विज्ञापन
विज्ञापन
आपकी जन्मकुंडली बताएगी क्या है आपके लिए शिक्षा के सही क्षेत्र
Astrology

आपकी जन्मकुंडली बताएगी क्या है आपके लिए शिक्षा के सही क्षेत्र

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

नौदीप कौर को पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट से मिली जमानत, बाहर आने का रास्ता हुआ साफ

पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने शुक्रवार को एक्टिविस्ट नौदीप कौर को जमानत दे दी। बता दें कि नौदीप कौर मामले में पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में शुक्रवार को सुनवाई थी। नौदीप की गिरफ्तारी और हिरासत में अत्याचार की खबरों पर हाईकोर्ट ने संज्ञान लिया था। नौदीप कौर पर तीन एफआईआर दर्ज हुई थी। इनमें से दो एफआईआर में नौदीप को पहले ही जमानत मिल चुकी है। ऐसे में उनके बाहर आने का रास्ता साफ हो गया है।
 

मजदूरों के हक में आवाज उठाने वाले मजदूर अधिकार संगठन के अध्यक्ष शिव कुमार व सदस्य नौदीप कौर की जमानत मामले में सुनवाई के दौरान डीएसपी ने अपनी रिपोर्ट में बताया था कि किसानों के हक के नाम पर यह उद्योगों से उगाही का काम कर रहे हैं। यह बात नौदीप कौर ने अपने बयान में मानी है। हाईकोर्ट ने सुनवाई स्थगित करते हुए मेडिको लीगल परीक्षण रिपोर्ट तलब की थी। 

बुधवार को नौदीप कौर मामले में स्व संज्ञान लेकर नौदीप की जमानत याचिका तथा शिव कुमार की जमानत याचिका पर एक साथ सुनवाई हुई थी। सोनीपत के डीएसपी वरिंदर सिंह ने नौदीप कौर मामले में दाखिल हलफनामा में बताया कि नौकरी छोड़ने के बाद वह मजदूर अधिकार संगठन में कार्य कर रहीं थीं। 

28 दिसंबर और 12 जनवरी को पुलिस को शिकायत मिली कि संगठन के कुछ लोगों ने नौदीप कौर की अगुवाई में एक कंपनी का घेराव किया है और उनके कर्मियों और अधिकारियों से हाथापाई की है। डीएसपी ने बताया कि नौदीप कौर ने भीड़ को भड़काया जिसके बाद भीड़ ने पुलिस पर हमला कर दिया। इसकी रिकार्डिंग भी पुलिस के पास मौजूद है। पुलिस पर हमले में एक महिला सहित सात पुलिस कर्मी घायल हो गए थे।
... और पढ़ें
नौदीप कौर को मिली जमानत। नौदीप कौर को मिली जमानत।

सिंघु बॉर्डर से फिर बुरी खबर : रात को खाना खाकर सोया युवा किसान, सुबह नहीं उठ सका, हार्ट अटैक से मौत

सिंघु बार्डर पर चल रहे किसान आंदोलन में पटियाला के गांव खेड़ी जट्टां के 19 वर्षीय युवा किसान नवजोत सिंह की मौत हो गई है। जानकारी के मुताबिक मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई है। नवजोत अपने घर का इकलौता बेटा था। जैसे ही नौजवान की मौत की खबर गांव पहुंची तो परिवार समेत पूरे गांव में मातम पसर गया। परिवार वालों का रो-रोकर बुरा हाल है।

केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का दिल्ली बॉर्डर पर करीब तीन माह से आंदोलन जारी है। इस दौरान सिंघु बार्डर से एक बार फिर बुरी खबर आई है। नाभा के गांव खेड़ी जट्टां के रहने वाले 19 साल के युवा किसान नवजोत सिंह की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई है।

नवजोत सिंह अपने गांव के कुछ किसानों के साथ सिंघु बार्डर पर चल रहे किसानों के धरने में शामिल होने गया था। बताया जा रहा है कि नवजोत चार दिन से धरने में शामिल था। पुलिस ने सोनीपत में पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है। गांव के किसानों के मुताबिक रात को वह खाना खाकर सोया था, लेकिन सुबह नहीं उठ सका।
... और पढ़ें

पंजाब में बढ़ रहा कोरोना, देश से ज्यादा हुई संक्रमण दर, जान गंवाने वालों की संख्या भी बढ़ी 

पंजाब में कोरोना संक्रमण की दर में लगातार इजाफा हो रहा है। पिछले आठ दिन में प्रदेश में संक्रमण की दर राष्ट्रीय स्तर से ऊपर जाकर 2.2 प्रतिशत तक पहुंच गई है। 17 फरवरी को यह दर 1.3 प्रतिशत थी। आठ दिन में यह बढ़कर 2.2 फीसदी हो गई है। राष्ट्रीय स्तर पर संक्रमण दर 1.9 प्रतिशत दर्ज हुई है। 

कोरोना संक्रमण के लगातार फैलाव के कारण पंजाब देश के उन 10 राज्यों में शुमार हो गया है, जहां संक्रमण की दर लगातार बढ़ रही है। संक्रमण के फैलाव को देखते हुए केंद्र सरकार ने भी चिंता जताई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से संक्रमण प्रभावित राज्यों को पत्र लिखकर जारी की गई एसओपी का सख्ती से पालन कराने के निर्देश दिए जा चुके हैं। 


पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को भी केंद्रीय मंत्रालय की ओर से बुधवार को पत्र भेजा गया था। पंजाब में कोरोना संक्रमण की दर 17 फरवरी को 1.3 प्रतिशत दर्ज की गई थी, लेकिन पिछले आठ दिन में 0.9 प्रतिशत की बढ़ोतरी के साथ ही 24 फरवरी को यह दर 2.2 प्रतिशत हो गई। 
 
