विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सावन सोमवार पर कराएं शिव का विशेष रुद्राभिषेक , होगी समस्त अभिलाषाओं की पूर्ति
Sawan Puja

सावन सोमवार पर कराएं शिव का विशेष रुद्राभिषेक , होगी समस्त अभिलाषाओं की पूर्ति

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

सियासतः दोआबा में प्रतिनिधित्व न मिलने से वाल्मीकि समाज खफा, 2017 में बढ़ीं कांग्रेस से दूरियां

2017 में वाल्मीकि समाज की वोट लेकर पंजाब की सत्ता हासिल करने वाली कांग्रेस सरकार की तरफ से दोआबा में किसी भी वाल्मीकि समाज के नेता को प्रतिनिधित्व न दिये जाने से समुदाय के अंदर नाराजगी भारी पड़ने लगी है। कांग्रेस की परंपरागत वोट बैंक की नाराजगी को लेकर दोआबा में अकाली दल और आप ने तेजी से सक्रियता बढ़ा दी है, ताकि कांग्रेस से खिसकने वाले वोट बैंक को लपक लिया जाये।

हाल ही में शिअद सुप्रीमो सुखबीर बादल व आप नेता हरपाल चीमा ने इस पर अपनी अपनी टीम को टिप्स देकर मैदान में उतार दिया है। दोनों पार्टी नेताओं ने दोआबा के वाल्मीकि समाज के प्रमुख नेताओं से मीटिंग का सिलसिला अंदरखाते शुरू कर दिया गया है। 2019 में लोकसभा चुनाव से पहले टिकट वितरण में जातीय संतुलन न बैठने के कारण वाल्मीकि, मजहबी सिख समाज नाराज हे गया था।

दोआबा की कुल आबादी में 37 फीसदी आबादी अनुसूचित जाति की है। इनमें रविदास बिरादरी और वाल्मीकि-मजहबी सिख समाज प्रमुख हैं। 2002 में दोआबा के एससी वोट बैंक ने कांग्रेस का साथ दिया तो पार्टी ने सरकार बनाई। लेकिन 2007 और 2012 में यह वोट बैंक कांग्रेस से टूटकर अकाली दल भाजपा की तरफ चला गया, तो पार्टी भी सत्ता से दूर हो गई। दोनों चुनावों में दोआबा में पार्टी का प्रदर्शन बेहद खराब रहा। इस कारण कैप्टन सत्ता से दूर रहे।
... और पढ़ें
कैप्टन अमरिंदर सिंह कैप्टन अमरिंदर सिंह

‘कैप्टन से सवाल’ सत्र में मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने दिए कई सवालों के जवाब, विशेष इंटरव्यू पढ़ें

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शिक्षा विभाग को ऐसे विद्यार्थियों के लिए ऑनलाइन शिक्षा यकीनी बनाने के निर्देश दिए हैं, जिनके पास आवश्यक आनलाइन सुविधा नहीं है। उन्होंने विभाग को ऐसी कोई विधि ढूंढने को कहा है। मुख्यमंत्री ने रविवार को ‘कैप्टन से सवाल’ सत्र के दौरान एक सवाल के जवाब में कहा कि कोविड -19 के कारण रेगुलर ऑफलाइन कक्षाएं संभव नहीं हैं।

इस वजह से यह लाजिमी हो जाता है कि गरीब और ग्रामीण समेत सभी विद्यार्थियों को शिक्षा के समान मौके मिलें। शिक्षा विभाग ऐसे विद्यार्थियों को शिक्षा देने के तरीकों की आलोचना कर रहा है, जिनके पास ऑनलाइन सुविधा न होने के कारण शिक्षा हासिल करना चुनौती बन गया है। उन्होंने कहा कि नई विधि जल्दी ही लागू हो जाएगी, जिससे लंबे समय से फिजिकल क्लासों के बंद होने से इन विद्यार्थियों की पढ़ाई का नुकसान नहीं होगा।

एक सवाल के जवाब में कैप्टन सिंह ने कहा कि उनकी सरकार पहले ही हाईकोर्ट के उस फैसले के खिलाफ एलपीए दाखिल कर चुकी है, जिसमें उन्होंने प्राइवेट स्कूलों को लॉकडाउन के समय के लिए भी फीसें वसूलने की आज्ञा दी, जब ऑनलाइन क्लासें भी नहीं लग रही थीं।

