विज्ञापन
विज्ञापन
मौनी अमावस्या पर गया में कराएं तर्पण, हर तरह के ऋण से मिलेगी मुक्ति : 24 जनवरी 2020
Astrology Services

मौनी अमावस्या पर गया में कराएं तर्पण, हर तरह के ऋण से मिलेगी मुक्ति : 24 जनवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

राजस्थान

शुक्रवार, 24 जनवरी 2020

राजस्थान में टिड्डियों ने किया अब तक का सबसे बड़ा हमला, 11 जिले प्रभावित

राजस्थान का सीमावर्ती इलाका आजकल टिड्डियों का दंश झेल रहा है। पाकिस्तान से लगते इन जिलों में इस बार टिड्डियों ने बड़े पैमाने पर हमला किया है, जिससे किसान बुरी तरह प्रभावित हो रहे हैं। राज्य सरकार के अधिकारियों के अनुसार हमेशा की तरह इस बार भी इन टिड्डी दलों का सबसे अधिक असर पाकिस्तानी सीमा से लगते जोधपुर, जैसलमेर, बाड़मेर और बीकानेर जिलों में है। थार रेगिस्तान का यह इलाका पाकिस्तान के सिंध प्रांत के सामने पड़ता है और टिड्डी दल हवाओं के साथ इसी सीमा से होकर भारत में आते हैं।

एक टिड्डी दल में हजारों-लाखों की संख्या में टिड्डियां होती हैं और जहां भी यह पड़ाव डालता है, वहां फसलों व अन्य वनस्पतियों को साफ करता हुआ चला जाता है। राजस्थान के किसान बीते लगभग तीन दशक के सबसे बड़े टिड्डी दल हमले का सामना कर रहे हैं। राजस्थान के 11 जिले इस हमले से प्रभावित हैं। राज्य सरकार ने प्रभावित इलाकों में विशेष गिरदावरी (नुकसान आकलन) का आदेश दिया है और अधिकारियों का कहना है कि टिड्डी दल हमला एक अंतरराष्ट्रीय समस्या है जिसका मुकाबला भी समन्वित प्रयासों से किया जा सकता है और आने वाले दिनों में भी सावधान रहने की जरूरत है।

इस संबंध में एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि बीते लगभग आठ महीने में राज्य के 11 जिलों में लगभग 3.70 लाख हेक्टेयर जमीन को उपचारित किया जा चुका है। इसमें सबसे अधिक प्रभावित जैसलमेर जिले में दो लाख हेक्टेयर, बाड़मेर व बीकानेर में 80-80 हजार, गंगानगर जिले में पांच हजार हेक्टेयर, जालौर में 1500 हेक्टेयर, हनुमानगढ़ जिले में 800 हेक्टेयर, नागौर जिले में 500 हेक्टेयर, सिरोही और पाली में 400-400 हेक्टेयर और डूंगरपुर जिले में 50 हेक्टेयर जमीन को उपचारित किया जा चुका है।

टिड्डी नियंत्रण के लिए नोडल अधिकारी एवं कृषि विभाग में संयुक्त निदेशक (पौध संरक्षण) डॉ. सुआलाल जाट ने कहा कि इस बार पहला टिड्डी दल 21 मई 2019 को देखा गया था। उसके बाद 12 जनवरी तक लगभग 3.50 लाख हेक्टेयर जमीन को उपचारित किया चुका है।

विभाग की 54 सर्वे टीम निगरानी व नियंत्रण के काम में लगी हुई हैं और 45 माइक्रोनियर मशीनें नियंत्रण के काम में लगी हैं। 450 ट्रैक्टर स्प्रेयर के साथ काम में लगे हैं। इसके अलावा प्रभावित जिलों में किसानों के सहयोग से हर दिन 400 से 450 ट्रैक्टरों की मदद से टिड्डी दलों को भगाने की कोशिश की जाती है, ताकि वे फसलों को नुकसान नहीं पहुंचा सकें।
... और पढ़ें

राजस्थान तकनीकी विश्वविद्यालय में 50 प्रतिशत से अधिक पद खाली : आरटीआई 

एक आरटीआई के माध्यम से खुलासा हुआ है कि राजस्थान तकनीकी विश्वविद्यालय में वर्तमान में 50 प्रतिशत से भी कम कर्मचारी है। कोटा निवासी आरटीआई कार्यकर्ता सुजीत स्वामी की याचिका में खुलासा हुआ है कि विश्वविद्यालय में 63 प्रतिशत शिक्षण पद खाली हैं।

विश्वविद्यालय में गैर-शिक्षण कर्मचारियों के 382 पदों में से केवल 187 पदों पर ही भर्तियां की गई है। इनमें परीक्षा नियंत्रक, निदेशक, डीन और छात्र कल्याण अधिकारी के जैसे महत्वपूर्ण पद भी शामिल हैं। वर्तमान में, प्रोफेसरों के 37 स्वीकृत पदों में से केवल 10 पद ही भरे गए हैं। इसी तरह, 68 सहयोगी प्रोफेसर के पदों में से केवल 19 पर ही भर्तियां की गई है। सहयोगी प्रोफेसर के 49 पद अब भी खाली हैं। सहायक प्रोफेसर के 156 पदों में से केवल 67 पद ही भरे गए है।

यूनिवर्सिटी में पेट्रोकेमिकल, इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी और एमबीए कोर्स के सभी 25 पद खाली हैं। आरटीआई के जवाब में जानकारी सामने आई है कि विश्वविद्यालय ने साल 2011, 2013, 2014 और 2018 में भी कई पदों पर आवेदन आमंत्रित किए हैं, पर उम्मीदवारों द्वारा परीक्षा शुल्क का भुगतान करने के बाद चयन प्रक्रिया पूरी नहीं की गई। 

आरटीआई के माध्यम से खुलासा हुआ है कि साल 2011 और 2018 के बीच विश्वविद्यालय ने 36,230 उम्मीदवारों के परीक्षा शुल्क से 1.05 करोड रुपये का राजस्व अर्जित किया। इस अंतराल में केवल साल 2018 में परीक्षा का आयोजन किया गया। इस वर्ष, 41 शिक्षण पदों और 19 गैर-शिक्षण पदों पर भर्तियां की गई। ये भर्तियां साल 2014 के विज्ञापन के आधार पर की गई थी। 

वर्तमान में, विश्वविद्यालय के कुल 643 पदों में से केवल 44 प्रतिशत पदों यानी 283 पदों पर ही भर्तियां की गई है। रिक्तियों के बारे में पूछे जाने पर कुलपति राम अवतार गुप्ता ने बताया कि हमने सरकार को खाली पदों को भरने की अनुमति के लिए लिखा है। वित्तीय स्वीकृति प्राप्त होने के बाद, हम भर्ती के लिए प्रक्रिया शुरू करेंगे। साथ ही, स्थानीय भाजपा विधायक संदीप शर्मा ने इस मुद्दे को राज्य विधानसभा में उठाने का आश्वासन दिया है।
... और पढ़ें

राजस्थान के सीएम गहलोत ने कहा- जेएनयू घटना की न्यायिक जांच हो

दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में हाल ही में हुई तोड़फोड़ एवं मारपीट की घटना की निंदा करते हुए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार को कहा कि इसकी न्यायिक जांच होनी चाहिए। प्रदेश कांग्रेस कमेटी मुख्यालय में संवाददाताओं से बातचीत में गहलोत ने कहा जैसे जेएनयू में नकाबपोश और पुलिस की देखरेख में लोग घुसे, जैसे सरियों और लाठियों से तांडव मचाया और पुलिस घेरे (एस्कार्ट) में बाहर निकले। 

हिंदुस्तान के इतिहास में कभी ऐसी घटना नहीं सुनी होगी, जो पुलिस की देखरेख में हुई फिर भी पुलिस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। गहलोत ने कहा जिस पुलिस के निगरानी में गुंडे नकाब पहनकर गए, वैसे पुलिस के सभी अधिकारी को नौकरी से निलंबित नहीं बल्कि बर्खास्त होने चाहिए थे। 

उन्होंने कहा इसकी न्यायिक जांच होनी चाहिए कि किसकी शह पर पुलिस वालों की इतनी हिम्मत बढ़ गई कि वे गुंडों को अंदर ले गए और बाहर लाए। किसका इशारा था ऊपर से उसकी भी जांच होनी चाहिए। गहलोत ने कहा क्या हो रहा है देश की राजधानी के अंदर सरकार की नाक के नीचे, इसका जवाब  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देना चाहिए।
... और पढ़ें

गहलोत ने केंद्र सरकार पर कसा तंज, बोले- सरकार में बैठे लोगों को पता चलेगा कि देश क्या चाहता है

जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल के बहाने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा। मुख्यमंत्री गहलोत ने गुरुवार को कहा कि स्वतंत्र भारत में पहली बार देश में ऐसा माहौल बना है। लेखक, बुद्धिजीवी आएंगे और खुलकर बोलने के लिए एक मंच होगा। मुझे उम्मीद है कि इस फेस्टिवल के माध्यम से, सरकार में बैठे लोगों को पता चल जाएगा कि भारत क्या चाहता है।

 गहलोत ने आगे कहा कि इस फेस्टिवल से शायद एक नई शुरुआत होगी, मुझे उम्मीद है कि दुनिया भर के लेखक और बुद्धिजीवी यहां आएंगे और देश की स्थिति पर चर्चा करेंगे। इससे एक संदेश मिलेगा जो देश के लिए फायदेमंद होगा।


... और पढ़ें
CM Ashok Gehlot CM Ashok Gehlot

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर मची मछलियों की 'लूट', कई लोग हादसे का शिकार होने से बचे

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर बुधवार सुबह मछलियों की लूट मच गई। दरअसल मछलियों से भरी एक मैक्स गाड़ी ट्रॉला से टकरा गई जिससे सड़क पर मछलियां बिखर गईं। मछली उठाने के लिए स्थानीय नागरिक पहुंच गए। जान जोखिम में डालकर लोग सड़क के बीचोंबीच मछली बीनने लगे। घने कोहरे के चलते कई लोग दूसरे वाहनों से टकराने से भी बच गए।

राजस्थान के जिला टोंक के बीसलपुर डैम से मछलियों के डिब्बों से भरी मैक्स गाड़ी संख्या आरजे 26 जीए 5068 बिहार के माझेपुर मछली फार्म पर जा रही थी।

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे के फिरोजाबाद मैनपुरी बॉर्डर के 78 नंबर पर एक ट्रॉला से टकरा गई। हादसे का कारण घना कोहरा बताया जा रहा है। जिसकी वजह से गाड़ी चालक को धीमी गति से चल रहा ट्रॉला दिखाई नहीं दिया।
... और पढ़ें

कोटा : मानसिक रूप से विक्षिप्त बेटी को गर्भवती कर मारने वाले पिता को मौत की सजा

मानसिक रूप से अपनी 17 वर्षीय विक्षिप्त बेटी के साथ लगातार दुष्कर्म करने और गर्भवती होने पर अपने अपराध को छिपाने के लिए उसकी हत्या करने वाले पिता को विशेष कोर्ट पॉक्सो ने मौत की सजा सुनाई है। पॉस्को कोर्ट-1 के लोक अभियोजक प्रेमनारायण नामदेव ने बताया कि न्यायाधीश अशोक चौधरी ने अपने 36 पेज के फैसले में इस अपराध को ‘सबसे जघन्य’ और ‘समाज’ के लिए शर्मनाक बताते हुए मौत की सजा सुनाई। साथ ही दोषी पर 20,000 रुपये का जुर्माना भी लगाया।  

नामदेव ने बताया कि 13 मई 2015 को एक गोदाम में गार्ड की नौकरी करने वाले शख्स ने नयापुरा थाने में अज्ञात के खिलाफ अपनी बेटी की हत्या का मामला कराया था। शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू की। पोस्टमार्टम में पता चला कि मृतका चार माह की गर्भवती थी। मृतका की मां ने पुलिस को बताया कि दोषी पिता बेटी के साथ लंबे अरसे से दुष्कर्म कर रहा था जिससे वह गर्भवती हो गई। मां के बयान के आधार पर पुलिस ने पिता को गिरफ्तार कर लिया। कोर्ट ने पिता को दुष्कर्म को दोषी पाते हुए उसे उम्रकैद व हत्या के लिए मौत की सजा सुनाई।
... और पढ़ें

फेसबुक पर 6 हजार फॉलोअर, मोबाइल पर बिजी रहती थी पत्नी, पति ने मार डाला

राजस्थान के जयपुर में एक पति ने अपनी पत्नी की इसलिए हत्या कर दी क्योंकि वह मोबाइल पर पूरे दिन व्यस्त रहती थी। आरोपी अयाज अहमद अंसारी (26) ने पत्नी रेशमा उर्फ नैना मंगलानी (22) को घूमने के बहाने से बुलाया और जयपुर-दिल्ली हाईवे पर ले जाकर गला घोटकर उसकी हत्या कर दी। कोई मृतका की पहचान ना कर पाएं इसलिए अयाज ने उसका सिर और चेहरा पत्थर से कुचल दिया। 

पुलिस ने आरोपी पति अयाज अहमद अंसारी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस से पूछताछ में आरोपी ने बताया कि पत्नी के फेसबुक पर छह हजार से ज्यादा फॉलोअर हैं, वह पूरे दिन मोबाइल पर ही व्यस्त रहती थी। इस कारण झगड़े होते थे। तंग आकर मैंने उसकी हत्या की साजिश रची। 

आरोपी ने बताया कि रविवार सुबह मायके से उसे सुलह के बहाने बुलाया। उसको दिनभर घुमाया। फिर अंधेरा होने पर जयपुर-दिल्ली हाईवे ले जाकर उसकी गला घोटकर हत्या कर दी। पुलिस ने बताया कि दंपति का तीन महीने का एक बेटा भी है। उन्होंने बताया कि आरोपी को अपनी पत्नी पर भी शक था। 
... और पढ़ें

राजस्थान: सालासर में ट्रक से भिड़ी कार, सात लोगों की मौत, एक घायल

मृतका
राजस्थान के चुरू जिले में रविवार देर रात हुए एक सड़क हादसे में सात लोगों की मौत हो गयी जबकि एक अन्य व्यक्ति घायल हो गया। पुलिस के अनुसार जिले के सालासर क्षेत्र में सालासर फतेहपुर रोड पर यह हादसा उस समय हुआ जबकि एक एसयूवी और ट्रोले की टक्कर हो गयी।

पुलिस के अनुसार एसयूवी फॉर्चूनर में सवार इमरान खान, गाजी खान, इमरान उर्फ गांधी, रफीक, इकबाल खान, बाबू खां और इस्लाम की घटनास्थल पर ही मौत हो गयी। वहीं एक अन्य व्यक्ति घायल हो गया।

ट्रोला चालक और खलासी मौके से भाग गए। पुलिस मामले की जांच कर रही है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने हादसे पर दु:ख व्यक्त करते हुए इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताया है।

उन्होंने ट्वीट कर कहा कि शोकाकुल परिजनों के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं, ईश्वर से प्रार्थना है कि वे उन्हें इस बेहद कठिन समय में सम्बल दें और दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करें।
 


 
... और पढ़ें

राजस्थान: 97 साल की विद्या देवी बनी सीकर के पुराणावास की सरपंच

राजस्थान के सीकर जिले के नीमकाथाना के गांव पुराणावास ग्राम पंचायत के चुनाव मे 97 साल की विद्या देवी को जीत हासिल हुई है। इसके नतीजे दिनभर हुए मतदान के बाद घोषित किए गए। नीमकाथाना के उपखंड अधिकारी साधूराम जाट ने बताया कि पंचायत चुनाव में पुराणावास ग्राम पंचायत में सरपंच के पद पर जीत दर्ज करने वालीं विद्या देवी ने अपनी प्रतिद्वंद्वी आरती मीणा को 207 वोटों के अंतर से हराया।

जाट ने कहा, 'देवी के पति शिवराम सिंह सेना में मेजर थे। वह 1990 से पहले 25 साल तक गांव के सरपंच थे। देवी को 843 वोट मिले जबकि मीणा को 636 वोट मिले। देवी की पंजीकृत जन्मतिथि एक जनवरी, 1923 है।' अन्य दूसरे विजयी सरपंचों में पाकिस्तान में जन्मीं नीता कंवर शामिल है। उन्होंने सितंबर 2019 में भारतीय नागरिकता मिलने के बाद इस साल चुनाव लड़ा।




जिला कलेक्टर किशोर कुमार शर्मा ने कहा कि टोंक जिले की नतवारा ग्राम पंचायत में कंवर ने सरपंच चुनाव जीता है। राजस्थान पंचायत चुनाव के पहले चरण में 87 पंचायत समितियों के तहत 2,726 ग्राम पंचायतों के 26,800 वार्डों में मतदान हुआ। जिसमें 17,242 उम्मीदवारों ने सरपंच के लिए और 42,704 ने पंच पद के लिए चुनाव लड़ा।

राजस्थान राज्य चुनाव आयुक्त पीएस मेहरा के अनुसार चुनाव में 11,000 से अधिक ईवीएम का इस्तेमाल किया गया था। राज्य निर्वाचन आयोग ने एक बयान में कहा की भीलवाड़ा जिले में सरकारी स्कूल के शिक्षक की चुनाव ड्यूटी के दौरान मौत हो गई। बयान के अनुसार रतन लाल बुनकर भिलवाड़ा के बिजोला में सहायक मतदान अधिकारी के तौर पर तैनात थे उनकी दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई।
... और पढ़ें

राजस्थान : पाक सीमा के पास बीएसएफ ने शुरू किया वार्षिक 'सर्द हवा' अभियान

सीमा सुरक्षा बल ने पाकिस्तान के साथ लगती पश्चिमी सीमा पर सतर्कता बढ़ाते हुए बृहस्पतिवार को राजस्थान में अपना वार्षिक ‘सर्द हवा’ अभियान शुरू किया। इस अभियान के तहत, क्षेत्र में घने कोहरे के कारण वर्ष के इस समय के दौरान सीमा पार से घुसपैठ की संभावना बढ़ने पर गश्त और बल की शक्ति बढ़ा दी जाती है। यह अभियान 29 जनवरी तक चलेगा।

बल के पुलिस उप महानिरीक्षक मदन सिंह राठौड़ ने बताया कि इस अभियान का उद्देश्य सीमा पर सुरक्षा व्यवस्था की कड़ी निगरानी करना है। उन्होंने बताया कि इस अभ्यास के दौरान जवानों को आधुनिक तकनीकों, नए उपकरणों व हथियारों के इस्तमाल, सीमावर्ती इलाकों में लोगों से संपर्क बढ़ाने, पुलिस से समन्वय करने आदि के बारे में प्रशिक्षण दिया जाएगा। 
... और पढ़ें

पाक से आईं नीता को चार माह पहले मिली नागरिकता, राजस्थान में लड़ रहीं पंचायत चुनाव

पूरे देश में जहां नागरिकता कानून को लेकर विरोध और समर्थन में प्रदर्शन देखने को मिल रहे हैं। वहीं, पाकिस्तान से पढ़ने के लिए आईं हिंदू शरणार्थी नीता कंवर सोढ़ा को चार महीने पहले ही भारत की नागरिकता प्रदान की गई और अब वह टोंक जिले के नटवाड़ा ग्राम पंचायत से सरपंच का चुनाव लड़ रही है। 

नीता अपनी बहन अंजलि और चाचा नखट सिंह सोढ़ा के साथ साल 2001 में जोधपुर आई। जबकि उनका माता-पिता और भाई पाकिस्तान के सिंध में ही रहते हैं। नीता पाकिस्तान से पढ़ने के लिए भारत आईं थी। फिर आठ वर्ष पहले उनकी यहां एक प्रतिष्ठित परिवार में शादी हो गई और चार महीने पहले ही उन्हें भारत की नागरिकता दी गई है। भारतीय नागरिकता मिलने के साथ ही वह सरंपच चुनाव में अपना भाग्य आजमा रही हैं। 



नीता ने बताया कि नियमों के अनुसार, मैंने भारत आने के सात साल बाद भारतीय नागरिकता के लिए आवेदन किया। लेकिन मेरे आवेदन को दो-तीन बार नकार दिया गया। उन्होंने बताया कि जब बारह साल पूरे हो गए तब जाकर उन्हें भारत की नागरिकता दी गई। 

जब नीता से चुनाव लड़ने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मैं यहां सामान्य सीट से चुनाव लड़ रही हूं, जो महिलाओं के लिए आरक्षित हैं। नीता का कहना है कि वह लैंगिक समानता, महिला सशक्तिकरण, सभी के लिए अच्छी शिक्षा और बेहतर चिकित्सा सुविधा प्रदान करने के साथ-साथ उन्हें रोजगार के अवसर भी देना चाहती है। उनका बताया कि पंचायत चुनाव लड़ने में उनके परिवार के साथ-साथ गांव का भी समर्थन मिल रहा है। 

नीता कंवर सोढ़ा ने अजमेर के सोफिया कॉलेज से स्नातक किया है। 2011 में उनकी शादी नटवाड़ा गांव के पुण्य प्रताप करण से हुई। नीता ने बताया कि हम पाकिस्तान के सोढ़ा राजपूत कबीले के हैं और हमारे कबीले की लड़कियों की शादी भारत में होती है क्योंकि वहाँ कोई और राजपूत कबीला नहीं है।
... और पढ़ें

नागौर के सांसद हनुमान बेनीवाल पर हमले का प्रयास, पिटाई में हमलावर घायल

राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक और नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल पर गुरुवार को बाड़मेर में कलेक्ट्रेट के घेराव प्रदर्शन और भाषण के दौरान एक युवक ने हमला कर दिया। कलेक्ट्रेट के बाहर सांसद हनुमान बेनीवाल के भाषण के दौरान आरोपी युवक ने बेनीवाल का कॉलर पकड़ कर मारपीट का प्रयास किया लेकिन मौके पर मौजूद बेनीवाल के समर्थकों ने आरोपी की पिटाई कर दी, जिससे वह घायल हो गया।

पुलिस ने युवक को आक्रोशित समर्थकों से बचाकर इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाया। अस्पताल के चिकित्सकों ने घायल हमलावर को जोधपुर भेज दिया। सांसद बेनीवाल का दावा है कि आरोपी युवक के पास धारधार हथियार था। बाड़मेर के पुलिस अधीक्षक शरद चौधरी ने बताया कि इस मामले में सांसद के सुरक्षा गार्ड ने लिखित शिकायत दी जिसके आधार पर पुलिस ने मामला दर्ज किया। उन्होंने कहा कि मामले की जांच कर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

पाकिस्तान से विस्थापित होकर आई नीता कंवर लड़ रही है सरपंच का चुनाव

पाकिस्तान से विस्थापित होकर आई नीता कंवर राज्य में पंचायत चुनाव में अपना भाग्य आजमाएगी। सितम्बर 2019 में भारतीय नागरिकता प्राप्त कर चुकी नीता टोंक जिले के नटवाडा ग्राम पंचायत से सरपंच पद का चुनाव लड़ रही हैं। उल्लेखनीय है कि नीता कंवर 2001 में पाकिस्तान के सिंध प्रांत से जोधपुर आई।

नीता ने कहा कि मैं केवल यह जानती हूं कि सीएए के जरिए भारत में अच्छा जीवन यापन और अच्छी शिक्षा प्राप्त की जा सकती है। सोढा राजपूत समाज की महिला होने के नाते हम उसी जाति में शादी नहीं कर सकते। हमारा समाज भारत में रहता है और अधिकतर समाज के लोग जोधपुर में रहते है। मैंने 2001 में कॉलेज शिक्षा प्राप्त करने और उके बाद सुयोग्य वर के लिये पाकिस्तान से जोधपुर आई थी।

देश के विभिन्न हिस्से में इस समय नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ विरोध चल रहा है। इस कानून से पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में रहने वाले अल्पसंख्यकों के लिए भारत में नागरिकता प्राप्त करने का मार्ग प्रशस्त होगा। उन्होंने बताया कि वह भारतीय नागरिकता पाने के लिये तीन साल से संघर्ष कर रही थीं। पिछले वर्ष सितम्बर में टोंक प्रशासन ने उनकी नागरिकता की अर्जी स्वीकार कर ली।

उन्होंने बताया अब मैं नटवाडा सीट से सरपंच पद के लिये चुनाव लड़ रही हूं। यह सीट सामान्य महिला उम्मीदवार के लिये सुरक्षित है। मैं लैंगिक समानता, महिला सशक्तीकरण और गांव के विकास को बढ़ावा देने के लिए काम करूंगी।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन