विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
चंद्र ग्रहण में छोटा सा दान, बनाएगा धनवान : 5 जून 2020
Puja

चंद्र ग्रहण में छोटा सा दान, बनाएगा धनवान : 5 जून 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

बीज घोटाले में एसआईटी को मिली बड़ी सफलता, मास्टरमाइंड लक्की ढिल्लों गिरफ्तार

पंजाब में करोड़ों के धान बीज घोटाले का मास्टरमाइंड लखविंदर सिंह उर्फ लक्की ढिल्लों को पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार कर लिया। इसके साथ ही इस घोटाले में अब तक गिरफ्तार हुए लोगों की संख्या तीन हो गई है। शिरोमणि अकाली दल (शिअद) ने लक्की को सहकारिता मंत्री सुखविंदर सिंह रंधावा का खास आदमी और सूबे के कांग्रेस नेताओं का करीबी बताया था। 

शिअद ने आरोप लगाया था कि रंधावा के इशारे पर राज्य पुलिस लक्की ढिल्लों को बचा रही है और एफआईआर दर्ज होने के बावजूद उसे गिरफ्तार नहीं किया जा रहा। लक्की बटाला स्थित डेरा बाबा नानक में करनाल एग्री सीड्स का मालिक है। उसे राज्यस्तरीय एसआईटी ने गिरफ्तार किया है, जिसका गठन एक दिन पहले मंगलवार को डीजीपी दिनकर गुप्ता ने किया है। 


यह भी पढ़ें-
कांग्रेस को झटका दे सकते हैं सिद्धू, इस पार्टी में शामिल होकर बनना चाह रहे सीएम चेहरा

डीजीपी ने बताया कि लक्की ने उन किसानों से पीआर-128 और पीआर-129 किस्म के धान के बीजों की अनाधिकृत खरीद की, जिन्हें पीएयू ने ट्रायल के तौर पर उगाने को दिए थे। उसने यह बीज लुधियाना के बराड़ सीड्स को सप्लाई किए, जिसका मालिक हरविंदर सिंह उर्फ काका बराड़ है। इस घोटाले में पहली गिरफ्तारी उसी की हुई थी। इसके बाद दूसरे आरोपी बलजिंदर सिंह उर्फ बालियां को मंगलवार को गिरफ्तार किया गया था। डीजीपी ने कहा कि एसआईटी ने दोनों आरोपियों को बुधवार को अदालत में पेश करके दो दिन के रिमांड पर लिया है। उनसे घोटाले में शामिल लोगों के बारे में पूछताछ की जाएगी। 

बलजिंदर सिंह पंजाब एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी (पीएयू) द्वारा गठित किसान एसोसिएशन का सदस्य भी है। यह एसोसिएशन किसानों को नए बीजों और तकनीकों के बारे में जानकारी देती है। पीएयू ने बलजिंदर को परख करने के लिए पिछले साल धान के नए किस्म के बीज दिए थे। बलजिंदर ने उन बीजों से काफी ज्यादा उत्पादन किया और ये बीज बिना किसी अधिकार के बाजार में बेच दिए। इन्हें बेचना गैरकानूनी था। 
... और पढ़ें
आरोपी लक्की ढिल्लों गिरफ्तार। आरोपी लक्की ढिल्लों गिरफ्तार।

प्रताप सिंह बाजवा ने फिर कैप्टन को घेरा, अबकी बार तीन विधायकों का भी मिला साथ

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के फैसले और कारगुजारी पर समय-समय पर उंगली उठाते रहे कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और राज्यसभा सदस्य प्रताप बाजवा ने एक बार फिर उनको पत्र लिखकर गन्ना किसानों के बकाया पैसे को जल्द दिलाने का तकाजा किया है। इस बार उनको पार्टी के तीन विधायकों का साथ भी मिला है।

बाजवा काफी समय से कैप्टन के कामकाज पर सवाल उठाते रहे हैं। लेकिन अब तक वे यह काम अकेले ही कर रहे थे लेकिन इस बार उन्हें फतेहजंग सिंह बाजवा, जोगिंदर पाल भोआ और बलविंदर सिंह लाडी का भी साथ मिल गया है। पत्र पर तीनों के हस्ताक्षर हैं। पत्र में बाजवा ने लिखा है कि सीएम गन्ना किसानों का चीनी मिलों की तरफ बकाया पैसे तुरंत जारी कराएं। उन्होंने लिखा है कि सूबे की सहकारी और निजी चीनी मिलों द्वारा गन्ने की राशि का भुगतान न करने के कारण किसान मुश्किल में आ गए हैं। 


यह भी पढ़ें-
कांग्रेस को झटका दे सकते हैं सिद्धू, इस पार्टी में शामिल होकर बनना चाह रहे सीएम चेहरा

वर्ष 2018-19 सीजन के लिए सहकारी और निजी चीनी मिलों की तरफ किसानों का 96.36 करोड़ रुपया बकाया है। जबकि 2019-20 सीजन का बकाया 585.12 करोड़ रुपये बनता है। इनमें सहकारी मिलों की तरफ 298.48 करोड़ और निजी मिलों की तरफ 383 करोड़ रुपये बकाया है। यह नियमों का उल्लंघन है क्योंकि मिलों को 14 दिन के भीतर गन्ने की कीमत की अदायगी करना जरूरी है।
... और पढ़ें

पंजाब में चार आईएएस, 14 आईपीएस और 10 पीसीएस अफसरों का तबादला, कई संभालेंगे अतिरिक्त प्रभार

पंजाब सरकार ने बुधवार देर रात चार आईएएस, 14 आईपीएस, 10 पीसीएस और चार पीपीएस अधिकारियों के तबादला व नियुक्ति आदेश जारी किए हैं। आईएएस अधिकारियों में मोहाली एरिया डेवलपमेंट अथॉरिटी की चीफ एडमिनिस्ट्रेटर तनु कश्यप को चीफ एडमिनिस्ट्रेटर पंजाब अर्बन डेवलपमेंट अथॉरिटी मोहाली का अतिरिक्त प्रभार भी सौंपा गया है। जबकि 14 आईपीएस अफसरों के तबादले किए गए हैं, जिसमें गुरप्रीत कौर दियो को एडीजीपी सीएडी के साथ ही एडीजीपी आईवीसी का अतिरिक्त प्रभार भी सौंपा गया है। 

सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि आईएएस अधिकारियों में मोहाली एरिया डेवलपमेंट अथॉरिटी की चीफ एडमिनिस्ट्रेटर तनु कश्यप को चीफ एडमिनिस्ट्रेटर पंजाब अर्बन डेवलपमेंट अथॉरिटी मोहाली का अतिरिक्त प्रभार भी सौंपा गया है। डीजी एंप्लॉयमेंट जेनरेशन एंड ट्रेनिंग हरप्रीत सिंह सूडान को उनके मौजूदा कार्यभार के साथ ही एडिशनल डायरेक्टर पंजाब स्किल डेवलपमेंट मिशन का कार्यभार भी सौंपा गया है। दूधन सदन के एसडीएम अजय अरोड़ा की सेवाएं हाउसिंग एंड अर्बन डेवलपमेंट विभाग को देते हुए एडिशनल चीफ एडमिनिस्ट्रेटर पटियाला डेवलपमेंट अथॉरिटी पटियाला लगाया गया है। पायल के एसडीएम सागर सेतिया को एसडीएम बुढलाडा को पद पर नियुक्त किया गया है।


यह भी पढ़ें-
कांग्रेस को झटका दे सकते हैं सिद्धू, इस पार्टी में शामिल होकर बनना चाह रहे सीएम चेहरा

 इन आईपीएस अफसरों के विभाग बदले
आईपीएस गुरप्रीत कौर दियो को एडीजीपी सीएडी के साथ ही एडीजीपी आईवीसी का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। जतिन्दर कुमार जैन को एडीजीपी पीबीआई-2 के साथ एसओजी पटियाला, बी. चंद्रशेखर को एडीजीपी क्राइम-1 के साथ अतिरिक्त प्रभार एडीजीपी एसटीएफ, एमएफ फारूकी को आईजी पीएपी जालंधर के साथ अतिरिक्त प्रभार आईजी आपदा प्रबंधन पंजाब, नौनिहाल सिंह को आईजी लुधियाना रेंज, जसकरन सिंह को आईजी बठिंडा रेंज, एके मित्तल को आईजी हेडक्वार्टर पंजाब, डॉ. कौस्तुभ शर्मा को आईजी फरीदकोट रेंज, गुरशरन सिंह संधू को आईजी प्रोविजनिंग पंजाब, प्रदीप कुमार यादव को आईजी तकनीकी सेवाएं पंजाब, सुरिंदर कुमार कालिया को आईजी पीएपी-2 जालंधर, रणबीर सिंह खटड़ा को डीआईजी जालंधर रेंज, सुखमिंदर सिंह मान को कमांडेंट 9वीं बटालियन पीएपी अमृतसर और पाटिल केतन को एआईजी काउंटर इंटेलिजेंस अमृतसर के अलावा अतिरिक्त प्रभार एआईजी एसएसओसी अमृतसर का सौंपा गया है।
... और पढ़ें

पंजाब में कोरोना से 47वीं मौत, 34 नए पॉजिटिव मिले, प्रदेश में 2376 कुल संक्रमित

ट्रांसफर(सांकेतिक)
जालंधर में बुधवार को एक और कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति की मौत के साथ ही सूबे में महामारी से मरने वालों की संख्या 47 हो गई है। इस दौरान एक ही दिन में कोरोना के 34 और नए मामले दर्ज किए गए हैं। अब राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 2376 तक पहुंच गई है। राज्य में बुधवार को 12 और मरीजों के ठीक होने की खबर आई। इनमें अमृतसर के 3, होशियारपुर और पठानकोट के 4-4 व बरनाला का एक मरीज शामिल है। इस तरह राज्य में कोरोना को मात देने वालों की तादाद 2029 हो गई है।

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, बुधवार को 34 नए कोरोना पॉजिटिव केसों में 16 केस विदेश और अन्य राज्यों से लौटे व्यक्तियों के हैं। पठानकोट और मोहाली में 24 घंटे में सबसे ज्यादा 7-7 पॉजिटिव केस दर्ज किए गए। वहीं जालंधर, गुरदासपुर, फरीदकोट, होशियारपुर में 3-3, पटियाला, मुक्तसर व अमृतसर में 2-2, बठिंडा व नवांशहर में 1-1 नए मरीज मिले। इनमें होशियारपुर के सभी केस पहले से पीड़ित व्यक्ति के करीबियों के हैं। इसी प्रकार पठानकोट में 4 और अमृतसर में 1 मरीज पहले से पीड़ित व्यक्ति का करीबी है। 


यह भी पढ़ें-
कांग्रेस को झटका दे सकते हैं सिद्धू, इस पार्टी में शामिल होकर बनना चाह रहे सीएम चेहरा

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार, राज्य में अब तक 101036 संदिग्ध मरीजों के सैंपल लिए गए हैं। राज्य के विभिन्न अस्पतालों में इस समय 300 लोगों का इलाज चल रहा है, जिनमें से 2 मरीज ऑक्सीजन सपोर्ट पर और एक वेंटिलेटर सपोर्ट पर है।
... और पढ़ें

पंजाब की 59 सीटों पर विधानसभा चुनाव लड़ेगी भाजपा, अकाली दल को दरकिनार करने को भी तैयार

पंजाब भाजपा के वरिष्ठ नेता व पूर्व कैबिनेट मंत्री मदन मोहन मित्तल ने कहा कि पंजाब विधानसभा चुनाव में भाजपा 59 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। आगे मित्तल ने कहा कि भाजपा ने इन 59 सीटों का चयन भी कर लिया है और तैयारी चल रही है। उन्होंने कहा कि वह यह एलान निजी तौर पर नहीं बल्कि पार्टी प्रवक्ता की हैसियत से कर रहे हैं। 

इस दौरान उन्होंने कहा कि रोपड़ की दो सीटों पर भी भाजपा चुनाव लड़ेगी। श्री आनंदपुर साहिब विधानसभा क्षेत्र तो पहले ही भाजपा के पास है, जबकि अब भाजपा ने रोपड़ सीट पर दावा ठोका है। मित्तल ने कहा कि जिले की तीन सीटों में से श्री चमकौर साहिब से अकाली दल चुनाव लड़ेगा। क्या अकाली दल के साथ इस संबंध में कुछ तय हुआ या इस पर शिअद नहीं माना तो, इस सवाल पर मित्तल ने कहा कि उन्होंने तैयारी कर ली है, जबकि ‘जे तो कंवारी’ ही है। मतलब यह है कि भाजपा ने तैयारी कर ली है, शिअद नहीं माना तो न माने, भाजपा शिअद को दरकिनार करने को तैयार है।


यह भी पढ़ें-
अमिताभ बच्चन, सोनू सूद, करीना, मिल्खा, हरभजन समेत कई शख्सियतों ने गाया ‘मिशन फतेह’

वहीं मित्तल ने कहा कि कोरोना वायरस के दौर में केंद्र सरकार की ओर से पंजाब को भेजी गई राहत लोगों तक नहीं पहुंची है। उन्होंने स्थानीय स्तर पर रोपड़ की डीसी और श्री आनंदपुर साहिब की एसडीएम को भी शिकायत की थी, जिसके बाद मसला हल हुआ। मित्तल ने केंद्र से आई राहत की सीबीआई से जांच करवाने की मांग की है।

अगर अब जांच न हुई तो पंजाब में उनकी सरकार आने पर यह जांच करवाई जाएगी। मित्तल ने पंजाब में शराब तथा माइनिंग कारोबारियों को दी गई राहत को लेकर भी सरकार पर सवाल खड़े किए और कहा कि छोटे दुकानदारों व अन्य छोटे कारोबारियों को कोई राहत नहीं दी गई है।
... और पढ़ें

सोहना में 400 एकड़ में इलेक्ट्रॉनिक पार्क, पानीपत में 800 एकड़ में ड्रग पार्क बनाने की तैयारी

'आईसीएमआर की गाइडलाइंस के अनुसार हो रहा कोरोना मरीजों का इलाज, आरोप सरासर गलत'

पंजाब में कोरोना के ठीक हुए मरीजों को डिस्चार्ज करने से पहले उनका रिवर्स ट्रांसक्रिप्शन-पॉलीमर्स चेन रिएक्शन (आरटी-पीसीआर) टेस्ट नहीं करवाए जाने के आरोप वाली याचिका का पंजाब हरियाणा हाइकोर्ट ने निपटारा कर दिया।

मामले में पंजाब सरकार ने बताया कि राज्य में इंडिया काउंसिल और मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) द्वारा तय की गई गाइडलाइंस के अनुसार ही कोरोना के मरीजों का पूरा इलाज किया जा रहा है और इसी के तहत ठीक होने पर उन्हें डिस्चार्ज किया जा रहा है।

चीफ जस्टिस रवि शंकर झा एवं जस्टिस अरुण पल्ली की खंडपीठ ने कहा कि मामले में पंजाब सरकार और केंद्र सरकार दोनों ने स्वीकार किया है कि आईसीएमआर की गाइडलाइंस के तहत ही कोरोना ने मरीजों की ट्रीटमेंट और डिस्चार्ज किया जा रहा है। ऐसे में अब इस याचिका का कोई आधार नहीं है।

हालांकि हाईकोर्ट ने याचिकाकर्ता को इस मामले को लेकर संबंधित अथॉरिटी के समक्ष रिप्रजेंटेशन दे अपनी मांग रखे जाने की छूट दे दी है और सरकार को इस रिप्रजेंटेशन पर गौर कर उचित कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

इस मामले को लेकर चेतन बंसल सहित अन्य ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर बताया था कि पंजाब में कोरोना के ठीक हुए मरीजों को डिस्चार्ज करने से पहले उनका रिवर्स ट्रांसक्रिप्शन-पॉलीमर्स चेन रिएक्शन (आरटी-पीसीआर) नहीं करवाया जा रहा है।

ऐसे में डिस्चार्ज हुए ये सभी मरीज कोरोना कॅरियर्स बन जाएंगे जो अन्य लोगों को कोरोना से संक्रमित कर सकते हैं। आईसीएमआर की गाइडलाइंस के अनुसार कोरोना के मरीज को डिस्चार्ज करने से पहले उसका यह टेस्ट किया जाना जरूरी है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन