विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

किसी परिचय के मोहताज नहीं लोक गायक जगदीश

हिमाचली लोक कलाकारों में जगदीश शर्मा किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं। बंजार के छोटे से गांव के जगदीश युवाओं के बीच खास जगह बना चुके हैं।

16 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

शिमला

रविवार, 29 मार्च 2020

नशेड़ी अधेड़ ने की पत्नी और बेटे की हत्या, मौके से फरार आरोपी गिरफ्तार

नशेड़ी अधेड़ ने तेजधार हथियार से पत्नी और 19 साल के बेटे की निर्मम हत्या कर दी। वारदात नालागढ़ उपमंडल के जगतपुर पंचायत के टमकवाला गांव की है। दोहरे हत्याकांड को अंजाम देने के आरोपी मौके से फरार हो गया, जिसे पुलिस ने खेतों से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के अनुसार रणजीत सिंह (46) पुत्र गुरुदेव निवासी गांव टमकवाला ने अपनी पत्नी समती देवी (45) और पुत्र गगनदीप (19) की निर्मम हत्या कर डाली है।

इस घटना का पता तब चला, जब समीप के खेत से गांव की एक महिला गुजरी। महिला ने देखा कि गगनदीप खून से लथपथ पड़ा है। महिला ने तुरंत इसकी सूचना पंचायत प्रधान को दी। पंचायत प्रधान ने पुलिस को सूचना दी।

डीएसपी नालागढ़ चमन लाल सहित पुलिस के अधिकारी व कर्मचारी मौके पर पहुंचे। लोगों से पूछताछ के बाद पुलिस ने हत्यारोपी को तलाश किया और गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के अनुसार आरोपी रणजीत नशे का आदी है और नशा मुक्ति केंद्र में रह चुका था। वह अक्सर अपने परिवार वालों के साथ मारपीट करता था। 

डीएसपी नालागढ़ चमन लाल ने बताया की मृतकों के सिर के ऊपर किसी तेजधार हथियार से वार किए गए हैं। पुलिस ने हत्यारोपी को गिरफ्तार कर शवों को कब्जे में ले लिया है। प्रथम दृष्टया यह मामला घरेलू कलह का प्रतीत होता है, लेकिन पुलिस हर पहलू की गंभीरता से जांच कर रही है।
... और पढ़ें

कार से कराहती हुई उतरी महिला, बोली- मेरा पति मुझे बहुत मारता है

हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले के बहराल बैरियर पर चंडीगढ़ से एक कार पहुंची। कार में पति-पत्नी के साथ करीब ढाई वर्षीय बच्चा था। कार रुकते ही विवाहिता कराहती हुई उतरी। महिला की हालत देख पुलिस जवान भी असमंजस में पड़ गए। महिला ने उतरते ही कहा मेरी कोई नहीं सुन रहा। मेरा पति मुझे बहुत मारता है। रात को भी काफी पिटाई की है। बैरियर पर तैनात पुलिस जवान संदीप कुमार की टीम भी असमंजस में पड़ गई। तुरंत महिला को कुर्सी पर बिठाया। पुलिस टीम के जवानों ने जैसे ही माजरा समझा, आरोपी पति को कार से उतारा। 

विवाहिता ने कहा कि वह नौ माह की गर्भवती है। महिला (26) ने मारपीट की पूरी दास्तां सुनाई। महिला ने बताया कि वह चंडीगढ़ में पति के साथ रहती है। शनिवार रात को पति ने उसका सिर दीवार से कई बार टकराया। पिटाई से पांव में भी सूजन हो गई है। सिर व मुंह पर चोट के निशान नजर आए। पीड़िता की दास्तां सुनते ही पुलिस जवान ने थाने में फोन कर मारपीट व उत्पीड़न मामले की सूचना दी। इस बीच आरोपी पति ने मामले को तूल नहीं देने की बात कही।

महिला ने देहरादून स्थित मायके में अपने भाई से भी पुलिस की फोन पर बात करवाई। विवाहिता ने कहा कि पानी सिर के ऊपर चला गया है। उत्पीड़न को बर्दाश्त कर पाना मुमकिन नही है। इसके बाद पीड़ित महिला व आरोपी पति को पुलिस टीम पांवटा थाना लेकर पहुंची। डीएसपी पांवटा साहिब ने सोमदत ने कहा कि शिकायत मिली है। विवाहिता की शिकायत पर मेडिकल करवाया जा रहा है। मामले की गहनता से जांच की जा रही है।
... और पढ़ें

कोरोना वायरस: 17 संदिग्ध मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव

हिमाचल के टांडा में ठीक हुआ कोरोना पॉजिटिव युवक, मिली अस्पताल से छुट्टी

19 मार्च को टांडा मेडिकल कॉलेज में दाखिल हुए कोरोना पॉजिटिव शाहपुर विधानसभा क्षेत्र के एक गांव के रहने वाले युवक को अस्पताल से देर शाम छुट्टी दे दी गई। युवक को देर शाम एंबुलेंस में घर भेज दिया गया। टांडा अस्पताल में इलाज के बाद युवक के स्वास्थ्य में लगातार सुधार हुआ। दो बार ब्लड सैंपल लेने के बाद रिपोर्ट नेगेटिव आने पर अस्पताल प्रशासन ने युवक को डिस्चार्ज किया। 

घर में युवक को कुछ दिन तक डॉक्टरों के दिशानिर्देश अनुसार रहना होगा। युवक के परिजनों को भी जरूरी दिशा निर्देश दिए गए हैं। युवक 18 मार्च को सिंगापुर से अपने घर लौटा था। टांडा अस्पताल में ब्लड सैंपल लेने के बाद युवक कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। सीएमओ जीडी गुप्ता ने युवक को डिस्चार्ज करने की पुष्टि की है।
... और पढ़ें
कोरोना वायरस कोरोना वायरस

अब एक से दूसरे जिले में जाने पर भी रोक, सीएम ने सभी उपायुक्तों को दिए निर्देश

कर्फ्यू के बीच विशेष पास और पैदल लोग अब एक से दूसरे जिले में प्रवेश नहीं कर सकेंगे। अंतरराज्यीय सीमाओं पर रोक के बाद अब एक से दूसरे जिले में जाने पर भी पाबंदी लगा दी गई है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने रविवार को उपायुक्तों के साथ वीडियो कांफ्रेंस के साथ समीक्षा बैठक की। उन्होंने कहा कि प्रदेश में एक जिले से दूसरे जिले में आने-जाने और राज्य के बाहर लोगों की गतिविधियों पर नजर रखी जाए। जो लोग पहले ही राज्य में प्रवेश कर चुके हैं, उन्हें सीमावर्ती क्षेत्रों में स्थापित क्वारंटाइन केंद्रों में रखा जाए। 

उन्होंने उपायुक्तों को निर्देश दिए कि जो लोग विभिन्न स्थानों पर फंसे हुए हैं, उनके लिए भोजन और ठहरने की व्यवस्था की जाए। जिला प्रशासन सुनिश्चित करे कि लोगों को किसी प्रकार की असुविधा न हो और आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति सुचारु रूप से बनी रहे। उन्होंने कहा कि फंसे हुए लोगों की सुविधा के लिए स्कूलों और डाइट भवनों में बनाए गए कैंपों में स्वच्छता का विशेष रूप से ध्यान रखा जाए। फंसे हुए लोगों को उसी स्थान पर बने रहने के लिए भी प्रेरित करें।
... और पढ़ें

प्रशासन की पहल : डिपुओं में 25 रुपये में दो किलो आलू, 30 में मिलेगा प्याज

उचित मूल्यों की दुकानों पर लोगों को अब सस्ती दरों पर आलू और प्याज मिलेगा। नालागढ़ उपमंडल प्रशासन ने यह व्यवस्था की है। खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के माध्यम से आलू-प्याज उपलब्ध करवाया गया है। रोजाना सुबह 8 से 11 बजे तक लोग इनकी खरीद कर सकते हैं। बाजार में आलू और प्याज की भारी कीमतें वसूलने की शिकायतों पर उपमंडल प्रशासन ने इस व्यवस्था की है।

खाद्य एवं आपूर्ति विभाग का कहना है कि कोई पहले आओ, पहले पाओ की तर्ज पर सस्ती दरों पर आलू-प्याज खरीद सकते हैं। दो किलोग्राम आलू 25, एक किलो प्याज 30 रुपये की दर से मिलेगा। आलू व प्याज सार्वजनिक वितरण प्रणाली के माध्यम से उचित मूल्यों की दुकानों पर मुहैया करवाया जाएगा। नालागढ़ शहर की उचित मूल्यों की वार्ड-2, 5 व 7 में स्थित दुकानों पर उपलब्ध होंगे।

