रिलायंस पर 23,000 करोड़ के घोटाले का आरोप

sachin yadavसचिन यादव Updated Wed, 02 Jul 2014 05:51 PM IST
विज्ञापन
mukesh ambani once again in trouble

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
मुकेश अंबानी के स्वामित्व वाली कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज (आरआईएल) एक बार फिर गलत कारणों से चर्चा में है। केजी बेसिन गैस उत्पादन और बाद में गैस कीमतों के मुद्दे पर हाथ जलाने के बाद कंपनी एक बार फिर विवाद का सामना कर रही है।
विज्ञापन

रिलायंस पर 4 जी स्पेक्ट्रम आवंटन में कथित तौर पर 23,000 करोड़ रुपये के घोटाले का आरोप लगा है। आवंटन में रिलायंस की कंपनी रिलायंस जिओ इंफाकॉम ने भाग लिया था।
केडी बेसिन गोल्ड प्लेटिंग मामले में 2.35 अरब डॉलर का जुर्माना लगाए जाने के बाद एनडीए सरकार ने कंपनी को नई गैस कीमत 8 डॉलर से 8.4 एमबीटीयू देने से इनकार कर दिया है। सरकार ने कीमत के फार्मूले की समीक्षा करने और गैस कीमतों का मामला तीन माह तक स्थगित रखने का फैसला किया है।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

3,468 करोड़ रुपए का रिलायंस पर जुर्माना

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X
  • Downloads

Follow Us