विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
चंद्र ग्रहण 2020 : चंद्र ग्रहण पर रखें इन बातों का खास ख्याल
Chandra Grahan Special

चंद्र ग्रहण 2020 : चंद्र ग्रहण पर रखें इन बातों का खास ख्याल

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

चंबा में दो कोरोना पॉजिटिव, 12 मरीज हुए स्वस्थ

सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

हिमाचल के मेडिकल और डेंटल कॉलेजों के डॉक्टरों की ग्रीष्मकालीन छुट्टियां स्थगित

हिमाचल सरकार ने मेडिकल और डेंटल कॉलेज के डॉक्टरों की ग्रीष्मकालीन छुट्टियों को कोरोना महामारी के चलते स्थगित कर दिया है। अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य आरडी धीमान ने  इस बाबत आदेश जारी किए हैं। अस्पतालों में डॉक्टरों की कमी न होने देने और आपात स्थिति से निपटने के लिए यह व्यवस्था की है।
 
आईजीएमसी और डेंटल समेत अन्य कॉलेजों में जुलाई में फैकल्टी के लिए पंद्रह दिन की ग्रीष्मकालीन छुट्टियों का प्रावधान है। नए आदेशों से अस्पताल की ओपीडी और वार्ड में स्थिति सामान्य बनी रहेगी। गौरतलब है कि सैकड़ों की तादाद में अस्पताल में रोज मरीज उपचार के लिए आते है। वहीं इनमें से कई मरीज कोरोना वायरस से पॉजिटिव पाए जाते है। मरीजों के इलाज में कोई दिक्कत न आए, इसके लिए यह व्यवस्था की है। 
... और पढ़ें

कोरोना वायरस: आईटीबीपी कैंपस सील, जवानों के बाहर जाने पर रोक, ये क्षेत्र कंटेनमेंट जोन घोषित

हिमाचल के किन्नौर जिले के रिकांगपिओ में आईटीबीपी के एक साथ पांच जवानों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद जिला प्रशासन ने आईटीबीपी कैंपस को सील कर पूरे क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया है। आईटीबीपी के प्रवेश द्वारों पर पुलिस और आईटीबीपी के जवान तैनात किए गए हैं। भावानगर, रिकांगपिओ और जंगी को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया गया है। आईटीबीपी जवानों के बाजार जाने पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है। बाहर से जितने भी जवान रिकांगपिओ पहुंच रहे हैं, उन्हें कैंपस में ही आईसोलेट किया जा रहा है। जो पांच जवान पॉजिटिव पाए गए हैं, उन्हें कैंपस में ही संस्थागत क्वारंटीन किया गया है। जरूरत हुई तो इन जवानों को भी कोविड केयर सेंटर में शिफ्ट किया जाएगा। इन जवानों का स्वास्थ्य फिलहाल ठीक है। इनमें किसी भी तरह के कोई लक्षण नहीं हैं।

इनकी ट्रेवल हिस्ट्री जम्मू की है। ये जवान 22 जून को जम्मू से आईटीबीपी कैंपस रिकांगपिओ पहुंचे। उसके बाद इनके कोरोना सैंपल लिए गए थे, जिनकी रिपोर्ट बुधवार शाम को आई। इनमें से पांच जवान कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इधर, किन्नौर के जंगी में एक बार फिर 17 आईटीबीपी जवानों में कोरोना पॉजिटिव आना स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन के लिए परेशानी बन गया है। बीते दिन रिकांगपिओ में आईटीबीपी के पांच जवान पॉजिटिव आए थे। वीरवार को 17 जवान कोरोना पॉजिटिव आने से जिले में हड़कंप है। जानकारी के अनुसार किन्नौर के जंगी में पॉजिटिव आए 17 आईटीबीपी जवान जम्मू से आए थे। 59 जवानों का कोविड-19 के सैंपल लिए गए थे। यह 43वीं बटालियन  ज्यूरी के हैं। किन्नौर में अब 27 एक्टिव केस हैं। अब तक 30 कोरोना पॉजिटिव मामले आए थे, जिनमें तीन स्वस्थ हो गए हैं। स्वास्थ्य विभाग और आईटीबीपी की स्वास्थ्य टीम उनका लगातार चेकअप कर रही है। 
... और पढ़ें

विभागों के बजट खर्चने पर हिमाचल सरकार ने लगाई सीलिंग

हिमाचल में कोरोना वायरस के बीच वित्त प्रबंधन के लिए राज्य सरकार के तमाम विभाग वित्तीय वर्ष 2020-21 की पहली छमाही में 35 प्रतिशत से अधिक बजट नहीं खर्च कर सकेंगे। केवल कर्मचारियों के वेतन, कामगारों के मानदेय और इससे संबंधित बजट को छोड़कर अन्य बजट को खर्च करने के लिए सरकार ने सीलिंग लगा दी है। सचिव वित्त अक्षय सूद ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं।

यह सरकारी आदेश सभी सरकारी विभागों और सरकार के उपक्रमों के ध्यान में लाए गए हैं। इन आदेश के अनुसार कोरोना वायरस के प्रभाव को मद्देनजर बजट प्रबंधन किया जा रहा है। 30 सितंबर तक दो तिमाहियों में कुल बजट व्यय 35 प्रतिशत ही किया जाएगा। अगर पहली तिमाही में 20 प्रतिशत बजट खर्च किया जा चुका है तो अगली तिमाही में केवल 15 प्रतिशत बजट ही व्यय किया जाएगा। अगर पहली तिमाही में केवल 10 प्रतिशत बजट खर्च किया गया है तो अगली तिमाही में 20 प्रतिशत से अधिक खर्च नहीं होगा। हालांकि यह आदेश कोविड 19 से संबंधित खरीद मामलों में लागू नहीं होंगे। 
... और पढ़ें

एचआरटीसी चंबा डिपो के लापता कैशियर की तलाश में सर्च अभियान

हिमाचल सरकार
हिमाचल पथ परिवहन निगम चंबा डिपो में घोटाले की जांच के दौरान लापता हुए कैशियर की तलाश में पुलिस और स्थानीय लोगों ने रावी नदी के तट पर सर्च अभियान चलाया। लापता कैशियर के साथ गाड़ी में सुसाइड नोट छोड़कर लापता हुए जालंधर निवासी की भी तलाश की गई। सुबह 10 से दोपहर एक बजे तक बालू से कियाणी तक रावी के तट पर सर्च अभियान चलाया गया। स्थानीय लोगों की मांग पर सदर विधायक ने एनएचपीसी से बात की और चमेरा बांध के गेट बंद करवाकर रावी का जलस्तर भी कुछ देर के लिए कम करवाया, लेकिन दोनों का सुराग नहीं लगा। दोनों लोग करीब पांच दिन से लापता हैं।

लापता कैशियर के रिश्तेदार कियाणी के पास बांध में किश्ती से दिन भर तलाश करते रहे। हालांकि, इस बात की पुष्टि नहीं है कि लापता दोनों लोगों ने रावी में छलांग लगाई हो। पुलिस और स्थानीय लोग अपनी तसल्ली के लिए रावी के तटों पर उनकी तलाश कर रहे हैं। उन्हें लग रहा है कि मानसिक दबाव में व्यक्ति आत्महत्या जैसा कदम भी उठा सकता है। पुलिस टीमों ने सुबह से दोपहर तक शीतला पुल, बालू, परेल, कियाणी, उदयपुर सहित अन्य स्थानों पर रावी तटों पर लापता लोगों की तलाश की। 

निगम के चालक-परिचालकों के समूह ने भी बालू पुल, सरोल, कियाणी में कैशियर की तलाश में रावी नदी का कोना-कोना तलाशा। सुबह 11 बजे चालक-परिचालकों को लेकर जेएनएनयूएम की बस नए बस स्टैंड से रवाना हुई। इसके बाद कर्मचारियों की विभिन्न टीमों ने सर्च ऑपरेशन शुरू किया। 
उधर, पुलिस अधीक्षक डॉ. मोनिका ने बताया कि दो लोगों के लापता होने की शिकायत पुलिस के पास दर्ज है। पुलिस इनकी तलाश में जगह-जगह सर्च अभियान चला रही है।
... और पढ़ें

पांच साल में भी दसवीं कक्षा की परीक्षा पास नहीं कर पाए 49 छात्र

राज्य मुक्त विद्यालय (एसओएस) की दसवीं की परीक्षा में 49 छात्र पांच साल परीक्षा देने के बाद भी पास नहीं हुए। इन्हें एसओएस के तहत दसवीं की परीक्षा देने के लिए बोर्ड ने नौ मौके दिए थे। अब इन सभी छात्रों को दसवीं कक्षा की परीक्षा पास करने को एसओएस के तहत नए सिरे से पंजीकरण करवाना होगा। राज्य मुक्त विद्यालय (एसओएस) के तहत प्रदेश के 49 छात्र पांच साल से दसवीं कक्षा की परीक्षा दे रहे थे।

हर बार ये छात्र परिणाम में अनुत्तीर्ण रहे। इन छात्रों को दसवीं की परीक्षा पास करने को दिए गए नौ मौके पूरे होने के बाद स्कूल शिक्षा बोर्ड ने इन्हें अनुत्तीर्ण घोषित किया है। अब इन्हें नए सिरे से एसओएस के तहत पंजीकरण करवाना होगा। पंजीकरण के बाद इन छात्रों को दोबारा नौ मौके परीक्षा पास करने को दिए जाएंगे।

पांच साल में दसवीं की परीक्षा पास न करने वाले छात्रों में कुछ छात्रों ने सभी विषयों के पेपर दिए थे। कुछ ऐसे छात्र भी थे, जिन्हें एसओएस के तहत दी गई सुविधा के अनुसार दो से चार विभिन्न विषयों में परीक्षा को पास करना था। लगातार पांच वर्ष परीक्षा देने के बाद भी ये छात्र परीक्षा पास नहीं कर पाए। 

राज्य मुक्त विद्यालय के तहत 49 छात्रों को दसवीं में अनुत्तीर्ण घोषित किया है। ये छात्र पांच वर्षों से परीक्षा दे रहे थे। इन छात्रों ने नौ मौके गंवा दिए, अब इन्हें नए सिरे से एसओएस के तहत पंजीकरण करवाना होगा। उसके बाद ही परीक्षा दे सकते हैं। - डॉ. सुरेश कुमार सोनी, अध्यक्ष, स्कूल शिक्षा बोर्ड 
... और पढ़ें

अंशुल आत्महत्या मामले की जांच को बिलासपुर पहुंची सीआईडी

हिमाचल के बिलासपुर के अंशुल आत्महत्या कांड की जांच के लिए वीरवार को स्टेट सीआईडी की टीम बिलासपुर पहुंच गई। यहां पहुंचकर जांच अधिकारियों ने उस घटनास्थल का निरीक्षण किया, जहां अंशुल द्वारा जहर खाया बताया गया है। साथ ही उस जगह को भी वेरिफाई किया गया, जहां मरने से पहले अंशुल ने फेसबुक लाइव कर पूर्र्व कांग्रेस विधायक बंबर ठाकुर व अन्य पर प्रताड़ित करने और आत्महत्या के लिए मजबूर करने का गंभीर आरोप लगाया था। सूत्रों का कहना है कि इसके साथ ही जांच अधिकारियों ने पुलिस से उस मोबाइल को भी अपने कब्जे में लेकर फोरेंसिक जांच के लिए भेज दिया गया है जिससे वीडियो रिकॉर्ड होने की बात कही जा रही है।

सूत्रों का कहना है कि अब इस कवायद के बाद जांच अधिकारी जल्द ही बंबर ठाकुर और मामले के अन्य आरोपियों से भी पूछताछ कर सकती है। बता दें कि बिलासपुर निवासी अंशुल ने बीते वीरवार को मंडी के पधर पहुंचकर जहर निगलकर जान दे दी थी। आत्महत्या से पहले युवक ने फेसबुक लाइव कर पूर्व विधायक बंबर ठाकुर और अन्य पर छह माह से उसे प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था। चूंकि मामला दो जिलों से संबंधित था और सियासी लोगाें पर गंभीर आरोप लगे थे। ऐसेे में डीजीपी संजय कुंडू ने मामले की जांच सीआईडी को दे दी।
... और पढ़ें

मंदिरों की आय बढ़ाने और संचालन के लिए अनुदान देगी हिमाचल सरकार

भूमि सुधार कानूनों के कारण जिन मंदिरों की संपत्ति मुजारों या सरकार के पास चली गई थी, सरकार ऐसे मंदिर संचालकों को आर्थिक मदद देने जा रही है। इससे इन मंदिरों का रखरखाव और पूजा-अर्चना का कार्य ठीक से हो पाएगा। इसको लेकर सरकार मंदिरों को अनुदान देने जा रही है। ऐसे मंदिरों की समितियां या कारदारों को सरकार से अनुदान के लिए आवेदन करना होगा। जिला भाषा अधिकारी प्रोमिला गुलेरिया ने कहा कि पात्र मंदिर वार्षिक अनुदान भी ले सकते हैं। इस पैसे से मंदिरों में पूजा-अर्चना और रखरखाव के अलावा सीसीटीवी कैमरे आदि लगवाए जा सकते हैं।

इसके अतिरिक्त एक मुश्त अनुदान लेकर मंदिर परिसर में आय का साधन बढ़ाने के लिए सराय, दुकान या अन्य परिसंपत्तियों का निर्माण करवाया जा सकता है। इच्छुक मंदिर कमेटियां जिला भाषा अधिकारी कार्यालय से आवेदन पत्र ले सकती हैं। गुलेरिया ने कहा कि प्रदेश में मंदिरों की समृद्ध विरासत है। सरकार ने भाषा एवं संस्कृति विभाग के माध्यम से सांस्कृतिक विरासतों के संवर्द्धन और संरक्षण के लिए कई योजनाओं का संचालन किया है। पहले प्रदेश के बहुत से मंदिरों की अपनी भू संपदा थी, जिससे प्राप्त आय का उपयोग मंदिरों के रख-रखाव और दैनिक पूजा-अर्चना की जाती थी। अब इसमें समस्या का सामना करना पड़ रहा था।
... और पढ़ें

हिमाचल: टांडा मेडिकल कॉलेज देश की शीर्ष एजेंसियों में शुमार

डॉ. राजेंद्र प्रसाद गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज टांडा को कुछ गैर संचार रोगों (उच्च रक्तचाप, मधुमेह और सीओपीडी) की  क्षमता में सुधार पर अनुसंधान करने के लिए देश की शीर्ष एजेंसियों में चुना गया है। मेडिकल कॉलेज इस शोध को हिमाचल प्रदेश के लाहौल और स्पीति जिले में केंद्रित करेगा। शोध के लिए मेडिकल कॉलेज को देश भर की छह ऐसी एजेंसियों में से एक के तौर पर चुना गया है। 

कॉलेज प्राचार्य डॉ. भानु अवस्थी ने बताया कि हाल ही में टांडा मेडिकल कॉलेज को देश के मेडिकल कॉलेजों में 32वें स्थान पर शुमार किया गया है। डॉ. अवस्थी ने टांडा कॉलेज के सामुदायिक चिकित्सा विभाग को इस उपलब्धि के लिए बधाई देते हुए कहा कि प्रदेश में जनजातीय स्वास्थ्य से संबंधित अनुसंधान मुद्दों को उठाने के लिए मेडिकल कॉलेज के प्रोफेसर और प्रमुख डॉ. सुनील रैना के नेतृत्व में टीम बेहतर काम करेगी। 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us