विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus in Punjab: एक साथ 13 नए केस आए सामने, संक्रमित मरीजों की संख्या हुई 92

पंजाब के डेराबस्सी, मानसा और पठानकोट में मंगलवार को कोरोना के 13 नए केस मिले हैं। इसके साथ ही प्रदेश में मरीजों की संख्या 92 हो गई है।

7 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

पटियाला

मंगलवार, 7 अप्रैल 2020

पटियाला के छह मेडिकल अफसरों को कारण बताओ नोटिस जारी

गांव रामनगर सैनियां में युवक के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद गांव में सर्वे के दौरान छह मेडिकल अफसरों की ओर से ड्यूटी में कोताही करने का मामला सामने आया है। इसका गंभीर नोटिस लेते हुए सिविल सर्जन डॉ. हरीश मल्होत्रा ने उन सभी को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है। तय तारीख तक जवाब न मिलने पर इन मेडिकल अफसरों की सस्पेंशन के लिए उच्चाधिकारियों को लिखा जाएगा। सिविल सर्जन ने कहा कि यह विभाग का अंदरूनी मामला है। सभी का जवाब आ गया है।
गौरतलब है कि रविवार को गांव रामनगर सैनियां का 21 साल का गुरप्रीत सिंह कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। इसके बाद विभाग ने तुरंत टीमों का गठन करके गांव में सर्वे शुरू किया था। जारी नोटिस में सीएमओ ने लिखा है कि रविवार को जब गांव में सेहत विभाग की टीम मौजूद थी, तो वहां कुछ डाक्टरों ने ड्यूटी में लापरवाही बरती। इनमें जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. सुधा ग्रोवर, सीएचसी (कम्यूनिटी हेल्थ सेंटर) घन्नौर की इंचार्ज एसएमओ डॉ. सतिंदर कौर, सीएचसी घन्नौर के एमओ (मेडिकल अफसर) डॉ. बलजिंदर काहलों, पीएचसी (प्राइमरी हेल्थ सेंटर) हरपालपुर के एमओ डॉ. प्रदीप, मिनी पीएचसी मर्दांपुर की एमओ डॉ. नीरू चावला और डा. मनदीप कौर शामिल हैं।
नोटिस में लिखा है कि इन मेडिकल अफसरों ने इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च की गाइडलाइन की धज्जियां उड़ाईं और इनके विपरीत जाकर सर्जिकल गाउन और पीपी किटें इस्तेमाल कीं। जबकि इस दौरान इनके इस्तेमाल की जरूरत नहीं थी। वहीं यह मेडिकल अफसर गाड़ी से भी नीचे नहीं उतरे। जबकि पैरा मेडिकल स्टाफ ने घर-घर जाकर सर्वे किया। नोटिस में लिखा है कि जिस समय इन्हें ट्रेनिंग दी गई थी, उस समय इन्होंने या तो ध्यान नहीं दिया या फिर जानबूझ कर ऐसा किया है।
... और पढ़ें

कोरोना और कर्फ्यूः पंजाब सरकार ने उद्योगों व ईंट भट्ठों को दी उत्पादन शुरू करने की सशर्त छूट

प्रवासी मजदूरों की समस्या हल करने और राज्य में कोविड-19 के दौरान उन्हें राज्य से बाहर जाने से रोकने के लिए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने राज्य में सभी औद्योगिक यूनिटों और ईंट भट्टे को अपना उत्पादन शुरू करने को कहा है, बशर्ते वे अपने पास मजदूरों को सुरक्षित रखने के सभी प्रबंध करें।

कैप्टन ने कहा कि उनकी सरकार ने राधा स्वामी सत्संग ब्यास, जिन्होंने पहले ही अपने भवनों को एकांतवास की सुविधा के लिए ऑफर किया है, के साथ भी प्रवासी मजदूरों के ठहरने के प्रबंध के लिए बातचीत की है, क्योंकि अगले दो सप्ताह में शुरू होने वाली गेहूं की कटाई के लिए मजदूरों की जरूरत होगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर औद्योगिक इकाइयां और भट्टा मालिकों के पास प्रवासी मजदूरों को रखने के लिए अपेक्षित जगह और भोजन देने का सामर्थ्य है, तो वह अपना उत्पादन शुरू कर सकते हैं। साथ ही उन्होंने इन इकाइयों के मालिकों को इस समय के दौरान सामाजिक दूरी कायम रखने को भी यकीनी बनाने को कहा।

कैप्टन ने कहा कि सभी औद्योगिक इकाइयों में कामगारों के लिए साफ-सफाई के सभी एहतियाती कदम पूरी तरह उठाये जाएं। उन्होंने कहा कि इकाइयों को साझी सहूलतों वाले स्थानों की सफाई और वर्करों के लिए साबुन और खुले पानी के पुख्ता प्रबंध करना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रमुख स्थानों पर हाथ धोने की सहूलतें और सैनिटाइजर भी उपलब्ध होने चाहिए।

सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि देश में लाखों की संख्या में प्रवासी मजदूरों के फंसे होने की रिपोर्टों के मद्देनजर यह फैसला लिया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह फैसला उद्योग व भट्ठा मालिकों और रोजगार और मकान गंवा चुके मजदूरों दोनों के लिए लाभकारी होगा।

नौकरी से न हटाने और वेतन न काटने संबंधी एडवाइजरी जारी
इस बीच मुख्यमंत्री के निर्देश पर पंजाब के श्रम विभाग ने निजी संस्थानों के मालिकों, जिसमें उद्योग, फैक्ट्रियाें, दुकानों और व्यापारिक प्रतिष्ठान शामिल हैं, को अपने कर्मचारियों /कामगारों और ठेकेदारी कामगारों को नौकरी से न हटाने और उनके वेतन में कटौती न करने की एडवाइजरी जारी की है।
... और पढ़ें

कोरोना और कर्फ्यूः पंजाब में किसानों की मदद के लिए कंट्रोल रूम, हालात से निपटने को चार कमेटियां

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के आदेश पर कृषि एवं किसान कल्याण विभाग ने किसानों की सुविधा के लिए राज्य स्तरीय कंट्रोल स्थापित किया है ताकि कर्फ्यू के मद्देनजर किसानों को किसी किस्म की मुश्किल पेश न आए। मुख्यमंत्री ने बताया कि रबी की कटाई का सीजन शुरू हो रहा है। इस दौरान किसानों की फसलों की निर्विघ्न कटाई और मंडीकरण के पुख्ता प्रबंध सरकार द्वारा किये गए हैं।

उन्होंने बताया कि खरीफ की फसल के लिए भी बीजों, खादों और कीटनाशकों का बंदोबस्त किया गया है। अतिरिक्त मुख्य सचिव (विकास) विश्वजीत खन्ना ने बताया कि राज्य स्तरीय कंट्रोल रूम स्थापित करके कृषि अधिकारियों की तैनाती कर दी गई है और किसानों की सुविधा के लिए इन अधिकारियों के संपर्क नंबर भी जारी कर दिए गए हैं। यह अधिकारी सुबह 8 बजे से शाम 8 बजे तक किसानों की काल सुनेंगे और उन्हें पेश आ रही दिक्कतों का हल बताऐंगे।

कंट्रोल रूम में इनसे करें संपर्क
- बीजों की उपलब्धता के लिए कृषि विकास अफ़सर विक्रम सिंह (9815520190, 7973082185)
- खाद की उपलब्धता के लिए एडीओ (इनपुट्स) गिरिश (9478271833) व मुख्य खाद इंस्पेक्टर गुरजीत सिंह बराड़ (8054600004)
- कीटनाशकों की उपलब्धता के लिए कृषि विकास अफ़सर पंकज सिंह (9463073047)
- सिंचाई पानी के लिए हाइड्रोलोजिस्ट जसवंत सिंह (8725827072)
- मशीनरी सबंधी दिक्कतों के लिए इंजीनियर राजन कुमार ढल (9855102604)
- फसलों की बीजाई व तकनीकी जानकारी के लिए कृषि विकास अफ़सर (सूचना) सुरिंदर सिंह (9814665016)
- किसान पूछताछ के लिए किसान कॉल सैंटर 1800 -180 -1551 पर भी संपर्क कर सकते हैं।
... और पढ़ें

Coronavirus in Punjab: एक साथ 13 नए केस आए सामने, संक्रमित मरीजों की संख्या हुई 92

पंजाब के डेराबस्सी, मानसा और पठानकोट में मंगलवार को कोरोना के 13 नए केस मिले हैं। इसके साथ ही प्रदेश में मरीजों की संख्या 92 हो गई है। मानसा में दो महिलाओं के कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। पठानकोट में मिला मरीज उस महिला का पति है, जिसकी अमृतसर के अस्पताल में दो दिन पहले कोरोना संक्रमण से मौत हो गई थी।

डेराबस्सी के जवाहरपुर गांव में सात पॉजिटिव केस मिले हैं। गांव का सरपंच और उसकी पत्नी कोरोना संक्रमित हैं। बाकी पांच मरीज सरपंच के ही संपर्क में आए थे। रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई करते हुए गांव को सील कर दिया गया है। गांव से लगते पांच किलोमीटर तक के एरिया को भी सील कर दिया गया है। इसके साथ ही मोहाली जिले में मरीजों की संख्या 26 हो गई है।

संक्रमित लोगों की उम्र 12 से 43 साल के बीच बताई जा रही है। सभी लॉकडाउन के दौरान लंगर की सेवा कर रहे थे। मोहाली के सिविल सर्जन डॉ. मंजीत सिंह ने इसकी पुष्टि की है। वहीं मोहाली के हॉकी स्टेडियम को अस्थायी जेल बना दिया गया है। कर्फ्यू का उल्लंघन करने वालों को यहां रखा जाएगा।
... और पढ़ें
कोरोना वायरस कोरोना वायरस

पंजाब में कोरोना से एक और मौत, संक्रमितों की संख्या पहुंची 79 और मृतकों की संख्या हुई आठ

पंजाब में सोमवार को कोरोना से सक्रंमित एक मरीज ने दम तोड़ दिया। सूबे में कोरोना से यह आठवीं मौत है। वहीं 11 नए केस आने के साथ ही राज्य में पीड़ितों की संख्या बढ़कर 79 हो गई है। राज्य सरकार की ओर से जारी रिपोर्ट के अनुसार सोमवार को एसएएस नगर मोहाली में चार, फतेहगढ़ साहिब में 2, रोपड़ में 2 और अमृतसर, कपूरथला व लुधियाना में 1-1 व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। 

अमृतसर में 65 वर्षीय मरीज की मौत हो गई। वहीं मोहाली में जिन चार लोगों को पॉजिटिव पाया गया है, उनमें से एक व्यक्ति दिल्ली में तब्लीगी जमात में हिस्सा लेकर लौटा है जबकि बाकी तीनों इसी जमाती के संपर्क में थे। इनके अलावा सोमवार को लुधियाना, कपूरथला, फतेहगढ़ साहिब में भी जो चार व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं, वह भी तब्लीगी जमात में हिस्सा लेकर लौटे हैं। रोपड़ और अमृतसर में जो तीन नए केस सामने आए हैं, वे संक्रमितों के संपर्क में थे।

2384 लोगों के सैंपल जांच के लिए भेजे 
राज्य में सोमवार तक 2384 लोगों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए। इनमें से 1994 लोगों के सैंपल निगेटिव पाए गए हैं। राज्य में कोरोना का शिकार हुए 79 लोगों में से अब तक आठ की मौत हो चुकी हैं। राज्य में अब तक केवल चार मरीज कोरोना को मात देकर स्वस्थ हुए हैं। 

