पंचतंत्र की मजेदार कहानियां
पंचतंत्र की कहानियां

पंचतंत्र की कहानियां : जैसे को तैसा

28 अक्टूबर 2020

Pause
2:54
अमर उजाला के पोडकास्ट में आपको सुनने को मिलेंगी पंचतंत्र की मजेदार कहानियां। दरअसल ईसा से लगभग दो सौ साल पहले पंडित विष्णु शर्मा ने पंचतंत्र की कहानियां लिखी थीं। इन कहानियों को लिखने का मकसद राजा अमरशक्ति के तीन बिगड़े बेटों को सही राह दिखाना था। आज की कहानी का शीर्षक है जैसे को तैसा... ... Read More

पंचतंत्र की कहानियां : जैसे को तैसा

X

सभी 12 एपिसोड

पंचतंत्र

अमर उजाला के पोडकास्ट में आपको सुनने को मिलेंगी पंचतंत्र की मजेदार कहानियां। दरअसल ईसा से लगभग दो सौ साल पहले पंडित विष्णु शर्मा ने पंचतंत्र की कहानियां लिखी थीं। इन कहानियों को लिखने का मकसद राजा अमरशक्ति के तीन बिगड़े बेटों को सही राह दिखाना था। आज की कहानी का शीर्षक है शरारती बंदर और लट्ठा...

अमर उजाला

अमर उजाला के पोडकास्ट में आपको सुनने को मिलेंगी पंचतंत्र की मजेदार कहानियां। दरअसल ईसा से लगभग दो सौ साल पहले पंडित विष्णु शर्मा ने पंचतंत्र की कहानियां लिखी थीं। इन कहानियों को लिखने का मकसद राजा अमरशक्ति के तीन बिगड़े बेटों को सही राह दिखाना था। आज की कहानी का शीर्षक है जीवित हो गया शेर...

पंचतंत्र

अमर उजाला के पोडकास्ट में आपको सुनने को मिलेंगी पंचतंत्र की मजेदार कहानियां। दरअसल ईसा से लगभग दो सौ साल पहले पंडित विष्णु शर्मा ने पंचतंत्र की कहानियां लिखी थीं। इन कहानियों को लिखने का मकसद राजा अमरशक्ति के तीन बिगड़े बेटों को सही राह दिखाना था। आज की कहानी का शीर्षक है हाथी और गौरैया...

पंचतंत्र की कहानियां : चोर चूहा और साधु

अमर उजाला के पोडकास्ट में आपको सुनने को मिलेंगी पंचतंत्र की मजेदार कहानियां। दरअसल ईसा से लगभग दो सौ साल पहले पंडित विष्णु शर्मा ने पंचतंत्र की कहानियां लिखी थीं। इन कहानियों को लिखने का मकसद राजा अमरशक्ति के तीन बिगड़े बेटों को सही राह दिखाना था। आज की कहानी का शीर्षक है चोर चूहा और साधु...

सियार और ढोल वाला जानवर

अमर उजाला के पोडकास्ट में आपको सुनने को मिलेंगी पंचतंत्र की मजेदार कहानियां। दरअसल ईसा से लगभग दो सौ साल पहले पंडित विष्णु शर्मा ने पंचतंत्र की कहानियां लिखी थीं। इन कहानियों को लिखने का मकसद राजा अमरशक्ति के तीन बिगड़े बेटों को सही राह दिखाना था। आज की कहानी का शीर्षक है सियार और ढोल वाला जानवर...

पंचतंत्र की कहानियां : मूर्ख बगुला और नेवला

अमर उजाला के पोडकास्ट में आपको सुनने को मिलेंगी पंचतंत्र की मजेदार कहानियां। दरअसल ईसा से लगभग दो सौ साल पहले पंडित विष्णु शर्मा ने पंचतंत्र की कहानियां लिखी थीं। इन कहानियों को लिखने का मकसद राजा अमरशक्ति के तीन बिगड़े बेटों को सही राह दिखाना था। आज की कहानी का शीर्षक है मूर्ख बगुला और नेवला...

पंचतंत्र

अमर उजाला के पोडकास्ट में आपको सुनने को मिलेंगी पंचतंत्र की मजेदार कहानियां। दरअसल ईसा से लगभग दो सौ साल पहले पंडित विष्णु शर्मा ने पंचतंत्र की कहानियां लिखी थीं। इन कहानियों को लिखने का मकसद राजा अमरशक्ति के तीन बिगड़े बेटों को सही राह दिखाना था। आज की कहानी का शीर्षक है मूर्ख को सलाह नहीं

पंचतंत्र की मजेदार कहानियां

अमर उजाला के पोडकास्ट में आपको सुनने को मिलेंगी पंचतंत्र की मजेदार कहानियां। दरअसल ईसा से लगभग दो सौ साल पहले पंडित विष्णु शर्मा ने पंचतंत्र की कहानियां लिखी थीं। इन कहानियों को लिखने का मकसद राजा अमरशक्ति के तीन बिगड़े बेटों को सही राह दिखाना था। आज की कहानी का शीर्षक है जैसे को तैसा...

पंचतंत्र की मजेदार कहानियां

अमर उजाला के पोडकास्ट में आपको सुनने को मिलेंगी पंचतंत्र की मजेदार कहानियां। दरअसल ईसा से लगभग दो सौ साल पहले पंडित विष्णु शर्मा ने पंचतंत्र की कहानियां लिखी थीं। इन कहानियों को लिखने का मकसद राजा अमरशक्ति के तीन बिगड़े बेटों को सही राह दिखाना था।

पंचतंत्र की कहानियां

अमर उजाला के पोडकास्ट में आपको सुनने को मिलेंगी पंचतंत्र की मजेदार कहानियां। दरअसल ईसा से लगभग दो सौ साल पहले पंडित विष्णु शर्मा ने पंचतंत्र की कहानियां लिखी थीं। इन कहानियों को लिखने का मकसद राजा अमरशक्ति के तीन बिगड़े बेटों को सही राह दिखाना था। आज की कहानी का शीर्षक है वंश की रक्षा...

पंचतंत्र की कहानियां

अमर उजाला के पोडकास्ट में आपको सुनने को मिलेंगी पंचतंत्र की मजेदार कहानियां। दरअसल ईसा से लगभग दो सौ साल पहले पंडित विष्णु शर्मा ने पंचतंत्र की कहानियां लिखी थीं। इन कहानियों को लिखने का मकसद राजा अमरशक्ति के तीन बिगड़े बेटों को सही राह दिखाना था। आज की कहानी का शीर्षक है चुहिया की कहानी...

पंचतंत्र की कहानियां

अमर उजाला पोडकास्ट में आपको सुनने को मिलेंगी पंचतंत्र की मजेदार कहानियां। दरअसल ईसा से लगभग दो सौ साल पहले पंडित विष्णु शर्मा ने पंचतंत्र की कहानियां लिखी थीं। इन कहानियों को लिखने का मकसद राजा अमरशक्ति के तीन बिगड़े बेटों को सही राह दिखाना था। आज की कहानी का शीर्षक है नकली शेर।
 

आवाज

Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X