खाद्य एवं आपूर्ति निरीक्षक नालागढ़ कमलकांत शर्मा ने बताया कि पहले आओ, पहले पाओ की तर्ज पर शहर में स्थित उचित मूल्यों की दुकानों पर प्रशासन आलू-प्याज कम दरों पर उपलब्ध करवाएगा। लोग राशन डिपुओं में सुबह 8 से 11 बजे तक आलू व प्याज खरीद सकते हैं। एसडीएम प्रशांत देष्टा ने बताया कि आलू व प्याज के अधिक दाम लेने की शिकायतों पर प्रशासन ने यह व्यवस्था करवाई है।
... और पढ़ें

डीजीपी बोले- आदेशों का पालन करें, सख्ती के लिए न करें मजबूर

सैकड़ों हिमाचली युवाओं के चंडीगढ़ और दिल्ली जैसे शहरों में फंसे होने के बाद लोगों की परेशानी के बीच प्रदेश के डीजीपी सीताराम मरडी ने एक वीडियो के जरिये बड़ी अपील की है। कहा कि लॉकडाउन को केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन कानून और प्रदेश सरकार ने आईपीसी के तहत कर्फ्यू के आदेश जारी किए हैं। इनका उल्लंघन करने पर जेल हो सकती है। आदेशों का पालन करें और पुलिस को सख्ती करने पर मजबूर न करें।

मरडी ने कहा कि आज का समय मुश्किल का समय है। लोगों को स्वहित कम, देशहित ज्यादा और लोक हित सबसे ज्यादा सोचना चाहिए। डीजीपी ने कहा कि पुलिस, स्वास्थ्य जैसी जरूरत की सेवाओं में लगे सभी लोगाें के साथ कुछ न कुछ परेशानी पेश आ रही है। बावजूद इसके वह प्रदेश के लोगों, देश और दुनिया को बचाने के लिए दिन-रात जुटे हैं। कहा कि उनकी दोनों बेटियां अमेरिका में फंसी हैं, जिनसे वह सुबह और शाम दो बार बात करते हैं।

दिन भर हिमाचल में कानून व्यवस्था ठीक रखने के लिए प्रयासरत हैं। ऐसे में उन लोगों को थोड़ा संयम बरतना चाहिए, जिनके बच्चे पड़ोसी राज्यों में हैं। कहा कि कुछ लोग प्रदेश में आने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन गृह मंत्रालय का साफ आदेश है कि जो जहां है वहीं रहें। दिल्ली और चंडीगढ़ में हिमाचल भवन को हिमाचलियों की मदद के लिए खोल दिया गया है। 

इंसानियत में कमी की वजह से बंद हुए मंदिर के कपाट
मरडी ने कहा कि कुछ लोग चिंता जता रहे हैं कि मंदिरों, मस्जिदों, गुरुद्वारों को बंद कर दिया गया है। ऐसा नहीं है, बल्कि इसे ऐसे देखना चाहिए कि भगवान ने अपने कपाट खुद बंद किए हैं, क्योंकि इंसान में इंसानियत की कमी आ गई है। वह सिर्फ अपने बारे में सोच रहा है। लोग जिस दिन अपनी बजाय समाज, देश और दुनिया की फिक्र करते हुए सरकार के आदेशों का पालन करेंगे। उस दिन भगवान अपने कपाट खुद खोल देंगे और कोरोना भारत ही नहीं, दुनिया से गायब हो जाएगा।
... और पढ़ें

व्हाट्सऐप पर बद्दी में बसें चलने की अफवाह, मामला दर्ज

डीजीपी सीताराम मरडी (फाइल फोटो)

आईजीएमसी से दवा मंगवानी है तो एसडीएम को करें व्हाट्सऐप

शिमला जिले के दूर-दराज क्षेत्र के लोगों को अब प्रशासन घर-द्वार दवाइयां मुहैया करवाएगा। जिला दंडाधिकारी अमित कश्यप ने बताया कि दूरदराज के क्षेत्रों में जिन लोगों की दवाइयां आईजीएमसी की दुकानों में ही मिलती हैं, वहां के लोग पर्ची में दवाई का उल्लेख कर संबंधित एसडीएम को व्हाट्सऐप करें।

इसके बाद उपमंडलाधिकारी खंड चिकित्सा अधिकारी से दवाई का निर्धारित सत्यापन करवाकर शिमला उपायुक्त कार्यालय को भेजेंगे, जहां से दवाई प्राप्त कर विभिन्न क्षेत्रों में अधिकारियों को भेज दी जाएंगी।