यूजीसी के ताजा दिशानिर्देशों से सहमत नहीं हूं : कैप्टन
आखिरी साल के विद्यार्थियों के लिए यूनिवर्सिटी और कॉलेजों की परीक्षाओं के मुद्दे पर मुख्यमंत्री ने स्पष्ट किया कि वह यूजीसी द्वारा हाल ही में जारी दिशानिर्देशों से सहमत नहीं हैं, जिसके अंतर्गत सितंबर महीने तक लाजिमी इम्तिहान करवाने की बात कही गई है। उन्होंने कहा कि यूजीसी को यह फैसला राज्यों पर छोड़ देना चाहिए, जो जमीनी हकीकत को देखकर फैसला करें। उन्होंने आशा जताई कि प्रधानमंत्री, जिन्हें उन्होंने कल पत्र लिखा है, इस संबंधी राज्यों की शंकाओं के मद्देनजर विद्यार्थियों की सुरक्षा के हितों का ख्याल रखते हुए दखल देंगे।
... और पढ़ें

राजपुरा में बनेगा एशिया का सबसे बड़ा आईटी पार्क, सरकार और किसानों में सहमति 

राज्य सरकार और किसानों में सहमति होने के बाद आईटी पार्क बनने के एलान की खबर ने करीब एक लाख लोगों के लिए रोजगार की राह खोल दी है। राजपुरा में 1100 एकड़ जमीन पर सूबा सरकार की पीएसआईबीसी की मदद से बनने वाले आईटी पार्क का निर्माण कार्य जल्द शुरू हो जाएगा। 

आईटी पार्क बनने से राज्य के युवा इंजीनियरों को अब अच्छे पैकेज के लिए गुरुग्राम या बंगलूरू जाने की जरूरत नहीं होगी। राजपुरा में ही ऐसी 100 से ज्यादा बहुराष्ट्रीय कंपनियों के आने की उम्मीद है।  आईटी हब बनने के बाद मेकेनिकल, इलेक्ट्रानिक, कंप्यूटर, केमिकल इंजीनियरिंग कर रहे छात्रों के लिए बेहतर रोजगार के अवसर मिलेंगे। इसके अलावा बीटेक, एमटेक  पोलिटेक्रिकल सहित सभी टेक्निकल विषयों में स्नातक युवाओं को इस हब में प्रवेश मिलेगा। 

इसके साथ ही करीब दस हजार नौकरियां बीसीए, एमसीए, बीबीए, एमबीए, सहित नॉन टेक्निकल क्षेत्र के लोगों को मिल पाऐंगी। इसके अलावा रिसेप्शनिस्ट, गार्ड, सुपरवाइजर, क्लर्क और अकाउंटेंट आदि भी रोजगार प्राप्त कर पाएंगे। पुक्का के अध्यक्ष व आर्यन्स ग्रुप के चेयरमैन डा. अंशु कटारिया का कहना है कि आईटी पार्क बनने से जहां युवाओं के लिए रोजगार के साधन बढ़ेंगे वहीं इलाके के कालेजों को भी बेहद फायदा होगा। 

सरकार 1600 करोड़ का निवेश करेगी: कंबोज
विधायक हरदियाल सिंह कंबोज का कहना है मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह व सांसद पटियाला परनीत कौर के मार्ग दर्शन में राजपुरा में बनने वाला आईटी पार्क एशिया में सबसे होगा। कई नामचीन और विदेशी कंपनियां प्रोजेक्ट लगाने की दिलचस्पी दिखा रही है। सरकार आईटी पार्क पर 1600 करोड़ रुपये निवेश करेगी। आईटी पार्क पर करीब तीस हजार करोड़ रुपये लागत आने की संभावना हैं। 

कंबोज ने कहा कि राजपुरा के नजदीक पड़ते 6 गांवों की 1100 एकड़ पंचायती जमीन अधिग्रहीत की जाएगी। इसके लिए प्रति एकड़ 9 लाख रुपये व गांव के विकास के लिए 26 लाख रुपय सरकार की तरफ से दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि आईटी पार्क के निर्माण रसे राजपुरा विश्व के नक्शे पर आ जाएगा।
... और पढ़ें

पंजाब: सेना में भर्ती कराने के नाम पर बठिंडा में बहुत बड़ी ठगी, 45 युवकों से एक करोड़ रुपये ऐंठे

सेना में भर्ती का झांसा देकर मौड़ क्षेत्र के विभिन्न गांवों के लगभग 45 युवाओं के साथ एक करोड़ रुपये से अधिक की धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। प्रेस क्लब में शनिवार को पीड़ित युवाओं के साथ लोक इंसाफ पार्टी के हलका इंचार्ज रविंदर सिंह ने ठगी करने के आरोपी दंपती और उनकी महिला साथी के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की। 

देर शाम पीड़ित युवक एसएसपी नानक सिंह को शिकायत देने उनके कार्यालय और घर पर गए लेकिन वे नहीं मिले। इसके बाद उन्होंने एसपी (देहात) गुरविंदर सिंह संघा को यह शिकायत दी। एसपी ने बताया कि उन्हें शिकायत मिल गई है। मामले की जांच डीएसपी इन्वेस्टिगेशन को सौंप दी गई है। जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी।  

पीड़ित सुखप्रीत सिंह निवासी मौड़ कलां ने बताया कि वह लगभग दो साल पहले फिरोजपुर में सेना में भर्ती होने के लिए अपने दोस्तों के साथ गया था। वहां उनकी मुलाकात आरोपी राजपाल सिंह, उसकी पत्नी नेकपाल कौर और सुखपाल कौर के साथ हुई। इसके बाद आरोपी ने उसके समेत करीब 45 युवकों से 1 करोड़ रुपये से भी अधिक वसूल कर धोखाधड़ी की। 

सुखप्रीत सिंह ने बताया कि आरोपी ने उनसे 2 लाख 50 हजार रुपये लिए थे। उसने यह रुपये अपनी मां के गहने व घरेलू सामान बेचकर एकत्र किए थे। एक पीड़ित के पिता पूर्व सूबेदार महेंद्र सिंह ने कहा कि आरोपी कई लड़कों को बिहार के दानापुर के एक प्रशिक्षण केंद्र ले गया। आरोपी वहां कुछ सैनिकों से मिला था। वह श्री पटना साहिब गुरुद्वारा में रुके थे। रविंदर सिंह ने आरोप लगाया कि मौड़ क्षेत्र के कई गांवों के युवाओं को आरोपियों ने फर्जी ज्वाइनिंग लेटर तक दिए। पीड़ितों का कहना है कि जब हम उनसे पैसे मांगते हैं तो वे धमकी देते हैं।  
... और पढ़ें

मादक पदार्थ तस्करी मामले में पंजाब पुलिस ने बीएसएफ जवान को किया गिरफ्तार

कस्बा दोरांगला के गांव मगरमूदियां का बीएसएफ कर्मी पाकिस्तान के लिए जासूसी करने के आरोप में जम्मू के सांबा सेक्टर से गिरफ्तार किया गया है। सूत्रों के अनुसार पंजाब पुलिस ने गुरदासपुर में किसी तस्कर को पकड़ा था। उसने पूछताछ के दौरान बीएसएफ कर्मी सुमित कुमार पुत्र जनक राज का नाम लिया था। इस पर पंजाब पुलिस ने 173वीं वाहिनी के अधिकारियों को सूचना दी।

बीएसएफ के अधिकारियों ने भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा की अग्रिम पोस्ट मंगु चक में तैनात कांस्टेबल सुमित को शनिवार शाम गिरफ्तार कर लिया। उसके सामान की तलाशी लेने पर उसके बैग से तुर्की निर्मित पिस्टल, 80 गोलियां व तीन मोबाइल बरामद हुए। उसे बीएसएफ कैंप पंजटीला ले जाया गया जहां अधिकारियों ने उससे गहन पूछताछ की। इसके बाद में पंजाब पुलिस के अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। सूत्रों के अनुसार सुमित को पंजाब पुलिस अपने साथ ले आई है।

बीएसएफ कर्मी के जम्मू में गिरफ्तार होने की पुष्टि गुरदासपुर के डीआईजी राजेश शर्मा ने भी की है। सूत्रों का कहना है कि सुमित इंटरनेट कॉलिंग के जरिये सीमा पार देश विरोधी तत्वों से लगातार संपर्क में था। वह पोस्ट में अपनी तैनाती के दौरान सीमा पार से देश विरोधी तत्वों द्वारा लाए गए हथियार व मादक पदार्थों को कब्जे में लेकर उन्हें वहीं छिपा देता था। उसके बाद मौका मिलते ही इसे आगे पहुंचाता था। इसके जरिये पाकिस्तान से हथियार और मादक पदार्थ पंजाब भेजे जा रहे थे।

हत्या का केस भी दर्ज
एसएसपी गुरदासपुर राजिंदर सिंह सोहल ने बताया कि सुमित पर करीब तीन साल पहले दोरांगला में हत्या का केस भी दर्ज हुआ था जिसका कोर्ट में ट्रायल चल रहा है। आरोपी फिलहाल पठानकोट के सरना में रह रहा था।
... और पढ़ें

आपत्तिजनक वीडियो बनाने के मामले में शिवसेना नेता सुधीर सूरी इंदौर से गिरफ्तार

कांगड़ा घाटी में पहली बार नेरोगेज ट्रैक पर उतारा जाएगा ये शक्तिशाली रेल इंजन, सुहाना होगा सफर

पठानकोट-जोगिंदर नगर (कांगड़ा घाटी) के बीच 164 किलोमीटर लंबे सेक्शन में छुक-छुक कर धीरे-धीरे चलने वाली रेलगाड़ी से अब छुटकारा मिलेगा। रेल डिवीजन फिरोजपुर ने रेल सेक्शन में जेडडीएम-3 पावरफुल डीजल इंजन उतारा है, जो पैसेंजर ट्रेन के अलावा मालगाड़ी को भी लेकर नेरोगेज ट्रैक पर तेज रफ्तार में दौड़ेगा। यह इंजन मुंबई की परेल वर्कशाप में तैयार किया गया है, जिसे पठानकोट-जोगिंदर नगर के बीच दौड़ने वाली ट्रेनों के साथ जोड़ा जाएगा।

जानकारी के अनुसार कांगड़ा घाटी में मौजूदा समय में ट्रेनों के साथ लगे इंजन मुश्किल से पैसेंजर ट्रेनों को खींच पाते हैं। पठानकोट-जोगिंदर नगर के बीच 164 किलोमीटर लंबे सफर को तय करने में काफी समय लगता है। इसे कम समय में तय करने के लिए रेल अधिकारी लंबे समय से जुटे थे। नेरोगेज ट्रैक (जिसकी चौड़ाई दो फुट है) इस पर शक्तिशाली इंजन दौड़ाने की तलाश जारी थी, जेडडीएम-3 इंजन को मुंबई की परेल वर्कशाप में 2019 व जनवरी 2020 में तैयार किया है। इस इंजन में काफी सुविधाएं दी गई है।

इंजन में बने लोको पायलट के केबिन में ही एयर और हैंड ब्रेक के अलावा आटोमैटिक ब्रेक भी उपलब्ध है। इसके अलावा इलेक्ट्रॉनिक्स स्क्रीन भी लगी है, जिस पर लोको पायलट सब कुछ देख सकता है। इस तरह और कई सुविधाएं इंजन में हैं। रेल डिवीजन फिरोजपुर के तहत कांगड़ा घाटी (नैरोगेज) रेलवे जो पंजाब के पठानकोट से हिमाचल के जोगिंदर नगर के बीच चलती है। यह रेलखंड 164 किलोमीटर लंबा है। जो उप-हिमालय क्षेत्र के सुरम्य एवं मनमोहक वादियों के बीच से गुजरती है। यह 1929 में चालू हुआ था। इस रेलखंड पर नूरपुर रोड, जवांवाला शहर, ज्वालामुखी रोड, नगरोटा, चामुंडा मार्ग, पालमपुर, बैजनाथ, जोगिंदरनगर आदि मुख्य रेलवे स्टेशन हैं, जहां अनेक पर्यटन, एतिहासिक एवं धार्मिक स्थल हैं।  

कांगड़ा घाटी को पर्यटन की दृष्टि से विकसित कर रहे
रेल डिवीजन फिरोजपुर के डीआरएम राजेश अग्रवाल ने बताया कि रेलवे कांगड़ा घाटी के रेल सेक्शन को पर्यटन की दृष्टि से विकसित कर रहा है। यहां पर सात ट्रेनें (अप एंड डाउन) चलती है, इनमें एक एक्सप्रेस ट्रेन शामिल है, जो पठानकोट से बैजनाथ पपरोला के बीच चलाई जाती है। मौजूदा समय में कोविड-19 के चलते ट्रेन सेवा बंद है। 

कांगड़ा स्टेशन को आर्ट्स एवं गैलरी के द्वारा हेरिटेज स्टेशन के रूप में विकसित किया गया है। यहां के सभी स्टेशनों पर फ्री वाई-फाई सेवा है। अग्रवाल ने बताया कि परेल वर्कशॉप मुंबई से लॉकडाउन के दौरान निर्मित जेडडीएम-3 श्रेणी का तीसरा नया शक्तिशाली डीजल इंजन फिरोजपुर मंडल के पठानकोट और जोगिंदर नगर रेलवे स्टेशनों के बीच यात्रा को आसान और आरामदायक बनाने के लिए रवाना हो चुका है। इन इंजनों का ट्रायल चल ही रहा था कि कोविड-19 के कारण परीक्षण कार्य स्थगित कर दिया था। इंजन के दोनों ओर लोको पायलट के लिए केबिन है, जिससे शंटिंग करने में समय की बचत होगी। 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन