विज्ञापन

Corona virus: खुद को घरों में कैद कर लीजिए, सरकार के सामने हैं कई चुनौतियां

Mohhmad Touhid Alamमोहम्मद तौहिद आलम Updated Tue, 24 Mar 2020 03:07 PM IST
विज्ञापन
भारत से ज़्यादा संपन्न होने के बावजूद ये देश इस वायरस को रोक नहीं पाए।
भारत से ज़्यादा संपन्न होने के बावजूद ये देश इस वायरस को रोक नहीं पाए। - फोटो : self
ख़बर सुनें
कोरोना वायरस अब भारत में भी विकराल रूप लेने लगा है। इस हफ्ते में जिस तरह इसके संक्रमितों की संख्या बढ़ी है उसे देखते हुए इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि अगर हमने सावधानी नहीं बरती तो आने वाले दिनों में हमारी भी हालत चीन, अमेरिका, इटली और फ्रांस जैसी हो सकती है। 
विज्ञापन

भारत से ज़्यादा संपन्न होने के बावजूद ये देश इस वायरस को रोक नहीं पाए। इसके प्रसार को देखते हुए हमारे पास सिर्फ और सिर्फ एक ही रास्ता बचता है खुद को आइसोलेट करना। क्योंकि, अगर भारत में यह वायरस विकराल रूप लेता है तो वर्तमान में सरकार की तैयारियों और देश में स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को देखते हुए इसे रोकना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन होगा। 
सरकार इसे लेकर कितना चिंतित हैं इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि भारत में पहला मामला 30 जनवरी को ही सामने आ गया था उसके बावजूद मास्क और वेंटिलेटर का निर्यात 19 मार्च तक जारी रहा। यहीं नहीं सरकारी स्तर पर संक्रमित लोगों को आइसोलेट या क्वारन्टीन करने की भी कोई तैयारी नहीं हुई। तैयारियों का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जब देश में कुल 200 मामले भी सामने नहीं आए थे सरकार ने लोगों को आइसोलेशन और क्वारन्टीन का खर्च खुद उठाने का रास्ता तैयार कर दिया।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us