जज ने पत्नी को तीन बार तलाक कह तोड़ दिया रिश्ता

Harendra Singh Moralहरेन्द्र सिंह मोरल Updated Sat, 13 Feb 2016 04:59 PM IST
विज्ञापन
Aligarh additional judge gave oral talaq to his wife

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
रिश्तों के बिखराव का अलीगढ़ में एक ऐसा मामला सामने आया है कि हर कोई हैरत में है। शहर के एक अतिरिक्त जिला जज ने अपनी पत्नी को मौखिक रूप से तीन बार तलाक कहकर शरिया कानून पर नए विवाद को जन्म दे दिया है।
विज्ञापन

वहीं इसके खिलाफ पीड़ित पत्नी ने भी जज के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार पीड़ित महिला अफशा खान ने अपने पति मोहम्मद जहीरुद्दीन सिद्दीकी की शिकायत हाइकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस से करते हुए गुस्से में दिए गए तलाक की परिभाषा तय करने की मांग की है। अपनी याचिका में अफशा ने कहा कि उसके साथ एक ऐसे व्यक्ति ने अन्याय किया है जिसके ऊपर सभी को न्याय दिलाने की जिम्मेदारी है।
पीड़िता का आरोप है कि उसे जज और उनके परिजनों ने प्रताड़ित किया। उन्होंने कहा कि इस लड़ाई के पीछे उसका मकसद समाज को एक सही संदेश देना है। वहीं मौखिक रूप से तलाक देने के संबंध में जब अतिरिक्त जिला जज सिद्दीकी से बात की गई तो उनका कहना था हम इस संबंध में किसी समझौते तक नहीं पहुंच सके जिसके बाद मैंने शरिया कानून के तहत उसे तलाक दे दिया।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

महिला ने पति के खिलाफ खोला मोर्चा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X