इसके लिए रोहड़ू के लोगों के लिए 86278- 09190, 9418013706, रामपुर 88941-04302, कुमारसैन 70188-95550, ठियोग 94591-66166, शिमला ग्रामीण 98572-81085, 94592-64865, 98051-11284, शिमला ग्रामीण 78764-55858 और चौपाल के लोग 70181-74962 पर संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा इन नंबरों पर आपातकालीन यात्रा के लिए परमिट के लिए भी संपर्क कर सकते हैं।

उपायुक्त अमित कश्यप ने बताया कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए यही सब के हित में हैं कि लोग जहां हैं, वहीं रुके रहें। किसी आपातकाल स्थिति अथवा घर में हादसे या चिकित्सा परिस्थितियों की आवश्यकता की अवस्था के अनुरूप ही लोेगों को आने-जाने के लिए पास दिए जाएंगे।

डीसी ने कहा कि जिले में बाहर से आने वाले लोगों को जिले में प्रवेश करने नहीं दिया जाएगा। यदि जिला के विभिन्न क्षेत्रों के अलावा अन्य जिलों से लोग आते हैं तो उन्हें 14 दिन तक संस्थागत क्वारंटीन में रखा जाएगा। इसके बाद उन्हें घर जाने दिया जाएगा। कहा कि गंभीर परिस्थितियों और चिकित्सा अवस्था में लोगों को नहीं रोका जा रहा है। इसके तहत कीमो, प्रसव और चिकित्सा आपातकालीन स्थितियां शामिल हैं।

जिला प्रशासन ने रविवार को उत्तरप्रदेश के करीब 50 लोगों को शोघी के पास रोका और वापस ठियोग भेजा। यह लोग ठियोग से पलायन कर रहे थे। डीसी ने कहा कि चंडीगढ़ में पीजी में रह रहे बच्चों के अभिभावकों के संदेश आने पर उन्होंने प्रदेश सरकार से ऐसे बच्चों को हिमाचल भवन चंडीगढ़ में उनके खाने-पीने एवं अन्य व्यवस्था का आग्रह किया। इसके अलावा दिल्ली हिमाचल भवन तथा रेजिडेंट कमिश्नर कार्यालय दिल्ली में भी व्यवस्था करने की इस संबंध में सरकार से बात की गई है।
... और पढ़ें

जहरीला पदार्थ खाने से महिला की मौत, बिलख रही छह माह की बेटी

हिमाचल प्रदेश के ऊना जिले की चमयाड़ी पंचायत के खेड़ी गांव में 25 वर्षीय महिला की जहरीला पदार्थ खाने से मौत हो गई। बताया जा रहा है कि महिला अपने पीछे छह माह की बच्ची छोड़ गई है। दो साल पहले ही ऊना की ललिता की चमयाड़ी पंचायत के खेड़ी गांव के मनदीप पुत्र राजकुमार से शादी हुई थी। गांव वासियों के मुताबिक परिवार में सब कुछ ठीक चल रहा था।

शुक्रवार को परिवार में किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई। इस पर ललिता ने दरवाजे को अंदर से बंद कर लिया। जब महिला काफी देर तक बाहर नहीं निकली तो पति उसे बुलाने गया। उसने देखा कि ललिता ने जहरीले पदार्थ का सेवन कर लिया है। परिवार वाले ललिता को गंभीर अवस्था में बड़सर अस्पताल ले गए। प्राथमिक उपचार के बाद बड़सर के चिकित्सकों ने उसे हमीरपुर रेफर कर दिया। हमीरपुर में भी गंभीर हालत होने के कारण चिकित्सकों ने उसे टांडा रेफर कर दिया। टांडा में ललिता 36 घंटे जिंदगी और मौत से लड़ती रही।

शनिवार रात 12 बजे ललिता ने दम तोड़ दिया। ललिता की छह महीने की बच्ची वृंदा मां के आने के इंतजार में है। महिला के पति ने बताया कि ललिता ने गलती से जहरीला पदार्थ खा लिया था। पुलिस ने इस संबंध में मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी है। बंगाणा थाने के एएसआई प्रताप सिंह ने बताया कि अज्ञात कारणों से जहरीला पदार्थ खाने के संबंध में मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी गई है।
... और पढ़ें

गिरिपार में उड़ी कोयले के तिलक से कोरोना वायरस के इलाज की अफवाह

कोरोना वायरस के बीच सिरमौर के गिरिपार क्षेत्र में संक्रमण से बचने के लिए कोयले का तिलक लगाने की अफवाह उड़ गई है। वैश्विक महामारी का इलाज कोई हल्दी के टीके से कर रहा है तो कोई पशुशाला की दहलीज को खोदकर कोयला निकालकर उसका टीका लगाकर संक्रमण से बचाव में जुटा है। यह खबर रातों रात आग की तरह क्षेत्र के फैल गई है। लोग अपने सगे संबंधियों को सूचना दे रहे हैं। 

इसको लेकर क्षेत्र में हर जगह अंधविश्वास का माहौल गर्म है। कुछ ने खुदाई की वीडियो तक सोशल मीडिया में अपलोड की है। उधर, उपायुक्त डॉ. आरके परूथी ने कहा है कि लोग किसी भी तरह की अपवाह में न आएं। कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए सावधान सबसे अधिक जरूरी है। लोग अपने घरों में ही रहें और बार-बार साबुन से हाथ धोते रहें।
... और पढ़ें

मुख्यमंत्री राहत कोष में एक दिन का वेतन देंगे फार्मासिस्ट

अस्पतालों के फार्मासिस्ट एक दिन का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में देंगे। यह फैसला संघ की रविवार को हुई ऑडियो कांफ्रेंस में लिया गया। इस दौरान प्रदेश में फैल रहे कोरोना वायरस की स्थिति और इस महामारी से निपटने के लिए मंथन किया गया। प्रदेश अस्पताल फार्मासिस्ट संघ के महासचिव मनोज शर्मा ने बताया कि प्रदेश के सभी सरकारी अस्पतालों में फ्लू ओपीडी बनाई गई हैं। 

फार्मासिस्ट इन ओपीडी में अपनी सेवाएं दे रहे हैं। मरीज सबसे पहले फार्मासिस्टों के पास आते हैं। ऐसे में सभी को एहतियात बरतने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि रविवार को हुई ऑडियो कांफ्रेंस के माध्यम से मिलकर यह निर्णय लिया कि फार्मासिस्ट अपने एक दिन का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में देंगे। उन्होंने कहा कि संघ भी सरकार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है।

ऑडियो कांफ्रेंस में संघ के प्रदेश अध्यक्ष चमन ठाकुर, वरिष्ठ उपाध्यक्ष विपिन शर्मा, मीडिया सचिव कृष्ण कुमार, जिला बिलासपुर के प्रधान राकेश चंदेल, हमीरपुर के महासचिव जसमेर, जिला कांगड़ा प्रधान भरत भूषण, चंबा से हंसराज, सोलन से सुरेंद्र नायर, नितिन, मंडी से जसविंद्र, ऊना से अशोक, शिमला से रविंद्र और अनुबंध फार्मासिस्ट संघ के प्रधान सुरेंद्र नड्डा मौजूद रहे।
... और पढ़ें

घर की ‘लक्ष्मण रेखा’ पार नहीं करेंगे गैस सिलिंडर देने वाले

शिमला। शहर में गैस सिलिंडर की होम डिलीवरी करने वाले मजदूरों की घरों के अंदर आईओसी ने एंट्री बंद कर दी है। आईओसी का कहना है कि सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर यह फैसला लिया गया है। वहीं मजदूर लोगों के घरों के भीतर गैस सिलिंडर न दें, इसको लेकर भी गैस एजेंसी संचालकों को यह निर्देश जारी हो चुके हैं। आईओसी का दावा है कि सभी संचालकों ने इस बाबत मजदूरों को भी सूचित कर दिया है कि वह केवल घर के बाहर दरवाजे पर ही होम डिलीवरी करें।
शिमला शहर में आईओसी के तहत पांच गैस एजेंसियां हैं। शहर की इन गैस एजेंसियों द्वारा करीब साठ से सत्तर हजार उपभोक्ताओं को इंडियन गैस की सप्लाई होती है। ऐसे में लोगों से डायरेक्ट कांटेक्ट होने के चलते कोरोना वायरस का खतरा बना हुआ है। ऐसे में रुटीन में होने वाली गैस सिलिंडर की डिलीवरी को घरों के अंदर न देकर केवल दरवाजों के बाहर देकर लौटने के निर्देश इन सभी मजदूरों को दिए गए हैं। इसके अलावा आईओसी द्वारा लोगों को गैस की ऑनलाइन बुकिंग करने की बात भी कह रहा है।
मास्क और सोप की मजदूरों को की व्यवस्था
आईओसी के असिस्टेंट मैनेजर आयुष गर्ग ने बताया कि मजदूर घरों के अंदर गैस सिलिंडर की डिलीवरी नहीं देंगे। वे बाहर से डिलीवरी देकर लौट जाएंगे। इसके अलावा मजदूरों के लिए आईओसी के तरफ से मास्क, हैंड सैनिटाइजर और सोप की व्यवस्था की जाएगी।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us