... और पढ़ें

पंजाब में कोर्ट के बाहर भिड़े दो दिग्गज, बिक्रम मजीठिया बोले-भाग मत संजय, संजय सिंह के तेवर-कोर्ट देखेगा 

पंजाब के लुधियाना में अदालत के बाहर ही दो दिग्गज नेताओं में शब्दों के बाण खूब चले। दरअसल शिरोमणि अकाली दल के सीनियर नेता बिक्रम सिंह मजीठिया की तरफ से आप के राज्यसभा सांसद संजय सिंह के खिलाफ लुधियाना की अदालत में केस दायर किया गया है। सुनवाई के बाद आप सांसद और शिअद नेता मजीठिया ने कोर्ट के बाहर एक दूसरे पर आरोप लगाए। गुरुवार को जज विक्रांत कुमार की अदालत ने संजय सिंह खुद पेश होने के लिए पहुंचे तो दूसरी तरफ बिक्रम सिंह मजीठिया भी अदालत पहुंचे। मजीठिया के क्रॉस एग्जामिनेशन को संजय सिंह के वकील ने टालने की गुहार लगाई। वह कुछ दस्तावेज अदालत के सामने रखना चाहते थे। इस पर अदालत ने संजय सिंह के वकील की जिरह की गुहार को रद्द कर मामले की अगली तारीख चार मार्च तय कर दी। इसी दिन मजीठिया की तरफ से बाकी के गवाही करवाई जाएगी। बाहर मजीठिया ने तंज कसा कि संजय भाग मत, अब सामने आ। इस पर संजय सिंह ने पलटवार किया कि मजीठिया कौन होते हैं यह फैसला देने वाले कि मुझे जेल भेजेंगे।  ... और पढ़ें

Petrol Diesel Price : पंजाब में स्थिर रहे पेट्रोल-डीजल के दाम, चंडीगढ़ में भी नहीं बढ़ा भाव

लुधियाना में अदालत के बाहर बिक्रम सिंह मजीठिया और संजय सिंह के बीच चले शब्दों के तीर।

राकेश टिकैत के इस बयान पर बढ़ी तकरार, साथी किसान नेताओं की नसीहत, बड़े नेता हैं, सोच-समझकर बोलें

किसान आंदोलन को दोबारा से खड़ा करने वाले भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत के बयान को लेकर लगातार तकरार बढ़ती जा रही है। जहां एक ओर फसलों को जलाने वाले उनके बयान के बाद किसानों ने खेतों में ट्रैक्टर चलाना शुरू कर दिया तो वहीं अब संसद का घेराव करने वाले उनके बयान पर तकरार शुरू हो गई है। किसान नेताओं ने उनको सोच समझकर बयान देने की नसीहत दी है। किसान नेताओं का मानना है कि राकेश टिकैत के हर बयान पर पूरी दुनिया की नजर रहती है और उनके बयान से निकलने वाला संदेश पूरी दुनिया में जाता है। इसलिए उनको ऐसे बयान देने से बचना चाहिए और उन्होंने इसे उनका निजी बयान बताया। गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर परेड के दौरान दिल्ली में बवाल के बाद टूटते आंदोलन को भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत के आंसुओं ने दोबारा से खड़ा किया था। उसके बाद से राकेश टिकैत ही किसानों के सबसे बड़े नेता बने हुए हैं। उनको उत्तर प्रदेश ही नहीं, बल्कि हरियाणा, राजस्थान समेत अन्य प्रदेशों में सबसे ज्यादा तवज्जो मिल रही है। लेकिन उनके बयान संयुक्त किसान मोर्चा को परेशान कर रहे हैं और उनके बयान को लेकर तकरार बढ़ती जा रही है। 
... और पढ़ें

पंजाब : कपूरथला में हॉस्टल में बनी कढ़ी खाने से अचानक बिगड़ी 42 छात्रों की तबीयत

किसान आंदालन को भेंट किया शादी में मिला शगुन, पंजाब के नवविवाहित जोड़े ने जताई ये उम्मीद

तीन कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे किसान आंदोलन में लोग अपने अपने तरीके से सहयोग कर रहे हैं। शुक्रवार को पंजाब के मानसा से टीकरी बॉर्डर आए नवदंपती ने अपनी शादी में मिला शगुन किसान आंदोलन को भेंट कर दिया। 

किसान आंदोलन को लोग अपने तरीके से समर्थन दे रहे हैं। कोई अपने घर से दूध-दही और लस्सी लेकर आ रहा है, तो कोई सब्जी का दान कर रहा है। नकदी के रूप में कई लोग अपना एक महीने का तो कोई एक दिन का वेतन दान कर रहा है। दो व्यक्तियों ने अपने घर में पुत्र जन्म की खुशी में नकद राशि दान की तो कुछ लोग विवाह अवसर पर आंदोलन में नकद राशि भेंट कर रहे हैं।


शुक्रवार को पंजाब के मानसा से टीकरी बॉर्डर आए बलजीत सिंह और मनवीर कौर ने अपनी शादी में मिली पूरी शगुन राशि किसान आंदोलन के लिए संयुक्त किसान मोर्चा को सौंप दी। बॉर्डर पर किसानों की सभा के मंच पर धरना संचालकों ने यह राशि ग्रहण की। नवविवाहिता मनवीर कौर ने कहा कि अपनी शगुन राशि को किसानों के लिए भेंट करके वह सुखी जीवन का आशीर्वाद ले रही है। आंदोलन की सफलता से किसानों का भला होगा, और किसानों के भले से ही हम सबका भला होगा। मनवीर कौर के पति बलजीत सिंह ने कहा कि खेती की सफलता में ही हमारी खुशी है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X