ति ने दुबई से लौटने की बात बताई।

10 अप्रैल को दंपती के संपर्क में आने वाले 10 और लोग कोरोना पॉजिटिव मिले, जिसे जिला प्रशासन सतर्क हो गया। अधिकारियों को पता चला कि मृत्युभोज में करीब 1,000 से 1200 लोग शामिल हुए थे।  इसके बाद प्रशासन ने पूरे वार्ड नंबर 47 को सील कर दिया, जहां इस व्यक्ति का घर है।

बांदिल के मुताबिक, यह घटना सामने आने के बाद संक्रमित व्यक्तियों के संपर्क में आए जिले में कुल 27, 881 लोगों को होम क्वारंटीन किया गया है। इनमें से 26 हजार उन लोगों के रिश्तेदार, परिवारवाले या संपर्क में आए लोग हैं, जो मृत्युभोज में शामिल हुए थे। अब तक इनमें से 24 लोगों को स्क्रीनिंग के बाद जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
... और पढ़ें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दिया जलाने वाले संदेश का कांग्रेस विधायक ने किया समर्थन

मध्य प्रदेश में कांग्रेस के एक विधायक ने प्रधानमंत्री मोदी के आज रात नौ बजे नौ मिनट के लिए 'दिया जलाने' के आह्वान का समर्थन किया है। ग्वालियर दक्षिण विधानसभा क्षेत्र के प्रतिनिधि प्रवीण पाठक ने सोशल मीडिया पर पूर्व प्रधानंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की कविता के जरिए कहा है कि यही एकता प्रदर्शित करने का समय है।

नवंबर 2018 में विधानसभा चुनाव में भाजपा के तीन बार के विधायक और मंत्री रहे नारायण सिंह कुशवाह को हराकर पहली बार विधायक बने पाठक ने रविवार को ट्विटर पर एक वीडियो संदेश अपलोड करके कहा, 'लोकतांत्रिक देश के नागरिक होने नाते देश के मुखिया की अपील के सम्मान में दलगत राजनीति से ऊपर उठकर रविवार की रात 9 बजे 9 मिनट के लिए एक दीप जरूर जलाएं। राष्ट्र प्रथम होना चाहिए, जीवन में उसके उपरांत, कुछ और उसके बाद।' 

इसके साथ उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की कविता की एक पंक्ति, आओ फिर से दिया जलाएं लिखी है। इस बारे में पूछे जाने पर कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक ने कहा, 'यह देश की एकता की बात है और हर मामले को राजनीति की दृष्टि से नहीं देखना चाहिए।.... (मैंने) देश के मुखिया यानि प्रधानमंत्री का समर्थन किया है, किसी व्यक्ति विशेष का नहीं और इसका गलत अर्थ नहीं निकाला जाना चाहिए।'
... और पढ़ें

मध्यप्रदेश में नहीं होगा कोई कार्यक्रम, आदेश ना मानने पर होगी जेल

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस को लेकर शनिवार को कहा कि राज्य में कोई भी छोटा या बड़ा कार्यक्रम नहीं होना चाहिए। अगर ऐसा होगा तो आयोजकों को जेल भेजा जाएगा।

मध्यप्रदेश सीएम ने कहा कि मैं एक बार फिर दोहरा रहा हूं कि कोई भी समारोह, बड़ा या छोटा, आयोजित नहीं होना चाहिए। यदि कोई इस तरह के कार्यों का आयोजन करता है या चिकित्सा प्रक्रिया में बाधा डालता है तो उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाएगी और उन्हें जेल भेजा जाएगा। 

सीएम चौहान ने कहा कि लोगों को अपनी जानकारी का खुलासा करने के लिए खुद से आगे आना चाहिए लेकिन वे हिचकिचा रहे हैं, इसलिए कोरोना वायरस फैलता जा रहा है। उन्होंने कहा कि लोगों की तरफ से सहयोग की कमी थी। आप इंदौर में कुछ विशिष्ट क्षेत्रों में इस मुद्दे को देखेंगे। लोग यह जांच के लिए भी समस्याएं पैदा कर रहे हैं ताकि स्वास्थ्य कर्मचारी वहां न पहुंच सकें।

लोग जान से खिलवाड़ ना करें
मुख्यमंत्री ने कहा कि जान बचाना महत्वपूर्ण है इसलिए स्वास्थ्य कर्मचारी उन इलाकों में हमला होने के बाद भी जांच के लिए वापस चले गए। मैं लोगों से अपील करना चाहता हूं कि वे अपनी जान से खिलवाड़ ना करें। उन्होंने कहा कि यदि कोई एक वायरस वाहक बन जाता है, तो वह कई अन्य लोगों को प्रभावित करेगा। हमने ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की। हमने राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) लागू किया।

57 विदेशी जामातियों का पासपोर्ट जब्त
सीएम ने कहा कि हम किसी को भी मानव जीवन के साथ खिलवाड़ नहीं करने देंगे। हमने 57 विदेशी जामातियों की पहचान की। वे टूरिस्ट वीजा पर आए और वाहक होते हुए किसी को बिना बताए इधर-उधर चले गए। इसलिए उनके पासपोर्ट जब्त कर लिए गए हैं और उन्हें ब्लैकलिस्ट किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि हम उन सभी के खिलाफ कार्रवाई करेंगे जो कोरोना वायरस को रोकने में बाधा बनते हैं। हम किसी को भी नहीं बख्शेंगे। हम राज्य में लॉकडाउन को लेकर ड्रोन का उपयोग करके भी निगरानी रखेंगे।
... और पढ़ें

एंबुलेंस में तड़प रही थी महिला, नहीं खुला आईसीयू का ताला, अस्पताल में मौत

CM Shivraj Singh Chouhan
मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही। प्रदेश में इंदौर में सबसे ज्यादा मरीज हैं। वहीं, उज्जैन में भी सात मामले सामने आ चुके हैं। राज्य सरकार की कोरोना से जंग लड़ने की तैयारियों को उस वक्त बड़ा झटका लगा जब एक महिला को आईसीयू में सही समय से भर्ती न किए जाने पर उसने दम तोड़ दिया।

एक कोरोना संदिग्ध बुजुर्ग महिला को सरकारी अस्पताल में वेंटिलेटर नहीं मिला तो उसे एक निजी अस्पताल ले जाया गया। अस्पताल में आईसीयू के कमरे में ताला लगा हुआ था और महिला एंबुलेंस में थी और उसकी हालत बिगड़ती जा रही थी। कमरे की चाबी किसी स्टाफ के पास नहीं थी। बाद में कमरे का ताला तोड़ा गया लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी। सही समय पर आईसीयू में भर्ती नहीं होने से महिला की मौत हो गई। 

बता दें कि 55 वर्षीय महिला को गुरुवार देर रात जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उन्हें सांस लेने में तकलीफ थी और हाई ब्लड प्रेशर था। हालत बिगड़ती देख डॉक्टरों ने कोरोना वायरस टेस्ट के सैंपल्स लेकर यहां से उसे माधवनगर अस्पताल शिफ्ट कर दिया गया जहां उसकी मौत हो गई।

महिला की मौत का मामला सामने आने के बाद माधवनगर अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ आर पी परमार और इंचार्ज डॉ महेश मरमाट को हटा दिया गया है। दोनों डॉक्टरों पर इस महिला और एक अन्य महिला को वेंटिलेटर न देने का आरोप हैं। दोनों ही महिलाओं की मौत हो चुकी है। 
... और पढ़ें

कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति ने आयोजित किया मृत्युभोज, शामिल होने वाले 10 चपेट में

मध्यप्रदेश के मुरैना में दुबई से लौटे कोरोना वायरस से संक्रमित 45 वर्षीय व्यक्ति की दिवंगत मां की तेरहवीं में शामिल होने वालों में 10 लोग इस वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। जिसके बाद अब 26 हजार से ज्यादा लोगों को अलग स्थान पर रखा गया है। इस व्यक्ति की पत्नी भी कोरोना वायरस से संक्रमित पाई गई है। यह मृत्युभोज 20 मार्च को मुरैना में हुआ था और इसमें करीब 1,200 लोग शामिल थे।

दरअसल, यह व्यक्ति अपनी मां की तेरहवीं करने के लिए 17 मार्च को दुबई से अपने घर मुरैना आया था। उसने अपनी विदेश यात्रा की जानकारी अधिकारियों को नहीं दी थी। उसकी विदेश यात्रा का पता चलने पर इस व्यक्ति और उसकी पत्नी की 31 मार्च को कोरोना संक्रमण की जांच की गई। दो अप्रैल को आई रिपोर्ट में दोनों संक्रमित पाए गए। इसके बाद व्यक्ति के संपर्क में आए 10 अन्य लोगों की जांच रिपोर्ट में उनके संक्रमित होने की पुष्टि हुई।

मुरैना जिला के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) आरसी बांदिल ने बताया कि मुरैना में कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए ये लोग दुबई से लौटे व्यक्ति की मां की तेरहवीं पर दिए गये भोज में शामिल हुए थे। उन्होंने कहा कि इस घटना के सामने आने के बाद इससे संबंधित लोगों की जांच के तहत करीब दो दर्जन लोगों को जिला अस्पताल के पृथक वार्ड में भर्ती कर उनके नमूने लिए गए ।

बांदिल ने बताया, 'इस मृत्युभोज में शामिल हुए लोगों और उनसे जुड़े जिले के 26 हजार से ज्यादा लोगों को उनके घरों पर ही पृथक वास में रखा गया है।' उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों से मृत्युभोज में आए लोगों की मेडिकल टीमों द्वारा सतत निगरानी की जा रही है। इसके अलावा प्रशासन ने इन लोगों के सैकड़ों घरों को संक्रमण मुक्त कराया है। साथ ही ऐसे लोगों की पहचान भी की जा रही है, जो इनके संपर्क में आए हैं।
... और पढ़ें

शिवराज बोले- कोरोना वायरस संकट समाप्त होने पर करूंगा गोवर्धन पर्वत की परिक्रमा

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना वायरस संकट समाप्त होने पर वह उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले स्थित गोवर्धन पर्वत की परिक्रमा करेंगे। चौहान ने कहा कि कोरोना संकट समाप्त होने पर मैं स्वयं 'गिरिराज जी की परिक्रमा' करने जाऊंगा।

उल्लेखनीय है कि गोवर्धन और इसके आसपास के क्षेत्र को ब्रज भूमि भी कहा जाता है। यह भगवान श्री कृष्ण की लीलास्थली है। यहीं पर भगवान श्री कृष्ण ने द्वापर युग में ब्रजवासियों को इंद्र के प्रकोप से बचाने के लिए गोवर्धन पर्वत अपनी कनिष्ठ अंगुली पर उठाया था। गोवर्धन पर्वत को भक्तजन गिरिराज जी भी कहते हैं।

चौहान ने जनता से अपील की है कि कोविड-19 महामारी के दौरान लोग मृत्युभोज एवं विवाह सहित आदि का आयोजन न करें। चौहान ने शनिवार रात को दूरदर्शन के माध्यम से प्रदेश की जनता को संबोधित करते हुए यह बात कही।

उन्होंने प्रदेश में कोरोना वायरस संकट से निपटने के लिए सभी धर्मगुरुओं के साथ बैठक करके उनसे आग्रह किया गया है कि प्रदेश में आगामी त्यौहार घर पर ही रहकर मनाए जाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि हर समुदाय अथवा धर्म के लोग कोरोना वायरस से निपटने के प्रयासों में सहयोग कर रहे हैं तथा पिछले त्यौहार भी उन्होंने घर पर रहकर ही मनाए हैं।

चौहान ने कहा कि मुरैना में संक्रमण फैलने का कारण दुबई से आए एक परिवार द्वारा वहां मृत्युभोज का आयोजन किया जाना था। मैं लोगों से अनुरोध करता हूं कि इस संकट की घड़ी में लोग मृत्युभोज, विवाह आदि का आयोजन न करें।

मालूम हो कि कोरोना वायरस संक्रमित 45 वर्षीय व्यक्ति विदेश यात्रा पर दुबई गया था और वह बंद लागू होने से पहले मुरैना वापस लौट आया था। वापस आने के बाद उसने अपनी विदेश यात्रा की जानकारी नहीं दी थी।

इसी दौरान इस व्यक्ति के किसी परिजन की किसी अन्य बीमारी से मौत हो गई थी, जिसके मृत्युभोज में कई लोग शामिल हुए थे। इस व्यक्ति के संपर्क में आने से उसकी पत्नी सहित 11 लोग मुरैना में कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए और वायरस इलाके में तेजी से फैल गया।
... और पढ़ें

कश्मीरः बांदीपोरा में सेना के जवान ने खुद को मारी गोली, मौत

उत्तरी कश्मीर के बांदीपोरा जिले में रविवार को सेना के एक जवान ने अपनी सर्विस राइफल से गोली मारकर आत्महत्या कर ली। सूत्रों के मुताबिक मूल रूप से मध्यप्रदेश के मुरैना निवासी सिपाही सतेंद्र कुमार तोमर ने खुद को गोली मार ली।

घटना के वक्त वह बांदीपोरा में 14 आरआर कैंप में ड्यूटी पर थे। फायरिंग की आवाज सुनते ही साथी जवान उनकी ओर दौड़े। मौके पर पहुंचे जवानों ने उन्हें खून से लथपथ पाया। इसके बाद उन्हें सेना के अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

एक पुलिस अधिकारी ने उक्त घटना की पुष्टि करते हुए कहा कि इस संबंध में मामला दर्ज किया गया है और आगे की जांच की जा रही है। अधिकारी ने कहा कि यह पता लगाया जा रहा है कि जवान ने ऐसा कदम क्यों उठाया।
... और पढ़ें

मध्यप्रदेश के नाहरू खान ने बनाई स्वचालित सफाई मशीन

कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में हर कोई अपने तरीके से सहयोग कर रहा है। अब इस कड़ी में मध्यप्रदेश के नाहरू खान नाम जुड़ा है। जिन्होंने सफाई (सैनिटाइजिंग) के लिए एक स्वचालित मशीन विकसित की है। मंदसौर के रहने वाले 62 वर्षीय नाहरू खान ने इस मशीन को जिला के इंदिरा गांधी अस्पताल में सहयोग के रूप मे दिया है। नाहरू ने बताया कि उन्होंने इसे यूट्यूब से देखकर बनाया है और इस मशीन को बनाने में 48 घंटे का समय लगा। उनका कहना है कि इस मशीन से कई लोगों को लाभ मिलेगा।
 

मध्यप्रदेश में लगातार कोराना संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं। इंदौर में कोरोना वायरस संक्रमण के 16 नए मामले सामने आए हैं। जिसमें से 10 मामले टाटपट्टी बाखल से हैं। यह वही इलाका है जहां एक अप्रैल को सर्वे के दौरान स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों पर हमला और पथराव किया गया था। इसके साथ ही राज्य में पॉजिटिव मामलों की संख्या बढ़कर 128 हो गई है। 
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन