विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

किसी परिचय के मोहताज नहीं लोक गायक जगदीश

हिमाचली लोक कलाकारों में जगदीश शर्मा किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं। बंजार के छोटे से गांव के जगदीश युवाओं के बीच खास जगह बना चुके हैं।

16 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

शिमला

रविवार, 29 मार्च 2020

लोगों को जागरूक करने जा रही जीप गिरी, पिता-पुत्र घायल

कोरोना वायरस अभियान के तहत लोगों को जागरूक करने जा रही जीप रोनाला के पास तीखे मोड़ पर स्किड होकर 50 फीट नीचे नाले में लुढ़क गई। सड़क से लुढ़कने के बाद जीप एक पेड़ से अटक गई, जिससे इसमें सवार पिता-पुत्र की जान बच गई। हालांकि, हादसे में घायल दोनों पिता-पुत्र को उपचार के लिए बंजार अस्पताल में दाखिल कराया गया है। 

हादसा शनिवार सुबह करीब नौ बजे हुआ। बंजार प्रशासन की ओर से जीप को वार्ड नंबर 6 व 7 में लोगों को जागरूक करने के अभियान में लगाया गया था। पुलिस के अनुसार जीप एचपी 31ए-8257 शनिवार को जैसे ही रोनाला के पास तीखे मोड़ पर पहुंची तो चालक ने जीप को मोड़ना चाहा। गीली सड़क पर स्किड होकर जीप नाले में जाकर एक पेड़ में अटक गई। हादसे में चालक दिले राम (43), पुत्र कर्म सिंह, प्रवण ठाकुर (18) पुत्र दिले राम निवासी गांव वेलगा, डाकघर चनौन, बंजार घायल हुए हैं।

नाले के पास बने मकानों में रह रहे लोगों ने धमाके की आवाज सुनी तो घटनास्थल की ओर दौड़े। लोगों ने घायलों को सड़क तक पहुंचाया। मामले की सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर दोनों को बंजार अस्पताल पहुंचाया। बंजार के विधायक सुरेंद्र शौरी ने भी घायलों का हालचाल जाना। डीएसपी बंजार बिन्नी मिन्हास ने कहा कि पुलिस घटना के कारणों की छानबीन कर रही है।
... और पढ़ें

लूट: लॉकडाउन के बीच 33 हजार चुकाकर दिल्ली से बद्दी पहुंचे तीन युवक

लॉकडाउन के बीच दिल्ली से निकले हिमाचल के तीन युवकों को चालक हरियाणा और हिमाचल की सीमा पर छोड़कर लौट गया। इसके आगे ये पैदल ही अपने गंतव्य की ओर चल पड़े। पैदल ही शनिवार को वे नालागढ़ पहुंचे। इन्होंने दिल्ली से एक गाड़ी बुक की थी। चालक को उन्होंने प्रति सवारी 11 हजार रुपये किराया दिया। तीनों बिलासपुर के नयनादेवी के रहने वाले हैं। लॉकडाउन के बीच तीन राज्यों की सीमा लांघकर आए इन तीनों युवकों को न तो कहीं रोका गया और न ही स्वास्थ्य जांच हुई। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के बाद वे घर आने का प्रयास कर रहे थे, लेकिन कोई मदद नहीं मिल रही थी। एक चालक उन्हें हिमाचल सीमा तक छोड़ने के लिए राजी हो गया। उसे उन्होंने 11-11 हजार रुपये दिए हैं। इन्होंने बताया कि हिमाचल के सैकड़ों लोग दिल्ली में फंसे हैं।

कुछ लोग ट्रकों और अन्य वाहनों में ज्यादा कीमत चुकाकर पहुंच रहे हैं। तीनों दिल्ली की आजादपुर मंडी से लौटे हैं। नालागढ़-स्वारघाट हाईवे पर पैदल जा रहे रण सिंह, अवतार और श्याम ने बताया कि वे दिल्ली की आजादपुर मंडी में काम करते हैं।  पूछने पर उन्होंने बताया कि न तो उन्हें कहीं रोका गया और न ही उनकी स्वास्थ्य जांच हुई है।  बीएमओ नालागढ़ डॉ. केडी जस्सल ने कहा कि प्रशासन को एक टीम का गठन करना चाहिए, जिससे बाहर से आने वालों की निगरानी की जा सके। एसपी रोहित मालपानी ने कहा कि इस प्रकार के मामलों पर वह जिलाधीश से बात करेंगे। एसडीएम प्रशांत देष्टा ने कहा कि बाहरी राज्यों से प्रवेश करने वाले लोगों पर पुलिस विभाग को निगरानी रखनी चाहिए। 
... और पढ़ें

23 पुलिस कर्मियों को दिया सेवाविस्तार, गृह विभाग ने जारी किए आदेश

हिमाचल सरकार ने स्वास्थ्य विभाग के तीन अधिकारियों को सेवाविस्तार देने के बाद पुलिस के 23 कर्मचारियों को सेवाविस्तार देने के आदेश जारी किए हैं। प्रदेश में कोरोना के तीन मामले सामने आने के बाद सरकार ने कर्फ्यू लगा दिया है। इस दौरान गश्त से लेकर जगह-जगह नाके लगाए गए हैं। दूसरे राज्यों से लगती सीमाओं पर भी नफरी बढ़ा दी है। तकरीबन सभी बटालियनों से जवानों को फील्ड ड्यूटी में लगाया है।

कर्फ्यू में चूक न हो और सरकार की ओर से तीन घंटे के  लिए दी जाने वाली ढील में भी लोग एक-दूसरे से पर्याप्त दूरी बनाकर रखें, इसकी जिम्मेदारी भी पुलिस के पास है। कर्मचारियों की रिटायरमेंट की वजह से पुलिस कर्मियों की कमी से न जूझना पड़े, इसलिए सरकार ने 31 मार्च को रिटायर हो रहे हिमाचल पुलिस के 23 कर्मचारियों को शनिवार को 30 जून तक सेवाविस्तार देने के आदेश दिए हैं।

सिरमौर के एचएचसी प्रताप सिंह, कांगड़ा के एचएएसआई मदन सिंह, इंस्पेक्टर रंजीत सिंह, एचएचसी त्रिलोक राज, जनक राज, गुरमीत सिंह, राजकुमार, टेलर त्रिलोक चंद, चंबा के एचएचसी दीवान चंद, बिलासपुर के एचएएसआई बुद्धि सिंह, ऊना के एचएएसआई कुशल देव, मंडी के एचसी प्रेमराज, एचएचसी अशोक कुमार, कुल्लू के एचएचसी सुभाष, एचपीएपी जुन्गा के कुक धर्मपाल, 2 आईआरबीएन सकोह के एसआई देवीलाल, एचएएसआई उत्तम सिंह व एचएएसआई सुरेंद्र कुमार, 4 आईआरबीएन जंगलबैरी के एएसआई मोहन लाल, 5 आईआरबीएन बस्सी के इंस्पेक्टर प्रभुदयाल, टीटीआर के एचसी शक्ति चंद, सीआईडी के एसआई कृष्णनानंद और पीटीसी के एचएएसआई बिहारी लाल को सेवाविस्तार दिया गया है।
... और पढ़ें

हिमाचल में ऑनलाइन बनेंगे कर्फ्यू पास, इन व्हाट्सऐप नंबरों पर करें आवेदन

कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए पूरे हिमाचल में कर्फ्यू लागू किया गया है। ऐसे में लोगों को आपात स्थिति में बाहर जाने के लिए कर्फ्यू पास का होना आवश्यक हैं। ये कर्फ्यू पास अनिवार्य रूप से एक अनुमति पर्ची हैं जो शहर के अंदर और अन्य शहरों में आवाजाही को अधिकृत करते हैं। इनमें से कोई भी पास के लिए आवेदन कर सकता है,लेकिन ध्यान दें कि पास केवल आवश्यक सेवाओं के लिए ही जारी किए जा रहे हैं। यदि आपका काम आवश्यक सेवाओं के अंतर्गत नहीं आता है तो आपको कर्फ्यू पास जारी नहीं किया जाएगा। हिमाचल के विभिन्न इलाकों में फंसे लोगों और अन्य जरूरतमंदों के लिए राहत भरी खबर है। विभिन्न जिला प्रशासन और पुलिस ने अब कर्फ्यू पास बनवाने के लिए लोगों को ऑनलाइन आवेदन करने के लिए व्हाट्सऐप नंबर व मेल आईडी जारी किए हैं। ऐसा इसलिए भी किया जा रहा है, ताकि उपायुक्त या एसडीएम कार्यालयों में लोगों की भीड़ जमा न हो। कोरोना वायरस से बचने के लिए लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग बनाना बहुत जरूरी है।
... और पढ़ें

दूसरे राज्यों में फंसे हिमाचल के लोगों से सरकार ने की ये अपील

हिमाचल के हजारों लोग दूसरे राज्यों में फंसे हैं। हिमाचल सरकार की इन लोगों को प्रदेश में लाने के लिए कोई नीति नहीं है। प्रदेश के कई नेताओं ने भी इस संबंध में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर और मुख्य सचिव अनिल कुमार खाची से बात की, लेकिन सरकार की ओर से दो टूक कहा है कि जो जहां हैं, वहीं रहें। अगर किसी को राशन या अन्य दिक्कत है तो वे इस बारे में संबंधित प्रशासन से बात करेंगे।

ऐसे तमाम लोग या परिवार नियंत्रण कक्ष में भी बात कर सकते हैं और वहीं से उनकी समस्या का समाधान किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश, दिल्ली, चंडीगढ़, मुंबई समेत उत्तर भारत के इलाकों और दक्षिण भारत के कई राज्यों में भी कई लोग फंस गए हैं। वे कोरोना वायरस के चलते लॉक डाउन और कर्फ्यू के बीच हिमाचल नहीं आ पा रहे हैं। 

मुख्यमंत्री को दिया आईएचबीटी में तैयार किया हैंड सैनिटाइजर
 राजस्व एवं आपदा प्रबंधन समिति और मुख्यमंत्री के विशेष सचिव डीसी राणा ने शनिवार को सीएसआईआर-इंस्टीट्यूट ऑफ हिमालयन बायो रिसोर्स टेक्नोलॉजी (आईएचबीटी) पालमपुर के निदेशक संजय कुमार की ओर से मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को संस्थान की ओर से तैयार किया गया अल्कोहल आधारित हैंड सैनिटाइजर भेंट किया। इस सैनिटाइजर में अल्कोहल की मात्रा विश्व स्वास्थ्य संगठन के मापदंडों के अनुरूप
है।
... और पढ़ें

कोरोना को लेकर सहायता के लिए आपातकालीन परिचालन केंद्र स्थापित

हिमाचल सरकार ने कोविड 19 से संबंधित जानकारी और सहायता प्रदान करने के लिए राज्य और जिला स्तर पर आपातकालीन परिचालन केंद्र स्थापित किए हैं। राज्य सरकार पर आपातकालीन परिचालन केंद्र का प्रभारी प्रवीन भारद्वाज को बनाया गया है जिन्हें दूरभाष संख्या 0177-2629439 और 2629939 या टोल फ्री नंबर 1070 पर संपर्क किया जा सकता है। राज्य स्तर पर निदेशक एवं विशेष सचिव आपदा प्रबंधन डीसी राणा को कोविड19 नोडल अधिकारी तैनात किया गया है।

वहीं, जिला बिलासपुर में चंदन को जिला स्तरीय आपातकालीन परिचालन केंद्र का प्रभारी बनाया गया है, जिन्हें दूरभाष संख्या 01978-224901 पर संपर्क किया जा सकता है। बिलासपुर जिला में अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी विनय धीमान को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। जिला चंबा में सुमित गुप्ता को जिला स्तरीय आपातकालीन परिचालन केंद्र का प्रभारी तैनात किया गया है, जिनको 01899-226951 पर संपर्क किया जा सकता है, जबकि अतिरिक्त उपायुक्त मुकेश रेपसवाल को नोडल अधिकारी बनाया गया है।

हमीरपुर जिला में विकास शर्मा जिला स्तरीय आपातकालीन परिचालन केंद्र के प्रभारी होंगे, जिनका दूरभाष संख्या 01972-221277 है। जिला राजस्व अधिकारी पवन कुमार शर्मा को जिला का नोडल अधिकारी बनाया गया है। कांगड़ा जिला में रोबिन जिला स्तरीय आपातकालीन परिचालन केंद्र के प्रभारी बनाए गए हैं, जिन्हें दूरभाष संख्या 01892-229050 पर संपर्क किया जा सकता है। जिला के नोडल अधिकारी अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी एमआर भारद्वाज होंगे। किन्नौर जिला में नरेंद्र को प्रभारी बनाया गया है, जिनका दूरभाष 01786-223151 है। यहां उपायुक्त के सहायक आयुक्त एमके शर्मा को नोडल अधिकारी बनाया गया है। कुल्लू जिला में राकेश प्रभारी बनाए गए हैं, जिनको दूरभाष संख्या 01902-225630 पर संपर्क किया जा सकता है। अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी एसके पराशर नोडल अधिकारी तैनात किए गए हैं।

लाहौल-स्पीति जिला में नितिन को प्रभारी बनाया गया है, जिनका दूरभाष 01900-202509 है। यहां एसडीएम अमर नेगी नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए हैं। मंडी जिला में विकास को जिला स्तरीय आपातकालीन परिचालन केंद्र का प्रभारी बनाया गया है, जिनका दूरभाष 01905-226201 है। अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी श्रवण मांटा नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए हैं। शिमला जिला में नेहा जिला स्तरीय आपातकालीन परिचालन केंद्र का प्रभारी बनाया गया है, जिनको दूरभाष संख्या 0177-2800880 पर संपर्क किया जा सकता है। एडीएम संदीप नेगी जिला के नोडल अधिकारी बनाए गए हैं।

सिरमौर जिला में अरविंद को प्रभारी नियुक्त किया गया है, जिनका दूरभाष 01702-226401 है। यहां जिला राजस्व अधिकारी राज कुमार नोडल अधिकारी तैनात किए गए हैं। सोलन जिला में गौरव शर्मा केंद्र के प्रभारी होंगे, जिनका दूरभाष 01792-220882 है। क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी सुरेश कुमार को सिरमौर जिला का नोडल अधिकारी तैनात किया गया है। ऊना जिला में धीरज जिला स्तरीय आपातकालीन परिचालन केंद्र के प्रभारी होंगे, जिनको दूरभाष संख्या 01975-225045 पर संपर्क किया जा सकता है। उपायुक्त की सहायक आयुक्त रेखा
कुमारी को जिला का नोडल अधिकारी बनाया गया है।
... और पढ़ें

हिमाचल: टांडा में कोरोना पॉजिटिव मरीजों के संपर्क में आए 13 लोगों की रिपोर्ट सामान्य

हिमाचल सरकार
हिमाचल के टांडा मेडिकल कॉलेज कांगड़ा की लैब में जांचे 16 सैंपलों की रिपोर्ट सामान्य आई है। 16 में से 13 लोग पॉजिटिव मरीज के नजदीक थे। शनिवार को स्वास्थ्य विभाग ने पॉजिटिव मरीज के संपर्क में आए आठ और संभावितों के सैंपल टांडा भेजे, जिनकी रिपोर्ट रविवार को आएगी। कांगड़ा जिले में 15 और लोगों को होम आईसोलेशन में रहने की सलाह दी है। इसके साथ ही कांगड़ा जिले में होम आईसोलेशन में रखे लोगों की संख्या 608 हो गई है। सीएमओ कांगड़ा डॉ. गुरदर्शन गुप्ता ने इसकी पुष्टि की। जोनल अस्पताल धर्मशाला में एक और संभावित मरीज को आईसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है। छेब में 15 और बालाजी अस्पताल में छह संदिग्ध मरीजों को क्वारंटीन में रखा है।

अब एक ही पोर्टल पर दिखेंगे सरकारी आदेश
वहीं, प्रदेश में कोविड-19 को लेकर सरकार की ओर से जारी आदेशों को सभी तक आसानी से उपलब्ध कराने के लिए आईटी विभाग ने एक वेब पोर्टल तैयार किया है। covidorders.hp.gov.in नाम के वेब पोर्टल पर स्वास्थ्य विभाग समेत सभी विभाग कोविड-19 को लेकर जारी आदेशों को अपलोड किया जाएगा। अधिकारियों और कर्मचारियों से लेकर आम लोग भी इस पोर्टल के जरिये सरकार के हर फैसले की जानकारी ले सकते हैं। 
... और पढ़ें

16 अप्रैल तक जारी रहेगी अंतरिम राहत, हाईकोर्ट की विशेष पीठ ने लिया फैसला

कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते हुए लॉकडाउन के दौरान हिमाचल हाईकोर्ट व अधीनस्थ अदालतों द्वारा किसी मामले में दी अंतरिम राहत 16 अप्रैल या अगले आदेशों तक लागू रहेगी। मुख्य न्यायाधीश एल नारायण स्वामी, न्यायाधीश तरलोक सिंह चौहान व न्यायाधीश सुरेश्वर सिंह ठाकुर की विशेष पीठ ने असाधारण परिस्थितियों के दृष्टिगत स्वत: संज्ञान लेते हुए यह आदेश पारित किए।  उल्लेखनीय है कि प्रदेश उच्च न्यायालय द्वारा 24 मार्च को जारी आदेशों की अनुपालना में राज्य की तमाम अदालतों ने अपनी कार्यप्रणाली को निलंबित कर दिया है। कोविड 19 के प्रकोप को देखते हुए भारत सरकार ने कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए मजबूत उपाय किए हैं। तीन सप्ताह के लिए देशव्यापी तालाबंदी की घोषणा की गई है।

इन परिस्थितियों के दृष्टिगत पक्षकारों के पक्ष में किसी प्रकार के अंतरिम आदेश, जमानत या पेरोल से संबंधित आदेश जिनकी अवधि का संचालन 24 मार्च को या उसके बाद समाप्त हो गए हैं, उसे भारतीय संविधान के अनुच्छेद  226 और 227 के तहत अपनी शक्तियों का उपयोग करते हुए बढ़ाया गया है। विशेष पीठ ने अपने आदेश में स्पष्ट किया कि उच्च न्यायालय या अधीनस्थ अदालतों द्वारा निष्कासन या विध्वंस के आदेश जिसे आज तक अंजाम नहीं दिया गया है 16 अप्रैल या 16 अप्रैल बाद पारित अगले आदेशों तक रुके रहेंगे, जब तक इन्हें संशोधित न किया जाता। अगर किसी भी पक्षकार को फिर भी कई परेशानी आती है तो वे हाईकोर्ट या संबंधित अदालत के समक्ष जरूरी आवेदन दाखिल कर अपनी समस्या के हल के लिए स्वतंत्र हैं।
... और पढ़ें

तस्वीरें: मार्च में भी नहीं थम रही बर्फबारी, किसानों-बागवानों को सताने लगी चिंता

कोरोना: लॉकडाउन के बाद ग्रेटर नोएडा में हिमाचल के 200 युवक फंसे

उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा में कंपनियों में काम करने वाले 200 युवक देशभर में लॉकडाउन के बाद फंस गए हैं। इनमें काफी अधिक कुल्लू जिले के हैं। ये युवक कर्फ्यू के चलते बाहर भी नहीं निकल पा रहे हैं। हिमाचल के विभिन्न जिलों के इन युवकों ने स्थानीय प्रशासन से मदद की गुहार लगाई थी, लेकिन छह दिन से उनकी आवाज नहीं सुनी गई है। 

इन्होंने फोन पर प्रदेश के कई विधायकों से भी संपर्क साधा है। विभिन्न कंपनियों में काम करने वाले ये युवक पीजी में रहते हैं। कई युवाओं के पास खाने-पीने का सामान भी नहीं है। ग्रेटर नोएडा में फंसे छापे राम, लीलामणी, मनिंद्र सिंह, सुशील, अश्वनी कुमार, बलवंत सिंह, छबील दास ठाकुर, सनी राणा, कौल सिंह, राजकुमार और धर्मपाल ने कंपनियों में हिमाचल के करीब 180 युवक काम करते हैं।

कई युवक ऐसे हैं, जिनके पास खाने-पीने का सामान नहीं है। उन्होंने मांग की कि सरकार उन्हें हिमाचल अपने घर लाने की व्यवस्था करे। अगर सरकार ने उनकी नहीं सुनी तो वे भी घरों की ओर पैदल निकलने पर मजबूर होंगे। वन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर, विधायक सुंदर सिंह ठाकुर सहित विधायक कांगड़ा रविंद्र धीमान आदि को मामले से अवगत करवाया गया है। युवकों के परिजनों को भी बच्चों की चिंता सताने लगी है। 
... और पढ़ें

कांगड़ा पुलिस

धर्मशाला। धर्मशाला अस्पताल में डायलिसिस करवाने वाले मरीजों को कर्फ्यू के दौरान कोई दिक्कत पेश नहीं आएगी। इसके लिए जिला प्रशासन ने विशेष व्यवस्था की है।
जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. विक्रम कटोच ने कहा कि मरीजों को कोई परेशानी न आए, इसके लिए वे मोबाइल नंबर 9816599899 पर परिवहन सुविधा के लिए संपर्क कर सकते हैं। गरीब मरीजों की कुछ मदद भी की जाएगी। इस समय धर्मशाला अस्पताल में 64 के करीब मरीजों का डायलिसिस किया जा रहा है। इनमें तीन मरीज जिला चंबा और बाकी कांगड़ा के ही हैं। एक दिन में तीन शिफ्टों में बारह लोगों का डायलिसिस किया जाता है। प्रत्येक मरीज को हफ्ते में दो बार बुलाया जाता है।
डीसी कांगड़ा राकेश प्रजापति ने कहा कि जिला में डायलिसिस के 64 रोगी चिह्नित किए गए हैं। इन रोगियों को यातायात की सुविधा प्रशासन द्वारा उपलब्ध करवाई जाएगी। रोगी धर्मशाला के डायलिसिस सेंटर या डॉ. विक्रम कटोच के मोबाइल नंबर 9816599899 पर संपर्क कर सकते हैं।
जिले में बाहर से पैदल भी आए तो कार्रवाई
डीसी ने कहा कि अन्य राज्यों या जिलों के निवासी कांगड़ा जिला में पैदल भी आए तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।
आज भी तीन घंटे तक मिलेगी कर्फ्यू में ढील
सुबह आठ से दोपहर 11 बजे तक समय में ही कर्फ्यू में ढील दी गई है। इसी दौरान पशुओं के लिए घास तथा अन्य कार्यों को निपटाने के निर्देश हैं।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us