प्रतिदिन थोड़ा प्राणायाम जरूर करें, जानिए इसके फायदे

रमाकांत शुक्ल Updated Fri, 06 Apr 2018 03:29 PM IST
विज्ञापन
know about pranayam benefits

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
प्राणायाम का खास फायदा यह है कि इससे साधक की इच्छा शक्ति बढ़ती है, जिससे शारीरिक उलझनों के बीच धैर्य, उत्साह, उमंग और उल्लास के साथ सही गति से अपनी साधना साधने में उसे बड़ी मदद मिलती है। डॉ. शोज ओटेव का अनुभव काम का है। बचपन में ही उन्हे क्षय रोग (टी.बी.) की आशंका हो गई थी।
विज्ञापन

रोग किसी दवाई से ठीक न हो सका, तो शोज ने प्राणायाम शुरू कर दिया। अभ्यास शुरू करने के वर्ष भर बाद ही परिणाम दिखाई देने लगा। छाती की चौड़ाई और शरीर की लम्बाई में फर्क दिखाई दिया। नियमित दो साल तक अभ्यास चलता रहा। शरीर का वजन करीब नौ किलोग्राम बढ़ गया। दो साल प्राणायाम का अभ्यास करने के बाद जांच कराई, तो टी.बी. का कोई निशान नहीं था। वे कहते हैं कि इसके बाद प्राणायाम में मेरी आस्था और बढ़ गई है।
 इंग्लैंड के योगी जे. पी. मूलर ने ‘माई बीटिंग सिस्टम’ नामक किताब में इस बात पर बल दिया है कि जिस तरह पढ़ाई के साथ खेलों के लिए समय दिया जाता है, उसी तरह पढ़ाई के साथ प्राणायाम की भी शिक्षा व अभ्यास कराना चाहिए। अमेरिका के प्रसिद्ध प्राकृतिक चिकित्सक डॉ. बर्नर मैकफैडन प्राणायाम को स्वास्थ्य रक्षा व विकास का मूल साधन मानते हैं और सभी को इसका अभ्यास करने की सलाह देते हैं। विदेशी वैज्ञानिकों द्वारा प्राणायाम का गुणगान करना और अनेक उदाहरणों से यह स्पष्ट होता है कि प्राणायाम सभी के लिए लाभकारी है और इसका अभ्यास हर किसी को करना चाहिए। 
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X
  • Downloads

Follow Us