विज्ञापन

चाणक्य नीति: अगर बनना चाहते हैं सफल और धनवान तो इन अवगुणों का करें त्याग

Shashi Shashi
धर्म डेस्क, अमर उजाला Published by: Shashi Shashi
Updated Fri, 22 Jan 2021 01:04 PM IST
आचार्य चाणक्य
1 of 4
आचार्य चाणक्य को समाजशास्त्र, राजनीति शास्त्र, कूटनीति शास्त्र जैसे विषयों की गहरी समझ थी। वे अर्थशास्त्र के भी मर्मज्ञ थे। अर्थशास्त्र की रचना करने के कारण वे कौटिल्य कहलाए। चाणक्य को किताबी विषयों की गहरी समझ होने के साथ व्यव्हारिक जीवन का भी बहुत अनुभव था। इसलिए उनके द्वारा लिखे गए नीतिशास्त्र में बहुत ही महत्वपूर्ण बाते बताई गई हैं, जो मनुष्य के जीवन को बहुत करीब से प्रभावित करती हैं। आचार्य चाणक्य के द्वारा धन से जुड़ी महत्वपूर्ण नीतियों का भी उल्लेख किया गया है। हर व्यक्ति चाहता है कि वह सफल और धन वैभव से परिपूर्ण जीवन व्यतीत करे इसके लिए वह हर प्रकार से कोशिश भी करता है, लेकिन आचार्य चाणक्य कहते हैं कि जीवन में यदि सफल और धनवान बनना है तो अपने अंदर से कुछ अवगुणों को दूर करना आवश्यक होता है।
अगली स्लाइड देखें
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें आस्था समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। आस्था जगत की अन्य खबरें जैसे पॉज़िटिव लाइफ़ फैक्ट्स,स्वास्थ्य संबंधी सभी धर्म और त्योहार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X