जानिए शरीर में कहां रहती है आत्मा

कल्पवृक्ष डेस्क,अमर उजाला Updated Fri, 16 Feb 2018 04:40 PM IST
विज्ञापन
know about soul and where lives in your body

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
मृत्यु को बहुत करीब से महसूस करने वाले लोगों के अनुभव सुन और जानकर योगीजनों के साथ-साथ विज्ञान भी इस नतीजे पर पहुंचा है कि आत्मा या जीवन का केंद्र मस्तिष्क का वह हिस्सा है, जिसे सहस्रार चक्र कहते है। यह चक्र उस जगह बताया जाता है, जहां लोग चोटी रखते हैं। शिखा तो उस स्थान की पहचान और सुरक्षा सावधानी के लिए है। नए अध्ययनों के मुताबिक, तंत्रिका प्रणाली से जब आत्मा का आभास कराने वाला क्वांटम पदार्थ कम होने लगता है, तो मृत्यु जैसा अनुभव होता है। 
विज्ञापन

शास्त्रीय मान्यता के अनुसार भी आत्मा मूलतः मस्तिष्क में निवास करती है। मृत्यु के बाद यहां से निकलकर दूसरे जन्म के लिए ब्रह्मांड में लीन हो जाती है, जैसे भीड़ में खो गई हो। एरिजोना विश्वविद्यालय के एनेस्थिसियोलॉजी और मनोविज्ञान विभाग के प्रोफेसर एमरेटस और वहीं रिसर्च विभाग के निदेशक डॉ. स्टुवर्ट हेमेराफ के अनुसार, आत्मा के केंद्र का यह निष्कर्ष उस क्वांटम सिद्धांत की भी पुष्टि करता है, जो ब्रिटिश मनोविज्ञानी सर रोजर पेनरोस ने निरूपित की है। कहते हैं कि मस्तिष्क में क्वांटम कंप्यूटर के लिए चेतना एक प्रोग्राम की तरह काम करती है। यह ब्रह्मांड में रहती है। आत्मा का मूल स्थान मस्तिष्क की कोशिकाओं के अंदर बने ढांचों में होता है, जिसे 'माइथाट्यूबस' कहते हैं

Trending Video

विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें आस्था समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। आस्था जगत की अन्य खबरें जैसे पॉज़िटिव लाइफ़ फैक्ट्स, परामनोविज्ञान समाचार, स्वास्थ्य संबंधी योग समाचार, सभी धर्म और त्योहार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X
  • Downloads

Follow Us