पंजाब में अब तक यह स्थिति 
अब तक नवांशहर और मोहाली में 19-19 लोग संक्रमित पाए गए हैं। वहीं, अमृतसर में 9, होशियारपुर में 7, जालंधर और लुधियाना में 6-6 कोरोना से पीड़ित मिले हैं। मानसा, रूपनगर में 3-3, फतेहगढ़ साहिब में 2 और पटियाला, फरीदकोट, पठानकोट, बरनाला और कपूरथला में 1-1 व्यक्ति पॉजिटिव पाया गया है। 
... और पढ़ें

कोरोना वायरस: पंजाब सरकार का निर्णय- इलाज से मना करने वाले निजी अस्पतालों के लाइसेंस होंगे रद्द

कुछ निजी अस्पतालों द्वारा अपनी सेवाएं बंद करने को गंभीरता से लेते हुए पंजाब मंत्रिमंडल ने ऐसे अस्पतालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की चेतावनी दी है। सीएम ने सुझाव दिया कि स्वास्थ्य विभाग को कोविड-19 से पीड़ित मरीजों का इलाज करने से इनकार करने वाले अस्पतालों के लाइसेंस रद्द कर देने चाहिए। 

उन्होंने इस तरह की कार्रवाई को कायराना बताते हुए कहा कि ऐसे नाजुक समय में वह छिपकर नहीं बच सकते। मुख्यमंत्री ने सूबे में कोरोना के चलते कर्फ्यू और लॉकडाउन की मौजूदा स्थिति की समीक्षा के लिए कैबिनेट की बैठक बुलाई थी। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई मीटिंग के दौरान फैसला किया गया कि कोविड-19 के मरीजों के इलाज प्रबंधों में धीरे-धीरे विस्तार किया जाना चाहिए ताकि गेहूं की कटाई और खरीद, राज्य और देश में बढ़ रहे रुझान के साथ-साथ सामुदायिक फैलाव (स्टेज-3) की आशंकाओं और महामारी के कारण मरीजों की संख्या बढ़ने पर निपटा जा सके। 

इससे पहले स्वास्थ्य विभाग ने कैबिनेट को बताया कि एक बार जब तेजी के साथ जांच करने वाली किटें और केंद्र सरकार के अंतिम दिशा-निर्देश आ गए तो राज्य में तेजी से जांच शुरू कर दी जाएगी ताकि पॉजिटिव मामलों की पहचान की जा सके। सभी प्रभावित स्थानों पर लक्षणों और गैर-लक्षणों के मामलों की तेजी से जांच की जाएगी जबकि गैर-प्रभावित स्थानों पर लक्षणों वाले मामलों की जांच भी इसी तरह ही की जाएगी। विभाग द्वारा प्रभावित स्थानों पर सामुदायिक जांच शुरू की जा चुकी है।
... और पढ़ें

कोरोना से जंग: कैप्टन अमरिंदर सिंह बोले- विदेश यात्रा की सूचना न देने वालों के जब्त होंगे पासपोर्ट

पंजाब में कोविड-19 संकट के चलते मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अहम फैसला लेते हुए विदेश यात्रा के बारे जानकारी नहीं देने वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश दिए। इसके तहत उन्होंने ऐसे लोगों के पासपोर्ट जब्त करने के आदेश दिए हैं। 

पंजाब में कोरोना के चलते कर्फ्यू और लॉकडाउन की मौजूदा स्थिति की समीक्षा के लिए बुलाई कैबिनेट की पहली बैठक में सीएम ने कहा कि विदेश यात्राओं का खुलासा करने के मामले में कोई समझौता नहीं किया जाएगा और ऐसे व्यक्ति जिन्होंने पुलिस और सेहत विभाग से यात्रा के बारे में तथ्य छिपाए हैं, उनसे सख्ती से निपटा जाएगा। उन्होंने चेतावनी दी कि ऐसे लोगों के पासपोर्ट जब्त कर लिए जाएंगे।

कैबिनेट ने स्वास्थ्य विभाग के सेवामुक्त होने वाले मुलाजिमों का तीन माह का सेवाकाल बढ़ाए जाने के फैसले को भी मंजूरी दे दी। सेहत विभाग इन दिनों कोरोना के खिलाफ जंग में फ्रंटलाइन पर डटा है। यह प्रस्ताव मुख्य सचिव करण अवतार सिंह द्वारा पेश किया गया था। सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि इस प्रस्ताव को विस्तृत मंजूरी के लिए बाद में मुख्यमंत्री को सौंप दिया जाएगा। 

इसके साथ ही, कैबिनेट ने कोविड-19 के खिलाफ जंग में महत्वपूर्ण योगदान देने वाले वर्गों को विशेष तौर पर आभार व्यक्त करने के लिए तीन प्रस्ताव पारित किए। इनमें सरकारी कर्मचारी जिन्होंने अपने वेतन का एक हिस्सा दान दिया है, सभी एनजीओ और धार्मिक संगठन जिन्होंने लोगों को प्रेरित कर सामाजिक दूरी बनाने में योगदान दिया और राहत कार्य किए। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार पुलिस, स्वास्थ्य, सैनिटेशन, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का तहेदिल से धन्यवाद करती है।
... और पढ़ें

पटियाला के सारे बैंक अब नहीं खुलेंगे रोजाना, नए आदेश जारी

कैप्टन अमरिंदर सिंह (फाइल फोटो)
पटियाला में बैंकों को रोजाना खोलने संबंधी अपने आदेशों में संशोधन करते हुए दोबारा पुराने आदेश लागू करके बैंकों को केवल हफ्ते में दो दिन कम से कम स्टाफ के साथ ही काम करने के आदेश जिला प्रशासन ने शनिवार को जारी कर दिए। लेकिन इस दौरान आम लोग बैंकों में जाकर कोई लेन-देन नहीं कर सकेंगे और बैंक कोरोना वायरस संबंधी नियमों का पालन करेंगे। इस दौरान खास तौर से सामाजिक दूरी और सैनिटाइजेशन को यकीनी बनाया जाएगा।
इससे पहले जिला मजिस्ट्रेट ने कोरोना वायरस को रोकने से लगाए कर्फ्यू तहत लगी रोक के मद्देनजर वित्तीय लेन-देन को सरल बनाने के लिए जिले अंदर की सारी बैंकों की शाखाओं को सुबह 10 बजे से दोपहर दो बजे तक रोजाना काम करने की अनुमति दी थी। लेकिन बैंकों के बाहर लोगों की भीड़ इकट्ठी होने करके कर्फ्यू व सामाजिक दूरी के नियमों की अनदेखी शुरू हो गई। जिसका नोटिस लेते हुए जिला मेजिस्ट्रेट ने दोबारा से बैंकों को हफ्ते में दो दिन बारी बारी से काम करने के आदेश जारी किए हैं।
जारी आदेश तहत सारे बैंक हफ्ते में दो दिन बारी-बारी आधार पर कम से कम स्टाफ के साथ खुलेंगे। जबकि बाकी दिन एक तिहाई ब्रांचें ही खोली जाएंगी और इस बारे फैसला जिला लीड बैंक मैनेजर की ओर से लिया जाएगा।
... और पढ़ें

Coronavirus in Punjab: पंजाब में कोरोना पीड़ितों की संख्या पहुंची 66, एक ही दिन नौ नए मामले आने से हड़कंप

पंजाब में कोरोना वायरस से पीड़ितों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। शनिवार को कोरोना पॉजिटिव नौ और मामले सामने आने के बाद राज्य में इस घातक वायरस की चपेट में आने वालों की संख्या बढ़कर 66 हो गई है। इनमें से अब तक 5 लोगों की मौत भी हो चुकी है जबकि सुखद खबर यह भी है कि राज्य में अब तक तीन मरीज इलाज के बाद स्वस्थ होकर अपने घर लौट गए हैं।

शनिवार को सामने आए नए मामलों में से तीन अमृतसर, तीन मोहाली और एक-एक जालंधर पठानकोट व फरीदकोट से हैं। सेहत विभाग द्वारा जारी सूचना के अनुसार, राज्य में अब तक सामने आए 1824 संदिग्ध मरीजों के सैंपलों की जांच की जा चुकी है, जिनमें से 1520 लोगों की जांच रिपोर्ट निगेटिव पाई गई है। फिलहाल 239 लोगों की जांच रिपोर्ट का इंतजार है। राज्य में अब तक पॉजिटिव लोगों में से 2 की हालत गंभीर और 2 अन्य की हालत अति गंभीर बताई गई है।

सेहत विभाग के अनुसार, राज्य में अब तक कोरोना पीड़ितों के सबसे अधिक मामले नवांशहर में 19 और 14 पीड़ितों की संख्या के साथ दूसरे नंबर पर मोहाली है। हालांकि मोहाली के दो मरीज स्वस्थ्य होकर घर लौट गए हैं। होशियारपुर के सात मरीजों में से एक व्यक्ति स्वस्थ हुआ है।

अन्य जिलों में मरीजों का आकंड़ा

जिला            पीड़ितों की संख्या
अमृतसर            8 
लुधियाना में       6
मानसा में          3 
पटियाला           1 
रोपड़                 1
फरीदकोट          1
 पठानकोट         1
 
... और पढ़ें

कैप्टन और हेल्थ सेक्रेटरी के खिलाफ हाईकोर्ट जाऊंगा - डा. गांधी

सूबे में कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे के बीच अब पटियाला के पूर्व सांसद डा. धर्मवीर गांधी ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह पर बड़ा हमला बोला है। बुधवार को मीडिया से बात करते हुए डा. गांधी ने कहा कि पंजाब सरकार को पहले ही पता था कि कोरोना वायरस दुनिया भर में फैल रहा है, लेकिन बावजूद इसके पंजाब सरकार की ओर से इससे बचाव के लिए कोई प्रबंध करके नहीं रखे गए।
उन्होंने कहा वर्तमान में हालात यह हैं कि अस्पतालों में डाक्टरों व नर्सों के पास कोरोना वायरस से लड़ने को जरूरी सामान नहीं है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर पंजाब में किसी भी डाक्टर व नर्स की कोरोना वायरस से मौत होती है, तो वह मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और सेहत विभाग के सेक्रटरी खिलाफ पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे।
डा. गांधी ने कहा कि पटियाला के सरकारी राजिंदरा अस्पताल समेत प्रदेश के अन्य सभी अस्पतालों में डाक्टरों व नर्सों को पीपी किटें, मास्क व ग्लब्स वगैरह मुहैया नहीं कराए गए हैं। इससे इन्हें कोरोना वायरस होने का खतरा है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को अपनी ड्यूटी निभाते हुए सूबे के सभी अस्पतालों में सारा जरूरी सामान मुहैया कराना चाहिए। इसमें किसी तरह की लापरवाही नहीं होनी चाहिए।
... और पढ़ें

Coronavirus: कोरोना से पद्मश्री निर्मल सिंह खालसा की मौत, चार घंटे की मशक्कत के बाद अंतिम संस्कार

कोरोना महामारी से पंजाब में वीरवार को पांचवी मौत हुई। कोरोना महामारी से पंजाब में वीरवार को पांचवी मौत हुई। श्री हरिमंदिर साहिब के पूर्व हजूरी रागी पद्मश्री निर्मल सिंह खालसा नहीं रहे। वहीं एक नया केस होशियारपुर जिले के गढ़शंकर में  सामने आ गया। इसके साथ की संक्रमित मरीजों की संख्या 47 हो गई है। इनमें 19 नवांशहर जिले, 10 मोहाली, 7 होशियारपुर, 5 जालंधर, 3 लुधियाना, एक पटियाला और दो व्यक्ति अमृतसर जिले से हैं। एक मरीज ठीक होकर घर जा चुका है और महामारी से अब तक पांच लोगों की मौत हो चुकी है।

वीरवार को कोरोन संक्रमण होने से श्री हरिमंदिर साहिब के पूर्व हजूरी रागी पद्मश्री निर्मल सिंह खालसा का देहांत हो गया। इनसे पहले नवांशहर जिले के 70 वर्षीय बुजुर्ग पाठी की कोरोना से 18 मार्च को मौत हो गई थी। 29 मार्च की रात को अमृतसर के गुरु नानक देव मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में दाखिल होशियारपुर जिले के गांव मोरांवाली के एक व्यक्ति ने दम तोड़ दिया था। 30 मार्च को पटियाला में भर्ती लुधियाना के अमरपुरा की 42 वर्षीय महिला की मौत हो गई थी। 31 मार्च को मोहाली के नया गांव निवासी 65 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई। वह पीजीआई चंडीगढ़ में उपचाराधीन था।

कोरोना वायरस के संक्रमण से पीड़ित पदमश्री भाई निर्मल सिंह ने वीरवार सुबह साढ़े चार बजे उन्होंने गुरु नानक देव हस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में अंतिम सांस ली। निर्मल सिंह खालसा की मौत के समाचार में पंथक हलका स्तब्ध है। उन्हें तीन दिन पहले खांसी-जुकाम व हलका बुखार होने पर गुरु नानक देव अस्पताल में दाखिल करवाया गया था। इससे पहले खालसा कुछ दिन एसजीपीसी द्वारा संचालित श्री गुरु राम दास मेडिकल कॉलेज में भर्ती रहे। वहां के डॉक्टरों को ही इलाज के दौरान उनके कोरोना वायरस से पीड़ित होने का पता चला था। फिर उन्हें गुरु नानक देव हॉस्पिटल में दाखिल करवाया गया।

जहां तीन दिन पहले उनके सैंपल सरकारी मेडिकल कॉलेज में बनी लैब में भेजे गए। बुधवार को मिली रिपोर्ट में उनके कोरोना से संक्रमित होने की पुष्टि हो गई और वीरवार सुबह उन्होंने दम तोड़ दिया। वहीं खालसा की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उनके घर को क्वारंटीन कर दिया गया। आसपास का एरिया सील कर दिया गया। मिली जानकारी के अनुसार, निर्मल सिंह खालसा को श्री गुरु राम दास जी मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाने वाले दो लोगों को भी क्वारंटीन कर दिया गया है। इनमें से एक पंजाबी अखबार का पत्रकार बताया जा रहा है।
... और पढ़ें

Coronavirus Punjab: अब 46 संक्रमित मरीज, पांच की मौत, जानिए कहां कितने संदिग्ध मामले

पंजाब और चंडीगढ़ में कोरोना वायरस (कोविड-19) लगातार पांव पसारता जा रहा है। बुधवार को चंडीगढ़ में एक और पंजाब में पांच नए मामले सामने आए जिसमें मोहाली जिले से ही तीन संक्रमित हैं। इसके साथ ही अब चंडीगढ़ में कोरोना के मरीजों की संख्या 16 हो गई है जबकि पंजाब में  यह आंकड़ा 46 तक पहुंच गया है।

 मोहाली में बुधवार को कोरोना के तीन जबकि चंडीगढ़ में एक केस और सामने आया है। फेज-9 निवासी 76वर्षीय महिला और उसकी 10 साल की नाती की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है। बुजुर्ग महिला चंडीगढ़ के कोरोना संक्रमित दंपती की सास है। जबकि बच्ची अपने माता-पिता के साथ ही कनाडा से लौटी थी। सेहत विभाग की टीम उन्हें तुरंत अस्पताल ले गई।

इसके बाद बाद पूरे इलाके को सील कर दिया गया है। इसके साथ ही मोहाली में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या 10 पर पहुंच गई है। जिसमें से एक नयागांव के संक्रमित बुजुर्ग की मौत हो चुकी है। सेहत विभाग की ताजा रिपोर्ट के अनुसार, मोहाली के अलावा लुधियाना और अमृतसर जिले में एक-एक व्यक्ति को कोरोना पॉजिटिव पाया गया है।

फिलहाल पंजाब में अब तक कुल 1260 संदिग्ध मामले सामने आए हैं, जिनकी सैंपलों की जांच के बाद 1149 मामलों की रिपोर्ट निगेटिव पाई गई जबकि 65 की रिपोर्ट आनी बाकी है। राज्य में अब तक केवल एक मरीज ही ठीक हो सका है। सेहत  विभाग ने एहतियात के तौर पर इन सभी मामलों में पीड़ितों और संदिग्धों के करीबियों को भी गहन चिकित्सीय निगरानी में रखा है।
... और पढ़ें

कोरोना और कर्फ्यूः पंजाब सरकार ने जुवेनाइल कैदियों को दी 21 दिन की छुट्टी, लीव ऑफ ऐबसैंस

कोरोना के संकट को देखते हुए पंजाब की जेलों से भीड़ कम करने के उद्देश्य से करीब 6000 कैदियों को पैरोल और अंतरिम जमानत के फैसले के बाद जुवेनाइल कैदियों को भी लीव आफ ऐबसेंस देने का फैसला किया गया है। कैबिनेट मंत्री अरुणा चौधरी ने बताया कि पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट की जुवेनाईल जस्टिस मानीटरिंग कमेटी ने उन सजायाफ्ता और दोषी बच्चों को 21 दिनों तक छुट्टी (लीव ऑफ ऐबसैंस) देने की हिदायतें जारी की है, जिन्होंने संगीन अपराध नहीं किए हैं।

इसका पालना करते हुए पंजाब के संबंधित जिलों के जुवेनाईल जस्टिस बोर्ड (जेजेबी), बाल सुधार घर और विशेष घरों में रखे गए उन बच्चों की रिहाई के लिए काम कर रहे हैं, जो इस शर्त के मुताबिक योग्य हैं। उल्लेखनीय है कि पंजाब में लड़कों के लिए लुधियाना, फरीदकोट और होशियारपुर में तीन और जालंधर में लड़कियों के लिए एक बाल सुधार घर है। होशियारपुर में लड़कों के लिए एक विशेष घर और सुरक्षा की एक जगह मौजूद है। कुल 300 की क्षमता वाले इन स्थानों में कुल 174 बच्चे मौजूद हैं।

कैबिनेट मंत्री अरुणा चौधरी ने आगे बताया कि सभी बाल घरों और वृद्ध आश्रमों के निवासियों को वायरस को फैलने को रोकने के उपायों के प्रति जागरूक किया गया है। पंजाब सरकार ने कोविड-19 के संकट के मद्देनजर राज्य के सभी लाभपात्रियों जिनमें 6 माह से 6 साल तक की उम्र के बच्चे, गर्भवती महिलाएं और माताओं को पौष्टिक आहार सप्लाई करने की प्रक्रिया शुरू की है। यह सप्लाई आंगनवाड़ी वर्करों द्वारा लाभपात्रियों के घर-घर जाकर की जाएगी।

यह जानकारी देते हुए सामाजिक सुरक्षा, महिला एवं बाल विकास मंत्री अरुणा चौधरी ने बताया कि लोगों की परेशानियों को दूर करने के उद्देश्य से बाल विकास और प्रोजैक्ट अफसरों की निगरानी में पौष्टिक आहार का वितरण किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि विभाग जरूरतमंद लोगों को हरसंभव सहायता प्रदान करने के लिए सभी जिलों के प्रशासन के साथ मिलकर काम कर रहा है। उन्होंने बताया कि 24.69 लाख लाभपात्री बुजुर्गों, दिव्यांग व्यक्तियों, विधवाओं, बेसहारा -महिलाओं और आश्रित बच्चों के बचत खातों में पैंशनें डालने का काम पूरा हो चुका है।

उन्होंने कहा कि मार्च महीने के लिए पैंशनों का वितरण, जिसकी कुल राशि 185.23 करोड़ रुपए बनती है, अप्रैल के पहले सप्ताह से शुरू कर दी जाएगी।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us