विज्ञापन

कोरोना से जंग में पुलिस संग काशीवासी दिखा रहे दरियादिली, मजदूरों को उपलब्ध कराया भोजन

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, वाराणसी Updated Wed, 25 Mar 2020 12:34 AM IST
विज्ञापन
लंच पैकेट देती पुलिस
लंच पैकेट देती पुलिस - फोटो : अमर उजाला।
ख़बर सुनें
कोरोना के संक्रमण से बचाव के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से देश में आगामी 21 दिनों के लिए लॉकडाउन की घोषणा कर दी गई है। जाहिर है कि लॉकडाउन के दौरान आर्थिक समस्या भी उत्पन्न होगी और जो शुरू भी हो गई है। इससे सबसे ज्यादा प्रभावित दैनिक मजदूरी करने वाले और उनका परिवार हो रहा है। हालांकि प्रशासन की ओर से ऐसे लोगों की मदद के लिए विशेष इंतजाम करने की बात भी कही गई है। लेकिन सबसे जरूरी पहल लोगों को खुद आगे आकर सतर्कता बरतते हुए प्रशासन के माध्यम से ऐसे जरूरतमंदों के मदद की है। मानवता को जीवंत बनाने वाला ऐसा कार्य मंगलवार देर रात वाराणसी पुलिस की ओर से किया, जब भूखे सोने को मजबूर दिहाड़ी करने वाले लोगों को भोजन का पैकेट दिया गया।
विज्ञापन

दरअसल, लॉकडाउन के कारण मंगलवार की रात चेतगंज थाना के कालीमहल क्षेत्र में पत्ता बेचने वाले कुछ लोग फंस गए। भूखे पेट सड़क पर समय बिता रहे थे। इस दौरान ड्यटी कर रहे लक्सा इंस्पेक्टर भूपेश कुमार राय ने अपने साथियों और अन्य समाजसेवियों के साथ जरूरतमंदों को भोजन का पैकेट दिया।
बताते चलें कि लॉकडाउन के दौरान मजदूरों को भोजन उपलब्ध कराने के लिए वाराणसी शहर में आठ लोगों सहित कुछ संगठनों ने सहमति भी जताई है। इनमें अस्सी घाट अन्न क्षेत्र, अन्नपूर्णा मंदिर, संजय केशरी, कृष्ण कुमार सोमानी, नीतीश कुमार चितईपुर, डॉ अरविंद सिंह पांडेयपुर, रिजवान अहमद, भेलूपुर, किशन जालान शामिल हैं। इनकी ओर से प्राप्त भोजन का वितरण कल से शुरू होगा। समाजसेवी संजय केशरी ने खाने के सौ पैकेट उपलब्ध कराए हैं, जिनको प्रशासन ने वितरित किया है।
 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us