बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

माई सिटी टॉक्स: घरवालों को मनाने में लगे दस साल, एक-दूसरे की ताकत बने रहे स्नेहकिरन व सुनीत

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ Published by: ishwar ashish Updated Mon, 10 Feb 2020 02:46 PM IST
विज्ञापन
डॉ. स्नेहकिरन रघुवंशी और डॉ. सुनीत सिंह
डॉ. स्नेहकिरन रघुवंशी और डॉ. सुनीत सिंह - फोटो : amar ujala

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
मशहूर फिल्मकारों का अमर उजाला के पाठकों से सीधा संवाद कराने और उन्हें फिल्मी सितारों से रूबरू कराने की अगली कड़ी इस बार आगरा में होगी। ‘माई सिटी टॉक्स-लव आजकल’ नामक इस कार्यक्रम के तहत कलाकारों से मिलने के लिए जोड़ियों का चयन उनकी प्रेम कहानी के आधार पर किया जा रहा है। लखनऊ से डॉ. स्नेहकिरन रघुवंशी और डॉ. सुनीत सिंह की कहानी चुनी गई है, जिसे आज के अंक में प्रकाशित किया जा रहा है। चुनी गई कहानियों से सिर्फ 10 भाग्यशाली जोड़ियों को कलाकारों से मिलने का मौका आगरा में मिलेगा। आगे पढ़ें ये कहानी:
विज्ञापन


मैं डॉ. स्नेहकिरन रघुवंशी किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के प्रॉस्थोडॉन्टिक्स विभाग में सीनियर रेजीडेंट हूं। मेरे पति डॉ. सुनीत सिंह आर्थोडॉन्टिस्ट हैं, प्राइवेट प्रैक्टिशनर। हमारी पहली मुलाकात 2007 में हुई, जब हमने बीडीएस में एडमिशन लिया था।


कुछ समय साथ बिताने के बाद हम दोनों ने ही समझ लिया था कि हम एक दूसरे के लिए बने हैं। हालांकि वो उम्र का तकाजा था और कॉलेज वाला प्यार, जिसमें तय किया कि ये दोस्ती हमेशा बनी रहे, इसलिए हम शादी करेंगे। हमें दस साल लग गए घरवालों को मनाने में। हम इस संघर्ष में एक दूसरे की ताकत बने रहे और जीत हमारी हुई।

एक दूसरे के साथ, एक वादा और एक इरादा कर चुके हम दोनों अपने-अपने कॅरिअर में आगे बढ़ने लगे। हालांकि इस बीच हमने अपने फैसले की जानकारी परिवार वालों को दी, लेकिन उनकी अपनी सोच, परंपराएं, मान्यताएं..., हमारा रास्ता रोक रही थीं।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

'विरोध करने के बजाय तय किया कि पहले अपना कॅरिअर बनाएंगे'

विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us